बीएफ का वीडियो सेक्स

छवि स्रोत,आज का बालवीर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी गुजराती ऑंटी: बीएफ का वीडियो सेक्स, मेरा लंड खड़ा करने के लिए एक सेक्सी महिला की मद भरी आवाज ही काफी थी.

पतले होने के लिए योगा

कभी वो मेरे चूतड़ों को दबाती या नाखून लगा देती, तो कभी स्तनों का दूध निचोड़ती. हिंदू और मुसलमानमैंने अनीता के बाल खींच कर उसे अपने ऊपर खींचा और बोला- यार, सर दर्द कर रहा है.

अब आगे होमोसेक्सुअल स्टोरी:कविता लगातार एक ही लय में प्रीति की चूत में धक्के मारे जा रही थी और प्रीति भी उसी लय में कराहती हुई धक्कों का मजा ले रही थी. सेक्स कैसे करते हैं सेक्सइसके आगे सूरज ने बताया कि इनकी बीवी यानि मेरी चाची को गुजरे 7 साल हो गए हैं, लेकिन इन्होंने फिर दुबारा शादी नहीं की और ना ही इनकी कोई औलाद है.

आप ऐसा कह सकते हैं कि मैं बिल्कुल वैसी ही हूँ, जैसी लड़कियां सबको पसंद आती हैं.बीएफ का वीडियो सेक्स: पब्लिक सेक्स कहानी के पहले भागमेरे साले की बेटी की जवानी की गर्मीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं ट्रेन में अनीता को लंड चुसवा कर गर्म कर रहा था.

मैंने भी जोर लगाकर अपनी गांड से सारा वीर्य उनके मुंह में निकाल दिया.फिर पैंटी के ऊपर से ही उसकी चुत को छूने की कोशिश की तो उसने भी उत्तेजना में अपनी टांगें थोड़ी सी खोल दीं.

चोदा चोदी चोदा चोदी चोदा चोदी - बीएफ का वीडियो सेक्स

अगर यह डील कैंसिल हो गयी, तो हमारे एंप्लॉइज की नौकरी चली जाएगी और हमारी कंपनी को भी बहुत बड़ा नुकसान हो जाएगा.बड़ी चाची भी कराह रही थीं- यस यस यस … ओह्ह्ह माय पुस्सी … यु सक सो गुड.

मैंने पूजा से पूछा- किधर चलना है?तो उसने बोला- अभी तो हमारा कोई ठिकाना नहीं है. बीएफ का वीडियो सेक्स भाभी भी बड़े मजे से अपनी गांड ढीली करते हुए जीभ से मजा एने लगीं और गांड उठाकर जीभ से गांड चुदवाने में मेरा साथ देने लगीं.

फिर जब आगे से थोड़ी गर्मी मिली और उसे थोड़ी राहत महसूस हुई तो उसने फिर वही प्रक्रिया दोहराई।थोड़ी देर में उसका छेद शिवम के हिसाब से भी एडजस्ट हो गया, भले दर्द बना रहा हो पर वह अंदर बाहर होने लगा।अब झुको.

बीएफ का वीडियो सेक्स?

मैंने पूजा के कान में धीरे से कहा कि ये हमारा खेल बिगाड़ देगी, तेरी बदनामी भी करेगी. कुछ देर में ही भाभी का दर्द कम हो गया … तो उनके मुँह से फिर से सुख भरी सीत्कार निकलने लगीं. दोनों साथियों को चाहिए कि वो अपने आनन्द के साथ साथ अपने साथी के आनन्द और खुशी का ख्याल रखें.

इसलिए मैं भी जयपुर पहुंचने से पहले एक बार विजय के साथ चुदाई करना चाहती थी. इस दौरान मैं उस लड़की को लगातार लाइन मार रहा था, और मुझे लगा कि वो भी मुझे लाइन दे रही है।उसकी सुंदरता और सादगी बरबस ही मेरा ध्यान खींच रही थी, उसने कान में बड़ी सी रिंग पहन रखी थी. जैसे पंछी पिंजरे से बाहर आने को फड़फड़ाता है … वैसे ही ब्रा में कैद शायरा के दोनों उभार भी ब्लाउज और ब्रा की कैद से निकल कर अपनी आज़ादी का पूरा मज़ा लेना चाहते थे.

अब मैं अपने लौड़े से गीत की चूत चोद रहा था और होंठों से गीत के मम्मों के निप्पल चूस रहा था. मुझे तो डर था कि कहीं वे मेरी चूत में झटके देता देता न मर जाए!फिर हम पांचों सोफे पर बैठ गए. मगर तभी रूम के बाहर वो लड़का भी मंडराने लगा और मुझे बाहर बुलाने के इशारे करने लगा.

