नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं

छवि स्रोत,छोटू दादा छोटा वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी भाभी की बीएफ मूवी: नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं, वह एक साधारण, घरेलू, शादीशुदा औरत हैं। उसके पति सरकारी नौकरी करते हैं.

छूत में से पानी निकला

हम दोनों को ये पता था कि बगल में ही बहन सो रही है इसलिए सब कुछ बहुत आराम से और सावधानी से कर रहे थे. गूगल में पागल हूंयह कहानी जो मैं आप लोगों के सामने रख रहा हूं यह एक सत्य घटना है जो मेरे साथ हुई थी.

भगवान ने मेरे साथ ही बुरा किया, पता नहीं किस पाप का बदला लिया है मुझसे. लड़की की सील तोड़तेवो अपनी हर बात मेरे साथ शेयर करता था और मैं भी अपनी हर बात उसको बताता था.

मास्टर साहब- हां … पहले करता था, वजन उठाता था, दौड़ता तो अब भी हूँ.नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं: हम दोनों भाई बहन अधूरी चुदाई करने के बाद थोड़ी देर यूं ही चिपके हुए लेट कर आराम करते रहे और फिर दुबारा गर्म होने तक एक दूसरे की बांहों में आकर मूवी देखने लगे.

अब आगे:भाभी … क्या कर रही हो?”तुम्हें भी यही चाहिए ना?” मैंने जवाब दिया.उसके दोनों हाथ उसके चूचों को दबा रहे थे और मैं उसकी चूत में उंगली कर रहा था.

दिल्ली कॉलेज की सेक्स वीडियो - नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं

लेकिन आज तूने ये सब बताकर मेरे अंदर की बहन को मार दिया है … अब तूने इतना सब खर्चा भी किया है मेरे लिए और प्यार भी करता है मुझसे तो ठीक है … मगर इस बात का पता किसी को चला तो जान से मार दूंगी।उसने जैसे ही ये बोला, मैंने उसे अपनी ओर ज़ोर से खींचा और उसके चूचों को मसलते हुए उसकी जीभ चूसने लगा.दो मिनट तक मैंने उसकी चूत को सहलाया और फिर उसके पेट को चूमते हुए मैं उसकी चूत के बालों तक पहुंच गया.

उनके बीच में भूरे रंग का दाना था और उस दाने के बीच में उसके निप्पल उठ कर ऊपर निकल आये थे. नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं मुझे उसे यकीन दिलाना था कि मैं उसे एक बहन की तरह कितना प्यार करता हूँ.

उसके रूम से लगभग किलोमीटर भर की दूरी पर पहुंच कर हम लोगों को एक घर के बाहर बोर्ड लगा हुआ मिला.

नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं?

फिर दस मिनट के बाद वो वापस आई और तब उसने एक काले रंग की मैक्सी डाली हुई थी. मैं खुद अपनी काली रंग की ऑडी कार, जिसका नम्बर नीचे लिख रही हूँ, का इंतजर करना. उसने अपने स्कूल में से छुट्टी ले ली और मुझे शहर के पास वाले बस स्टैंड से पिक करने को बोल दिया ताकि हम सुबह से साथ रह सकें और टाइम ज्यादा साथ बिता सकें.

कुछ ही पलों में कमरा निर्मला की दर्द भरी और कामुक कराहों से गूंजने लगा. और बोली- हां, मैं यह भी प्रॉमिस करती हूं कि यह बात हम सबके बीच ही रहेगी और बाहर नहीं जायेगी. धीरे धीरे वो चूमता हुआ, मेरी योनि के बालों को अलग करता हुआ, वो लगातार आगे बढ़ता गया.

मिहिर ने एक अच्छे मेहमान की तरह आगे बढ़ कर उर्वशी की जीभ को लपक लिया, मानो दोनों ही एक दूसरे के अंदर समा जाना चाहते हों. फिर उसने अपना सिर मेरे पेट पर रखा और मैं धीरे से उसके बालों में अपने हाथ फिराने लगी. अगर मैं उसको पहले ही ये बता देता कि मैं कॉलेज में नहीं जा रहा हूं तो वो सावधान हो जाता.

