बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई

छवि स्रोत,इंडियन सेक्सी वीडियो भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स टीवी: बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई, उसका वो नीला टॉप निकलते ही उसकी बड़ी बड़ी चूचियां ब्रा में कैद सामने जनर आने लगीं.

मोहब्बत बरसा दे

अनिल ने बताया कि जब मैंने पहली बार अपनी मां को पेला था, तो वो कुंवारी लड़की की तरह चिल्ला रही थीं. पंजाबी के सेक्सी वीडियोउसके बाद धीरे धीरे स्पीड बढ़ा दी और मेरा लंड अब उसकी गांड में आसानी से अंदर बाहर चलने लगा.

अब मैंने तुम्हारे सामने समर्पण किया है तो अब मेरी और मेरे परिवार की इज्ज़त तुम्हारे हाथ में है. सेक्सी मूवी वीडियो हिंदी मेंफिर कोई स्थिति बनेगी तो उसे चोदने की कोशिश करूंगा और आपको उसकी चुदाई की कहानी लिखूंगा.

जैसे ही वो बाहर निकली … उसको देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया और मेरा 7 इंच का लंड खड़ा होना शुरू हो गया.बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई: सबको अपनी पहली चुदाई याद रहती है इसलिए मैंने भी आपसे अपने सबसे खूबसूरत वक्त का आनंद बांटा है.

जब मैं उसे मिठाई खिलाने को हुआ, तो उसने बोला ऐसे नहीं …उसने एक रसमलाई उठाई और सबसे पहले उसका रस, जो दूध का होता है … उसे निचोड़ कर उस रस को उसने अपने होंठों पर गिरा कर इशारा किया.मैंने उनको अपने पास खींचा और उनको बांहों में लेकर उनके होंठों को चूम लिया और बोला- अब आपको सेक्स के लिए तड़पना नहीं पड़ेगा.

मुझे सेक्स करना है - बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई

जब रात को मेरी आंख खुली तो मैंने घड़ी में देखा कि 11:00 बज गए थे और वो मेरा लंड चूस रही थीं.एक और झटका मुझे लगा कि कल नंगी फोटो सेशन के लिए बात हुई है मगर यहां तो कहानी ही कुछ और है.

कुछ देर बाद रोहन ने अपना लंड चुत से बाहर निकाला और बिस्तर पर गिर गया. बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई मैं भी जीभ अंदर घुसा घुसा कर मौसी की चूत को गर्म करने में लगा हुआ था.

थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि भाभी आराम से लंड ले रही हैं, तो मैंने एक जोरदार झटका दे मारा, जिससे मेरा पूरा लंड अन्दर चला गया.

बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई?

शाम को खाना खाने के बाद हम दोनों वैसे ही नंगे ही रजाई में एक दूसरे को पकड़ कर सो गए. मैंने उसको होंठों पर, गर्दन पर, कान के नीचे … किस करना शुरू कर दिया. ना ही तो सोशल मीडिया का मुझे कोई ज्ञान था और ना ही मेरे पास कोई ज्ञान देने वाला था.

भाभी का गोरा बदन और उठी हुई मोटी गांड मेरी उत्तेजना को और ज्यादा उबाल रही थी. दोमंज़िला से छत पर आने वाली सीढ़ी कुछ इस तरह से है कि किसी को ऊपर छत पर आते हुए जीने की खिड़की से मैं अपनी पीठ की तरफ़ से साफ़ साफ़ दिख रहा था. मगर अब वो क्षण दूर नहीं था जब वस्त्रों का पर्दा हटने वाला था और दोनों एक दूसरे को पहली बार निर्वस्त्र करने वाले थे.

मैंने हल्की आवाज़ में पूछा- भाई??वो आहिस्ता से बोली- बाथरूम में है!ये सुनते ही मैंने जल्दी से उसकी चूची पकड़ी और हल्के से मसल दी. इस पर वो हंसा और बोला कि चोरी तो आपकी भी पकड़ी गई मैडम … क्या अकेले अकेले मजे ले रही हो … मुझमें कौन से कांटे लगे हैं. मेरा लंड खड़ा हो गया था, उसमें मेरा लंड फनफनाते हुए देख लिया और बोली- अभी से इतना बेकाबू! इतनी क्या जल्दी है … घर पर चलेंगे, हमारे पास पूरी दो रात और दो दिन हैं.

