बच्चों का बीएफ

छवि स्रोत,पटाखा पाकिस्तान का

तस्वीर का शीर्षक ,

फ्लावर इमेज: बच्चों का बीएफ, मैंने उसे तुरन्त ही अब अपने मुँह में भर लिया और जोरों से चूसने लगा.

सेक्सी वीडियो सलमान की

वो कहने लगी- आह … बहुत मज़ा आ रहा है सर … आप तो कमाल के हो … 56 साल की उम्र में भी इतना जोश है … आपकी बीवी तो लकी है … काश मैं आपकी बीवी होती. सेक्सी देफिर लड़कियां वहां से चली गयीं।राहुल मुझसे बातें करने लगा, राहुल ने पूछा- भाभी आपको कुछ चाहिए तो नहीं? कोल्ड ड्रिंक वगैरह?मैंने मना कर दिया।फिर थोड़ी देर बाद हम लोग ऊपर छत पर चले गए.

वो घबराकर बोली- क्या?मैंने मुस्कराते हुए कहा- कलेक्शन अच्छा है तुम्हारे पास, मुझे पसंद आया. जापान की नंगी सेक्सी वीडियोउसने अपने होंठों को मेरी गर्दन पर रखा और मेरी एक चूची को दबा दिया जिससे मैं और ज्यादा मदहोश होने लगी.

लेकिन ऐसे रिलेशन्स में लोगों को दूसरे की फीलिंग्स से कोई फर्क नहीं पड़ता.बच्चों का बीएफ: मैंने सोचा कि मेरी बहन तो बहुत बड़ी चुदक्कड़ है, इसे तो थोड़ी भी शर्म नहीं है.

मैं किसी चुत को किताब या वीडियो के अलावा रियल में पहली बार देख रहा था.मैंने उस भाभी को एक तरफ हटने के लिए कहा। जब वो हट गई तो मैंने अपने कपड़े ठीक किये और आगे केबिन में जाकर बस वाले से स्लीपर सीट के लिए पूछा, तो उसने एक स्लीपर सीट भी दे दिया। फिर मैंने रिया भाभी को स्लीपर के केबिन में भेज दिया।कुछ टाइम बाद मैं भी चला गया.

डायमंड फेशियल - बच्चों का बीएफ

मर्द के लौड़े का रस काफी मजेदार होता है जिसका मैं पूरा स्वाद ले रही थी.फिर अनवर ने अपने लंड को मेरी चूत में घुसा घुसा कर लंड को अन्दर बाहर किया तो अचानक से मेरा पूरा दर्द अपने आप गायब होने लगा.

नेहा उससे चुदने में हिचक रही थी लेकिन रिक्शा वाला बहुत हट्टा कट्टा था. बच्चों का बीएफ रूम में दो दरवाजे थे, एक जो पहाड़ियों की तरफ खुलता था और एक दरवाजा गार्डन की तरफ!सारे कपल को उनका अपना अलग कमरा मिला हुआ था और मुझे और बच्चों को एक कमरा! हमने सबसे आखिर वाला कमरा चुना था ताकी बच्चे अगर अकेले कहीं निकल जायें तो किसी ना किसी की नज़र उनपे पड़े!पियू ने भी मेरे पास वाला ही कमरा सेलेक्ट किया.

मैंने ललिता को प्यार से उस पर लिटा दिया और उसके होंठों को किस करने लगा.

बच्चों का बीएफ?

अब मैंने अपनी जीभ उसकी चूत की दरार में रख दी और नीचे से ऊपर की ओर चलाने लगा और नीचे से ऊपर की तरफ पूरी चूत पर जीभ की खुरदुराहट से मजा देने लगा. मैंने अन्तर्वासना की देसी सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि चूत कैसे चाटते हैं, वैसे ही मैं उसकी गुलाबी चुत चाटने लगा. जानवर कहीं के … यह देख क्या हाल किया है तुमने इनका …”प्रिया ने अपनी लाल हो चुकी चूचियों मुझे दिखाते हुए कहा.

प्रमिला ने भी अपनी दोनों जांघों को मेरे सर के आजू आजू रख लिया और मैंने प्रमिला को उसकी कमर से पकड़ के अपनी तरफ चिपका लिया. वो दुखी होकर बोलीं- अपना दूध कैसे निकालूंगी मैं?मैं बोला- मैं निकाल दूँगा ना. करीब 5 मिनट बाद ही मेरा माल निकल गया क्योंकि मैंने कुछ दिनों से मुठ्ठ भी नहीं मारी थी.

