न्यू देहाती बीएफ

छवि स्रोत,भाभी की सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

चुदाई वाली कहानी: न्यू देहाती बीएफ, फिर अचानक से मुखिया जी का शरीर अकड़ने लगा और उन्होंने 5-6 जोरदार झटके मारे.

ओड़िया में सेक्सी पिक्चर

पर अब समझ आया कि सबकी अपनी जरूरत होती है, अपनी लाइफ के मजे लेने ही चाहिए. सेक्सी चुदाई हिंदी ब्लूकरीबन 10 मिनट की चुदाई के बाद वो हसीन लम्हा आया जब हम दोनों ही झड़ गए.

अब हम दोनों ने फिर से वीडियो कॉलिंग शुरू की और अब हम दोनों दोबारा से मिलने का प्लान बना रहे हैं. सेक्सी फिल्म बनाने के लिएमैं- नहीं भाभी, वो तो कोई चूतिया ही होगा, जिसको आप में नजाकत और सेक्सी लुक नहीं दिख रहा होगा.

आपने उस दिन बड़ा मस्त डायलॉग बोला था … वो क्या कहा था … एक बार फिर से कहिए ना?मैं- अरे जाने दो यार … उस दिन जोश में कह गया.न्यू देहाती बीएफ: वो बोला- बात ऐसी है कि मेरा दोस्त भी साथ में है … क्या करूं, उसे भी ले आऊं?मोनिका धीरे से बोली- भाभी, उससे बोलो कि हां ले आए.

आह्ह मोहक … ओह्ह हम्म्म आह्ह … यू लाइक इट माय बेबी! फ़क मी हार्ड!”मोहक कभी मेरी कमर को पकड़ता तो कभी मेरे गोरे गोरे बूब्स दबाता।मैं मोहक के लंड की गर्मी झेल नहीं पा रही थी- ओह्ह ओह हह हहह आह्ह उ उं उहहम्म!मोहक ने एक हाथ से मेरी कमर पकड़ी थी.कई बार मेरे दिमाग में आया कि किसी मर्द को अपना दोस्त बनाया जाए, जिससे मेरी प्यास वैसे ही बुझती रहे जैसे कि शादी से पहले बुझती थी.

शादीशुदा वाला सेक्सी पिक्चर - न्यू देहाती बीएफ

चाय देती हुई मुस्कुराकर बोली- कोई तकलीफ तो नहीं हुई ना देवर जी?मैंने उसको आंख मारते हुए कहा- कुछ भी तकलीफ नहीं हुई भाभी जी.हम दोनों के बदन में ही चुदाई की गर्मी भरती जा रही थी और हम दोनों ही जानते थे कि दोनों के दिल में क्या चल रहा है लेकिन किसी की हिम्मत नहीं हो रही थी कि किसी को कुछ बोले या आगे बढ़ कर पहल करे.

थोड़ी देर में हमारी जीभें आपस में बातें कर रही थीं और हम दोनों एक दूसरे की लार चाटते हुए मजा कर रहे थे. न्यू देहाती बीएफ पापा लंड चूत से निकाल कर मम्मी के मुँह पर ले गए और हाथ से पकड़ कर लंड हिला रहे थे.

वो मुझसे लिपट गया और उसने गीला लंड निकाल कर मेरे मुँह में ठूंस दिया.

न्यू देहाती बीएफ?

मैंने उससे वादा किया- ऐसा कुछ नहीं होगा और हम ट्राई करके देख सकते है. न जाने क्यों अब जब भी उसकी कमर मेरी तरफ होती, तो उसकी चाल बदल जाती. इस तरह से हमारी बातें भी चलती थीं और मेरे हाथ उसकी चूत और गांड पर भी चलने लगे थे.

दोनों छेदों में लंड होने के कारण … और पहली बार दो लंड एक साथ लेने के कारण मेरी चूत से नदी बह गई और मैं थ्रीसम का आनन्द पहली बार लेकर एकदम निढाल हो गई. फिर फ़लक उंगली को खुद चूस कर बोली- कैसी लगी … बताओ?मैं भी मुस्कुराकर बोला- टेस्टी से भी ज्यादा टेस्टी. एक घंटे मौसी की चुदाई करने के बाद मुझे नींद आने लगी और मैं अपना लंड मौसी की चूत में डालकर उनके मम्मों को मुँह में लेकर सो गया.

