हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

देवर और भौजाई का सेक्सी: हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में, मैंने मुठ पूरी भी नहीं मारी और माल निकाले बिना ही मैं नहाकर बाहर आ गया.

सेक्स सेक्स बीएफ भोजपुरी

हसित रीना के दोनों पैरों को खोलते हुए कहने लगा- अब अपनी झील दिखा दे रीना रानी. बीएफ चोरी वालामैंने उनकी ‘आह उन्ह …’ को अनसुना करते हुए अपना पूरा लंड एक ही बार में पूरा पेल दिया.

फिर मैंने उसके होंठों को पीना शुरू कर दिया और मुझे वो मजा आया, जो आज तक किसी के साथ नहीं आया. 16 साल की लड़की की सेक्सी बीएफ वीडियोहसित ने रीना का पेटीकोट ऊपर करना शुरू किया तो रीना ने अपने एक हाथ से पेटीकोट नीचे कर दिया.

थोड़ी देर बाद मैंने जब देखा कि लोहा गर्म हो गया तो मैंने अब हथौड़ा मारा और कहा- भाभी आप कब आई?तो उन्होंने कहा- जब तुम चुदाई की कहानी पढ़ने में व्यस्त थे, तभी मैं आ गई थी.हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में: मैं भी पूरा लंड सुपारे तक बाहर निकाल कर उसकी चूत में धक्के पर धक्के लगाए जा रहा था.

मैंने उन्हें गर्दन पर किस किया तो वो भी मस्ती में आ गईं और उन्होंने मेरी जींस की जिप पर हाथ रख दिया.मैं बोला- मतलब?वो बोली- अरे भाई मच्छर कितने ज्यादा हो गए हैं … सारी रात काटते हैं, ये उन्हीं के काटे के निशान हैं.

बीएफ सेक्सी पिक्चर नेपाली - हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में

मैं उस चोली में क़ैद होने वाले चूचों को सोचते हुए बाथरूम में घुस गया और अपना लंड चोली में लपेट कर हिलाने लगा.अभी दस मिनट पहले मेरी चूत में इसने तूफान मचाया हुआ था और अब फिर से तैयार हो गया है.

इस पर हर्ष ने भी मुस्कुरा कर कहा- नो प्रोब्लम।नेहा ने अपनी चम्मच हर्ष की ओर नीचे गिरा दी।हर्ष उसे उठाने नीचे झुका तो नेहा ने टांगें और चौड़ा दीं।नीचे का नज़ारा देख कर उठने में हर्ष को कुछ सेकंड ज्यादा ही लग गए।नेहा हर्ष की ओर देख कर मुस्कुरा रही थी।अब हर्ष ने भी अपने पैर से नेहा का पैर सहलाना शुरू कर दिया।राजीव को लगा कि नीचे कुछ गड़बड़ है, वो किसी बहाने से नीच झुका तो उसे लगा कि उसे वहम हुआ है. हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में फच फच की आवाज के साथ लंड को चूत में आने जाने में सुगमता होने लगी थी.

वो खुद भी अपनी मॉम के साथ हॉस्पिटल में रुकी थी तो पहले दो दिन कुछ नहीं हुआ.

हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में?

मैंने तुरंत फिर लौड़ा उसकी चूत में डाल दिया और ताबड़तोड़ चोदने लगा और लगभग 5 मिनट बाद उसने पानी छोड़ दिया और मैंने भी अपना पानी उसकी चूत की गहराई में छोड़ दिया।फिर कुछ देर वैसे ही लेटे रहे; फिर नहाकर बाहर आये और हमने अपने अपने कपड़े पहने।एक दूसरे को किस किया और वापस मिलने का वादा करके मैं उसको बस स्टैंड छोड़कर अपने रास्ते चला गया. ससुर जी बाथरूम से निकलने के बाद मैं वापस बाथरूम में गयी और मैंने वही पाया जो मैंने सोचा था. फिर मैंने उनकी चूत पर लंड सैट किया और एक ही झटके में लंड अन्दर पेल दिया.

