हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी

छवि स्रोत,लड़की और डॉग की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली नव वर्ष: हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी, फिर मैं ऊपर जा कर चाय और सिगरेट पीने लगा और सोच रहा था कि अगर ये ऊपर आ जाती है, तो इसकी चुत का मज़ा लूंगा और अगर नहीं आती है, तो फिर इसे भूल जाऊंगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो द्वारा

खाला ज़ोर-जोर से हाँफ रही थीं और ऐसे लग रहा था … जैसे कई मीलों से दौड़कर आई हों. मूवी बीएफ सेक्सी हिंदी मेंमैं उसे लेकर अपने कमरे मैं घुसा, तो देखा कि मेरा बेड सुहागरात के लिए सजा हुआ है.

जैसे ही मियां ने अपना लंड गांड में टच किया, मैं इधर अनवर से लिपट गई. हिंदी चुदाई बीएफ सेक्सी वीडियोमैंने आंटी को कॉल किया और बोला कंडोम नहीं है, इतनी रात में मिलने से भी रहा.

उन दोनों ने एक दूसरे की पेंटी उतारने के साथ मेरी अंडरवियर भी निकाल दी.हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी: मेरी सेक्स कहानी के पहले भाग में अब तक आपने पढ़ा था कि मैं मेरे कॉलेज की सीनियर लड़की मालती के घर में थी, वो मेरी चूत में डालने के लिए एक डिल्डो ले आई थी.

वो मुझे पसंद करता था और हम दोनों ने कैसे एक दूसरे के साथ सम्बन्ध बनाए और कैसे एक दूसरे के जिस्म को मजा दिए.मैंने फ़ेसबुक खोली तो देखा फ़ोटो सीन हो चुका था और आंटी का मैसेज था कि विक्रम तुम बहुत गंदे हो.

सपना चौधरी की बीएफ दिखाएं - हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी

क्योंकि मैं वाइफ शेयरिंग की कहानियां हमेशा से पढ़ता आया था और अपनी गर्लफ्रेंड को भी कहता था कि मैं तुम्हें शादी के बाद मोटे लंडों से चुदवाऊंगा.लेकिन यह देख लो कि आपका लंड बहुत तगड़ा है, इसकी बुर में इसको डालना भी है और इसको ज्यादा दर्द भी ना हो … बहुत प्यार से धीरे धीरे डालना है.

शनिवार को मेरी क्लास नहीं होती थी, बाकी सभी अपने अपने काम पर जाते थे. हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी पता नहीं राज अंकल ने इनको क्या क्या बोला है, क्या कैसे कहा होगा कि यह सब मुझे धंधे वाली समझ रहे हैं.

मैंने उन्हें प्लान समझा दिया और अब प्लान के मुताबिक घर पर सिर्फ मॉम और नामित ही रह गए.

हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी?

मुझे लगा कि जगत अंकल और अन्दर तक लंड डालें, पर मैं बोल नहीं सकती थी. प्लीज मैं तुम्हें देखूंगा लेकिन कुछ नहीं बोलूंगा … प्लीज मेरे सामने करो. अब मालती ने मेरी चूत को नकली लंड से ही सही, लेकिन मीठा दर्द दे दिया था … जिससे उसको अब लंड की सख्त जरूरत होने लगी.

बहुत बड़ी छिनाल है तू वन्द्या तेरे जैसी चुदैलू लड़की मैंने आज तक नहीं देखी. यूं ही उसके मखमली शरीर को चूमते चाटते मैं वंदना की जांघों पर से होकर दोनों टांगों के जोड़ पर आ गया. फिर अगले हफ्ते उन्होंने बुधवार के दिन रामगढ़ जाने की बात बताई और कहा कि रात तक आएंगे.

उसकी लपलपाती जीभ को जैसे ही मैंने अपनी चूत पर महसूस किया, मैं एकदम से सिहर उठी. तेरी चूत में बहुत गर्मी है न, पति के होते हुए भी मुझसे चुद रही है साली. शायद थोड़ी देर पहले ही उसने मूता था, उसकी पेशाब की गंध अभी तक थी, लेकिन मैंने चाटकर उसकी चूत को गीला किया.