कुछ देर बाद रोहन ने अपना लंड चुत से बाहर निकाला और बिस्तर पर गिर गया. मुझे लग रहा था कि ये लंड लेने की अभ्यस्त है, तो शायद चिल्लाएगी नहीं … मगर अगले ही पल मुझे अहसास हो गया था कि इसने काफी दिनों से लंड नहीं लिया था इसलिए इसकी चुत कुछ कस सी गई थी.

उसके मुंह से चूत शब्द सुनना मुझे बड़ा भद्दा और गन्दा लगता था पर मैं उसकी इन बातों का कोई जवाब नहीं देती थी.

जिसके कारण कुछ दिन बाद ये हुआ कि मम्मी पापा को चोदने से मना करने लगी थीं.

जैसे जैसे वो उछल रही थी, वैसे वैसे उसके मोटे मोटे चूचे ऊपर नीचे ऊपर नीचे उछल रहे थे. कुछ ही देर में वो कूद कूदकर थकने लगी और मैं भी स्खलन के करीब पहुंच गया था. मैंने वहां पर अपनी चूत को मसल मसल कर अंकित के बारे में सोचा और फिर खुद को शांत किया.

फिर मैंने दुबारा उसे नीचे लिटाया और 69 पोजीशन में एक दूसरे के लंड चुत चाट कर गर्म करने लगे. फिर जब वो पलटी, तो मैंने देखा एक रसमलाई उसने अपनी चूत में फंसा रखी है, जिसका पीला रस उसकी चूत से होते हुए उसकी जांघों को भिगो रहा था. [emailprotected]सेक्सी भाभी की कहानी का अगला भाग:भाभी से लगाव, प्यार और सेक्स- 3.

मैंने जवाब दिया- बोलो बेटी … इतनी रात को क्यों मैसेज किया?तो उसने लिखा- पापा नींद नहीं आ रही थी, तो सोचा चलो पापा से बातें कर लूं.

फिर उसके बगल में लेट गया। उसने अपनी सलवार ठीक की और बाथरूम में जाकर खुद को साफ किया और वापस आकर बोली- अब चलें?मैंने उसका कुर्ता अपने हाथों मे पकड़ा और कहा- इतनी जल्दी कहाँ? अभी और करेंगे. दूसरी बार उसने लंड को अपने हाथ में लिया तब तक ये पूरा आकार में आ चुका था. आशा है मेरे नए पाठक गण जिन्होंने पहले कभी मुझे नहीं पढ़ा है वे भी इसे पढ़ कर तरंगित होंगे.

अब हम एक दूसरे की बांहों में थे और एक दूसरे को प्यार से चूमाचाटी करते हुए चुदाई का मजा ले रहे थे. उसका प्रोग्राम दिखाने के लिए उसने मुझे और अजय को भी बुलाया लेकिन अजय किसी वजह से नहीं आ सका. वो वैसे ही अपनी गांड में मेरी उंगली लिए कुतिया बन कर चली और बैग से कंडोम निकाल कर मुझे देने लगी.

लंड चुत की चुदाई के साथ ही मैं उसके गोरे गोरे चूचों को बारी बारी से चूसने लगा.

जितना मन हो उतना मेरी चुची दबाओ, जब मन करे, तब मुझे पेलो … मैं कहां मना कर रही हूं. मैंने उसे मना कर दिया और लिखा- नहीं तुली, मैं रात को सोते समय अपने सारे कपड़े उतार कर बिल्कुल नंगा लेटा हुआ हूँ.

बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई [emailprotected]भाई बहिन सेक्स की कहानी का अगला भाग:बहन से शादी करके सुहागरात मनायी- 2. रोहन के मूसल लंड को देखते ही मेरे मुँह से ‘उफ्फ … ये क्या है?’ की आवाज़ निकल गयी.

बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई Xxx चूत की मस्त चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे घर के पास एक नया जोड़ा रहने आया. फिर उसको गर्म करके उसकी सेक्स की प्यास बढ़ाई और इसी के बाद मैंने अपना आखिरी दांव चला.

मैंने उससे कह दिया कि अगर उसे पैसे चाहिएं तो मैं पैसे देने के लिए भी तैयार हूं मगर इस शनिवार की रात वो बस मेरी ही होगी.