अब इन दोनों मस्त माल में से कौन मेरे लंड के नीचे पहले आती है, इसका जिक्र मैं अपनी इरोटिक सेक्स रिलेशन की कहानी के अगले भाग में करूंगा. अबकी बार उसने हाथ नहीं हटाया और मेरे लंड को मेरी ट्रैक पैंट के ऊपर से ही सहलाने लगी. मैं उस वक्त मुठ मारना चाहता था मगर फिर सोचा आज कैसे भी करके कुछ करना है.

उसके अन्दर हाथ डालकर मेरी चूत को सहलाने लगा और वो अब मेरे ऊपर चढ़ गया, मुझे किस करने लगा. फ्लाइट में बैठते ही फूफा जी ने मुझे बताया कि उनका दिल्ली में काम सिर्फ 2 या 4 घंटे का है, उसके बाद वह फ्री हो जाएंगे. मैंने चुत में लंड को डाले रखा, फिर लंड खुद ही बाहर आ गयाहम दोनों ने एक दूसरे को चिपकाया और लेट कर किस करते रहे.

चूंकि मेरी दीदी मुझसे सब कुछ बिंदास बता देती हैं, तो उस रात भी उन्होंने बिना संकोच के मुझे फोन पर बता दिया कि इस समय तेरे जीजाजी मेरे ऊपर चढ़े हुए हैं, तो तू अभी फोन रख … हम कल बात करते हैं. भाभी की शादी के लगभग डेढ़ साल हो चुके हैं पर उनकी चूत को देखकर लग रहा था कि मानो वो अभी कुंवारी हो।उनकी चूत पर एक भी बाल नहीं था शायद उन्होंने आज ही बाल साफ किए थे.

मैंने उसे बुलाया तो वो थोड़ा गुस्से में बोली- कहां रह गए थे, मैं कब से वेट कर रही हूँ.

करीब दो मिनट तक दूध मर्दन करने के बाद वो मस्त हो गई और मेरे बाल सहलाने लगी.

कुछ देर बाद मैंने अपने मोबाइल से विलास को फोन लगा कर पूछा- यार विलास, तुम कब तक आ रहे हो, मुझे बड़ा बोर लग रहा है यार. उस लड़की का नाम शिल्पा था और वो भाभी की कोई रिश्तेदार थी, जो कि मुझे बाद में पता चला. वो राजी हो गईं, मगर उनका मन ये था कि लंड चुत से बाहर नहीं निकलना चाहिए.

मैंने कहा- मेरा रस आने वाला है भाभी!भाभी ने कहा- बाहर निकालना वरना बच्चा हो जाएगा. निशा बोली- ओह तो तू ये सब देखता है?मैंने कहा- क्यों कोई गलत है क्या? जब तुम हो ही इतनी मस्त, तो देखना तो बनता है न यार!निशा हंस दी और बोली- चल मैं तेरा काम करूंगी, पर तुझे भी मेरा एक काम करना होगा. उन्होंने मुस्कुराते हुए मेरे लंड को देखा और कहा- अब बताओ कि अब क्या सामान्य है और क्या असमान्य है.

मुझे बहुत गुस्सा आया और थोड़ा कड़क आवाज में बोला- क्या यार ऐसा क्या हो गया?भाभी- तुम्हारा लंड बहुत मोटा और बड़ा है.

उसके बाद उसने मुझे सामने की तरफ झुकाया और मेरे हाथों को टेबल पर रख दिया. जब देर होती दिखी तो मैं बाथरूम के दरवाजे पर गया और मैंने दरवाजा खटखटाया. जब वो झुक कर झाड़ू लगातीं या साफ सफाई करतीं, तब मुझे गहरे गले वाले ब्लाउज में से उनके बूब्स के दर्शन हो जाते थे.

उतना सब होने सेटीचर का लंडएकदम बम्बू बन गया था और वो गर्म भी था जो मैं महसूस कर रही थी. अब मुझे बेड पर लिटा कर आंटी मेरे ऊपर आ गईं और लौड़े को चूत पर सैट करके एक ही झटके में सीत्कार के साथ पूरा चूत में निगल लिया. मॉम हांफती हुई बोलीं- बेटा बहुत देर से मैं तुम्हें देख रही हूं, तूने जो आग लगाई है … अब तुम ही उसे बुझाओगे.

मैं ज्यादा देर तक नहीं रुक पाया और दो मिनट में ही मैंने उनके मुँह में पानी छोड़ दिया.

