बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,सेकसी विडियो हिदी

तस्वीर का शीर्षक ,

नरेगा डॉट: बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ, बेबी रानी चिढ़ के बोली- मुझे नहीं करनी किसी से बात … इसको चुदना हो चुदे, नहीं तो साली माँ चुदवाये … तू छोड़ इस रंडी को.

द नाम लिस्ट बॉय 2020

चूंकि अब जब कहीं से भी चूत नहीं मिल रही थी तो मैंने इसे ही पटाने की सोची।वो दिखने में बहुत सुंदर थी. वीडियो सेक्सी हिंदी वीडियो सेक्सीस्वरा को घुमाकर उसका चेहरा अपनी ओर करते हुए मैंने कहा- 32 लिखा तो है लेकिन तुम्हारी चूचियां देखकर ऐसा लगता नहीं है.

मैं अपनी जांघों पर और लंड पर मेरे वीर्य के सूखे हुए धब्बे साफ करने लगा. मुंह में सफेद घावउसने अपना चेहरा कविता की ओर घुमाया और अपने दोनों हाथों से उसके गाल पकड़े और अहिस्ता से उसे होंठों पर किस किया.

और वो कमर के बल लेट गया और मुझे 69 पोजीशन में आने को बोला।मैं तुरंत वैसे ही आ गयी और हाथ से पकड़ के उसका लंड मुंह में ले लिया.बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ: दिमाग में अब सिर्फ निष्ठा ही निष्ठा और उसका भरपूर जवान जिस्म ही था कि वो कैसे चुदासी होकर मुझसे लिपट गयी थी और बिना चुदे ही झड़ने लगी थी.

हम दोनों की उत्तेजना अपने चरम पर थी।हमारे गीले बदन आपस में रगड़ कर मानो पानी में आग लगा रहे थे.वो फिर से लम्बी लम्बी सांसों के साथ मेरे होंठों को अपने दांतों में भींच कर चूसने लगी.

साडी वाली सेक्स - बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ

उनके पेरेंट्स को मनोचा दंपत्ति ने ये विश्वास दिलाया कि इन बच्चों को खाने-पीने की कोई दिक्कत वे नहीं होने देंगे.फिर मैंने उसके दोनों चूतड़ अपने दोनों हाथों से फैलाए और धीरे धीरे लंड घुसा दिया,वह आआ करने लगा.

आपने सेक्सी रंडी की चुदाई कहानीपहली मोहब्बत और सेक्सकमीने यार ने बना दिया रंडीपढ़ी. बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ मैं सोफे पर बैठकर उन्हें पीछे से देख रहा था, उनके चूतड़ मस्त हिल रहे थे और वो काम किए जा रही थीं.

भाभी कहने लगी- राज, बताओ कमरा पसन्द आया?मैंने कहा- भाभी कमरा तो एकदम आलीशान है लेकिन इसका किराया कितना है?भाभी बोली- जो तुम देना चाहो दे देना.

बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ?

तुझे चोदने के लिए उकसा रही है; इसकी चूत भी पक्का गीली हो चुकी होगी और लंड मांग रही होगी. अचानक ही मेरे मुँह से इस तरह के अप्रत्याशित बोल निकले, तो अनीता भी आश्चर्य में पड़ गयी. कॉन्डम को मैंने उसके लंड के सुपाड़े पर रखा जो कि मेरे मुंह की लार से चिकना हो चुका था.

मैंने उसकी चूचियां चूसते हुए कहा- कोई बात नहीं डार्लिंग, आज तेरी चुसाई और चुदाई के सारे सपने पूरे कर देंगे. मैंने कहा- नहीं नहीं बेबी रानी मेरी जान … इसकी तसल्ली तो ज़रूर करवाऊंगा … बहनचोद, चूतनिवास के दरवाज़े से कोई लौंडिया चुदे बिना चली जाए तो धिक्कार है मुझ को. मैंने सेक्सी वेबकैम मॉडल्स की पूरी लिस्ट देखी और फिर रिंकी को सिलेक्ट किया, जो कानपुर से थी.

”ओह … कैसा डर?”वो … वो … बापू?”कौन बापू?”अगर मेले बापू को पता चल गया तो मुझे जान से मार डालेगा. वो बोली- कौन सी सॉफ्ट ड्रिंक? सीधे सीधे बताओ क्या है ये?मैंने उसे बताया कि ये वोडका है. इस तरह मैंने अपने दोस्त की बीवी और भाभी की चुदाई का मजा ले लिया था.

