हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स

छवि स्रोत,दिलवाला मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी वीडियो सॉन्ग: हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स, मैंने कहा- चाची, तुम नंगी ही बाहर क्यों गई थीं, मम्मी देख लेतीं या नीचे बुला लेतीं तो?चाची बोलने लगीं- राज, तेरी इतनी गांड क्यों फटती है? मैं जानती हूं जीजी को … वो नहीं बुलातीं और मैं बाहर जाकर बात नहीं करती, तो फिर वो जरूर ऊपर आ जातीं.

कार्टून कोना

मगर हार्दिक ने ही बोल दिया- अर्पण तुझे लाइक करता है और तुझे प्रपोज करना चाहता है. गांव के सेक्सी वीडियोबापू काकी के सर के बाल पकड़ कर उसके मुँह में लंड दबादब पेले जा रहा था.

जब मैंने हाथ को कुछ ऊपर उठाया तो मेरी उंगलियों में कुछ नरम सा महसूस हुआ. गर्भावस्था मे पेट दर्दमुझे चुदाई में ज्यादा अच्छा लगा जब आलिम ने चार दिन बाद मुझे दोबारा चोदा.

तब तक यह सो जाता है। आप ही बताओ हम क्या करें?मैडम ने कहा- आप लोग कहाँ रहते हो?मम्मी- हम लोग पास में ही रहते हैं स्कूल के!मैडम- फिर तो इसे मैं ही पढ़ा दूंगी.हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स: एड कर के घर पर बैठी थी।एक बार मेरे घर पर मैं और मेरी बहन ही अकेले थे और गर्मी का मौसम था इसलिए रात में हम छत पर सो रहे थे।बीच रात में जब मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि मेरी दीदी मेरे पास नहीं थी.

लंड एक झटके में चूत में गया तो उसकी चीख निकल गई- आह मर गई …फाड़ दी मेरी चूतउईइ … साले जानवर … आह धीरे चोद कमीने.कुछ देर तक एक ही जैसे धक्के मारते मारते जलालुद्दीन ने अपनी स्पीड बढ़ा दी और उल्टा सीधा चिल्लाने लगे- ले मादरचोद रंडी, आज तेरी चूत का भोसड़ा बनाकर छोडूंगा.

सेक्सी पिक्चर कव्वाली - हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स

उसकी चीखें निकल रही थी लेकिन मैं उसको किस कर रहा था जिसकी वजह से उसकी आवाज बाहर ना सुनाई दे जाए।पहले तो मैंने उसकी दोनों टांगों को हवा में कर दिया जिससे कि मेरा पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में जा पा रहा था.मैं इंजीनियर के ऑफिस पहुंचा तो उसने मुझे एक घंटा बाद दोबारा आकर साथ के जाने के लिए कहा.

शबाना थोड़ा संकोच की मुद्रा में बोली- मैं भाभी से पूछ कर बताती हूं. हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स यही सब सोचते सोचते और थोड़ा डरते हुए मैंने दरवाजा खोला, तो सामने उन्हें खड़ा देखकर मेरा भय और डर, कई गुणा बढ़़ गया.

मैंने गरिमा से कहा- यार ये निशा डर रही है कि किसी को पता ना चल जाए.

हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स?

मेरी पिछली कहानी थी:बुआ को उनकी सहेली के साथ चोदाआज मैंने अपनी सगी हॉट चाची की चुदाई की मनोरंजक सेक्स कहानी लेकर आया हूँ. मैंने पहले से ही स्टोर रूम में अदीबा की चुदाई की व्यवस्था कर रखी थी. मैंने नीना का सर सहलाकर पुचकाकर कर कहा- गांड ढीली छोड़ो, विश्वास करो उंगली से भी मजा आएगा.

कुछ देर बाद वापस बिस्तर पर लाकर चाची को घोड़ी बनाया और गांड में लंड डालकर चोदने लगा. इससे मेरी हिम्मत बढ़ गई, मैंने अपने हाथ से उनके ब्लाउज में से एक बूब को बाहर निकाल लिया. आजकल ऑन लाइन ऐस प्लग मिल जाता है, पहले छोटा वाला ऐस प्लग बीवी की गांड में लगाकर जितनी देर हो सके, पेले रखना, आस प्लग लगाकर चलने में मजा आता है, ऐसा मैंने पढ़ा है.

