बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी

छवि स्रोत,मराठी की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

पुणे बुधवार पेठ सेक्स: बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी, फिर धीरे धीरे करके मौसी ने अपना दूसरा पैर भी मेरे दूसरे कंधे पर रख दिया.

கிராமத்து செக்ஸ் தமிழ்

फिलहाल इतना ही, शबाखैर।आपके कंमेंट्स का इंतेजार रहेगा।[emailprotected]. नंगी नंगा सेक्सी पिक्चरमैं एक हाथ से उसकी चोटी कस कर पकड़ के खींचते हुए दूसरे हाथ से उसकी गांड पर थप्पड़ पर थप्पड़ मारने लगा मानो घुड़सवार को रेस जीतने के लिए घोड़े पर चाबुक मार रहा हो.

इतने में जीजू ने दूसरा झटका मारा और उनका मोटा लंड पूरा का पूरा मेरी चुत में समा गया. सेक्स मोडेलमुझे रोहित का शक्ति का अनुमान हुआ, आखिर वो एक देहाती यादव का लड़का था.

सारी रात हम एक दूसरे की बांहों में लिपटे बिता दें। सुबह मैं उठकर उसके लिए चाय बनाऊँ और वह हर समय वो दीवाना बना मेरे मेरे आगे-पीछे ही लगा रहे।हम्म!”प्रेम! मैं चाहती हूँ पूरी दीन-दुनिया को भुलाकर बस अपने पति को अपना सारा जीवन समर्पित कर दूं.बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी: मेरे मुंह से दर्द भरी आवाज निकली और भाभी के मुंह से भी हलकी सी चीख निकल गयी!कविता भाभी मेरे लंड पर कूदते हुए मुझसे कह रही थी- हां सचिन, कब से मैं तुझसे चोदना चाहती थी। आज आया है तू मेरी चूत के नीचे.

रेलवे की तैयारी भी कर रहा हूँ।मेरी यह कहानी 2 साल पहले की है जब मैं जो वर्ष 2016 में अपने पुराने घर भोपाल से डेढ़ सौ किलोमीटर दूर सागर गया। वहां से मैं ट्रेन में अप डाउन करता था और उस वक्त तक मेरी लाइफ अच्छी चल रही थी।फिर एक दिन मुझे ट्रेन में एक लड़की मिली जो बहुत ही हॉट थी और बहुत ही गोरी थी। वह नर्सिंग का कोर्स करने के लिए उसी ट्रेन से अप डाउन करती थी। मैं रोज उसे उसी ट्रेन में देखता.तुम्हारे बाबू मुझे आज तक माफ नहीं कर पाए, वो जुल्म अपने ऊपर ढाते हैं … वो दारू अपने जिंदगी बर्बाद करने के लिए पीते हैं, ये मैं जानती हूँ.

देसी लड़की की सेक्स वीडियो - बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी

अब तू तो मिली, साथ में छोटी वाली बहू छुटकी भी तेरे जरिये मुझे मिलेगी.जब इतने सारे जोड़े एक साथ इकट्ठा हो रहे हों और सबकी बीवियां किसी और के पति से चुदने वाली हों तो छोटी से छोटी बात भी जिज्ञासा लेकर खड़ी हो जाती है.

यदि आप भी आगे की कहानी जानने के लिए उत्सुक हैं तो थोड़ा सा इंतजार कीजिये. बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी तभी मेरी बहन ने तकिए के नीचे से कंडोम निकाला और अपने ससुर के लंड पर चढ़ा कर लंड पर एक किस करके बगल में पैर खोल कर लेट गईं.

अब तक की मेरी इस मस्त सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि समुद्र तट पर मस्ती करने के बाद हम सभी जब खाना खा रहे थे, तब अपनी अपनी पार्टनर के बारे में बता रहे थे.

बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी?

अपने लण्ड की खाल चार बार आगे पीछे करके मैंने अपने लण्ड का सुपारा अम्मी की गांड के छेद पर रखा. कमी मुझमें थी और मैं अपनी बीवी को खुश करने का कोई और तरीका सोच रहा था. मैंने खुद ही चूतड़ आगे करके बाबू के बाल पकड़ कर अपनी चूत के ऊपर रखवा लिया और चूत को उनकी नाक पर रगड़ने लगी.

एक मुद्दत के बाद आँखों में आँखें, हाथों में हाथ लिए वसुंधरा और मैं, दोनों ख़ामोश … एक-दूसरे के क़रीब थे … इतने करीब कि दोनों एक-दूसरे के धड़कनों को सुन पा रहे थे. एक कपड़ा एक लड़का उतारेगा, जिसके पास जाकर जो भी लड़की पूरी नंगी हो जायेगी वो उसी को चोदेगा. नीतू ने अपने गिलास से एक लंबा घूंट बियर का भरा और गिलास को टेबल पर रखा और अपनी नशीली आंखों से मेरी तरफ देखा.