उसने भी अब मेरे होंठों को फिर से चूसना शुरू कर दिया मगर इस बार वो प्यार से चूस रही थी. मैंने अनु से लगभग चिल्लाते हुए पूछा- इतना टाइम कैसे लगा?उसने कहा कि मैं तो कपड़े धो रही थी, करण पाल जी बैठे थे.

करण पाल यह सुनकर गुस्से से लाल पीला हो गया और उसने जोर से आवाज़ लगाते हुए मेरी बीवी को बुलाया- अनु भाभी … अनु जी … सुनिए.

उसे ऐसी पैंटी में देखकर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसकी ब्रा को फाड़ कर फेंक दिया.

उसके बाद मेरे दोस्त का और फिर बाकी सब जीजाजी और बड़े लोगों का!सब लोग अपना अपना सामान लेकर कमरे में शिफ्ट हो गये. मनीषा- सूर्या जिद मत करो … अभी चलो प्लीज!मैं- मैं नहीं जाऊँगा तुम्हारे साथ! तुम जाओ … और फिर कभी मत बोलना कि तुम मेरे लिए कुछ भी कर सकती हो. प्रिया का नाम सुनते ही मेरी नजर अब फिर से खिड़की पर चली गयी … वो अब भी खिड़की पर ही थी मगर अपना नाम सुनकर शायद दीवार के पीछे छुप गयी थी.

उनको भी वही चाहिए था, उन्होंने मुझे पलट कर नीचे लिटाया और मेरी जांघों के बीच में आ गए. यह कहानी मेरे और मेरे मामा की लड़की यानि मेरे बहन मनीषा की है जो मेरे ही उम्र की है. इस मौके का मैं आज फायदा उठाऊंगा, आज मैं तुम्हें जबरदस्त चोदूंगा और तुम्हें मुझे सहन करना पड़ेगा.

अब आगे …मैंने घबराते हुए कहा- दीदी, इसको मत डालना वरना मेरी चूत फट जाएगी और सब यही समझेंगे कि इस लड़की की चुदाई हो चुकी है.

प्रिया ने नीले रंग की पैंटी पहनी हुई थी, मगर उसकी चुत के पास से वो गीली होने के कारण अलग ही नजर आ रही थी. मैं खुश था और मुझे जान बूझकर जल्दी जाना था ताकि मैं उसे दूर से निहार सकूं. एक समय तो ऐसा था कि 6 औरतें और 4 लड़कियां ऐसी थीं कि जिनकी चुदाई मैं जब चाहूं, तब कर सकता था.

साथ ही लंड हल्के हल्के मधुर ध्वनि के साथ पच्च पच्च अन्दर बाहर हो रहा था. कई बार खूंटी पर टंगे उनके कपड़ों को सूंघते हुए उनके मर्दाना जिस्म और गांडफाड़ू चुदाई को महसूस करते हुए मुठ मारी थी. आंटी ने कहा- बेटी अब तुम आ गयी हो, तो ये रुचित भी संभल जाएगा और सिगरेट और शराब की आदत छोड़ देगा.

मकान मालिक, मकान मालकिन और उनकी भतीजी नेहा 9 बजे तक अपने बेडरूम में जाके सो जाते.

इसके बाद तो अब मेरी जब भी चुदाई की इच्छा होती, तो मैं चाची को चोद लेता हूँ. मैंने उससे जानना चाहा कि रोज चूत का इंतजाम कैसे होता है?तो उसने मुझे बताया कि वो अपनी भाभी को भी चोदता है.

हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी चाची की उठी हुई गांड मुझसे इतनी करीब थी, इस अहसास से ही मेरा लंड तुनकी देने लगा था. मांसल जांघों के बीच में तूफानी हथियार, शान से खड़ा हुआ उसका मस्ताना लंड.

हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी उसके बाद क्या हुआ:लता भाभी अदा से मुस्कराकर बोली- अच्छा छोड़ो अब, आज सांय को मुझे पिक्चर दिखा कर लाओ?मैं खुश हो गया, मैंने कहा- ठीक है, 6 से 9 बजे वाले शो में चलते हैं।वह बोली- तीन टिकट ले आना, बच्ची भी साथ चलेगी लेकिन हेमा को पता नहीं चलना चाहिए, हम पिक्चर हाल में ही मिलेंगे. मेरे मोटे मोटे चूतड़ों के बीच कसी हुई मेरी गांड और मेरी फूली हुई चुत मेरे पति के लिए सबसे पसंदीदा जगहें हैं.