हॉट सेक्सी वीडियो रोमांस

ये कहते हुए वो भी अपनी गांड को मुझसे बड़ी तेजी से टकरा रही थी और मैं भी उसे बड़ी तेज तेज धक्के मार रहा था. मैंने आपको अपनी फर्स्ट नाईट सेक्स स्टोरी इन हिंदी के पहले भागभाभी की कुंवारी बहन संग सुहागरात-1में बताया था कि कैसे मैंने अपनी भाभी की बहन को पटा लिया. कुछ देर तो मैं चुपचाप लेटा रहा मगर मेरा लंड ऐसे तना हुआ था कि बस पूछो मत.

रानी- आह … खा जाओ इसे … आंह पूरी खा जाओ … साली बहुत परेशान करती है … अअहह … ओह्ह … क्या मस्त चुत चाटते हो … और जोर से चाटो ओह्ह … अहह … उफ़्फ़ … ओह्ह. मेरी दिली इच्छा थी कि मेरी योनि की सील मेरे पतिदेव ही अपने लिंग से तोड़ें और मैं आजीवन एक अच्छी संस्कारवती पत्नी की तरह रहूं. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अनामिका है और अंतर्वासना पर यह मेरी पहली कामुकता कहानी हिंदी में है.

मैंने न्यूड भाभी की दोनों जांघें पकड़ कर उनकी क्लाईटोरस पर अपने होंठ रख दिए.

तभी मेरा ध्यान टूटा और मैं जोर से बोला- ये आप क्या कर रही हैं पायल भाभी … छोड़िये न इसे. लेकिन कुछ ही टाइम में राज के लंड का पानी निकल गया और हम दोनों लेट गए. दोस्तो, आप तो जानते ही हो कि अगर लंड खड़ा हो जाये तो बिना चूत या गांड में घुसे बैठता नहीं है और इस समय मेरे पास चूत का इंतज़ाम नहीं था.

मैंने तुली की मांग में सिंदूर भरा और तुली को अपनी बाहों में भर लिया. मैं झटके देता हुआ स्खलित हो गया और मैंने अपने माल से मां के मुंह को भर दिया. उसने नीचे से फिर से एक धक्का दे दिया और इस बार उसका समूचा लंड मेरी चुत में बच्चेदानी तक घुसता चला गया.

फिर सुरजीत सर ने मुझे गोद में उठा कर चोदना शुरू कर दिया और मुझे उछाल उछाल कर चोदने लगे. फिर मैं उसे चाटने के लिए मुंह उस तरफ ले गया तो तेज़ स्मैल मेरे नाक से टकराई.

मकान मालकिन के मम्मे मेरे सामने उछल रहे थे … मैंने उन दोनों को बारी बारी से चूस कर चुदाई का मजा लिया. बड़ी मस्त दिख रही थी सोती हुई वो। उसको ऐसे नंगी सोते हुए देख कर मेरा लंड फिर खड़ा हो गया. मैंने उनकी गांड में अपना खड़ा लंड सटा दिया और बोला- वो क्या?वो भी बोल पड़ीं- पेनिस.

कुछ देर के बाद मम्मी के साया को कमर तक उठा कर मम्मी की बुर को पैंटी के ऊपर से ही चाटने लगे.

मैं समझ गया कि भले ही इसकी शादी हो गई हो, मगर इसकी अभी एक अच्छी सुहागरात नहीं हुई है. मैंने राहुल को झूठ बोल दिया वरना उसे बुरा लग सकता था कि मैं राज के साथ बेडरूम शेयर कर रही हूं और अगर सच बोल देती, तो शायद वो मुझसे बात भी नहीं करता. मैंने झटका देते हुए पूरा लंड चूत के अन्दर डाल दिया और संजू को किस करने लगा.

एक दिन मैं मैक्स को सुबह सैर पर लेकर जा रहा था, तभी वो भी अपने डॉगी को घुमा कर वापस आ रही थी. फिर मुझे गले लगा कर बोली- देखा नींद की गोली का कमाल?मैंने पकड़ कर उसके चूचों को भींच दिया और बोला- हां देखा, गोली का भी और तुम्हारा भी।इस तरह से निशु को मैंने बहुत बार चोदा.