क्या मदमस्त जिस्म था मेरी अम्मी का … बहुत बड़े बूब्स, बड़ी सी गांड और आज तो अम्मी की चुत के दर्शन भी हो गए थे. रीना धीरे से मेरे कान में बोली- हैप्पी न्यू ईयर … अगली बार दो लेने का मन है एक साथ. पांच मिनट तक भी मैं लंड को संभाल नहीं पाई और मेरी चूत का पानी निकल गया.

मैंने पंद्रह बीस ज़बरदस्त धक्के ठोके और फिर मेरे गोलियों में एक विस्फोट जैसा हुआ. और इधर यश चुदाई की भूख में इतना पागल हो गया था कि उसका लंड पानी न छोड़ने के कारण शबनम के दोस्ती तुड़वा चुका था।सपना भी उसको छोड़ के जा चुकी थी और अब शबनम भी। पर उसकी चुदाई की भूख अभी भी शांत नहीं हुई।आपको कहानी कैसी लगी दोस्तो? आप जरूर मेल कर बताना![emailprotected].

वो मेरे घर के रास्ते पर ही चली जा रही थी और मैं उसके पीछे पीछे चल रहा था.

अमनप्रीत- ठीक है मेरे कुत्ते, नामर्द गांडू, मेरी रखैल के पति, मैं तेरी बीवी की चूत फाड़ने के लिए तैयार हूं.

फिर मैंने अंडरवियर उतार दिया और जल्दी से नंगा होकर श्यामली के पास आकर उसको चूमने लगा. तभी नीरा उठी और एक मिनट में आई कहते हुए कमरे से अटैच्ड बाथरूम में चली गई. और जब वो कनाडा से वापिस आ जायेगी तो मुझे अगर ये सेक्स का सुख उसके साथ मिला तो फिर बताऊंगा अपनी कहानी के जरिये आप सबको।अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे मेरे कहानी पर एक लड़की ने मुझे सराहा.

सायरा के गर्म जिस्म का अहसास अभी भी मेरे दिमाग में चल रहा था।तो दोस्तो, मेरी कहानी कैसी लग रही है? आप सभी के मेल के इंतजार में आपका अपना शरद सक्सेना।[emailprotected]कहानी जारी रहेगी. तू यहां क्या कर रहा है?मैंने भी झट से जवाब दिया- मैंने कल रात को आपके कमरे से कुछ आवाज़ सुनी थीं … और मैंने सब देख लिया था. फिर बापू की उम्र हो चुकी थी, तो मेरे लिए एक साहब की केयरटेकर बनने का ऑफर आ गया.

मुझे स्पोर्ट्स ब्रा के नीचे मौसी के कड़क निपल्स ऐसे महसूस हो रहे थे.

मैंने देखा उधर मोनू भी सीमा का टॉप उतार रहा था और हमें देख भी रहा था. मैंने उसकी पैंटी उतारनी चाही पर उसने मना कर दिया। फिर मैंने उसे किस किया उसके बूब्स ज़ोर ज़ोर से दबाये. मेरी हवस पहले हो राजीव का लन्ड देखकर उबाल खा रही थी, जिसे शालिनी ने चूत चाटकर और ज्यादा भड़का दिया था।अब मैं ‘आआह हहआ आहह हह हहह … मेरी जान चाट मेरी चूत को … खा जा साली को … बहुत तड़पती है बहन की लोड़ी … आआआ आहआ आआ शालिनी … मेरी रंडी चूस … आहह हह अहह बहनचोद’ बोल रही थी.

आआआहह … हमम्म्मम …मेरी जांघों को चाटते चाटते वो मेरी चूत के दाने को चाटने लगा. मुझे तुम्हारी बनाई मेंहदी तुरंत ही धोनी पड़ेगी।तो हीना ने बेचैनी से पूछा- क्या हुआ सर, मेंहदी की डिजाइन पसंद नहीं आई क्या?तो मैंने कहा- अरे ऐसी बात नहीं है, डिजाइन तो तुमने बहुत खूबसूरत बनाई है पर मुझे जोर सो शुशु लगी है, तो कपड़े खोलने से पहले मेंहदी तो धोनी पड़ेगी ना!हीना का चेहरा एकदम से उतर गया. मैंने कोमल को घुमाकर घोड़ी बना दिया और उसकी गांड पर चपत लगाकर धक्का दे मारा.

सोनम की चूचियों के निप्पल एकदम से टाइट होकर नुकीले हो गये थे जिनको देख कर लग रहा था कि किसी पहाड़ की चोटियां हैं.

मैं भी खुल कर प्यार करना चाहती हूं तुमसे।”अब तो खुद लड़की भी लण्ड चाह रही थी तो जहां चाह, वहां राह।कुछ दिनों बाद ही हमारी रिश्तेदारी में शादी थी. उसके लंड से जो रस निकल रहा था ऐसा स्वाद मैंने इससे पहले कभी नहीं लिया था.

बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी तो मैंने बिस्तर पर एक तौलिया बिछाया जहां पर मेंहदी गिरने की संभावना थी. फिर बापू की उम्र हो चुकी थी, तो मेरे लिए एक साहब की केयरटेकर बनने का ऑफर आ गया.

बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी तो अच्छा है कि हम यहीं से शुरू कर दें अगर आप सभी सहमत हो तो?मुझे देख कर एक पल के लिए सभी को लगा कि बात तो ठीक है. मैंने अपनी बहन को भी एक थप्पड़ जड़ते हुए उनसे बोला- साली रंडी तुमको भी शर्म नहीं आई अपने बाप जैसे ससुर के साथ चुदवाते हुए.

होंठ रख कर मैंने चूत के ऊपर छोटे अँगूर के समान तने क्लिटोरिस को जीभ से कुरेद दिया.

गर्लफ्रेंड की सेक्सी कहानी

समीर आज काटना मत … कल शायद सर चूसें इनको!ध्यान से,कहीं काट न लो!”और समीर मेरी चूत चूसने लगा तो मैं बोली-जानू,अब दुबारा भी चूस के हीपानी निकल दोगे क्या? अब सहन नहीं हो रहा … लंड डालो ना मेरी चूत में!हाँमेरी जान … ये लो!”और समीर ने अपना लंड मेरी चूत के छेद पर रखा. तो मैंने अपने चेहरे पे आगे गिरे बाल पीछे किए हाथ से और घोड़ी बन गयी। अब उसने भी अपना लंड डाला और मुझे चोदना चालू कर दिया।हम दोनों सहेलियाँ एक दूसरे की तरफ देखते हुए मुस्कुरा रही थी और एंडर्सन और डेविड हम दोनों को पीछे से ज़ोर ज़ोर से चोदे जा रहे थे। उनके धक्के इतने जबरदस्त थे कि हमारी ज़ोर ज़ोर से आन्न्हह … आन्न्हह …’ की चीखें निकल रही थी. उनकी सीने की हड्डियां दिख रही थीं … लेकिन चुचों की सुडौलता पर उनका कोई प्रभाव नहीं था.

हमारा कमरा थोड़ा बड़ा है उसमें हम तीनों भाई बहनों के लिए सिंगल 3 बेड बिछे हैं. मैं दीदी के मुँह से अपने बारे में सुनकर मस्त हो रहा था और मुझे दीदी के रूप में अलीना दिख रही थी. वो घूमी पर उसके घूमते ही विशाल ने उसकी ब्रा के हुक खोल कर उसके मम्मे आजाद कर दिए.

काफी देर चूत चुदाई देखने के बाद मेरी भी वासना जाग उठी, लेकिन फिर भी मैंने अपने आपको संभाला.

नहीं तो मैं शर्म के मारे मर जाऊंगी।मैंने भी रहम किया, कुछ देर शांत रहकर उसकी चुदाई के उपाय सोचने लगा और उसके बदन को निहारते रहा. मैंने पूछा- कैसी लगी बाबूजी, तुम्हारी भाभी की चूत?वो हवस भरे अंदाज में बोला- कयामत है जी, एकदम से कयामत।यह कह कर उसने सोनम की चूत पर एक प्यारी सी किस कर ली. उधर मनीषा भाभी ने भी अपने एक हाथ से लोअर के ऊपर से ही मेरा लंड पकड़ लिया.

चाची कह रही थीं- अआह आ आउच आअज तूने जिंदगी का मजा दे दिया … अआह आउच. जब मुझे अहसास हुआ कि ससुर जी आ चुके हैं, तो मैंने अपने पति से कहा- अपनी शादी को कितने साल हो गए, आप मुझे अब तक एक बच्चा नहीं दे पाए. वो विशाल से छूटना चाह रही थी तो विशाल ने उसे सुनील और रिंकी की ओर दिखाया.

इसके बाद मैंने सुहास की शर्ट के बटन भी खोल दिए और उसकी शर्ट उतार दी. जुलाई महीने की दस तारीख को हम मालदीव जाने के लिए फ्लाईट में बैठने वाले थे.

वो तब सेक्स के लिए गर्म भी हुई रहेगी तो सब हो जाएगा आराम से! और तुम भी उसे तैयार करना थोड़ा सा।तो मैंने जीजाजी के प्लान पर काम करना शुरू कर दिया. नताशा भी कराहते हुए कुछ सेकंड बाद उठी और अपनी गांड को टिश्यू पेपर से साफ करने लगी. दोस्तो, आप सभी की मुस्कान हाज़िर है फिर से अपनी एक नई कहानी लेकर।मेरी पिछली सभी कहानियों को आप लोगों ने बहुत पसंद किया उसके लिए आप लोगों का दिल से धन्यवाद।कुछ दिन पहले मेरी सेक्स कहानीमेरी कॉलेज गर्ल बनी कॉलगर्ल-1https://www.

