बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,पेट की आवाज कैसी होती है

तस्वीर का शीर्षक ,

गुजराती बीपी सेक्सी: बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी, मैं किचन में जो कुछ मेरे साथ हुआ, वह सोच कर मन ही मन अपने आपको कोस रही थी कि ये मैंने क्या कर दिया.

चाची और भतीजा का सेक्सी वीडियो

करीब 3-4 मिनट के फिंगर सेक्स के बाद मेरी चुत से ढेर सारा रस निकल पड़ा और मेरी जांघों पर बहने लगा, मेरा शरीर अब निढाल हो गया था. पंजाबी सेक्सी पिक्चर एक्स एक्स एक्समेरी माँ बेटा सेक्स कहानी के पहले भागदुबई में बेटे के साथ मनाया हनीमून-1में आपने पढ़ा कि मैं अपने जवान बेटे से अपनी कामवासना बुझाना चाहती थी.

मैं घोड़ी बन गई। वो मेरी बैक पर आ गया। उसने अपने लण्ड को मेरी गाण्ड पर एड्जस्ट किया. सेक्सी ब्लू पिक्चर भाभी कीजाते वक़्त दीदी ने मुझे अपने गले लगाया और कहा- मैं भी तुझसे बहुत प्यार करती हूँ.

मैंने महसूस किया कि उनकी पेन्टी चुत के पानी से बिल्कुल गीली हो गई थी.बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी: अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर आपका स्वागत हैदोस्तो, ये मेरी पहली कहानी चाची की चुदाई की… आप अपने विचार प्लीज़ मेल जरूर करना ताकि मैं अपनी अगली कहानी भी जल्द ही लेकर आऊं.

अगली सुबह मैंने देखा कि वो और उसकी माँ (वो भी सेक्सी) जा रही थी, तो मैंने पूछा- मामी जी कहाँ जा रहे हो?डॉक्टर के पास!” उनका जवाब आया.मुझे बहुत डर लग रहा था कि कहीं कोई देख ना ले!किचन में किशोर मुझे चूमने लगा, मैं गर्म होने लगी, मेरी सांसें तेज होने लगी, वो मेरे जोर से बोबे दबाने लगा, मसलने लगा, मेरी आहें निकलने लगी- आह्ह्ह आह्ह!उसने मेरी लेगिंग में हाथ डाल दिया और मेरी चूत मसलने लगा.

सेक्सी लिंगरी ऑनलाइन स्टोर - बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी

उसकी नंगी चूचियों पर से नज़र ही नहीं हट रही थी, क्या सुन्दर नज़ारा था, गोरी गोरी.आपको कौन सा फल पसन्द है?भाभी ने भी मुस्कुरा कर कहा- मुझे केला चूस कर खाना अच्छा लगता है!मैंने कहा- क्या.

कुछ देर ऐसे पड़े रहने के बाद, एक बार फिर से चुदाई का कार्यक्रम शुरू हो गया. बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी मैंने भी घर का काम खत्म किया और मैं भी रूम में आ गयी।मैंने राजीव को जगाया, मैंने उनसे कहा- राजीव मुझे आज चुदाई करनी है!पर राजीव ने मुझे कहा- नहीं, मेरा मन नहीं कर रहा।और फिर वो सो गए.

चाची हमेशा मुझे फोन करती और कुछ न कुछ काम बोल देती जिससे कि मुझे उनके घर जाना पड़े और मैं जब भी उनके घर जाता तो वो मेरा बहुत अच्छे से स्वागत करती थी.

बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी?

”क्या तुम भी अपनी पार्टनर के साथ ऐसा ही करोगे?”हाँ, अगर वो करने देगी तो. खाना पैक कराने के बाद मैंने कुछ कंडोम के पैकेट और वियाग्रा का एक पैक खरीद लिया. पर किशोर बोला- पर एक शर्त पर?मैं आँखें फाड़ किशोर को देखने लगी, किशोर बोला- वो कहता है कि तुम उसे भी चोदने दोगी तो वो किसी को नहीं बोलेगा.

मैं भाभी के मुँह से चुदाई शब्द सुन कर घबड़ा गया, पर देखा कि भाभी पूरी तन्मयता से अपनी कहानी कह रही थीं- सुनिधि भाभी जवान थीं. अब महेश मेरी चूत को चूस रहा था और मैं बिस्तर पे इधर उधर सर को घुमा कर मजा ले रही थी. फिर बगल में लेट गया और कान में फुसफुसाया- दोस्त ज्यादा लगी तो नहीं? मजा आया?मैंने कहा- बहुत मजा आया.