चुत चुदाई से पहले जीभ से चुदना तो मुझे बहुत पसन्द है … लेकिन इस समय मेरी चूत को जीभ की नहीं, मोटे लंड की जरूरत थी. लेखक की पिछली कहानी:पंजाबन भी चुद गयी60 साल की उम्र में बैंक से रिटायर होने के बाद मैं सारा दिन घर पर ही रहता था जबकि मेरी पत्नी अभी कार्यरत थीं.

फिर एक बार उनको गिराते समय मेरा संतुलन बिगड़ गया … और जब मैं गिरने लगी, तो मेरे हाथ ने उनके लंड को पकड़ लिया.

इस दौरान मैं किसी भी महिला कर्मचारी को अपने केबिन में नहीं आने देता हूं.

लेकिन दीपक मेरा अच्छा दोस्त था और मैं जानता था कि वो जिन्दगी के किस दौर से गुज़र रहा है. मेरे मुंह में अभी भी रमेश का लंड था और वो लगातार अपने लंड को धक्के लगा लगा कर मेरे मुंह में घुसाये जा रहा था. कुल मिलाकर एक मस्त लौंडिया थी जिसमें कामुकता कूट कूट के भरी हुई थी.

लेकिन कोच फुल स्पीड से मेरी गांड में अपना लंड अन्दर बाहर कर रहे थे. भाभी- अकेले खाना बनाकर क्या करोगे, यहां मैं बना तो रही हूं, तुम भी यहीं खा लेना!भाभी के मुंह से ये शब्द सुनकर जैसे मेरे मन में गुदगुदी सी होने लगी. मैंने उससे कुछ नहीं कहा, तो उसने मेरे पीछे आकर मेरी ब्रा का हुक खोल दिया.

सर ने मुझे अपनी गोद में बिठा लिया और बोले- कैसा लगा?मैं कुछ नहीं बोली.

वो दर्द से दोहरी हो गई और उसने अपने दांत दबा कर लंड के दर्द को सहन करने की कोशिश की. भाभी ने झुककर चादर को देखा तो एक संतोष की सांस ली और आंखें बंद कर ली. मैंने कहा- ईशिता … तू कहां आगे बैठ गयी … मेरे साथ पीछे आजा ना प्लीज़!तो वो बोली- यार क्या तू भी … आज मुझे रुमित के साथ बैठने का मौका मिला है … तो बैठने दे ना प्लीज़.

तुरंत भाभी को दूर किया मैंने और गोद में उठा कर सीधा पलंग पर ले गया और ऊपर चढ़कर उनके बूब्स पीने लगा. पर भैया तो रोज रात को चुदाई करते थे आखिर उनकों चूत का लाइसेंस(शादी) जो मिल गया था. असल जिन्दगी में सेक्स और चुदाई की प्यासी किसी महिला या लड़की को ढूंढना बहुत ही मुश्किल होता है.

उस लड़की ने कहा कि वो किसी और के साथ डेट पर चली गयी है और वो तुमसे ब्रेकअप कर रही है.

साली जी की चूत के होंठ जो कभी आपस में सटे से रहते थे अब खुल चुके थे और उसकी चूत किसी नाव जैसा आकार ले चुकी थी और उसके भीतर का एक एक अंग स्पष्ट रूप से दिख रहा था; मैंने गांड के छेद पर लंड को पुनः सेट किया और उसकी गांड में लंड को पहिना दिया. जब तक वो अपना सर मेरी तरफ लायी, तब तक मैंने पैंट से लंड को बाहर निकाल लिया था.

बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ मैंने उसको उसके बालों से पकड़ लिया और बेड की ओर खींच कर ले जाने लगी. जहां पर कौड़ा पड़ा वहीं से मैंने उसकी गांड को कौड़े से जोर रगड़ दिया ताकि उसको और ज्यादा दर्द हो.

बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ अब तक आप लोगों ने पढ़ा कि कैसे मैं मामी के घर तक पहुंचा और उनको वाशरूम के दरवाजे की झिरी से नंगा नहाते देखा. अब तो उसके एक बेटा भी है और वो अपनी ससुराल में सब तरह से सुखी संपन्न है.

