इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर इंग्लिश में वीडियो में

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्स हिंदी भाषा: इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो, वो भी कुछ न कहती। कभी-कभी तो खेल खेल में मैं उसे गिरा कर उसके ऊपर चढ़ जाता और उसे इधर-उधर मसल देता।ऐसे ही हम दस-बारह रोज मजा लेते रहे। फिर एक दिन जब हम तीनों यही सब खेल रहे थे.

सेक्सी देखने को

मैंने अपने सारे कपड़े ढूंढे, पेंटी मिली पर वो पेंटर के सफ़ेद रंग से रंगी हुई थी, पर ब्रा नहीं मिल रही थी. रानी चटर्जी के वीडियो सेक्सीअब मैंने फिर से डिब्बे से तेल निकाल कर अपनी त्रिपतिव्रता पत्नी की गांड पर मल दिया और अपनी दो उंगलियों को अन्दर घुसेड़ दिया.

फिर कुछ देर में ही वो भी मेरा साथ देने लगी। करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों ही साथ में झड़ गए।कुछ देर बाद जब हम लोग उठे और चादर को देखा तो उस पर खून लगा हुआ था। वो मुस्कुराने लगी और मुझसे चिपक गई।फिर हम दोनों से साथ में बाथ लिया और थोड़ी देर में ही दूसरा राउंड भी स्टार्ट हो गया।उस दिन मैंने उसे दो बार चोदा और उसके बाद भी हमने खूब चुदाई की. माधुरी दिक्षित की सेक्सी वीडियो मेंमेरी भी मिडल बर्थ थी और मेरे ठीक सामने उसकी बर्थ थी।अब तक हम दोनों में कोई बात नहीं हुई, जैसे ट्रेन आगे को चली तो थोड़ी देर के बाद मुझे ठंड लगने लगी और कानपुर आते-आते सर्दी के मारे मेरा बुरा हाल हो गया।मैंने कानपुर स्टेशन पर उतर कर चाय ली.

मैं इस समय सारे कमरे में वासना की तीखी गंध महसूस कर रहा था, यह मेरी सबसे पसंदीदा खुशबू है! खासतौर से तोली का गांड घिसता लंड मदहोश कर देने वाली गंध छोड़ रहा था.इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो: हम लोगों की लाइफ एकदम मस्त चल रही थी, दोनों खूब सेक्स एंजाय करते थे और शादी से पहले के अफेयर के बारे में भी बात करते थे, अपनी सेक्सी कहानी एक दूसरे को बताते थे.

तभी 18-19 साल की एक लड़की आई, उसने पूछा- मैं अंदर आ सकती हूँ क्या?मैंने उसको अंदर बुला कर बिठाया.‘डफर, ये सुसु तोड़े है ये तो मेरा लंड तुम्हें थैंक यू बोल रहा है देखो ये तो सफ़ेद है.

वीडियो सेक्सी पिक्चर सेक्सी पिक्चर - इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो

मैं भी मस्ती से उसके मम्मों को मसलने में लगा था। वो सिसकारते हुए कह रही थी- चूची मुँह में लेकर चूसो ना.उसके गुलाब के किसी गुलाबी फूल की तरह कोमल लबों के रस को मैं पीता चला गया.

फिर 4-5 आसनों में और चुदाई की। फिर हम दोनों झड़ गए और कुछ देर वहीं लेटे रहे।फिर कुछ देर बाद अपने शरीर से रेत झाड़ कर हम दोनों ने अपने-अपने कपड़े पहन लिए।अब तक रात के 9 बज चुके थे. इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो मेरे पैर में मोच भी आ गई थी।वो मुझे इस हालत में देखकर एकदम शांत पड़ गई और मैं ऐसे ही गिरा हुआ पड़ा रहा।इतनी देर में दीदी की आवाज़ आई- क्या हुआ?फिर उसने मेरी तरफ देखा और दीदी को जबाब दिया- कुछ नहीं.

प्लीज़ मेरे पति ने भी कभी ऐसा नहीं किया।कपिल बोला- साली रण्डी, एक लंड से तुझे संतोष ही नहीं था। तुझे दो मर्दों के ही लंड चाहिए, तो अब नाटक क्यों कर रही है.

इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो?

