बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती

छवि स्रोत,देहाती चोदा चोदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी पुसी: बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती, मैंने उसके दूध सहलाते हुए कहा- मैं ये सब करूंगा, जो तुमको मूवी में दिख रहा है … तुम्हें बड़ा मज़ा आएगा.

एक्स एक्स एक्स भारतीय बीएफ

मैं बोला- वाउ … गुड मॉम!फिर मैं बोला- मॉम यह औरत के बूब्स से दूध औरत से बच्चा होने के बाद ही निकलता है. सेक्सी भाभी की बीएफ वीडियोइस भाई बहन सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे जवान भाई ने अपनी बहन को चोदा.

वो बोले- जिस दिन तुम पहली मर्तबा मेरी गोद में आकर बैठी थी, मुझे उसी दिन यकीन हो गया था कि यह सरदारनी मुझसे चुदने के लिये तैयार हो जाएगी. इंग्लिश बीएफ चुदाई व्हिडिओउनके मुंह से कुछ ऐसी आवाजें आ रही थीं- आह्ह सोनू, और जोर से … आह्ह बेटा, चूसो इनको, बहुत मजा आ रहा है.

मेरी बात सुनकर वो कुछ नहीं बोली और मुझसे ओके कह कर टीवी देखने जाने की कहते हुए मिंकी के कमरे में चली गई.बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती: आह्ह इस्श्श … आई … उम्म्ह… अहह… हय… याह… करके वो मेरी पीठ पर नाखूनों से नोंच रही थी.

इस बार ऐसे ही एक दिन अहमदाबाद घूमने का मूड हुआ, मेरी 3 दिन की छुट्टी थी.मैंने जैसे ही चुत को पैंटी पर से ही चूमा, शीनू को एक करंट सा महसूस हुआ.

देसी बीएफ वीडियोस - बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती

तो दोस्तो, यह थी मेरी प्यारी भाभी की चूत चुदाई की कहानी और मेरे जिगोलो बनने की सेक्स स्टोरी.मॉम मेरे गाल पर और होंठ पर चुम्मा करके बोली- मेरे प्यारा बेटा, तू बहुत अच्छा है, तुझे अपनी मॉम को बहुत चिंता रहती है.

मैं जैसे-जैसे उसकी योनि को चूस रहा था, वैसे वैसे वो और गर्म होकर अपनी योनि से सफेद पानी छोड़ रही थी. बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती मौसा जी बोले- साहिल, तुम दोनों आगे आकर बात करो, पीछे मैं सो लेता हूँ.

मेरी बीवी का परिवार शुरू से ही रूढ़िवादी विचारधारा का परिवार रहा है.

बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती?

फिर मैंने उन्हें अपने बिस्तर पर लेटा दिया और एक हाथ उसकी पैंटी के अंदर डाला और जोर से उनकी चूत मसलने लगा. वो कहने लगी- उईल्ला … बड़ा दर्द हो रहा है … मुझे नहीं करना … बहुत दर्द हो रहा है. मैं जानना चाहता हूँ कि मेरी दुल्हन सुहागरात को मुझे अक्षतयौवना मिली थी या नहीं? उसने पहले कभी सेक्स किया था अथवा नहीं.

मैंने खुद पर संयम रखते हुए उसे अपने से अलग कर घर जाने की अनुमति दी और कहा कि आज वो खूब विचार कर लेना और कल ऑफिस में छुट्टी है, किसी के यहां आने की सम्भावना नहीं है. मैं उसके मम्मों के साथ खेल ही रहा था कि उसने नीचे से हाथ निकलते हुए मेरा लंड अपनी चूत पर टिका दिया. फिर वो एक रात आ गई, जिस रात हम दोनों एक हो गए, मैंने गर्लफ्रेंड सेक्स किया.

जिस पल वह शांत हुआ उसकी आँखें खुली तो उसे लगा कि कोई ऊपर से उसे देख रहा है. मैं और वो एक दूसरे की बांहों में बहुत देर तक चिपके रहे।आज मेरा उससे बहुत प्यार करने का मन कर रहा था. एचआईवी और अन्य यौन संबंधित संक्रमणों के बारे में संपूर्ण जानकारी होते हुए भी मैंने हवस में अंधा होकर अपना जीवन खतरे में डाल लिया.