दो कॉफी और तीन प्लेट पास्ता खत्म हो गया।बातों-बातों में मैंने उनके पति के बारे में पूछ लिया. वो अपने चूतड़ों को उठा-उठा कर चुदवा रही थी … सच में बहुत ही मजा आ रहा था.

मुझे ये सब बड़े अच्छे से पता था कि कैसे कोई लड़की या औरत को गर्म करके संतुष्ट किया जाता है.

कुछ देर इसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने उसको सीधी किया और स्लैब पर बैठा दिया.

उसके बाद मैंने भाभी को कुतिया बनाकर कहा- चल मेरी कुतिया रेडी हो जा … आज तेरी चूत नहीं गांड ही चोदूंगा. उसकी तंग देसी बुर में पानी आ जाने के कारण लंड को अन्दर बाहर करने में मुझे बड़ा मजा आ रहा था. लेकिन मेरा लंड मोटा होने की वजह से घुस ही नहीं पा रहा था।उसका दर्द देख मैंने ज्यादा कोशिश ना करने का निश्चय किया और मैंने कुछ टाइम उसके नंगे बदन से खेल कर बिताया और अपने घर वापस आ गया। घर आकर मुठ मारी और सो गया.

वो बोली- जब तक तुम्हारी शादी नहीं हो जाती, तब तक तुम्हें मेरी चूत को चोदना पड़ेगा. वह बड़ी बेताबी से मेरे होंठ चूस रहा था, मेरे मुँह के अन्दर जीभ डालकर मेरी जीभ से खेल रहा था. आंखें एकदम नशीली थीं, रंग गोरा और कमर तो माशाअल्लाह गजब थिरक रही थी.

मिहिर ने उसकी पैंटी को पकड़ कर नीचे खींचा और पैंटी के हटते ही रेशमी बालों में छिपी मेरी बीवी की चूत को देख कर उसके मुंह से पानी टपकने लगा.

उसका एक हाथ मेरे गाल पर था … इससे बहन की नंगी गांड पर मेरा खड़ा लंड जाकर छिप गया था. अब मैंने धीरे से पूजा की जांघों पर अपना हाथ रख दिया और उसके कान में बोला- अपना नाड़ा खोल … नो एंट्री में उंगली करनी है. संजय अपनी छत से मेरी छत पर आ जाता था और मुझे अपनी बांहों में कस कर खूब किस करता था.

ये सब मेरे दोस्त की माँ और मेरी हॉट, सेक्सी मोनिषा आंटी के कारण हुआ. तो यह मेरी पहली कहानी है!दोस्तो, मैंने मेरी लाइफ में बहुत सी लड़कियों, भाभियों के साथ सेक्स किया है. रात की पहली चुदाई से मेरे लंड पर सूजन आ गई थी और मुझे दर्द भी हो रहा था.

मैं सीधे बाथरूम में गया और मैंने भाभी की गांड के नाम की मुठ मारकर अपने आपको शांत किया.

दोस्तो, आपको मेरी चूत की चुदाई स्टोरी में मजा आया हो तो मुझे मैसेज करना और स्टोरी पर कमेंट करके बताना कि स्टोरी में कहीं कोई गलती न हो गई हो. सुबह जब लाला दूध लेने आया, तो माँ से पूछने लगा- आपकी भैंस बहुत रंभा रही है, क्या बात है?माँ बोली- पता नहीं भाई साहब, कल से बहुत परेशान कर रही है.

नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं मैं उसे नशीली निगाहों से घूर रहा था और मेरा मोटा लंड खड़ा हो चुका था. सरस्वती- अरे तो क्या बुराई है … मजे करने का मौका था, थोड़ा स्वाद बदल लिया और क्या.

नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं मैंने उसकी चूत को ज्यादा देर इंतजार नहीं कराया और संध्या की तरफ देखा. उसके पिता सरकारी नौकरी में थे और हम 3 सहेलियां और वो अच्छे दोस्त थे.

शिफा भी उठ खड़ी हुई और उस तरफ देख कर बोली- साली सीधा कह ना कि उससे चुदवाने को मरी जा रही है, अगर उसका लंड लेना है, तो शादी का इंतज़ार क्यों कर रही है.