काफी लम्बी चुदाई के बाद हम दोनों थक गये थे लेकिन मैं झड़ नहीं रहा था. मैंने उसके आराम के लिए अपनी उंगलियाँ नताली की गांड से बाहर निकाल ली, तब अनातोली अपनी उंगलियों का हुक बनाकर मेरी बीवी की गांड में फंसाकर खींचने लगा! तोली के इन शैतानी क्रिया-कलापों से उह-आह करती मेरी पत्नी बहुत उत्तेजित हो उठी और अपने हाथ द्वारा अपने गांड के छेद को फ़ैलाने लगी. मैं पूरे जोश में था।हम दोनों एक-दूसरे को फिर किस करने लगे।इसके बाद आंटी बोलीं- जो भी करना है जल्दी कर लो.

दोस्त की बहन की चुदाई में दीदी ने मदद की-2दोस्त की बहन की चूत मिलने के चक्कर में मुझे अपनी दीदी की चूत की चुदाई का मजा मिल रहा था। दीदी चुदाई के नए आसनों के बारे में जाना चाह रही थीं।अब आगे. मार मेरी गांड मुदस्सर… मेरी चूत तो फिर से बहुत मस्त हो रही है मुदस्सर, आह्ह. उसकी चुत रस से लबालब थी।मैंने उसकी बुर को धीरे-धीरे उंगली डाल कर सहलाना चालू किया.

मैं उसकी चुची मसलने लगा इस पर उसकी साँसें तेज़ होने लगी, उसकी सिसकारी निकलने लगी- सस स्स स्स्स्स सस्स… आआअहह…जिससे मेरा जोश और बढ़ गया अब मैं खुल कर उसके होंठों का रस पी रहा था. उस वक्त इस साईट पर हफ्ते में सिर्फ 4-5 स्टोरीज या इससे भी कम स्टोरीज आती थी लेकिन अब हर रोज 5 रंग बिरंगी स्टोरीज पढ़ कर बड़ा आनन्द आता है. फिर तीन उंगलियां घुसेड़ दीं। अब उसे मजा आने लगा था।मैंने जब देखा कि उसकी चूत का मुँह खुल गया है तब मैंने उसको चित्त लिटा कर उसकी चूत में अपना लंड डालने की कोशिश की.

खैर मैंने धीरे से उसकी पेंटी उतार दी और उसकी चूत पर हाथ रखा तो वो इतनी गीली नहीं लगी जितना उसे होना चाहिए था. हालांकि वो उस समय काफी बूढ़े हो चुके थे पर उन्होंने अहिल्या के पिता से उसका हाथ मांग लिया.

वो दोनों अक्सर टाइम निकाल कर पिक्चर देखने जाते, वहाँ रोहित सुनीता के मम्मे दबाता और सुनीता की पेंटी तक में हाथ डाल देता जिससे सुनीता हॉट होकर रोहित के साथ और चिपक जाती, सुनीता भी रोहित का लंड पैंट से निकाल कर सहला देती.

मैं उसे इस्तेमाल करने की कोशिश पूरी करूँगा।मुझे चाची की चुदाई की कहानी लिखने के लिए बहुत जी करता है.

जबकि मुझे यह अब ग़लत लगता है।मुझे लगता है कि यार अगर कोई शादी के बाद भी खुश नहीं है. और अगले ही पल ब्रा तो जमीन पर थी।अब मैं उसके मम्मे दबा रहा था और चूस रहा था। पर क्या बताऊँ दोस्तों. लेकिन मुँह में एक और मोटा लंड घुसा था तो मेरी चीख घुट गई।अब मेरी चुत चुदाई का दौर चालू हो गया था। मेरा मुँह और चूत चुद रहे थे और अचानक विक्की ने अपनी उंगली मेरे गांड में डाल दी।यह देख कर आशीष ने कहा- अब तुम पोज़िशन चेंज कर लो।यह कहते हुए वो चित लेट गया।मैं तुरंत समझ गई कि वो क्या चाहता है, मैंने तुरंत उसका लंड पकड़ा और अपनी चूत में लंड लगाते हुए बैठ गई।एक ‘फक्क.