कल मेरे पति ऑफिस चले जायेंगे और उसके बाद मैं घर में अकेली ही रहूंगी. मुझे भी अच्छा लगा, मैंने अपना लंड उनके हाथ में दे दिया और वे उसे जोर जोर से चूसने लगी.

यह कहते ही मैंने तुरंत अनुजा को पकड़ कर उसे बेड पर पटक दिया और वो ‘ना ना.

मैं भाभी की तरफ हैरानी से देखने लगा क्योंकि एक माँ अपनीबेटी की चुतचाटने के लिए कह रही थी.

लेकिन बाद में जब हम दोनों ने उसे गोद में उठा कर उसके दोनों छेद एक साथ चोदे, तो उसे लंड झूला मजा देने लगा. उसके बाद मेरे हाथ अपने आप ही मेरी गर्लफ्रेंड के बूब्स पर पहुंच गये. उसने ब्लाउज काफी टाइट पहन रखा था जिससे उसके बूब्स ऊपर को उठे हुए थे.

मिष्टी बोली- क्या?मैंने कहा- हम दोनों को तुम्हारी मम्मी बड़ी मस्त लग रही हैं. फिर हमने सभी फॉर्मेलिटीज पूरी की और मैं अगले दिन से वहां रहने आ गया. खैर … मेरी डॉक्टर महिला मित्र ने कुछ दवाइयां लिख दीं और काव्या को बोला कि सोच समझ लो, अगर आपको यह बच्चा नहीं चाहिए … तो आप ये दवाई खा लेना.

उसने अपनी साड़ी चूतड़ों की दरार के शुरू होने पर बांधी हुई थी जिससे उसकी गांड बहुत सेक्सी लग रही थी जब आगे की ओर चल रही थी तो उसकी गांड पेंडुलम की तरह हिल रही थी.

मेरी बीवी फिर एक तरफ आकर मेरे सामने बैठ कर ही अपनी चूत में उंगली करने लगी. मैंने मोसी से चिपक कर कहा- मोसी, आप ही मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ न प्लीज?यह कहते हुए मैं मोसी की ब्रा के ऊपर से ही उनके मम्मों को दबाने लगा था. कोई 6 महीने बाद उसके पति का ट्रांसफर हो गया और अब वो मुझसे दूर चली गई है.

पांच-सात मिनट तक उसको इसी रफ्तार के साथ चोदने के बाद मैंने दोबारा से उसके हाथों को बांध दिया. हालांकि उसकी सील टूटी हुई थी … मगर मेरे झटके की वजह से उसकी चूत से हल्का खून आ गया था. फिर हम लोग कुछ समय बाद मॉल चले गए … क्योंकि हमारी ट्रेन रात 11 बजे थी और हमारे पास 3-4 घंटे थे.

उसने कहा- दीदी ने बहुत बार बताया था कि जब आप दीदी की चुदाई करते हो … तो बहुत दबाकर करते हो.

मॉम बोली- आज से तू इधर ही सोएगा मेरे साथ … जब तक तेरे पापा नहीं आते. शुरुआत में रीना मेरे किस का जबाव नहीं दे रही थी, वो सिर्फ मेरे चुम्बनों का अहसास करते हुए मुझे सहयोग कर रही थी.

बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती वह बहुत गर्म होने लगी!दोस्तो, यह कहानी जब मैं लिख रहा हूं तो आपको बताना चाहूंगा कि मैं अपना लंड हाथ में लेकर उसको दबा रहा हूं और मुझे अहसास हो रहा है कि जैसे बीते हुए लम्हों को मैं फिर से जी रहा हूं. मैंने जैसे अपनी टांगों से अपना अंडरवियर उतारा तो मेरी गर्लफ्रेंड ने मेरे खड़े हुए लंड को अपने हाथ में ले लिया और उसको जोर से आगे पीछे करने लगी.

बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती जीवन में आगे बढ़ने के लिए समझौते करने पड़ते हैं … और ये अवसर हर किसी को प्राप्त नहीं होते. हम दोनों प्रेमी इस पोजीशन में आ चुके थे कि अब एक दूसरे में समा जाएं.

