बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं

छवि स्रोत,चूत चुदाई की कहानी

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स व्हिडीओ इंडियन: बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं, सर रोज सुबह मेरे पास ही खड़े होकर सबको पढ़ाते थे और मेरी क्लीवेज के दर्शन करते थे.

लाल घोडा मटका

उसके बाद फिर से मुझे उठा कर वापस बेड पर ले आए जहां फूफा जी का लंड एक बार फिर से मेरी चूत के लिए तैयार हो गया था. काली लड़की की सेक्सी वीडियोमैं समझ गया कि मुझसे सहेली के घर जाने का झूठा बहाना बनाकर यहां इन लड़कों से मिलने आई है.

फिर फूफाजी ऑफिस से बाहर निकले और उन्होंने मुझे बताया कि उनका काम खत्म हो गया है और अब वे फ्री हैं. ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಸೆಕ್ಸ್मैंने उसे प्यार से निहारा, वो भी मेरी तरफ बड़ी मुहब्बत से देख रही थी.

मैंने कराह कर कहा- आंह मैं सह नहीं पा रही हूँ … जल्दी से इसे बाहर निकालो.बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं: हॉट इंडियन भाभी Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस में एक विधवा भाभी रहती थी.

तभी सरिता बोली- हर्षद, तुम्हारा अमृत तो कितना गाढ़ा है, मलाई जैसा … बहुत ही बढ़िया है.सूरज बोला- यार, मैंने एक लड़के से बात की है वो मादरचोद मना कर रहा है.

मारवाड़ी सेक्स हिंदी में - बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं

उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा- क्या रोज़ ही हाथ से हिला लेते हो?मैंने कहा- हां.मैंने अपने धक्कों की स्पीड बहुत तेज बढ़ा दी जिससे वो चिल्लाने लगी और बोली- यार आराम से चोदो आअहह उऊहह अयईई मर गई … आंह मारोगे क्या ….

एक दिन भाभी अस्पताल में अपने पति रोहित के साथ मेरी खोज खबर लेने आईं. बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं सरिता की पैंटी गीली होने के कारण मेरे लंड का सुपारा पूरा गीला हो गया था.

काफी दिन साथ रहने के बाद समझ आया कि वो पूरा दिन बस पढ़ती रहती है इसलिए खाने पीने पर ध्यान नहीं देती.

बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं?

रात 3 बजे मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि मदन अपनी वाइफ से न्यूड वीडियो कॉल में लगा हुआ था. मैं बस में जाकर बैठ गई, वो कार पार्किंग में लगा कर बस के पास आया और बस के ड्राइवर और एक अन्य स्टाफ को मेरे बारे में बताया और बोला- ये शालिनी हैं, ये जयपुर जायेंगी. ‘ऊम्ममम आअअअ मर गई अम्मी रे …’वो चीख पड़ी, फिर अपने ही हाथ से अपना मुँह दबा लिया, आंखें बड़ी करके माथे को सिकोड़ लिया.

उसकी बात सुन कर मैंने कहा- मैं …अभी मैं कुछ और बोलता, इससे पहले कुच्ची ही बोल पड़ा- चल बे भोसड़ी के … तेरा भी जुगाड़ है. इसी के साथ मेरी यह हॉट इंडियन वाइफ कुकोल्ड सेक्स कहानी खत्म होती है. थोड़ी देर चुत चाटने के बाद अंकल गाड़ी के दरवाजे के पास खड़े हो गए और मैं वहां सीट में बैठे बैठे उनका लंड चूसने लगी.

इससे पहले वो कुछ और कहती, मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर उसे चुप करा दिया. मेरे लंड के टोपे के नीचे की स्किन थोड़ी सी फट गई थी, जिससे मेरे लंड से खून आने लगा और जलन होने लगी थी. ये देख कर मुझे और भी ज़्यादा मस्ती चढ़ने लगी, तो मैंने उससे कहा- यार मुझे गर्मी लग रही है.