हाँ … ऐसे ही चूसते रहो, तुम आज इनका पूरा रस पी जाओ और निचोड़ दो इनको!फिर उन्होंने अपने बूब्स पर मेरे सर को दबाते हुए मुझे अपने बूब्स का बहुत मज़ा दिया.

नवरा बायको सेक्सी वीडियो

उसकी गर्दन पीछे की तरफ अकड़ गयी और भाबी जोर जोर से चिल्लाते हुए मुझे चोदने को बोले जा रही थी. मैंने धीरे से उसकी चूत पे किस किया और फिर मेरे होंठ उसकी चूत की साइड पे चलने लगे. मैं हां कर दी तो उसने तुरंत अपने पति को फोन लगाया जो ओमान में किसी कंपनी में काम करता था.

इसके बाद मैं कई बार चुद चुकी हूँ लेकिन पहली बार का मज़ा कुछ अलग ही था क्योंकि वह राहुल के साथ मेरा पहला अहसास था. तभी कुछ देर बाद चाची ने मुझसे कहा- अगर तुम्हें नींद आ रही है और अगर तुम सोना चाहो तो पास वाले कमरे में जाकर सो जाओ!मैंने उनसे कहा- नहीं चाची, मुझे अभी नींद नहीं आ रही है, मैं अभी यहीं पर बैठ जाता हूँ. अब मैं भी गर्म होने लग गयी थी तो मैंने भी उसका साथ देना शुरू कर दिया.

मैंने बस पांच छः झटके ही लगाये थे कि मेरे लंड ने भी नेहा के मुँह में अपना लावा उगलना शुरू कर दिया.

मम्मी पलट कर मुड़ीं, मम्मी के सीट के जस्ट पीछे थी, तो मम्मी को सिर्फ मेरा चेहरा दिखाई दिया. नेहा की जांघों के बीच बैठकर मैंने एक हाथ से अपने लंड को पकड़कर सीधा उसकी मुनिया की फांकों के बीच लगा दिया. तुम्हारे पुट्ठों पर थप्पड़ मारकर तुम्हें थोड़ा ऊपर घोड़ी के माफिक किया.

वो- लगाऊं फोन?मैं- हैं ग्वालियर में एक दो, जिनके साथ, उन्हीं के उनके कहने पर करता हूँ. मैंने देखा कि अंकल ने गांव वाली जो चड्डी होती है, सीधे पट्टे वाली, वह पहनी हुई थी. मैं चाहता था कि जल्दी ही उसकी मां की चूत भी मुझे चोदने का मौका मिल जाए.

मैं कभी कभी अपनी गांड उठा उतार कर अपने देवर का लंड पूरा अपनी चूत में ले रही थी. उसकी योजना थी कि हम कहीं होटल या घर की जगह ऐसी जगह मिलें, जहां कोई आता जाता न हो.

फंक्शन के दिन सुबह 10 बजे वह मुझे लेने आ गया और 15 मिनट में हम फ्लैट पर पहुंच गए. इधर मैं अनवर का पूरा लौड़ा अपने मुँह भरने की कोशिश कर रही थी, पर जा ही नहीं रहा था. फिर मैंने उनका एक दूध को अपने मुँह से चूसना शुरू किया जिसकी वजह से वो जोश में आकर बहुत खुश हो गई और मेरा साथ देने लगी.

मैंने इतनी लड़कियों और भाभियों को चोदा है कि कभी कभी मुझे लगता है कि मैं भी एक फ्री वाला कॉलब्वॉय हूँ.

मैंने उससे पूछा- आपका नाम सोनू है?उसने हाँ में उत्तर दिया और पूछने लगी- आपको मेरा नाम कैसे पता?मैंने कहा- मालती भाभी आपकी बहुत तारीफ करती रहती हैं. थोड़ी देर में वो मेरे कमरे में आ गयी तो मैंने उसे बिस्तर पर बिठाया और खुद उसके बगल में बैठ गया. वे ये कह कर सोने चली गईं … क्योंकि कल रात की उनकी नींद बाकी थी और आज रात भी उन्हें मजे करने थे.