वो मस्ती में सिसकारियां लेने लगा और मेरी गांड को पकड़ कर अपने लंड पर पटकने लगा.

ब्लू सेक्स हिंदी में वीडियो

यह देख कर मामी ने कहा- तेरा हथियार तो किसी हाथी के लंड के जैसा लग रहा है … कितना मोटा और लंबा है. दोस्तो, कैसी लगी मेरी मामी की गांड की यह सेक्स कहानी आप मुझे ज़रूर बताइएगा. मैं ऐसे बात कर रही थी जैसे मेरे बॉयफ्रेंड में मुझे धोखा दे दिया हो.

उसकी गोलाकार घंटी के आकार की चूचियां उसके टॉप के अंदर कसी हुई थी और उसकी क्लीवेज लाइन को दर्शा रही थी. मैं चाहता हूं जिस गिलास पर तुम्हारे मादक होंठों की निशानी होगी मैं भी उसी गिलास से पीना पसंद करूँगा. मैंने नेहा की गोरी और बड़ी चुचियों को मसलना शुरू किया और उसके गुलाबी सख्त हुए निप्पल को अपने मुंह में भर लिया.

अब पायल और प्रतिभा आपस में बात करने के लिए एक दूसरे की ओर झुकते थे, तो दोनों के चेहरे मेरे सामने आ जाते थे.

उसके लिए ईनाम के तौर पर मैंने अपनी ब्रा को भी उतार दिया और एक तरफ फेंक दिया. फिर एक बार उनको गिराते समय मेरा संतुलन बिगड़ गया … और जब मैं गिरने लगी, तो मेरे हाथ ने उनके लंड को पकड़ लिया. नैना अपनी ही रौ में बोले जा रही थी- रमित … मैं तुमसे एक अच्छी दोस्ती तो चाहती हूँ … जानती हूँ समाज की नज़र में ये गलत हो सकता है, पर मेरी में नहीं.

मैं भी मुठ मारता और वो भी उंगली कर लेती।हालांकि हम दोनों ने एक दूसरे को नहीं देखा था. मैंने भी भाभी जी की चुत साफ की और मैंने भी भाभी जी की चुत में अपनी जीभ लगा दी. एक मिनट बाद उन्होंने मेरी ब्रा भी निकाल कर फेंक दिया और मेरी चुचियों पर भेड़िये से टूट पड़े.

मैंने करवट ली और अपनी एक टांग सरोज की सुडौल चिकनी जांघ पर रख ली और एक हाथ उसके मम्मे पर फिराने लगा. और बहुत प्रयत्न के बाद जब मिली तो उसकी कीमत उसके वजन के कारण बहुत ज्यादा थी.

फिर मैंने सोचा कि ज्यादा नाटक करना ठीक नहीं है अब मेन प्लान पर आती हूँ. साथ ही सरोज के मुंह से तरह तरह की सी … सी … आह … आह … की आवाजें निकल रही थी. धीरे-धीर हम एक दूसरे के करीब आने लगे। एक दिन उन्होंने अपनी एक इच्छा जताई.

हम शराब और चुदाई के नशे में इतने ज्यादा खो गए थे कि ननद ने मेरा लंड पकड़ कर अपनी भाभी की चूत में डाल दिया और अपनी चूत भाभी के मुँह में लगा कर मेरी तरफ मुँह करके बैठ गई.

जिन दो मर्दों से मैं चुदती हूं आजकल वो दोनों बहुत ज्यादा वहशी हो गये हैं. लंड सूखा होने की वजह से दर्द से मैं कराह गयी और राजीव को ऊपर से हटाने लगी. जब देखो तुम्हें बिजनेस की पड़ी रहती है या फिर अपने दोस्तों की। पत्नी घर में अकेली पड़ी रहे उससे तुम्हें क्या!रमेश- सॉरी जानू … आज तो तुम्हारे पास हूँ.

मैंने खिड़की की झिरी से अन्दर देखा, तो अन्दर नीरजा बिल्कुल नंगी नहा रही थी. जब मैं उनके घर में रह रहा था तो मैंने देखा कि आंटी और अंकल के बीच कुछ रोमांच था ही नहीं.

