भाभी की चुदाई देसी बीएफ

छवि स्रोत,भोजपुरी में हिंदी सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

नर्सरी बीएफ: भाभी की चुदाई देसी बीएफ, मेरे दोस्तों की क्या गलती, जब मेरा खुद उसे चोदने का मन करने लगा था.

ब्लू पिक्चर चुदाई वाली ब्लू

एक तरफ वो मेरे लंड को चूस रही थी और दूसरी तरफ मैं अपनी उंगली उसकी चुत में डालने लगा था. रानी मुखर्जी का बीएफऐसा मन कर रहा था कि उसके मुंह को चोद चोद कर उसके गले को लंड से फाड़ दूं.

ये कह कर उन्होंने मेरे पतली सी कमर में अपने हाथ को डाल दिया और खुद की गोद में खींच कर मुझको बैठा लिया. सेक्सी ब्लू हिंदी में सेक्सीलंड में तनाव आने लगा और उसने एकदम से मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

उसके झटके तेज़ हो रहे थे और वो पागलों की तरह मेरी चुत चोदे जा रहा था.भाभी की चुदाई देसी बीएफ: आंटी- आह और जोर से मसलो मेरे चूचों को … पी लो … खा जाओ इन्हें …इस समय आंटी चुदासी होकर अंटशंट बोले जा रही थीं.

फिर करीब 5 मिनट बात करने के बाद फोन से मुक्ति मिली तो भाभी बोलीं- बहुत हो गया … अब तुम मेरे ऊपर चढ़ जाओ.बड़ी मौसी का घाघरा कमर तक उठा हुआ था, अब्बू का पायजामा जमीन पर पड़ा हुआ था और अब्बू बड़ी मौसी को चोद रहे थे.

चाटने का वीडियो - भाभी की चुदाई देसी बीएफ

भाभी बोलीं- तो बस देखते ही रहोगे या कभी छुओगे भी!मैंने पूछा- हाथ रख दूं?भाभी बोलीं- हां रख दो.जरा सा ही झुकने पर मेरे सारे मम्मों की गहराइयां और गोलाईयां साफ़ दिख जाती थीं.

वहां खड़ा वो मुझे ताके जा रहा था, जवाब में मैं भीड़ से निडर, उसकी आंखों में अपनी आंखें गड़ाए निहारे जा रही थी. भाभी की चुदाई देसी बीएफ अगली बार भाभी की चुदाई की इस सेक्स कहानी को विस्तार दूँगा और आपके मेल की प्रतीक्षा में रहूँगा.

मैंने अपना लिंग उनकी चूत में सेट किया और उनके चूतड़ों पर तीन-चार चपाट जोर जोर से मारे.

भाभी की चुदाई देसी बीएफ?

उनकी चुचियां एकदम सुडौल थीं और दोनों चुचियों के किनारे पर मटर के दाने जितने बड़े दो गुलाबी निप्पल इंठे हुए थे. सरोज की चुदी चुदाई चूत में लंड आसानी से अन्दर बाहर जाने लगा और हम दोनों चिपक गए. मैंने कहा- हां रहने दो … आज ही सेक्सी लग रही हूँ, इससे पहले तो मैं सेक्सी थी ही नहीं, इसी लिए आज तक आपने मेरे लिए एक शब्द तक नहीं बोला.

मैडम ने हंस कर कहा- मुझे क्या दिक्कत होगी, तुम मुझसे बेहिचक पूछ सकते हो. जूनियर गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे ऑफिस में एक नयी लड़की आयी, उसकी नयी शादी हुई थी. जैसे ही मैंने भाभी के मम्मों पर हाथ रख कर एक दूध दबाया, तो उनके मुँह से आह की आवाज निकल गई.

मैंने उससे पूछा- इतना बड़ा ले पाएगा!उसने कहा- मालूम नहीं लेकिन अगर तुम ही मेरे कुंवारेपन को खत्म करो … तो मैं तुम्हें जिंदगी भर याद करूंगा. भाभी मेरे बालों को पकड़ कर मादक सीत्कार कर रही थीं- आआह एईई ऊऊऊऊ अनुज … आआह ईई. ये भी बताया कि जब आंटी उसके घर गई थी … तब मैंने उन्हें 20000 रूपए भी दिए थे.

