बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी

छवि स्रोत,भोजपुरी बीएफ फिल्म बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सटाक matak.com: बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी, फिर लाजवाब अन्दर धंसे पेट से होते हुए मेरा लंड पहाड़ों और घाटियों के बीच जा पहुंचा और सुंदर वादियों में खो जाने के लिए मचल उठा.

ललित बीएफ

वो एक हाथ से वो रीमा की चुचियों का मर्दन करने लगा और दूसरे हाथ से उसकी चुत को सहलाने लगा. पंजाबी बीएफ सेक्सी एचडी मेंअनामिका से भी वीडियो कॉलिंग करके हम दोनों चुदाई करते और हम नौकर मालकिन की चुदाई देखकर वो अपनी चूत में उंगली करती।धीरे धीरे समीर मेरे पति जैसा हो गया था.

मेरे भाई शिवम का लंड मेरी चूत में इतना मजा दे रहा था कि दो मिनट बाद ही मेरा बदन एकदम से अकड़ गया और मैंने शिवम की गांड पकड़ ली और चूत को उसके लंड पर सटा दिया. बीएफ चोदने वाली चुदाईशिवम मुझे बाथरूम में लेकर घुस गया और मेरी चूचियों को नंगी करके पीने लगा.

हम दोनों यही कोई 35 मिनट बाद में राजौरी गार्डन पहुँच गए।वहां पर मैंने स्मृति को कॉफ़ी ऑफर की। वो कॉफ़ी के लिए मान गई और फिर हम वहीं कॉफ़ी शॉप पर कॉफ़ी पीने चले गए.बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी: क्या मैं आपसे बात कर सकता हूं?रोहन को मैंने हैंगआउट्स पर मैसेज करने को बोला.

मैं- हां भाभी … पर आपको कोई दिक्कत तो नहीं है ना!भाभी- नहीं … अब जल्दी से पी लो.एक साँस में ही शेखर ने अपनी सारी उलझन धारा के सामने रख दी और उसके जवाब का इंतजार करने लगा.

आंटी बीएफ बीएफ - बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी

वह लड़की कभी इशारे से कभी धीरे धीरे बोलकर कर अपना नंबर बोलने लगी लेकिन ट्रेन की आवाज और लोगों के शोरगुल में कुछ समझ नहीं आ रहा था.अब अकेली भाभी इतने खीरों का क्या करेंगी … भैनचोद ये सोच कर मेरा तो लंड ही खड़ा हो गया.

उसके होंठों का चुम्बन मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे पिंक स्ट्राबेरी जैसी दिखने वाली चीज पर किसी ने गर्म अंगारा रख दिया. बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी घर के काम और मेरी काम वासना दोनों के लिए मुझे बहुत अच्छा लड़का मिल गया था.

नमस्कार दोस्तो, मैं प्रवीण कुमार रायपुर से आपके सामने अपनी सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी?

मैं इस वक्त पूरा नंगा था तो मां ने अपने दोनों हाथ मेरी गांड पर रखे और मुझे जकड़ने लगीं. जब लंड उसकी बुर में सैट हो गया, तो वो ख़ुद ही गांड उठा उठा कर चुदने लगी. मैंने फिर से मना किया कि प्लीज छोड़ दो अंकल मैं वापस से आपका लंड चूस दूंगा.

धारा ने भी अपनी चूचियों पर शेखर के नंगे हाथों का स्पर्श महसूस करके उतने ही जोश से शेखर के चुम्बन का जवाब देना शुरू किया. मैंने उसका कॉल अटेंड किया और कहने लगा- जान कहां पर हो … मैं यहां पर तुम्हारा इंतजार कर रहा हूं. ऐसा नाटक कर रही थी कि मानो उसे पता ही न हो कि उसके नाइटी उतारने से मेरे लन्ड की हालत क्या हुई है लेकिन उसकी आँखों में शराब का नशा छाने लगा था.

उसने मुझे दूसरे रूम में भेज दिया, मैंने रूम में जाकर लैपटॉप ऑन किया. अब तक मैं समझ चुका था कि फ़लक को सेक्स का बुखार चढ़ने लगा है और वह लण्ड लेने को तैयार है. मेरा तीसरा छेद यानि मुंह अभी खाली था तो मैंने अमित का लंड मुंह में ले लिया और उसे चूसना शुरू कर दिया.