मैंने देखा कि राजवीर सोफे पर चुपचाप बैठा हुआ हमारी लाइव चुदाई देख रहा है और अपनी पैन्ट की ज़िप खोल के लण्ड को बाहर निकाल कर हिला रहा है।मैं बोला- भोसड़ी के, क्या कर रहा है ये?वो बोला- तुम्हारी चुदाई देख के रहा नहीं गया यार … मेरा भी मन कर रहा है।मैं बोला- मेरा हो जाये तो तू भी कर लेना।राजवीर बोला- इतना टाइम नहीं है. वो आगे बोली- कभी-कभी मन करता है कि किसी से अपनी चुदाई करवा लूं, लेकिन डरती हूं कि कहीं जमाना मुझे रंडी ना समझ ले, इसलिए अपने ही में ही खोई रहती हूं. उधर मोम लगते ही उसकी चीख निकलने को हुई मगर वो किसी तरह बर्दाश्त कर गया.

हाथ से छूने पर उन दोनों के लंड मुझे बड़े बड़े और लम्बे लम्बे महसूस हो रहे थे. मेरा तो कुछ टाइम बाद फिर से रस निकल गया और मुझे दर्द भी होने लगा था.

कोमल मेरी गाड़ी में पूरे हक से बैठ गई और मैंने गाड़ी ड्राइव करना स्टार्ट कर दिया.

इतने नर्म नर्म बूब्स को दबाने में मजा ही कुछ और आ रहा था।फिर मैं अंजलि के पीछे से आकर उसके बूब्स को दबाने लगा और अंजलि की गर्दन पर अपने होंठों से चूमने लगा.

मैं मौन था, जिसे वो मेरी स्वीकृति मान रहा था और उसकी हरकतें बढ़ती जा रही थीं. अब्दुल हँसते हुए बोला- जब चुदाई शुरू की थी तो चूत थी लेकिन अब साली भोसड़ा बन चुकी है. मैंने कहा- कहां … यहां?उसने कहा- हां यहीं, क्यों तुम्हें कोई ऐतराज है?मैंने कहा कि नहीं, कोई देख लेगा तो?माधुरी ने कहा कि अभी इस वक़्त दोपहर को दुकान में कोई नहीं आता और मेरे पति दुकान का माल लेने मुंबई गए हैं तो वो नहीं आ सकते.

ढेर सारे डिब्बे थे, मैं उन्हें उठाकर उसे दे रहा था ताकि वह चीजों को निकाल कर व्यवस्थित कर सके. नितिन ने अपनी नौकरानी से इस विषय में बात की और उसकी नौकरानी ने मेरे घर पर काम करने के लिए एक लड़की की तलाश शुरू कर दी. अब मेरे से रहा नहीं गया, तो मैंने अपने सीनियर पंकज से पूछ ही लिया- यह सब क्या है?उसने मुझे बताया कि गोवा में अपने कॉलेज के सभी पुराने छात्र मिले हैं.

उसने फोन पर सेक्स कहानी पढ़ीं और हमेशा की तरह आज भी वो मुठ मारने बाथरूम में चली गई.

मैंने झट से एक हाथ उनकी नाइटी में डाला और मम्मों को दबाने मसलने लगा, साथ ही मैं अपने लंड को उनकी गांड में भी रगड़ रहा था. आगे बढ़ते हुए मैं अपने हाथ उसके बालों के पीछे ले गया और बालों से रबर खींच ली. मैंने अपना लंड निकाल कर उसके मुँह पर रख कर उसकी एक चूची को जोर से मसला.

मैंने फिर से मुठ मार कर मामी के कपड़ों में रस झाड़ दिया और ब्रा से लंड को साफ़ कर दिया. माधुरी बहुत ज्यादा खुश हुई और उसने कहा- चलो फिर हम दोनों शादी कर लेते हैं. मैंने आंटी की पैंटी के अन्दर जैसे ही हाथ डाला, तो झांटों का बहुत बड़ा जंगल था.

पहले उसकी बुर को अपने हाथों से सहलाया फिर अपने कपड़े निकालकर मैं भी पूरा नंगा हो गया.

दोस्तो ये था मेरी Xxx हिंदी भाभी की चुदाई का मजा!आप सबको कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. और वह अपने चचेरे भाई का नाम लेकर अपनी चूत में उंगली करना शुरू कर देती है!इस बीच कुणाल चाचा जाग जातें हैं और अपनी बहू को किसी गैर मर्द का नाम लेकर चूत में अपनी उंगली करते देख लेते हैं!यह सावी के लिए अच्छी बात नहीं थी.

हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स उसने कुकर को चूल्हे पर रखा था और जब तक वह 3 या 4 बार सीटी नहीं बजाता, उसे कुछ नहीं करना था. स्कूल खत्म होने के बाद रोज़ आधा घंटा मैं नीलेश को पढ़ा दूंगी। स्कूल की छुट्टी 2 बजे होती है तो तुम ढाई बजे स्टाफ रूम में आ जाना।इसके बाद मैं रोज़ मैडम से एक्स्ट्रा क्लास लेता था और जब भी क्लास टेस्ट हुए तब मेरे दोनों बार 10 में से 9 नंबर आये।लेकिन सेकंड टर्म के मैथ्स एग्जाम में मैं फिर से फेल हो गया और मेरे 70 में से 20 ही नंबर आये.

हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स मैं रूका तो मम्मी ने अपनी टांगें मेरे कंधों से उतार लीं और अपनी सांस सामान्य करने लगीं. आंटी की पैंटी को मैंने उसके टखनों तक कर दिया और उसने अपनी एक टांग की मदद से उसे पूरी तरह से हटाकर निकाल दिया.

फिर भी मैंने अंजान बनते हुए पूछा- खुद से ही, मतलब?डिंपी- मतलब अकेले ही रहती हूं ना, आपके जैसे थोड़ी कि दिन भर अपनी जीएफ के ख्यालों में खोए रहो.

बीएफ ब्लू पिक्चर वीडियो बीएफ

वो पूरा लौड़ा अपनी बहन की बुर में पेलकर मेरे ऊपर चढ़ गया और मेरी बुर में झटके लगाने लगा. मैंने नाटक शुरू किया ही था कि इतने में भाभी मेरे करीब सरक आई और मुझसे चिपक गई. ये कहकर मैंने सबसे कहा- हम चारों लड़कियां यहीं घोड़ी बनेंगी, जिसका जिसको चोदने का मन हो, वो उस लड़की की चूत या गांड मार सकता है.

मैं चूंकि चाची के साथ ही रहता था तो चाची अपना हर काम मुझसे ही करवाने लगी थीं. मैंने समझ लिया कि चाची को लंड चाहिए और ये अपने मुँह से कह नहीं पा रही हैं. मुझे अपनी वाइफ को किसी और लंड से चुदते हुए देखना है और वो भी मेरे सामने.

मैं उसके करीब आ गया और उसके बालों को आगे कर दिया, जिससे उसकी गोरी पीठ दिखने लगी.

माधुरी के चेहरे पर संतोषी के हाव भाव साफ़ साफ़ झलक रहे थे कि वो बहुत खुश थी. अपने हाथ से मैंने उसको चुटकी में पकड़ा तो चाची का दूध भी मसलने को मिल गया. दोस्तो, ये गेम लूडो का जरूर था, मगर इसमें एक ख़ास बात आपने नोट की होगी कि हम दोनों के अन्दर एक छिपी हुई वासना थी, जो बिना जाहिर हुए ही अपनी आग को भड़का रही थी.

कहानी के तीसरे भागबुटीक वाली सेक्सी भाभी ने बुलायामें अब तक आपने पढ़ा था कि माधुरी भाभी ने मुझे अपनी नई दुकान में बुलाया और कुछ देर बात करने के बाद उसने अन्दर से ही दुकान की शटर गिरा दी और मुझसे मस्ती करते हुए अपने दूध पीने की बात कहने लगी. मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और हम एक दूसरे के होंठों को खाने लगे. हर तरह से माकूल माहौल था, घर पर भी कोई नहीं था, सब लोग शादी खत्म होने के बाद ही घर आने वाले थे.

मां बड़े प्यार से मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूस रही थीं, मुझे बहुत मजा आ रहा था. मैंने कहा- अरे उसमें क्या है … मैं कर देता हूँ न!कुछ देर की मान मनौव्वल के बाद उन्होंने हां कर दिया.