काफ़ी बातें होने के बाद मैंने उसे बता दिया कि मैं उसे पसंद करता हूँ. चूंकि मैं मोटी गाजर मूली अपनी चुत में लेती रहती थी, तो मुझे अंकल के लंड से कोई ख़ास दर्द नहीं हुआ.

मैं उसकी चूचियों पर टूट पड़ा और ब्रा के ऊपर से ही तेज तेज दबाने लगा.

कुछ देर में ही हसित की स्पीड तेज़ होने लगी और रीना की आहें कराहों में बदलने लगीं.

मेरी तमन्ना होती है कि मैं अपने पति से कैसे चुदती हूँ … वो मैं आपके सामने रख दूँ. जिया दीदी- मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि जिसे मैं छोटा भाई समझती हूँ वो आज मेरे साथ रोमांस करेगा. मेरा लंड अंडरपैंट में पूरा तनाव में आकर सरिता की चुत पर ठोकर मार रहा था.

उन्होंने मेरे खड़े लौड़े को गले तक लेकर चूसना चालू कर दिया था, मुझे अप्रतिम आनन्द आ रहा था. उसके बाद जब हमारी बात हुई, तो उसने बताया कि उसे मेरी चुदाई काफी पसंद आई थी. दीदी चुदने के लिए इतनी उतावली हो रही थी कि उसने अगले ही पल मेरी टी-शर्ट उतार दी और मुझे पलंग पर गिरा कर मेरे ऊपर चढ़ गयी.

उन्होंने कहा- तुमको उस वक्त शर्म नहीं आती है जब रात को मुझे नंगी देख कर सेक्स करते हुए देखते हो.

मैंने फिर से लंड का सुपारा चुत पर लगाया तो इस बार लवी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत की दरार में लगा दिया और पकड़ के रखा. जब मैं वापस आया था तो घर का दरवाजा खुला था पर भईया भाभी के कमरे का दरवाजा बंद था. भाभी ने अब भी कोई प्रतिक्रिया नहीं की तो मैंने दोनों हाथ से पैंटी को पकड़ कर उनकी गांड के नीचे से खींच कर बाहर निकाल दिया.

फिर क्या था … अब मैंने भी उसे बांहों में भरते हुए उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मैं भी पूरे जोश में आ चुका था।फिर भाभी ने मेरे सारे कपड़े उतार दिए, मैं सिर्फ अंडरवियर में था. मैंने उससे साफ़ शब्दों में पूछा- मस्ती में वो कैसा लगा था?वो हंस दी और बोली- ज्यादा ख़ास नहीं था.

शनाया तेरी चूत बहुत गहरी है यार!शनाया वंश से बोली- अब से तुझे जब चोदना हो, मैं तैयार हूँ.

मगर मैंने सीमा को मजबूती से पकड़ा हुआ था इसलिए वो सिर्फ कसमसा कर रह गई. वो अब रक झड़ चुकी थीं लेकिन मैं उन्हें तब तक पेलता रहा जब तक कि मैं उनकी चूत में स्खलित नहीं हो गया.

बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं वो भी मेरे सर को अपने मम्मों पर दबा कर दूध चुसवाने का मजा ले रही थीं. जैसे ही उसके होंठों पर मैंने अपने होंठ रखे, वो तो बिल्कुल ही अलग दुनिया में चली गई.

बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं वो बोलीं- आप मुझे इतना क्यों देखते हो?मैंने कहा- आप देखने लायक चीज हो इसलिए देखता हूँ … काश मुझे आपके जैसी ही बीवी मिल जाए. फिर बबीता मेरे लंड के साथ खेलने लगी, मेरे लंड को जोर जोर से मसलने लगी.

तभी मैं उठी और गाड़ी की पीछे वाली सीट में जाकर सीधा लेट गई और अपना स्कर्ट वापिस ऊपर कर दिया.

ब्लू फिल्म ब्लू ब्लू फिल्म

मैंने उसे प्यार से निहारा, वो भी मेरी तरफ बड़ी मुहब्बत से देख रही थी. वो बिल्कुल भारी नहीं थी … वैसे मैं भी काफी लंबा चौड़ा हूँ तो मुझे ज्यादा वजन नहीं लगा. राजेश उसके ऊपर चढ़ गया था और उसको चोदने के लिए पूरे सुरूर में आ गया था.