जिस वक्त मैं भाभी के मस्त मम्मों को निहारता या उनके मटकते हुए चूतड़ों को घूरता, तब शायद भाभी की तरफ से मिलने वाले ग्रीन सिग्नल भी यही बताते थे कि भाभी भी यही सब चाहती थीं.

दीदी के नग्न फिगर को देखकर मेरे अन्दर की हवस पूरी तरह से बेकाबू हो जाती है. मैंने महसूस किया कि अपनी चूत पर जीभ का स्पर्श पाते ही मौसी ने बेडशीट को अपने हाथों की मुट्ठियों में भींच लिया था. मेरे पुराने पाठक यह जानते हैं कि जब हमारी नई-नई शादी हुई थी तो मधुर भी रसोई में इसी तरह नंगी होकर खाना बनाया करती थी.

गिन्नी मदहोश होने लगी थी और मेरा लण्ड लोअर के अन्दर फड़फड़ाने लगा था. अब मुझे सिर्फ चुदाई दिख रही थी इसलिए मैंने कोमल की बात को अनसुना कर दिया और बस पूरे जोश में झटके मारने लगा.

मैं थोड़ा नरम होते हुए उनके ससुर से बोला- माफ़ तो मैं तुम्हें कर दूँगा … लेकिन इसकी सज़ा देने के बाद. ये उसके आगे की घटना है।पिछली घटना याराना का चौथा दौर की कहानी मुझे अपने साले श्लोक ने गोआ जाते वक्त सुनाई थी। उस वक्त रास्ते में हमने तय किया था कि याराना के जितने भी यार थे, उनको सबको एक साथ इकट्ठा करके एक महायाराना का मजा लिया जाये. अगले दिन मैं शाम को अपनी बालकॉनी में खड़ा था वो लड़की भी अपनी बालकॉनी में खड़ी थी.

देसी देहाती भाभी सेक्सी वीडियो

मेरा इशारा जेठजी समझ गए और वो मेरी गर्दन से शुरू हो गए, साथ ही उनका हाथ अब मेरे पेट को सहलाने लगा.

उनको देख कर हर किसी के मन में यही ख्याल आता था कि एक बार ये मेरे नीचे आ जाये तो पटक पटक कर चोद दूं. यह सब करने में मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था और उनकी सिसकारियों से यह भी पता चल रहा था कि उन दोनों को भी मजा आ रहा है. मेरी पिछली कहानी थी:माँ के मोटे चूचे और मेरी हवसयह कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली रश्मि आंटी की चुदाई की है.

इस हमले से कोमल छटपटा उठी और उसे अपने दोनों हाथों से बेड की चादर को पकड़ लिया. मैं समझ चुका था कि चाची को मुझसे चुदना है … लेकिन अभी ये साफ़ नहीं था. xxx video देहातीअब राजीव मुझे अकेले में नहीं बुलाता था बल्कि अब वो मुझे जानबूझकर सबके सामने डांट देता था.

गुड्डी रानी किलस के बोली- बहनचोद कितना शोर मचाया तूने … पता है बाहर लिफ्ट तक तेरी चिल्लाने और घुंघरू की छम छम का हल्ला मच रहा था … पड़ोसी भी क्या सोचते होंगे कि पता नहीं कौन से डांस की प्रैक्टिस हो रही है जिसमें इतना चीख़ना पड़ता है … हरामज़ादी शांति से नहीं चुद सकती तू?मेमरानी ने कहा- अरे अब तो हो गयी न चुदाई पूरी … और कुतिया तू कम चिल्लाती है क्या जो मुझ पर इल्ज़ाम लगा रही कमीनी. लेकिन आप तो जानते हैं कि हमारे पास जो चीजें होती हैं, हम कभी उसकी कद्र नहीं करते, बल्कि उस चीज के पीछे भागते हैं, जो हमारे पास नहीं होती.

कोई 4 बजे मेरी आँख खुली। टाइम पास करने के लिए मार्किट चला आया।सानिया के लिए क्रीम और जूते भी खरीदने थे ATM से पैसे भी निकलवाने थे।आजकल भरतपुर के फर्स्ट मॉल में डिस्काउंट सेल चल रही है। वहाँ से मैंने सानिया के लिए पैरों की बिवाई के लिए क्रीम खरीदी. इस पूरे चोदन के लिये मैं शांति भाभी को धन्यवाद दे रहा था, जिनकी कृपा से आज एक नौसिखिया लंड अपना पूरा अध्याय खत्म कर सका. उस दौरान एक मेल प्राप्त हुआ जिसमें एक पाठक रोहिताश जो कि दिल्ली के पास से है उसने बीवी सीमांशी को मेरे साथ सेक्स करने की इच्छा जताई.

तभी आंटी ने खुशी को जरा घूम आने को कहा और वह कुछ दूरी पर गार्डन में घूमने लगी. उस दिन भाभी की चुदाई की कहानी जरा विस्तार से लिखूँगा, तो आपको भी मजा आएगा. तय हुआ था कि शाम को हनी को डॉक्टर दिव्या शुक्ला के यहां ले जायेंगे.