वह पूरी कोशिश कर रहा था कि किसी भी तरह मेरी चूत में उसका लंड समा जाए. दस मिनट तक मैं भाभी के दोनों मम्मों से खेलता रहा, फिर उनके गोरे गोरे पेट को सहला कर चूमने लगा, उनकी नाभि को चूमने लगा. अब आगे नंगी लड़की सेक्स फोरप्ले कहानी:उर्वशी से बात करके मैं वापस आया तो वो लड़की वहां पर नहीं थी.

उसने अपने नीचे वाले होंठ को अपने दांतों से ऐसे दबा रखा था जैसे कोई बहुत ताकत लगाने के समय कर लेता है. अर्चना दर्द के मारे चीख मार कर छूटने के लिए तड़पने लगी पर महंत कहां बिना चोदे छोड़ने वाला था.

इतने में अदिति थक गई और पेट के बल सीधी लेट गयी, साथ में मैं भी उसके ऊपर लेट गया.

मैं धीरे धीरे स्कर्ट उपर करने लगा लेकिन स्कर्ट बहुत सॉफ्ट लग रही थी.

मैंने कहा- वाह यार … तुमने तो मजा बांध दिया, खिलाड़ी हो, मजे हुए कलाकार हो. कुछ दिनों बाद गर्मी की छुट्टी आयी तो मेरी पत्नी बच्चों को लेकर मायके निकल गयी. मैं अपने ऊपर पानी डाल कर साबुन साफ़ करने के बाद उठी और पापा के पास पहुंच गयी.

अब मैं भी झड़ने वाला हो गया था- आंह रंडी … अब मेरा पानी निकलने वाला है. बीस मिनट बाद उसने मेरा लंड फिर से चूसा और मेरा हथियार फिर से तैयार हो गया. मैं कंट्रोल नहीं कर पाया मैं दूसरे रूम में जाकर दीदी के बगल में सो कर स्कर्ट उठा कर फिर से दीदी को चोदने लगा.

प्लीज़ कुछ और कहो न!वो मेरे लंड को ध्यान से देखती हुई बोली- तुम्हारे अंडकोष मध्यम आकार के हैं और खूबसूरती से लटके हुए हैं.

बारी बारी से पांच मिनट तक मैंने उसकी दोनों गोरी गोरी चूचियां लाल कर दीं. लेकिन मास्टर नहीं माना और उसने अचानक से भाभी की गांड में लौड़ा घुसा दिया. अंकल बोले- बेटा मैं तुमको काफी दिन से चोदना चाहता था, तुम बड़ी गजब की माल हो.

वो मेरी मामी की तरफ देखती हुई धीरे से बोली- बड़े कमीने हो … पता ही न लाग सका मने …तभी मामी कुछ काम से अन्दर चली गईं. मैं दूसरे दिन भी गया तो फिर वही पुरानी सब्जी थीं … मतलब ताज़ी सब्जी नहीं थीं. गाँव की चूत चुदाई के बाद मैं अब पूरी गति से कार चलाकर सात बजे घर पहुंच गया.

अचानक से उसने एक झटके में उसने मेरी पैंटी फाड़ दी और मेरी बिना बालों वाली गुलाबी चूत उसके सामने आ गयी.

पर मुझे तो सच्चाई पता थी कि आज खेत में कौन सा काम होने वाला है तो मैं भी माँ के खेत के लिए निकलने के थोड़ी देर बाद निकल गया. एक्सीडेंट हुए 8 महीने हो गए हैं, पर फिर भी तुम मेरी मालिश उतनी ही लगन से करती हो.

न्यू देहाती बीएफ करीब दस मिनट तक गांड की चुदाई के बाद मैंने उसे अपने लंड पर बैठा लिया और उसे उछालने लगा. वो जरा शर्माई मगर मैंने एक-एक करके उसके सारे कपड़े निकाल कर उसे नंगी कर दिया.

न्यू देहाती बीएफ अब मैं उसकी पीठ से चिपक गया और अपने मुँह को उसके कान के पास ले जाकर धीरे से फुसफुसाया- यार लग तो नहीं रही? बता देना. ऐसा क्या जादू कर दिया आपने उन पर?जब वो मुझसे चिपकी हुई थी तो मेरा लंड फुंफकारने लगा.

com/chachi-ki-chudai/dost-ki-bua-sex-story/चलिए, कहानी पर आते हैं।मैं आपको बता दूँ कि यह घटना मेरे साथ दो साल पहले ही घटी है और पायल मेरे एक घनिष्ठ मित्र तरुण की चचेरी बहन है।आशा है कि सभी दोस्तों ने अपने अपने लण्ड को तैयार होने का इशारा कर दिया होगा.