उनके गोरे रंग के चूतड़ और बड़े बड़े चुचे देख कर मैंने अपना लंड पैंट से निकाल लिया और उन्हें देख कर मुठ मारने लगा. उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा- क्या रोज़ ही हाथ से हिला लेते हो?मैंने कहा- हां.

हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में मम्मी पूछ रही थीं- क्या कर रहे हो … पढ़ाई कर रहे हो कि नहीं?मैंने कहा- हां मम्मी मैं फिजिक्स पढ़ रहा हूँ. इतना बोल कर उसने थूक लगा कर अपना लंड मेरी गांड पर रखा और धक्का दे दिया.

हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में मैं अपने फ्रेंड के घर पहुंचा और वहां हम दोनों दोस्त लौडियों की बातें करने लगे. भाभी मैं आपकी पीठ पर कैसे साबुन लगा सकता हूँ?भाभी बोलीं- अरे वो सब मैं बता दूंगी कि कैसे साबुन लगाना है.

अंकल का काला लंड, उसके ऊपर लाल टोपा और थोड़ी सी उसमें से आने वाली मादक महक मुझे बेकाबू कर रही थी.

मोटू पतलू की जोड़ी सेक्सी

मैं- नहीं दीदी, रात में पढ़ना होता है इसलिए इस टाइम कम ही खाता हूं. इधर इस सबको लिखने का सबब ये था कि मैं अपनी बीवी के इस प्यार की वजह से एक अति कामुक आदमी हो गया था. इतना कहकर उसने लंड मुँह से निकाल दिया और सुपारे पर गोल गोल अपनी जीभ घुमाकर नीचे नीचे आने लगा.

फिर एकदम से उसकी चूत से पानी निकला और एक लम्बी आह्ह … के साथ दीदी शांत होती चली गयी. हॉर्नी गर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि जवान होते ही एक सेक्सी लड़की को लंड लेने की जल्दी हुई. क्योंकि ऐसा करने से उसे लगता था कि वो अपनी वाइफ को धोखा देने जैसा काम करेगा था.

मैंने उससे कहा- यार, इतना महंगा गिफ्ट देने की क्या जरूरत है?तो उसने मुझसे कहा- जान, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं.

मैंने मॉम को बेड पर लिटा दिया और उनके बूब्स ऐसे पीने लगा जैसे कोई छोटा बच्चा पीता है. मैंने अंकल के लंड को मुँह से बाहर निकाला और अंकल को सीट में आकर बैठने को कहा. वो सोच रही थी कि इसे उन पिल्स का नशा हुआ होगा तो देर तक सोया लेकिन मैं मन में सोचकर बोल रहा था कि दीदी मुझे आपकी लाइव चुदाई देखने का नशा चढ़ा था, जिस वजह से देर से उठा.

मुझे नींद ही नहीं आयी रात भर!भैया और भाभी सुबह 8 बजे गांव के लिए निकल गए, तब जान में जान आयी. चाची बोलीं- ये सब कब से देख रहा है तू!मैंने कहा- चाची मैं कभी कभी देख लेता हूं … सॉरी मैं इनको डिलीट करना भूल गया. सरिता कसमसा रही थी और जोर से मेरे लंड पर गाउन के ऊपर से ही अपनी चुत रगड़ रही थी.

मैंने अपने लंड को भी हिला कर खड़ा कर रखा था ताकि दीदी को मेरा लंड फुल साइज़ में बड़ा दिखे. मेरी मौसी की लड़की ने मुझसे पूछ लिया- तू भी अपनी गर्लफ्रेंड को ऐसे ही किस करता है ना!पहले तो मुझे अजीब सा लगा लेकिन मैंने सोचा कि आजकल तो सब साधारण बात है, तो मैंने उससे कहा- नहीं तो.

संभव ने कहा- हां क्यों नहीं … मुझे तो हफ्ते में कम से कम दो बार बिना सेक्स किए रहा ही नहीं जाता है. अभी तक जब से हमने सब शुरू किया था, एक भी बार कुछ भी नहीं बोला था, ना ही इशारों से समझाया था. कुछ देर तो वो बेजान रही मगर जैसे जैसे वीरू ने बिना रुके उसकी गांड का छेद फाड़ना चालू किया तो उसकी तड़प सामने आने लगी।शरीर में बची कुची ताकत लगाकर वो अपने आप को छुड़ाने की कोशिश करने लगी.