उन्होंने मुझे अपनी जगह पर बिठाया और खुद मेरे मुँह के सामने बेड के ऊपर खड़े हो गए.

लेखक होने के साथ साथ ज्ञान जी नारी तन की बारीकियों के ज्ञाता भी हैं. उसके मुंह पे आंटी ने हाथ रख दिया, बोली- धीरे धीरे आगे पीछे कर … पर थोड़ा ही।तो मैंने धीरे धीरे आंटी के कहे अनुसार अपना लंड तान्या की कुंवारी बुर में अंदर बाहर करना शुरू किया.

अलीना- राज मैंने तो अपने पति से तुम्हारा परिचय करवा डाला, तुम कब अपनी वाइफ से परिचय करवा रहे हो. वो- हां … तुम मेरे चचा को कैसे जानते हो?मैं- मेरे बारे में तुम अपने चचा से पूछो … अच्छे से परिचय करा देंगे. ”और फिर सानिया ने चाय छानकर थर्मोस में डाल ली और 2 प्लेट्स और गिलास लेकर हम दोनों डाइनिंग टेबल पर आ गए।सानिया दो प्लेटों में जलेबी और कचोरी नमकीन आदि डालने लगी।यार … सानू साथ खाने का मतलब यह थोड़े ही होता है?”क … क्या हुआ?” सानिया ने डरते हुए पूछा।अरे यार ये दो प्लेट में क्यों डाल रही हो?”तो?”आज हम दोनों एक ही प्लेट में खायेंगे.

मेरा हाथ उनके हाथों के ऊपर से होता हुआ उनकी छाती को छू रहा था।मेरी नाक से निकलती हुई गर्म सांसें रवि की गर्दन पर पड़ रही थी और मेरे मम्में उनकी पीठ पर दब रहे थे. दूसरी बात ये है कि महिलायें कामचोर नहीं होती, ड्यूटी सही करती हैं। छुट्टी या एडवांस कम लेती हैं. फिर अपनी अपनी बीवियों के साथ मिलकर सफर की थकान उतारी। उसके बाद रात का खाना अपनी अपनी बीवियों के साथ ही खाया.

बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी ”तुम्हें अभी भूख तो नहीं लगी ना?”लगी तो है पर मैं चाहता हूँ पहले थोड़ा शॉवर ले लें? क्या ख्याल है?”हाँ चलो साथ में नहाते हैं. आप सभी मुझे मेल करके जरूर बताएं कि इस सेक्स कहानी का आपको सबसे ज्यादा कौन सा सीन पसंद आया है.

सेक्सी पड़ोसन वीडियो

वो- कब से फोन कर रही हूँ … उठा क्यों नहीं रहे हो?मैं- पागल हो क्या. एक दिन वो दोनों इसी तरह से साथ में एक ही बेड पर लेटे हुए बातें कर रहे थे. मैं बुदबुदाया- तीन दिन!फिर मुझे याद आया कि आने से पहले वो पापा से मिलने गए थे.

मैंने दीपिका को तड़पाने के लिए उसकी चूत और जाँघों के भाग को छोड़ दिया और उसके पांव की उंगलियों और अंगूठे को अपने मुँह में ले कर चूस लिया. मैंने मौसी की एक चूची को मुँह में भर लिया और दूसरी को दबा के पहली को चूसते हुए धक्के लगाना जारी रखा. ब्लू फिल्म चूत चुदाईइस बार दवा की असर जल्द ही खत्म हो गया था जिसकी वजह नताशा की नई चूत थी.

उसके बाद मैं व मेरी पत्नी दोनों कार द्वारा रात को ही रवाना होकर देर रात को बम्बई आ पहुंचे.

यह नयी आवाज़ थी गुड्डी की जो हमारी चुदाई से उत्तेजित होकर जाने कब नंगी हो चुकी थी. गुड्डी ने तुरंत अपने पर्स में से एक बड़ी सी मोमबत्ती निकाली, उसको जला के टेबल पर रख दिया और सब बत्तियां बुझा दीं.

शान्ति भाभी ने पूछा- और आगे नहीं बढ़ेगा क्या?दोस्तो, अभी मैं शान्ति के साथ हुई अपनी चुदाई की शुरुआत के बारे में ही सोच रहा था और ये सब घटना क्रम अभी मेरी खुपड़िया में चल ही रहा था कि तभी एक आवाज ने मेरी तन्द्रा को तोड़ दिया. मुझे ऐसा देख कर चाची बोलीं- इस उम्र में ऐसा होता है … तुम परेशान मत हो. शीला घूमी और जैसा उसने एक दिन पहले देखा था, उसने अपने होंठ अरविन्द के होंठ से मिला दिए और एक हाथ उसके तौलिये के अंदर कर दिया.