जाते जाते एक विनती है कि तुम मेरा पाप क्षमा कर देना और इस अंधेरे कमरे में हमारे बीच क्या हुआ इसे कभी किसी को मत बताना. कई बार मैं पैंटी को वहां से चाट लिया करता था जहां से वो चूत पर लगी होती है. दो मिनट के बाद वो भी पूरे होश में आ चुकी थी और उसने मेरे लंड को पकड़ लिया.

सेक्सी वीडियो दिखाइए काम करते हुए

वो कुछ नहीं बोली तो मैंने उसे पकड़ कर मुंह के बल बेड पर गिरा दिया और उस पर चढ़ गया.

वो बोला कि भाभी आपको कोई तकलीफ़ नहीं होगी, मैं बड़े आराम से चोदूंगा. मैंने पूछा- अब क्या होगा योगेश जी?योगेश जी बोले- कुछ खास नहीं, ये लोगों का तो यही चोंचला रहता है. मैं अपने मुंह को उसके लंड पर दबाते हुए होंठों को उसके टट्टों तक ले जाती थी और उनको किस करके वापस आती थी.

अब मैं अपना दायाँ हाथ उसकी सुराही जैसी गर्दन पर लपेट कर किस कर रहा था। कभी उसका नीचे का होंठ तो कभी ऊपर वाला होंठ चूस रहा था. अच्छा ये बताओ तेरे घर में कौन कौन है?मीता- बाबूजी, ये सील क्या होती है?सुरेश- वो बाद मैं बताऊंगा, पहले तू ये बता कि तेरे घर में कौन कौन है?मीता- मां पिताजी और मेरे दो बड़े भाई, एक बड़ी बहन … बस. अंग्रेजी सेक्सी वीडियो पिक्चरसुषमा मैडम को भी पता चल गया था कि मैं उनके सेक्सी जिस्म पर नज़र रखता हूँ.

चुदते हुए वो फिर से गर्म हो गयी थी और अपनी गाडं उठा उठाकर पिलवा रही थी. फिर मम्मी से चिपक कर बोले- कहो, मज़ा आया?मां बोली- मजा तो बहुत आया मगर अब डर लग रहा है.

मैंने उसको बेड के किनारे पर खींच लिया और खुद नीचे बैठ कर उसकी योनि को चूसना शुरू कर दिया. पहले मैं थोड़ा अपने बारे में बता देता हूँ कि मैं किक बॉक्सिंग करता रहता हूँ, इसलिए काफ़ी फिट हूँ. हाथ बाहर निकाल कर मैं लेट गया और फिर मुझे नींद लग गयी जिसका मुझे पता नहीं चला.

भाभी कराहते हुए बोली- आह … मार दिया कमीने!भाभी के मुंह दर्द भरी आवाज़ सुनकर अब मुझे कुछ अच्छा लगा. मगर मुझे मेरी जिंदगी में किसी लड़की ने पहली बार मैसेज किया था, तो उस नजर से तूलिजा थोड़ी बहुत मेरे दिमाग में घुस गई थी. मैं बीच बीच में उसके निप्पलों पर काट रहा था और वो मादक सिसकारियां ले रही थी.

पांच मिनट घमासान गांड पेलने के बाद मैंने पारिज़ा को घुमाकर लेटा दिया और बिना देर किए उसकी चुत में लंड पेलने लगा.

मम्मी की गांड उठी हुई है और चूचियां ऐसी तनी हुई हैं कि किसी को उनकी चूचियां देख कर मुँह में पानी आ जाएगा. इस गर्म कहानी सेक्स की में पढ़ें कि दिल्ली मेट्रो में मेरी मुलाकात फिर दोस्ती एक लड़की से हुई.

उसके कॉलेज में एक टेलेंट खोजी प्रतियोगिता हो रही थी और वो उसमें अपना डांस दिखाना चाह रही थी. उसने मुझे देख कर पूछा- अरे तुम … कैसे आना हुआ?मैंने कहा- बस आपसे बात करने का दिल किया … और चला आया. दोस्तो, मेरी क्लास में एक सुरजीत सर हैं, जो पढ़ाई तो अच्छी कराते हैं.