भैया को भाभी ने फोन करके पूछा- आप कब तक आओगे?तो भैया ने बोला- आज मुझे घर आने में कुछ ज्यादा देरी हो जाएगी, हॉस्पिटल में मरीज ज्यादा हैं.

तभी दीदी आयी और बोली- आइये जीजा जी … कैसे हो आप!मैं समझ गया कि ये कौन है और क्या करने आया है. मैंने उससे कहा- यार, इतना महंगा गिफ्ट देने की क्या जरूरत है?तो उसने मुझसे कहा- जान, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं. उनमें से एक था रवि!हम दोनों का एक दूसरे से साथ कुछ ज्यादा ही लगाव बढ़ गया था.

वो अपनी दोनों जांघों को इतना टाइट कर लेती, जैसे उसकी चूत में से कोई बाढ़ आने वाली हो, जिसे वो रोकना चाह रही हो. हम दोनों पुरानी यादें ताजा करने लगे; बहुत सारी बातें एक दूसरे से साझा करते रहे थे.

शिवम पीछे से बोला- लाइव देख रहा हूं बहन को चुदती हुई!विवेक बोला- मेरी बहन का भोंसड़ा बना रहे हो और मुझे तो लाइव दिखा रहे हो!लूसी बोली- दोनों भाई बहनचोद हैं और दोनों बहनें भाई का लन्ड लेने के शौकीन है. मैंने पूछा- मुन्ना कहां है?भाभी बोलीं- उसकी टेंशन न ले, वो सो गया है. रेणु मेरे दोस्त की सैटिंग थी तो मेरे घर आ गई और वो दोनों मेरे घर में दूसरे कमरे में जाकर बातचीत करने लगे.

बॉलीवुड की हिंदी सेक्सी फिल्म

दीदी के इन शब्दों ने ही मेरे लंड में आग लगा थी और मुठ मारने के बाद ही मुझे शांति मिली थी.

नाटक में मोहिनी और सोनम वेश्या के समान सज गईं, रवि उनका दल्ला बन गया. फिर मैं उसके मम्मों पर आ गया और टीना की टी-शर्ट के ऊपर से ही उसके मम्मे चूसने लगा. कुछ समय बाद उसने राहत महसूस की और मुझे और अपनी बहन को देखकर मुस्कुरा उठी.

खैर … मैं उस हादसे में अस्पताल में भर्ती हो गया था और बारह दिन तक हॉस्पिटल में रहा था. फिर एक दिन उसका फोन आया और बोली- अब तो आपको मेरी याद भी नहीं आती है?मैंने कहा- बात करना तुमने बंद किया है, मैंने नहीं!इस तरह से हमारी फिर से बात होने लगी और मैं अक्सर उससे उस रात वाली बात छेड़ देता और वो चुप हो जाती. गुजरात सेक्स बीएफफिर मैं तेजी से दीदी के मुंह को लंड से चोदने लगा और मेरा माल भी दीदी के मुंह में गिरने लगा.

उन्होंने मुझे मोबाइल की लाइट बंद करने को कहा कि पहले अपने मोबाइल की मेरी आंखों में चुभ रही है. फिर मैंने उनकी आंखों में नशीले अंदाज से देखा, तो आंटी ने आंख दबा दी और बोलीं- अच्छा ये बताओ क्या पियोगे?मैंने उनके दूध देखते हुए कहा- दूध.

चूंकि प्रियंका की मचलती जवानी की तरफ नगर के कुछ मादरचोद लोगों की नजर भी गड़ी हुई थी और वो सब भी उसकी चुत फाड़ना चाह रहे थे. चूत और लंड इस रगड़ के खेल को ऐसे खेल रहे थे मानो कोई बहुत बड़े खिलाड़ी हों. भाभी बोलीं- रुक क्यों गए … करो करो!मैं श्रुति की चूत में फिर से धक्के लगाने लगा पर मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से चिपका कर रखा और श्रुति की चूत में धक्के लगाता रहा.