मैडम ने लंड चूस कर बाहर निकालते हुए कहा- आपका लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है … मेरे पति से दोगुना है … आप थोड़ा आराम से अन्दर कीजिएगा … मुझे आपके लंड से थोड़ा डर लग रहा है. चूत पूरी तरह से गीली थी उसकी!मैंने पैंटी से उंगली निकाली तो सलोनी की आंख अपने आप खुल गयी और उसने मेरी तरफ देखा. उन्होंने अरुणा को कहा- मैं जब तक इसे अन्दर नहीं डालूँगा, जब तक तुम नहीं कहोगी.

ऐसे में प्रशांत ने नीना की चूचियों पर अपना फिराते हुए अपने ऊपर लेकर बेड में समेट लिया और ब्रा का हुक खोल दिया. लेकिन भाभी ने बोला कि वो यानि मेरे भुआ का लड़का तो बहुत व्यस्त रहते हैं दिन रात बस पैसे के पीछे भागते रहते हैं, तो मैंने सोचा कि मैं अकेले ही आ जाऊँगी.

मैं भूल गया था कि टीवी में डीवीडी ऑन होने की वजह से पॉर्न चल जाएगी.

लेकिन अकेले में ही … बाहर ये सब अच्छा नहीं लगेगा, ये चीजें अपने पास तक ही रखिएगा, मैं एक घरेलू औरत हूँ.

मेरी दीदी को चोद कर उसे बीवी बनाने की कहानी अभी बाकी है, जिसे मैं अगले भाग में लिखूंगा. राज अंकल बोले- हां चलना है … थोड़ा उतर के होकर जल्दी से आ जाते हैं. अचानक से उसका बदन अकड़ गया, उसने अपनी दोनों जांघों से मेरे सिर को जोरों से भींच लिया और सुबकियां भरते हुए रह रह के अपनी चुत से मेरे चेहरे पर प्रेमरस की बौछार सी करनी शुरू कर दी, जिससे मेरा सारा चेहरा भीग गया.

आज तुम्हें देख कर पहली बार मेरे अन्दर जो मुझे महसूस हो रहा है, वह बता नहीं सकता. जीजा जी ने भी लंड बाहर निकाल कर मेरे मम्मों पर माल टपका दिया, जिसे दीदी ने मेरे मम्मों को चूसते हुए चाट लिया. करीब 15 मिनट बाद मैं झड़ने को हुआ, तो उसने जोर से लौड़ा चूसना शुरू कर दिया.

मेरे ‘मतलब …?’ पूछने पर मेमसाब बोलीं- इतनी बड़ी हो गयी शादी हो गयी तेरी … तुझे पता नहीं कि मर्द को कैसे खुश रखते हैं.

लगभग शाम को मामा जी मेरे पास आये और बोले- सूर्या, घर की अलमारी में रुपये पड़े हैं और मनीषा को पता है. मैंने अन्तर्वासना की देसी सेक्स स्टोरी में पढ़ा था कि चूत कैसे चाटते हैं, वैसे ही मैं उसकी गुलाबी चुत चाटने लगा. मैं- अच्छा, तो जब मेरा घर खाली होगा तो मैं तुम्हें अपने घर बुला लूँगा, तुम्हें चलेगा?नेहा- तुम्हें कोई प्रोब्लम नहीं है, तो मुझे भी कोई प्रोब्लम नहीं है.

सुलेखा‌ भाभी के‌ जाने‌ के बाद मैंने भी अब अपने‌ कपड़े‌ पहन‌ लिए और फिर से बिस्तर पर ढेर हो गया. मैंने हंस कर कहा- सच भाभी तेरी यह मस्त खड़ी चूची, चूतड़ बहुत सेक्सी और सुन्दर लग रहे हैं. वे आगे पीछे मेरे सामने आये भी तो ऐसे कि जैसे कोई बात ही न हुई हो। सबकुछ उनके लिये नार्मल था.

फिर मैंने पूछा- क्या काम है?उसने तेज़ आवाज़ में कहा- तुम मेरे साथ दोपहर में क्या कर रहे थे?मैंने धीमी आवाज़ में जवाब दिया- क्या … क्या … कर रहा था मैं?उसने कहा- मेरी चूत के साथ क्यों खेल रहे थे?उसके मुंह से यह बात सुनकर तो मेरे होश ही उड़ गए। मैं चुपचाप वहीं पर खड़ा रहा। उसने फिर हँसना चालू किया और मैं उसे देखता रह गया.

उसने मुझे देखा और एक कातिल सी मुस्कान दी, जवाब में मैं भी मुस्कुरा दिया।तभी पीछे से भाभी गैलरी से निकल पड़ी उसके बाद भाभी और वो दोनों बातें करने लगीं। उनकी बातों में मुझे पता चला कि उसका नाम पूजा है।मैं फिर अंदर चला आया और लैपटॉप खोल के बैठ गया. तो मैंने बोला- नहीं अंकल तुम जल्दी-जल्दी कर लो … मुझसे रहा नहीं जा रहा है … मुझे शांत कर दो … अभी डालो.