सेक्सी वीडियो चोदी चोदा सेक्सी वीडियो

वो कभी लंड चूसती, कभी जीभ से टोपे को चाटती हुई अपने हाथ से आण्ड सहलाने लगती. मैंने उसके उभार को बड़े प्यार से चूमा और दोनों तरफ से उंगली डाल कर चड्डी उतार कर फैंक दी. वो बोलीं- आप क्या कर रहे थे मेरे साथ?मैं थोड़ा घबरा कर बोला- भाभी मुझे भी नशा सा हो गया था, फिर आपकी बात सुनकर कुछ जज्बाती हो गया था.

आधे दिल की आकार के कान और उनमें छोटी छोटी बालियां, लंबी गर्दन और उसमें एक पतली चैन. मैं बाहर कमरे में बैठकर धीरे धीरे व्हिस्की पीने लगा और सविता किचन में खाना लगाने लगी. दीवार से मुँह चिपका होने के कारण उसकी चीखें बाहर नहीं निकल पा रही थीं.

फिर उसकी क़मर के नीचे दो तकिये रखे और उसकी गांड का छेद ऊपर को कर लिया.

उसने कपड़ा लेकर अपनी चूत और मेरा लंड, जांघें और गांड को साफ कर दिया. उसकी ‘आहह … उम्म्म्म … आहह … उम्म्म्म …’ की आवाज़ मेरी कामुकता की आग में जैसे पेट्रोल लगा रही थी. शिराज को गालियां देकर अब मैं उसे अपमानित कर रहा था और वो हाथ जोड़ कर मेरे सामने घुटनों पर बैठ कर मिन्नतें करने लगा था.

उसने कम से कम 25 मिनट लगातार चोदा, उसके बाद उसने अपना लंड मेरी चूत से निकाला. मेरा परिवार कुछ दिन के लिए गाँव गए थे दादा जी के घर में! वहां ताई की बहू की चूत चुदाई कैसे हुई?दोस्तो, मैं कुणाल हूँ. जैसे तैसे सितम्बर में वाइफ मायके गयी, तब तक चीजें थोड़ा सही हो चुकी थीं.

नेहा भाभी ने बताया कि उनके पति सेक्स में ज्यादा रुचि नहीं रखते हैं. चाची ने इठला कर पूछा- बोलो क्या चाहिए?मैंने उन दोनों की चूत की तरफ देख कर आंख दबा दी.

अब आगे :एक दिन रात को आठ नौ बजे के लगभग किसी ने मेरे फ्लैट की घंटी बजाई. उसने एक कपड़े से अपनी चूत और जांघें पौंछकर साफ कर दीं, फिर मेरे लंड को भी साफ कर दिया. उसका अंडरवियर नीचे खिसकाया, तो उसने खुद ही उतार कर दूर फैंक दिया व टांगें चौड़ी कर औंधा लेट गया.

मैंने मम्मी को पूरी तरह से नंगी कर दिया और खुद भी पूरा नंगा हो गया.

मैं अपने हाथों में उसके दोनों स्तनों को लेकर सहलाने लगा तो देविका सिहर उठी. तभी उसने पहली बार कहा- आह अंकित … अब और नहीं रहा जा रहा है आंह भाई … एक बार मेरे ऊपर चढ़ जाओ … आज मेरी बुर में अपना लंड पेल दो. मैंने उसे पीछे से अपनी बांहों में ले लिया और प्यार करने लगा, उसके दूध दबाने लगा.

वो बोली- अब ये क्या कर रहे हो हर्षद?मैंने कहा- तुम्हारी चूत अन्दर से साफ कर रहा हूँ. मैंने हंस कर कहा- अच्छा ये बात है, ये गीता रहती कहां है?तो नीता ने कहा- हमारे गांव के बाहर उसका बड़ा सा दो मंजिल का घर है.

मौसी मेरे खड़े हुए लंड को जोर जोर से हिलाने लगीं और जब मेरा लंड पूरे जोश में आ गया, तो भला मैं कैसे रुक सकता था. जब तक मेरी नींद खुलती, तब तक वे पूरा लंड पेल चुके थे और शुरू हो गए थे. वो बोला- हो सकता है कि वो सब एक साथ आगे पीछे से करें!मैं अपनी गांड मरवा चुकी थी ये बात मेरे पति को नहीं मालूम थी.