मोहिनी और सोनम, रवि के निप्पल चूस रहे थे, उसके स्तन दबा रहे थे और उसको हिम्मत दे रहे थे. मां बिना कपड़ों के पड़ी थी, भैया और विवेक माँ को छोड़ अपने लंड को पकड़ कर खड़े हो गये. मैं किसी तरह बस में घुस तो गया परंतु बैठने की सीट मिलना सम्भव नहीं लग रहा था.

मैंने कहा- भाभी आप क्या सोचती हो आगे क्या होगा … भैया तो ऐसे ही रहते हैं.

लेकिन जन्मदिन के 3 दिन पहले अचानक रात में मुझे तेज बुखार आया।जिस दिन मामा का जन्मदिन था, उस दिन की सुबह तक मेरा बुखार काफी कम हो चुका था पर मुझे अच्छा महसूस नहीं हो रहा था. वहां हम दोनों ने एक दूसरे को पूरा साफ़ किया और फिर बाहर निकलने पर तो वो लग ही नहीं रही थी कि कोई नौकरानी हो. मैं अगले 30 मिनट तक टीवी देखता रहा था हालांकि मुझे कॉलेज के लिए देर हो रही थी.

जिया दीदी- मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि जिसे मैं छोटा भाई समझती हूँ वो आज मेरे साथ रोमांस करेगा. मैंने अपना लौड़ा चूत में डाल दिया और कमर हिला हिला कर मॉम को चोदने लगा. अब मेरे बैठने के लिए सिर्फ एक जगह बची थी, आगे की सीट पर ड्राइवर वाली जगह पर.

मैंने सोनाली को अपनी तरफ गांड करके खड़ा किया और एक पैर कमोड पर रख कर उसे थोड़ा नीचे झुका दिया. और उनके घर में लड़ाई के कारणों में से एक ये भी था जो रागिनी को पता चल गया था.

मैं उसकी चूत को सहलाने लगा और वो बेकाबू होकर सिर इधर-उधर पटकने लगी. जब मैं मैट्रिक का स्टूडेंट था, तब वे मेरे चाचा के यहां एक ड्राईवर थे, ये उनके बेटे थे. पर कमाल की बात ये थी कि भाभी ने इतना हो जाने पर भी जरा सा भी विरोध नहीं किया.

अब फिर से सोनम को पीड़ा हुई, उसने अपने पति प्रकाश की बात मानकर दर्द झेल लिया.

मैंने उसे ज़ोर से हग किया तो उसके चुचे मेरी छाती पर गड़ गए और मजा आने लगा. मैंने कुछ नहीं कहा और अपनी नाईटी उतार कर अपनी वोडका की बोतल को मुँह से लगा कर खाली किया और सीधे बाथरूम में घुस गई. मैं अलमारी से कंडोम का पैकेट निकाल लाया जो मैंने तीन महीने पहले खरीदा था.

सोहल उसके पास लेट कर उसके बालों से खेल रहा था, उसे प्यार कर रहा था. दो मिनट बाद वो आया तो उसने कहा कि मैंने रीना को पटा लिया है और अभी तेरे सामने ही यहीं पर सब कुछ होगा.

हैलो फ्रेंड्स, मैं आपकी अपनी स्वाति एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में स्वागत करती हूँ. उसने मेरे दोनों हाथों को पकड़ लिया और अपनी जांघ से मेरे सर को दीवार से लगा दिया. जब मैंने देखा कि सभी अब घर से जा चुके हैं तो मैं जल्दी से नहा धोकर तैयार हो गया।10 बजे तो हमारे दरवाजे पर एक दस्तक हुई.

बफ फुल हद

कुछ देर मेरी गांड चोदने के बाद पति ने मुझे मेरे दोनों पैर के पंजे बेड के बाहर करके मेंढक की तरह बिठाया और पीछे से मेरी गांड में अपना लंड डालकर चोदने लगे.