सेक्सी भोजपुरी आर्केस्ट्रा वीडियो

फिर अपने मुँह से कभी खूब सारा थूक डाल कर लंड को पूरा गीला करती और उसे चाट कर या मल कर चिकना करती. उस रात को एक भाई ने बहन की चुत मारी दो बार! यह मेरे जीवन की पहली चुदाई थी. बात पक्की करने के बाद मैं वहाँ से आ गया और अपनी पढ़ाई पे ध्यान देने लगा।पर बार बार उस लड़की की याद आती रहती.

विद्या अपनी जांघों को सिकोड़ते हुए बोली- छी: वो गंदा है … वहां मुँह मत लगाओ. मेरी कमर की गति देख कर मामा जी बोले- ये हैं गांड फाड़ू झटके।उससे पूछा- लग तो नहीं रही?वह मुस्करा दिया. मुझे मज़ा आ रहा था, मैंने पैंटी के ऊपर से ही उंगली पैंटी के कपड़े सहित बुर में डाल दी, तो वो चिहुँकते हुए आगे को हो गई और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.

मैं गंगानगर, राजस्थान का रहने वाला हूँ … पर अभी जयपुर में अपनी पढ़ाई कर रहा हूँ.

जब वो ऑफिस से निकलीं, तो उन्होंने मुझे देखा और पूछा- तू यहां क्या कर रहा है?मैंने बोला- मैं अपने दोस्त से मिलने आया था, इधर आपको आते देखा, तो रुक गया. इसके बाद अगली किटी पार्टी में बहुत ही ज्यादा उत्तेजक घटित हुआ जो मैं अगले भाग में लिखूंगा. बहू के वक्षों के कटाव को देख कर मेरा लंड फिर से तनतना गया और मैंने बहाने से बहू की कमर पर हाथ रख दिया क्योंकि उत्तेजना जंगल की आग की तरह आगे बढ़ रही थी जिसको रोक पाना मेरे वश में नहीं था.

विभोर मेरे होंठों को चूसने के बाद मेरे कान को चाटने लगा और उसके बाद मेरे गर्दन को चाटने लगा. मेरी चूत और गांड में दर्द हो रहा था लेकिन मैं पूरी तरह से खुश हो गयी थी. मेरी जीभ के स्पर्श से भाभी की सिहरन ने मुझे बता दिया था कि भाभी कितनी अधिक चुदासी हो गई हैं.

मैंने मोनिषा आंटी के मम्मों को जोर जोर से मसलना शुरू कर दिया और उनकी आहें तेज़ हो गईं. लेकिन आज तूने ये सब बताकर मेरे अंदर की बहन को मार दिया है … अब तूने इतना सब खर्चा भी किया है मेरे लिए और प्यार भी करता है मुझसे तो ठीक है … मगर इस बात का पता किसी को चला तो जान से मार दूंगी।उसने जैसे ही ये बोला, मैंने उसे अपनी ओर ज़ोर से खींचा और उसके चूचों को मसलते हुए उसकी जीभ चूसने लगा.

भाभी के फोन में उनके एक फ्रेंड के कुछ मैसेज और फोटो दिखे, जिनको देखकर मैं एकदम से चौंक गया. मैंने कहा- इस टाइम पर शेक?वो बोली- हां, तुम्हारे केले को एनर्जी देने के लिए बनाया है. मैं तो सिर्फ चड्डी में था, इसलिए मैंने जल्दी ही लंड निकाला और उसकी बुर पर रखकर रगड़ने लगा.

अब मैं धक्के लगा रहा था, साथ ही सौम्या को कभी किस, तो कभी उसके मम्मों को चूसता.

आंटी की चीख निकली- उम्म्ह … अहह … हय … ओह …दर्द मुझे भी हुआ क्योंकि मैंने भी पहली ही किसी की चूत में अपने लंड डाला था. क्रॉस ड्रेसर आम तौर पर वे बॉटम गे मर्द होते हैं जो लड़कियों के कपड़े पहनना पसंद करते हैं और गांड मरवाते हैं. रात को करीब 1 बजे के आस-पास हम उनके घर पर पहुँचे तो वहाँ मेरी भाभी और मौसी की बेटी जाग ही रही थी.