वो बोलने लगी- आप बहुत गंदे हो, आप मेरे साथ ये सब क्यों कर रहे हो? मैं आपको क्या समझती थी और आप क्या निकले. अब बॉस ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर रख दिया और मेरे चूतड़ों को पकड़ लिया. चूंकि दीदी की चूत गोरी थी, लेकिन साइड में एकदम हल्की सी काली सी दिख रही थी.

और इसी वजह से मेरे पेंट के अन्दर मेरे लंड खड़ा हो रहा था, जिसे छिपा पाना भी मुश्किल हो रहा था. बिटिया के विदा होने के बाद तीसरे दिन की बात है शायद, रात के साढ़े ग्यारह से ऊपर का टाइम हो रहा था.

मैं क्या कर सकती थी, मेरे प्यार ने मुझे उसकी कसम दी थी,मैं दर्द सहती गई, मेरे आंसू बहते रहे पर दो बरसों से चूत का भूखा वो अंकल धक्के मारता, मेरे पैर ऊँचे हो जाते, लंड मेरे पेट में आंतों को छूता.

उसने मुझे देखा, मैंने भी उसे देखा, उसका ध्यान बाजू में गया और वो समझ गया.

उसने बोला- क्या मेरी साथ दुकान में जाने में शर्म आती है?मैंने कहा- ऐसी कोई बात नहीं. उनका भरा पूरा शरीर देख कर लगता था उनकी सेक्स की भूख बहुत ज्यादा होगी. भाभी के चूचे ज्यादा बड़े तो नहीं थे, पर उनके शरीर के अनुसार एकदम परफेक्ट थे.

क्योंकि मम्मी पापा के जाते ही वो अब केवल नाइटी में ही रहने लगी थीं. अब घर आकर मैं फ्रेश होकर नाश्ता करने के बाद अपने रूम में आ गया और क्या सरप्राइज़ दूं, यही सोचने लगा. फिर वो मेरे पास आ गई घबराते घबराते… उसने मेरी अंडरवीयर पकड़ी और खींच ली.

वो जब भी मेरे पास आतीं तो मैं उनके नितंबों में खींच कर हाथ मार दिया करता था और वो मुस्कुरा कर चल दिया करती थीं.

मैंने अंकल से बहाना मार दिया कि किसी सहेली के घर पार्टी है तो रात वहीं रुकूंगी और वो मान गए. हमने आस पास के ज्वार के खेतों में देखा तो वहीं से आवाज सुनाई दी तो देखा कि मेरा दोस्त और प्रियंका जम कर चुदाई कर रहे थे. अतः बहूरानी को अपनी आगोश में लेकर उनकी दोनों चूचियाँ अपनी मुट्ठी में भर के उस नवयौवना के होंठों का रस चूसने लगा.

वो दोनों जब चले गए तो मैंने दीदी से पूछा- आपकी टांगें इतनी गोरी और चिकनी क्यों हैं और मेरी टांगों पर इतने बाल क्यों हैं?तो वो बोलीं- लड़कों और लड़कियों में यही फ़र्क होता है. निवेदन है कि सभी पाठक गण अपनी अपनी प्रतिक्रिया, सुझाव इत्यादि नीचे लिखी मेरी ई मेल आई डी पर जरूर भेजें. मेरे फोन में मेरी एक जुगाड़ की फोटो थी, वो बहुत सेक्सी चालू खाऊ पीऊ माल थी, मेरे दिमाग में एक आइडिया आया.

मैंने उससे कहा- अपनी गांड ढीली छोड़ दो ताकि लंड आराम से अन्दर जा सके.

पूरी नंगी होकर मम्मे मेरी तरफ तानकर बोली- सर कैसी लग रही हूँ मैं आज?आह. अब चाची की चूत में रस बहने लगा था जो किसी रसीले आमरस की तरह मेरे हाथ को महसूस हो रहा था.

बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी वो अपनी गांड मटकाते हुए मोहन लाल के पास गई और मुस्कुराते हुए बड़े ही कामुक अंदाज में बोली- आप आ गए पापा?मयूरी मोहन लाल के इतने पास खड़ी थी कि वो चाहता तो उसकी चूचियों को पकड़ कर मसल देता, पर मोहन लाल ने ऐसा कुछ नहीं किया. इसी तरह हम मेले में पहुँचे, वहां काफ़ी भीड़ थी और तरह तरह के झूले लगे हुए थे.

बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी उसने मुझे हॉस्टल पे पहुँचा दिया और कहा- कल मैं जाऊँगी तो हफ्ते भर के बाद ही आऊँगी. ”तभी किशोर किचन में आया बोला- काका मान नहीं रहा था, बहुत समझाया पर समझ गया किसी को नहीं बोलेगा.

मैं चुप थी और उनके दोस्तों के नाम थे, लड़की का नाम स्वाति और लड़कों में एक का अरुण और दूसरे का शैलेष था.