बच्चों का बीएफ मेरे बॉयफ्रेंड्स आज भी मुझसे सेक्स करने के लिए बोलते हैं, लेकिन मैं अपने पति की वजह से अपने बॉयफ्रेंड्स से नहीं चुदवाती हूँ. भाभी- तो आप लोगों की बात कहां तक पहुंची थी?मैं- क्या मतलब … मैं समझा नहीं भाभी?मैंने अंजान बनते हुए भाभी से पूछा.

बच्चों का बीएफ वो नीचे से अपनी कमर उठा-उठाकर चिल्ला रही थीं और बड़बड़ा रही थीं- आहहह और चोदो मेरी चूत को … आज मत छोड़ना … इसे भोसड़ा बना देना. ’ये कहते हुए उन्होंने अपने मज़बूत किसानी हाथों से मेरी गांड को मसल दिया.

उसके बाद वो मुझे नंगी करने लगे और बाजू में लेट कर मामी की चूत में 9 इंच का लंड सेट किया.

हॉट सेक्सी इंडियन

मैंने उनकी एक न सुनी और उनकी चूत में दो उंगलियां डाल दीं और उनकी चुत को अपनी उंगलियों से चोदने लगा. जगत अंकल के बगल से दो ठाकुर लोग बैठे थे, उधर बिल्कुल मेरे सामने आगे की सीट में मम्मी और राज अंकल बैठे थे. असली मज़ा तो अब आएगा!मुझे बेड पर लिटा कर चाची मेरे लंड को हाथ से हिलाने लगी और कुछ देर फिर से चूसने लगी.

अब मैंने फिर से एक हल्का धक्का दिया, तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है और मैं अन्तर्वासना का बहुत पुराना पाठक हूँ. मुँह में मेरा लंड होने के बाद भी भाभी की नशीली आवाज़ हमम्म्म ममम ह्म्‍म्म्मम कर के आ रही थी.

गांड का छेद, चूत के होल में लंड को टच कराते, थोड़ा सा हल्का घुसाते और फिर वहीं मसलते.

मैंने सोनू को गोद से नीचे उतारा और सोनू को पीछे से बांहों में भरा और उसके चूतड़ों के ऊपर अपना लंड रख कर खड़ा हो गया. मेरा एक हाथ उसके मम्मों को सहला रहा था, दूसरा हाथ उसकी मोटी गांड पर घूम रहा था. इस तरह 2 बार मामी की चूत चोदने के बाद मामी बोली- बस मेरे राजा … आज तो मज़ा आ गया.

अगले दिन जब मेरा उसका सामना हुआ, तो वो मुझे बहुत ही अजीब नज़रों से देख रही थी. पता नहीं उस आदमी ने क्या सोचा और गुस्सा होने की जगह कहा- ओके, तो यहीं से खड़े होकर चुदाई के मज़े ले. मैं हां कर दी तो उसने तुरंत अपने पति को फोन लगाया जो ओमान में किसी कंपनी में काम करता था.

मेरी हालत तुम तीनों को देख देख कर खराब हो गई है, मेरा तो कुछ करो!और यह कहते ही मेरी पत्नी ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और नंगी हो बेड पर देखते हुए बोली- अरे नीरू, तू कहां मर गई? मेरी चूत को चाट!यह सुनते ही नीरू अपनी जीजी की टांगों के बीच में आकर उसकी चूत को चाटने लगी. क्या बात हो गई?तभी मामी ने आंख मारी और मुस्करा कर बोली- मेरे यहाँ पर मेरी एक प्यारी भान्जी है, हम तीनों ही मज़े करेंगे.

मैंने आज तक उनको वासना भरी नज़र से नहीं देखा था लेकिन उस दिन पहली बार मेरी नज़र उनके बदन पर गयी. हम लोगों ने बहुत सारे तरीकों से, बहुत सेक्स पोजीशन में लेस्बियन सेक्स किया. फिर शिवा कहने लगा- सर वो मैडम हैं ही हुस्न की परी, देखते ही जी करता है उनको बांहों में भर लूँ.

मैंने उसका हाथ थाम लिया, उससे उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वह राजस्थान के जयपुर का रहने वाला है.