जलालुद्दीन आलिम ने मेरी नब्ज टटोली और बताया कि इस लड़की की ख़ूबसूरती देखकर किसी पुराने जिन्न ने इस पर कब्ज़ा कर लिया है. मैंने उनकी गांड पकड़ी तो अहसास हुआ कि उनके दोनों कूल्हे बड़ी तेजी से ऊपर नीचे हो रहे थे. कुछ देर एक उंगली से गांड की दीवारें चिकनी करने के बाद उन्होंने दो उँगलियाँ मेरी गांड में डाल दीं और धीरे धीरे जगह बनाते बनाते दोनों उँगलियाँ मेरी गांड में पूरी अंदर घुसा डालीं.

मैं अपनी अलमारी से आंटी के लिए एक टी-शर्ट और एक बाक्सर निकाल‌ कर ले‌ आया.

मैंने एक उंगली उसकी बुर में घुसा दी, तो वो बिन पानी की मछली के जैसे तड़पने लगी. पिछली बार उनका वीर्य पीकर मुझे बहुत अच्छा लगा था इसलिए इस बार भी मैंने लपक कर उनका लंड अपने हाथों में पकड़ लिया और सहलाने लगी. उसकी टी-शर्ट उतारते ही उसकी सेब के आकार की गोल गोल छोटी छोटी चूचियां बाहर आ गईं.

मैंने मेनगेट को बाहर से लॉक कर दिया और पीछे के रास्ते से अन्दर आ गया ताकि कोई हमें बाहर वाला डिस्टर्ब न करे. उसने चैक करने के लिए ईमेल आईडी का लॉगिन मेरे फोन में किया लेकिन गलती से मेरे फोन से वो लॉगआउट नहीं हुई.

अब हम दोनों ने पास में एक होटल में रूम बुक किया और होटल के वेटर को खाना लाने का बोल दिया. वो नमकीन रखकर वापिस जाने को मुड़ी तो मैंने उसे रोका- सोनू, एक मिनट रूकना. मैं- नीना, सबसे जरूरी है गांड को ढीला छोड़ना, गांड को ढीला नहीं किया तो दर्द होगा ही.

ट्रिपल एक्स सेक्स व्हिडिओज

अभी मेरी तकलीफ समझो और कुछ अभी चाहो तो मांग लो मैं मना नहीं करूंगी तुमको, बोलो क्या चाहते हो?मैंने उससे कहा- सच बताऊं तो मैं हमेशा से ही अलग अलग औरतों को चोदना चाहता हूँ.

बोलो, मंजूर है मेरी शर्त?अपने प्यार से पूरे एक महीने के लिए दूर रहना बहुत मुश्किल था मेरे लिए इसलिए मैंने भी जानबूझ कर एक ऐसी शर्त रख दी जो पूरी नहीं हो सकती थी. ऐनल फक गे सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं रात को सुनसान सड़क पर बाईक पर था कि एक युवक ने मुझसे लिफ़्ट ली. पोर्न भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि शादी में मिली सेक्सी भाभी को मैं पटाकर घर लाया! उसने कैसे मुझे तन और मन का सुख दिया? आप लोग खुद ही पढ़िए!दोस्तो, मैं संदर्श!कहानी के पिछले भागमदमस्त जवानी के साथ चुदाई से पहले का मजामें आपने पढ़ा कि मैं एक बार फिर से कोमल भाभी की नंगी हो चुकी जवान चूत के सामने उसे चोदने को आतुर खड़ा था.

शेखर ने पूछा- तुम मुझे बहुत पसंद हो, क्या मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी?मैंने कहा- हाँ शेखर, तुम भी मुझे बहुत पसंद हो. तुझे अपने बच्चों की अम्मी बनाएंगे, क्या तुम बनोगी हमारे बच्चों की अम्मी?मैं कुछ बोलने की स्थिति में नहीं थी. 56 प्रकार की मिठाईमैं उसके पास गया और पास जाते ही वो मुझको देख कर एकदम से घबरा गयी और गुस्सा से बोली- तुम कौन हो और यहां क्यों आए हो?मैं बोला- कुछ नहीं, बस मैं ऐसे ही आया हूँ.

शेखर ने पूछा- तुम मुझे बहुत पसंद हो, क्या मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी?मैंने कहा- हाँ शेखर, तुम भी मुझे बहुत पसंद हो. फिर हम दोनों ने कभी कभी वीडियो कॉल करनी शुरू कर दी, उसमें भी पहले नॉर्मल बातें होती थीं.