उसको ब्रा लगती होगी मेरे अंदाज़ से 34 या 36 की! और यह अंदाज़ा बाद में सही भी निकला. मगर अब आप मेरे सामने ऐसे रो रही हैं तो मैं आपको ऐसे अकेला छोड़ कर तो नहीं जाऊंगा. दोस्तो, मजा आ रहा है ना हॉट बेडरूम सेक्स स्टोरी में? कमेंट्स करते रहें.

मूवी पिक्चर ब्लू

जब मीता ने देखा कि मेरा लंड तैयार है … तो खुद ही मेरे दोनों तरफ पैर करके मेरे लंड पर बैठ गई.

उसकी तेज होती धड़कनें ज्वार भाटा की भांति चढ़ती बैठती सी प्रतीत हो रही थीं. मैं भी जानता था कि मेरा अब झड़ना जल्दी नहीं होगा … क्योंकि दुबारा में मैं जल्दी नहीं झड़ता हूँ. पहले तो मैं शर्म कर रही थी लेकिन भाभी कहने लगी- अगर शर्म करोगी तो कुछ भी मजा नहीं आएगा.

मैंने उनके व्हाट्सैप नम्बर पर एक ब्लू फिल्म की क्लिप भेज दी और उन्हें उत्तेजित कर दिया. तो मुकेश फिर से बाबाजी को दिखाने के बहाने मेरे पास छिंदवाड़ा ले आया. गुलरी काकी की बेटी का नाम क्या हैतो मैंने उसका कुर्ता थोड़ा सा ऊपर उठाकर उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया, एक झटके में उसकी सलवार नीचे गिर गई, मैंने उसकी सलवार खूंटी पर टांग दी और उसकी झांटों से भरी बुर निहारने लगा.

मुझे छोड़ दे।रवि- लगता है तू सच में बूढ़ा हो गया है।रमेश- तू चाहे जो समझ, मगर मुझे माफ़ कर।रवि- जैसी तेरी मर्जी।फिर थोड़ी देर बाद उन दोनों ने नाश्ता किया. जब मैंने उसकी चिकनी और टाइट चुत को छुआ, तो उसकी चुत पूरी तरह से गीली हो गई थी.

उसने किसी तरह घुटी हुई आवाज में कहा- छोड़ दो यार!मैं- चुदवाना पड़ेगा अभी. उसने आहें निकालनी शुरू कीं तो कविता ने अपनी हथेलियों की साइडों से उसकी चूत को मसाज देनी शुरू कर दी. आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीट्रेन में मिली गर्लफ्रेंडको आप लोगों ने काफी प्यार दिया.

जहां पर कौड़ा पड़ा वहीं से मैंने उसकी गांड को कौड़े से जोर रगड़ दिया ताकि उसको और ज्यादा दर्द हो. इतने में राजीव भी हंसते हुए बोला- बिल्कुल सही बोल रहे हो भाई, तेरी बहन को बारिश में चोदने में मजा आ जाएगा. तो मैंने गद्दों को जोड़ के उसके ऊपर प्लास्टिक का मेट बिछवा दिया और एक तेल की शीशी मंगा कर उस मेट पर फैला दी.

उसकी कामुक सांसें तेज हो रही थीं और वो मस्ती से बड़बड़ा रही थी ‘आह रणदीप चोद दे मुझे … तुम कितने मस्त चोद रहे हो आह … मेरी चुत में कितने अन्दर तक पेल रहे हो … आह … मेरी जान मैं बस जाने वाली हूँ.

तब मैंने सरोज भाभी से उनकी चूत की ओर इशारा करके पूछा- सब ठीक है?सरोज- सब कुछ ओ. मैंने अपने दोनों हाथ उसकी कमीज में डाल दिए और अपने हाथों से उसकी पीठ को सहलाने लगा.

फिर मैं प्रीति को सनसेट पॉइन्ट पर लेकर गया जहां से ढलते हुए सूरज का मनोरम दृश्य देखकर प्रीति बहुत खुश हुई और मैं प्रीति को देखकर खुश होता रहा. उन्होंने मुस्कुरा कर मुझे डीप किस किया और बोलीं- मैं साइंस ग्रेजुएट हूं … जानती हूं कि आशीर्वाद से नहीं … सेक्स से बच्चा पैदा होता है. जब मैं घर पुहंचा तो मैंने देखा कि सुमीना अपने रूम के बाहर ही खड़ी हुई थी.