हिंदुस्तानी सेक्सी ब्लू पिक्चर

यहां तक कि उन्होंने अपने बखिया (फसल काटने वाले औज़ार) से प्रहार तक कर दिया मगर मैं सावधान था सो बाल-बाल बच गया. मैं- ठीक है मैं पूरी तैयार हो कर जाऊँगी लेकिन अपना नाम शालू क्यों बताउंगी?अमित- अरे जो रूपये आए हैं वो केवल शालू को ही मिलेंगे, वो मेरी असिस्टेंट है ना. पहले कभी लड़की नहीं देखी क्या?कटाक्ष में मैंने भी कहा- देखी तो बहुत हैं लेकिन इस हालत में और तुम जैसी माल वाली कभी नहीं देखी.

कुछ देर के बादचाचा का लंडदुबारा खड़ा हो गया तो उन्होंने मेरी चूत पर अपना लंड सेट किया और एक जोर का धक्का मारा लेकिन तो उनका लंड नीचे को फिसल गया. पहले कभी लड़की नहीं देखी क्या?कटाक्ष में मैंने भी कहा- देखी तो बहुत हैं लेकिन इस हालत में और तुम जैसी माल वाली कभी नहीं देखी. मैंने अंजलि को कोई दो ढाई साल बाद देखा था, इन दो ढाई सालों में वो एकदम बदल गई थी, उसकी जवानी खिल कर निखर गई थी.

चुदाई की प्यासी कामिनी ने विवेक के लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसना शुरू कर दिया.

मैं बॉडीलोशन उनके सीने पर लगाने लगा तो उन्होंने अपना पेटीकोट चुचियों पर से हटा कर कमर तक सरका दिया. मैंने भाभी को किस किया और उन्हें घोड़ी बनने को कहा, तो उन्होंने मना कर दिया. मैंने कान में पूछा- क्या जल्दी करूँ?कल्याणी बोली- वही जो मम्मी पापा का खेल होता है.

मेरी पीड़ा समझ कर कमल थोड़ी देर रुक गया और मेरी कमर और पीठ को सहलाने लगा. हम लोग एक रूम किसी होटल में ले लेते हैं।स्टेशन के पास एक होटल में जाकर हमने कमरा ले लिया।रूम बहुत अच्छा था डबलबेड था. अब उसने कामिनी की चूत में उंगली डाल कर उसकी घुंडी उमेठना चालू कर दी और स्पीड तेज कर दी.

कुछ मिनट के बाद साफ सफाई करके मैंने अपने कपड़े पहने और घर जाने के लिये तैयार हो गया. हम स्टेशन पहुँचने वाले थे तो अवी ने मेरा हाथ पकड़ा और किस करके कहा कि कितने दिन के लिए जा रही हो, फिर कब मिलोगी?मैंने बताया कि 20 दिन बाद कॉलेज खुलेगा, तब आ जाऊँगी.

मैं मन ही बहुत खुश हुआ कि पायल के जॉब पे जाने के बाद छाया की चुदाई करूँगा. अब सोने चलते हैं।मैं- ओके जी चलो।हम लोग सोने के लिए अपने कमरे में चले गए. इस दौरान मुझे मालूम हो गया था कि मेरी बुआ की बेटी, मेरी बहन अंजलि बहुत बड़ी चुदक्कड़ थी, वो मेरे लंड पर बैठ कर ऐसे कूदती थी जैसे घुड़सवारी कर रही हो!इतनी बड़ी चुदक्कड़ होने के बावजूद कुतिया ने मेरा लंड नहीं चूसा मेरे बार बार जोर देने के बावजूद भी लेकिन साली अपनी चूत बड़ा मजा ले ले के चटवाती थी.

इसके लिए दिल से थैंक्यू माया दीदी!मेरे प्यारे दोस्तो, मुझे मेल करके बताना मेरी रियल चुदाई कहानी आपको कैसी लगी.

सपना ने ख़ुशी से कहा- चलो, मैं तुम्हें अपना गांव दिखाऊंगी… नासिक भी घुमाऊँगी. उसी के साथ एक तेज गंध मेरे नाक में घुसी, जिसने मेरी कामोत्तेजना को और बढ़ा दिया. उसने मेरी मम्मी को कहा- चाची, आप मेरे साथ मेरे घर में सो जाऊ, मुझे डर लग रहा है.

कह रहा है पेट में कुछ दर्द सा है और बुखार जैसा लग रहा है, तो मैंने भी उसे छुट्टी के लिए कह दी और कहा है कि दवाई ले लेना. मेरा मन तो हुआ कि उनको अभी पटक कर यहीं चोद दूँ लेकिन चूंकि वो मेरी चाची थीं, इसलिए मैं संकोच कर गया.