असली आनन्द तो रूह के मिलन से आता है और रूहें आपस में तब मिलती हैं, जब दोनों पूर्ण तृप्त हों. आख़िरकार मैं चरमसीमा पर पहुँच गयी और मेरा सारा लावा निकल कर उसके लंड से लथपथ होकर बाहर बहने लगा.

जिनके धक्कों का फ़ायदा उठाते हुए उसने मेरी गांड से अपने लंड को अच्छे से सटा लिया.

रोहित अभी वैसे ही खड़ा था जो झुक कर कहीं उसके होंठों को चूसता तो कहीं अपना लिंग उसके मुंह में दे कर उसका मुंह चोदने लगता।थोड़ी देर बाद हमने उसे गिरा लिया लेकिन जगह बदल बदल कर हरकतें वही होती रहीं। उसका मुंह भी चूमा-चूसा और चोदा जाता रहा, उसके दोनों दूध भी मसले और चुभलाये जाते रहे और उसके दोनों छेद भी चाटे, मसले और खोदे जाते रहे।अब घुसेड़ो.

भाभी के एक पाँव को मैंने अपने पांव पर चढ़ा लिया और बीच में रुक रुक कर लण्ड को अंदर चलाता रहा और डालकर सो गया. मुझे याद थे रानी के कहे हुए साफ साफ शब्द कि चुदाई की पूरी क्रिया उसके हिसाब से होगी. मैं आप सभी का शुक्रगुजार हूँ कि आप सभी ने मेरी पिछली कहानीखूबसूरत किरायेदार भाभी को पटा कर चोदाको बहुत प्यार दिया.

मैंने सलोनी भाभी से विनती की- भाभी, आप मुझे अपनी चुत चूसने दो, आपको मजा आएगा. अब मेरे सारे कपड़े तो बाहर ही थे, तो मेरे पास जो तौलिया था, मैं उसी को बांध कर बाहर आने की सोचने लगी. मैं उसके एक दिन पहले ही गांव पहुंच गया था।उस दिन मैंने सोचा कि घूमना तो ठीक है लेकिन बस में सफर करते हुए तो बोर हो जाऊंगा.

हम चारों के मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं और चारों ही चुदाई में पूरी तरह से लीन हो गये थे.

मैंने सलोनी भाभी से विनती की- भाभी, आप मुझे अपनी चुत चूसने दो, आपको मजा आएगा. अंकल फिर अपने लंड को मेरी चूत में घिसने लगे और एक झटके में लंड चूत में डाल दिया. सन 2016 में मैंने उन्हें एक स्मार्ट फोन दिलाया और उन्हें नये नये पॉर्न के बारे में बताया.

हालांकि इतना मजा लेने का टाइम नहीं था फिर भी मैं जितना हो सकता था उतना लूट लेना चाहता था. मैं समझ नहीं सका कि भाभी ने क्या कहा, तो मैंने पूछा कि आपने क्या कहा भाभी … मैं सुन नहीं पाया?भाभी बोलीं- क्या आप जैसे भाभी का सर दबाते हो, वैसे ही मेरा भी दबा दोगे. मेरे नौकर ने मेरे कामुक चिकनी काया को देखा, तो उसका काला नाग उसके चड्ढी में ही फुंफकारने लगा.

भाभी की बात सुनकर मैंने भी अपने घर पर दूर के दोस्त की शादी का बहाना कर दिया और घर से निकल गया.

मैं मन ही मन सोचने लगी कि ये कितना शरीफ है … वो तो सिर्फ मैं ही जानती हूँ. वो तो बाद में किसी तरह चाचाजी ने सूरज के लंड को मेरी चुदी हुई चुत यानि गुठली में डलवा दिया था.

बीएफ का वीडियो सेक्स वो- पर तुम तो कॉलेज चले गए थे फिर घर कब आ गए!शायरा आज काफी कोन्फिडेन्स से भी बात कर रही थी. मैंने कहा- कुछ नहीं बस यूं ही … वैसे आप हो कौन?मेरे पूछने पर उसने कहा- मैं आपको नहीं जानती हूँ … और तुम भी मुझे नहीं जानते हो.