ऐसे ही एक दिन में सोनू के घर गया था, तो थोड़ी देर बाद हम सब इकट्ठे बैठे हुए थे.

फिर मनु ने श्श्श्शश करते हुए हमें चुप रहने को कहा और परमीत से पूछा- तुमने पैड किससे मांगा??परमीत ने सीधा जवाब दिया- दीदी से. शीना ने बाथरूम का दरवाजा वैसे ही खुला ही छोड़ा था और वो वैसे ही नंगी टॉयलेट सीट पर बैठी हुई थी. संजना भी मेरे इशारे को समझ गई और नीचे झुककर अपनी जुबान से मेरी गांड चाटने लगी.

ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಬಿ ಎಫ್सोनम बोली- पहली चुदाई की क्या बात है, जब भी तुम चोदना चाहोगे तो तुम्हें ये क्लीन शेव ही मिलेगी. मैंने अपने अपने ऑफिस के दोस्त को फोन लगाकर बोल दिया- भाई मेरी आज तबीयत खराब है, मैं नहीं आ पाऊंगा.

हिंदी स्कूल गर्ल सेक्सी

मैंने कहा- यार, मैंने मजाक किया था, उसने कुछ नहीं कहा, मैंने झूठी कहानी बनाई।पर खुशी ने कहा- मैं जानती हूँ तुम झूठ नहीं बोल सकते. मुझे मजा आने लगा, मेरा पानी निकलने लगा तो उसने अपनी स्पीड और बढ़ा दी और दबाकर मेरा पानी निकाल दिया।फिर मैंने अपने बदन को ढीला छोड़ दिया और उससे चिपक गई लेकिन वह तो मुझे बराबर चोदे जा रहा था और उसने भी अपना सारा पानी मेरी चूत में ही निकाल दिया।तब हम दोनों आराम करने के लिए बैठ गए. मैंने हनी की चूत चाटना जारी रखा तो हनी ने मेरा अण्डरवियर उतार दिया और मेरे लण्ड की खाल आगे पीछे करते हुए मेरे लण्ड का सुपारा चाटने लगी.

मायरा की चूचियों को मैं चूसने लगा और उसने मेरे सिर को अपने चूचों पर दबाना शुरू कर दिया. तभी आंटी का फोन बजा और आंटी ने मुझे धक्का देकर अपने आपसे मुझे छुड़ाया. ”क्या दिखा दें तुमको?”हनी की चूत, और क्या? एक बार हमसे चुदवा ले, भला हो जायेगा.

एक बार तू अपना लंड भी दिखा कैसा है?मैंने उसको अपने लंड की फोटो दी तो वो उसको देख कर हंसने लगा और बोला- तू तो नामर्द है, तेरा लंड तो बहुत ही ज्यादा छोटा है. फिर उसका पेट और धीरे धीरे मैं उसकी चूत पे आ गया। चूत पर जीभ रखते ही वो पागल सी हो गयी वो गीली होने लगी।मैंने उसकी चूत को दो उंगली से खोला और फिर एक उंगली से उसको अंदर बाहर करने लगा।वो मचल रही थी। उससे भी चुदास सहन नहीं हो पा रही थी. मुझे चाची की चुत लेने में इतना मजा आता है कि अब मैं मौका मिलते ही गांव चला जाया करता हूँ और चाची की चुत चोद कर आ जाता हूँ.

दीदी- दरअसल हम उसकी अगली रात को वो वीडियो टीवी पर देख रहे थे, इसलिए वो कैमरा वहीं डाइनिंग टेबल पर छूट गया था … और नताशा ने रिकॉर्डिंग देख ली. इसके बाद राहुल रुक कर साइड में लेट गया और मैं समझ गया कि अब मेरी बारी है उसे खुश करने की.

कुछ देर के बाद हम दोनों एक दूसरे के जिस्म की गर्मी का मजा लेते हुए उनके घर की बिल्डिंग के नीचे पहुंच गए.

ये सुनते ही उसने मुझे ज़ोर से सीट पर लेटा दिया … और अपना निक्कर पूरा निकाल दिया. फिर सेक्स वीडियोमैं- रिस्क तो नहीं है ना?वो- कोई रिस्क नहीं होगा … मैंने सब सोच समझ कर ही बुलाया है. गर्ल पोर्नदस पांच दिन में कभी मेरे पास आता भी है तो नशे में होने के कारण कुछ कर भी नहीं पाता है. मेरे अंदर कोई भी कमी नहीं थी पर मैं अपने बाबूजी के नीचे यानि की जन्म दाता के नीचे कैसे लेटूँ?यह एक बहुत बड़ी समस्या थी.

जीजू का लण्ड पूरी तरह से टाइट हो गया और मेरी चूत भी चुदवाने के चरम पर थी.