मैं जोर जोर से उनकी फूली हुई चुत को जीभ से चाटने लगा; साथ में उनके मम्मों को जोर जोर से दबाने लगा. तभी उसकी चूत ने फिर से पानी छोड़ दिया और उसकी गीली चूत में लंड फच्च फच्च फच्च करके अन्दर बच्चेदानी तक जाने लगा.

मैं मेरी बेटी के सब कपड़े हमेशा अकेले में पहन कर अपनी गर्मी शांत करने के लिए शीशे में देख कर एक एक करके उतार कर अपनी चुचियों को मसलती और अपनी चुत में उंगली करती थी.

उस दिन चुदाई के दौरान जब निखिल मीरा को सोफे पर लिटा कर उसकी एक टांग हवा में उठाकर उसे चोदे जा रहा था.

उसके बाद वो दोनों एक दूसरे के साथ लेस्बियन सेक्स का मजा लेने लगी थीं. अब शेखर ने अपनी अलमारी से शराब की बोतल निकाली और रघु को साथ में कुछ खाने के लिए लाने को कहा. उन्होंने मेरे मुँह में अपना लंड डाला और कहा- अच्छे से गीला कर, जितना सूखा हुआ होगा, उतना ज्यादा दर्द होगा.

वो काफ़ी देर मेरी चुचियां चूसने के बाद मेरी चुत की तरफ आ गया और बोला- सच में तेरी चुत एकदम चिकनी है. मौसी- अब मैंने फ्रेंची के ऊपर से ही तेरे लंड को हाथ लगाया तो साला कोबरा सा फुंफकारने लगा. और रही बात हमेशा के लिए … तो अगर तू बाहर की लड़की शादी करेगा, तो तू सबको चोद सकता है.

मैंने धीरे से लंड चुत में डाला तो उसने अपने दांत भींच कर अपनी आंखों को बंद कर लिया.

भाभी ने भी मेरे लौड़े का सारा रस खा लिया और चाट चाट कर लंड साफ कर दिया. आंटी मस्त हो गईं और चिल्लाने लगीं- आह चोद मुझे … फक मी आह यस फक मी हार्ड … फक मी बेबी और तेज चोद. उसने मना कर दिया- अभी नहीं, अभी तुम अन्दर डाल दो … मुझे जाना भी है.

अभी भी तेरी चुत को देखकर लगता है कि तू अनेक मर्दों से अपनी चुत गांड चुदवाना चाहती है. कुछ देर बाद वो बोली- किस से आगे भी बढ़ ना!मैंने कहा- तुझे बड़ी जल्दी है?वो बोली- साले इतने दिन से तुझे एप्पल दिखा रही हूँ … तेरा केला खड़ा ही नहीं होता था. कुछ देर बाद प्रिया उठ गई और उसने जया की चुत से रस चूस कर अपने मुँह में भर लिया था.

अब लंड का लगभग तीन चौथाई भाग धारा की चूत ने गटक लिया था। अब वो धीरे-धीरे अपनी कमर हिला कर लंड और चूत का मिलन करवाने लगी.

मैं उनके बदन की गर्मी और सांसों की खुशबू को खुद में महसूस कर रहा था. मैंने फूला हुआ सुपारा चाची की चूत के छेद पर लगाया और पूरा अंदर ठोक दिया.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी मैं पहले ना ना करती रही लेकिन मेरा मन भी अंदर से अनिकेत के खड़े लंड को पाने के लिए बेताब था. सेक्सी स्कूल टीचर की चुदाई कहानी बहुत उत्तेजक लगी ना आपको? कमेंट्स में बताएं.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी लेकिन अब जिस तरह मेरी बेटी जवान होते ही एकदम खिल गयी थी, उससे मुझे लगने लगा था कि अब तो इसके चुदने के दिन आ गए हैं. वो बोलीं- हां, काफी मन कर रहा है लंड का रस पीने को … लेकिन निकल क्यों नहीं रहा.

मेरा शॉर्ट्स भी ऐसा था, जिसमें से मेरे लंड का आकार साफ पता चल रहा था.

पाकिस्तान सेक्सी पिक्चर वीडियो

वो बोली- नमकीन वाली मीठी क्या होती है?मैंने उसकी आंखों में देख कर कहा- नमकन वाली रबड़ी. अगले दिन जब वो काम पर आई, तो मैं उस समय उसके बारे में सोचते हुए ब्लू फिल्म देख रहा था. मां ने हाथ के इशारे से मुँह में आने के लिए कहा और मेरा पूरा लंड अपने गले तक दबा लिया.