जब वो अन्दर आई तो मैं उसे देखता ही रह गया, ये बात उसने भी नोटिस कर ली थी. अब इस बात से मुझे डर लगने लगा कि क्या बात है, पर वो गेट कीपर के पास गया और कहा कि कोई भी मुझे पूछे तो कह देना कि बाहर गए हैं. पंद्रह बीस सेकंड बाद ही मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी छूटी और ऊपर वाली बर्थ से जा टकराई… फिर छोटी छोटी पिचकारियाँ किसी फव्वारे की तरह निकलने लगीं और बहूरानी के दोनों पांव मेरे वीर्य से सन गये.

चोदा चोदी वाला वीडियो भेजिए

अब मैं बॉस के लंड पर उछलने लगी, जिससे उनके लंड ने मेरी गांड को फाड़ना शुरू कर दिया.

उसकी ये बात मेरा दिल छू गई और मैं इसीलिए मैं आज भी उसे उसी दिन की तरह चोदता हूँ. उसका नाम था भीम जी काका था, एकदम शांत स्वभाव था, उनका उनकी हाईट लगभग करीब 6 फुट होगी जिसे मैं अंकल कहती थी. अब आगे क्या करेगी मेरी छन्नो रानी?इसी तरह बातें होती रहीं और दिन भी बीतने लगे.

”ठीक है रवि ले जाओ इसे, तुम कल्याणी का अच्छे से टेस्ट लेना तब तक मैं रेस्ट ले लेती हूँ. वे मुस्कुराईं और कहने लगीं- आप सब देख चुकी हैं तो आपसे क्या छुपाना, वैसे भी किसी को मैं अपना राजदार बनाना चाह रही थी. ಇಂಡಿಯನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಓಪನ್रीना की इच्छा को जान कर मैंने एक एक कर उसके दोनों 34 साइज के चुचों को पकड़ा और उन्हें मसलता और होंठों को चबाता रहा.

वो बोली- तुम्हारे जैसे मुस्टंडे सांड से चुदने के बाद कोई औरत कहीं नहीं जा सकती मेरी जान. मैं क्या कर सकती थी, मेरे प्यार ने मुझे उसकी कसम दी थी,मैं दर्द सहती गई, मेरे आंसू बहते रहे पर दो बरसों से चूत का भूखा वो अंकल धक्के मारता, मेरे पैर ऊँचे हो जाते, लंड मेरे पेट में आंतों को छूता.

उसके बाद एक दिन उसके घर वालों को कहीं बाहर जाना था, वो कोई बहाना बना कर रुक गई और उसने मुझे फ़ोन करके ये बात बताई तो मेरी तो खुशी का कोई ठिकाना ही नहीं रहा. दर्द नहीं हो रहा?मेरे दिमाग में शरारत सूझी और मैं भाभी के पास जाते ही गिरने की एक्टिंग करने लगा. इतना कहते ही भाबी बच्चों को डांटते हुए घर ले गईं और कहने लगीं- जल्दी सो जाओ.

फिर क्या था, मेरे लौड़े का सपना सच होने ही वाला था, मैंने उसे पीठ के बल लिटाया, और चूत के मुख पर लौड़ा रखा तो उसने कहा- पहले मेरी चूत को सॉरी बोलो!मैं समझ गया, मैंने कहा- सॉरी मेरी चुदु रानी, मैंने तुझे 5 साल तक तड़पाया. कुछ पल बाद मैं खड़ा हो गया और उसकी चूचियों के निप्पल को काटने लगा तथा चूसने लगा. नीचे उसका लंड मेरी गांड की दरार में घुसता हुआ महसूस हुआ, जो बड़ा हो रहा था.

जब मैं अंदर प्रवेश किया अंदर तो कुछ खास सामान नहीं था, एक TV था और एक बेड था.

और उसने अपने दोस्त से कहा- चल, नीचे आ जा और घुसा लौड़ा इसकी चुत में! दोनों भाई मिलकर बजाते है इस रांड को!अँधा क्या मांगे एक आँख… वो जल्दी से मेरे नीचे घुस गया और सिराज ने मुझे नीचे दबा दिया, सरसराता हुआ नीचे वाले का लंड मेरे अंदर घुस गया. मैंने भी ज़्यादा फोर्स करना सही नहीं समझा क्योंकि मुझे डर था कि कहीं घर पे ये बात किसी को मालूम ना पड़ जाए.

दो बार के बाद और कैसे कल तीसरी बार मुझसे लिपट लिपट कर वो देर तक चुदती रही. फिर आनन्द बारी बारी से एक एक स्तन को अपने मुँह में लेकर चूसता और कभी कभी निप्पलों को काट भी लेता था. इसकी बहुत पतली पतली ट्यूबलाइट जैसी जांघ थीं और दबे हुए पुठ्ठे थे, पर देखो अब कैसे ठुमक ठुमक कर चलती है.