मैं- बस आज कुछ ज्यादा उत्तेजित हो रहा हूँ जानू!यह कह कर मैंने उसे गोद में उठा लिया और बेड पे पटक दिया. मेरे धक्कों के साथ साथ नेहा भी अब तेजी से अपने चूतड़ों को उठाते हुए अपनी कमर को चला रही थी.

रंडी की औलाद, साली … तेरा काला मर्द, साला हिजड़ा चोदता नहीं है ना तुझे, अब ले मेरा लंड, साली कुत्ती, कमीनी. मैंने उससे पूछा- बेटा तुम्हारा नाम क्या है … और करते क्या हो? घर में और कौन कौन है?वो- सर मेरा नाम मदन है, मैं इंजीनियरिंग कर रहा हूँ, मेरा घर बस आपके स्टाफ कॉलोनी से कुछ दूरी पर है. आज पहली बार उन्हें नग्न अवस्था में तने हुए मूसल से लंड लिए काम करते देख रहा था.

पाकिस्तानी मुसलमानी का सेक्सी वीडियो

उसके घुटनों के पीछे से उसकी टांग और पट की चौड़ाई बता रही थी कि वह पूरी तरह से पक चुकी थी अर्थात पूरा लण्ड लेने के लिए उपयुक्त थी.

हम दोनों लोग पूरी मस्ती से सेक्स कर रहे थे और एक दूसरे से खुल कर बातें भी कर रहे थे. मैंने जब किसिंग करते-करते उसके मम्मों पर हाथ फेरा तो वो और भी मस्त हो गई और मेरे कपड़े उतारने लगी. मेरी गांड वैसलीन से बहुत ही चिकनी हो गई थी और अब गांड का छेद भी लंड की मोटाई के मुताबिक़ खुल गया था.

मगर काफी देर तक‌ कोशिश करने के बाद भी वो अपने नाड़े को ही खोल नहीं पाई. इस धक्कमपेल से हम दोनों की ही सांसें अब फूल गयी थीं और बदन पसीने से भीगकर तर हो गए थे. सेक्स बीएफ भाभी कीकौशल्या की ऐसी उत्तेज़ना और कामुकता देख कर मुझे बहुत मजा आ रहा था, पर मैं इतने जल्दी में ना था.

यह देखकर मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा, लेकिन मैं क्या कर सकता था. तभी उसने मेरे को गेट पर खड़ा देखा तो ठिठकी और मुझे बाय बोलकर चली गयी.

साली रांड क्या मस्त लंड चूस रही थी … आह क्या बताऊं … हाय और दूसरी तरफ वो आनन्द का लंड हिला रही थी. मेरा नाम मुदित है और ये मेरी और मेरी मकान मालकिन के साथ चूत चुदाई की कहानी है. करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ, तो मैंने सन्नी को रोक दिया.

मुझसे रहा नहीं गया इसलिए मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी‌ गर्दन‌ को‌ पकड़कर उनके होंठों को अपने मुँह में भर लिया और उन्हें जोरों से चूसने लगा. मैंने अपने रूम का गेट बंद करके उस ब्रा को देखने लगा और उसके थनों को इमेजिन करने लगा. हमारी जो उम्र की अवस्था है, जिसमें हम ज्यादा उत्तेजित और कामुक समय काल में होते हैं, उसमें जीवन साथी की क्या भूमिका होती है?”हां … मैं समझ सकती हूँ, आपके पास जीवन साथी न होने का दुःख है और मुझे जीवन साथी होके भी वो सुख नहीं है.

थोड़ी देर में एक और बंदा इस रूम में आया और मेरी गांड के छेद को सहलाने लगा.

तीसरी रात को मैं करीब 1 बजे कॉफ़ी पीने नीचे ग्राउंड फ्लोर पर जा रहा था तो मैंने उससे पूछा- तुम भी चलोगी?तो बोली- चलो।9वें फ्लोर से एक लिफ्ट सीधा ग्राउंड फ्लोर पर जाती थी बीच में कहीं नहीं रूकती थी।रोजी बोली- इसी से चलते हैं, बीच में कोई डिस्टर्ब नहीं करेगा. बस सर्विस ही तो की है लेकिन मीना ने प्यार से कहा- आप रख लो ना प्लीज!मीना के कहने पर मैंने वो पैसे रख लिए और मैं वहां से वापस आ गया.