बीएफ का वीडियो सेक्स तब तक मैं अपना काम निपटा के आती हूँ।मैंने ओके कहा और खाने की ओर बढ़ गया. पाठिकाओं से मेरा लंड तुनकाकर निवेदन है कि अपनी इस मधुर, मादक, अति कामोत्तेजक सुगंध वाली ताक़त को पहचानें और इसका प्रयोग अपने पार्टनर्स को कठपुतली की तरह उंगलियों पर नचाने के लिए करें.

और होटलों के दरवाजे बिना लॉक वाली स्थिति में दोनों तरफ से खुलने वाले होते हैं।मैंने भाभी जी से कहा- भाभी जी, आप दो मिनट रुकिये मैं कपड़े पहन लेता हूँ.

नंगी सेक्सी फिल्म दिखाओ

लण्ड के दबाव से निक्कर के ऊपर गहरा गढ़ा बन गया और बिन्दू आंख बंद करके चूत पर लण्ड का मजा लेने लगी. इंडियन हॉट सेक्स कहानी के तीसरे भागसाले की बेटी को उसके पति के सामने चोदामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अपनी भतीजी अनीता की गांड चुदाई की तैयारी कर रहा था. करीब 5 मिनट बाद मामी को आराम मिलने लगा और उन्हें भी अपनी गांड मरवाने में मज़ा आने लगा.

कविता भाभी ने बड़े खुले अंदाज़ में कहा- रौनक, आज शाम का डिनर साथ ही करते हैं. कुछ दिन बाद साहिल से बात हुई कि उसकी अम्मी को भी पता चल गया कि दोनों चाचियां उसके बेटे से ही चुदवाती हैं. गुस्से में मैं वहां जाकर बैठ गया और अपने मोबाइल से इयर फोन कनेक्ट करके गाने सुनने लगा.

मैं बुरी तरह से हांफ रहा था लेकिन बहुत संतुष्टि का अनुभव कर रहा था.

ये देख कर मैंने देर ना करते हुए लंड एक ही ज़ोर के झटके में चुत की जड़ तक अन्दर पेल दिया. उसके दर्द और सिसकारियों से कमरा गूंज उठा था- आह आह हाअहाहह … श्श्ह्श्स ह्श्स मैं मर गई … आईईईई ओ माई गॉड … चोदो मुझे … आह. जब मेरी आँख खुली तो मैं बेड पर अकेला नंगा पड़ा था और मेरे ऊपर एक चादर ढकी थी.

मैंने पुलिस से पूछा- इनका अपराध क्या है?पुलिस- ये सार्वजनिक स्थान पर अश्लील हरक़तें कर रहे थे. मामी ने अपने कपड़े नहीं उतारे थे, तो मैंने जल्दी जल्दी से मामी के कपड़े उतारने लगा. इतने में जीजू बेशर्मी से बोले- अरे मेरी रानी … अगर तू बोल तो तेरी दीदी के सामने तुझे पटक कर चोद दूं.

और आप स्पेशल या प्राइवेट में लंच करना चाहें तो मैं यहीं भिजवा देती हूँ।मैंने तुरंत कहा- यहाँ नहीं, मैं नीचे ही चलता हूँ. मैं- हम्म … और जब तुम्हारे सीने पर चूमूंगा तो …वो- तो क्या?मैं- तो तुम्हें अच्छा नहीं लगेगा?वो- हम्म … बहुत अच्छा लगेगा.

थोड़ी देर में ही उन्होंने लंड चूस कर उसे खड़ा कर दिया और बोलीं- आज रात मैं तेरी कुतिया हूँ. कविता ने अपनी स्थिति सम्भोग लायक बनाते हुए लिंग को हाथ से पकड़ कर उसे मेरी योनि के छेद दिखाने लगी. साथ ही वह अपनी जांघों को रोहन की साइड में रगड़ रही थी और अपने एक हाथ से अपने एक मम्मे को मसलने लगी.

इस डिल्डो में डबल साइड लंड था जिसे लेस्बियन सेक्स के टाइम पर लड़कियां इस्तेमाल किया करती हैं.

मैं बोला- ये क्या?वो बोले- आज इसकी सुहागरात है … इसलिए शरमा रहा है. पति जी की लगभग 5 इंच की पतली सी डंडी थी, उसको जब अंदर करते थे तो आधे रास्ते में ही पानी निकल जाता था और फिर पीठ घुमा कर सो जाते थे. चाचा जी बोले- देखो बेटा, मैं मानता हूँ कि तुम्हारी और मेरी उम्र में बहुत फर्क है, फिर भी मैं तुमसे गुजारिश करूंगा कि अगर मैं सेक्स के दौरान गाली गलौच करूं … तो तुम बुरा नहीं मानना.