कई बार नहाते हुए उनकी पीठ का मैल निकालने के लिए रगड़ने के बहाने छुआ और कड़क मर्दाना बालों वाली छाती के उभार को छुआ था. मैंने एक हाथ उसकी चूत पर रखा … क्या बताऊं भाई आप लोगों को … बिल्कुल साफ मखमली चूत थी. उन लोगों की भी नाईट हमारे जैसे ही होती थी 3 नाईट उसके बाद 2 छुट्टी। पहली रात तो मैं नर्स रोजी को देखता ही रहा क्या गदर माल थी। यूं तो हम पहले भी मिल चुके थे जब मैं दिन में ड्यूटी करता था.

मैं खाला को बेकरारी से चूमने लगा और चूमते चूमते हमारे मुँह खुले हुए थे जिसके कारण हम दोनों की जीभ आपस में टकरा रही थीं. मैंने पूछा- क्यों?वह बोली- उनको चूत चाटकर बहुत मज़ा आता है।मैंने मज़ाक में कहा- दीदी आपकी चूत तो अब काफी बड़ी हो गई है.

”नेहा मेरी आंखों को अपने मस्ती भरी जवान बदन पर महसूस करते हुए अपने कपड़े बटोरने लगी. मैं उठने लगी तो अंकल ने तुरंत मेरे कंधे पकड़ कर जोर से दबा दिया और एक ही झटके में जगत अंकल का लंड मेरी चूत को चीरता हुआ पूरा अन्दर समां गया. पापा की अलमारी की चाबी तथा सब हिसाब आदि उसके हाथ में ही रहता था, तो उसे कोई भी टोकता भी नहीं था.

सेक्सी वीडियो हिंदी एचडी फुल

ले लंड खा मादरचोदी!सबीना आंटी भी रंडीपने पर उतर चुकी थीं- चोद न दल्ले … चोद अपनी शेख रांड को … भैन के लौड़े तुम साले हमें चोदने को ही बैठे रहते हो.

वहां पर उस मकान के पीछे आंगन में एक अल्हड़ सी लड़की बार-बार मेरे कमरे की तरफ देखती रहती थी. इधर नीना कॉफी सिप करने लगी तो प्रशांत आज की चुदाई का रास्ता साफ करने में जुट गया. मैं 40 साल की हूँ मेरा फिगर 38 सी 36 40 है और मैं दिखने मे बहुत ही हॉट और सेक्सी हूँ.

मैं किसी भी तरह की झूठी कहानी लिखना नहीं चाहती थी इसलिए मैंने अपने पति के साथ अपनी सच्ची चुदाई की कहानी लिखना ठीक समझा. अब तो यह होड़ लगी थी कि कौन जोर से किस करता है और साथ में ही एक दूसरे के बदन से खेलने लगे. जापानी आयल के फायदेउन्होंने फिर से मेरे होंठों पर लंड को रखा और थोड़ा-थोड़ा अंदर-बाहर करने लगे.

तो उनमें से एक बंदे ने मुझसे कहा कि मेम साहब आपको कभी भी चुदाई का मन करे तो हमें बुला लेना. खाला की गोल गोल चूचियों से भरी, उनकी छाती और भरे भरे गालों के साथ उनकी नशीली आंखें, मुझे नशे में कर रही थीं.

मैंने लंड हिलाते हुए कहा- अरे मेरी जान, डरती क्यों हो … जरा अपनी टांगें फैलाओ … मैं तेरी चूत को चिकन बना दूंगा. धीरे-धीरे उसने मेरे जीवन के राज जानने चाहे और फिर मैंने भी उसे अपने पति के साथ सम्बन्धों की बात बता दी. फ़िर मैंने उस तरफ़ ध्यान न देते हुए उसकी चुत पर ध्यान लगाया और मैं भी और जोर से चूसने और उसके दाने को काटने लगा.

”कोई परेशानी नहीं है, आप फ्रेश होके आइए, मैं खाना गर्म करती हूँ, वरना फिर कभी चाय नहीं पिलाऊंगी. दो मिनट लिपटे रहने के बाद मियां उठ गया और अपने कपड़े पहन कर अनवर से बोला कि अब तू भी जल्दी से निपटा दे. मम्मी ने कहा- कोई बात नहीं बेटा, हम लोग 4 दिनों के लिए ही जा रहे हैं.

लेकिन मामा ने अबकी बार कोई एतराज़ नहीं किया और मैंने हल्के-हल्के पेंट के ऊपर से ही लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

मैंने बिना कंडोम के उसकी चूत मारी, लेकिन बाद में उसे गर्भनिरोधक गोली भी दे दी. कसम से बहुत बड़ी और सेक्सी थी उसकी गांड।मैं मनीषा को लेकर बेड पे आ गया और हम फिर से एक दूसरे से चिपक गए.