कभी निप्पल चूसती, तो कभी होंठ … तो कभी कान की लौ चूमने लगती, तो कभी गर्दन पर गर्म सांस छोड़ते हुए होंठ फेरने लगती. रमेश अब खड़ा हो गया और उसने अपने सारे कपड़े उतार दिये और बिल्कुल नंगा हो गया. एक निप्पल को अंगूठे और तर्जनी में लेकर मसला और दूसरी निप्पल मुंह में लेकर जीभ फिरानी शुरू कर दी.

बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ कविता बोली- पागल है? अगर नीचे नैन्सी आंटी को मालूम पड़ गया या आकाश ने देख लिया तो पंगा हो जाएगा. तुम भले ही मत पहनना लेकिन मेरी खातिर तो पसंद बता दो।खुशी का मुझ पर इस तरह हक जताना मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

ब्लू फिल्म हिंदी मै

वो चाचा के साथ लेटी होने के कारण ज्यादा हिल नहीं सकती थी, न आवाज कर सकती थी. कुछ देर तक वह मुझे ऐसे ही चोदने के बाद वो दोनों चरम सीमा के करीब पहुंच गये थे. ”ओह … अच्छा? … फिर?”वो बता रही थी कि यह ब्रा पैन्टी उसके बॉय फ्रेंड ने गिफ्ट दी है।हा … हा … हा … ज्यादातर सच्चे बॉय फ्रेंड यही गिफ्ट देते हैं.

कुछ ही देर के बाद मैं बर्दाश्त करने की हालत में नहीं रही और मेरी चूत एकदम से झड़ने लगी. आंखें बंद करके मम्मी कहे जा रही थीं- आह … कितना कड़क और गर्म लोहे जैसा लंड है तेरा हर्षद … सच में मैं मर गई रे. स्कूल गर्ल का सेक्सी वीडियोइससे मैं और ज्यादा तेजी से तुम्हारे लंड पर कूद कूद कर उसको अपनी चूत में लूंगी.

अब आगे की Xxx कहानी भाभी की चूत की:प्रीति को देखकर मुझे लग रहा था कि आज कुछ जरूर ही होने वाला है.

उसके बाद मैंने उससे पूछा- कैसा लगा?इस पर वो मुझे चूमते हुए बड़ी खुशी से बोली- बहुत अच्छा, सचमुच मुझे आज पहली बार अहसास हुआ कि ये इतना मजेदार होता है. तो मैंने सोचा कि चलो कहीं घूम कर आती हूँ, अगर कोई मुर्गा हाथ लग गया तो उसे ही अपनी रात रंगीन करवा लूंगी.

अब उसको अच्छा लगने लगा और वो अपनी गांड उछाल-उछाल कर लंड को चूत में अपने अन्दर लेने लगी और जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्हह … अजय … क्या लंड है तुम्हारा! आह्ह … तुम तो सच में कमाल हो … अच्छी मेहमाननवाजी है … आह्ह चोदो … यार … और जोर से चोदो … आईई … आह्ह और तेज।मैंने धीरे धीरे अपनी स्पीड बढ़ाते हुए अब जोर-जोर से उसकी चूत में लंड अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया. हमें पलंग पर लिटाकर चाचा ने अपना जांघिया निकाल दिया और अपने लण्ड पर हाथ फेर कर लण्ड की खाल आगे पीछे करने लगे. जब वो पहली बार मीटिंग के लिए गया तो उसका क्या अनुभव रहा अब आप उसी की जुबानी सुनिये, जैसा कि उसने मुझे बताया था.

और हाँ … आज मैंने सलवार और सूट पहना था जिसमें मैं कभी दुपट्टा और ब्रा नहीं पहनती जिससे मेरे टाइट क्लीवेज़ एकदम साफ दिखती है.

लगभग तीन चार साल पहले कि बात है भैया ने घी लिया और अन्दर कमरे में जाकर घी अपने लंड पर लगा कर मालिश करने लगे. अगले दिन मैंने मॉम को कहते सुना कि किसी ने बीती रात घर के मेन दरवाजे पर चुदाई की हुई है. आज चांद भी प्रीति के हुस्न को देख कर जल रहा था।चाँदी जैसी चूत है उसकी, उस पर सोने जैसे बाल,एक प्रीति ही धनवान है यारो, बाकी सब कंगाल,जिस रस्ते से वो गुजरे, सबके लण्ड खड़े हो जाएँ,उसकी चूत की कोमल आहट, सोते लण्ड उठाये.