भले ही धक्के तेज नहीं लगे, मगर उनका लंड मेरी चुत के चिथड़े उड़ाता रहा. वो भी लंड की प्यासी लग रही थी इसलिए कुछ देर बाद नीचे से अपनी गांड उठाकर चूत को लंड की ओर धकेलने लगी।अब ऐसा लग रहा था जैसे कि मेरा लंड उसकी चूत की चुदाई नहीं कर रहा है बल्कि उसकी चूत ही मेरे लंड को चोद रही है.

फिर मैं हर दिन कोशिश करने लगी कि अंकल जी के सामने कामुक बन कर रहूँ.

शरद अपने काम में बहुत ज्यादा व्यस्त हो गए थे और फिर रात को वो थक कर कभी बात करने के मूड में नहीं होते.

उसने मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसना चालू कर दिया और थोड़ी देर में ही पानी निकाल दिया. एक झटके में उनका लंड मेरी गांड में आधा घुस चुका था और मेरी आँतों से टकरा रहा था. अपनी बहन की बातें सुनकर मैं भी उत्तेजित हो गया और जल्दी ही फ़्रेश होने के बाद हम नाश्ता करने बैठ गए.

पापा का मूड अच्छा था इसलिए इस बात का फायदा उठा कर मैंने कहा- पापा स्वाति भी मेरे साथ जाना चाहती है. दो साल हो गए थे हमारे रिलेशनशिप को … मगर हमारे बीच नजदीकियां नहीं थीं. अब वो दर्द से थोड़ा थोड़ा चिल्ला रही थी … लेकिन उसको मजा भी आने लगा था.

उसने तेज़ी से अपना लंड रंगोली की चूत से निकालकर अपना वीर्य उसकी नाभि के पास गिरा दिया औऱ बगल में लेट गया.

उसके लंबे सिल्की बाल, गोरा रंग, ग़ुलाबी होंठ, बड़ी बड़ी आंखें, सुराहीदार गर्दन, बड़े बड़े बूब्स, पतली कमर, भरे हुए नितंब और कामुक आवाज़ … उफ्फ … काश ये मेरी बहन न होती. लेकिन अब मैं कहां रुकने वाला था … मैंने एक और जोर का झटका दे दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चुत में घुस गया था. उसका एक बोबे को दबाते हुए मैंने गिलास में पटियाला पैग तैयार किया और एक घूंट अपने मुँह में भरकर मैंने निशा के मुँह में अपने होंठों से डाल दी.

शीना भाभी एक 26 साल की हसीन लड़की है … वो एक शानदार 34-30-36 के फिगर के साथ गोरे मखमली बदन की मालकिन है. मैं उसकी बात से चौंक गई और हंसने लगी- ये कैसी बात … पहले गर्म फिर ठंडा!वो मेरे बदले हुए रूप से अचकचा गया और बोला- आहहां … गर्म ठंडा बाद में होता रहेगा. उसके हाथ की हर उंगली को मैंने अपने मोटे पर थोड़े ढीले स्तनों पर पूरा महसूस किया.

मुझे मालूम था तो सुबह से ही मैंने उसे बाहर घूमने के लिए मना लिया था.

घर से हम करीब 8 बजे निकल गए और बस कुछ ही देर में मैं राजीव सर के घर पहुंच गई थी. शिवानी ने मुझे चाय नाश्ता दिया और इस तरह से कोई आधा घंटे में मैं नाश्ता आदि करके सोने के लिए बगल के कमरे में चला गया.

भाभी की चुदाई देसी बीएफ मैंने अपना लंड उसके मुंह में दे दिया और वो उसे मसल मसल कर चूसने लगी. एक बार हमारे बीच सेक्स की बातें शुरू हुईं तो वो तो जैसे खुलता चला गया.