मैं उस लंड रस को पूरा पी गयी और लंड को अच्छे से चाट चाट कर साफ़ किया बिना एक बूंद गिराये.

जा पिक्चर

मैं कपड़े पहन कर बाजार जाकर दर्द की दवा लाया और उसको तुरन्त खिला कर कहा कि अब तुम सो जाओ … तुमको आराम मिल जाएगा. कुछ देर बाद जब मेरी मां अपने रूम आईं, तो मैंने कहा- और शालिनी डार्लिंग क्या हाल है. मैंने इसी बात का फायदा उठाते हुए उसकी कमर पर अटके उसके प्लाजो को नीचे सरका कर उतार दिया.

वो थकान से भरे स्वर में बोली- ये बहुत बड़ा है … अन्दर नहीं जा पाएगा. ये चुम्बन इतना प्रगाड़ और लम्बा चला था कि अलग होने पर हम लोग हांफने लगे थे. फिर पता नहीं अचानक उनको क्या हुआ, वो उठ कर गेस्ट रूम की तरफ चली गईं.

लगभग 15 मिनट के चुदाई के बाद मैं भी झड़ कर उसी के ऊपर नग्न अवस्था में लेट गया.

मैंने निम्मी को झटके से पलटा और बिना देरी किए दोनों टांगों को चौड़ा करके पूरा लौड़ा बुर में ठेल दिया. उसने कराहते हुए बोला- जीजू मार दिया … दर्द हो रहा है … अभी फिर से मत डालना. अब मेरे पूरे लंड पर उनकी जीभ चलने लगी थी, वो मजे से लंड के सुपारे पर ऐसे जुबान फेर रही थीं … जैसे आइसक्रीम चाट रही हों.

उस दिन मैंने खाना बनाने वाली बाई को थोड़ा जल्दी आने के लिए कह दिया था. बरखा काफी खुश हुई और मुझे अपने गले से लगा लिया और मुझे कहने लगी- तुमने मुझे इतने मुश्किल वक्त में सपोर्ट किया है, मैं तुम्हारा अहसान कभी नहीं भूलूंगी. जब वो मेरे साथ फ्लैट में रहने लगी तो अभी उसके पास जॉब वगैरह तो थी नहीं.

फिर बिना कोई समय गंवाए अपने होंठ उसकी फूल सी कमसिन चूत पर रख दिए और तीव्रता से उसका रसपान करना शुरू कर दिया. मैंने उसको बेड के किनारे पर बैठाया और उसके दोनों हाथ अपने हाथ में पकड़ कर उसके सामने बैठ गया.

आरिफ़ा बोली- मेमसाब, क्या हुआ, ऐसे क्यूं तड़पा रही हो!प्रीति बोली- अच्छा, तू अकेले-अकेले मजे ले रही है और मेरा क्या?आरिफ़ा बोली- आप जो कहोगी, मैं करने के लिए तैयार हूं. पर जब तक सारे कपड़े उतार पाते, हम दोनों ही काफी भीग चुके थे।कमरे में वापस आकर मैम ने मुझसे कपड़े बदलने को कहा. ’ की आवाज़ तेज़ी से आने लगी और मैं कमर उठा उठा कर उससे चुदवाने लगी.

मैं बोला- भाभीजी मन तो बहुत करता है, मगर अभी हमारी नई नई दोस्ती हुई है उसके साथ इसलिए हमने कुछ नहीं किया है.

चाची बोलीं- हां मैं चुदक्कड़ हूँ, लेकिन भोसड़ी के, तेरी मां से कम हूँ. ये तो सिर्फ मैं ही जानता था कि मैंने आज पूरे दिन कैसे कंट्रोल किया और कैसे अपनी हवस और उत्तेजना पर काबू रखा. मैंने अपना लन्ड मॉम की चूत से निकाला और अपना मुंह चूत पर चिपका दिया और धड़ाधड़ मॉम की चूत से पानी निकलने लगा.