मैंने कहा- इनको साफ क्यों नहीं करता है रे हरामी?वो बोला- आज कर लूंगा रंडी. मैं उसे उठा कर वाशरूम तक ले कर गया और गर्म पानी से उसकी चूत साफ की.

वो तेजी के साथ धक्के लगाने लगा और दो मिनट के बाद ही उसकी गति धीमी पड़ने लगी. बदन का पानी तो पसीना बन निकल गया था और पेशाब पीले रंग की निकल रही थी. फिर तीसरे दिन मैंने अपने दोस्त से कहा- एक रात के लिए मैं तुझे मोनिषा आंटी के साथ सब कुछ करने दे सकता हूं … मगर तुमको मुझे 10000 रूपये देने पड़ेंगे.

सेक्सी इमेज पिक्चर

मोनिषा आंटी पागल हो गईं और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चूत की तरफ दबाने लगीं.

उसके दोनों हाथों को थामकर मैंने जैसे ही उसकी कांख को चाटा तो कुतिया पागल हो गयी. सुलु भाभी ने अपना हाथ वापस खींच लिया और बोली- अब रात काफी हो गई है. रंजन जिम जाता था, इसलिए उसका लंड दमदार था और उसके अन्दर बहुत ताकत थी.

मैंने उससे कहा- साली हिल मत … अभी तो कुछ नहीं है मैं साबुन लगा रहा हूँ … बाद में रेजर चलाऊंगा, यदि उस वक्त ज्यादा गांड हिलाई, तो चुत का ऑपरेशन हो जाएगा. मैं भी पहली बार ही किसी की चूत चूस रहा था, तो मैं भी मजे से चूसता रहा. f से मुस्लिम लड़कियों के नाम अरबी मेंमैंने आंटी का मन समझ लिया था कि आंटी को अब दूसरे लंड की जरूरत होने लगी है.

मेरी चूचियां और गांड बड़ी बड़ी होने के कारण ऑफिस के सभी लोग मुझे बात करने के लिए मरते हैं. हमारे बीच हंसी मजाक चलता रहा और मैं पैसे उसके हाथ में जबरदस्ती थमाने लगी.

मेरी चाची सांवले रंग की हैं, लेकिन वो भी देखने में मस्त और सेक्सी दिखती हैं. उसने उर्वशी की जांघों को फैला कर अपने गर्म होंठ मेरी पत्नी की योनि पर रखे तो उर्वशी के मुंह से सीत्कार फूट पड़े. मैं विभोर का लंड चूसने लगी और वो भी मजे लेकर अपना लंड मुझसे चुसवाने लगा.

मैंने तय कर लिया और दीदी को भी बता दिया कि मैं इस घर की प्रॉपर्टी बेचकर बिना किसी को बताए दीदी को लेकर कहीं दूसरे राज्य में चला जाऊंगा. उसकी चूत में दर्द हो रहा था जिसकी वजह से वो ठीक से चल भी नहीं पा रही थी. मैं- और सरस्वती?सुरेश- तुम तो खुद बात कर चुकी हो, वो भी बिल्कुल तुम्हारी तरह ही है.

मैं उनके लंड को अपने हाथ से सहलाते हुए उनके टोपे को आगे-पीछे करने लगी.

नितिन के प्रमोशन की वजह से अब मुझे नौकरी करने की जरूरत नहीं थी, तो मैंने भी जॉब करनी बंद की और घर पर रह कर बच्चे की देखभाल करने लगी. लेकिन कभी चूत चुदाई का मौका नहीं मिल पाया था क्योंकि हम लोग कहीं बाहर ही मिलते थे.

यही हाल मेरा भी था … और क्या बताऊँ … जब बिस्तर का हाल देखा, तो मैं दंग रह गयी. भाभी ने मेरी सोच समझ कर कहा- घबराने की जरूरत नहीं है … तुम दो तीन मुझे चोद लो … उसके बाद अपनी बहन को चोद लेना. उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और बोलने लगी- अब और मत तड़पाओ!मैंने भोलेपन से कहा- मसाज तो कर लेने दो मुझे!वो बोली- मुझे नहीं करवानी मसाज वसाज … मैं तो आपके घर पर ही आपको अकेला देख कर चुदने को तड़प रही थी.

अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को दबा कर उसने चूम लिया और अंडरवियर को खींच कर उतार दिया. जब वह अपनी सेक्सी गांड हिलाते हुए चलती थी, तो उसे देख कर अच्छे अच्छों के लंड सलामी देने लगते थे. लंड जैसे ही बाहर आया, मैंने पहली बार ध्यान से देखा कि मेरी उम्र के हिसाब से मेरा लंड काफी बड़ा था.

नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं आपको ‘भाई ने बहन की चुत मारी’ रिश्तों में चुदाई की कहानी में मजा आया होगा … इस पर अपनी प्रतिक्रिया दें और अपने मैसेज के जरिये भी अपनी राय देना न भूलें. अब सुरेश ने धीरे धीरे अपनी गति बढ़ानी शुरू की और मेरी सिसकारियां भी तेज होने लगीं.

सनी लीओन सेक्सी पिक्चर

मैं तुम्हारी मॉम को बहुत पसंद करता हूं और एक बार उन्हें चोदना चाहता हूं. उसने भी अपने होंठों को मेरे होंठों से जोड़ दिया और हम दोनों करीब 5 मिनट तक किस करते रहे. मैंने उनके कान के पीछे उंगली फिराई, फिर धीरे धीरे अपने हाथ नीचे की तरफ ले जाने लगा.

दोस्तो, उस वक्त मुझे जो मजा आ रहा था वो मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता. वह सारा वाकया मैं आपको अपनी अगली स्टोरी में बताऊंगा कि कैसे मैंने दीदी की चूत को चोदा और दीदी ने मेरे लंड को कैसे मजा दिया. मुंबई के रंडी खानालेकिन हुआ उल्टा … वो मेरे को बोला कि अंदर काम मत करना।वो अपनी बहन को समझाने की बजाये मेरे को ऑफर कर रहा है।मेरा तो दिमाग खराब हो गया और उसके पास से तुरंत चला गया।अब उसकी बहन भी इतराने लगी।एक दिन कुछ काम से विक्की के घर गया तो घर में कोई नहीं दिखा तो सुशी से पूछा- विक्की कहाँ है?सुशी- वो अपने रूम में है.

अक्सर घर वालों के शादी ब्याह में या सरकारी कारणों से कहीं जाने पर सिर्फ हम दोनों ही घर पे होते थे.

उसकी चूत से निकलते पानी से मेरे लंड की ठोकर लगतीं, तो एक मधुर आवाज़ आने लगती ‘फ़च्छफ़च फ़चफच. मैंने कहा- तो फिर तुम ही बताओ न … कौन से रंग की ब्रा पैंटी पहन कर आएगी?वो खिलखिलाने लगी और बोली- अरे मेरे भोले बुद्धू सनम … मैं ब्रा पैंटी पहने बिना भी तो आ सकती हूँ.

वो होटल ज्यादा अच्छा तो नहीं था मगर इस तरह के कामों के लिए बहुत उपयुक्त था. पर मुश्किल यह थी कि क्या पूर्वी भी मेरे साथ चोदा चोदी के खेल में शामिल हो सकेगी?लेकिन जैसा मैंने आपसे पहले भी कहा कि आखिर वो भी इंसान है. लेकिन आप खुद सोचिये कि जब मेरी हॉट दीदी को जीन्स में सभी लड़के घूरते रहते थे तो बिकिनी में तो वे दीदी को देख कर पागल ही हो जाते.

सुरेश के धक्के मुझे इतने तेज और जोरदार लग रहे थे कि मेरे स्तन हिल हिल कर गले तक ऊपर चले जा रहे थे.

जब उसकी संभोग की स्थिति पक्की बन गयी थी तो उसने कमर के जोर से अपने कड़ियल लिंग को मेरी योनि में धकेलना शुरू किया और मैं दर्द से चिहुंकने लगी. पापा काम से बाहर गये हुए थे और मां किसी रिश्तेदार के यहां पर गई हुई थी. इसी बेड पर कुछ दिन पहले सुनील ने मेरी वासना को जगाया था और आज इसी बेड पर मेरी चूत की चुदाई करके उसी वासना को शांत भी करने वाला था.