अब मैं अपनी सेक्स कहानी का अगला पार्ट छोटी बहन की गांड मारी हाजिर कर रहा हूँ. मैंने कहा- ये मेरा लंड है और तू रात को चार बार चुदने के बाद भी सुबह चली गई, ऐसी हिम्मत तुझमें किधर से आ गई थी?वो हंस कर बोली- भैया मैं अपनी सहेली के घर जाकर सो गई थी और शाम को वापस आ गई हूँ. कुछ देर तक मैं उसकी चुत और चूचियों की कल्पना करते हुए गरमा गया और मैंने उसकी ब्रा को लंड पर लपेट कर मुठ मारी और खुद को शांत करके नहा लिया.

बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई सुषमा ने कहा- चलो, मैं तुमको अपना घर दिखाती हूँ … और तुम मेरे साथ चाय भी पीकर जाना. दोनों ने साथ में स्कूल खत्म किया था और फिर एक और इत्तेफाक ये हुआ कि उन्होंने उसी कॉलेज में एडमिशन भी ले लिया जिसमें मुझे दाखिला मिला.

सास बहू की सेक्सी वीडियो हिंदी

मेरे लंड की आखिरी बूंद तक चुत में टपक जाने के बाद मैं हट गया और उसके बाजू में ही लेट गया. उन्होंने अगले ही पल अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ा और उसे अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप के जैसे चूसने लगी. उसकी बहुत ही कामुक सिसकारी निकल गई- आअहह अहह अहह वाह मुखिया जी … मज़ा आ गया … उफ्फ आह.

वो बोलीं- क्या रिएक्ट करने लगती है?मैंने उनके कान में कहा- आप समझिए ना. मेरे घुसने के कुछ बाद ही जैसे ही विवेक अन्दर आया … उसने गेट लगाकर लॉक कर दिया. जुदाई फिल्म सेक्सीहालांकि उस दिन मैं इन सब बातों से बिल्कुल अनजान नहीं थी कि आज ही मेरी वर्जिन चूत फटने वाली थी … और वो भी मोती के मोटे काले लंड से मेरी हॉट चुत का फीता कटने वाला था.

मैंने बोला कि प्लीज़ संजू मेरा लंड चूसो न!उसने कुछ बोले सीधा अपने मुँह में लंड ले लिया और आइसक्रीम की तरह चूसने लगी.

उसके बाद मैंने लोअर और टीशर्ट पहनी और पर्स उठा कर दरवाजे की ओर बढ़ा तो एकदम से सन्न रह गया. कोई बीस मिनट तक भाभी की गांड मारने के बाद मैं नंगी भाभी की मोटी गांड में ही झड़ गया.

मैंने उसकी पेंटी को उतारा, तो देखा कि उसकी चूत पर बड़े बड़े बाल थे. आज तक मैंने पारिज़ा को कई बार चोदा है लेकिन आज भी पारिज़ा की चूत एकदम कसी हुई मुलायम और मस्त है. जैसे ही चूत में अंदर टॉर्च पड़ी तो अंदर से मॉम की लाल लाल चूत मुझे दिखने लगी.

भाभी पूछने लगी- विशु इतनी सुबह तू कहाँ जा रहा है?मैंने भाभी को बताया- भाभी मैं इतने दिन से यहाँ ही हूँ तो घर भी गंदा पड़ा है, उसे साफ करना है.

वो पूरा ब्यौरा देने लगी कि कौन सा होटल है, कहां पर रुकी हुई है, कितने दिन के लिए रुकी हुई है वगैरह वगैरह. सुरेश- अरे क्या बताऊं यार, काफ़ी टाइम बाद दवाखाना खुला, तो आज काफ़ी भीड़ थी. ना ही तो सोशल मीडिया का मुझे कोई ज्ञान था और ना ही मेरे पास कोई ज्ञान देने वाला था.

सेक्स वीडियो फुल मूवीकभी मैं बाल खींच कर झटका मार देता, कभी उनके कंधे पकड़ कर जोर जोर से धक्के मारने लगता. फिर मम्मी अपनी कोहनी के सहारे पापा की तरफ गांड उठा कर खड़ी हो गयी और पीछे में पापा ने धीरे से गांड में लंड डालना शुरू कर दिया और जब पूरा लंड अंदर चला गया तब फिर उन्होंने तेज तेज झटके देना शुरू कर दिए.