इतने में जीजू बेशर्मी से बोले- अरे मेरी रानी … अगर तू बोल तो तेरी दीदी के सामने तुझे पटक कर चोद दूं. मैं बस मछली की तरह तड़प रही थी।दस मिनट तक ये सब करने से मैं और जीजू इतने गर्म हो गये कि हम दोनों एक साथ झड़ गये.

जैसे ही मैंने अपने लंड का सुपारा उनकी चूत पर रखा तो उन्होंने खुद धक्का देकर लंड को अंदर फंसा लिया. अनु की चीख निकलते देख मैं कमल से बोला- कमल, इसकी साड़ी मुँह में डाल दे. अब मेरी फ्रेंची में झटके देता हुआ मेरा लौड़ा बार बार उछल कर गुहार लगा रहा था कि उसको इस कैद से कोई आजाद कर दे.

मां बेटे का सेक्स दिखाएं

कुछ ही मिनटों में मैंने 6 अलग अलग लंड चूस भी लिए और उनसे चुदवा भी लिया और उनकी मुट्ठ भी मार दी.

सभी ने दीपक के कमरे में इकट्ठे की चुस्कियां लेते हुए आएशा भाभी के साथ खाना खाया।आएशा को कुछ ज्यादा चढ़ गई तो उसने रीना को अपने बांहों में जकड़ा और रीना की चूत चुसाई करके उसे धन्यवाद दिया. वो चुदने से पहले मुझे बाजार ले गई थीं और मेरे लिए पांच जोड़ी कपड़े खरीद लिए थे. मैंने उनके ऊपर झुककर उनके होंठों को किस किया और धीरे से अपना हथियार बाहर निकाला.

मैंने देखा कि मेरी चूत फट गयी थी और चुदाई वाली जगह पर कुछ खून टपक गया था. मेरी बॉडी एकदम शीशे की तरह चमक रही थी … क्योंकि मसाज का तेल मेरे शरीर पर चमक रहा था और मेरा चेहरा भी बहुत ग्लो कर रहा था. तिरंगा फिल्म चाहिए तिरंगाजब उसके लंड से चुदवाती हूं तो चूत में बहुत मस्त वाली गुदगुदी होती है.

सनी मेरे लिए पब्लिक सेक्स के लिए एक शॉर्ट मिडी लेकर आया था जिसे देखकर मैं काफी खुश हुई. मुझे ये देख कर अब अच्छा लग रहा था क्योंकि मेरा प्लान कामयाब हो गया था.

उस दिन मैं अपने पड़ोसी के घर के बगल से गुजर रहा था, तो मेरी नजर एक औरत पर पड़ी. पिंकी ने घुटने मेरे सिर के इधर उधर फर्श पर अच्छे से टिका लिए और लगी अपनी चूचियां निचोड़ने. कुछ दूर जाकर मैंने गाड़ी रोकी और अपना मोबाइल निकाल कर ओयो ऐप से हम दोनों के लिए एक अच्छा सा होटल बुक कर लिया और उसी होटल की तरफ गाड़ी मोड़ दी.

रोहिणी जैसे ही बाहर निकलने को हुई वैसे ही उसकी बहु और मां विमला टिफिन लेकर आ गईं. जैसे ही मैंने जाने की इज़ाज़त मांगी, तो कविता भाभी ने कहा- हर बार बिना कुछ लिए चले जाते हो … आज रुक जाओ … चाय पीकर जाना. मगर कोई दस मिनट बाद उसकी मादक आवाजें आने लगी थीं- आह … सुमित जोर से करो … और जोर से.

बहुत देर से से चुदाई कर रहे थे हम!काफी देर एक दूसरे की बांहों में पड़े रहे।टाइम काफी हो चुका था; रात होने को आई थी।वो उठी.

रात के 2 बजने वाले थे और हमने 2 बार चुदाई की थी लेकिन मैं अब तक पता नहीं कितनी ही बार झड़ चुकी थी. सन 2016 में मैंने उन्हें एक स्मार्ट फोन दिलाया और उन्हें नये नये पॉर्न के बारे में बताया.

शायरा को ये अजीब लगा कि मैं बिना कुछ कहे ही ऐसे पैदल कहां जा रहा हूँ, पर उसको सोच में डूबा हुआ देख कर मुझे अच्छा लगा. एक साथ 6 लोग, 6 लंड और 12 हाथ और साथ में वासना से भरी 12 निगाहें, मेरे बदन पर एक साथ टूट पड़ी थीं. आह संजय, बस ऐसे ही मुझे संभाल कर रखना … मैं तुम्हें जिंदगी भर खुश रखूंगी … सारी उम्र तुम्हारे लंड को अपनी चूत का रस पिलाऊंगी.