मगर डिल्डो तो पूरे 5 मिनट तक अन्दर घुसा रहा, जिससे उसने मेरी चूत की सारी नसों को पूरी तरह से दबा कर रखा था. मैंने उसके चूचों को अपने हाथों में पकड़ लिया और उसकी चूत की चुदाई शुरू कर दी. दो साल पहले उसके पति का हार्ट अटॅक से देहांत हो गया था, जो बैंक में मैनेजर थे.

मैंने जैसे ही उसमें उंगली डाली, उफ कितनी गर्म और चिकनी चिपचिपे पानी से भरी हुई थी. तो मैं बोला- सच्ची भाभी जी?तो वो हंस कर मुझसे चिपक गईं और मैं इतना खुश था कि भाभी को पकड़ उनके होंठों को कस कर चूमने लगा ‘उउम्म्म्म… मुम्म … अम्म्ह …’भाभी भी ज़ोर ज़ोर से चूमने लगीं. फिर दूसरे दिन मैं और मेरी नयी दुल्हन हम दोनों अपना सारा सामान ले कर अपने शहर निकल गये.

बच्चों का बीएफ सर ने गुर्राते हुए मुझे मेरा काम याद दिलाया और पिंकी को सीधी करके अपनी बाँह के सहारे अपनी गोद में झुला सा लिया. मैंने देर न करते हुए आंटी के बालों को पकड़ कर उनके ऊपर वाले होंठ को अपने मुँह में ले लिया और प्यार से चूसने लगा.

दिसावर में आज

और हुआ भी कुछ ऐसा ही … मेरे मित्र ने मुझसे पूछा- क्या बात है मास्टर जी … आपकी तो निकल पड़ी है, आपकी पड़ोसन तो कितनी जबरदस्त है, एकदम खरा सोना … आपने कुछ चान्स मारा कि नहीं, बाइक में तो खूब घुमाते हो, कभी बिस्तर में मजे लिए?मैंने भी थोड़ी सहजता से जबाब दिया- नहीं यार, वो एक पतिव्रता महिला है, मुझे नहीं लगता कि वो कभी किसी गैर मर्द के साथ हमबिस्तर होना चाहेगी. बहुत सेक्सी और हॉट है तू, वन्द्या कुछ भी कर, पर मुझे अपनी गांड से अलग मत करना. यह सुनकर मैं जोर से हंसा और रूपा के चूतड़ों पर एक प्यार भरा झापड़ लगते हुए हंसते हुए रमेश काका से कहा- लो काका पकड़ो अपनी मस्त लुगाई.

मैंने सर नीचे कर लिया, तभी वो बोली कि मैं आपकी बात मान लूँगी, लेकिन आप लाइट बंद कर देना. मैंने पूछा- पहचाना?तो उसने फट से बोला- हां पहचान लिया, आप राज बोल रहे हैं ना?मैंने बोला- हां मैं राज ही बोल रहा हूँ. गुर्जरी सेक्सी वीडियोमैं सोनू की चूत में पीछे से शॉट मारता रहा और सोनू आई … आई … बोलती रही और अपनी गर्दन और सिर को ऊपर नीचे झुलाती रही.

मवालियों वाली टोन में उससे कहा- आज तेरी चूत को ऐसे चोदूंगा कि वो लंड लेने से पहले कई बार सोचेगी.

वो हमेशा जेठ जी का ख्याल रखते थे और उनकी यही इच्छा थी कि मैं भी उनका उतना ही ख्याल रखूँ. उसका भी दिल कभी एक बार लंड से नहीं भरता था और मैं तो था ही बार बार चूत चुदाई के लिए.

मेरी पत्नी टांगें फैलाएं नीरू से अपनी चूत चटवा रही थी, मैं नीरू की चूत डॉगी स्टाइल में चोद रहा था और पहली बार चुदने आई पायल मेरे लंड को नीरू की चूत में अंदर बाहर होते हुए नीरू के गांड की दरार फैला कर उसे बड़े चाव से देख रही थी. इसके बाद मैं कई बार चुद चुकी हूँ लेकिन पहली बार का मज़ा कुछ अलग ही था क्योंकि वह राहुल के साथ मेरा पहला अहसास था. और हां, मैं आपको यह भी बताना चाहूंगा कि मेरी पिछली कहानी और यह कहानी मेरी जिन्दगी की सच्ची घटनाएं हैं.

शायद जल्दबाजी में सलवार के नाड़े की गांठ उलझ गयी थी या फिर मेरे ऊपर लेटे होने के कारण उससे वो नाड़ा खुल‌ नहीं रहा था.