सीमा भी अपना एक हाथ पीछे ले जाकर मेरी पैंट के ऊपर से लंड मसलती रही. मैंने देखा कि गांड मारने वाले लौंडे का वीर्य उसके लंड और जांघों पर लगा हुआ था. घर पर सब लोग सो गए थे तो मैं घर को बाहर से लॉक करके उनके घर पर चला गया.

निशा बोली- ओह तो तू ये सब देखता है?मैंने कहा- क्यों कोई गलत है क्या? जब तुम हो ही इतनी मस्त, तो देखना तो बनता है न यार!निशा हंस दी और बोली- चल मैं तेरा काम करूंगी, पर तुझे भी मेरा एक काम करना होगा. मैं और तेजी से अपना लंड अन्दर बाहर करके उसकी चूत की गहराई नापने लगा था. डॉग वाली सेक्सी वीडियोमैंने हिम्मत करते हुए कहा- चाची, फोटो में क्या देख रही हो … लो सच में ही देख लो.

शनाया ने आकर हम दोनों को देखा और कर पूछा- वंश नहीं आया क्या? आज भी तुम दोनों ही मुझे एक साथ चोदोगे या अलग अलग?हमने कहा- एक साथ ही चोद देंगे. मैं बातों के दौरान धीरे से उन्हें गर्म भी कर देता, पर मैं ज्यादा सेक्स के बारे में जानता नहीं था कि लड़की को पटाते कैसे हैं.

अपनी वासना की आग में इतने अधिक झुलस चुके थे कि बारिश की आवाज भी नहीं सुनाई दे रही थी. मैंने कई बार दीदी को मेरे लंड का पानी ब्रेड पर लगा कर भी खिलाया है. जमीला- मेरी मम्मी को जानते नहीं तुम … पूरी जल्लाद हैं, उन्हें पता चला तो तुम्हारी ख़ैर नहीं.

आंटी बोलीं- तुमको मुझमें क्या ख़ास लगता है?मैंने कहा- आप बहुत हॉट और सेक्सी लगती हैं. रंडी मामी ने दूसरे रास्ते से नदी पार की और मैं उसी रास्ते से नदी पार करके सूरज के पास चला गया. उसके अन्दर रीना की ब्रा और उसमे दबे हुए बड़े बड़े मम्मे साफ़ दिख रहे थे.

ससुर जी मुस्कुराते हुए- ये तो तूने सही बोला बहू, वो तेरी बूढ़ी सास कहाँ मेरे को शांत कर पायेगी। पर तू बता बहू … लल्ला तुझे खुश रखता है या नहीं?मैं- अब मैं क्या बताऊँ ससुर जी, वो सिर्फ रविवार को ही आते हैं.

मैंने ठान लिया था कि कैसे भी करके इनको चोदूंगा जरूर!भाभी ने भी मुझे प्यार से देखा और मेरा वेलकम किया. ससुर जी मुस्कुराते हुए- ये तो तूने सही बोला बहू, वो तेरी बूढ़ी सास कहाँ मेरे को शांत कर पायेगी। पर तू बता बहू … लल्ला तुझे खुश रखता है या नहीं?मैं- अब मैं क्या बताऊँ ससुर जी, वो सिर्फ रविवार को ही आते हैं.

वो चहरे की तुलना में अधिक गोरी थी।मैं खुद को रोक नही पाया और लाइट आफ करके लेट गया।कुछ देर ऐसे लेटने के बाद करवट ली और हाथ उनकी चूचियों पर रख दिया, जाघें उनकी जांघ पर।हाथ रखने पर महसूस हुआ कि उन्होंने ब्रा नहीं पहनी है।मैं उनके निप्पल अपनी हथेली पर महसूस कर रहा था।मेरी धड़कन ऐसे चल रही थी जैसे दिल में कोई गेंद उछल रही हो।जैसे ही धड़कन कुछ शांत हुई, मैं अपना हाथ हिला कर उनकी चूची सहलाने लगा. हॉट इंडियन भाभी Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस में एक विधवा भाभी रहती थी. मैंने उसके हाथ को हटाने की कोशिश की मगर जमीला ने मेरे चेहरे को पकड़ कर अपने मुँह के पास आने का इशारा किया.