अब मैं उसे देखकर और उसके बारे में सोचकर अपने लन्ड को भी हिलाया करता था. पिछले भागपहली बार मामी को लंड चुसायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने रात को मामी की मालिश की और उनकी गांड चुत में उंगली करके झड़ा दिया था. वो तेरे को हर तरीके से संतुष्ट करता है … लेकिन तू उससे चुदी कब … तुम लोग मिले कब?प्रियंका- अरे वो मेरा यार नहीं है … मेरे जीजू हैं.

बीएफ का वीडियो सेक्स अभिषेक के हाथ उसके सर के नीचे थे, तो मैंने बगल में रखी अपनी पैंटी, ब्लाउज और पेटीकोट लिया और बाथरूम में जाकर उनको पहन लिया. भाभी बोलीं- बस मेरी जान मेरे लिए इतना ही बहुत है, मुझे और इससे ज्यादा कुछ नहीं चाहिए.

महिलाओं का पानी कब निकलता है

तो दोस्तो, आपको मेरी यह हिंदी कामवासना स्टोरी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताना!मेरी मेल आइडी है[emailprotected]. मैं आपको शुरूआत से सब बताना चाहूँगा, तो आपको इस देसी हिंदी सेक्स कहानी के क्लाईमेक्स तक जाने में थोड़ा समय लगेगा. इस तरह बीतते समय के साथ हर उम्र की महिला ग्राहकों के लिये मेरा नजरिया एक नादान उम्र के निश्छल आकर्षण से हटकर उनके जिस्म को छूने और टटोलने की ओर हो गया था.

इसलिए मैंने कपड़े नहीं पहने और बिस्तर पर लेट गई।वो तुरंत ही आकर मेरे ऊपर लेट गए और मेरी आँखों में देखते हुए बोले- एक बात बोलूं?जी बोलिये।”तुम इतने दिन क्यों नहीं मिली?”क्यों?”तुम्हारी जैसे पार्टनर हर किसी को नहीं मिलती. उनकी इस छुअन से मेरे पूरे जिस्म में करंट सा दौड़ गया और मैंने ज़ोर की ‘उन्हह. helpline सेक्सइससे वो और ज़्यादा मचल गईं और मेरे सर को पकड़ कर अपनी नाभि में दबाने लगीं.

मुझे डांस सीखने के बहाने मौसी के मस्त और कामुक बदन से रगड़न पाकर मस्ती चढ़ने लगी थी.

उसने लंड को थूक से गीला किया और बैठ गई लंड सट्ट से अंदर चला गया। अब वो उछल उछल कर अपनी चूत से मेरे लौड़े को चोदने लगी।अब हम दोनों ही सिसकारियां निकलने लगी. उनके जाने के बाद मैं दीपिका के बारे में ही सोचता रहा, उसके सेक्सी गुदाज बदन के हर अंग को मैं कल्पना में छूता रहा.

बहुत ज़्यादा खुशी के साथ उसने ‘थैंक्यू जान …’ बोला और मैंने केक की तरफ इशारा किया. तभी नैना बैठी हुई और मुझे अपने ऊपर खींचने लगी, मेरे होंठों को चूमने लगी. उन्होंने बोला- कोई बात नहीं … गर्मी का मौसम है … फिर से नहा लेते हैं.

अब आगे की कुकोल्ड सेक्स हॉट कहानी:अपनी भतीजी की चुत का रस पीने के कारण मुझे एक बार मुँह का स्वाद बदलने की इच्छा हो रही थी.

मैंने उस पर गौर किया और कल भाभी का रूप याद करके मैं कड़ियां जोड़ने लगा तो मुझे भाभी की चुदाई करने की सम्भावना नजर आने लगी. रेहाना- अच्छा तो यह बात है, मगर मैं घर कैसे जाऊँगी?रमेश- घर क्या तुम ब्रा और पेंटी में जाओगी? चुपचाप अपने ऊपर के कपड़े पहनो और चली जाओ।वो मुस्करा कर उसके पास आई और उसका फोन उठा कर नम्बर लगाने लगी. भाभी बोली- राज, एक बार मुझे नीचे गिरा कर रगड़ कर चोद दो ताकि कुछ चैन पड़े, बाकी काम फिर रस लेकर सारी रात करते रहेंगे.