पढ़ाई का बहाना बनाकर हम छत पर चले जाते थे और चुदाई का मजा लेते थे।हम लोगों के बीच में जो भी शर्म थी वो खत्म हो चुकी थी। भाई बहन जैसा कोई रिश्ता नहीं बचा था हमारे बीच।एक दिन विवेक और शिवम दोनों ने प्लान बनाया- क्यों न हम दोनों अपनी अपनी बहन को चोदें?शिवम बोला- बहन मान जाएगी?विवेक बोला- तुम लूसी को तैयार करो, मैं कविता को तैयार करता हूं. भाभी देखने में इतनी मस्त माल हैं कि उनकी मचलती जवानी को देख कर बुड्ढों का भी लंड पानी फैंक दे!यह घटना इसी मार्च महीने की तेईस तारीख की है. अनिकेत भैया, विवेक और लूसी पिछले दरवाजे से घर में लगभग 10:30 बजे अंदर आए.

आप सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!मैं इस साइट पर नया तो नहीं हूं, पर अपनी पहली सेक्स कहानी लिख रहा हूं.

मैंने उसके दर्द को अनदेखा करते हुए अपने लिंग को योनि की जड़ तक पूर्ण प्रवेश करवा दिया. मैंने जैसे ही एक जोरदार धक्का मारा, तब उसकी तो जैसे जान ही निकल गई. मौसी- फिर?मैं- फिर, दोनों हाथ से तुम्हारी गांड को छू कर हल्के हाथों से दबाऊंगा.

दोस्तो, मेरी इस कहानी के पिछले भागमाशूका की जवान बेटी ने हमें देख लियामें आपने पढ़ा कि शीना अपनी हॉट मॉम सेक्स वीडियो देखने मेरे घर आ गयी थी. मुझे ऊपर लेकर लंड को चूत पर रख लिया मैं ऊपर-ऊपर ही लंड फिराने लगा तो उसने ऊपर की तरफ कमर उछाली लेकिन मैं उचक गया. अंकल ने मेरे बाल सहलाए और कहा- प्यार से कर न मेरी जान … तुझे बहुत मजा आएगा.

वो टांगें फैलाए हुए लंड ले रही थी, बोली- राज तुम मुझे ऐसे ही चोदोगे न?मैंने कहा- हां मेरी रंडी, तू अब मेरा लौड़ा रोज लेगी. ये सब करते समय मैं अपने हाथ को उनके चूचों से चिपकाता हुआ ले गया था.

कुछ ही समय में वो मुझसे खुलने की कोशिश करने लगी लेकिन मैं उससे ज्यादा बात नहीं करता था. मेरी मम्मी उत्तेजना से भर गईं और उन्होंने निखिल के बालों को पकड़ लिया. अब शेखर ने चैट रूम में आ-जा रहे लोगों की तरफ़ ध्यान नहीं दिया और अपना तीसरा पैग खत्म करके चौथा पैग बनाने लगा.

वो भी लगातार ‘आह आह आह आह …’ कर रही थीं और कमर हिला हिला कर अपनी चूत को मेरे मुँह पर रगड़ रही थीं- आह … आह … आग लगा दी आह!अब उनके चेहरे से साफ पता चल रहा था कि वो अब बहुत तेज तेज लंड मांग रही हैं.

तभी उसने एक झटके में अपना लंड बाहर निकाल लिया और मुझे सीधा बिठाकर मेरे मुंह में लंड दे दिया और झटके देने लगा. लंड का सुपारा छेद पर लगा था … जैसे ही छेद ने मुंह खोला … मैंने जोर से झटका लगा दिया. फिर उसने कोमल की चादर हटा कर उसे पूरी नंगी कर दिया और हम दोनों कोमल पर टूट पड़े.

इसका नतीजा कुछ देर बाद ये निकला कि वो लड़का मेरे बाथरूम में नंगा हो कर घुस आया. उसने आगे पीछे कैसे दो लंड लिए?दोस्तो, कहानी के पिछले भागसेक्सी जवान विधवा की चूत में लंडमें आपने पढ़ा कि मैं आर्यन अपने भाई मयंक के साथ एक कामातुर विधवा औरत की चुदाई कर रहा था.