गर्मी के दिनों में मैं रात को ऊपर आ जाता था, जहां वो सोयी हुई होती थी. दोस्तो ये था मेरी Xxx हिंदी भाभी की चुदाई का मजा!आप सबको कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. उनका गला जैसे आम की बड़ी सी खाप, जिसे काटो तो ज़िंदगी खुशहाल हो जाए.

जब डिस्चार्ज का समय नजदीक आया तो मम्मी के होंठ अपने होंठों में दबाकर मैंने लंड की स्पीड बढ़ा दी. फिर उसने मुझे वहीं बेड पर लिटा लिया, मुझे नीचे लिटाकर वो मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों को चूसने लगा. मैंने शबाना को पीठ के बल लिटाया और टांगें चौड़ी करके अपने लंड को शबाना की चूत पर रगड़ना शुरू कर दिया.

मैं थोड़ी देर के लिए चौंक गया और मेरा दाहिना हाथ लगभग कांपने सा लगा था.

कोमल के मुँह से ‘आह … आह्ह … ओह्ह …’ की कामुक सिसकारियों की आवाज़ें निकलने लगीं. कसम से मम्मी के वो बड़े बड़े मम्मे और उनके ऊपर वो काले चूचे देखकर ऐसा लगता है कि बस उनको पकड़ कर चूस लो.

मुझे इस बात का‌ अहसास नहीं हुआ कि‌ आंटी इस बात को नोटिस कर रही हैं. डैड तुरंत से बाहर जाने लगे और वो जाते जाते मुझसे बोले- बेटा गेट बंद कर लो और अपनी मॉम का अच्छे से ख्याल रखना, शायद मुझे आने में सुबह हो जाएगी. एक बार अभी कुछ दिन पहले ही रात को मैं उसी तरह शनिवार के दिन बीयर पीकर घर आया.

हमने फार्म का नाम रखा था- दोस्ती फार्मअब कुछ नौकरों के बारे में भी बता देते हैं. कोमल ने चुदाई के बाद में मुझे बताया कि उसकी ऐसी चुदाई आज तक नहीं हुई थी. फिर मैं अपने काम में लग गया और कुछ देर बाद मुझे काम की वजह से ऑफिस से बाहर फील्ड पे जाना पड़ा.

हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स अगली कहानी में आपको बताऊंगी कि कैसे मेरी खुशियां गम में बदल गईं और कैसे मुझे जलालुद्दीन साहब को छोड़ कर जाने के लिए मजबूर होना पड़ा. मैंने ये सुना तो सीधा माधुरी पर झपट पड़ा और मैंने माधुरी के गुलाबी रसीले होंठों पर सीधे अपने होंठ रख दिए और उसे किस करना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी चुदाई भोजपुरी

मैंने सोच लिया था कि इस बारे में मैं रानी से इन्स्टा पर ही बात करूंगा और मालूम करूंगा कि मामला क्या था. वो बोला- साले, अपनी सैटिंग बना ले फिर दूसरे की देखकर तुझे सब समझ आ जाया करेगा. फिर मैंने अपनी जुबान को माधुरी की चूत के पंखुड़ियों पर चलानी शुरू कर दी.

रात करीब 11:45 बजे मेरी पत्नी की नींद खुली तो उसने मुझसे कहा कि लाइट बन्द कर दो. उसकी छटपटाहट ज्यादा थी तो मैं कुछ पल के लिए रुक गया मगर उसकी चूत में लंड का दबाव बनाए रहा. कॉल गर्ल्स का नंबरउधर जीजू आपा के ऊपर कूद रहे थे तो इधर मैं एक हाथ से अपना दूध मसल रही थी और दूसरे हाथ से अपनी चूत को सहलाने लगी थी.

जैसे ही मैंने जुबान अन्दर डाली तो आंटी की गाली भरी आवाज निकलने लगी- आह रईस भड़वे … और मत तड़पा मादरचोद मुझे … पेल दे भैन के लंड मेरी चूत में अपना लौड़ा … आंह.

ये कह कर माधुरी ने अपने दांतों तले फिर से अपने होंठ चबाए और मुझे अपने होंठों से सीधा अपनी चूचियों पर इशारा दे दिया. फिर उसकी पीठ पर जालीदार ब्लाउज़ की डोरियां और बीच में उसकी ब्रा की डोर, उसकी लचकती हुई कमर और पीछे से उसकी बड़ी गोलमटोल घुमावदार गांड, पूरा भरा हुआ बदन, गदरायी हुई माल लग रही थी.