करेले की रेसिपीये देसी गर्ल की चुत कहानी मैंने स्पेशली आप लोगों के लिए ही लिखी है. कुछ ही देर में लंड ने पानी छोड़ दिया और वो सारा पी गयी; जीभ से चाट-चाट कर लंड को साफ कर दिया.

मेरी बीवी की चुदाई

पर एक चीज़ सामने आई कि पैसे के लालच में इंसान कुछ भी कर गुजरने को तैयार हो जाता है. मैंने नेहा के पहले निचले होंठ को चूसा और फिर ऊपर के होंठ को चूसा और फिर उसकी जीभ को चूसा. आपको मेरी इंडियन विलेज भाभी सेक्स कहानी कैसी लगी … मुझे मेल जरूर करना.

तभी मैंने रसोई में लगे शीशे में देखा कि रिजवान सुनील और प्रवीण तीनों चुपके से देख रहे थे. मेरी देशी चुदाई की कहानी के पहले भागमेरी कुंवारी बुर की सील डाक्टर ने तोड़ी- 1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी मम्मी के साथ अपनी चूची में दर्द के इलाज के लिए डॉक्टर के पास गयी थी. जैसे ही पूरा लंड उन्होंने चुत के अन्दर लिया, मैंने नीचे से एक ज़ोर का धक्का भी मार दिया.

मैंने चुत के मुँह पर लंड के टोपे को टिकाकर दबाव बनाया ही था कि मेरी बहन ने लम्बी सांस लेते हुए अपनी गांड उछाल दी और अपनी चुत में मेरा आधा लंड गटक लिया. तेज बारिश और बादलों की गड़गड़ाहट बदस्तूर जारी थी; बीच बीच में बिजली भी कौंध जाती जिससे निष्ठा की झांटों वाली चूत का दीदार क्षणमात्र के लिए हो जाता था. गुड्डी को मैंने बेड पर लिटा दिया और खुद भी अपने सारे कपड़े उतार दिए.

मैंने पूछा- सनी की चुदाई कैसी लग रही है!हॉट सेक्सी भाबी चुदासी सी बोलीं- अभी चुदाई किधर शुरू हुई है, अभी तो कुतिया लंड चूस रही है. मैं बोला- मैं कैसे भी करके हर महीने आपको चोदने आ जाया करूंगा मेरी कप्पो रानी और आपकी चुदाई किया करूंगा.

मैं बोलती- आह … और जोर से चोद मेरे कुत्ते … तेरा मोटा मुझे बड़ा मस्त चोद रहा है.

वो खुद ही अपनी चूत में लन्ड रख कर उसे अंदर डालने के लिये मेरी कमर को अपनी तरफ खींचने की कोशिश करने लगी. वीडियो में सेक्सी चोदा चोदीवरना बाकी कहानी को तो पढ़कर अलग से ही पता चल जाता है कि यह कहानी काल्पनिक है।फिर मैं अपने उस दोस्त से दोबारा भी मिली और फिर हमारे मिलने पर क्या क्या हुआ मैं आपको इस कहानी के अगले भाग में बताऊंगी. लड़की हस्तमैथुन कैसे करती हैअर्चना ने उन दोनों को अलग किया, तो देखा कि महंत का तकरीबन आठ इंच लंबा और ढाई इंच मोटा काला मूसल जैसा लंड चमक रहा था. नीचे की तरफ मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर गीत मेरा लंड चूसने लगी थी और मेरे बिल्कुल सामने, गीत के पीछे, नीचे बैठ कर संजय गीत के दोनों मम्मों को हाथों से सहला और दबा रहा था.

वैसे दोस्तो सच कहूँ, तो मुस्कान, पूजा से भी ज़्यादा सुंदर थी, लेकिन हमारे बीच कुछ खास प्यार नहीं था.

फिर टेबल पर लगे सामन को देख कर मैं एक कुर्सी खींच कर बैठ गया और भाभी के हाथों से पोहे खाने लगा. उन दोनों की चुदाई बड़ी ही कामुक थी और चुदाई के समय मम्मी के मुँह से पापा के लिए निकलने वाली गालियों से भी मुझे बड़ी हैरानी हो रही थी. अनीता बोली- फूफाजी, आपको क्या मालूम है कि इस समय घर में कोई नहीं है?मैंने कहा- तुमने सुबह जो बातें अपने पति से की थीं, वो मैंने सुन ली थीं.