जैसे ही मैंने अपना माल भाभी की चूत में गिराया, मैं थक कर भाभी के ऊपर के ही लेट गया. कुछ देर बाद हनी बोला- प्लीज़ सोहल … थोड़ा रुक जाओ यार … मेरी टांगें दर्द होने लगी हैं. एक दिन दोपहर में मैं उनसे बात कर रहा था तो उन्होंने उसी बात पर ताना मार दिया कि तुम उस दिन आए नहीं तुम पर क्या भरोसा करूं.

अगर मेरी बहन इसे देखेगी, तो वह क्या सोचेगी?इस पर मैंने जवाब दिया- यह अच्छा होगा यदि वह इसे देख लेती.

वो बोले- अब अपनी साड़ी तो उतार दे, सब कुछ हो गया लेकिन साड़ी नहीं उतरी. इतना कहने पर मैं अब सरिता की चूचियां चूसने लगा और लंड का दबाव चुत पर डालने लगा.

यह देसी चाची की चुदाई हिंदी कहानी मेरे जीवन की सच्ची सेक्स घटना है. मैंने भी भाभी को अपनी बांहों में भींचते हुए कहा- मैं इस पल का पांच साल से ज्यादा इंतजार किया है. अब मुझे भी रहा नहीं गया तो मैं अपने हाथों से उसका सर सहलाने लगा और लंड पर उसके सर का दबाव डालने लगा.

मामी का बदन कांप रहा था जबकि मैं महसूस कर रहा था कि मैं किसी गद्दे से लिपटा हुआ हूँ. चूत का पूरा रस चाटने के बाद भैया ने अपना मुँह ऊपर उठाया तो उनकी आंखें वासना से एकदम सुर्ख हो गई थीं और मुँह पर भाभी की चूत का माल जहां तहां छपा हुआ था. वो लड़का मेरी गांड में ताबड़तोड़ धक्के लगाने लगा, उसके हर एक धक्के से मेरी हल्की चीख निकल रही थी.

हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में जिया दीदी- अच्छा, तो बस ये ही करना है क्या!मैंने कहा- नहीं, वो भी करना है. तब भाभी ने धीरे धीरे करके लंड अन्दर डाल दिया और मेरे सीने पर हाथ रख कर अपनी कमर हिला हिला कर लंड को चूत में रगड़ने लगीं.

लोकल सेक्सी लड़की

उन्होंने मुझसे पूछा कि अभी क्या पहन रखा है?मैंने उनसे बताया कि पिंक कलर की नाइटी. मैं कमरा छोड़ कर जाने को तैयार हुआ पर उसी दिन शहर में फिर से तीन दिन का लॉकडाउन लग गया. रात को करीब 11 बजे अंगिका मुग्धा को तैयार कर के ले आयी, उसने लहंगा पहन रखा था बिल्कुल दुल्हन की तरह!मैंने मुग्धा का घूंघट उठाया और उसे प्यार करने लगा.

माँ बेटे की चुदाई हिंदी में पढ़ें इस कहानी में! मेरी माँ मेरे ताऊ के बेटे से चुदवाती थी. कुछ देर बाद सोहल ने तेज़ झटके देने शुरू कर दिए थे, वो अब झड़ने को हो गया था. राजस्थान बीएफ पिक्चरमेरी पीठ अंकल के मुँह की तरफ थी तो अंकल चोदते चोदते मेरी पीठ भी अपनी जीभ से चाट रहे थे.

उसमें उसकी एक फ़्रेंड की वाट्सअप चैट खोल कर देखी, तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गईं.

मैं उसके एक मम्मे को मुँह में लेकर चूसता और दूसरे मम्मे को हौले से दबा देता. फिर देसी बहन चुदाई की तमन्ना को दिल में दबाए बड़े बुझे मन से मैं वापिस नीचे आ गया.

हमारी कहानी में एक नया मोड़ आ गया था अनिकेत भैया अब मेरे चूतड़ों के दीवाने हो चुके थे. बीच-बीच में वो मेरे चेहरे को भी छू लेते थे और मेरी गर्दन पर अपना सर भी रखते थे लेकिन मुझे फूफाजी होने के कारण किसी प्रकार का कोई संदेह नहीं हुआ और मैं उनके साथ फ्री होकर बातचीत करने में लगी रही. उसने मुझसे मेरे बारे में सब कुछ पूछा- क्या करते हो, कितनी उम्र है, कितनी जीएफ हैं.