आप बस कल्पना कर सकते हैं।मैं उसके साथ नीचे आ गया और मैं उसकी कमर में हाथ डाल कर चलने लगा। हम दोनों सी-बीच पर आ गए, शाम का टाइम होने के कारण वहाँ बहुत भीड़ थी। सुरभि भीड़ के पास बैठने को बोली. ! मेरी कुछ सहेलियां आने वाली हैं तो कोई अच्छी सी रेसिपी सिखाओ ना मुझे!मैंने जल्दी से ‘हाँ’ कहा और वहाँ से निकलने के लिए आगे बढ़ गया। अंजलि भी वहाँ से मेरे साथ निकली। हम दोनों बातें करते-करते चलने लगे।जाते टाइम अंजलि ने कहा- मेरा गिफ्ट कहाँ है?तो मैंने भी उससे कहा- क्या चाहिए तुझे बोलो?उसने कहा- ओके. लेकिन मैं उसकी चूत देखने को बेचैन था तो मैंने उसे दोबारा कहा और उसने धीरे धीरे अपनी पेंटी अपनी जांघों से सरका कर पैरों से निकाल दी.

मेरी बॉडी कसरती है क्योंकि मैं बॉडी बिल्डिंग करता हूँ। मैं एक गाँव में तहसील में हूँ। मेरा लंड 6.

अन्दर जाते ही उस रंडी ने अपना ब्लाउज और पेटीकोट निकाल दिया और ब्रा और पेंटी में आ गई. तभी मेरी कज़िन सिस्टर की और उनके पति के बीच किसी बात को लेकर कहा सुनी हो गई और वो होटल की छत पर चली गई. फिर दुबारा यही… 3 बार ऐसा हुआ… चौथी बार लंड को उसने सैट किया, मैंने एक बार और जोर का झटका मारा और लंड थोड़ा सा अन्दर गया…दोनों की चीखें एक साथ निकली ‘आआअहह.

मैं आशंकित हो उठा, कहीं कोई उसकी आवाज न सुन ले और मैंने सोफे से उठते हुए दरवाजे को पूरा बंद कर उसकी सिटकनी भी लगा दी. कच्छे में नहीं।फिर उसने अपना शॉर्ट्स और अंडरवियर निकाल दिया और मेरे लंड के ऊपर आकर बैठ गई, बोली- चूसो मेरी चूची. उफ़ यार क्या नशा है उसके ऐसा करने में!और वो मुझसे लिपट गई, मैंने उसकी पीठ सहलाता रहा.

वो पूरा शर्मा गई और रोने लगी, मुझे इमोशनल ब्लैकमेल करने लगी- देख मैं तेरी माँ हूँ, प्लीज अपने डैड को मत बताना, तू जो कहेगा, मैं वो करूँगी.

उनकी बीवी 5 साल पहले गुजर गई हैं। वे गाँव में रहकर खेती संभालते हैं। मेरे सास-ससुर मेरे देवर के साथ दुबई में रहते हैं. मैं धीरे से उसके पास किचन में गया और उसके पीछे जाकर खड़ा हो गया, कहने लगा- अभी तक चाय नहीं बनी क्या?मेरा लंड उसके चूतड़ों पर लग रहा था तो वह समझ गई थी, वह मुझसे कतराने लगी.

इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो ’‘छीई…कितने गंदे हो आप!’इस तरह से मैंने कई बार अपनी पत्नी को बोला कि मैं उसको किसी मर्द से चुदते हुए देखना चाहता हूँ लेकिन वह हर बार गुस्सा होकर मना कर देती. मुझे अपनी माँ के साथ चुदाई की कहानी को खुल कर लिखने में थोड़ा संकोच हो रहा था।आप मुझे मेरी सेक्स स्टोरी के बारे में मेल कीजिए।धन्यवाद।[emailprotected].

इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो फिर अचानक से मैंने एक जोरदार सा झटका मारा और लण्ड बच्चेदानी पे जा टकराया और मेरा वीर्य छूट गया. मैं उसे देख कर बस हीरो की तरह अपने बालों में हाथ घुमा रहा था।वो फिर से बोली- मैं कुछ पूछ रही हूँ।मैं मुँह खोल कर बोला- क्या?वो हँसी और बोली- हाय।मैंने कहा- हैलो।फिर वो वह बैठ गई और हम लोग बातें करने लगे। शायद पहली बार मैंने नीली आँखों वाली कोई लड़की अपने इतने करीब देखी थी।बातों ही बातों में उसने बताया कि वो भी चेन्नई से है, मैं भी वहीं से बी.