भाभी की चुदाई देसी बीएफ उन्होंने भी देरी नहीं और मुझे जोर से पकड़ कर बिस्तर की ओर धकेल दिया और मेरे ऊपर ऐसे चढ़ गए जैसे कोई कसाई अपने जानवर के ऊपर आ गया हो. बहुत दिनों से चुदाई ना होने के कारण मेरी जीएफ मुझे सरप्राइज देना चाहा और वो उसी समय मेरे रूम में पहुंच गई.

रंग गोरा है और 34डी-28-36 का मेरा कामुक फिगर है, जो मेरे लंबे कद की वजह से मुझ पर खूब जंचता है.

बीएफ सेक्सी फुल वीडियो में

इससे मुझे लग रहा था कि शायद आज दीदी आशीष ने मिलने वाली हैं, इसी लिए घर खाली कराने में लगी हैं. मैडम ने हंस कर कहा- मुझे क्या दिक्कत होगी, तुम मुझसे बेहिचक पूछ सकते हो. मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही होने वाला था, जिसका मुझे उस वक़्त कोई अंदाजा नहीं था.

रात भर लंड लेने से उसकी गांड का छेद ढीला हो गया था और अब उसे ज्यादा मजा आने लगा था. हम दोनों बराबर से धक्का लगाने लगे और थप थप्पप थप की आवाज़ तेज हो गई थी. ये जून का महीना था और ट्रेन में काफ़ी गर्मी थी, जिस वजह से मुझे कुछ असहज लगने लगा था.

इंडियन ओरल Xxx कहानी मेरे दोस्त की बहन के साथ मुखमैथुन का मजा लेने की है.

जब मैं कम उम्र का था, तब से इसकी सेक्स कहानी पढ़ रहा हूं और काफ़ी लड़कियों और औरतों के साथऑनलाइन सेक्स चैटभी किया है. मैं अचानक हुए इस हमले को समझ नहीं पाई और उसे धक्का देने लगी, पर छूट नहीं पाई. अब आगे बॉय बॉय सेक्स कहानी:मैं बोला कि तू भी पिएगा क्या?उसने ना में सर हिला दिया.

नीचे मैंने एक बहुत टाइट जींस पहनी, जिसमें पीछे से मेरी गांड एकदम गुब्बारा लग रही थी. उसने मुझसे पूछा- तुम्हें कैसी लड़की पसन्द है?मैंने तुरन्त रिप्लाई किया- बिल्कुल तुम्हारी जैसी होना चाहिए. मैम के अंडरवियर में हाथ डालने से मेरा लंड भी बाहर आ गया था और जो बची-खुची कसर थी, उसको मैम ने अपने हाथ से अंडरवियर नीचे सरका कर पूरी कर दी.

जैसे ही सरिता भाभी विजय से चिपकी, विजय के रोम रोम में बिजली सी दौड़ गई. आंटी की चुत बहुत हॉट लग रही थी … ख़ास बात ये थी कि आंटी की चुत एकदम गोरी और मांसल चुत थी.

मेरी उंगली सीधी उसकी चूत के अन्दर चली गई, तो नंदिनी की चीख निकल गई. वहां जाकर तू कोई जॉब कर ले, साथ में ही गवर्मेंट जॉब के लिए भी कोशिश करते रहना. मैं- आह चूस तो रही हूँ जान … क्या मस्त लौड़ा है तुम्हारा … मुझे इस लंड की रांड बना दो.

आज मैं आपको अपनी ज़िन्दगी में हुए एक सच्चे अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ.

फिर वो रुके और अपने कपड़े पहनते हुए बोले- आज की ट्रेनिंग बस इतनी ही थी. ये कुछ ही क्षणों में दूसरी बार था जब हमारे शरीर एक दूसरे से रगड़ रहे थे. फिर एक दिन हम साथ में कॉलेज आये, उस दिन सुबह से ही मेरा पढ़ने का मन नहीं था.