उधर संजय का लंड चूस रही गीत ने हमें देखा तो एक आँख दबा कर लौड़े को चाटती हुई रुक कर बोली- इस साली को तो एक साथ दोनों मिल कर चोदना. फिर वह सारे बर्तन समेटकर बुआ के साथ बिस्तर पर सोने चली गई।मैंने अपनी बहन की मदद से उसकी पड़ोसन को चोदा. उनके लंड पर रूमाल अभी भी वैसे ही बंधा था और लंड सीधा ऊपर को मुँह उठाए हुए खड़ा था.

तृषा मधु वायरल वीडियो फेसबुक

”यार नाश्ते की चिंता मत करो मैं बाजार से आज तुम्हारे लिए गरमा गर्म जलेबी और खस्ता कचोरी ले आऊंगा. मुझे ये सुगंध कुछ जानी पहचानी सी लगी … तो मैंने पैंटी को अच्छे से देखा. तभी गीत फिर बोली- अरे नहीं यार, ये बात तो आप अपने पास से ही मुझे बार बार कह रहे हो.

इन धक्कों के बीच-बीच में मैं उसे चूम लेता था, तो वो भी मुझे चूम लेती थी.

तभी मैंने नेहा से कहा- यार क्या तुम मुझे होटल घुमाने और शादी के बारे में समझाने के लिए थोड़ा टाईम दोगी?नेहा थोड़ा सोचने लगी, फिर कहा- सर आप लंच कर लीजिए.

मुझसे जितना हुआ जा रहा था मैं उनसे और ज्यादा चिपकना चाहती थी जैसे मैं उन्हें अपने अंदर ही समा लेना चाहती थी. हमारा ऑनलाइन ग्रुप बना हुआ था और हमारे बीच में दुनिया भर की बातें होती थीं कि कहां पर क्या हो रहा है और इसी में मेरा टाइम पास हो जाता था. खान सेक्स वीडियोरमेश- और पीना चाहोगी?रेहाना- बेशक।रमेश- उसके लिए तुम्हें मुझसे दोबारा चुदने के लिए आना होगा।वो बोली- अंकल मैं तो आपकी दीवानी बन गयी हूँ.

मैं अंजलि के साथ रात बिताना चाहता हूँ और उसके साथ तुम्हारे ही घर में तब तक रहना चाहता हूँ, जब तक यह लॉकडाउन नहीं खुल जाता. मेरे लौड़े का सुपारा इतना मोटा था कि जब भी वह बाहर की तरफ आता तो गीतिका की चूत से बहुत सारा रस बाहर निकल कर उसकी गांड के गुलाबी छेद को भिगोता हुआ बेड के ऊपर टपकने लगता. वो अपनी इस नयी उपलब्धि में इतना खो गया था कि उसे अपने दोस्तों की भी याद नहीं आयी.

मैंने बोला- साली रण्डी अभी कहां!उसे नीचे फर्श पर लिटा कर मैं उसके उपर आ गया और उसके बदन को फिर से चूसने लगा. मैं- तुम बहुत दिनों बाद ऐसे बातें कर रही हो ना?वो- क्यों? और तुम्हें कैसे पता?मैं- तुम्हें पहले जब भी देखा था तो एटिट्यूड के साथ देखा … ना किसी से बात करना और ना हंसना, पर आज बिल्कुल अलग लग रही हो.

फिर मैं भी चाची के साथ बैठ गया क्योंकि सीट डबल स्लीपर वाली थी।तभी कन्डक्टर आया और उसने मुझे बताया कि इस सीट पर चाची के साथ एक और महिला हैं और मेरी सीट सबसे पीछे बने कैबिन में है.

मेरे लण्ड पर बैठ कर भाभी ने अपने दोनों पांव मेरे हाथों की ओर निकाल लिए और जम कर बैठ गई. अब उसने लंड को मुंह से निकाला और उस पर लगी लार को जीभ से चाटने लगी. आपका नील[emailprotected]देसी लवर सेक्स कहानी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड की कुंवारी चुत चुदाई का मजा- 2.

बीपी का मतलब उसके दोनों हाथों को बगल में दबा कर उसके चेहरे और गर्दन को तेजी से चूमने लगा. उसकी मोटी जांघें और चौड़ी गांड के बीच फूली हुई चुत बाहर निकल कर जैसे लंड को घुस जाने आमंत्रण दे रही थी.