अब मैं सन्न सी रह गई कि उसके घर! अवी ने जानबूझ कर कार की गर्म वाली एसी चला दी. एक दिन भाभी अपने कमरे में लेटी हुई थीं तो मैं वहां अचानक ही उनके कमरे में चला गया. पहले भी उसने मंजरी के बोबे बहुत बार दबाये थे, चूसे थे, मगर आज का मज़ा ही कुछ और था.

बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी 10 मिनट तक चूत चाटा तो उसने बहुत जोर से मेरा सर दबाया चूत में और कहने लगी- मेरे रा आ…जा आ आ… मैं तो गयी बस।और उसका पानी निकल गया।मैंने पूरी चूत चाट के साफ कर दी। फिर उसे चूमने लगा और धीरे धीरे उस के बूब्ज दबाने लगा, वो फिर गर्म होने लगी तो मैंने अपना औजार उसके मुंह में डाल दिया, वो लॉलीपॉप की तरह लंड को चूसने लगी। फिर से मैंने उसकी चूत को चाटना स्टार्ट किया तो वो गर्म हो गयी. सुपाड़े पर जमे हुए उजली मलाई जैसे पदार्थ को लार और हाथ से साफ करके लंड चूसने लगी.

सिल तोड सेक्स

राहुल ने अपना लंड जोया के मुँह में डाल दिया, जिससे अब उसके मुँह से आवाजें निकलनी बन्द हो गईं और उसकी आवाज अब अन्दर ही घुटकर रह गईं. अन्दर वाला कपड़ा इतना हल्का था कि उसमें से शरीर का एक तिल भी दिख जाए. चाची बोलीं- थोड़ा सब्र तो करो मेरे राजा, अब मैं तुम्हारी ही रानी हूँ.

मैंने दीदी को फोन पर ही बोल दिया था कि मैं आऊंगा और आपको पूरी नंगी देखूँगा, रेडी रहना. मैंने पिंकी को उठाया और कहा- तुम पूरा 2 घंटे पलंग पे लेटी लेटी हम सबका मजा ले रही हो, अब थोड़ा आराम करो. इंडियन हिंदी सेक्सी बफअब सुरेश और मयूरी भी दरवाजे की तरफ खड़े अपने पिता और ससुर को देखने लगे.

अब तो धक्के मार कर अपनी चाची की चूत दोबारा ढीली कर दे!तो बस धकापेल चुदाई का मंजर शुरू हो गया.

अब तो मेरे मन से पूरा डर निकल गया था, मुझे विश्वास हो गया था कि चाची मना नहीं करेंगी. पर रोशनी ने कहा- सुबह फिर वापस आना पड़ेगा और अगर तुम चाहो तो आज रात मेरे घर ही रुक सकते हो।मेरी तो जैसे लाटरी निकल गई.

कुछ मिनट की चुदाई में भाभी 2 बार अपना पानी निकाल चुकी थी और मैं एक बार भी नहीं झड़ा था. खाना होने के बाद वो बर्तन साफ करने किचन में चली गईं, मैं भी उनका हाथ बंटाने किचन में आ गया और उनकी हेल्प करने लगा. मम्मी उसका लंड चूसे जा रही थीं, तभी उठकर मम्मी के मम्मों को मैंने चूसना चालू कर दिया और अब हम चारों मस्त होते जा रहे थे.

रोशनी सलवार कमीज और चुन्नी पहने मेरी प्यारी सी बीवी जैसी लग रही थी.

अभी मैं उन्हें ये सब समझा ही रहा था कि वो अचानक मेरे गले लग गईं और कहने लगीं कि अब मैं क्या करूँ, तुम ही बताओ?वो यह कहते हुए रोने लगीं. तब तक के लिए तुम रुक जाओगे?तो मैंने भी ‘हाँ’ कह दिया और उसने मुझे चूम लिया।क्या गुलाब की पंखुड़ियों जैसे होंठ थे उसके।उसके बाद उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और मैंने भी ऐसे ही अपनी जीभ उसके मुँह में डाली और वो चूसने लगी। मैंने उसकी कमर में हाथ डाल कर उसे खींचा. हम दोनों चुदाई का मजा ले रहे थे, वो भी मेरा साथ अपनी गांड उठा कर दे रही थीं और मैं भी उन्हें चोदे जा रहा था.

मां ने बेटे के साथइसलिए उन्होंने अपनी चाहत जताई थी कि कोई माकूल व्यक्ति किसी दूसरे शहर में मिले और उन्होंने मेरी कहानी पढ़ने के बाद सोचा कि मुझसे बात करें. अब बॉस ने खड़े होकर मेरी गांड में दो उंगलियां डाल कर उंगली से मेरी गांड को फैलाने लगे और मुझे वो लिफाफा खोल कर देखने को बोल दिया.