उनके पास बैठ कर मैंने 15-20 मिनट तक उनसे बातचीत की और हाल चाल जाने. मैं- वो कैसे?रानी- उस दिन शायद आपकी जगह कोई और होता तो पता नहीं क्या करता मेरे साथ.

मैंने कमर पकड़कर नीचे से झटके लगाने शुरू कर दिया।थोड़ी देर बाद वो लंड पर उछलने लगी. उनकी फिर से तेज सीत्कार निकल गई और मुझे जालिम जानवर कह कर वो अपनी गांड उठाने लगीं. धीरे धीरे वो मां के पेट पर किस करते करते उनकी नाभि को मुँह में भर कर चूसने लगे.

सविता भाभी की बीएफ वीडियो

आज पहली बार मुझे एक साथ दो सुंदर लड़कियों की चूत चोदने का मौका मिल रहा था.

कुछ देर बाद मेरे लंड ने वीर्य की धार छोड़ दी और मैं उसके ऊपर लेट गया. जिसको चुदना होता है, बाकी दोनों उसको सजा सँवार कर मेरे कमरे में भेजती हैं. मैंने तुरन्त सोच लिया कि लोहा गर्म है और चोट कर ही देना चाहिए क्योंकि अगर मैं ऐसा नहीं करता हूँ, तो जरूर ये किसी और से चुदवा लेगी.

निर्वाण शाह[emailprotected]होटल रूम Xxx कहानी का अगला भाग:कोमल हसीना को खुल कर चोदा- 2. तो मैंने कहा- अभी नहीं मेरे राजा … कुछ देर और इन्तजार कीजिए न!मैं अपने आपको उनसे छुड़ाकर रूम में चली गई और दुल्हन वाले कपड़े पैक करने लगी. एक्स एक्स एक्स साउथ बीएफमैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसकी गर्दन को चूसने लगा, साथ ही मैं अपने एक हाथ से उसकी चूचियों को भी मसल रहा था.

उसने- तुम साड़ी ही पहनती हो या कभी जींस टॉप या मिडी स्कर्ट भी पहना है!मैं- जी, सिर्फ साड़ी ही पहनती हूँ. मेरी बुर अब्बू का लण्ड लेने के लिए बावली हो रही थी लेकिन मैं कुछ कह नहीं सकती थी.

उसकी मक्खन जैसी मुलायम चूचियों को मैंने बहुत प्यार से दबाना शुरू किया. फिर में नीचे बैठ गया औऱ रंगोली के दोनों पैरों को थोड़ा फैलाकर उसकी चूत की गुलाबी दरारों में अपनी गर्म जीभ रख दी. मैं सातवें आसमान में थी- और जोर से चोदो … फाड़ दो मेरी बुर … अहजज उफ्फ्फ!पूरी रात में उसने मेरी 4 बार चुत चोदी … और हर बार अपने पानी से मेरी चुत को भर दिया.

फिर उन्होंने अपना एक हाथ मेरी गांड की तरफ बढ़ाया तो उनके मुँह से आवाज निकल गई- हाय कितनी चिकनी गांड है … मैंने ऐसी गांड आज तक नहीं देखी. मेरी पत्नी, रूपा भाभी के साथ क्यों गई थी, इस बात को जब निशा ने मुझे बताया … तो मैं हैरान हो गया था. हैलो फ्रेंड्स, मैं राज सिंह अपनी स्टूडेंट निशा की कुंवारी चुत की सीलतोड़ चुदाई की कहानी में एक बार फिर से आपके सामने हाजिर हूँ.

जैसे ही वो तीसरे फ्लोर पर आई, मैं उसे एक रूम में ले गया जहाँ बैंक्वेट हॉल का डेकोरेशन का सामान रखा था.

डायरेक्टर ने मेरी बीवी के एक दूध को जोर से भींचा और बोला- चल अब तू पीठ के बल हो जा मेरी रानी. तो अर्शिया ने ही मम्मी को सजेस्ट किया कि मुझे आप अपना पेटीकोट दे दो, वो हल्का भी रहेगा और मुझे नींद भी आ जाएगी.

देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी दिल्ली में रहने वाली एक कुंवारी लड़की की पहली चुदाई की है. हिंदी देसी सेक्स कहानी की सबसे मस्त साईट पर मैं अपना पहला अनुभव आप सभी के सामने प्रस्तुत कर रहा हूं. अंकल थोड़ा अलग लहज़े में पूछते हुए बोले- मतलब लड़कों में तुम्हारा इंटरेस्ट ही नहीं है … तो किसमें है?मैंने बोला- अरे अंकल, मेरा मतलब था कि मेरी उम्र के लड़कों में मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है, जिनको सिर्फ जिस्म ही दिखता है.

फिर आखिर में अपना वीर्य रंगोली की चूत में ही गिरा दिया, जो रिसकर बाहर आने लगा. बस में भीड़ देखकर एक पल के लिए तो मैं घबरा गई, पर ये आखिरी बस थी तो जैसे तैसे मुझे जाना ही था … नहीं तो फिर अपना पर्सनल ऑटो करके जाना पड़ता, जो कि इस ढलती शाम में मुझे ज्यादा सुरक्षित महसूस नहीं हो रहा था. मेरा मुँह चूसने के साथ साथ वो अपने दोनों हाथों से मेरे बोबों को जोर-जोर से दबाने लगे थे.

भाभी की चुदाई देसी बीएफ भाभी औंधी हो गई थीं, तो मैंने उनके कूल्हों को हल्के हल्के से दांतों से काटना शुरू कर दिया. मैंने धीरे से कुछ और झटके मारकर लंड पूरा अन्दर तक घुसा दिया और लंड अन्दर बाहर करने लगा.

हिंदी बीएफ सेक्सी फुल मूवी

चूंकि वो मेरे लिए एक अपरिचित था, तो पहले मैंने उसकी तरफ सवालिया निगाहों से देखा. यही सब सोच कर मैंने आज स्कर्ट और एक हाफ टॉप जो कि बस मेरे पेट के ऊपर तक का था उसे पहनने का निश्चय कर लिया. इसलिए मैंने तुम्हें इशारा कर दिया था कि जीजा जी के आने से पहले अपनी बहन की चुत चोदने का मजा ले लो.

अभिनेत्री काजल अग्रवाल जैसी भोली सूरत लिए वो 36-26-34 का मादक फिगर, पतली सुडौल जांघों के ऊपर सपाट पेट … और उसके ऊपर दो खड़े पर्वत, जैसे बोल रहे थे कि मुझे ना देखा तो क्या देखा. खाना आर्डर करने से पहले मैंने उससे पूछा कि तुम कुछ ड्रिंक्स लेना पसंद करोगी!लेकिन लता ड्रिंक वगैरह नहीं लेती थी और मैं भी नहीं लेता, तो हम दोनों ने सिर्फ खाने के लिए ही कुछ मंगा लिया. एडल्ट वीडियो दिखाओसविता आंटी के सामने मैंने अपने लंड को पैंट में एडजस्ट किया तो वो मुस्कुरा दीं.

मुझे बेहद दर्द हो रहा था मगर मैंने उससे खुद को छुड़ाने की कोशिश नहीं की क्योंकि मुझे मालूम था कि बस ये दर्द थोड़ी देर ही होगा … मुझे इस दर्द को बर्दाश्त करना ही होगा.

दूसरी तरफ ये भी तो गलत है कि उसके अलावा मैं किसी लड़की को देखकर उत्तेजित होता हूँ. मैं चौंक कर बोला- दो बार … एक बार तो रसोई वाली चुदाई तो मैंने देखी है.

जैसे तुमने किसी को कुछ ना बताने का मुझे बोला है, वैसे ही मैं भी किसी को कुछ नहीं बताऊंगा. फिर मैंने शीशे से बाहर का नजारा देखा, तो वो तीनों मेरी तरफ ही अपनी नज़र गड़ाए हुए थे. खैर, अब मैंने उसकी चूत को अपने मुँह में भर लिया और जितना हो सकता था उतनी ही जोर से उसकी चूत को चूसने लगा.