इतने प्यार से मत चोद।मैं हंसकर आंटी को और जोर से चोदने लगा। कुछ मिनट बाद मैंने उनकी चुत में ही माल गिरा दिया और उनके ऊपर ही गिर गया।आंटी तो आज 3 बार झड़ गई थीं और जैसे ही मैं झड़ा, तभी कुछ सेकण्ड में वो भी झड़ गई थीं।फिर हम दोनों वैसे ही सो गए और सुबह आंटी जल्दी उठ कर बाथरूम में जाकर मूत के आईं। फिर से मेरे बाजू में आकर मेरे सर पर अपना हाथ घुमाने लगीं। मैं भी जग गया.

बीएफ वीडियो बंगाली सेक्सी

तो तुम्हारे अन्दर ही पानी छोड़ूँगा।’कुछ देर बाद हम दोनों शांत हो गए।वो मेरे ऊपर ही लेट गया।‘अगर तुम ‘हाँ’ ना करतीं तो शायद मैं तुम्हारे साथ जोर आजमाइश कर देता। तुम इतनी हॉट हो कि कोई भी तुम्हें चोदना चाहेगा। मैंने तो तुम्हें देखते ही तुम्हें चोदने की सोच लिया था।’‘अच्छा हुआ कि तुमने बता दिया. हम वहाँ से निकले, अभी थोड़ी दूर ही हम आये थे कि अचानक जोरदार बारिश शुरू हो गई तो हम एक पेड़ के नीचे रुक गये. V पर सेक्सी ब्लू फिल्म देख रही थी और अपनी चुत में मूली डाल कर हिला रही थी। उम्म्ह… अहह… हय… याह… कर रही थी.

मैं एक सलाहकार भी हूँ, आप सभी मेरे से अपनी व्यक्तिगत जिंदगी की उलझनें शेयर कर सकते/सकती हैं. पूरी वर्जिन है क्या तू?मैंने सिर हिला के ‘हाँ’ किया।उषा दीदी मेरे हाथों को पकड़ कर ले गईं और मुझे बिस्तर पर लेटा दिया। सभी मेरी चूत को ऐसे देख रहे थे मानो नई दुल्हन घर में आई है और सब उसको ही देख रही हैं।उषा दीदी ने अपना हाथ जैसे ही मेरी चूत पर रखा, मेरे बदन में कंपकंपी सी मच गई. एक्सपीरियंस की कमी कह लो या जल्दबाजी… फोरप्ले के नाम पे बस इत्ता ही हुआ… ना मैंने उसकी चूत चाटी ना ही उसने मेरा लंड चूसा।मैंने थोड़ा सा थूक उसकी चूत पर लगाया और फिर चूत को उंगली से सहलाया.

गुरूजी के हाथ अब रमा के घुटनों के ऊपर आ चुके थे और रमा की सुडौल जांघों की मालिश कर रहे थे.

लेकिन जैसे ही मैंने उसकी टी-शर्ट उतारना चाही, उसने मुझे रोक लिया।उसने कहा- आज मैं पहली बार तुम्हारे साथ पूरी सुहागरात मनाना चाहती हूँ. ये गलत है?लेकिन उन्होंने मेरी एक न सुनी और मेरे ऊपर चढ़ कर मेरे होंठों को चूसने और चूमने लगीं। मौसी कहने लगीं- मेरी प्यास बुझा दे. वो इतनी कामुक हो गई थी कि 2 मिनट में ही वो झड़ गई और मैं उसका सारा माल जीभ से चाट गया.

उसके दूध से भरे दो लोटों को ही देखती रहती थीं। मैं हमेशा ही उसके नाज़ुक जवानी के खिलते फूल पर अपने बदन का अहसास करना चाहता था।एक दिन जब मेरे यहाँ से सभी लोग मेरी मौसी के देवर की शादी में गए हुए थे। अचानक से कोमल के भाई गोलू की बॉल मेरी छत पर आ गिरी। उसके छोटे भाई ने आकर आवाज़ लगाई- राहुल भैया मेरी बॉल आपकी छत पर आ गई है. अजीब लगा तूने छुआ तो!मैंने उसको पकड़ा और उसका चेहरा अपने करीब लाकर पूछा- यह बता कि अच्छा लगा या नहीं?तो बोली- हाँ!तो मैंने कहा- प्यार कौन कह रहा है. यह हिंदी चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!कहती- साला वो और तू पीछे पड़े हो बेचारी मेरी चुची के!इतना कहते ही मैं बोला- नींबू हैं!उसने मुझे मुक्का मारा, कहती- साले बड़े हैं.