कुछ देर के बाद हम दोनों एक दूसरे के जिस्म की गर्मी का मजा लेते हुए उनके घर की बिल्डिंग के नीचे पहुंच गए. छटपटाहट भी ऐसी कि कभी दिल जोरों से धड़कने लगता, तो कभी योनि से रक्त बहने का डर सताने लगता. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:दिल्ली के चोदू लड़के से गांड चुदवा ली-2.

अब वो स्टेप भी आ गया, जब मुझे पायल की कमर को पकड़ कर उसे सहारा देना था. मुझे लगा कि कहीं मेरी वजह से तेरी नींद न ख़राब हो जाए तो यहीं बैठ गया. मैं उनकी चुत चाटने लगा और इसके बाद उनकी टांगें फैलाकर मैं उनकी चुत पर लंड सैट करके बैठ गया.

नई नई सेक्सी वीडियो नई नई सेक्सी वीडियो

अब वो मास्टर जी हमारे शहर के सबसे बढ़िया पैंट सिलने वाले व सूट स्पेशलिस्ट बन चुके थे. ” कहते हुए वह खिलखिला आकर हंस पड़ी।पर एक समस्या है?”वो क्या?” उसने आश्चर्य से मेरी ओर देखा।यार तुम तो खाना बनाती रहोगी पर मैं किचन में खड़ा क्या करूंगा?”क्यों … तुम भी मेरी हेल्प करना. उसने नजर झुकाते हुए कहा- तुम सब जानती हो … पर कब से?मैंने कहा- बहुत दिनों से … पर यह जरूरी नहीं है कि मैं क्या जानती हूँ, क्या नहीं … जरूरी ये है कि क्या तुम अपने जीवन की शुरूआत फिर से करना चाहती हो?कुछ देर शांत रहने के बाद वो मेरे से चिपक कर फूट फूट कर रोने लगी.

यह देख मैं स्तब्ध रह गया और आंगन की तरफ बनी छत की रेलिंग के पास बैठ कर उस पर रखे फूल के गमले के बीच से खूबसूरत नज़ारा देखने लगा.

वो- तो तुम्हारे भाई की शादी यहां कैसे हो गयी?मैं- कैसे हो गयी से क्या मतलब!वो- मेरे कहने का मतलब … यहां तुम्हारी पहले कोई रिश्तेदारी थी … या फिर कैसे.

अब आगे:कुछ पल बाद कोमल ने मुझे रोका और घूम कर मेरे होंठों को चूमने लगी. और जैसे ही भाभी ने अपनी गांड को हल्का सा ढीला किया तो उनकी गांड से गंदा पानी निकलने लगा. एक्स एक्स सेक्सी मराठीअब मैं उसे दिखाऊंगी कि ये होता है लण्ड!मैंने कहा- इसे डिलीट कर दो, नहीं तो कोई मुसीबत हो जाएगी.

तब तक शीना संजना के नीचे आ गई और अब संजना और शीना दोनों 69 की पोजीशन में आ चुकी थीं. जिया- कैसा रिलेशनशिप? अगर आज मेरी जगह भाई होते, तो पता है इससे आपके रिलेशनशिप पर क्या असर पड़ता?उधर मुझे कमरे में कुछ साफ़ सुनाई नहीं दे रहा था, इसलिए मैंने सुनने की कोशिश बंद कर दी और बेड पर बैठ गया. मैंने जिया को घुमाकर उसकी ब्रा को निकाल दिया और जिया के मम्मों को दबाने लगा.

अब तक मेरी और भाभी के बीच सिर्फ नजरों का एग्रीमेंट हुआ था … खुल कर इजहार नहीं हुआ था. वो जोरों से कामुक आवाजें करने लगी- आहहह राज धीमे … तुम्हारा लंड बहुत मोटा और बड़ा है … ओह गॉड आहह याह आह … मुझे उम्मीद ही नहीं थी कि मेरे नसीब में इतना मोटा लंड भी लिखा होगा.

मैं बोला- यार एक काम करते हैं … मैं ही सिस्टर को चैक करवाने के लिए बुला लाता हूँ.

”क … क्यों?” उसने हैरानी भरी नज़रों से मेरी ओर देखा।अरे बताता हूँ पहले होओ तो सही?”नहीं … नहीं मैं पीछे से नहीं करवाऊंगी … उसमें बहुत दर्द होता है. धीरज हल्के हल्के बोला- आह आह यस बेबी … और चूसो हम्म!इधर विक्रम भी अपना लंड धीरे धीरे हिलाने लगा, उसे भी जोश चढ़ रहा था. मैंने चाची को कहा- तैयार हो जाओ, अब मैं तेरी चुत का भोसड़ा बनाता हूँ.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीपी जीजू ने अपने लण्ड का सुपारा मेरी चूत के मुंह पर रखा, बड़ा गर्म और चिकना सुपारा था. दीपिका कहने लगी- राज, आज से मुझे घोष से कोई शिकायत नहीं रही क्योंकि उसकी वजह से तुमसे मुलाकात हुई वरना मैं वहीं कोलकाता के आसपास ही घूमती रहती.