गंदा गंदा चीजमेरी दीदी ने उसके लंड को कच्छे के ऊपर से ही पकड़ लिया और उसको तेजी के साथ सहलाने लगी. मैं- हां तो पूजा, ये बताओ तुम ऐसा क्यों कह रही थीं कि मेरी कोई फ्रेंड नहीं, तुम्हें आज तक कोई क्यों नहीं मिला?पूजा- अमित, मिले तो बहुत … पर हर कोई मतलब के यार थे.

हॉट सेक्सी बफ हिंदी में

सब उत्तेजना के मारे सिसकारियां भर रही थी और जैसा कि मैंने बताया था इस ग्रुप में एकता सबसे कम उम्र की और सबसे ज्यादा सेक्सी नेचर की थी. मैंने चूसने से मना कर दिया।मैंने बताया- मुझे उल्टी हो जायेगी।उसने कुछ नहीं कहा।फिर वो मेरे चिकने गालों पर ही अपना लंड रगड़ने लगा। वो मेरी सलवार पहले ही उतार चुका था. आज उसकी साइज़ 40-30-43 की बन गई थी, जबकि पहले वो 26-24-26 की एक मरियल सी खटारा थी.

मैंने फिर से उसकी चूत पर लंड को हौले से रगड़ा और एक और झटके में आधा अन्दर डाल दिया. 12वीं पास करने के बाद मौसी ने मेरी माँ से बात करके खुशबू को हमारे यहां पढ़ने के लिए भेज दिया. ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह … उई मां … उफ्फ’ करते हुए वो मेरे लंड के धक्कों को झेलती हुई चूत की चुदाई करवाने लगी.

कुछ दिनों बाद उस आदमी ने मुझे बताया कि उसकी बीवी प्रेगनेंट हो गयी है. ज्योति की चूत बहुत ही टाइट थी … मैं दोनों उंगलियों से ज्योति की चुदाई कर रहा था और ज्योति बेचारी सिसक रही थी- आआआह … मेरी चूत फट जाएगी महेंद्र!मैंने कहा- ऐसे कैसे फट जाएगी … कोई पहली बार थोड़ी ना घुसी है. कुछ पल तक उस चेहरे को याद करने की कोशिश की कि मैंने इस चेहरे को कहां पर देखा है.

ये मेरी उसके बारे में सोच नहीं, बल्कि उसके साथ हुआ लोगों का व्यवहार बताता है. वो सब मैं आपके साथ साझा करूंगा, पर आज के लिए इतना ही … फिर हाजिर होऊंगा.

अब जब भी मुझे टाइम मिलता है, मैं दोस्त की गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स, पलंगतोड़ प्यार करता हूं.

पेशेवर होने के नाते मैंने इस बात को पूरी गंभीरता से लिया और लंड को हर स्ट्रोक में चूत की गहराइयों में उतारने लगा. पेट में पथरी की दवामैंने भाभी की गांड पर दो चमाट मारकर उसे लाल कर दिया और कहा- यदि ऐसी बात है … तो अपनी बहन को तेरे सामने उसकी चुत और गांड चोद कर चूता हाल कर दूँगा. गुड नाइट पिक्चरउसके जाने के बाद मैंने अपनी बहन से बात की तो उसने बताया कि वो उसके कॉलेज की सहेली है और उनके एग्जाम आने वाले हैं. मैंने उनका पेटीकोट घुटनों तक ही किया था कि माँ थोड़ा सा हिलीं और करवट बदल कर सो गईं.

काफी देर मेहनत करने के बाद भी उसका लिंग मेरी योनि में नहीं घुसा और दर्द की वजह से मैं अपनी जांघें सिकोड़ लेटी रही, जिससे वो और परेशान होता रहा.

मैंने फोन उठाया तो आंटी बोली- तुम कहां हो? अभी तक घर नहीं आये?तो मैंने कहा- क्यूं आंटी, मेरी याद आ रही है क्या?तो उन्होंने शर्माते हुए कहा- नहीं तो … मैं बस ऐसे ही पूछ रही थी. अभी मैं उसको अपनी बांहों में भरने ही वाला था कि उसने मुझे ऊपर वाले कमरे में जाकर फ्रेश होने के लिए कह दिया. मैंने नितेश की बहन को वहीं सोफे पर लिटा लिया और उसके टॉप के ऊपर से ही जोर से उसके चूचों को मसलने लगा.