एक्स एक्स एक्स ब्लू फिल्म वीडियो में

उनकी चिकनी जांघें एकदम साफ दिख रही थीं और उनके चूचे आधे दिख रहे थे.

जिस्म की आग तो मेरे अन्दर भी लगी हुई थी और मैंने भी उनको जलाना शुरू कर दिया और मैं जानबूझकर उनके सामने झुककर काम करने लगी, जिससे मेरे बड़े बड़े गोरे दूध उनको नजर आए. माँ भी मजे ले लेकर अपनी गांड को आगे पीछे करने लगी और लन्ड को अपनी चूत के अन्दर लेने लगी. फिर मेरा मायूस चेहरा देखकर मेरे पास आकर बोलीं- बोलो जाऊं?मैंने कहा- मैं कौन होता हूं रोकने वाला?ललिता भाभी हंसने लगीं और बोलीं- अच्छा जी.

लंड का रस एक बार भाभी के मुँह में निकल चुका था तो लंड भी एकदम खूंखार हो गया था. मैंने पूछा- मेन स्विच कहां लगा है?उसने बताया तो मैं मेन बोर्ड के पास आया और मोमबत्ती की रोशनी में देखने लगा. बंगाली ऑंटी सेक्सीउसकी चोटी पकड़ कर तेज तेज लंड को उसकी गांड में पेला और कुछ देर बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया.

अब आगे हॉट लेडी एनल फक़ स्टोरी:हुआ यह कि कुछ दिन बाद उसने मुझे फ़ोन करके बोला कि वह मेरे साथ सेक्स करने को बहुत आतुर है. वो बोली- आज में क्या खराबी है?मैंने कहा- कल मेरे घर के लोग शादी में बाहर जा रहे हैं.

मैंने उसे पीले रंग वाली ब्रा पैंटी दी और कहा- लो इसे पहन कर रूम में आ जाओ. सोनाली मुझे चूमती हुई बोली- हर्षद खुशखबरी तो सबसे पहले तुम्हें ही सुनाऊंगी. मैं दूसरी मंजिल के बाद अपनी छत पर सोया हुआ था और बाजू में नीचे बनी हुई छत पर पड़ोस में रहने वाले भैया और भाभी सोए हुए थे.

वो बोला- हो सकता है कि वो सब एक साथ आगे पीछे से करें!मैं अपनी गांड मरवा चुकी थी ये बात मेरे पति को नहीं मालूम थी. मामी मेरे लिए चाय ले आईं … फिर चाय पानी पीकर मैं ऊपर कमरे में जाकर लेट गया. मैंने यह सब सुनकर उससे पूछा- आज तुम ये सब क्यों बोल रही हो?तो उसने बताया कि उसका पति उसे ख़ुश नहीं रख पाता और उसका लंड भी काफ़ी छोटा है.

वो मुस्कुराकर बोली- बहुत बदमाश हो तुम!मैंने भी मुस्कुराते हुए कहा- तुम आगे देखकर बाईक चलाओ, बाकी मुझे जो करना है, वो करने दो.

बस मैं रोज रात को माँ को खेत पर मुखिया जी और डॉक्टर से चुदते देखता क्योंकि अब माँ को भी सेक्स की लत लग गयी थी. मैंने उसकी गांड मारनी शुरू कर दी और ड्यूरेक्स का स्प्रे उसकी चुत में डालता रहा.

उधर ननद-भाभी डिनर की तैयारी में रसोई में चली गईं और बाहर बैठक में अम्मा बाबूजी बतियाने में मशगूल थे. हमारे परिवारों में बहुत गहरा रिश्ता था जिसके चलते हमारे परिवार वाले आयशा को मेरी बहन मानते थे. उस दुकान पर काम करने वाले एक लड़के को साइड में लिया और उसे कामवाली लड़की की ब्रा पैंटी और कुछ रुपए देकर कहा- इसी साइज की दो मस्त सी ब्रा पैंटी दे दो.

अब उसमें से एक बाबा ने मुझे वहां से अपनी गोद में उठाया और अन्दर कमरे में ले जाकर मुझे लिटा दिया. बेडरूम में मोनिका की चुदास से भरी हुई आवाजें गूँजने लगीं- अहा … आह … राज बस जल्दी से मेरी चूत में लंड डाल दो. मैंने उससे पूछा- आपको मेरा नम्बर किसने दिया?उसने कहा- मैंने भईया के मोबाइल से आपका नंबर लिया है.