मैंने उनको मैसेज पर पूछा- आप मेरे कमरे में क्यों नहीं आये?वो बोले- अच्छा अब तुम्हारा मेरे बिना दिल नहीं लगता?मैंने कहा- ऐसी कोई बात नहीं है. भाभी बोली- जोग्गी, मैं रात भर तुम्हारे बारे में सोचती रही … तब मैंने तुमसे दोस्ती करने की बात मानी है … मगर तुम अपनी ये बात किसी और को मत बता देना.

मैंने चाची को चूचियों को दबा दबा कर दूध निकाला और मस्ती से पीने लगा. इसलिए यदि आप ऐसा सोच रहे हैं कि आपकी पत्नी आपके अलावा किसी गैर मर्द से शारीरिक संबंध बना रही थी तो यह सोचना आपके रिश्ते को खराब कर सकता है. निशा के पहनावे को देख कर रवि ने उसे डांटा भी कि आज तुमने ये कैसे कपड़े पहने हुए हैं, आज तो ख़ास मेहमान आए हुए हैं.

छोटी लडकी की चुत

तेरे पापा ने एक दो बार ऐसा किया लेकिन उन्हें तो खुद चूसने से फुर्सत मिले तो मेरे लिए कुछ करें ना!फिर मैं एक एक करके मॉम के स्तनों को खींच खींचकर उनको मुंह तक ले गया और मॉम ने अपने रसीले होंठों से चूसना शुरू कर दिया.

मैंने नूर से अपनी लालसा बतायी तो वो मना करने लगी, कहने लगी कि पीछे डलवाने में तो बहुत ज्यादा दर्द होगा. फिर मैं बेड पर लेट गया और उसे अपने लंड पर झुकाया और लंड मुँह में डालने लगा. मैंने अँधेरे का लाभ उठाया और अपने लंड को पैन्ट से बाहर निकाल कर मामी के हाथ में दे दिया.

उससे एक साल छोटी बहन निम्मी और सिम्मी तो कम उम्र में ही बड़ी खूबसूरत और उभरती हुई लग रही थीं. अब वो पूरी तरह से गर्म हो गयी और कहने लगी- आंटी मेरी बुर में जैसे आग लगी हुई है. देहाती सेक्सी बीएफ जबरदस्तीफिर मैं वहां से स्टेशन जाकर अपनी ट्रेन का इन्तजार करने लगा, नियत समय से कुछ देरी से ट्रेन आई, तो मैं अपनी सीट पर जाकर बैठ गया.

दीदी ने उन तीनों को खुद की तरफ घूरते हुए देखा तो वो भी उनके मजे लेने लगी. वो बोली- रुको, मैं तुम्हारे औजार पर टोपा पहना देती हूं ताकि उसकी गोलियां एकदम से खाली न हो जायें.

बुआ मुझे मस्त नशीली निगाहों से देख रही थीं और जोर जोर से सांसें ले रही थीं. मैंने कहा- हां मेरी जान, अब तो मैं रोज ही तुम्हारी चूत की चुदाई कर दिया करूंगा. मैं उनकी जाँघों के बीच बैठ गया और उनकी जाँघों को किस करने लगा अपनी जीभ से चाटने लगा.

फिर वो बोली कि तुमने मेरी तो चाट ली मगर तुम्हारा मन नहीं कर रहा है अपना ये हथियार मेरे मुंह में देने के लिए?हम लंड की ओर देखे तो वो तन कर पूरा खड़ा था. मैं उसके मम्मों को पागलों की तरह दबा रहा था और वो चिल्ला रही थी- आह अंकल आराम से … प्लीज आराम से …पर मैं कहां रुकने वाला था. मेरी मां ने खुद मुझसे कहा कि अगर वो जल्दी से हमें पोता दे सके तो इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या हो सकती है.

Badi Gand Desi Sex Storyउफ्फ्फ क्या बताऊं … मैं तो उसकी विशाल गांड देख कर हैरान हो गया.

मैंने शीनू से पूछा- क्या रीना ने कभी तुम्हें कुछ नहीं बताया?वो बोली- नहीं … पर मुझे कुछ शक तो था. कुछ देर हमने एक दूसरे की चूचियों को दबाया और फिर चारों एक ग्रुप बना कर नाचने लगीं.