उसने भी मेरे लोवर में हाथ डालकर लंड को बाहर निकाल लिया और सहलाने लगी. दोस्तो, सेक्स करते टाइम कभी जल्दीबाजी न दिखाओ, जितना आराम से और जितना रिलैक्स करके आप सेक्स करोगे, उतना ही आपको मजा आएगा और आपको टाइम ज्यादा मिलेगा. ये सुनकर मैंने अपनी गति बढ़ा ली और लिंग को ज़ोर ज़ोर से उसके अन्दर बाहर करने लगा.

अंग्रेजी सेक्स की वीडियो

इतनी सब बातें होने के बाद मैंने उससे पूछा कि तुमको मुझसे बात करके कैसा लगता है?उसने हंस कर कहा- अच्छा लगता है.

समीर ने मेरी भी गांड चाट चाटकर ढीली की; फिर मुझे सीधे लिटाकर मेरे दोनों पैरों को उठा कर अपने कंधे पर रखा. मैंने कहा- आंटी मैंने कुएँ में छलांग लगाना बंद कर दिया … मुझे मजा नहीं आता. थोड़ी देर बाद मीरा ने भी अपनी एक टांग उठा कर निखिल की कमर पर रख दी.

उधर सनी भी रवीना को चोदने में सफल हो गया था और वो भी जब तब रवीना को चोद देता था. स्नेहा- फिर क्या हुआ दीदू?नेहा- बड़ा मजा आ रहा तुझे मॉम-डैड की चुदाई का सुन कर. एक्स एक्स एक्स बीएफ धकाधकप्रभा ने फिर से कहा- तो करोगे मुझसे दोस्ती?मैं- ठीक है, आज से हम दोनों दोस्त हुए.

हम जिसके घर आए हैं, वो कौन है? क्या आप कॉलगर्ल हो और अगर हो, तो क्यों? अगर कोई कमी है तो मैं पूरी करूंगा. इस घटना के बाद मेरी नजरें मां की चूत और मम्मों को नहीं भुला पा रही थीं.

अब जब भी मैं लंड को चुत में दबाने की कोशिश करता था, तो उसे दर्द होने लगता था, जिससे वो कराह उठती थी. सोनम के कोमल हाथों में कुछ पल के लिए ही सही, पर उसका लौड़ा जरूर हाथों से सहलाया जा चुका था. मैंने फिर थोड़ा आराम से एक और झटका मारा, तो मेरा आधा लंड उसके अन्दर तक घुस गया.

झड़ते ही वह तो एक कुर्सी पर ऐसे बैठ गया जैसे कि उसकी सारी जान निकल गई हो. अंकल ने झुंझला कर मुझे सोफे में सर नीचे और पैर ऊपर करके लेटा दिया और मेरे गले को हल्का सा लटका दिया. मीरा इस खेल में कोई कमी नहीं चाहती थी, तो उसने सोचा कि निखिल को आज रात दूध में सेक्स की गोली मिला कर पिला देती हूँ ताकि ये घोड़े की तरह दोनों की चुदाई करे.

पांच आसनों में फरियाल की चुत को चोदने के बाद मैं उसको आखिरी मिशनरी पोजीशन में लेकर आया.

इस सेक्स चैट को पढ़ने के बाद मैंने रुबिका का मोबाइल रख दिया और लंड चुसाई की बात सोचते हुए अपने बिस्तर पर लेट गयी. मैनेजर ने साहिल शाह नाम के एक लड़के को बुलाया और उससे कहा- ये राज सर हैं, हमारी गुड़गांव वाली ब्रांच से आए हैं.

हर तरह के आदमी आते थे, जो मुझे नौंचते थे, खाते थे, काटते और मैं शर्म की वजह से कुछ नहीं बोल पाती थी. मैंने चाची को एक बार फिर पकड़ा और पीछे से दिख रही गांड में अपना लण्ड अड़ा दिया. अबकी बार मैंने काफी सारा तेल उसकी चूत और अपने लंड पर लगाया फिर मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत पर सैट किया और एक धक्का मारा.

पसीने से भीगी हुई सोनम कुछ देर के लिए वहीं सोफे पर बैठ गयी और उसने जी भर के पानी पीकर अपना सूखा गला तर किया. मैं मन ही मन सोचने लगा कि कोई इतना मूर्ख भी कैसे हो सकता है कि ऐसी खूबसूरत बीवी को भी ना चोदे. अब जब नीचे वाले बाबूलाल ने ही हां कह दी थी, तो मैं कौन होता था ना बोलने वाला.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी अब कल्पना के लिए कोई चेहरा भी होना चाहिए जो कि मेरे विचार में था ही नहीं. यकीन मानिए … मैंने महसूस किया कि मेरे देखने से वह शर्म और हया से भर गई और अपना बदन दोनों हाथों से ढकने लगी.