मैं उन्हें चुदाई में तल्लीन देख रहा था और साथ ही अधखुली आंखों से ऐसा दिखा रहा था कि मैं सो रहा हूं.

मुझे भी अपने लंड पर चाची की कसी हुई चुत की जकड़न को रगड़ने में बहुत मजा आ रहा था. मेरा दर्द देख कर अब फूफा जी थोड़ी देर के लिए रुक गए और उन्होंने मेरे आंसू पौंछे, मेरे बालों को सहलाते हुए कुछ देर इंतजार किया. इतना कहकर उसने मुझे अपनी बांहों में भर कर मेरे गालों पर बेतहाशा चुम्बनों की बौछार कर दी.

सेक्सी बीएफ फिल्म हिंदी में सेक्सीकुछ देर बाद मैं पूरी तरह तैयार हो चुकी थी और आईने में खुद को देख रही थी कि तभी फूफा जी अन्दर आ गए. अपनी ये आपबीती भाभी ने जब मुझे बताई तो मुझे अपने आप पर काफी शर्म महसूस हुई.

भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी चुदाई

रात को मेरे सोने का इन्तजाम मेरे भाई की दो सालियों के साथ किया गया था. जैसे ही उसने मुँह खोला, मैंने उसमें थूक दिया और मुँह से मुँह लगा कर चूसने लगा. एक दिन जब शाम को मैं प्राची के घर गया तो वो किचन में खाना बना रही थी.

उसने भी बिना कुछ विरोध किए हाथ में लंड लिया और बस टोपे पर जीभ को गोल गोल घुमाने लगी. मैं गेट बंद करके जैसे ही ऊपर आया और उसके रूम के बाहर से नॉक किया तो लवी बोली- एक मिनट रुको बाबा, आती हूँ. मैं उनका सहारा लेकर धीरे धीरे चलती हुई घर तक पहुंची और दरवाजा खोल लिया.

मैंने उस लड़के का नंबर लिया और मेरे जान पहचान के एक इंस्पेक्टर हैं, मैंने उनको वो नंबर दे दिया और उन्हें पूरी बात बता दी. और जैसे ही इसका आभास वीरू को हुआ कि शबाना की गांड से उसके लौड़े का निकाह हो चुका है तो उसने भी शबाना को ऊपर उठा लिया. दीदी के इन शब्दों ने ही मेरे लंड में आग लगा थी और मुठ मारने के बाद ही मुझे शांति मिली थी.

मेरी पिछली सेक्स कहानीलॉकडाउन में पुरानी क्लासमेट डॉक्टर से सेक्समें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने कैसे पुरानी क्लासमेट प्राची की चूत के मजे लिए और जब वो चुदने के बाद बाथरूम की ओर जाने लगी, तो उसकी मस्त गदराई हुई गांड, मांसल चूतड़ देखकर मेरा लंड फिर से झटके मारने लगा था. भाभी ने मेरा लंड मुँह में लेकर अच्छे से साफ किया और हमने कपड़े पहन लिए.

रमेश ने हज़ीरा से कहा- मेरी जान तुम सीमा को कैसे लाओगी? क्या वो मुझसे चुदवाने के लिए मान जाएगी?हज़ीरा- सीमा को पटाना आप मेरे ऊपर छोड़ दो रमेश … मैं उसकी पक्की सहेली हूँ.

तभी जिया दीदी मुझे रोक दिया- अब ज्यादा मत खेल … वर्ना मेरा फिगर लूज हो जाएगा. पाकिस्तान का बीएफ सेक्सबरसों से जमा किया हुआ यौवन रस शब्बो ने अपने मालिक के मुँह पर बहा दिया. बीएफ फिल्म बताएं वीडियो मेंवो सभी यही सब बातें कर रहे कि एक औरत आई है, बहुत ही हॉट फिगर वाली खूबसूरत माल है. मेरी बीवी ने मुझसे भी कहा- मेरी छोटी बहन बहुत नाजुक है, उसे चोट न पहुंचान देना.

वो पंजाबी भाभी अपने छोटे बच्चे के साथ यहां अपने पति के साथ रहती थीं.