जब मुझे लगा कि शीनू अब किसी भी वक्त झड़ने वाली है, तो मैंने पलंग से नीचे उतर कर अपनी शर्ट और पैन्ट उतार दी. मैंने उसकी सेक्सी फिगर की तारीफ करना शुरू कर दी कि तुम इतनी सेक्सी दिखती हो, फिर उसने तुमको कैसे छोड़ दिया?वो नखरे करते हुए बोली- मुझे झाड़ पर मत चढ़ाओ … मैं इतनी भी सुन्दर नहीं हूँ. प्रीति ने नौकरानी की चूत को बेपर्दा करने के लिए उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी छोटी सी पैंटी को खींच कर निकाल दिया.

मुझे अपनी गर्लफ्रेंड के मुंह में लंड देकर चुसवाने में बहुत मजा आता था. भाभी भी मेरे सर को दबाए हुए अपने मम्मों को चुसवाने का मजा लेने लगीं. कुछ ही देर में भाभी मेरा पूरा लंड अन्दर लेने की कोशिश करने लगी थीं.

बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती मगर ज्यादा दिन हम खुद को ऐसे बहला नहीं पाये और फिर मैंने सोचा कि क्यों न टाइम पास के लिए कोई ट्यूशन ही पढ़ाने का काम कर लिया जाये. … मुझे नहीं चुदना … प्लीज़…मैंने उसे चूमते हुए कहा- तरक्की नहीं करनी है क्या?वो बोली- हां करनी है … लेकिन मुझे बहुत दर्द हो रहा है.

sanjay सेक्सी

वो लंड की गर्मी से पागल हो गई थी और गांड उठाते हुए बोल रही थी- आह … आशु डाल दो अन्दर … फाड़ दो मेरी चूत. ब्रा खुलते ही उसके मम्मे कबूतरों की तरह फुदकते हुए खुली हवा में सांस लेने लगे. उसकी आँखों की खुमारी बता रही थी कि वो टीन सेक्स वाली चुदास से गर्म है और कोई बहुत ही हॉट मूवी देख रही है.

मॉम बोली- आ गया बेटा, फ्रेश हो जा और कपड़े चेंज कर ले! मैं खाना लगाती हूं. मगर डर अभी भी बना हुआ था क्योंकि रात को खाने के समय सब लोग इकट्ठा होने वाले थे. भाई के बीएफउसने अपनी जुबान एकता की चूत पर फेरी, जिससे एकता की मदभरी सिसकारी निकल गयी.

मुझसे बात करने के लिए आप नीचे दी गई जीमेल आइडी पर मेल करके मैसेज दे सकते हैं.

लगभग बीस मिनट के बाद मुझे लगा कि अब मैं झड़ने वाला हूँ, तो मैंने निशा पूछा कि वीर्य पीना है या अन्दर डाल दूँ. कपड़े की लंबाई महज इतनी कि जैसे बस चड्डी को बहुत मुश्किल से छुपा रही हो.

नहीं तो रोज़ ब्वॉयफ्रेंड का लंड चूसती मेरे भाग्य में पहला ही इतना मस्त लंड चूसने लिखा होगा, ये तो मैंने भी नहीं सोचा था. ऐसे ही एक दिन उससे बात करते हुए हम दोनों का बात करने का टॉपिक उसकी फैन्टेसी तक पहुंच गया. उसकी बुर पूरी तरह से चिकनाहट युक्त गीली हो रही थी जिसका फायदा मैं और मेरा लौड़ा उठाना चाह रहा था.

वरना मुझे ये बात सभी को बतानी पड़ेगी कि तुम ब्रा पेंटी पहन कर आईने में देख रहे थे.

उनकी कातिल जवानी की क्या कहूँ, हाय ऐसी मदमत जवानी थी कि पहली नजर में ही किसी भी बुड्डे का लंड खड़ा कर दे. उसकी चूत गीली थी और बहुत बार चुद चुकी थी, तो मेरे ज़रा से झटके में एक बार में पूरा लंड अन्दर तक घुस गया. वो अपार्टमेंट में रहता था उसके दो फ्रेंड के साथ … शायद उसने उनको मैसेज कर दिया था तो वो दोनों रूम में नहीं थे.