बिल्ली वाले गेमवो दर्द से दोहरी हो गई और उसने अपने दांत दबा कर लंड के दर्द को सहन करने की कोशिश की. दूसरे भाग में आपने पढ़ा था कि रमेश ने अपनी नाराज बीवी को मनाने के लिए उसकी चूत चोद दी और वो खुश हो गयी.

सेक्स ब्लू फिल्म ब्लू

वो आगे आया और मेरी जीन्स को अपने दांतों से पकड़ कर नीचे खींचने की कोशिश करने लगा. मैंने अपनी जिन्दगी में ऐसे कई मुकाम हासिल किये हैं जिनके बारे में मैं खुले तौर पर सबको बता सकती हूं. मैं उसके ऊपर आ गयी और उसकी जांघों के बीच में बैठते हुए मैंने अपनी चूत में उसका लंड ले लिया और कूद कूद कर चुदने लगी.

उसने अपनी बीवी की साड़ी के पल्लू को उसके बूब्स पर से हटा दिया और उसके सीने में मुंह देकर चूमने लगा. यह कहते हुए मेघा ने अपनी टीशर्ट के ढीले से गले को नीचे खींच कर अपनी चूचियों की घाटी मेरे सामने कर दी. बाकी का खेल हम सभी को समझ आ ही गया था, तो सबने वहीं अपने अपने कपड़े आराम से खोले और एक दूसरे को ऊपर तेल को मलने लगे.

मैंने थोड़ा सकुचा कर धन्यवाद कहते हुए कहा- जी मुझसे तो कहीं ज्यादा तुम हैंडसम हो!इस पर वैभव ने कहा- हां लेकिन हम दोनों में एक फर्क है. इसके भी तो अरमान होंगे न और इसका तन मन भी तो मचल रहा होगा न अपने सारे अरमान तेरे साथ पूरे करने के लिए!शायद ये भी यही सोच रही हो कि घर का ऐसा एकांत फिर जीवन में मिले या न मिले; ऐसे में जीजू मुझे चोद लें तो चोद लें मैं थोड़े बहुत नखरे दिखा कर फिर ख़ुशी ख़ुशी चुदवा लूंगी और कुछ नहीं बोलूंगी; ये भी तो इस तरह एकांत का फायदा उठाना चाह रही होगी कि नहीं? जरा इस तरह से सोच न उल्लू. उसकी नाभि से लेकर चुत के मुँह तक उंगलियों को चलाने लगा, जिससे वो और तड़पने लगी और उसकी चुत से भट्टी की तरह आग बहने लगी.

फिर मैंने उसका टॉप उतारा और देखा कि रेशमी जालीवाली ब्रा में उसके दोनों दूध उठ बैठ रहे थे. आज सिर्फ एक ही बुड्ढा है।रिया- ओके, कितने बजे पहुंचना है?रत्न- उसी टाइम पर।रिया- ठीक है पहुँच जाऊंगी, उसको तैयार रहने को बोलना।रत्न- अरे उसकी बात सुन कर तैयार तो मैं भी बैठा हूँ.

मैंने समझ लिया कि इनकी चूत को कोई लंड नहीं मिला है, इसलिए ये चूत उठाए उठाए घूम रही थीं.

अरे बरसात का मौसम है तो बादल भी गरजेंगे और बिजली भी चमकेगी; फिर मैं हूं न तेरे साथ! मैंने उससे कहा और उसकी कमर में हाथ डाल कर उसे अपने बदन से चिपका लिया. सेक्सी फिल्म हिंदी चलने वालीमैंने दोनों की गर्मी शांत की और मैं भी थक कर उनके साथ वहीं नंगा सो गया. गेस्ट हाउस कांडरिंकी- हाय बेबी! तुम अभी घर में अकेले हो क्या? अपनी मॉम के रस भरे आमों को मिस कर रहे हो?दोनों हाथों से उसने अपने चूचक दबाते हुए कहा. उसने मुँह खोला, तो मैंने देखा कि उसका पूरा मुँह मेरे लंड के वीर्य से भर चुका था.

मैं शादीशुदा हूँ, घरवालों को जाते ही पता चल जाएगा। यकीन करके आयी थी, जाने दे यार.