राहुल ज्यादातर मेरे पति के पास ही रहते थे। जैसे ही राहुल सो गए वैसे ही पति ने नीचे आकर मुझे दबा लिया और मेरी साड़ी व पेटीकोट ऊपर करके मेरी चड्डी उतार दी और अपना लण्ड मेरी चूत पर लगा दिया और 2 मिनट में ही मेरे ऊपर ढेर हो गए. बातचीत करते हुए मुझे मालूम चला कि वे लोग जंगल से लकड़ियां काटकर शहर में बेचते थे, उसी से उनका गुजारा चलता था. जब तू यहां से जाएगी, तो हम दोनों भाई दबा दबा के तेरे दूध बहुत मस्त कर देंगे.

मैंने नेहा को जोरों से भींच लिया और उसकी मुनिया को अपने वीर्य से पूरा भरकर उसके ऊपर ही लेट गया. प्रमिला भी पास में खड़ी थी, मैंने उसका हाथ पकड़ के उसे भी खींचा और मैंने प्रमिला को भी अपनी बांहों में ले लिया. एक समय तो ऐसा था कि 6 औरतें और 4 लड़कियां ऐसी थीं कि जिनकी चुदाई मैं जब चाहूं, तब कर सकता था.

हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी उसने मेरी गांड पे क्रीम लगाई, उंगली घुसाई फिर लंड को निशाने पे रखा और पेल दिया. मैंने पूछा, तो उन्होंने बताया कि दो साल से सेक्स नहीं किया है इसलिए दर्द हो रहा है.

सेक्सी भाभी सेक्सी पिक्चर

सन्डे को हमारा चुदाई का प्लान तय हुआ और मैं गुड़िया को अपने घर ले आया. उस रात जब मैं उनके बाथरूम गया, तो वहां उनकी ब्रा पेंटी को देख के मुठ मारी और सोने चला गया. बस्स … अब क्या बचा है?” नेहा ने मेरी तरफ देखकर शर्माते हुए कहा और बिस्तर से उठकर खड़ी हो गयी.

हम दोनों लोग पूरी मस्ती से सेक्स कर रहे थे और एक दूसरे से खुल कर बातें भी कर रहे थे. मगर मैंने बिना देर किए अपने तने हुए 8 इंच लंबे 4 इंच मोटे मूसल से लंड की फोटो सेंड कर दी. बीएफ हिंदी बुककिसी प्यासे को पानी मिले,भूखे को भोजन,मन की भूख का तो कुछ नहीं,पर तन की भूख करे सृजन.

पर तुम्हें देख कर मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पाता हूँ और तुम भी तो मेरा साथ पसंद करती हो.

सुखबीर ने उस दिन दुकान नहीं खोली और उसने करीब 11 बजे मुझे स्टेशन के पास मिलने को कहा. मैं अपनी सहेली के पति के सामने पूरी नंगी होकर चुदवा थी और वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहा था.

मैं बरेली का रहने वाला हूँ और मैंने गाजियाबाद के जाने माने कालेज में दाखिला लिया. चुदाई के नाजुक मोड़ पर प्रशांत नीना की मंशा समझ गया और उसे एक ऐसी सलाह दी, जिससे चुदाई में वह नीना से अपने किराए की मुकम्मल वसूली कर सके. सुनील ने मेरी दोनों टांगों को पकड़ कर अपने कंधे पर रख लिया और मेरी कमर को अपनी हथेली से और ऊपर उठा दिया.

मैंने उनसे कहा- आंटी, आज मैं आपसे अपने मन की सच्ची बात कहना चाहता हूँ.