हसित ने रीना का पेटीकोट ऊपर करना शुरू किया तो रीना ने अपने एक हाथ से पेटीकोट नीचे कर दिया. उसने बताया- मेरी एक सहेली है स्वाति, जिसे मैंने तेरे बारे में बताया है. मैंने कुच्ची से कहा- ये पक्का कर लेना भोसड़ी के कि तुम बस शब्बो को चोदोगे … और मैं जमीला को.

बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं तभी कोमल बोली- मुझे सुसु के लिए बाहर जाना है, एक बार हटो … मुझे कपड़े डालने दो. मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने एक चूची अपने मुँह में ले ली और दूसरी को अपने हाथों से सहलाने लगा.

मारवाड़ी क्सक्सक्स वीडियो

थोड़ी देर आराम से लेटने के बाद मैंने दीदी के मम्मे फिर से चूसना शुरू कर दिए. मैं उसकी जवानी को भोगना चाहता था तो मैंने उससे नजदीकियां बनानी शुरू की लेकिन …दोस्तो, मैं इस साइट का बहुत पुराना पाठक हूँ और यहां प्रकाशित हुई लगभग सभी सेक्स कहानियां मैंने पढ़ी हैं. मैंने बाथरूम लॉक किया और नंगा होकर उसकी सलवार को चुत की जगह से नाक पर रख कर सूंघने लगा.

उसने मुझे अपने सामने घुटनों के बल बैठाया और मुझे इशारे से अपना लंड चूसने को कहने लगा. इसकी जानकारी मुझे मेरी सहेलियों से मिलती रहती है।एक बार मैंने न्यूड हॉट सेक्स इन ट्रेन किया. सेक्सी पिक्चर घोड़े कामैंने उसके मम्मों को तेजी से चूसना शुरू कर दिया और दूसरी उंगली को उसकी चूत पर रख दिया.

मेरा जी चाहने लगा था कि अपनी मम्मी को यहीं इसी बारिश में भीगते हुए कहीं किनारे रोक कर जी भरके चोद लूं.

नमस्ते दोस्तो, मैं आपकी दोस्त प्रतिभा, सोलापुर से, भूले तो नहीं?मेरी पिछली कहानी थी:जुदाई चार दिन की फिर लम्बी चुदाईमैं बहुत दिनों के बाद कोई सेक्स कहानी लिख रही हूँ. इस माँ बेटे की चुदाई हिंदी कहानी में आपको मजा आया?मुझे मेल और कमेंट्स में बताएं.

लेकिन फिर उसने बातचीत शुरू की और मुझे पूछा- आपको कहां जाना है?मैंने बताया कि मुझे जयपुर जाना है. मेरी साली ने मेरे लंड को छुआ और कहा- कि मैंने कल आपका खड़ा लंड उस समय देखा था, जब मेरी बहन आपके लंड की मालिश कर रही थी. मैंने थोड़ा ऊपर उठ कर भाभी की मदद की … और लंड फिर से अन्दर डाल दिया.

मैं विलास के रूम में गया और अल्मारी में एक बक्से में कुछ दवाइयां थीं.

मैं कमरा छोड़ कर जाने को तैयार हुआ पर उसी दिन शहर में फिर से तीन दिन का लॉकडाउन लग गया. अब मैं हल्के हल्के धक्के लगाने लगा और जैसे ही चुदाई का मजा आना शुरू हुआ, मैंने एक तेज झटका उनकी चूत में लगाकर पूरा लंड उनकी चूत में उतार दिया. मेरे होंठों को चूत पर पाते ही वो कसमसा गयी और ‘आह अहह उहह …’ करने लगी.

सेक्सी बेली डांसमोहन मुर्गी पालन, रवि बकरी पालन, सोनू ग्रीन हाउस में विदेशी सब्जी, फूल उगाना सीखने लगे. मैं मन ही मन बोला कि दीदी आप तो इतनी सुंदर हो कि फैसपैक की जरूरत ही नहीं है.