वीडियो ओपन वीडियो बीएफमैंने पूछा- क्यों नहीं जाएगा?उसने बोला- मेरी तबियत ठीक नहीं लग रही है … इसलिए मैं वापस घर जा रहा हूँ, तुम चली जाओ. उसमें से एक रूम लड़कों के लिए था और एक में लड़कियों के लिए व्यवस्था की गई थी.

हिंदी व्हिडिओ

सबसे पहले निम्मी उठी, फिर शीनू और फिर मैं!वे दोनों आपस में और मुझसे नज़र नहीं मिला पा रही थीं. जब भी क्लास में कोई टीचर नहीं रहते थे, तो मैं दरवाजे के पास खड़ा हो जाता था और वो भी ऐसा ही करती थी. फिर हम दोनों ने अपने अंडर गारमेंट्स पहन लिए और ऐसे ही एक दूसरे के पास बैठ गए.

छुट्टी के दिन अपने घर पर लेटा हुआ था कि तभी मेरे रूम की बेल सुनाई दी. लेकिन इस बार अनिल नहीं माना और वो वापस एकता के ऊपर आकर उसे किस करने लगा. कहानी का पहला भाग:मेरी सौतेली बहन की कामुकता-1जब तक आशिमा ऊपर देखती, मैं चुपके से घर के अन्दर खिसक गया और धीमे से लॉक बंद कर दिया.

इधर मैं इस सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले अपनी पसंद के बारे में बता देना चाहता हूँ. मैं- अब सब्र नहीं होता मेरी सोफी जान … बहुत दिनों से तड़पाया है तुमने मुझे … और आज मौका मिला, तो ऐसे कैसे छोड़ दूँ. क़रीब 20 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों साथ ही झड़ गये और वैसे ही पड़े रहे.

रवि को ये अच्छा लगा, उसने अपने लंड में दाल मखनी गिरा ली और निशा को चाटने के लिए बोला. इस वाकिये के बाद मेरी लड़कियों में कोई दिलचस्पी नहीं रही … क्योंकि चुदाई का मज़ा … जो एक भाभी या आंटी दे सकती है, वो मजा लड़की नहीं दे सकती.

उस दिन के बाद से मुझे जब भी मौका मिलता, मैं दीदी के आस पास ही मंडराता रहता.

मगर आरिफ़ा को पता नहीं चल रहा था कि उसकी मालकिन उसके साथ क्या करने वाली है. देहाती बीएफ फुल वीडियोधीरे धीरे उसे मुझसे प्यार होने लगा, फिर मिलना शुरू हो गया। एक दिन मैं उसे होटल में ले गया. लोनी बीएफमैं अपने साथ अपने दोस्तों से भी तुझे चुदवाऊंगा और तेरी चुत को चबूतरा बना दूँगा. इसलिए जब तुम पत्ते का खेल जीत रहे थे तब मुझे लगा अब तुम मुझे किस करने की बाद मेरे बूब्स को मसलना चाहोगे, इसलिए मैंने खेल खत्म करने को बोला.

अब उनको कौन बताये कि मैं तो जग ही रहा था।फिर चाचा ने चाची की चूत पर लंड रखा और डाल दिया पूरा अंदर … और मेरी गर्म चाची को चोदने लगे.

इस पर बड़ी बोली- देखो आवाज भी बाप की तरह कोयल जैसी है … ईश्वर करे कि बाप की तरह धनजुज्जी (धनवान का जूज या छोटा लंड) न हो. प्रीति बोली- ओह, तो ये मैसेज देख रही थी तू?उसने आरिफ़ा को उसी का फोन उसके चेहरे के सामने करके चुदाई की नंगी फोटो दिखाते हुए कहा. अंकल जोर जोर से मम्मी की गांड चोदे जा रहे थे और साथ में ही बहुत गंदी गंदी गालियां भी दे रहे थे- साली छिनाल रंडी प्यार से बोल रहा था … तो भैन की लौड़ी मान नहीं रही थी … ले अब भुगत मेरे लंड की मार को.