मैंने कहा- सोनू, मुझसे कुछ भी मत छुपाओ क्योंकि जिस दिन मैं और मालती भाभी पिक्चर देखने गए थे तो वहां तुम किसके साथ पिक्चर देखने गई थी?सोनू ने कुछ झिझकते हुए यह बात स्वीकार कर ली और कहा कि वह मेरा बॉयफ्रेंड नहीं है, ऐसे ही मेरी क्लास में पढ़ता था और मुझे मिल गया था. मैंने देखा कि अन्दर ले जाते ही उसने जोर से बेड पर पटका और अनु के होंठ खाने लगा. सुमन बहुत गर्म हो गई थी और चिल्ला रही थी- भाभी, प्लीज मेरी चूत का पानी निकाल दो! और अपने कूल्हे उछाल-उछाल कर मेरे मुँह में मार रही थी, मेरे सर को पकड़कर अपनी चूत में पेले जा रही थी.

बीएफ पिक्चर भोजपुरी गानाअगले दिन चाची के भाई की तबियत खराब हो गई, जिससे वो अपने मायके घर को मेरे हवाले छोड़कर चली गईं. वो दुखी होकर बोलीं- अपना दूध कैसे निकालूंगी मैं?मैं बोला- मैं निकाल दूँगा ना.

सेक्सी वीडियो दिखाएं चुदाई वाला

मिश्रित रस उनकी चुत के मुँह से निकलकर उनके नितम्बों की गहराई में समा‌ रहा था. फिर एकदम से उसने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चूत पर ज़ोर से दबाया और उसकी चूत से रस की धार बह निकली. लगभग बीस मिनट बाद वह तौलिया लपेटकर निकली और मुझे देखते हुये मुस्कुराई.

अब तक हमने इतनी बार फ़ोन पर बातें कर ली थीं कि अब हमारे बीच कोई शर्म नहीं रही थी तो मैंने सीधा ही अजय को कसकर गले लगा लिया. दरअसल मेरी तनी हुई चूचियां और उठी हुई गांड ही मुझे सेक्सी बनाते हैं. फिर धीरे धीरे मैंने पता लगाना चालू किया, तो पता चला आंटी का शौहर सऊदी में जॉब करता है, यहां सबीना आंटी अकेली अपने बच्चों के साथ रहती हैं.

मुझे लगा कि जगत अंकल और अन्दर तक लंड डालें, पर मैं बोल नहीं सकती थी. थोड़ी देर चूसने के बाद वो अपने घुटने मेरी कमर के अगल बगल बेड पर टिका कर बैठ गयी. उसकी सासू माँ ने भी कहा- हां, तेरी दीदी सही बोल रही है, तू हमारे साथ आ जा.

ललिता को मैंने शादी में और उसके घर में उसके पति की अनुपस्थिति में भी चोदा था. कुछ टाइम बाद मामी ने अंकल को आंख मारी तभी अंकल ने एक और धक्का मारा और उनका आधा लंड चला गया.

थोड़ी देर बाद मुझे मेरे लंड पर कुछ महसूस हुआ, मैंने देखा कि वो मेरा लंड चूस रही थी.

मैंने कहा- आप अंकल के बिना कैसे रह लेती हो?आंटी बोलीं- रहना तो है ही यार. चोदा चोदी बीएफ भेजिएमैं कल ही इधर शिफ्ट हुई हूँ, अभी फिलहाल स्कूल स्टाफ क्वॉर्टर में ही रुकी हूँ. सेक्सी वीडियो बीएफ भोजपुरी गानाफिर मैं अपना घर छोड़ कर यहां दिल्ली आ गया क्योंकि मुझे इस जलालत के पैसे से जिन्दगी जीना दुश्वार लगने लगा था. मैं अब बहुत असहज होने लगी और मेरे अन्दर कुछ कुछ होना शुरू हो गया था.

लेकिन लंड के टच से मैं मदहोश भी हो रही थी,मैं बोली- ठीक है पुनीत, मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

मैंने झट से अपनी कैप्री उतार दी और नंगा हो गया और ऊषा का एक हाथ नीचे ले जाकर अपना लंड पकड़ा दिया. सुमन की चूत को मैं चाटे जा रही थी, सुमन फिर एक बार चिल्लाई- भाभी … मैं फिर झड़ने वाली हूँ!और सुमन ने फच्च से अपनी चूत का पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया और हम दोनों ने एक-दूसरे की चूत को करीब 10 मिनट तक चाटाऔर साफ किया. मैं अपने एक हाथ से उसके दूध को दबाता रहा और एक के बाद दूसरे दूध से खेलता रहा.