मैंने मॉम के रसीले होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मैं उनके सेक्सी होंठों को चूसने लगा. मैं भी पूरी ताकत से झटके दे दे कर चुदाई करवा रही थी पर मुझे कहीं न कहीं यह डर था कि अमन मुझे बिना कंडोम के चोद रहा था. उस दिन मेरी बीवी की तबियत सही नहीं थी और वो नाश्ता करने के बाद कमरे में आराम करने के लिए चली गई.

तो आपका समय ना बर्बाद करते हुए मैं सीधा अपनी हॉट देसी गर्लफ्रेंड चुदाई कहानी पर आता हूं.

सोनी ने उंगली से मेरी गांड के छेद में तेल भरा, मेरे भरे हुए चूतड़ों को चूमा. ’आंटी खिसक कर मेरे पास आईं और अपने कान मेरे‌ होंठों के पास ले आईं और बोलीं- बोल दो सब. दोपहर के भोजन के बाद, मैं फिर से टीवी देखने वाले कमरे में जाकर बैठ गया.

दैनिक भास्कर हिन्दी समाचार हरियाणापहले उन्होंने मेरी चूत पर लंड को रगड़ा और एक झटका लगाया पर उनका लंड अन्दर गया ही नहीं … और मुझे दर्द भी हुआ. मेरी गांड बुरी तरह फटी हुई थी और उसमें से ढेर सारा खून निकल कर बिस्तर पर फैला हुआ था.

सेक्स करती हुई ब्लू फिल्म

पर मैं उनकी कहां कुछ सुनने वाला था … मैंने लंड के टोपे को भी बाहर निकाल लिया और चाची के बंधे हुए हाथ पकड़ कर एक हाथ से लंड को चूत पर सैट करके एक ज़ोरदार धक्का लगा दिया. राजधानी एक्सप्रेस की स्पीड से लगे मेरे लंड के धक्कों से मम्मी हांफने लगीं और उन्होंने हाथ जोड़कर रुकने का निवेदन किया. शायद वो भी माधुरी की चूत के दर्शन के लिए बेकरार था … लेकिन अब कर भी क्या सकता था.

वो इतनी नादान तो थी नहीं कि ये नहीं जानती कि ये तंबू क्यों बना हुआ है. डॉक्टर ने कई दिन तक मेरा इलाज किया और तरह तरह की दवाइयां दीं लेकिन कुछ फायदा नहीं हुआ बल्कि अब तो मुझे हर दो-तीन घंटे में दौरे पड़ने लगे थे. मैं भी आंखें मूंदे चाची को चोदता जा रहा था, तो चाची दो बार झड़ गई थीं.

मेरे सामने अब मॉम सिर्फ एक लाल रंग की छोटी सी कच्छी में लेटी हुई थीं. रचना- आअह विकास, अब मैं झड़ने वाली हूँ आआह विकास … मेरा पानी निकलने वाला है. क्योंकि उसके बाद कई चुतें मारी पर इतनीटाईट चूतचोदने का और इतना मज़ा किसी चूत में नहीं मिला.

खुद ही खुद एक हाथ उनके बूब पर जमा था, दूसरा हाथ उनकी सलवार को चीरता हुए अन्दर घुस गया था और गांड दबा रहा था. मैं दर्द के मारे मरी जा रही थी लेकिन जलालुद्दीन साहब रुकने का नाम नहीं ले रहे थे.

वो मजे से लंड चूसने लगी और मैं उसके मुँह में लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने कहा- या तो कुश्ती दिखाओ जिससे मेरा डर निकल जाए नहीं तो रिश्ता तोड़वा दो, मुझे नहीं करना निकाह. इंडियन भोजपुरी सेक्सउस समय मेरे घर वाले शादी में कुछ 14-15 दिनों के लिए गांव जाने वाले थे. दिसावर का रिजल्ट आज काउस समय घर मेहमानों से भरा हुआ था और सभी ने समारोह के लिए अच्छे कपड़े पहने हुए थे. हर पल मेरा लंड पोर्न भाभी की रस छोड़ती चूत की चिकनाई का सहारा लेते हुए अन्दर घुसता जा रहा था.

मैं मॉम से पूरी तरह सटा हुआ था और मैं उनके बड़े बड़े चूतड़ों को बहुत बुरी तरह मसल रहा था.