तृषा कर मधु की चुदाई

मैं ये सब देख कर अनदेखा कर रहा था लेकिन कल्याणी तो मुझे गर्म करने में लगी हुई थी. तभी रजनी की आवाज़ मुझे सुनाई दी- किधर गए?मैंने कहा- क्या हुआ भाबी?उसने कहा- ज़रा मुझे तौलिया दे देना, मैं लाना भूल गई. मेरा लंड 6 इंच का है, उसकी खास बात यह है कि कुदरत ने मुझे केले के आकार का लंड दिया, जिसे सारी औरतें और लड़किया पसंद करती हैं.

फ़िर बहन ने मेरा हाथ अपनी चुत पे रख दिया और मुझे अपने ऊपर खींच कर मुझे चूमने लगीं. फिर भी मैं कुछ अकेलापन महसूस कर रहा था। मैंने अपनी ड्रिंक ली और लोगों को नाचते हुए देख रहा था। मैंने देखा एक तरफ कुछ जाने-पहचाने लोगों का ग्रुप था। ध्यान से देखने पर मुझे समझ में आया यह लोग मेरे ही ऑफिस के हैं. फिर मैंने डिसाइड किया कि अब मैं पैदल ही कुछ दूर चलती हूँ, शायद आगे कोई ऑटो रिक्शा मिल जाए.

मैंने महसूस किया कि उनकी पेन्टी चुत के पानी से बिल्कुल गीली हो गई थी. मैंने कहा- मैं तुम्हारे स्तन देख सकता हूँ?ना कहोगे तो नहीं देखोगे क्या?” उसने पलट सवाल किया. फिर मैं शाम को उठी और रोहण भी! मेरा शरीर मसाज आयल से चिकना हो रहा था, मैंने रोहण से कहा- चलो हम नहाते हैं पूल में!रोहण ने हाँ बोल दी और रोहण पूल में चला गया.

मैं कमल के लंड से चुद कर काफ़ी खुश थी कि आज आख़िर मेरी चुदाई हो गई. शाम हो गयी, फिर रात हुई, खाना खाकर अब सब सोने की तैयारी करने लगे, मैं रीना की मामी के लड़के के साथ लेटा हुआ था जो तब छोटा था, स्कूल में पढ़ रहा था.

इतने में मैंने महसूस किया कि दो लड़कियाँ जो उम्र में मुझसे छोटी लग रही थी, मुझे परेशान करने लगी, वो कभी मेरे ऊपर पानी डाल देती तो कभी एक दूसरी को धक्का मार कर मेरे ऊपर गिराती और फिर मेरे ऊपर हंसती.

मैं भाभी को पीछे से देख कर यही सोच रहा था कि भाभी को ऐसे ही गोद में बिठा कर चोद डालूँ. हिंदी सेक्सी नंगी वीडियो दिखाइएमैंने उसकी चूत का हर हिस्सा अच्छे से चूसा था। कुछ देर में उसका चिकना पानी मेरे मुँह में भर गया और मैं भी उसे पूरा चाट गया।चूत के दाने पर ही मैं बहुत देर तक डटा रहा था।मेरा औसत से बड़ा लण्ड देखकर उसने कहा- प्लीज इसे अन्दर मत डालना। मुझे अभी अपना कौमार्य भंग नहीं करवाना है।मैंने भी उसे प्रॉमिस किया- जब तक तुम खुद नहीं चाहोगी. देसी सेक्सी वीडियो देउसने बताया कि दोनों घरों के बीच एक दरवाजा है उसको दोनों तरफ से खोल लो तो भाभी को इधर लाया जा सकता है. मेरी बांछें खिल गईं, मैं समझ गया कि घूमना तो बहाना है,भाभी खुद चुदवाने आईहैं.

यह मेरी इस साईट की पहली सेक्स स्टोरी है अगर कोई गलती हो जाए तो माफ़ी चाहता हूं.

मैंने मन में कहा कि साली लंड तो ऐसे चूस रही थी जैसे पुरानी चुदक्कड़ हो. तो मैंने उसे अपने हमारे पास गद्दे पर ही बिठा लिया।अब हम तीनों गद्दे पर बैठे थे, मेरा धर्य आप लोगों की ही तरह टूटता जा रहा था इसलिए मैंने आंटी की मांसल जाँघ में अपना हाथ रख दिया. जैसे ही मैं पहुंची तो उसके चहरे पे शातिर मुस्कान आ गयी, मेरी कमर को पकड़ कर उसने मुझे सीधा मेरी कार के बोनेट पे बैठ दिया। जैसे ही मेरा पिछवाड़ा बोनेट से टकराया मेरे होटों से हल्की चीख निकल गयी.