जंगल में मंगल देसी

मगर मैंने इस बात को भी नोटिस किया था कि आपने कभी किसी भी भाभी के ऊपर कुछ भी अश्लील फब्ती नहीं कसी थी. मैंने भी तुरंत किताब सर को दी और ये सब अनजाने में हुआ, ऐसा नाटक करते हुए अपना बूब स्वेटर के अन्दर कर लिया और चैन को पूरा बंद कर लिया. अब मैंने उनको सीधा लेटने को कहा और दोनों पैर ऊपर करके उनकी चुत में अपना लंड सैट कर दिया.

रोजी ने मुझसे कहा- तुम उसे अपने साथ ले जाओ और उसके लिए कुछ कपड़े खरीद दो. जो लौंडा मेरी गांड मार रहा था, वह मेरी कमर और चूतड़ों को बार-बार अपने दांतों से काट भी रहा था. मैं दबे पांव उसके पैरों के पास गया तो देखा कि उसने पैंटी भी नहीं पहनी थी और उसकी गुलाबी बुर मुझे साफ़ दिख रहा था.

मैंने अपना एक हाथ दीदी के दायें बूब्स पर रख दिया और हल्के से दबा दिया. फिर वो एकदम से जोर से चीख पड़ीं- आ मर गयी बाबू …वो तीसरी बार कांपती हुई टांगों से झड़ गईं. एक दिन हुआ यूं कि खबर आई कि मेरी नानी की तबियत अचानक बिगड़ गयी है तो मेरे मम्मी पापा नानी के गांव चले गए.

मैंने पूछा- क्यों?वो बोली- उसके पापा बाहर रहते हैं और श्वेता की मम्मी की तभी डेथ हो गई थी, जब वो कम उम्र की थी. अन्दर जाते ही मैंने ट्रायल रूम में एक कपड़े के ट्रायल के बहाने अपनी ब्रा और पैंटी निकाल कर अपने पास एक छोटे पर्स में डाल लीं और बाहर आकर गाड़ी में आगे बैठ गई.

तभी रीना ने हसित की बनियान उतारनी शुरू कर दी और हसित ने उसे सहयोग करते हुए अपनी बनियान उतार कर रख दी.

जैसे ही मैंने अपनी जीभ उसकी चुत में अन्दर पेली, वो थोड़ा ऊपर को होती हुई ऐसे बैठ गई जैसे मैंने कोई करंट लगा दिया हो. हिंदी बोलने वाला सेक्स वीडियोभाभी कहने लगी- तुम इतनी अच्छी बातें करते हो और दिखने में भी अच्छे लगते हो. रक्षाबंधन कब आएगीदरवाजे बंद ही हुए थे कि मैंने भाभी को पकड़ लिया और उन्हें किस करना चालू कर दिया. भाई भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपने भाई के घर रहने गया तो मैंने कई बार भैया भाभी को चुदाई करते देखा.

भाभी ज़ोर ज़ोर से आवाज निकालने लगीं- आंह चोद दे … चोद और ज़ोर से डाल … पूरा पेल दे … आह मजा आ रहा है.

मैंने भी गुस्से में तेज बाईक चलानी शुरू कर दी और कहा- ठीक है, घर जाकर मैं भी कुछ नहीं खाने पीने वाला. आखिरकार मौसी के बहुत कहने पर मेरी दीदी वहीं रुक गई और हम दोनों ने वापस आने के लिए बस पकड़ ली. गगन ने तेल की शीशी से अपनी मां की चुत और गांड पर तेल लगाया और साथ ही खुद के लंड पर भी लगा लिया.

मैं खिड़की को बंद करने लगी तो अंकल ने कहा- क्या चल रहा है … बताऊं तेरे पापा को!मैंने कोई जवाब नहीं दिया और झट से खिड़की बंद कर दी. उधर से शालू का जवाब आया- तुम मम्मी का ध्यान रखना, मैं कल 11-12 बजे तक आ जाऊंगी।अब मेरा ध्यान सासू माँ की तरफ गया तो महसूस किया कि उनके हाथ अब मेरे बालों और पीठ को सहला रहे हैं. उसके दूध के कलश जब मेरे सीने से दबने लगे तो क्या बोलें कि मुझे कैसा लगा.