देहाती सेक्सी व्हिडिओ

अब खाना तैयार था लेकिन हम नहाये नहीं थे, तो हमने बाथरूम में एक कुर्सी खींच ली. हम दोनों के बीच इतनी गर्मी बढ़ गयी थी कि दोनों को पसीने आने लग गए थे. एक दिन भरी दोपहर को छुट्टी के दिन सोनम अकेली शॉपिंग करके अपने पति के ऑफिस पहुंची.

डैड का पूरा लंड गप से मॉम की चूत में घुस गया और मॉम लौड़े पर उठक बैठक करने लगीं. सही सोच रहा है भोसड़ी के … मैं अपनी चुत में खीरे ले रही हूँ … तो तेरा लंड भी ले सकती हूं … प्यासी हूँ मादरचोद!”बस ये कह कर भाभी ने फिर से मेरे होंठों को अपने मुँह में ले लिया. सेक्सी बीएफ सोते समयहालांकि मेरा भी पहली बार का मामला था तो मैंने भी मन बना लिया था कि साली की चुत तो चोदनी ही है … अब चाहे ये रोये या हंसे.

इतने में दीदी ने मेरी शर्ट के बटन खोल दिए और शर्ट को मेरे जिस्म से अलग कर दी.

दो मिनट चूसने के बाद मैंने फिर से अपना लौड़ा भाभी के मुँह में कंठ तक घुसा दिया. मेरी गांड चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैं चिकना हूँ, मेरा रंग गोरा है, सभी लोग मेरी चुम्मी लेते रहते थे.

मैं भी अपना पूरा लंड आंटी के मुँह में पेल रहा था और उनके मुँह को चुत समझ कर चोद रहा था. अब उसने धीरे-धीरे धक्के देने शुरू कर दिए मुझे ऐसा लग रहा था कि वह मेरा मुंह नहीं मेरी चूत चोद रहा है. वो डॉगी स्टाइल में आ गई, मैंने पीछे से उसकी चूत में लंड पेल दिया।मैं उसके बाल पकड़ कर उसे चोदने लगा.

फिर मेरी बेटी ने किसी अश्लील फ़िल्म की रंडी की तरह शहज़ाद का पूरा का पूरा लंड अपने मुँह में घुसा लिया.

मैंने चोदते चोदते फ़लक से पूछा- फ़लक, सच बताना, क्या तुम पहले किसी से चुदी हो?फ़लक- नहीं, सर मेरा यह पहली बार है, सच कह रही हूँ. तो वह वैसलीन लेकर आए और उन्होंने मेरी गांड में उंगली की मदद से ढेर सारी वैसलीन मल दी. मगर मैंने देख लिया था कि उसकी मम्मी जाग रही थीं और अपनी टांगों के बीच अपने हाथ से कुछ रगड़ रही थीं.

अफ्रीकन बीएफ सेक्सउन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया और …नमस्ते दोस्तो, मैं चुदाई की दीवानी शबनम हाजिर हूँ एक नई कहानी लेकर।मेरी पिछली कहानी थी:मामा जी ने चुत चुदाई की होली खेलीफिर से मेरी चूत में खुजली हुई और मैंने अपने जेठ का लंड ले लिया. जब वो चाचा के घर गयी तो उसने खिड़की से क्या देखा!हाय फ्रेंड्स, मैं सोनिया कमल … सेक्स कहानी को आगे लेकर हाजिर हूँ.

जीन युटुब

दस मिनट तक बात करने के बाद भाभी उठीं और मुझे बेड पर धक्का देकर मेरे ऊपर चढ़ गईं. मैंने लंड चुत में पेल तो दिया मगर मुझे आंटी की चुत मारने में मजा नहीं आ रहा था … इसलिए मैंने लंड खींच लिया और चुदाई के लिए मना कर दिया. शेखर- जी शुक्रिया। वैसे मन तो आपने मोह रखा है हमारा, जब से वो आँखों पर पट्टी वाले खेल के बारे में सुना है आपके पति, से तब से मेरा मन बस उसी ख़्याल में लगा हुआ है कि इतना रोमांचक होता होगा वो खेल … बिना देखे एक दूसरे के भीतर समा जाना और अपनी आत्मा को तृप्त कर लेना!धारा- सच कहूँ तो मुझे भी वो खेल बहुत पसंद है, एक अलग ही रोमांच है उसमें.