मैं फिर से गर्म होने लगा और मेरा लंड फिर से जोश में आ गया, मैंने जल्दी से मनीषा के सारे कपड़े उतार दिए और उसने भी मेरे सारे कपड़े उतार के मुझे नंगा कर दिया. यह सुनकर मैं खुश हो गया और कहा- सच में?उसने कहा- और नहीं तो क्या, अब मैं तुमसे मज़ाक करूंगी?उसकी बातें सुनकर मेरा लण्ड अभी भी खड़ा हुआ था. मैंने आगे को सरकते हुए मामा जी के लंड का गुलाबी मोटा सुपाड़ा अपने मुँह में भर लिया.

हिंदी सेक्सी वीडियो गांड मारने का

मेरी उम्र 22 साल है और मेरी लम्बाई लगभग 6 फुट है, मैं 19 साल की उम्र में ही एयरफोर्स में जॉब लग गया था इसलिए मेरी बॉडी हमेशा से शानदार रही है. थोड़ी देर में रूम की घंटी बजी, मैंने दरवाज़ा खोला तो बाहर सोनाली खड़ी थी. उसके बाद हमने एक एक पैग और सिगरेट पी और फिर उसने मुझे मेज़ पर लिटा दिया.

कुछ देर बाद मैंने उनकी मेक्सी में अपना एक हाथ डाल दिया था मैं अब उनके बूब्स को महसूस करने लगा था.

लाइट स्काई ब्लू कलर की जीन्स की कैप्री, जो बिल्कुल उसकी टांगों के साथ चिपकी हुई थी, जिसमें से उसके उठे हुए चूतड़ बड़े मस्त लग रहे थे.

अगर आप सब मेरी इस कहानी को पसंद करेंगे तो उस सील टूटने की कहानी भी आप सभी लिए लिखूँगी. मेरी सहेली का पति मुझसे बात करते करते मेरे जिस्म को छूने लगा और उसके बाद वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मुझे किस करने लगा. बीएफ वीडियो चुदाई दिखाइए’‘पर ये तो… ये तो…’‘समझिए आंटी ये मुझे पूरा मज़ा देती है, सब तरह से.

थोड़ी देर बाद मैं थोड़ा आराम से करने लगा, जिससे उन्हें भी पूरा मजा आने लगा. हम दोनों लोग ऐसे ही बहुत बार बाहर घूमने गए और हम दोनों लोग एक दूसरे के काफी करीब आ गए. मैंने उसको बोल दिया कि मुझे उसके जैसी आज तक कोई मिली ही नहीं जिसको मैं अपनी गर्लफ्रेंड बना सकूँ.

तभी पीछे से जो मियां अंकल थे, उन्होंने भी मेरे कूल्हों को फैलाकर अपना लंड मेरी गांड में डाल कर अन्दर तक पेल दिया. कुछ ही देर में हम दोनों सेक्स की 69 की पोजीशन मैं होकर एक दूसरे को चाट रहे थे.

सबीना आंटी का कराहना, उनकी हवस से भरी सिसकारियां, उनके बेडरूम को किसी रंडीखाने जैसा बना रहा था.

मैंने उसकी तरफ खिसकते हुए अपने होंठ आगे बढ़ा दिए तो उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये और किस करने लगी. इतने में ड्राइवर ने कार झटके से रोक दी और बोला- सामने ढाबा है, यहां कुछ चाय काफी या और कुछ करना हो तो कर लीजिए … खा पी लीजिए. उधर महेश मेरे मुँह में अपना पूरा लंड डालकर मेरे मुँह को चूत समझकर चोद रहा था.

बीएफ सेक्स वीडियो देहात मदन ने पूछा- सर बाइक पर बड़ा मज़ा आया … आपका तो बहुत बड़ा है, फिर से दिखाइये ना जरा. मैंने कहा- भाई तुझे जो भी करना हो … वो सब तुमको मेरे सामने ही करना होगा.