इतनी देर हुई चुदाई से उनकी हालत खराब हो चुकी थी, वो अब चिल्ला भी नहीं रही थी, बस टांगें चौड़ी करके चुदाई का मज़ा ले रही थी।फिर थोड़ी और चुदाई के बाद उनके शरीर ने ज़वाब दे दिया और उन्होंने मुझे जकड़ लिया. बीच-बीच में वो मेरे चेहरे को भी छू लेते थे और मेरी गर्दन पर अपना सर भी रखते थे लेकिन मुझे फूफाजी होने के कारण किसी प्रकार का कोई संदेह नहीं हुआ और मैं उनके साथ फ्री होकर बातचीत करने में लगी रही. उसने अपने एक हाथ से रीना के ब्लैक निप्पल को पकड़ा और मसलने लगा, दूसरे निप्पल को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा.

मुझे अब पता चला कि वो काफ़ी अच्छी हैं और किसी नए बंदे के साथ फ्रेंक होने में थोड़ा टाइम लगाती हैं. लेकिन ये पहली और आखिरी बार होगा … और वो भी तुम्हारे लिए!जयदीप- ओह थैंक्स यार. दो बार की धकापेल चुदाई के बाद हम दोनों काफी थक चुके थे और हमारी आंख लग गयी.

राजस्थानी सेक्सी ग्रुप व्हाट्सएप

एक दिन मैंने उससे उसके ब्वॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो उसने ‘नहीं …’ बोला. उसने अपना सर मेरे कंधे पर रख दिया और अपनी कामुक आवाजें भरती हुई बोली- आंह हर्षद … अब मैं झड़ने वाली हूँ. मैं अन्दर आ गया और अपना लोअर और अंडरवियर नीचे करके अपने लंड की आठ दस फोटो खींच लाया.

शायद अब सरिता की चुत की झिल्ली की दीवार टूट चुकी थी और चुत से खून बहने लगा था.

दोस्तो … अभी इस ओरल सेक्स लंड चुसाई कहानी को यहीं ख़त्म करते हैं, पर अभी मेरठ से मुजफ्फरनगर का ये सफर बाक़ी है.

मैंने थोड़ी सी क्रीम उंगली पर लगाकर प्राची की गांड में उंगली ठूंस दी और गोल गोल फिराकर उसकी गांड में क्रीम लगा दी. वो कई बार टीवी देखते टाइम मेरे हाथ को अपने दो हाथों में ले लेती थीं. नेपाल की लड़की के बीएफमैंने मन में सोचा कि गांव से है … मतलब गांव में भी इतने मस्त माल होने लगे हैं.

दोनों पूरे नंगे थे, मैं ससुर जी का लन्ड तो सही से देख नहीं पा रही थी. मेरे झड़ जाने के बाद भाभी हंस कर बोलीं- आज जो सुख आपने दिया है देवर जी, आगे भी देते रहना. मैंने भाभी को बोला- इसमें धन्यवाद वाली क्या बात है, आप हमारे पड़ोसी हो, अगर पड़ोसी ही पड़ोसी के काम नहीं आएगा … तो कौन आएगा.

करीब 10 मिनट बाद मैंने अपने हाथ उठा कर उसे ऊपर किया और वो सीधी बैठ गयी. मेरे प्यारे पति ने मुझे धीरे से बेड पर लिटाया और मेरी पूरी मैक्सी उठाकर गले तक ला दिया.

तो उसने मुझे बात करते-करते एकदम से पूछ लिया कि क्या वह मुझे किस कर सकता है.

तो वो दर्द से चिल्लाने लगी- आआह मर गई आआह!मैं बहुत अधिक उत्तेजना में हो गया था, तो उसे चोदता चला गया. वो बोली- तुम्हारे दोस्त ने आज तक कभी इन्हें छुआ ही नहीं, तो क्या होगा. इस पूरे दिन उसको कई बार हैलो लिखा मगर उसने मेरे किसी मैसेज का जवाब नहीं दिया.

बीएफ चुदाई का सेक्स उन्होंने सीधे आते ही मुझसे पूछा- मैं तेरी चाची हूं, तू मेरे बारे में क्या सोचता है?मैं समझ गया कि चाची ने लैटर पढ़ लिया है. मेरे बदन चूमने से जिया दीदी की सांसें तेज होती जा रही थीं और वो मदहोश हो रही थीं.