2 मिनट तक सुनीता का मुखचोदन करने के बाद उसने मुझे जल्दी से चोद देने के लिए कहा जिससे कोई आकर हमारी रासलीला में विघ्न न डाल सके और हम अपनी तृप्ति को पा सकें. मैं नीचे बैठकर उसके पास गई और उसका लंड अपने मुंह में रखकर चूसने लगी. कहाँ तो वो इस कश्मकश में था कि धारा को कैसे मनाए इस खेल के लिए और यहाँ तो धारा ने खुद ही उसे आमंत्रित कर दिया था.

ये फोन जब आया, तब छत पर उन दोनों की चुदाई का खेल शुरू होने वाला था. वह बोली- सर, देख लिया, अब बदल लूँ?मैं- इंटरव्यू में फेल होना चाहती हो क्या?फ़लक ने नीचे का हाथ हटाकर अपना मुँह छिपा लिया. यूं ही बेताबी से मेरे होंठों को चूमती हुई भाभी नीचे को आ गईं और उन्होंने मेरी गर्दन पर चूमना चूसना शुरू कर दिया.

मैंने बच्चों का पूछा तो वो बोली- दो अंदर पढ़ रहे हैं और शीना मार्किट गयी है. मैंने एक दो बार दोबारा कॉल करके देखने का प्रयास किया लेकिन रोहन ने कॉल का उत्तर नहीं दिया।कुछ देर बाद फिर से रोहन का मैसेज मिला- कैसा लगा राज जी?मैं- सुंदर जिस्म है नेहा का.

मयंक ने धीरे से लंड को गांड के अन्दर से आधा बाहर खींचा और फिर अन्दर घुसा दिया.

मगर कहते हैं ना कि कोई किसी कांड को करने का मन बना लो तो सब खुद ब खुद हो जाता है. फ्री देसी बीएफ वीडियोतो इस पर मेरी बेटी उससे गुस्सा हो गयी और उसने लिखा था कि अब मैं जब तुम्हारा लंड अपने मुँह में लूंगी, तभी तुमसे बात करूंगी. सेक्सी वीडियो बीएफ नया वालामैंने हिम्मत करके कुछ दिन के बाद फिर से मैसेज किया, फिर कोई जवाब नहीं आया. उस दिन मैंने कोमल को दो बार रगड़ा और उससे किसी दूसरे मर्द के साथ मिल कर सैंडविच चुदाई की बात भी की.

कुछ देर सोचने के बाद वो बोले कि तुम ऐसा करो कि तुम शहज़ाद को अपने साथ लेती जाओ.

वैसे मैंने इसलिए किया कि तेरी बहन मेरी सहेली है और उसकी चुत में आग लगी है. शेखर को अब समझ आ चुका था कि धारा की चूचियों को सजीव रूप में बिना किसी दीवार के भोगने के लिए उसे उसके ब्लाउज़ को ऊपर सरका कर निकलना पड़ेगा।उसने भी बिना कोई देरी किए धारा के ब्लाउज़ को ऊपर की ओर सरका कर पूरी तरह से बाहर निकाल दिया. हर झटके पर चाची आह … आह … मेरे राजा … चोदो … चोदो अपनी चाची को … हाय मेरे बलमा … जोर से करो अब … और जोर से … चूचियों को भी मसलते जाओ … आह … ईईई, बहुत मज़ा दे रहे हो … हाँ मेरे राजा … चाचा की कसर पूरी कर दो.

जब मैं उसकी चुदाई करता था तो उसको बोलता था- कोमल सोचो, अगर इस डिल्डो की जगह असली मोटा लंड तुम्हारी गांड में हो … और हम दो मर्द मिलकर तुम्हारी चूत और गांड चोदें तो तुम्हें कितना मज़ा आएगा. राजेश बोला- क्यों यार?मैं बोली- जब दोस्त के प्लाट पर घर बना ही लिया है … तो उस घर में खेलने के लिए बच्चे भी तो चाहिए. फिर मैंने हल्का सा मेकअप किया और सोफे पर बैठ कर उन लोगों का इंतजार करने लगी.