जिस वजह से मैं अपनी नवविवाहिता पत्नी को अपने घर छोड़ कर उस शहर में चला गया. सही में प्रिया ने एक हाथ में दवाई ली हुई थी, उसने मुझे वो दवाई पकड़ा दी और फिर मेरे पास ही खड़ी हो गयी. इस तरह से मैंने अपने आप को पूरी तरह से संभालने के लिए घर से कुछ टाइम भी माँग लिया ताकि कोई कुछ ना कहे.

चूत कितने प्रकार की होती हैउभरे हुए सुडौल स्तन, मस्त ठुमकते हुए नितम्ब, कमसिन चिकनी कमर, रसीले होंठ. लेकिन मैं कुछ भी नहीं कर सकता था, मैं बस बेबस सा खड़ा उसकी वो बातें याद कर रहा था कि उसे सिर्फ़ मसाज करनी है और कुछ नहीं करना है.

सेक्सी पिक सेक्सी वीडियो एचडी

साथ ही मैंने अपने एक हाथ से उसके चुचों को भर लिया और उनको नींबू की तरह निचोड़ने लगा, भाभी के निप्पल को उंगलियों से रगड़ने लगा. अंकल बोले- उंगली और अन्दर घुसाऊं?मैंने हां में सिर हिला दिया और उनके तरफ अपना हाथ ले जाकर उनकी पैंट की ज़िप के ऊपर अपना हाथ रख दिया. फिर मैंने मालिनी का ब्लाउज उसके बदन से अलग किया और उसने लाल ही कलर की ब्रा पहन रखी थी, मैं समझ गया कि मालिनी ने पहले से ही सब प्लान कर रखा है.

तब मैंने जानबूझकर आंख बंद कर दी, जिसे देख कर वंदना को लगा कि शायद नींद में रख दिया है और उसने मेरे हाथ को पकड़ कर अपने चूचों के एकदम पास कर लिया. मुझे बहुत राहत मिली कि मेरी चूत आज बहुत दिन के बाद लंड की चुदाई से झड़ गयी. मैं बोला- आप चिंता मत करो और आज के बाद आपका जब भी मन करे, मुझे कॉल कर देना.

इसकी वजह से तुम्हारे साथ साथ मेरी भी बहुत बदनामी होगी!मैंने उनसे कहा- मैं आपसे सिर्फ़ हग ही तो माँग रहा हूँ, उसमें कैसी बदनामी? यह बात मैं किसी को नहीं बताऊंगा, मेरा आपसे यह पक्का वादा रहा!तब उन्होंने कहा- हाँ ठीक है … लेकिन तू मुझे सिर्फ़ गले ही लगाएगा और उसके आगे कुछ नहीं करेगा. मैंने कहा- भाभी! आपकी कसम है, मैंने कुछ नहीं किया है।वह बोली- हेमा मुझसे ज्यादा सुन्दर है क्या?मैंने थोड़ा मक्खन लगाते हुए कहा- कहाँ हेमा और कहाँ आप, आप तो अप्सरा जैसी हैं।भाभी खुश हो गईं. मैंने कहा- भाभी थकान हो जाती है, प्राइवेट नौकरी पैसे तो देती है, लेकिन तेल निकाल लेती है और उस कारण थकान को मिटाने के लिए रोज 2 पैग लगाकर खाना खा कर सो जाता हूँ.

उसने एक लम्बी सांस लेते हुए मेरे हाथों को पकड़ लिया और उसी अवस्था में बैठी रही. वे मेरी पेंटी के ऊपर से ही चूत की जगह पर चूमते रहे और बोले कि तेरी यह चूत वाली जगह तो पूरी गीली हो गई है.

उसका जोश इतना अधिक था, मानो न जाने कितने दिनों से वो लंड की भूखी हो.

गांड सिर्फ़ दो बार मारने मिली थी, पर उसमें मुझे बदबू के कारण मज़ा नहीं आया था. वीणा राजस्थानी गीतपर मैं कहां रुकने वाला था, मैंने उसे करीब 10 से 15 मिनट तक यूं ही बांहों में जकड़े रखा. छोटे बच्चों की खांसी की दवा का नामवो बोली- हां बात तो आपकी सही है लेकिन राज अभी थोड़ा कंट्रोल करो, घर आने ही वाला है. आशा करता हूँ कि यह मेरी पहली सच्ची कहानी ‘मेरी गर्लफ्रेंड के चुत में दो लंड …’ आपको पसंद आएगी.

मेरा 7 इंच का लौड़ा उसे देखते ही खड़ा हो गया और मैं फटाक से उसके बाजू में जाकर लेट गया.