न्यू देहाती बीएफ मुझे उसकी बातें सुनकर बहुत मज़ा आता था और अपनी चुदाई करवाने का भी मन करता था. और वीरू ने उसको आवाज लगा दी- अरे चाची, कहां रह गयी? आ जाओ जल्दी यार … बदन दर्द कर रहा है मेरा!वीरू की आवाज सुनते ही वो थोड़ा हड़बड़ा गयी मगर अपने आपको सँभालते हुए बोली- अभी आयी छोटे बाबा, तेल ला रही हूं।दौड़ लगाकर उसने तेल की बोतल उठायी और फिर से वीरू के कमरे में आ गयी.

ट्रिपल एक्स एचडी

फिर मैंने एक मिनट रुक कर सोचा कि इनको पता है शायद … और आग दोनों तरफ लगी है. अब भाभी ने अपनी भाषा बदल दी और अपने पति से बोलीं- तू इधर ही रह … अन्दर सिर्फ हम दोनों जाएंगे. अब संतोष ने मेरी गांड को संभाल लिया और अपने लंड को छेद पर लगाकर आराम से घुसाने लगा.

हम दोनों ने 12 वीं तक एक साथ पढ़ाई की थी और उसके बाद दोनों का साथ छूट गया था. मैं बस छूटने वाली थी तो मोहक ने कहा- डेज़ी, सारा पानी निकाल दूँ तेरी चूत के अन्दर?मैंने कहा- हाँ भर दो मेरा कुआं अपने पानी से!फिर हम दोनों ने एक दूसरे को कस कर पकड़ लिया और दोनों का पानी छूट गया।हम दोनों एक दूसरे को कस कर पकड़ के सो गए।फिर शाम को उठकर नहाने गए. सेक्सी वीडियो प्ले वाली फिल्मवो मास्टर भाभी की चूचियां मसलते हुए बोला- क्यों भाभी, आपके पति का लंड काम का नहीं है क्या?भाभी बोलीं- हां, एक तो मेरे पति का लंड छोटा सा है और वो यहां ज्यादा रहते नहीं हैं, जिस वजह से मेरी चूत में काफी खुजली हो रही है.

मैंने कहा- गलती मेरी है, मुझे कुंडी लगानी चाहिए थी, लेकिन मुझे लगा कि यहां तो मैं अकेला ही तो हूँ, इसलिए नहीं लगाई कुंडी.

मैंने अनीशा से पूछा- इरादा क्या है?तो वो बोली- चलो चंडीगढ़ चलते हैं. वो मेरा सर अपनी चूत की तरफ दबा रही थीं और आह आह कर रही थीं- अहह उफ्फ मेरे राजा … चाट लो मेरी बालों वाली चूत को … आह मेरी जान उफ्फ रुकना मत!मैंने भाभी की चूत को एकदम से साफ़ कर दिया था.

अब अर्चना दीदी कमर उठा कर महंत के हर धक्के का जवाब देने लगी थीं और हर बार लंड से धक्का मारने पर वो थोड़ा ऊपर को हो रही थीं. सना ने ये देख लिया और उसने मुझसे कहा- ऐसी गुस्ताखी क्यों … आप हमसे मांग लें, हम खुद ही आपको अपनी बेहतरीन अदाकारी दिखा देंगे. मैं कॉलेज टाइम से ही अन्तर्वासना का पाठक रहा हूँ लेकिन आज पहली बार मौका मिला है तो मैं भी इस चर्चित साईट पर कुछ लिखने का प्रयास कर रहा हूँ.

मैंने चुपके से अपने गाउन का फीता खोला तो गाउन नीचे गिर पड़ा और मैं उसके एकदम नंगी हो गयी.

अब मुझे पता लगा कि अमन पहली बार में ही इतना लंबा कैसे चोदे जा रहा है।मैं- तुम लेट जाओ और मैं तुम्हारे ऊपर आ जाती हूँ. मैं समझ गया कि चूत चिर चुकी है और अब मेरे सनसनाते हुए लवड़े को चूत में डालने की बारी आ गई है. लेटने के बाद उसने कुछ पल इन्तजार किया और अपने हाथ बढ़ा कर मेरे मम्मों को धीरे धीरे से दबाने लगा.

नंगी सेक्सी गर्ल्सहमारी ये बातचीत चलने लगी और हम दोनों वीडियो चैट करते हुए एक दूसरे को अपने जिस्म दिखाने लगे. कहानी के पहले भागरिश्तेदारी में आई कमसिन लड़की से दोस्तीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने रीतिका से गले लगने के लिए कहा, तो वो शर्मा गई.