सेक्सी पिक्चर बताओ ब्लू फिल्म

मेरी कोमल देह से कभी पत्तियां टकराती, तो कभी कुछ छोटी टहनियों मेरी मांसल जांघों को छेड़ देती. उनकी दोनों चूचियों को अपने हाथों में भरा मैंने और अपना लंड पीछे से मम्मी की चूत पर सैट कर दिया. वैसे भी यह लोग गोवा में क्या ध्यान लगाने आएंगे … यही सब करने तो यहां आते हैं … अपनी सहेलियों को ही देख लो … यहां आकर कैसे मजे कर रही हैं.

मेरी हालत यह थी की मैं कमर से नीचे बिल्कुल नंगी थी और मेरी तीन उंगलियां मेरी योनि में अब भी घुसी हुयीं थीं जैसे की मौसा जी के आने से ठीक पहले मैं अपनी योनि में तीनों उंगलियां अन्दर बाहर करके झड़ने के करीब पहुँचने ही वाली थी. भले ही वो पीना नहीं चाहती थी लेकिन उसके पास मेरे वीर्य को निगलने के सिवाय कोई विकल्प नहीं था. मैंने फिर से सुनयना भाभी को अपने नीचे लिटाया और उन्हें किस करने लगा.

कभी कभी सोचती थी कि काश यही मेरा हस्बेंड होता!मगर ऐसा तो हो नहीं सकता था. दो मिनट के बाद वो भी पूरे होश में आ चुकी थी और उसने मेरे लंड को पकड़ लिया. फिर थोड़ा संभल कर हम उठे और मैंने देखा कि उसके लंड पर खून लग गया था.

फ़ोन पर बात करते हुए ऐसा लग रहा था कि जैसे वो मुझे देखते ही मेरे कपड़े फाड़ देगी और मेरी क्लासेज की बैंड बज जाएगी. सविता- सच में इतना बड़ा है तेरे पति का … बाप रे, तेरी तो ताबड़तोड़ चुदाई होती होगी.

उसकी सांसें फिर से कंट्रोल से बाहर जा रही थीं और मुझे बेतहाशा चूमते हुए वो फिर से एक बार झड़ गई.

अभी भी करते हैं लेकिन अब उनके लंड में उतना तनाव पैदा नहीं हो पाता है. घोड़े की सेक्सी फिल्मेंइस हॉट एंड सेक्सी गर्ल स्टोरी के पिछले भागअब और न तरसूंगी- 3में आपने पढ़ा किअब आगे की हॉट एंड सेक्सी गर्ल स्टोरी:फिर उन्होंने अपने सारे कपड़े उतार डाले और पूरे नंगे हो गए और बोले- ये ले मेरी जान अब मेरा लंड पकड़ तू, देख तेरे लिए कैसे मचल रहा है ये!वो बोले और अपना लंड जबरदस्ती मेरी मुट्ठी में पकड़ा दिया. चाचा भतीजी सेक्सी वीडियोअंकल ने पारिज़ा को नंगी हालत में देखकर अपनी आंखें बंद कर लीं और वापस घूम गए. मैडम को किस करते करते मैं उनके मम्मों को भी दबा रहा था और एक हाथ से उनकी चूत को भी मसल रहा था.

फिर मैंने पूछा- पारिज़ा, बिस्तर में कैसी है?अंकल बोले- यही तो महसूस करना है.

उसके मुंह से निकल रहा था- आह … आह … जोर से … आह … आह … कम ऑन … मेरी जान, पेलते रहो, मैं प्यासी हूं तुम्हारी।इस तरह की कामुक बातों से मेरा जोश और भी बढ़ गया और मैं तेजी से लिंग अंदर बाहर करने लगा. मैंने उससे पूछी- कहां तक मामला बढ़ा है?वो कहने लगी कि अभी तो कोई खास नहीं बढ़ा. फिर मैं भी कुछ देर रुका एक सिगरेट फूकी और अपनी सीट पर जाकर बैठ गया.