ऑनलाइन वीडियो चैट

वो मुस्कुराती हुई बोली- क्या हुआ बाबू … मुझसे डर गए क्या?मैंने कहा- क्यों?तब वो कुछ नहीं बोली और हंसती रही. फिर जैसे तैसे गर्मी की छुट्टी निकल गईं और हम दोनों ने एक ही कॉलेज में प्रवेश लेने की सोची. कभी मैं अपने दोनों हाथों से चाची की कमर को कस लेता था तो कभी उनके चूतड़ों पर हाथ रख लेता.

निखिल ने भी रीमा की चुत सहलाई, जो उसके वीर्य और रीमा की चुतरस से भरी हुई थी व थोड़ा थोड़ा रस बहा रही थी.

उर्वशी की बात पर मैं उसको हंस कर बोल देता कि बस ऐसे ही!कुछ दिनों तक ऐसा ही चलता रहा.

इसी के साथ चाचा ने दूसरा धक्का मार दिया और अपना पूरा लंड चाची की चूत में जड़ तक घुसेड़ दिया. ये सोच कर उसने तुरंत धारा को जवाब भेजा।उसने सावधानी से इस मैसेज को लिखा जिसमें उसने कहा- मैं आपकी भावनाओं का सम्मान करता हूँ धारा … और शुक्रिया इस बात के लिए कि आपने मुझे बाक़ी मर्दों की श्रेणी में ना रखते हुए मुझसे मिलने की इच्छा जतायी. हिंदी बीएफ वीडियो फुल वीडियोफिर अचानक से उसने अपना लंड मेरी चूत से निकाल लिया और मेरे बूब्स को काटना शुरू कर दिया.

मुझे शुरू से ही बड़ी गांड वाली आंटियां पसंद हैं; मैं चुपचाप उसको देखने लगा. जैसे मेरे सामने झुक झुक कर झाड़ू लगाना, बार बार मुझे अपना क्लीवेज दिखाना. सितारा ने अपने होंठों से मेरे होंठ पकड़े और पंजों के बल उचककर मेरे लण्ड का सुपारा अपनी चूत के होठों में फँसा लिया.

इस चुदाई स्टोरी में एक लड़की अपनी सहेली को अपने चाचा चाची की चुदाई का आँखों देखा हाल बता रही है. आंटी ने अन्दर ब्रा पैंटी नहीं पहनी थी तो गाउन में से आंटी के बूब्स और चुत साफ साफ नजर आ रही थी.

पीछे से चाची के चिकने गोल चूतड़ और पीछे से बाहर की ओर निकली हुई, आपस में चिपकी हुई दो मोटी फांकें, सुडौल पट और चिकनी कमर बहुत ही सुंदर लग रही थी.

दोस्तो, एक बार फिर से आपके सामने सेक्स कहानीपड़ोसी को पटा कर चुत चुदवा लीसे आगे की कहानी पेश है. बातें करते-करते ही हम दोनों नहाने चले गए, साथ में नहाए और कपड़े पहनने लगे. तभी उसकी चूत ने फिर से पानी छोड़ दिया और उसकी गीली चूत में लंड फच्च फच्च फच्च करके अन्दर बच्चेदानी तक जाने लगा.

अंग्रेजी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ मैंने उनकी तरफ आशा भरी निगाहों से देखा तो शायद उनके मन में कुछ बात आ गई. ये सुनकर मैंने अपनी गति बढ़ा ली और लिंग को ज़ोर ज़ोर से उसके अन्दर बाहर करने लगा.

दोस्तो, मैं आपको बता नहीं सकता कि भाभी की चुत चुदाई में कितना ज्यादा मजा आया. फिल्म देखते देखते मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और पूरा नंगा हो गया. मेरी रंडी चूत की प्यास नहीं बुझ रही थी क्योंकि मेरे शौहर दुबई में थे.

इंग्लैंड मटका

उसने कहा तो मैंने झट से अपनी चैन खोल कर लंड बाहर कर दिया, जो गर्म और कठोर था. एक दिन मेरी एक बहुत पुरानी सहेली का फ़ोन मुंबई से आया तो उसने ये बताने के लिए फ़ोन किया था कि अगले हफ्ते उसकी बेटी की शादी थी और हम दोनों को बुलाया था. वो हमारे लिए खाना भी बनाती थी और हम दोनों से चुत गांड भी चुदवाती थी.