फिर दुबारा से लंड पोंछ कर पेल दिया।अब मैंने जोर-जोर से धक्का मारना शुरू किया। कुछ ही पलों में उसने फिर से चुत झाड़ दी।अबकी से उसने मुझे जोर से पकड़ कर कहा- मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा. उस दिन मैं होटल में रही, हम दोनों ने 3 बार सेक्स किया और अगली रात भी उसने मुझे सोने नहीं दिया.

लेट नाइट हम घर आए, फिर हमने घर पर नंगे होकर पहले तो डांस किया फिर ग्रुप सेक्स किया. इस प्रक्रिया में नताशा को अपने घुटनों से उठना पड़ा लेकिन उसके साथ-2 रूसी दढ़ियल भी अपनी स्थिति बदलता रहा और बिना लंड को गांड से बाहर निकाले नताशा को अपने ऊपर लिए-2 ही बेड पर लेट गया. मेरी हम उम्र मौसी की चुदाई मौसी की पहल पर ही हुई… कैसे?मेरी उम्र 27 साल की है। यह बात लगभग कई साल पहले की है, जब मैं बी.

पहले तो सोचा कि किसी वेटर से पूछता हूँ कि कुछ जुगाड़ करवा दे तो… लेकिन फिर डर लगा कि अगर कोई काल गर्ल मिल भी गई तो पता नहीं कैसी होगी?यह सोच कर काल गर्ल का विचार छोड़ दिया और लैपटॉप पर अन्तर्वासना पर सेक्स स्टोरीज पढ़ने लगा.

लंड और चूत के संगम ने माही के तन मन में आग लगा दी- ऑश राआाज ओह… ऊऊऊऊईई शशश…बहन की चूत में लंड घुसा कर बहन की चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!खड़े खड़े माही की चूत में लंड नहीं घुस सकता था फिर भी मैं अपने लंड को माही की चूत पर घिसते हुए उसकी जांघों में अंदर करता और फिर बाहर खींचता. टेक ख़त्म होने के बाद जॉब मिला नहीं था और घर से पैसे ले नहीं सकती थी. ’ भरती हुई मेरा सारा माल रबड़ी की तरह गटक गई।मैं उसके ऊपर निढाल हो गया।उस दिन मैंने उसको अलग-अलग तरीके से बार-बार चोदा। फिर हमने कपड़े पहने, तो सोमी से चला नहीं जा रहा था। फिर किसी तरह हम दोनों घर आ गए।उस दिन के बाद जब मन करता हम चुदाई करते हैं।अभी कुछ ही दिन पहले सोमी के पापा का ट्रान्सफर हो गया.

ये मैंने पता लगाया था।अब मुझे रूम में जाने की जल्दी पड़ी थी लेकिन आज मैं कुछ देर से कमरे में गया। मैं हॉल में टीवी देख रहा था. लगभग एक हफ़्ता ऐसे ही गुजर गया तो मैंने एक दिन उससे दोबारा पूछा तो वो फिर टाल गई.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… मुझे और ज़्यादा मजा आने लगा।मुझे उसकी जीभ का अहसास कुछ अधिक गीला सा लगा तो मैंने आँखें खोलीं. इससे तो बिल्कुल भी नहीं।तो मैं बोला- आंटी मैं आराम से करूँगा प्लीज़. या नीचे से ऊपर?मैंने जबाव में कहा- जैसी आपकी मर्ज़ी।तो वो बोलीं- मुझे ऊपर से नीचे चाहिए।मैंने हाँ की और वो बाथरूम में गईं और दसेक मिनट में वापस आईं।मैंने पूछा- इतना टाइम कैसे लगा?तो उन्होंने कहा- पहली बार सर्विस ले रही हूँ.

सेक्सी बीएफ सनी लियोन के सेक्सी

मैं दिखने में स्मार्ट हूँ इसलिए घर और बाहर हर जगह थोड़ी तारीफ हो जाती है.

बिल्कुल भी नहीं दिख रही थी।मैंने जैसे ही उनकी चुत पर हाथ रखा तो वो सिहर गईं, आंटी ने मुझे जकड़ लिया और गाली देने लगीं- चोद इस रंडी को मादरचोद. अब हम दोनों अपनी रास लीला में लग गए।उनका एक हाथ मेरी चूत में तो दूसरी मेरी चुची पे ‘आहहह…’ और उनके होंठ मेरे शरीर की आग भड़का रहे थे. यह हिंदी सेक्सी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!वो खड़े खड़े ही मेरी चुत में धक्के लगा रहा था, उसके लंड के घर्षण से मेरी चुत धीरे धीरे पानी छोड़ रही थी और वो पानी बह कर बेड पर गिर रहा था, मैं भी अपनी आँखें बंद करके चुदाई का मजा ले रही थी, उसके जोर के धक्कों से मेरा पूरा बदन हिल रहा था.