वैसे चूत चुदाई के मामले में मैं अपने आपको बहुत लकी मानता हूं क्योंकि मैं जहां भी रहता हूं, कहीं ना कहीं से चूत का जुगाड़ हो ही जाता है. धीरे धीरे सोनल ने लुंगी उनके जांघों के भी ऊपर सरका दी और उनकी जांघों पर अपनी उंगलियां घुमाने लगी. मैंने उसको रोका पर उसने पकड़ कर मेरे स्तन दबा दिए।उसने अपने कपड़े उतारे और मुझे पकड़ कर बिस्तर पर ले गई.

पर थोड़ी देर बाद उन्हें भी मज़ा आने लगा और वो भी गांड उछाल कर मेरा साथ देने लगीं. ’नेहा आंटी के बूब्स बहुत ही टाइट और मजेदार थे, उनके निप्पल भी बहुत बड़े थे. अन्दर दादाजी शांति से सोये हुए थे और सोनल उनके बेड के पास स्टूल पर बैठी हुई थी.

इंग्लैंड सेक्सी गर्ल

कुछ देर बाद मामी की चूत में ही लंड का पानी छोड़ कर थोड़ा लेट गए और मुझे अपने ऊपर खींच लिया, बांहों में भर लिया. कुछ ही देर बाद हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए और हम एक दूसरे के सामान को रगड़ने चूसने लगे. शायद थोड़ी देर पहले ही उसने मूता था, उसकी पेशाब की गंध अभी तक थी, लेकिन मैंने चाटकर उसकी चूत को गीला किया.

मेरे होश उड़ गए सफेद चिट्टी बुर की बीच की लकीर के आस पास हल्के हल्के बालों के रोयें थे, बाक़ी की जगह साफ़ थी, शायद आज ही बना कर आई थी उसकी चूत पर हल्का हल्का रोया आना शुरू हो गया था.

अब मेरी पत्नी और नीरू ने पायल को बेड के कोने पर कर लिया और दोनों ने उसकी टांगें ऊपर उठाकर एक एक टांग फैलाकर पकड़ ली और मुझसे उसकी बुर पर अपना लंड लगाकर अंदर डालने को बोला.

फिर सुनील ने पूछा- मैं अभी डाल दूं? चुदवाएगी न?मैंने फिर से हां में सिर हिला दिया तो महेश बोला- अबे पूछता क्या है, डाल दे न यार … देख बेचारी की चूत हालत देख कैसे बह रही है. रात के करीब 12 बजे मेरे पति मेरे पास आये और मुझे वहाँ से जगा कर नीचे कमरे में ले आये। कमरे में आते ही मेरे पति ने नीचे ज़मीन पर एक चादर बिछाई और लेट गए और मुझे बोले- आ जा।मैं उनकी बगल में लेट गयी. हाय गुड नाइटवो मेरे लंड महाराज को भी सहला रही थी और महाराज भी उसके हाथों को पूरी पूरी सलामी दे रहे थे झटके मार मारकर।थोड़ी देर बाद रोजी नीचे को हुई और उसने अपने मुंह में मेरा लंड ले लिया और चूसने लगी.

उसने अपनी मॉम की चुदाई के बारे में मुझे बताया कि वो अपनी मॉम को चोद चुका है. मैंने धीरे से एक हाथ अपनी बहन ज़ीनत के सीने की तरफ बढ़ाया, फिर काफी हिम्मत करके उसके दूध को कपड़े के ऊपर से ही हाथ लगाने की कोशिश की. दस-बारह अप-डाउन के बाद प्रशांत को शरारत सूझी और बात नीना के कंट्रोल से बाहर हो गई.

नेहा की मुनिया को सहलाते बीच बीच में मैं अपनी उंगली को उसके प्रवेशद्वार में बस गोल‌ गोल फेरे दे रहा था, जिससे वो इइईई … श्श्श्श्श्श … आआ … ह्हह्ह्ह …” कहते हुए जोरों से सिसक उठती और मेरी उंगली के साथ साथ अपनी कमर को हिलाने लगती. उनके मोटे लंड देख कर मेरी चुत की आग भड़क उठी और मैंने सोचा कि इन्हीं लोगों से चुदाई करवा लेती हूँ.

उसका लंड मेरे मुँह में अन्दर बाहर होने लगा और फिर… मेरे प्रियतम का सफेद पानी मेरे होंठों के बीच में बरस गया.

एक दिन मैंने उसे आय लव यू बोल दिया तो उसने मुझे वह उसकी फ्रेंडशिप के लिये हामी भर दी. मैंने नामित के सामने अपने दूध मसलते हुए से पूछा- मेरा काम कब करोगे. मुझे तुझसे कुछ मतलब नहीं है, मैं मर रही हूं, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

जापानी सेक्सी एचडी वीडियो शायद भाभी की ये प्यास ही थी, जिसने इतनी जल्दी उन्हें अब फिर से उत्तेजित कर दिया था. मैंने दोनों हाथों से चाची की चूत को खोल के देखा, वो अन्दर से बिल्कुल गुलाबी और रस से भरी हुई थी.