इस बात को सुनकर मेरे प्यारे पति ने अपना लंड मेरी चुत से निकाल दिया. फिर सुबह 9 के करीब निजामुद्दीन पर वे दोनों उतरने लगीं, तो सरिता ने थोड़ा पीछे रहकर सेक्सी स्माईल देकर बाय-बाय किया. अनुप्रिया बोली- मम्मी का है, पापा मम्मी की चुदाई शुरू हो रही होगी, मम्मी हमें बुला रही हैं.

सेक्सी पिक्चर दिखाओ देसी

इस वजह से मुझे अपनी चूत में उंगली करके अपनी चूत को शांत करनी पड़ती थी. साथ मेरे हाथ उनके मम्मों को दबाने में लगे हुए थे, वो भी मेरा साथ देने लगी थीं. नेहा की चुत को चाटते हुए मैं बीच बीच में अपनी निगाहें खिड़की पर भी ले जा रहा था, प्रिया अब भी खिड़की पर ही थी और चोरी चोरी हमें देख रही थी.

थोड़ी देर बाद वह लड़की फिर पीछे आंगन में आई और मालती भाभी के घर की तरफ इशारा करके बोली कि मैं वहां जा रही हूँ. घर की जिम्मेदारी होने के कारण वो ज्यादा घर से बाहर नहीं जा सकती थी.

रास्ते में मैंने मेडिकल स्टोर से कंडोम का पैकेट और वियाग्रा की गोली ले ली.

फिर से मैंने जोरदार चुम्मा लिया और लंबा फव्वारा सरिता की चूत के अन्दर छोड़ दिया. फिर से मैंने जोरदार चुम्मा लिया और लंबा फव्वारा सरिता की चूत के अन्दर छोड़ दिया. अब मेरे पति अपना लम्बा और मोटा लंड हाथ से हिलाते हुए मेरी चुत में डालने के लिए करीब को आये, तो मैंने उनको मेरी चुत में लंड डालने के लिए मना कर दिया.

मेरी सरोज चाची जब भी कहीं जाती थीं, तो वे मुझे अपने साथ ही लेकर जाती थीं. इससे वो और भी जोरों से सिसक उठी और अपनी कमर को ऊपर हवा में उठाकर मेरी उंगली को अधिक से अधिक अपने अन्दर लेने का प्रयास करने लगी. मैंने पूछा- खाला, मज़ा आ रहा है?वो धीरे से बोलीं- हाँ बहुत मज़ा आ रहा है … मेरी इस चूत का इलाज सिर्फ तुम्हारी चुदाई ही है … हायईई … म्म्म्मम!मैंने धक्के तेज किए तो वो जोर-जोर से चिल्लाने लगीं.

उसकी समस्या जान कर मुझे भी थोड़ी शर्म आई और मेरे पास इसका कोई जवाब भी नहीं था.

हिंदी में बीएफ फिल्में सेक्सी: उन दोनों ने सबसे मुझे भी मिलाया, अन्नू और डोली को लगभग सभी जानती थीं. तब मैंने जानबूझकर आंख बंद कर दी, जिसे देख कर वंदना को लगा कि शायद नींद में रख दिया है और उसने मेरे हाथ को पकड़ कर अपने चूचों के एकदम पास कर लिया.

मैं अभी अभी दो बार स्खलित होकर आया था, इसलिए मैं इतनी जल्दी तैयार तो नहीं हो सकता था. मांसल जांघों के बीच में तूफानी हथियार, शान से खड़ा हुआ उसका मस्ताना लंड. अंततः देविका कहने लगी- सर अब और बर्दाश्त नहीं होता है … जल्दी से घुसाईए ना!देविका चुदाई के लिए तड़पने लगी.

तभी रमीज ने गौरव को बोला- उठ साले बाहर जा और वह ड्राइवर अंकल को भी बोले- ओ बुड्ढे.

मैंने पूछा- अब चूत कैसी है?उन्होंने गांड उठाते हुए कहा- तुम खुद देख लो … तुम्हारे लंड के लिए तड़प रही है. फिर मुझे नीचे की तरफ करके, मेरे ऊपर आ गयी और मेरे मुँह के ऊपर अपनी चुत रख दी. मगर अब मैं कहां रूकने वाला था, अबकी बार मैंने अपनी जीभ को बाहर निकालकर सीधे उसकी चूत की‌ दरार पर रख दिया.