इस बार दीदी ने मेरे लंड को हल्के से अपने लिप्स से लगा लिया लेकिन एक ही पल में लिप्स को फिर से दूर कर दिया. मैंने कहा- क्यों नहीं आंटी, एक महीने में इसे भी सिखा दूंगा, अगर रोशनी मेरा साथ दे तो!रोशनी ने कहा- मेरी तरफ से तुम्हें पूरी इजाजत है. उसने अंकित के कलेक्शन में से एक क्सक्सक्स पोर्न मूवी चला ली और अंकित का इंतज़ार करने लगी.

कुंवारी दुल्हन सेक्सी पिक्चर

अब वो भी दो थी और हम भी दो… तो हमने फैसला किया कि प्रियंका मेरे दोस्त के साथ और रीना (प्रियंका की ननद) मेरे साथ चुदाई करेगी. थोड़ी देर बाद स्वाति और मैं दूसरे रूम में चली गईं और हम दोनों बातें करने लगीं. उसको बिस्तर में इस्तेमाल करने की बड़ी आस मन में हमेशा से थी, है, और रहेगी.

वे मास्टर उसे नकल करवाते, वायवा आदि में उसे ज्यादा नंबर दिलवा देते थे.

मैंने सभी को बता दिया था कि आज पूजा हमारे साथ पढ़ने आने वाली है इसलिए कोई बदतमीजी नहीं होनी चाहिए.

उन्होंने अपने पैरों को मेरे कमर पर लपेट लिया और अपने बदन को ऐंठने लगीं और झटके खाने लगीं. उसकी चूत अभी भी भीतर से बहुत गीली थी जिससे समूचा लंड एक ही बार में सरसराता हुआ घुस गया और मैंने नीचे हाथ ले जाकर दोनों मम्में पकड़ लिए और चूत में धक्के मारने लगा. पंजाबी सेक्सी दाखवादोस्तो, मुझे लगता है कि मेरी स्टोरी थोड़ी लंबी हो रही है, पर जब तक मैं आपको कहानी के पात्र से पूरी तरह परिचय नहीं कराऊंगा, तब तक मज़ा नहीं आएगा.

बहुत मन कर रहा है।यह कहते ही उसने मेरी टांगों को ऊपर तक उठा दिया।फिर मैंने उससे कहा- रूको यार. फिर मैंने अपना मुँह जैसे ही उसकी बुर पर रखा, वो एकदम से सिहर उठी और पागलों की तरह यहाँ वहाँ पर मारने लगी, वो बोलने लगी कि बस अब प्लीज़ कुछ कर दो. यही सोच कर पहले मैंने केवल पहन कर देखने के लिए टॉप और स्कर्ट को भी पहन लिया और सैंडल को भी पहन कर मैंने अपने आपको जब मिरर में देखा तो मैं खुद अपने आपको देखती रह गई.

फिर जब वो काम करके वापस जाने लगी तो मेरे पास मेरे कमरे में आई और बोलने लगी कि क्या हुआ है, अब तो आप बात भी नहीं करते?मैं चुप ही रहा तो वो फिर से बोली- देखिए मैं ऐसी औरत नहीं हूँ. वैसे भी मेरी चुत काफी गीली हो चुकी थी तो संजय के लिए रास्ता काफी आसान था.

उन्हीं मेल में से एक मेल आरती नाम की एक महिला की भी आई, जिसमें उसने मेरी कहानी की तारीफ करते हुए मुझे लिखा कि आपकी कहानी बहुत अच्छी है.

शुरू से ही सोनी मुझे बहुत अच्छी लगती थी, लेकिन धीरे धीरे ना जाने कब मेरे अन्दर उसके लिए सेक्स की सारी फीलिंग्स आ गईं, मुझे खुद मालूम नहीं पड़ा. अब मैंने अपनी भाभी को कुतिया के अंदाज में चोदा और फिर उनकी गांड भी मारी. मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा, जिससे मेरा लंड आधा उसकी चुत में घुस गया और उसकी चीख निकल गई ‘हयी मम्मी… मैं मर गई… आह.

हिना खान सेक्सी मैंने मस्ती से उनकी चूत को देखा और अपनी दो फिंगर उनकी चूत में डाल कर काफ़ी स्पीड में अन्दर बाहर करने लगा. फिर उसने मोना की चूत के दाने पर किस किया, जिससे मोना एकदम से चिहुंक उठी और सिसकारियां लेने लगी.

पता नहीं सोनी सच मैं ज़्यादा अच्छी लग रही थी या फिर मेरे सर पे उसका भूत चढ़ा हुआ था. मैं बहुत खुश हो गयी थी क्योंकि हम गोवा जाने वाले थे… वो भी हनीमून के लिये।फिर रोहण ने हमारी 2 दिन बाद की गोवा की टिकट बुक करा दी थी और एक फाइव स्टार होटल में हनीमून स्वीट भी बुक करवा लिया था।रात में रोहण और मैंने खूब चुदाई की और अगले दिन शॉपिंग की, मेरे लिये साड़ी खरीदी और रोहण के लिये भी हमने कपड़े लिये. अब बॉस लंड को अन्दर डाले ही मेरे पीठ पर लेट गए और हम दोनों अपनी सांसों को काबू में करने लगे.