भोजपुरी गाना वाला सेक्सी वीडियो

इसी जोश में मैंने नीचे से अपनी गांड उठाकर जोर का धक्का मारा तो पूरा लंड रेखा की चूत में गहराई में जा चुका था. दोस्तो, सविता के बारे में मैं सब कुछ जान चुका था कि वो अकेली रहती है और उसे सेक्स काफी पसंद है, इसलिए तो वो अमित के अलावा कई मर्दों के साथ सेक्स करती थी, जिससे उसका तलाक हुआ. एक दिन मैंने उनसे भईया के बारे में पूछा, तो वो मुझे बताने लगीं कि वो अक्सर अपने काम में व्यस्त रहते हैं और महीने में दो तीन बार ही घर आ पाते हैं.

तो दोस्तो, कैसी लगी आपको मेरी देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी?मुझे लगता है लड़कियों ने तो रात को पढ़कर अपनी चुत में उंगली की होगी और लड़कों ने भी अपना लंड हिलाया होगा. मैडम ने जो कागजात दिखाए, उन कागजों से मैं पूरी तरह से संतुष्ट नहीं था. मैंने बोला- कैसे?समीर ने कहा- कल मेरे घर पर कोई नहीं है, तो तुम सर को मेरे घर बुला लेना.

हमारे इसी जोश के कारण हमें हमेशा ही हॉट वाइफ फ़क का उतना मज़ा या उससे ज्यादा मज़ा आता है, जितना पहली बार आया था. लंड की मालिश करती हुई वो मेरे सामने सोफ़े पर बैठी थी और मैं उसके सामने खड़ा था. मैं अपने घुटनों के बल आ गई और जोर जोर से उसके लंड को मुँह में गले तक लेकर चूसने लगी.

लेकिन एक बात है कि सिर्फ हम दोनों जा रहे हैं, साथ में और कोई नहीं है. शब्बो सिसकारने लगी- आआह वीरू, और रगड़ अपनी चाची की गांड … मसल दे जोर से!बोलते हुई शब्बो ने लाज शर्म किनारे रख वीरू का लौड़ा उसके शॉर्ट्स के ऊपर से मसलना चालू किया।आख़िरकार दोनों के जिस्म को हवस की आग अपने लपेटे में ले चुकी थी.

रेशमा ओपन सेक्स का मजा लेती हुई बोली- आअह हह वीरूउउ जीईईई इस्स चाटो मेरे शेर, खा जाओ अपने रंडी की चूत … आज तो मैं ख़ुद आपको सड़कछाप रांड बनकर दिखाऊंगी मेरे बलमा जी … उफ्फ मेरी फुद्दी की खुजली मिटा दो मेरे सनम!रेशमा के मुँह से सड़क छाप रंडियों वाली भाषा सुनकर मुझे भी अब पक्का यकीन हो गया कि ये आज सच में किसी दो कौड़ी की लावारिस सड़कछाप कुतिया की तरह चुदने के लिए तड़प रही है.

मिहिका बोली- वो तो मने भी पता है … पर डर लागे है … कदै किसी को पता चल जाए और बदनामी हो मेरी. मर्द वाला सेक्सी वीडियोस्कूल के बाद हमारी बातें अब एक-दूसरे से कम होते होते एक ऐसा टाइम आया, जब हमारे बीच बातें बंद ही हो गईं. देहाती सेक्सी सुहागतीन भाभियाँ, शादी के पहले की कहानियाँमैं आपको एक सच्ची नेकेड सेक्सी गर्ल चुदाई कहानी सुना रही हूँ. इस वक्त उसने एक बिल्कुल टाइट फिटिंग का सफेद सूट पहन रखा था और नहा धोकर बालों की चोटी बनाकर आयी थी.

चलते समय उसके स्तन ऊपर नीचे हो रहे थे और गांड भी ऊपर नीचे हो रही थी.

जब गांड साफ करके दोस्त के पास आया और पैंट पहनने लगा, तो दोस्त ने पहनने नहीं दी. थोड़ा सा थूक अपने लौड़े के सुपारे में लगाया और चुत में एक धक्का मारा, जिससे मेरा आधा लंड भाभी के चूत में चला गया. हालांकि उम्र में वो मुझसे आधी ही थी लेकिन फिर भी वो मुझे बहुत पसंद थी और मैं उसे किसी भी तरह से पाना चाहता था.