मैंने पहली बार गांड कैसे मरवायी?दोस्तो, मेरा नाम स्मृति है, मैं 21 साल में भी बिल्कुल ज़ीरो फिगर वाली लड़कियों की तरह हूँ. आंटी कुछ नहीं बोलीं, शायद वो खुद भी अपनी बेटी के सामने मुझसे चुदवाना चाह रही थीं. हालांकि भाभी दो बच्चों की माँ बन चुकी थीं … इसलिए उन्होंने अगले कुछ पलों में ही मेरे लंड को जज्ब कर लिया.

भाभी को नंगी करके चोदा

इस समय मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कोई रंडी लंड चूसती है, शायद वो भी इतना अच्छे से लंड न चूसे. वो दर्द से चिल्ला उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मगर मैं अब रुकने वाला नहीं था. आखिर किसी तरह से हम सब समुद्र के किनारे से निकल कर अपने ऑटो के पास तक पहुंचे और बैठ गए.

फिर मैंने ही कुछ सोचा, मैंने किसी बहाने उसके पास जाना था क्योंकि उसकी आंखों में मुझे मेरे लिए सच्चा प्यार और भरोसा नजर आता था।फिर एक दिन मैंने एक कागज पर अपना नंबर लिखा और कॉलेज जाते ही उसकी बेंच पर रख दिया.

उन्होंने मेरे मम्मों को फिर से निचोड़ना शुरू कर दिया और धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर कर रहे थे.

यह सुनकर मैं दिल ही दिल खुश तो बहुत हो रहा था पर मैं गुस्सा होने का नाटक भी कर रहा था. चूंकि मैं बायोलॉजी का छात्र था इसलिए सेक्स से जुड़ी बिमारियों के बारे में अच्छी तरह से परिचित था. बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म दिखाएं वीडियोफिर जब एक और ब्रेकर आया, तो इस बार उसने मुझसे टकराने के साथ ही मुझे पीछे से गले लगा लिया और धीरे से मुस्कुराते हुए पूछा- इतना ठीक है या और जोर से हग करूं?मैंने भी ख़ुश हो गया और मैंने ‘और जोर से …’ बोल दिया.

इस बीच मैंने उनकी बड़ी बेटी और उनके बाद छोटी बेटी को भी चोदा। और मेरा नसीब कि वो दोनों चूत मुझे वर्जिन मिली जिनका ओपेनिंग मैंने किया। उनकी बात फिर कभी।तब तक के लिए धन्यवाद।मेरी सेक्स कहानी आपको कैसी लगी? आप अपने विचार मुझे मेरे ईमेल पर जरूर भेजें।[emailprotected]. उस लड़के और आशिमा का सेक्स याद करके मेरा रोम-रोम वासना से भर रहा था. मैं और वो एक दूसरे की बांहों में बहुत देर तक चिपके रहे।आज मेरा उससे बहुत प्यार करने का मन कर रहा था.

मैंने अपने लंड को अपने हाथ में रख कर उसके योनि के मुंह पर सटा कर धीरे धीरे अंदर करना शुरू किया. वो नीचे से गांड उठा कर बोले जा रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआहह … ऊऊफ्फ … चोदो और चोदो … फाड़ दो मेरी चुत यार … साली बहुत तंग करती है ये … आह चोदो और तेज़ … और तेज़!मैं भी उसे गपागप चोदे जा रहा था.

मुझे बहुत मजा आ रहा था और मैं उसकी गांड के पीछे हाथ ले जाकर उसका पूरा लंड अपनी चूत में घुसवा रही थी.

अब मैं मिष्टी की गांड मारने लगा था और आंटी की गांड में सुजन का लंड फिट हो गया था. इधर मैं इस सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले अपनी पसंद के बारे में बता देना चाहता हूँ. आज जो सेक्स कहानी मैं बताने जा रहा हूँ, वो मेरी भाभीजान और मेरे बीच चुदाई की है.

अंग्रेजों की सेक्सी वीडियो बीएफ मॉम खुश हो गई और बोली- अच्छा बेटा, बता तू मुझे ज्यादा प्यार करता है या अपनी सगी मम्मी को?तो मैं बोला- मॉम, जब से आप मेरी मां बन के आई हो, तब से मैं अपनी सगी मां को भूल ही गया हूं. मैं अपने हाथों के उंगलियों से उसकी बुर की तंग गलियों में जगह बनाता हुआ आगे बढ़ा जा रहा था.