मेरी पिछली इंडियन सेलिब्रिटी सेक्स स्टोरीएक और टीवी एंकर की चुदाईमें टीवी न्यूज़ की दूसरी एंकर गुड्डी रानी की कैसे चुदाई की गयी उसका विस्तार से वर्णन किया था. अगले दिन स्वरा काम पर आई तो मैंने उससे बातचीत की तो पता लगा कि वो आठ क्लास तक पढ़ी है और अब घर पर ही रहती है. मैं तो शांत पड़ गया था … मगर जब उसने ऐसा किया तो मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और उठ कर उसकी टांगों के बीच में आ गया.

और जब तक मैं सम्भलती, उसने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी चूत के आर पार कर दिया. गर्लफ्रेंड की चूत की शेप देख कर मैं हमेशा उसको चोदने के लिए उतावला रहता हूं और उसकी चूत को खूब पीता हूं. मैं पूरी ताकत से उसकी चूत में धक्के मारते मारते उसकी चूत के अन्दर ही झड़ गया.

सेक्सी बीएफ चोदी चोदा सेक्सी

उसने मेरी लोअर को नीचे खींच दिया था और मुझे जांघों तक नंगा कर लिया था. रजनी मेरी गोद में बैठी रही।हमने एक बार फिर काफी देर तक रोमांटिक अंदाज में फ्रेंच किस किया।फिर वो अलग होकर बोली- मुझे गया नगर छोड़ दो. अगले ही पल मेरी चुदासी हो चुकी साली ने मेरे लंड को मुंह में भर लिया.

वो बोली- वैसे नहीं बता सकता क्या?मैंने कहा- वो बात कहने के लिए गर्लफ्रेंड भी तो होनी चाहिए.

शादीशुदा ने तो रोज दिन-रात सुहागरात मनाई होगी और कुंवारों ने रोज हाथ से बजाई होगी.

धीरे धीरे मुझे महसूस हुआ कि मेरे पैर नीरजा के पैरों के बीच में आ गए हैं बिल्कुल उसकी बुर से टच होते हुए. तभी वो आता दिखाई दिया और उसके हाथ में एक कंबल था।मैंने मुस्कुराते हुए पूछा- ये कहाँ से ले आए इस मौसम में? इतनी ठंड नहीं है।उसने बोला- इवैंट मैनेजर से बोल के लेके आया हूँ. फर्श साफ करने का पोछाये कहकर मेघा ने अपनी बॉडी को अपने हाथों से एक गोलाकार गति में मसलना शुरू कर दिया.

अब आप सोओगी कैसे?रिंकी- मैं तुम्हारे अंकल के बदन की गर्मी ले लेती हूं और वो मेरी गर्मी ले लेते हैं. इस बारे मेरे चेहरे में कम ऊंचाई की लड़की ने एक पप्पी ली और वापस लौट गई, जाहिर है पहली बारे धंधे में आई काव्या ने ही ऐसा किया होगा, उसके बाद आखिर में अनीता आई क्योंकि अब वो ही तो बची थी. फिर वो मिलने का वादा करके और वादा लेकर ऐसे चली गई जैसे कुछ हुआ ही ना हो.

थोड़ा एडजस्ट भी तो कर सकता है मेहमान? अगर ज्यादा ही दिक्कत है तो मेहमान पलंग पर सो ले और मैं नीचे सो जाऊंगा. उसकी चूत बहुत गीली होने के बावजूद भी वह दर्द से कराह उठी। मगर उसने किसी तरह की आवाज नहीं की.

सलहज ने फुर्ती से लंड को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से लंड चूसने लगी.

बस भाभी थोड़ी भारी थी और उनकी चूत थोड़ी फूली हुई थी जिसमें से एक बच्चा निकल चुका था जिससे भाभी का छेद भी थोड़ा खुला हुआ था. ‘फिर?’मैं- फिर अब जो चौथे नम्बर पर भावना आई, उसने मुझको पहले गाल पर किस किया. वो अपने मुँह से कभी मेरे गालों, पर तो कभी होंठों पर … या छाती पर दांत गाड़ने लगी.

50 में ऐसा क्या जोड़े 25 हो जाए शायद मैं उत्तेजित हो जाऊं, ऐसे करते करते उसकी जीभ मेरी गांड के छेद पर घूमने लगी. उनकी चूत की दोनों मोटी पुट्टीयां मेरे लण्ड के चारों ओर फैल कर चिपक गई थीं.