यदि उनसे हो सके, तो वो अपनी कामरस से भीगी कच्छी मुझे गिफ्ट कर सकती हैं, जिसे चाट कर मैं चरम सुख का आनन्द ले सकूंगा. आप सभी दोस्तो से मेरी हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि आप प्लीज मुझसे किसी भी क्लाइंट की इन्फॉर्मेशन नहीं माँगा करें क्योंकि मैं अपनी कस्टमर की कोई निजी जानकारी नहीं दे सकता हूं. मेरे लंड को सहलाते हुए भाभी सिसकार कर बोली- उफ्फ … विशु, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, अब अपना लंड मेरी चूत में डाल दे और मेरी चूत को ठंडा कर दे.

मारवाडी देशी सेक्सी विडिओ

मगर जब धीरे धीरे लंड ने अपना जादू चलाना शुरू किया तो मेरा दर्द मजे में बदल गया. 8-10 इंच तक पानी भरा हुआ था और बाइक के टायर काफी डूबे हुए दिख रहे थे. मैं भी एक सामान्य भारतीय गृहिणी थी और सामने पैसा देखकर मैं उस अवसर को लात नहीं मार सकती थी.

मैं तुम्हारे ख्यालों में खोया रहता हूँ, तुम्हारा साथ जब भी मिलता है ना … मानो बहुत किस्मतवाला महसूस करता हूँ मैं.

एक बात थी चाची गंदी तरह से नहीं बोलीं … फिर भी तुरंत अपनी नाइटी उठाकर घुटने तक ले आईं और किचन की स्लैब पर बैठकर कहने लगीं- डालो.

अब वो तेज़ तेज़ सिसकारी ले रही थीं- आआहह उनंह उम्म्म्म उफ्फ मुझे मज़ा आ रहा है ज़ाकिर … आहल्ला मुझे ऐसे ही प्यार करो ज़ाकिर … आअहह मुझे और ज़ोर से चोदो आहह!मैंने भी अनवरी चाची को चोदने की स्पीड बढ़ा दी. मेरी इस मदमस्त सेक्स कहानी के पिछले भागबहन से शादी करके सुहागरात मनायी- 1में आपने पढ़ा था कि मैं अपनी बहन श्वेता के साथ शादी रचाने लगा था और हम दोनों अपने सुहागरात वाले कमरे के बाहर अग्नि के फेरे ले रहे थे. कपड़े धोने की मशीन की कीमतजब मैं गांव में चाची के घर आया, तो देखा कि घर में गांव की एक बूढ़ी औरत थी, जो चाची से बात कर रही थी.

मैं छेद से देखने लगा और उसने नहा कर सलवार पहन ली और उसको कुछ पता भी नहीं चला. वहां पर थोड़ी अंदर में कच्ची दीवार पर मड़ई डालकर एक कमरा सा बनाया गया था. वो बोली- क्या तरीका है? अच्छे से बताओ न जान!मैंने कहा- यहां फोन पर नहीं.

उस दिन मैंने अंकल को हां बोल कर दारू की सभा समाप्त की … उनको उनके कमरे में सुलाने के बाद मैंने पारिज़ा को फोन लगाया और उसके आने की टाइमिंग जानकर मैंने उससे कह दिया कि मैं सो रहा हूँ. फिर उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगाया और एक झटके के साथ पूरा मेरी चूत में अंदर डाल दिया। लंड को चूत में घुसाकर वो मुझसे चिपक गया.

वो मेरे लंड को पूरा मुंह में भर कर चूसने लगी और मैं उसकी चूत को काट काट कर जैसे खाने लगा.

मेरा दिल तो कर रहा था कि अभी ही इसके गुलाबी होंठों में अपना लंड डाल दूं और इससे कहूँ कि चूस साली कुतिया मादरचोद … मेरे लंड की रबड़ी खा ले. अब मालिनी उठी और अंगिका का पैग उसके हाथ से लेते हुए उसे फिर से उसे बिस्तर पर लिटा लिया. दोस्त की सिस्टर की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी … मुझे ईमेल जरूर करना.

सेक्स एचडी मारवाड़ी उनकी बेटी मेरे लंड पर मस्ती से कूदती रही और आखिर में हम दोनों झड़ने की कगार पर आ गए. चूंकि फ्लैट मेरा ही था, जो पिता जी ने मेरे लिए दो कमरे का फ्लैट खरीदा था.