फिर एक जोर के धक्के के साथ उन्होंने अपना लंड जड़ तक अन्दर डाल दिया और झड़ने लगे. हम दोनों ही अब अपने अपने पूरे शवाब पर थे और हम दोनों में अपनी अपनी मंजिल पर पहुंचने की जैसे कोई प्रतियोगिता सी शुरू हो गयी थी. मैंने हर बार तुम्हारे लंड को देखा है, जब भी तुम यहां आते हो, पर तुम मुझ पर ध्यान ही नहीं देते हो.

फुल सेक्स मराठी

मुझे भी गुस्सा आ गया था, मैंने वैसे ही हाथ हटाया, तो तुम मुझसे लिपट गईं. उसने मुझे बैठने का इशारा किया, तो मैं कन्फर्म हो गया था और उसने अपने आपको थोड़ा उठाया और मेरा लंड बाहर निकाल कर लंड पर बैठ गई. रवि उठ कर सीधे हो गए और मुझसे बोले- थोड़ा कमर पीछे घोड़ी स्टाइल में ऐसी कर लो.

मेरी गांड वैसलीन से बहुत ही चिकनी हो गई थी और अब गांड का छेद भी लंड की मोटाई के मुताबिक़ खुल गया था. मैंने उसकी चुची दबाते हुए अपने पैर मेज़ पर से नीचे किये और उसे गोद में ले लिया.

रमीज तुमने एक नंबर की रंडी बुलाई है, इसकी तो मैं अब गांड बजा के ही रहूंगा.

मेरी सेक्स कहानी के पहले भाग में अब तक आपने पढ़ा था कि मैं मेरे कॉलेज की सीनियर लड़की मालती के घर में थी, वो मेरी चूत में डालने के लिए एक डिल्डो ले आई थी. मेरी हरकत को देखते हुए रवि मामा ने कहा- यार अभी गांव है, अभी कोई हरकत मत कर. थोड़ी देर बाद विराट बोला- यार, मैं तो थक गया, मुझे नींद आ रही है और शराब भी चढ़ गई है.

”क्या मास्टर जी, मुझे लगा हम हमउम्र हैं … आपसे इतना घुल मिल गए हैं कि दिल की बातें जाहिर कर सकते हैं, पर शायद आप हमें अपना नहीं मानते हैं. मामी की चूत में लंड डाल दिया और मामी ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगीमामी के मुंह से कामुक सिसकारियाँ निकल रही थीं. इस वक्त मेरी इन कामुक आवाजों से मानो मैं मामा को चुदाई के लिए उकसा रहा था.

चाची- आह … मजा आ गया … क्या चोदता है रे तू … आह … जिन्दगी में पहली बार ऐसी चुदाई हो रही है मेरी … आह … चोद दे अपनी छिनाल चाची को … चोद और चोद!मैं- चाचा ऐसे नहीं चोदते हैं क्या? मैं भी आपको चोदने के लिए कब से लालायित था चाची.

बच्चों का बीएफ: उसकी चूत को देखकर लग भी नहीं रहा था कि इसमें से तीन बच्चे निकाले हुए हैं साली ने. मैंने पूछा, तो उन्होंने बताया कि दो साल से सेक्स नहीं किया है इसलिए दर्द हो रहा है.

अन्दर उसने कुर्ती नहीं पहनी थी, बल्कि उसकी जगह एक सामने से खुलने वाली शर्ट पहनी हुई थी. रवि मामा अपने खेत वाले घर पर चले गए और मैं नानाजी के नज़दीक खटिया लगा कर सो गया. पर इस बार मैं अड़ गयी- नहीं सर … ये नहीं!मैंने एकदम से सीधी खड़ी होकर कहा.

मैंने कहा- जो करना है, यहीं कर लो, ये तो अब इसकी मर्ज़ी से ही बाहर आएगा.

नेहा का मुँह दूसरी तरफ था … इसलिए नेहा को तो इसका अहसास नहीं हुआ, मगर मैं समझ गया था कि यह प्रिया है … जो कि चोरी चोरी खिड़की से हमें देख रही थी. किसी प्यासे को पानी मिले,भूखे को भोजन,मन की भूख का तो कुछ नहीं,पर तन की भूख करे सृजन. थोड़ी देर चिपके रहने के बाद रमीज का लौड़ा सिकुड़ कर छोटा हो गया और वह उठ कर मुझे छोड़ के कपड़े पहनने लगा.