मैं अपनी बाइक लेकर मूवी देखने चला गया, लेकिन मेरा एक दोस्त और बाकी लड़के वहीं रुक गए. उसका लंड अन्दर तक पेवस्त हो गया था, जिससे मेरी सील टूट चुकी थी और मैं दर्द से आह भर रही थी. हम दोनों का ये पहली बार बहन को चोद रहा था, इसलिए मैंने उससे कहा- तुम अपने नीचे तकिया रख लो.

चाची की सेक्सी ब्लू फिल्म

मैंने उसकी चड्डी के ऊपर से ही उसकी बुर पर हाथ रखा, तो उसकी चड्डी गीली हो गई थी. मेरी शादी से पहले भी मेरे कई ब्वॉयफ्रेंड थे इसलिए मैं रोज किसी ना किसी के साथ सेक्स कर लेती थी. और फिर गांड रगड़ाई से बुरी तरह चिनमिनाने लगती है, तो बंदा यही सोचता है कि अब गांड कभी नहीं मराऊंगा.

मैं उसे उठा कर वाशरूम तक ले कर गया और गर्म पानी से उसकी चूत साफ की.

वो जैसे मुझे पकड़ रही थी, छटपटा रही थी, उससे तो पता चल ही जाता है कि उसे मेरे लंड से चुदने में मजा आ रहा था.

मैंने कोई सात आठ मिनट तक ज्योति के मुँह से अपना लंड चुसवाया और बाद में मैं उसके मुँह में ही निकल गया. दो दिन बाद जब आप खेत में पानी देना, तो अपने ट्यूब बैल पर मुझे देख लेना. एक्सएक्सएनएक्सएक्समुझे लगने लगा कि अगर मैंने इसको नहीं रोका तो मैं कुछ ही देर में कंट्रोल खो दूंगा.

वह सारा वाकया मैं आपको अपनी अगली स्टोरी में बताऊंगा कि कैसे मैंने दीदी की चूत को चोदा और दीदी ने मेरे लंड को कैसे मजा दिया. ज्योति के मुँह से सिसकारियां छूट रही थीं- आआआह … उम्मह उम्मह मेरे बोबों को पी ले महेंद्र राजा. मेरे लिए रुक पाना मुश्किल था, ऐसी कामुक बहन का इतनी दूर एकांत जगह में सबसे अलग मेरी गुज़ारिश को ‘हाँ’ बोलना मेरे भीतर ज्वालामुखी ला चुका था.

मैं अब किसी भी पल झड़ सकती थी और करीब 10 मिनट के धक्कों के बाद एक पल आया कि मैं अपने पर काबू न रख सकी और जोरों से हिचकोले खाते हुए पानी छोड़ने लगी. मैं आगे क्या देखता हूँ कि भाभी ने किचन से एक लंबी सफ़ेद रंग की मूली लाकर टेबल पर रख दी साथ में चाकू भी था.

अब तो मैंने लगातार उसे ऐसे चोदा कि वो मदहोश हो गयी और उसके मुख से तरह तरह की आवाजें आने लगी थी.

मैंने सेक्सी आंटी का सर पकड़ा और अपने लंड को उनके मुँह की गहराई में उतारने लगा. हम दोनों लैपटॉप पर पोर्न मूवी देख रहे थे और एक दूसरे को किस कर रहे थे. मैं बोला- जब हम दोनों घर में अकेले रहेंगे, जैसे अभी हैं … तो आप मुझे सूरज और मैं आपको रेनू बुलाऊंगा … और जब कोई हम दोनों के साथ में हो, तो मैं आपको भाभी और आप मुझे देवर जी बुला लेना … ठीक है ना!उसने आंख मारते हुए कहा- तुम तो बहुत स्मार्ट हो … लो चाय पियो.

lx पसीना xxxxxx xxxxx xxxx xxxxxxx आखिर हम भाई बहन तो अभी भी है न … और मैं तो सिर्फ एक दूसरे को नंगा देखने को कह रहा हूं … कोई सेक्स के लिए थोड़ी कह रहा हूँ पागल. इससे आगे की कहानी जो मुझे बाद में पता चली अब वो मैं आपको बताता हूँ।मेरे जाने के बाद उर्वशी बहुत अकेलापन महसूस कर रही थी कि तभी दोपहर को मिहिर अचानक हमारे घर आया.