आह … मेरी तो जैसे मन की मुराद पूरी हो गई थी; मैं अपने आपको बहुत मुश्किल से संभाल पा रही थी.

उसका भी जवाब आ गया और इस तरह से उससे मेरी 3 दिन तक काफी लम्बी चैट हुयी. वैसे तो वह एक इंजीनियर था, पर जैसे हम सब जानते हैं कि एक इंजीनियर भी इस देश में बेकार ही है. फिर तीसरे दिन मैंने उसे झुका कर सिस्टर की गांड में लंड घुसाया क्योंकि उसको अब लंड लेने की आदत हो चुकी थी.

सेक्सी बीएफ हिंदी सॉन्गफिर मैंने अलीज़ा की चूत में आठ दस जोर के धक्के मारे और मैंने अलीज़ा की चूत में अपने लंड का पानी निकाल दिया. बीच में मुझसे रहा न गया तो मैंने एक बार बाथरूम में जाकर लंड भी हिला कर शांत कर लिया था.

हिंदी वाली बीएफ मूवी

वैसे भी संजना जवान हो गयी है और कल को ये किसी ने किसी के नीचे आती ज़रूर. एक शाम पार्टी में उसने कुछ ज्यादा ही पी ली तो मैं उसे अपने कमरे में ले आया. मैंने उन्हें बताया- हां जी क्या काम है?उन्होंने मुझे फ़ोन पर ही अपने एसी की समस्या बताई.

मैं झड़ कर उसके ऊपर ही गिर गया और उसने मुझे अपनी बांहों में समेट लिया. इस हॉट बहू की अन्तर्वासना कहानी में आगे क्या हुआ, वो मैं पूरी तफसील से अगले भाग में लिखूंगी. तब भी मेरे मन में कुछ सवालात थे कि उन्होंने लंड लेते समय जो दर्द दिखाया था वो क्या था.

मैं ये सुनकर अपना हाथ उनके ब्लाउज़ के बटन पर ले गया और जैसे ही खोलने लगा. मैं फोन पर उसे सेक्स के लिए मनाने लगा तो उसने मुझे तीज के त्यौहार के समय अपनी मामी के घर ही बुला लिया. मैं उन्हें बांहों में भर कर किस करना चाह रहा था, पर वो तो चुदाई में ऐसे मस्त थीं कि जैसे किसी घोड़े पर सवार हों.

उसके होंठों को जोर से चबा कर लौड़े से एक करारा धक्का मारा और लंड से पानी की बौछार उसकी चुत में गिरने लगी. वो मेरी चुचियों को अपने मुँह में रख कर चूसते हुए बोला- अब मुझे तुम्हारी गांड भी मारनी है.

आपको इस सेक्स कहानी में क्या अच्छा लगा, जरूर बताइए, मैं सभी के मेल पढ़ती हूँ.

लेकिन उसके लिए ये पहला अनुभव था … तो वो डर गई कि उसे क्या हो रहा है … कहीं पीरियड्स तो नहीं होने लगे हैं. ब्लू की सेक्सी फिल्मफिर उसे अपने गोगी पुत्तर की याद आई तो वो अपने पति सोढ़ी से कहने लगी- आ तू शु करे छे सोढ़ी? तुझे नहीं पता गोगी पुत्तर अन्दर सो रहा है?’मगर सोढ़ी पर उसकी बात का कोई असर नहीं हो रहा था. ससुर बहू की सेक्स बीएफउसने मेरे हैलो का कोई जवाब नहीं दिया, बल्कि अपनी नजरें नीचे झुका लीं. मेरी उठती हुई गांड से वो समझ गया कि मैं उससे चुदने के लिए एकदम रेडी हूँ.