कई बार मैंने भी रिया को फोन पर समझाने की कोशिश की लेकिन वो अजय को केवल अपना अच्छा दोस्त ही मानती थी. मैं जोर से चिल्लाया … लेकिन पायल भाभी ने मेरा लंड नहीं छोड़ा और वो कामुक स्वर में बोलीं- आपकी बातें सुनकर मैं अपने आपको संभाल नहीं पायी, अब मेरी इस तड़प को आपका ये तना हुआ लंड ही मिटा सकता है. सुरेश- अरे क्या बताऊं यार, काफ़ी टाइम बाद दवाखाना खुला, तो आज काफ़ी भीड़ थी.

ट्रिपल एक्स वीडियो सेक्सी में

रघु की बात सुनकर मीता और सुरेश दोनों अचरज में पड़ गए कि आख़िर ऐसी क्या बीमारी है उसको. फिर उसे अच्छे से साफ करके उसको वापस सुखा दिया और नहा कर बाहर आ गया. मैंने सर से पूछा- क्या हुआ सर … कुछ गलत है क्या?मुझे समझ तो आ रहा था, तब भी मैंने उनका ध्यान बंटाने के लिए ऐसा पूछा था.

मैं ज़ोरों से अनवरी चाची की दोनों चूचियों के निप्पलों को बारी बारी से चूस रहा था. अंकल ने बिना देर किए लंड सैट किया और अपनी बेटी की चुत में लंड से धक्के लगाना शुरू कर दिया.

कहते हुए भाभी मेन गेट लॉक कर आई और आकर मेरे पीछे खड़ी होकर उन्होंने मेरा लंड को अपनी मुट्ठी में भर लिया.

वो बिना कुछ बोले मेरा साथ देने लगी क्योंकि पारिज़ा की प्यास अभी बुझी नहीं थी. फिर तो मेरी हिम्मत खुल गई और मैंने मोनिषा की टी-शर्ट ऊपर करके उसके मम्मों को भी खूब दबाया और निचोड़ा. रवीना के साथ जब मैं पहली बार उसका सामान शिफ्ट करवाने के लिए गया था तो पहली रात को उसने मुझे अपने पास रोक लिया था.

फिर मैंने लंड पर कंडोम लगाया और पारिज़ा के पैर फैला कर बिना देर किए अचानक से जोर से धक्का लगा दिया. रोहन ने फिर से धक्का मारा और अपना पूरा लंड मेरी गांड के अन्दर पेल दिया. फिर मैंने उनको उठा कर घोड़ी बना लिया और पीछे से गांड को थाम कर फिर चूत को पेलने लगा.

कोई दो मिनट तक उनके मुँह को चोदने के बाद मेरे मुँह से तेज सिसकारियां निकलने लगीं और मैं लगातार उनके मुँह को चोदते हुए उनके मुँह में झड़ गया.

बीएफ हिंदी बीएफ चुदाई: सुबह करीब 7 बजे मेरी नींद खुली, तो देखा कि पति देव अभी भी सो रहे थे. सुषमा मैडम कहने लगीं कि तुम्हारी गाड़ी काफी अच्छी है … मुझे भी ये गाड़ी काफी पसंद है.

शायद वो देख रही थी इसीलिए कुछ देर में ही उनका हाथ मेरे तड़पते लौड़े पर आकर टिक गया. उस सेक्स कहानी के बाद मुझे कई ईमेल्स आए, जिनमें पाठक और पाठिकाओं ने अपने निजी जीवन से जुड़ी कई बातें व समस्याएं बताईं. गांव के बाहर तक तो हम बाइक पर आ गये लेकिन आगे बाइक का रास्ता नहीं था.

अब मैंने उसके सिर को पकड़ कर नीचे करते हुए लंड को मुंह में लेने का इशारा किया.

मैं लपक कर उसके पास पहुंचा और हैप्पी बर्थडे बोलते हुए उसे विश किया।वो मुस्कराकर मेरी ओर देखने लगी और बोली- अरे अंकल आप अभी तक नीचे ही हैं? ऊपर चलिए ना, सब लोग ऊपर ही हैं।मैंने कहा- बस मैं भी ऊपर ही जा रहा हूं। तुम चलो. चलो आज इस सेक्स कहानी का अंत करते हुए आप भी जान ही लो कि ये महामादरचोद मुखिया कौन था. उसी उंगली को मैं सुनयना भाभी के एक निप्पल पर ले गया और उसे वहीं वहीं घुमाने लगा.