उत्तरा सेक्स

इन सबसे उसको कोई एतराज़ नहीं हुआ बल्कि वो इस सबको महसूस करके मेरा साथ दे रही थी. वह भी देखने में मोना से कहीं से भी कम नहीं थी, वैसे भी उनकी बिरादरी में लड़कियां होती ही ज्यादा सुन्दर हैं. हम दोनों जाकर हाथ मुँह धोकर टीवी के सामने आकर बैठ गए और टीवी देखने लगे.

वो लेटे हुए ही बोली- सुनो यार, नीचे से दो गिलास, सोडा और आइस क्यूब्स ले आना. भाभी ने बोला- आह… क्या कर रहे हो जान… आराम से करो ना… मैं कहीं भाग थोड़े रही हूँ.

बोल है कि नहीं?शाकिर- भाई साहब यह बात तो आप मेरे से बेहतर जानते हैं.

मैं उनकी वासना को भड़काने के लिए रोज उनकी ब्रा पैन्टी में मुठ मारकर वैसे ही रख देता था. क्या इससे बड़ी साइज़ का लंड देखा है?”गोलू का 3 इंच की भिन्डी मुर्झाई हुई थी. हमने जल्द से जल्द अपना घर आफिस सब बेच दिया और सब कुछ लेकर दुबई आ गए.

इतना कह कर उसने पास रखी बियर की बोतल उठाई, दांतों से ही उसका ढक्कन खोला और अंगूठे से बोतल बंद करके जोर से हिला कर उसका फव्वारा सीधा मेरे बदन पे चला दिया। ये सब इतनी जल्दी हो गया कि मेरे समझने से पहले ही बियर की पहली धार मेरे बदन से टकराई और उसके ठन्डेपन से मेरी रीड की हड्डी तक को जमा दिया। मेरे मुँह से न चाहते हुए भी लम्बी चीख निकल गयी. मैंने उनकी साड़ी पेटीकोट को जैसे ही ऊपर किया तो देखा कि जैसे उन्होंने मुझसे चुदने की पहले से तैयारी कर रखी थी. कुछ देर बाद ममता भी साथ देने लगी और नीचे से अपनी कमर उचका उचका कर चुदवाने लगी.

फिर मेरा लंड सीधा उनकी बच्चेदानी में जा कर झड़ गया और मैं उनको अपने जिस्म से सटा कर किस करने लगा.

बीएफ मूवी बीएफ सेक्सी: मेरे सारे दोस्त कहते थे कि मुँह में लंड जाते ही 2 मिनट में मुठ निकल जाता है. बहूरानी के मुंह से घुटी घुटी सी चीख और दर्द की कराहें निकलने लगीं- मर गयी रे, फट गयी मेरी तो… मार डाला आपने आज तो” बहूरानी ने आर्तनाद किया और मुझे परे धकेलने का प्रयास किया.

लंड तो मेरा भी कब से तड़प रहा था उसकी चूत में उछलने के लिए तो मैंने पहले बहूरानी के निप्पल जो सख्त हो चुके थे, उन्हें मसल कर बारी बारी से चूसा, साथ में अपनी कमर को उसकी चूत के दाने पर घिसा. मैंने उंगली उठा कर उनके दूध की तरफ इशारा किया कि इन्हें देख रहा था. अंकित ऊपर की ओर उठा और माया का एक चुच्चा अपने मुँह में भर के चूसने लगा.

स्टेशन पर मेरा बेटा अपनी गाड़ी से मुझे रिसीव करने आया हुआ था; स्टेशन से घर पहुँचने में कोई पैंतीस चालीस मिनट लगे.

इस पर मोना ने कहा- मुझे क्या एतराज हो सकता है, क्या तुम मेरे पति हो जो मुझे सौतन वाली फीलिंग आएगी. आंटी ने जोर से आँखें भींच ली थी, मेरी इस हरकत पर उन्होंने मुंह इधर उधर फेंक कर साथ देने से मना कर दिया. मैं बहुत खुश हो गयी थी क्योंकि हम गोवा जाने वाले थे… वो भी हनीमून के लिये।फिर रोहण ने हमारी 2 दिन बाद की गोवा की टिकट बुक करा दी थी और एक फाइव स्टार होटल में हनीमून स्वीट भी बुक करवा लिया था।रात में रोहण और मैंने खूब चुदाई की और अगले दिन शॉपिंग की, मेरे लिये साड़ी खरीदी और रोहण के लिये भी हमने कपड़े लिये.