हॉट गांड Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरा जिन्न उतारने वाले आलिम ने मुझे दुल्हन बनाकर मेरी गांड का उद्घाटन किया. गले में पहनने वाला हार और मंगलसूत्र मुझे सुहागन होने का अहसास दिलाने लगे. उनके अंगों की कसावट, गोल चूचियां, बड़े मोटे चूतड़, गोरा पेट, गोरी नंगी टांगें देख कर बस यही लग रहा था कि आज आंटी मेरी हो जाएं.

थोड़ी देर बाद लंड गांड में घुसा दिया और तेजी से झटके लगाना शुरू कर दिया. उसने मेरी तरफ देखा तो मैंने उसे आईने के सामने खड़ी करके चोदने की बात कही. मैंने नीना की गांड पिचकारी से भरकर साफ़ की, नीना ने अपनी गांड ढीली की.

सनी लियोन पोर्न वीडियो फुल एचडी

कुछ पांच मिनट में ही हम लोग थक गए थे क्योंकि हलासन में पीठ पर पूरा खिंचाव होता है और पेट पूरा दबा हुआ होता है. आप सब लोगों को तो पता होगा कि सर्दियों में छह बजे के बाद अंधेरा होना शुरू हो जाता है. दोस्तो, दरअसल एक बात मैंने आपसे नहीं बताई, वो ये थी कि माधुरी का जो अफेयर चल रहा था उस गांव वाले के साथ, उससे उसका झगड़ा हो गया था.

जैसा कि मैंने बताया कि दिसंबर का महीना आ गया था और ठंड बहुत ही ज़्यादा हो चुकी थी.

सलीम हमें देखकर मुस्कुरा कर बोले- सलमा बेगम जी, कैसा लगा हमारा प्यार?उनके मुँह से अपने लिए सलमा बेगम नाम सुनकर मैं रोमांचित हो रही थी.

मैंने भी माधुरी की चूत को पूरा मुँह में भर लिया और उसे जोर जोर से अपने मुँह में लेकर अन्दर बाहर करने लगा. मेरी Xxx माँ बहन सेक्स के खेल में बड़ी रंडी बन चुकी थीं। एक प्रॉपर्टी डीलर का काम MLA ने रोक दिया तो मेरी अम्मी और बहन ने उस एम एल ए से चुद कर काम निकाला. हैप्पी बर्थडे प्रीतिऔर मैं खुश भी था कि मुझे जॉब का अवसर मिल रहा है और उदास भी था क्योंकि मैं भी शादी में जाना चाहता था.

’ये कहकर‌ आंटी थोड़ा खिलखिलायीं और फिर से पूछने लगीं- क्यूं निखिल हूं ना मैं थोड़ी सुन्दर?शायद ये घर में हम दोनों का अकेला होना आंटी को भी मेरे प्रति थोड़ा बिंदास बना रहा था. फिर अगले छह दिनों तक मैंने स्नेहा कीबुर का मलीदाबना दिया; वो मेरे लंड की रंडी बन गई थी. वो भी बाजारू रंडी की तरह अपने गालों पर मेरे लंड की मलाई से मालिश करने लगी.

आपको वर्जिन सिस्टर Xxx कहानी कैसी लगी, मेल और कमेन्ट में जरूर बताएं. मैंने चाची से कहा- चाचा से तुम्हारी गर्मी नहीं निकाली गई है, अभी भी तुम्हारा जिस्म आग उगल रहा है.

फिर मैंने भाभी का पैर टब के किनारे से उठा कर अपने कंधे पर रखा और अब मैं और जोर से चूत का रस पीने लगा, चूत के दाने को मसलने लगा.

करीब दस मिनट बाद मैं उनके मुँह में ही झड़ गया, मम्मी सारा माल पी गईं. अब वो बिल्कुल नंगी हो चुकी थी और मेरी हालत उसे देखकर ख़राब हो रही थी. मैं पूरे जोश में आकर बुआ की चूचियों को मसलने लगा और अपनी रफ़्तार बढ़ाने लगा.