तो पीयूष ने पूछा- मुझे भी मिलवाएगा क्या उससे?मैं बोला- क्यों नहीं यार … जब तुमने अपनी बुआ की लड़की मेरे से चुदवाई थी, तो मेरा भी तो कुछ फ़र्ज़ है. मैंने उसको पैसे दिये और अन्दर जाने के लिए मुड़ी तो उसी समय न जाने कैसे मेरे पैर में मोच आ गई और मैं वहीं गिर पड़ी. कोई 15 मिनट बाद वो मम्मों को अच्छे से रगड़ने के बाद मुझसे बोला- चल साली रंडी … मेरा लंड मुँह में लेकर इसे चूस.

मैं खेलना चाहता हूँ

मैंने पूछा- गेंदें मतलब?वो लंड सहला कर मुझसे बोला- भाभी जी गेंदें नहीं समझती हो. दूसरा हाथ उनकी गर्दन के नीचे रख कर माधुरी भाभी को जोर से किस करने लगा. भाभी- यार तेरे भैया अपने काम में इतने ज्यदा बीजी रहते हैं कि मुझे चोदना ही भूल गए.

ऐसा लॉकेट तो हमारे यहां का जगदम्बा सुनार ही बनाता है … आपने ये कहां से खरीदा?इस असंभावित प्रश्न पर मैं चौंक गया. मुझे यह मालूम करना था कि मेरी बीवी ने शादी से पहले सेक्स किया है कि नहीं?वैसे तो आजकल जो लड़कियां साइकिल चलाती हैं या योगा अथवा डांस करती हैं.

मैंने उनको मैक्सी उतारने को बोला, तो उन्होंने उतार दी और मैं उनकी मोटी मोटी चूचियों को चूसते हुए माँ के ऊपर चढ़ गया.

वो चाहते थे कि मेरे स्तनों में दूध आ जाए क्योंकि उनको औरतों के स्तन का दूध बहुत अच्छा लगता है।इस तरह से मॉम सेक्स स्टोरी सुनाने लगी मुझे. पांच-सात मिनट की चूमा-चाटी के बाद लंड में फिर से तनाव आना शुरू हो गया. वो बोली- रुको, मैं तुम्हारे औजार पर टोपा पहना देती हूं ताकि उसकी गोलियां एकदम से खाली न हो जायें.

उसने शर्मा कर चेहरा घुमा दिया, तो मैंने पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- कुछ नहीं. तब भाभी बोलीं- तुम इस बात की बिल्कुल चिंता मत करो, हम दोनों दूसरे कमरे में चलते हैं. मौसी मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं मौसी के होंठों को चूस रहा था.

मैंने कहा- तुम जैसी परी के साथ तो सात जन्म सुहागरात मना लें, तब भी शायद लालसा पूरी न हो.

बीएफ हिंदी पिक्चर देहाती: बोलो तो कल!मैंने बोला- ओके!मैं उसके ऊपर से उठा, तो वो अपने कपड़े उठाने लगी. मॉम का बुरा हाल था तो मैंने पूछा- मॉम आपको यह अच्छा नहीं लगा?मॉम बोली- नहीं … ठीक था.

इसी दौरान मैंने उसको नीचे लेटाया और उसकी चुचियों में सलाद और नमक डाल कर चाटने लगा. शीनू ने निम्मी को पहले ही फोन कर दिया था कि वो मां को बता कर आ जाए और हमें रास्ते में मिल जाए. मैं भी समझ गया कि भैया का लंड छोटा होने के कारण भाभी की चूत खुली हुई नहीं है.

मगर जब रहा न गया तो दो महीने के बाद मैं एक सरकारी अस्पताल में एचआईवी टेस्ट करवाने के लिए गया.

ऐसी स्थिति में पूरी संभावना है कि आपका बच्चा अस्पताल में बदला गया है. उनके हाथ मेरे बाजुओं पर थे, लेकिन मैं उनके चुचे दबाता … तो वो बैचैन हो रही थीं. कोई 20 मिनट तक चूमाचाटी करने के बाद मैंने भाभी से कहा- मैं आपको चोदना चाहता हूँ.