इससे भी चैन नहीं मिला तो मैंने सोचा कि कोई सेक्सी रोमांटिक इंग्लिश मूवी भी साथ में लगा लेता हूं. मैंने कहा- अभी तक आपकी छोटे लंड से चुदाई हुई है कुछ दिन में ठीक हो जाएगा. मैंने अपना पूरा लंड उसके मुँह में गले तक ठांस दिया था, जिससे उसकी सांस फूल गई थी.

मोटा लंड मोटी चूत

अनीता ने खाली हो चुकी केतली की तरफ इशारा करके बताया कि बियर खत्म हो चुकी है. तो मेरे सभी रीडर्स, जो इंडियन सेक्स स्टोरीज से जुड़े हैं, मैं सबसे कहना चाहता हूं कि मेरे जैसे मोटे और भारी लोगों के लिए दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट एक बहुत ही उम्दा अनुभव देती है. ये थोड़ी-थोड़ी देर में मजा नहीं आता।वो भी बोली- हां कपिल, अब मुझ से भी नहीं रहा जा रहा है जो तुमने ये आग लगा दी है.

मैंने रानी को आलिंगन में बांधे बांधे एक कलाबाज़ी ली जिससे रानी मेरे नीचे हो गई और मैं ऊपर. वेज, नॉनवेज कुछ भी हो, इतना लज़ीज़ खाना पकाते हैं कि अगर आप खाओगे, तो उंगलियां चाटने पर मजबूर हो जाओ.

जिससे मेरा आधा शरीर पानी के अन्दर चला गया और मेरा आधा शरीर पानी के बाहर ही रह गया.

” कहकर सानिया मंद-मंद मुस्कुराने लगी थी।इसका मतलब तुम मेरी जलन को बिल्कुल ठीक नहीं करगी?”अले नहीं मैंने ऐसा थोड़े ही बोला है. भाभी ने मेरे पैंट की जिप खोल कर मेरा लंड मुँह में ले लिया और लंड चूसने में लग गईं. कोई दो मिनट तक नीरजा की तरफ से कोई हरकत नहीं होने से मेरी हिम्मत बढ़ गई.

तब तक तुम भी सो जाओ, मैंने रात को ही नेहा को बोल दिया था कि वह हर रोज तुम्हें बेड टी दे दिया करेगी. अब रमेश ने मेरे हाथों को छोड़ दिया था और मैंने कमलनाथ को अपने ऊपर खींच कर उसको जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसके चूतड़ों पर अपनी टांगें लपेट कर चुदने लगी. पूरे रूम में उसकी चुत की खुशबू महक रही थी … हम दोनों बिना कुछ बोले बिस्तर पर पड़े थे.

मैंने पूरी झींक लगाते हुए फिर से लंड का झटका मारा, तो भाभी की आह निकल गई और मेरा पूरा लंड उनकी चुत में खो गया.

बीएफ भोजपुरी बीएफ बीएफ: उसकी आंखों में पानी आ गया था, पर फिर भी मैं पूरे जोश में उसके मुँह को चोद रहा था. एक रात पहले ही हमारी दोस्ती फोन पर हुई थी और न उन्होंने मुझे देखा था न मैंने उनको।वो रात मेरे लिए इसलिए भी खास होने वाली थी क्योंकि पहली बार मैं किसी बड़ी उम्र के आदमी से चुदने वाली थी.

नीचे वाले परिवार के डॉक्टर भैया रोज काम पर चले जाते थे और भाभी घर पर रहती थी. रवि ने उसको घुटनों के बल बिठा दिया और अपनी पैंट की जिप खोल कर लंड को बाहर निकाल लिया. तो ठीक है तू ऑटो रिक्शा ले के चली जाना अकेली, मैं तो इस हालत में जा नहीं पाऊंगा.

मैंने टोकते हुए बोला- तो भैया, इतने दिन तक इधर भाभी और बच्चे का क्या होगा.

प्रतिभा के हाथों में महंगी घड़ी थी, सच कहो, तो आजकल घड़ी शब्द से लोगों को परहेज होने लगा है. मैं बोला- मगर बात तो तुम्हारे ही खिलाने की हुई थी न!तो वो बोली- तुमसे बातों में कोई नहीं जीत सकता. मैंने सोचा कि मैं अपने और नैना के बीच हुए सेक्स का एक और किस्सा आप सबको बताऊं.