अब मैं भी जोश में आ चुका था, तो मैं जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

अंकल एक प्राइवेट फर्म में जॉब करते थे, तो वो ज्यादातर आउट ऑफ़ सिटी रहते थे. भाभी की चुत दो महीनों से चुदी नहीं है तो इनकी चुत भी एकदम टाइट छेद वाली होगी. अलीज़ा की गोरी चमड़ी, काली आंखें और उठी हुई गांड देख कर लड़के लंड सहला कर आहें भरते थे.

मैं सोफे पर बैठ गया और आंटी को अपनी गोद में बिठाकर उनके कबूतरों से खेलने लगा. मैंने उसके होंठों को अपने होठों से चिपका लिया और उसे चोदने लगा।अब मेरे लौड़े ने रफ्तार बढ़ा दी। मैं गपागप गपागप चोदने लगा। अब गीला लंड चूत में आराम से जाने लगा था।जल्दी ही खुशबू की चूत ने मेरे लौड़े से दोस्ती कर ली थी।अब मैं तेजी से लंड को अंदर-बाहर करने लगा. शरद अब भी कहीं दिखाई नहीं दे रहा था, पर कमरे में बड़े बड़े तीन बैग रखे थे.

बीएफ मार्केटिंग

मैंने अन्दर आकर पूछा- क्या हुआ मौसी?वो बोलीं- तू बैठ, मैं चाय बनाकर लाती हूँ. दोस्त बोला- मतलब वो तेरा दल्ला है क्या?श्रुति बोली- वो इससे ज्यादा और कुछ है भी नहीं … तू उसकी छोड़, मेरी चुत में ध्यान लगा. भाभी के जाते ही मैंने जिज्ञासावश निशा के मोबाइल को उठा कर देखा, तो समझ में आया कि उसने लॉक भी नहीं लगा रहा था.

आपके काफी संख्या में मुझे ईमेल भी मिले, इसके लिए आप सभी का बहुत धन्यवाद.

कभी मैं उसके मुलायम गुलाब जैसे होंठों को चूमता, तो कभी गर्दन पर किस करता, तो कभी उसके कान की लौ काट लेता.

मैंने अपनी जीभ को नुकीला बनाते हुए उसकी दोनों फांकों को अपनी उंगली से अलग किया और अपनी जीभ को चुत के अन्दर ठेलने लगा. मैं सारा दिन मां को घूरता रहता उनके भरे जिस्म देखकर रोज़ मुठ मारता. सेक्स सली2 मिनट बाद भाभी आयी तो मैं उनसे नजर चुरा के ड्राइविंग सीट पे बैठ गया.

अशी गमन के पीछे पड़ी रही और गमन उससे पीछा छुड़ाने की कोशिश करने लगा था. मैंने उनकी फूली हुई गांड देखी और पैर से जांघों तक हाथ फेरने के लिए दीदी से पूछा. उसे देखते हुए मैंने अपनी पतलून की चैन नीचे सरका दी और अपना लंड निकाल कर पीहू के सामने कर दिया.

मैंने अपना लंड पीछे से उसकी चूत में डाल दिया और उसकी चूत चोदने लगा. लेकिन असली जिगोलो क्लब ढूंढ़ने के चक्कर में मेरे काफी पैसे और समय बर्बाद हो गए.

मेरी भी जान में जान आई कि चलो किसी तरह से बात बन गयी वर्ना वो साली पता नहीं क्या मुसीबत खड़ी कर देती।फिर ऐसे ही दिन बीतने लगे.

उसी समय वो एकदम से उठ गईं और उन्होंने कहा- ये तुम क्या कर रहे हो?मैंने न जाने किस झौंक में कह दिया- आंटी मुझसे कण्ट्रोल नहीं हो रहा है. आज मैं आपको अपनी ज़िन्दगी में हुए एक सच्चे अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ. वो एकदम से सिहर गई और उसकी टांगें चुत को ढकने के लिए आपस में मिलने को हुईं.

सेक्सी पिक्चर ब्लू बीएफ सेक्सी इसके बाद मैंने कई बार भाभी को चोदा और उनके अलावा कुछआंटियों को चोद कर शांत कियाहै. हम दोनों लोग बात करते करते हंसने लगे और एक दूसरे को चुम्बन देने लगे.