भोजपुरी चाची की चुदाई

मैं दबे पांव उसके पैरों के पास गया तो देखा कि उसने पैंटी भी नहीं पहनी थी और उसकी गुलाबी बुर मुझे साफ़ दिख रहा था. भाभी ने एक मिनट की भी देर नहीं लगाई और वो अपनी टांगें खोल लंड पर बैठने लगीं. लेकिन उसके शरीर का कोई हिस्सा जब भी मुझसे लगता, तो मुझे बहुत मजा आता क्योंकि वो कभी सीधी, तो कभी करवट लेकर सो रही थी.

घर पर सब लोग सो गए थे तो मैं घर को बाहर से लॉक करके उनके घर पर चला गया.

वो अब बहुत आवाजें कर रही थी और चिल्लाने लगी थी- आंह चोदो … आंह फाड़ दी … मेरे राजा … आंह बेबी फास्ट चोदो मुझे मजा आ रहा है.

अब भईया ने भाभी के दोनों पैरों को अपने कंधे पर रख लिया और जोर से धक्का दे मारा. हसित के दोनों हाथ रीना के मम्मों पर थे और रीना के दोनों पैर हसित के कंधों पर थे. वीडियो में सेक्सी फिल्ममैं वहां से उठ कर अम्मी के सर के पास आ गया और अपना लंड अम्मी के मुँह के पास रख दिया.

मैंने देखा कि वह खड़ी हो गई थीं और अपनी चूत को हाथों से फैला कर रगड़ रही थीं. मुझे आपके मैसेज का इंतजार रहेगा। Xxx भाभी सेक्स कहानी पर कमेंट करना न भूलें।मेरा ईमेल आईडी है-[emailprotected]. शिल्पा को काफी देर तक चूमने के बाद मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके मम्मों को दबाने लगा.

मुझे चोदकर शांत कर दे सैम … मेरी चूत की आग को लंड के पानी से बुझा दे. सच में वो एक मस्त बला है, एकदम गोरी-चिट्टी, मस्त गांड और बूब्स वाली आइटम है.

मैं उसको फिर भी चोदता रहा।शायद वो थक गई थी इसलिए उसने मुझसे सीधे करके चुदाई करने को कहा.

मैंने भाभी की चूत को चाटना चालू कर दिया- आह … आह … राज … मैं बहुत प्यासी हूँ आहंह चाट लो मेरी चुत को आह!भाभी तेज तेज सिसकारियां भरने लगीं. फिर बिना देरी किए मैंने अपने होंठों को अम्मी के रसीले और गुलाबी होंठों पर रख दिए. आंटी मेरी बात पर हंसने लगीं और बोलीं- वैसे तो मैं ज्यादातर चुप ही रहती हूँ मगर ऐसा नहीं है कि मुझे मजाक पसंद नहीं हैं.

विवाह पिक्चर डाउनलोड मोनू- हैलो क्या हुआ जयदीप भाई!जयदीप- सो गया क्या? यार तेरी पूनम तो बड़ी हॉट है. दीदी मेरे लंड को बहुत तेजी से चूस रही थी और मुझसे अब कंट्रोल नहीं हो पा रहा था.

आज मुझे उसी तरह प्यार करने वाले इंसान की तलाश है, जो दिल से प्यार करे … और मेरे जज़्बातों को समझे. रमेश- हां हज़ीरा, तुम बस उसको एक बार अपनी चुदाई दिखा दो … फिर वो गर्म हो जाएगी और मेरे लौड़े से चुदने को मचल उठेगी. अब जब सर ने स्वेटर निकाला तो आधे स्टूडेंट ने भी निकाल दिया लेकिन मैंने नहीं निकाला.