’ और अजीब सी मस्ती आँखों में लाती रही।उसके बाद मैंने उससे अपना लंड डालने के लिए पूछा, तो भी उसने सिर्फ गर्दन से इशारा करके ‘हाँ’ कह दिया। चूत तो उसकी गीली थी ही, बस मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रख कर रगड़ना शुरू किया और हल्का सा सुपारा फंसा कर लंड को उसकी चूत के अन्दर पेल दिया। उसको ज्यादा दर्द नहीं हुआ. वीडियो की आवाज सुन कर मैं जल्दी से उनके रूम में आया और पूछा- अभी कोई आवाज सी आ रही थी?माँ कैमरा छुपाने लगी तो मैंने एकदम से कैमरा ले लिया और उनके सामने ही वीडियो चालू कर दिया. भोजपुरी सेक्सी सेक्सी सेक्सी सेक्सीतो उनकी सफेद-सफेद चुची मुझे हिलती हुई दिख रही थीं।मैं चाची की चुची ही देख रहा था.

उसने मेरे मन के विचारों को शायद भाम्प लिया था इसलिए वो मेरे एकदम नजदीक खिसक कर पीछे से लिपट गई और मुझसे बोली- क्यों ब्रेक लगा रहे हो? मैं ऐसे ही तुम से लिपट जाऊँगी. मैं उस लंड से उसी चुदाई का आनन्द ले रही थी जिस लंड से मम्मी ने चुदाई का मजा लिया था.

मैंने दरवाज़ा खटखटने की सोची लेकिन कुत्ते की पूंछ कभी सीधी हुई है? मैं हर बार की तरह चाभी वाले छेद से अंदर झाँकने के लिए झुका. ऐसे मत कर, नहीं तो मैं चिल्ला पड़ूँगी और सब जाग जाएँगे।‘ठीक है, नहीं करुँगा।’ मैं बिस्तर से उतर कर नीचे खड़ा हो गया और झट से अपना पजामा और कुरता निकाल दिया और नंगा ही बिस्तर के किनारे ज़मीन पर खड़ा पायल की टांगें पकड़ कर किनारे खींच लिया।उसके चूतड़ बिस्तर के किनारे पर थे और टांगें ऊपर हवा में उठा कर खोल दी और अपने दाहिने और बायें तरफ करके उसके ऊपर झुक गया।‘हाय राम, ऐसे क्या ऊपर से खड़े खड़े ठोकेगा. अब मैं उससे डॉगी स्टाइल में चोदने लगा और वो अपनी जीभ से मेरी गर्लफ्रेंड की चूत को चोदने लगी.

यह हिंदी चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मेरा नंबर भी आ चुका था, मैं अपने लंड को पकड़े दो आदमियों के वीर्य से सने चेहरे और मुंह वाली अपनी पत्नी के सामने आकर लंड को उसके मुंह में घुसेड़ दिया. उन्होंने मुझे फिर से हग कर लिया पर इस बार उन्होंने बहुत टाइट हग किया जिससे उनके बूब्स मुझे फील होने लगे. उनकी डबल मीनिंग बातों को भी एंजाय करते हुए इग्नोर कर देती।एक लड़का तो उसके पीछे बहुत ही ज्यादा पड़ा था, वो रोज़ उससे किसी न किसी बहाने से मिलने लगा।मुझे यह अच्छा नहीं लगता था। जब मैं ये बात दिव्या से बोलता.

जब मैं पेशाब करने के बाद ऊपर को जाने लगा तो मेरी सासू माँ बोली- सुन्दर आ जाओ, सीमा (काल्पनिक नाम) की मम्मी तुमसे बात करने को कह रही हैं.

अच्छा नहीं लगता यार!मैंने कहा- ओके जब तुम्हें ठीक लगे, तब आगे बढ़ेंगे।फिर उसने कहा- चलो कहीं चलते हैं।हम दोनों घूमने गए और देर रात को वापिस आए. ‘साली छिनाल, नौटंकी करती है, चूत ने देख कितना पानी छोड़ा है!’ उसने अपनी उंगलियों को सूंघ लिया.