गुजराती सेक्सी पिक्चर बताइए उनके साथ सेक्स की शुरुआत कैसे हुई? उन्होंने कैसे मुझे अपने घर बुलाकर चूत चुदवाई?मेरा नाम विक्रम सिंह है. डिंपी- अब भी आप आप करते रहोगे क्या?मैं धीरे धीरे उसकी जांघ को सहलाने लगा, उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

जब मैं लण्ड पर उछलती थी तो ऐसा लगता था मानो आज मेरी चूत नहीं बल्कि मेरी बच्चेदानी चुद जाएगी. कुछ एक सेकंड को हम दोनों तड़फ गए और मैंने उसकी आवाज निकलने से पहले फिर से किस करना चालू कर दिया. बाहर निकालो आह जल्दी से निकाल!मैंने कुछ नहीं सुना और 10-12 झटके मार दिए.

बीएफ सेक्सी फुल वीडियो

साली की शादी के बाद उसने जीजा से कैसे सेक्स का मजा लिया?नमस्कार दोस्तो, ये सेक्स कहानी जीजा और साली के बीच प्रेम और संभोग की है. लंड को वापस खड़ा करने के लिए मैं लंड को सहलाने लगी और वापस मुँह में लेकर चूसने लगी. कुछ देर बाद मैंने उसके ब्लाउज के बटन खोलना चाहा, तो उसने मना कर दिया.

उसने अपने नर्म हाथों से मेरे लौड़े को मेरी पैंट के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया. जैसे ही नीचे उतरा, वो आकर मुझसे कहने लगी- तुम्हारे मोबाइल में मैंने कुछ देखा है, वो मुझे बहुत अच्छा लगा है.

उस रात क्या हुआ?दोस्तो, कैसे हैं आप सब!मैं ठीक हूं … और उम्मीद है कि आप सब भी ठीक ही होंगे.

थोड़ी देर बाद शबाना जोर जोर से आहें भरने लगी, मैं समझ गया कि अब शबाना झड़ने वाली है. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैं अपनी जीभ मॉम की चूत के अन्दर चलाने लगा. डिंपी- दस दिन रुकने वाले हो, बहुत मौके मिलेंगे तुम्हें … पर तुमने तो मुझे दोबारा चोदने लायक ही नहीं छोड़ा.

मुझे अपने करीब खड़ा देख कर कुमकुम बोली- अरे भईया, आप अभी तक सोए नहीं?मैंने कहा- हां बस अब सो रहा हूँ. थोड़ी देर बाद हॉट चाची उठीं और अपने पेटीकोट से दोनों को साफ करने लगीं और ऐसे ही नंगी नीचे चली गईं. उसके बाद मैं कोमल की जांघों के आजू बाजू अपने घुटनों को सैट करके बैठ गया और पास पड़ी टाई को उठा लिया.

मैंने थोड़ी सी वोडका उसकी चूत में डाली और उसकी चूत को फिर से चूसने लगा.

हिंदी बीएफ वीडियो गर्ल्स: लेकिन इसके लिए लड़की को एक महीने के लिए इधर ही एक कमरे में रहना होगा. मैं पिछले कई सालों से इस साइट से कामुक कहानियों को पढ़ कर मजे लेता रहा हूँ, जो मुझे बहुत ही आनन्द देती हैं.

अब मैं अंजलि के सामने वी शेप वाली सफ़ेद अंडरवीयर में था जिसमें मेरा लंड अलग ही दिख रहा था।अंजलि की नज़र भी लंड के ऊपर ही थी।मैंने अंजलि का हाथ पकड़ के अपनी ओर खींचा और उसके ब्लाउज के हुक खोलने शुरू किये. और कुछ देर के बाद दीदी ने रवि से पूछा कि कितना बाहर है?तो उसने बताया कि और थोड़ा सा ही बाहर है. धक्का लगते ही चाची ज़ोर ज़ोर से चिल्लाती हुई रोने लगीं- आआहहह ऊईई साले ने गांड फाड़ दी मादरचोद हरामी.

चूमता हुआ वो नीचे पैरों के पंजों तक गया और फिर वापसी में चूमता हुआ ही मेरी चूत के पास आ गया.

उसमें से एक लड़की ने हार्दिक से जाने से पहले इशारे से कहा- मैं बस स्टॉप पर वेट कर रही हूँ. फिर एक कंधे को चूमते चूमते मैंने उसकी कमीज़ को कंधे से जरा नीचे सरका दी. रोहित भी बोल रहा था- साली रंडी कुतिया … अपनी मम्मी को भी हमसे चुदवा दे … आंह ले लौड़ा खा.