ভোজপুরী বফঁ

उनकी उम्र लगभग 40 साल होगी, वो मुझे देखकर एक कामुक मुस्कान दे रहे थे. मौसी- क्या करना चाहते हो … क्या कोई गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स करोगे … या कुछ और?मैंने कहा- गर्लफ्रेंड नहीं है … कुछ और से आपका क्या मतलब है?उन्होंने बात घुमाते हुए कहां- तुम मुझे क्यों देखते हो?मैंने कहा- आपके पास इतना अद्भुत शरीर है, मुझे बस आपको सेक्स करते देखना पसंद है. मैं डर गया और आंखें बंद कर गाल पर एक जोरदार तमाचा का इंतजार करने लगा.

प्राची को भी गांड मरवाने में मजा आने लगा था, उसके मुँह से भी मादक सिसकारियां निकल रही थीं. वो रात को भी खाना लेकर आई लेकिन अबकी बार उसके चेहरे से साफ लग रहा था कि वो मुझसे नाराज है.

फिर मैंने सोचा हो सकता है कि वो लैटर चाची के हाथ में न पड़ा हो, हवा से कहीं उड़ गया हो.

मैंने भी ज़्यादा ज़िद न करते हुए लंड पर कंडोम चढ़ाया और थूक लगा कर उसकी चुत को गीला कर दिया. मुझे अब पता चला कि वो काफ़ी अच्छी हैं और किसी नए बंदे के साथ फ्रेंक होने में थोड़ा टाइम लगाती हैं. इस पर फूफा जी ने अपने लंड को मेरी चुत में अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

वो बोली- यार, मैंने कभी गांड मरवाई नहीं है, मनीष का तो तुम्हें पता ही है, उसे इस सबमें इतना इंटरेस्ट नहीं है. मैंने गोलियां खरीद तो लीं, पर कभी खाई तो थी नहीं, तो सोचा वहीं यूज करूंगा. उसने एक पल बाद रीना को अपने ऊपर ले लिया और रीना की ब्रा के हुक को खोल कर उसकी पीठ पर हाथ चलाने लगा.

वो मुझसे वैसे तो काफ़ी फ्रेंक हो गई थी … पर वो न जाने क्यों कुछ उदास सी रहने लगी थी.

बीएफ बीएफ बीएफ दिखाएं: मैं- अच्छा जी … बस प्यार की और चूमने की … अब सारे कपड़े उतार कर बस यही करना था?रवि- नहीं मेरी जान … अब तो बारी है सबसे बड़ी ख्वाहिश पूरी करने की. उसने कहा- अच्छा जी … मतलब तुम अपनी लैला को सूली पर लटका हुआ देखना चाहते हो?मैंने कहा- डार्लिंग, मुझे मालूम है कि मेरी लैला इतनी हिम्मत वाली है कि वो मेरी बात को न केवल पूरा करेगी बल्कि मुझसे अपनी गांड मरवा कर भी दिखाएगी.

मेरी बात पर भाभी हंस पड़ीं और मेरे गाल पर चिकोटी काट कर बोलीं- क्या फट रही थी आपकी?मैंने भी उनकी नाक से नाक रगड़ कर कहा- गांड. मोनू ने कहा- ये तो जयदीप का फ़ोन है!वो बोली- मोनू स्पीकर ऑन करके बात करो. उधर विलास ने दरवाजा खोला तो भाभी ट्रे में चाय का थर्मस और चाय के कप लेकर अन्दर आयी.

मैंने उसे डॉगी स्टाइल में आने को बोला तो वो झट से अपनी पोजीशन में आ गई.

मैं जबलपुर की रहने वाली हूं और मेरे फूफा जी का भोपाल में बिजनेस है. शब्बो- हमने इतना कर दिया कि तुम्हारी बात करा दी … अब चोदना चुदाना तुम दोनों तय कर लो … समझे!उसका इतना बोलना था कि कुच्ची ने फोन ले लिया और उन दोनों की अपनी बातचीत शुरू हो गई. मैं- आपकी परमिशन हो तो आज की हसीन रात की शुरुआत में आपके साथ डांस करके करना चाहूँगा.