उसने गिलास खाली कर दिया और बोली- एक पैग और लाकर दे सकते हो?मैं बाहर आया, तब तक रुचिका पीने में व्यस्त थी. ’सर ने कंधे पर टांगें रख कर चूत पर लंड सैट कर दिया और एक झटके में डाल दिया. अब आगे हिंदी गांड सेक्स कहानी:मैंने भी अपनी कमर को थोड़ा आगे पीछे किया, तो उसने लंड उगल दिया.

देशी सेक्स वीडियो

इतना कहते ही मैंने उन्हें बिस्तर पर लिटा दिया और होंठों को चूसने लगा, उनकी दोनों चूचियों को मसलने लगा और ब्लाउज खोल दिया. उसकी मादक, शर्मीली मुस्कान, नागिन जैसी चाल और जिस्म का कटाव देखकर कोई भी उस पर फिदा हो सकता था. रूना ने भी अपनी दोनों टांगें ऐसे फैला दीं जैसे वो मुझे अपने में समा लेने के लिए बिल्कुल तैयार थी.

मैडम की चूत इस वक्त इतनी सुंदर और चिकनी थी कि मुझसे खुद भी नहीं रुका जा रहा था.

उसने मेरी तरह देखा और स्माइल करती हुई बोली- कैसा फ़ायदा?मैंने कहा- ये तो तुम भी समझ रही हो … बाक़ी जैसा फ़ायदा तुम चाहो, मैं दे सकता हूँ.

खैर … मैं चाय पीकर उसका इंतजार करता रहा कि कब वो कप उठाने आए तो एक नजर भर कर उसका दीदार और कर लूं. मौके का फायदा उठा कर मैं अपने लंड को धीरे धीरे गांड में आगे बढ़ाने लगा. सेक्सी मूवी चीन कीवो मुझे गाली देते हुए बोला- साली रंडी … मेरे होते हुए उसका लंड भी लोगी क्या?मैं बोली- पहले उसे ले तो आओ आप, फिर बात करते हैं ओके.

शायद आयशा को भी मजा आ रहा था जिस वजह से उसके मुँह से ‘आह आह …’ की आवाज निकलने लगी. मैं जान रही थी कि मेरे देवर की नज़र गांड से चड्डी ठीक करते हुए मुझ पर पड़ी होगी और उसने मेरी गांड को गौर से देखा होगा. कुछ देर बाद उसने लंड मुँह से निकाला और अपनी चूचियों पर बारी बारी पीटने के बाद अपने निप्पलों को नत्थूलाल के फटे सिर पर रगड़ने लगी.

वो और जोर से मादक सिसकारियां लेने लगी- ओह आह स्ह ऊंई हर्षद … काश मेरी शादी तुम जैसे रोमांटिक, गठीले बदन वाले हैंडसम और मोटे लंड वाले मर्द से हुई होती. नहीं तो अब मालिश करते समय यह खराब हो जाएगी।मैं- हाँ, सही कहा। मैं थोड़ी ऊंची होती हूँ और तुम मेरी साड़ी को पेटिकोट से निकालकर साइड में रख दो।अमन ने पेटिकोट से साड़ी निकालते वक़्त जानबूझकर अपनी अंगुलियां मेरी चूत के ऊपर वाले हिस्से से टच करवा दी।मैं- आ आह आह!अमन- क्या हुआ चाची?मैं- कुछ नहीं!उसने साड़ी को खींच के निकल दिया.

फिर मेरी ओर इशारा करके बोले- आपने परमीशन दे दी थी कि अब डाल दिया है तो काम कर लें.

मैंने उसकी टांगें चौड़ी की और देखा कि सामने एकदम गुलाबी और चिकनी चूत नम हुई पड़ी थी. नीता अपने मुँह से मादक सिसकारियां लेती हुई बोली- और जोर जोर से धक्के मारो हर्षद … बहुत मजा आ रहा है. मैं कसम खाता हूं कि आपकी चूत में उंगली के अलावा और कुछ नहीं डालूंगा.

देवर भाभी की चुदाई वीडियो सेक्सी हिंदी ये बोल कर मैंने सुमैत्री को अपनी बांहों में भर लिया और सुमैत्री को अपने बराबर लेटा लिया. कुछ देर बाद मैसेंजर पर उसका मैसेज आया ‘आपका क्या मतलब है?’मैंने रिप्लाइ किया कि कैसा मतलब?उसने कहा- आपने कमेंट किया है कि पूरी तरह ठुकाई नहीं हुई, उसका क्या मतलब है?मैंने कहा- ओह … तो आप इसका मतलब पूछ रही हैं … या ठुकवाना चाहती हैं?उसने कहा- मतलब पूछ रही हूँ … ये ठुकवा ठुकवी क्या है, मुझे पता नहीं है?मैंने बताया- आपकी ढंग से चुदाई नहीं हुई, इसको एक भाषा में ठुकाई भी कहते हैं.