बीस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद कार्तिकेय मेरी सेक्सी चुत में ही ढेर हो गया. दीदी की टांगें बड़ी ही चिकनी थीं … उस पर तेल की चिकनाहट और भी मस्ती दे रही थी. दोस्तो, सेक्स करना था मुझे रूपा भाभी से पर उनकी जवान लौंडिया मेरे साथ मस्त होने लगी थी.

सेक्सी बीएफ हिंदी चाहिए

मैंने अपने प्यासे होंठों को उसके सुर्ख ओर गर्म होंठों से चिपका दिया. मगर मैंने इतनी सारी पोर्न फिल्में देखी थीं कि देखकर ही सारा सब कुछ सीख गया था. मैंने उसके होंठों को छोड़कर अब उसका एक चूचा अपने मुंह में डाला और उसे जोरों से चूसने और मसलने लगा.

तभी एक दिन अपने घर के आँगन में पैर फिसलने से मुमताज गिरकर बेहोश हो गई. ये कहकर मैंने उसे देखा, तो उसने मेरी तरफ प्यार से देखा और हम दोनों एक दूसरे को बड़े प्यार से होंठों पर चूमने लगे.

करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद उसने अपना पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया.

मैंने अपना लौड़ा मॉम की चूत पर सेट किया और पहली बार में एक जोरदार धक्का मारा. अब वो सिर्फ फड़फड़ा रहीं थी और मेरा लौड़ा पूरा अन्दर तक जाने लगा।उसकी आंखों से आंसू निकलने लगे. कभी जीवन में मैंने सोचा भी नहीं था कि इतनी कम उम्र की जवान लौंडिया मेरे लौड़े को ऐसे चूसेगी.

मैंने दस बारह तेज शॉट मारे और उससे पूछा- मजा आ रहा है जान!वो चीखने लगी, चिल्लाने लगी- ओह रॉकी बहुत मज़ा आ रहा … और जोर से करो … आह. रितिका- पागल हो गए हो क्या … ये कैसे बोल रहे हो!मैं कहा- हां रितिका, मैं तेरी जवानी देख कर पागल ही हो गया हूँ. उसे मेरा वीर्य मुँह में महसूस हुआ तो वो लंड निकालने की कोशिश करने लगी.

चूसते चूसते वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे हाथ अपने आप उसके गोल गोल सुडौल गांड को सहलाने लगे.

भाभी की चुदाई देसी बीएफ: आइसक्रीम खाने के बाद मैंने उससे कहा- तुम बैठो, मैं नहा कर आता हूँ … थोड़ा फ्रेश फील होगा. मौसी लंड को और जोर-जोर से हिलाने लगीं और मेरा लावा रुमाल में गिरने लगा.

ये बात तब शुरू हुई थी, जब मैं और मेरे दोस्त नए साल की पार्टी में शहर से कुछ दूर के एक होटल में गए थे. अब जब भी मैं या वो हिलती, मेरा लंड उसकी चूत से स्पर्श करता जिससे वो बार बार वो अपनी गांड उछाल कर मेरे लंड को गड़प करने का कोशिश करती. मगर आज मुझे लग रहा था कि नन्दिनी कि चुत मेरे लंड का कत्ल करके ही रहेगी.

लंड घुसवाते ही मामी जी जोर से चिल्ला पड़ीं- आई दैया रे मर गई!मैं उनकी चूत में धीरे धीरे लंड पेल रहा था.

अपनी गर्लफ्रेंड मॉम को चोदने के बाद अपनी दूसरी गर्लफ्रेंड और उसकी मम्मी व मामी के साथ थ्रीसम की सेक्स कहानी पेश है. करीब पांच मिनट बाद उसने अपना पानी गिरा दिया और मेरा लंड उसकी चुत से बाहर आ गया. अपने चूतड़ उचकाकर आंटी ने एक तकिया रख लिया और अपने चूतड़ उचका उचकाकर चुदवाने लगीं.