निकलते वक्त ज्योति ने मुझे स्वीट्स का टिफिन दे दिया जिसमें उसकी ब्रा थी. इतने में बाथरूम का दरवाजा खुलने की आवाज आयी तो सरिता अलग होकर कुर्सी में जाकर बैठ गयी. आज पहली बार वो मेरे नीचे थी और मैं उसकी पैंट उतारने की कोशिश करने में लगा था.

सेक्सी प्रदर्शन

फिर मेरा ध्यान अपने हरकत करते लंड पर गया जो अब तक की प्रकिया के बीच पैंट और अंडरवियर में दबे होकर भी अकड़ा हुआ था. कुछ ही समय में वो एक बार ऑर्गज्म पर पहुंच कर छूट चुकी थी और एकदम निढाल हो गयी. फिर तीनों को आंखों पर पट्टी बांधकर पलंग के किनारे घोड़ी की तरह खड़ा किया गया.

विलास ऊपर से नीचे तक अपनी उंगलियां चलाने लगा था और बीच में ही लंड को दबा देता था. यहां अपने कम्पनी के काम से अक्सर आता रहता हूँ। तुम देवरिया कुछ देर बाद चली जाना।दो मिनट उसने सोचा और बोली- ठीक है … चलो.

मैंने उस समय अपना पूरा स्कर्ट पीछे से ऊपर कर दिया था क्योंकि मुझे मालूम था कि ड्राइवर अंकल भी तुरंत सामान निकलवाने आएंगे.

मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने लंड अपने दोनों हाथों में पकड़ कर मुठ मारी और लंड को शांत किया. मैंने तय किया कि कुछ दिन रुक कर कोई अच्छा सा मौक़ा देख कर उन्हें लैटर दे दूंगा. आंटी ने मुझे दो झापड़ और मारे और बोलीं- मैं अभी तुम्हारे पिताजी और पुलिस को फोन लगाती हूँ.

सुबह के करीब दस बजे हमारी आंखें खुलीं तो मैंने भाभी को एक बार फिर से चूमा और उन्हें गर्म कर दिया. अगले दिन जब वो मुझे खाना देने आई तो मैंने उसे कमर पर हल्के से टच किया. अनिकेत ने अपनी बहन की बेटी लूसी को बांहों में उठाकर बिस्तर पर उल्टा करके पटक दिया और लूसी की गांड में डालकर लंड हिलाने लगे.

इतना होने पर भी आज मैंने मन बना लिया था कि आज सेक्सी दीदी के साथ एक बार ट्राय जरूर करूंगा.

हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में: फिर मैंने ज़्यादा ज़ोर दिया तो वो रोती हुई बोली- एक लड़का है, वो पहले मेरा ब्वॉयफ्रेंड था, मगर अब वो मुझे परेशान कर रहा है. मैं उनकी गदरायी गांड देख कर खुद को रोक नहीं पाया और उनकी गांड को चूमने लगा.

यह सुनकर रमेश सर ने दो तीन तेज झटके मार कर अपना वीर्य हज़ीरा की चुत में ही गिरा दिया. गगन ने भी अपनी बहन के दूध मसल कर उसकी मंशा जानकर उसे सबसे पहले चोदने का मन बना लिया था. मदन ने मेरी गांड पर हाथ लगा कर बोला- क्या जादू कर दिया उस नेपालिन ने … तुझे तो औरत बना डाला.

उनकी गर्म सांसें मुझे महसूस हो रही थी।तभी मेरा फोन बजा, मैंने देखा शालू का फोन था.

उन्होंने मुझसे पूछा कि अभी क्या पहन रखा है?मैंने उनसे बताया कि पिंक कलर की नाइटी. चाची ने अपनी टांगें मेरी कमर पर कस लीं और मेरे लंड से निकले पानी की एक एक बूंद अपनी चूत में ले ली. मेरा लंड उसके गले तक उतरा हुआ था तो लंड से निकली हुई वीर्य की सारी पिचकारियां एक एक करके सीधे उसके गले से नीचे उतर रही थीं.