लंड अन्दर जाने के बाद मैंने थोड़ी देर झटके नहीं मारे, यूं ही रुका रहा. थोड़ा सा थूक अपने लौड़े के सुपारे में लगाया और चुत में एक धक्का मारा, जिससे मेरा आधा लंड भाभी के चूत में चला गया. उसके मम्मे चूसने के साथ साथ कभी मैं उसके एक निप्पल को मुँह में भरकर चूसने लगता तो कभी दूसरे वाले को.

இந்தியன் ஆன்ட்டி செக்ஸ்

इसके बाद उसने अपना हाथ हटा लिया और अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ पकड़ लिए, मेरे एक दूध को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. सोनाली ने झड़ते ही मुझे अपने ऊपर चिपका लिया और साथ में अपने दोनों पैरों से मेरी गांड को कस लिया, मेरे लंड का दबाव वो अपनी चूत पर बनाए रही. मेरे कहने पर वो सच में किसी गुलाम की तरह घुटनों पर रेंगती हुई मेरे पास आने लगी और मैं उस नंगी रांड रेशमा को देख कर और गर्माने लगा.

उसने कहा- मेरी धड़कनें सुनो, इतनी हिम्मत जुटानी पड़ी यहां आने के लिए. उसे थैंक्यू बोल कर मैं बेसमेंट में बने ड्रेसिंग रूम में पहुंचा लेकिन वहां कोई नहीं था.

उस दिन के लिए मैंने अपनी चूत की साफ़ सफाई की; अपने जिस्म को पार्लर में जाकर चिकना करवाया.

मुखिया जी को खुश कर देगी तो तेरी और तेरे परिवार की सारी परेशानी खत्म हो जाएगी. लेकिन एक बात है कि सिर्फ हम दोनों जा रहे हैं, साथ में और कोई नहीं है. गीता नीता से बोली- बाथरूम में जाकर कपड़े बदल लो और मेरी नाईटी पहन लो.

लेकिन रूना की चूत बिल्कुल गुलाबी थी और बिल्कुल भी फटी हुई नहीं लग रही थी. वो मेरी मामी की तरफ देखती हुई धीरे से बोली- बड़े कमीने हो … पता ही न लाग सका मने …तभी मामी कुछ काम से अन्दर चली गईं. अब जब भी वो घर आती … और मामी नानी के पास बैठती, तो मैं भी वहीं आ जाता और उसे देखता रहता.

आपके गाल कश्मीरी सेब जैसे लाल हैं, गुलाब की पंखुड़ी जैसे होंठ, एकदम लाल लाल रस से भरे … और आपकी वो …’ये कह कर मैं चुप हो गया.

न्यू देहाती बीएफ: मैं- कैसी मदद भाभी!भाभी ने खुल कर कहना शुरू कर दिया- बाबू, तुम्हारे भैया ने मुझे एक साल से नहीं चोदा हैं, मैं बहुत अकेली हूँ. फिर मैंने सुपारे तक लंड बाहर निकाला और मुँह से लंड पर थूक छोड़कर हाथ से लंड को लबालब कर दिया.

क्या पता तकदीर लिखने वाले ने उसके नसीब में क्या लिखा है?”नीता बोली- हां हर्षद, ये सच है नसीब के आगे हम क्या कर सकते हैं. उसके बाद जब अंकल घर के अन्दर आए, उन्होंने मुझे मेरी नंगी बांह पकड़ कर मुझे उठा कर सामने खड़ा कर लिया. मैंने कॉर्नर की टिकट्स ले लीं और पॉपकॉर्न और कोक लेकर अन्दर चले गए.

फिर फ़लक उंगली को खुद चूस कर बोली- कैसी लगी … बताओ?मैं भी मुस्कुराकर बोला- टेस्टी से भी ज्यादा टेस्टी.

”मैंने कहा- जैसे?सरिता- पांच साल के पहले उनके पति का बाईक से एक्सीडेंट हो गया था. कुछ ही देर में मैंने उसकी चुत में अपनी दो उंगलियों को एक साथ डाल दिया. कुछ देर बाद ऊपर वाले बाबा ने मेरे मुँह से अपना लौड़ा निकाला तो मुझे राहत सी मिली.