आपको अच्छी लगी या नहीं, बताएँ या आप मुझे कुछ सुझाव देना चाहें तो मुझे मेल कीजिए।[emailprotected]. लेकिन थोड़ी ही देर में निकाल दिया।राम ने उतनी देर में उसके बोबे इतने अधिक मसल डाले थे कि मम्मे लाल हो गए थे।दिव्या को देख ऐसा लग रहा था कि वो नशे में हो।फिर राम ने अपना लंड उसकी चुत में पेल दिया, दिव्या को थोड़ा दर्द हुआ और वो चीखने लगी- आ उहह. वो कुछ टेन्शन में थी तो मैंने पूछा- क्या बात है?तो उसने बताया- मैथ के सब्जेक्ट में दिक्कत हो रही है और मेरे पेपर आने वाले हैं.

मैंने 15 मिनट तक उसके दुग्ध कलशों और उसके होंठों को गर्दन को पेट को चूमा और चूसा. फिर उसने कहा- उम्म्ह… अहह… हय… याह… अब जल्दी जल्दी करो!और मैं जल्दी जल्दी झटके लगाने लगा. मेरी सेक्सी कहानी : जिस्म की वासना-1सुनीता अपने बीते जीवन की सेक्सी कहानी मुझे बता रही थी कि जब वो कॉलेज में थी तो वो बहुत ही सेक्सी बन कर रहती थी, और लड़कों की फाड़ कर रखती थी, मतलब कि शोर्ट ड्रेस पहनती थी और अक्सर बड़े बड़े मम्मे दिखा कर लड़कों के लंड खड़े करके रखती… अक्सर लड़के उसे बोम्ब कह कर छेड़ते थे, उसे भी इस छेड़छाड़ में मज़ा आता था.

इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो अभी मुझे स्कूल जाना है प्लीज़।मैं बोला- ठीक है।हम दोनों ने वापिस एक लंबी किस की और वो स्कूल चली गई। आज मैं बहुत खुश था कि आज मैं पहली बार सेक्स करूँगा और वो भी मेरी बहन के साथ. कुछ फोटो बिना चहरे की थी और कुछ में लड़की का चेहरा धुंधला किया हुआ था.

घोड़े की लड़की की बीएफ

पर आज मैं अलग मूड में आया था। मैं आज उसको हर आसन में चोदना चाहता था। इसलिए मैंने उसे डॉगी स्टाइल में आने को कहा और पीछे से जाकर उसकी गर्मा-गर्म चुत में लंड पेल दिया।वो लंड घुसते ही जोर से चिल्लाई- उई. पर तेरी ये भाभी कौन है राहुल?मैंने बताया- तुमको देख कर मुझे अपनी भाभी याद आ गई।नेहा बोली- मुझे देख कर या मेरे चूतड़ों को देख कर!फिर मैं हँस कर जोश में आ गया और कहा- हाँ नेहा मुझे तेरे चूतड़ों को देख कर भाभी की याद आ गई. जिंदगी में कभी किसी ने मुझसे ऐसे बातें नहीं की थीं।मैं ‘ना’ बोल दी।‘किसी लड़के से प्यार करती है?’ वो मुझसे पूछने लगीं।मैंने सिर हिला कर ना बोला तो वो हंस दीं और मेरे पास आकर बोलीं- कभी तुम्हें किसी ने कहा कि तुम कितना सुंदर हो?मेरे बदन से पसीना छूट रहा था, तभी वो बोलीं- क्या हुआ तबियत ठीक नहीं है क्या? या फिर डर रही हो? अरे हमसे क्या डरना.

मैंने अपनी जानेमन की मदद के लिए तिगडी के नजदीक जाकर तेल के डिब्बे से थोड़ा तेल निकाल कर अनातोली के लंड, और नीचे राजू के लंड पर मल दिया, जिसका प्रभाव दो-चार धक्कों के बाद ही नजर आने लगा, अलग-2 दोनों लंड ज्यादा गहराई तक अन्दर घुसने लगे और नताली ने भी अपनी टांगें और चौड़ी कर दी. सीमा बोली- चलो कोई नहीं, माँग लेना था हमसे!मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मेरी नजर उसकी चुची से हट ही नहीं रही थी और सीमा खाना बनाने में मशगूल थी. देसी भोजपुरी सेक्सी मूवीउसकी नंगी चुची मेरे सीने पर मजा दे रही थीं।मैं उसकी पीठ को सहलाते हुए बोला- एक राउंड यहीं हो जाए।तो वो बोली- यहाँ?मैं बोला- हाँ क्या प्राब्लम है.