अब मैंने अपना लौड़ा उसकी कोमल चूत पर सैट किया और ज़ोर से धक्का दे दिया. जो सुकून लंड को चूत में डालने के बाद मिलता हैं कहीं नहीं मिल सकता।ख़ुशी हो या गम … चूत चोद के आप ख़ुशी को दुगना कर सकते हैं और गम को भुला सकते हैं।यह सेक्स एडिक्ट गर्ल Xxx कहानी मेरे कॉलेज के समय की है जब मैंने अपनी दोस्त की बहन की चुदाई की। तब मैं और मेरा दोस्त दोनों 22 साल के थे.

उसने बोला- ठीक है फिर नाप गलत हो गया, तो बाद में मत कहना और आज शाम तक तो सूट फिर किसी कीमत पर नहीं मिल सकता.

मैंने उनके गालों को चूसना बंद कर दिया और मां से बोलने लगा- उमंह मांम्म्म्म किस दो ना. आज मेरे बेटे की वजह से तुम्हारा लंड मिल गया तो मेरा सपना पूरा हो गया. अह्ह की सिसकारी निकलती।अपनी एक उंगली रूपाली उसकी चूत के अंदर डालती और बाहर निकाल लेती।थोड़ी देर में नीतू की चूत पनिया गई और चूतरस उसकी चूत से टपकने लगा।रूपाली ने अपनी जीभ उसकी चूत के दाने पर रख दी।दाने पर जीभ पड़ते ही नीतू ने रूपाली के सर को पूरी ताकत से अपनी चूत के ऊपर दबा लिया.

बात आगे कैसे बढ़ी?दोस्तो, मैं अनुज आपकी सेवा में पड़ोस में रहने वाली हॉट सेक्सी भाभी की कहानी लेकर हाजिर हूँ. पुलिस को आया देख कर अम्मा एकदम से घबरा गईं और शटर गिराने को उठने लगीं. कुछ देर बाद प्रियंका ने अपने भाई से कहा- भाई एक बार फिर से गांड में लंड डालो … हो सकता है कि अब दर्द न हो.

दिल कह रहा था कि एक बार चैट रूम में जाकर देखे कि कहीं धारा ऑनलाइन तो नहीं?मगर दिमाग़ कह रहा था कि उसने तो कहा है कि वो बाहर जा रही है फिर शायद अभी बाहर ही हो!यही सब सोचते सोचते शेखर ने धीरे-धीरे लगभग 3 पैग पी लिए थे।रात भी गहरी होने लगी थी; लगभग साढ़े दस बज चुके थे।शेखर एक बार उठा और बाथरूम में जाकर हल्का हो आया.

बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी: फिर मैंने उसे बोला कि मुझे बिल्कुल चिकनी चूत पसंद है तो वो बोली कि पहले मैं अपनी चूत की बहुत सफाई रखती थी पर जबसे मेरी प्यास अधूरी रहनी शुरू हुई तो मेरा ये सब करने का मन नहीं करता था. उसकी बढ़ती सांसें उसकी सहमति की गवाही दे रही थीं, पर मैं कोई जल्दबाज़ी नहीं चाहता था.

वो कपड़ा भी एकदम पतला सा था, जिससे मेरे निप्पलों की नोकें भी एकदम साफ दिख रही थीं. तभी बाजू वाले कमरे से उसकी सहेली की आवाज आई- शोर कम करो … बाजू में और लोग भी रहते हैं. मुझे जोश चढ़ गया और मैंने अचानक से खड़े होकर आंटी को पीछे से पकड़ लिया.

मैं थोड़ी देर बाद उनके पास आया तो देखा, वो मुझे नजरअंदाज करके रसोई में काम करती रहीं.

अब उनके दोस्त ने मुझे फिर से बेड पर पटक लिया और फिर से मेरी गांड में अपना लौड़ा डाल दिया. रूपाली भी अपनी जीभ से चूत के हर कोने को चाटने में लगी हुई थी।अपनी जेठानी नीतू की चूत रूपाली चाटते हुए उसके चूतड़ों से भी खेल रही थी दोनों को अब अब इस में मजा आने लगा था।थोड़ी देर बाद दोनों अपनी जगह बदलने की सोची. दोस्तो, यह थी मेरी टॉयलेट सेक्स कहानी!शायद आप में से बहुत से पाठकों को यह काल्पनिक लगेगी या बहुत लोग इस पर विश्वास नहीं कर पाएंगे … लेकिन आप सभी जानते हैं कि मैं केवल वास्तविक कहानियां ही आपको पढ़ने के लिए अंतर्वासना पर अपनी लेखनी के माध्यम से रुचिकर बनाकर आपके समक्ष प्रस्तुत करता हूं.