फिर मैंने उसकी कमर पर हाथ रख दिया और कोमल के गाल पर किस करके हम दोनों सो गए. ”ऐसी बात है तो किसी दिन ये भी ट्राई कर लेते हैं, व्हिस्की है कोई जहर थोड़े है. तब मैंने फिर दोहराया- तुमने उसके साथ सेक्स किया था या नहीं?इस बार उसने झुके हुए ही सर हाँ मे हिलाया.

माधुरी का सेक्सी फिल्म

रोहित उठा, उसने रोहन को टांगें फैलाकर बिठा दिया और खुद उसकी टांगों के बीच आकर घुटनों के बल बैठ गया और झुककर रोहित के लण्ड को अपने मुंह में ले लिया।कैमरे से दृश्य कुछ ऐसा था कि रोहन अपनी टांगें फैलाये अपने हाथों को बिस्तर पर टिकाकर सीधा बैठा था. मुझे तो पसीने आने लगे, तीन रंडियों को एक साथ पेलने की क्षमता रखने वाला संदीप डांस के नाम से कैसे कांप रहा था, ये आप देखते, तो आप लोगों की भी हंसी छूट जाती. ’कुछ देर बाद सुहास ने मुझे पलट दिया और मेरे मम्मों को दबाने लगा और उन्हें बारी बारी से चूसने लगा.

मैं दो सेक्सी औरतों के बीच नंगा था, दोनों की ठुकाई करने वाला था और वह दोनों मेरा मेरी गुलाम बनकर साथ दे रही थीं. सुनील ने रिंकी को बाँहों में लेकर अपना पेग उसके होंठों से लगाया तो प्रिया के होंठों से विशाल ने पेग लगाया.

मैं- माई बाबू ने कबसे दारू पीना शुरू किया … किस घटना के बाद? मैं भी लड़की हूँ, सब समझती हूँ.

फिर वे खड़ी हुई और मुझे भी खड़ा होने के लिए बोला।भाभी फिर से किस करने लगी और उन्होंने मेरे दोनों हाथ पकड़ कर अपने नितंबों के रख दिया और दबाने लगी. मैंने भी अपने खड़े लंड को उनकी चुत पर सैट कर दिया और दीदी की कमर पकड़कर झटका लगा दिया. लव जूस को पीने के बाद मेरी आंखों में एक बोतल शराब का नशा भर गया था और वो निढाल होकर बिस्तर अपर सीधी लेट गयी थी.

संजना भी मुझसे कहने लगी- हां मेरे चोदू … मैं भी झड़ रही हूं … हां हां हां आअ श्ह्ह्ह्हह. क्या कभी आपने किसी और की बीवी के साथ सेक्स किया है? या कभी आपने एक से ज्यादा लड़की के साथ सेक्स किया है? आप मुझे मेल और कमेंट करके जरूर बताना. बहू सिसकियां लेते हुए कहे जा रही थी- पापा मुझे माफ कर दो … मैं आज नहीं करवा सकती.

फिर मैंने नीचे घुटनों के बल बैठ कर उसकी पैंटी के ऊपर से ही गांड के उभारों को सहलाना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी फिल्म चोदा चोदी: मैं चुदाई करते समय हांफ भी रहा था … साथ ही कोमल की अच्छी तरह से चुदाई कर रहा था. इसके अलावा शादी ब्याह में अगर मौका मिल जाए, तो दो चार के साथ मजा ले ही लेती हूँ.

मुझे उम्मीद है कि अन्तर्वासना के प्रिय पाठकों को मेरी ये सेक्स कहानी बहुत पसंद आएगी. यूं आज के जमाने में वसुंधरा जैसी प्रेयसी का मिलना तो बहुत ही नसीब की बात थी मगर मैं पहले से ही शादीशुदा, बाल-बच्चेदार इंसान था. दोस्तो, कहानी के पहले भाग में मैंने आपको बताया था कि 44 की उम्र तक आते आते पति के सूखे लंड से चुद कर मेरी चूत ने कभी संतुष्टि का अनुभव नहीं किया था.

मैं बोला- आपको कैसे पता?कविता भाभी- जो लड़की पहली बार सेक्स करती है.

मैं बोली- बेटा, एक राज की बात बताऊं?वो मेरी तरफ हैरान होकर देखने लगा- हां बताओ न मॉम. यह कहानीयारानाभाई-बहन नंदोई-सलहज का यारानायाराना का तीसरा दौरयाराना का चौथा दौरयारों का महायाराना- आगाज़के आगे का भाग है। जिन्होंने याराना को शुरू से नहीं पढ़ा है, वह पहले इस शृंखला के पिछले भाग पढ़कर आयें ताकि आपको कहानी के सभी पात्रों का एक दूसरे सम्बंध पता चल पाये. मैंने दूसरे हाथ से सर के पीछे बालों को पकड़ कर होंठ से होंठ जकड़ दिए … ताकि उसकी आवाज बाहर नहीं जा पाए.