आज मामा जी के प्रेशर में वो मेरी गांड मारने में पूरा दम लगा रहा था, जल्दी जल्दी धक्के दे रहा था. मामी के हाथ मेरे लंड को सहलाते हुए उनके होंठ मेरे होंठों से लार को खींच रहे थे. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसके एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसा और दूसरे को मसला.

देहाती सेक्सी वीडियो करते हुए

उसके अलावा और किसी के कोई प्रॉब्लम्स नहीं पूछने रह गए थे, तो बाकी लड़कियां भी क्लास से बाहर चली गईं. रात की बात याद करके मैंने भी उसको देखकर स्माइल कर दिया और उसके बाद मैं अपने रूम में आ गयी. इस बार चुदाई करते हुए संजय ने बताया कि उसकी पत्नी अपने मायके गयी है.

मैं डर गई तो साहब ने कहा- घबराओ मत … पहली बार चूत में लंड जाने पर थोड़ा सा खून निकल आता है. तो मैंने फिर उसको बेड के किनारे पर घोड़ी बना कर पीछे से चूत में लंड डालता रहा.

आप मुझे बताएं कि क्या आप भी कजिन सेक्स पसंद करते हैं?मैं अपनी अगली सेक्स कहानी लेकर जल्दी ही आऊंगा.

मगर इस 90% के चक्कर में 10% वाली बात सच हुई, तो फिर मेरी बुरी छवि उसके सामने आ जाएगी. उनके बहुत बड़े बड़े दूध थे, सेक्सी कमर और बहुत ही मोटी गांड थी … जिसकी चुदाई के लिए आपका भी मन मचल जाएगा. मैंने चाची सेक्स की इस अनोखी इच्छा से हैरान होते हुए चाची से पूछा- सबका एक साथ लोगी?चाची ने मुझे चूमते हुए कहा- हां आज बड़ी इच्छा हो रही है.

अब इस समय ब्लाउज के गहरे गले से मैंने ब्लाउज़ के अन्दर सफ़ेद रंग की ब्रा को भी देखा, जो भाभी के आमों को पूरी ताकत से जकड़े हुए थी. बात पक्की करने के बाद मैं वहाँ से आ गया और अपनी पढ़ाई पे ध्यान देने लगा।पर बार बार उस लड़की की याद आती रहती. उसके बाद हमने पहले चूमाचाटी की और फिर थोड़ा ओरल सेक्स किया, विभोर ने मुझे अपना लंड चुसवाया.

आंटी से बात करने के बाद मैं और मेरा दोस्त वापस उसके रूम पर चले गये.

नंगी बीएफ फिल्म दिखाएं: जब मैंने उसकी नाभि में जीभ घुमाई, तो वो तड़प उठी और उसने मेरा सिर दबा लिया. क्योंकि मैंने सोचा भी नहीं था कि मैं उन तीनों को चोदने वाला हूं … और न ही तब मेरा कोई गलत इरादा था.

मैंने आंटी को चोद चोद कर उनके जिस्म को एक नया आकार दे दिया था, जिससे आस पास के लोग मोनिषा आंटी को चोदने की चाहत रखने लगे थी. मैंने कहा- माँ जैसी हो … माँ तो नहीं हो ना …बस मैं अपने काम में लग गया. वो लंड सहलाता हुआ बोला- आज खजाना मिलने वाला है इसलिए ख़ुशी दबाए नहीं दब रही है.

वो बोली- अच्छा, तो फिर फोन कर लेते?मैंने कहा- नहीं बस इसलिए नहीं किया कि आप और मामा जी अभी लगे हुए होगे.

एक बस मैं ही सबसे खराब नसीब वाला हूँ … काश कोई मेरे लिए भी बनी होती. एक में मेरी मां और मौसी ठहरे हुए थे और दूसरे में मैं और मेरी बहन व अन्नु रुके हुए थे. नए साल की मस्तीके बाद मैं करीब एक महीने तक शांत रही, इस बीच केवल पति के ही साथ 2 बार संभोग हुआ और फिर एक महीना ऐसे ही बिना संभोग के बीत गया.