मेरी तो आवाज ही नहीं निकल रही थी।वो बहुत ही धीरे धीरे अंदर बाहर कर रहे थे ताकि मुझे तकलीफ न हो। वो समझ चुके थे कि मेरी गांड ज्यादा नहीं चुदी थी और उनका मोटा लंबा लंड मेरे लिए बहुत बड़ा था।बहुत देर तक उन्होंने छेद को ढीला किया. भाभी बोली- इन दो दिनों में तुमने मेरी जितनी चुदाई की है, उतनी तो सारी उम्र में नहीं हुई. बस उनका मेरे सर को अपनी चुत पर दबाना हुआ और एक भूखे कुत्ते की तरह सलोनी भाभी की गोरी चिट्टी गुलाबी चुत पर लपक पड़ा.

खान की सेक्सी

तभी डाक्टर ने कहा कि अपनी कमीज़ उतार दो।मम्मी मेरी तरफ देख रही थी तो मैंने ना में गर्दन हिलाते हुए मना कर दिया. तू चिंता मत कर … लंड ही तो हैं … बड़े आराम से तेरी चुत में सबके चले जाएंगे. दोस्तो, मैं महेश … अपनी प्यारी शायरा की प्रेम और सेक्स कहानी में फिर से हाजिर हूँ.

मेरे मुँह से अचानक निकल गयी- ये क्या कर रहे हो?इतने में मॉम बोलीं- क्या हुआ?सनी बोला- देखो न मासी … मैंने सिर्फ इस टेडीबीयर को उठाया, तो बोल रही है. थोड़ी देर बाद मैंने धीरे से अपना हाथ उसके बूब्स पर रख दिया और ऊपर से सहलाने लगा।उसने कुछ नहीं बोला और आंख बंद करके लेटी रही.

और मैंने हां में सर हिला कर मुँह फेर लिया … नहीं तो मेरी आंखें भी छलक जातीं.

उसने कंडोम निकाल कर कचरेदान में फ़ेंक दिया और होटल के तौलिए से मेरे लंड को साफ करके फिर से लंड चूसने लगी. वो बोली- अब तुम पिओगे?मैं बोला- हां, तुम नहीं पिओगी क्या?उसने कहा- नहीं, मैंने कभी नहीं पी. केवल नेहा के साथ थोड़ी बहुत चूमा चाटी हुई और हम सब लोग अपने अपने काम पर चले गए.

अच्छा भाभी यह बताओ कि भैया का लंड कितना बड़ा है?”भाभी कहने लगी- बस इस खीरे जितना ही है. मैं तो बस शायरा का हालचाल पूछने और उसके साथ पहले के जैसी दोस्ती करने आया था. वो- अरे अरे … ये क्या कर रहे हो? मैं और बना देती हूँ ना … ये झूठे है मेरे.

तुम्हें तो कोई भी लड़की मिल जाएगी … फिर मैं ही क्यों?मैं उनके बेड पर बैठ गया और भाभी से बोला- आप मुझसे कब तक दूर भागेंगी इधर आइए, मेरे पास बैठिए.

बीएफ का वीडियो सेक्स: मैंने फिर कहा- आपने बताया नहीं दीपिका जी?दीपिका धीरे से बोली- मुझे नहीं पता, अब फोन पर कैसे बताऊं?मैं- चलो, आ कर बता देना. नीचे से गुड्डी ने टांगें खोल दीं और एक हाथ से लंड को पकड़कर चूत पर रख दिया.

Xxx बूर वाली कॉलगर्ल बेटी ने एक बार अपनी बाप से चुदवा कर दोबारा सेक्स नहीं करने दिया तो बाप ने एक नई जवान कालगर्ल बुला ली. मैं अब आगे कुछ कहता, तब तक शायरा बीच में ही बोल पड़ी- मुझे लगता है आज के लिए इतनी बातें काफ़ी हैं, नहीं तो ऑफिस के लिए देर हो जाएगी. आगे क्या हुआ, वो मैं फिर कभी लिखूंगा, पर आज भी अगर मूड और रजामंदी होती है हम दोनों प्यार कर लेते हैं.

मैं समझ गया था कि बस किसी तरह से इसको लंड मिल जाएगा, तो ये लेने के लिए राजी हो जाएगी.

उधर से वो लेडी बोली- यार तो इसमें पूछने की क्या बात है? उसको लेकर फार्म हाउस पर आ जा. मौसी हम सबके साथ काफी फ्रेंडली रहती हैं, इसलिए मैं खुल कर बोल पाया. वो- हां … हां … आपको होटल से नाश्ता भी करना होगा?मुझे भी अब हंसी आ गयी और मैं ‘वो … म्.