थोड़ी देर बातचीत हुई।फिर उससे मेरी अच्छी फ्रेंडशिप हो गई। दोस्ती इतनी अधिक हो गई थी कि हमारी मुलाकात के कुछ 15 दिन बाद वो मेरे कमरे में बैठी थी।मैं उसके साथ मस्ती कर रहा था, मस्ती-मस्ती में मैंने उसकी चुची पर कोहनी लगा दी, फिर वो उठ के चली गई।दूसरे दिन मम्मी घर में नहीं थीं, उस दिन वो मेरे कमरे में फिर से आ गई। लेकिन जब वो आने वाली थी.

अभी शादी कर लो।‘तो तुम क्या शादी नहीं करोगी?’ मीता ने पूछा।‘पता नहीं, मैं अभी कुछ कह नहीं सकती।’ मैं बोली।फिर हम दोनों सो गए। दूसरे दिन सुबह जब मैं उठी तो सुबह के साढ़े पाँच ही बजे थे. मैं वो सारा माल पी गया।उस दिन सेक्स करने के बाद अब मुझे किसी की गांड रोज चाहिए थी चाहे कोई लड़की हो लड़का।मैं अब रोज़ मुठ मारने लगा था।मैं रोज़ अपनी क्लास की लड़कियों को काम की हवस से देखता था और उनके नाम से मुठ मारता था। पर आप जानते हो मुठ मारने से सेक्स की आग ठंडी नहीं होती है।एक दिन रात को मेरा मन सेक्स के लिए करने लगा.

पर कोई फ्रेंड्स उस पर लाइन नहीं मारती थी क्योंकि वो मुझे पसंद था और मैंने सबको कह रखा था। पर मैंने अपने भाई से ये बात कभी नहीं कही।अब 12 वीं पास करके हम सब कॉलेज में आए, सब फ्रेंड्स ने ब्वॉयफ्रेंड बना लिए थे, बस मैं ही रह गई। मेरी 3 बेस्ट फ्रेंड्स थीं. ’ वो रमा के सर को सहलाते हुए बोले।रमा कुछ कह न सकी उसकी आँखों में ख़ुशी और संतुष्टि के आंसू थे।बाबा जी उसकी भावनाओं को समझ गए और उसके कान में धीरे से बोले- पगली हम तीन महीने बाद फिर आएंगे… पर तुम यहाँ से जाते ही अपने पति के साथ एक बार ज़रूर सम्बन्ध बना लेना. मुझे देर हो रही है।मैंने कहा- थोड़ी देर बैठो खाना ख़ाके चली जाना।वो अन्दर आ गई।मैंने कहा- मैं खाना ले कर आता हूँ.

मेरी जान मैं रोज जमकर चोदूँगा।धीरे धीरे मैंने अपने लंड की स्पीड को बढ़ा दिया। अब मैं भाभी को कसके चोद रहा था, उनकी ‘ऊह आह.

‘डरो मत, किसी को कुछ पता नहीं चलेगा!’‘मैं नजर नीची करके अपने दोनों हाथों से अपने साड़ी के पल्लू से खेल के टाइम निकाल रही थी, मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी, मेरे मन में युद्ध चल रहा था, ‘लिंग इतना बड़ा भी होता है, हाथ में लेने में क्या जाता है. मैं यहाँ तुमसे मिलने नहीं आई हूँ। मैं यहाँ सुरभि दीदी से मिलने आई हूँ और जो कल हुआ उसे भूल जाना।यह बोलते ही वो दीदी से बात करके अपने घर चली गई।उसके जाने के बाद दीदी ने पूछा- क्या हुआ हीरो. उसे बहुत मजा आ रहा था, वो अपने चूतड़ उछल रही थी, सिसकारियाँ भर रही थी- हाँ भैया… करो… मजा आ रहा है…मेरी बहन की चुत का स्वाद कुछ अजीब सा था, उसमें से लिसलिसा सा पानी आ रहा था.

हिंदी सेक्सी मूवी वीडियो ओपनरोहित ने साहिल को हटाकर अपना लंड भूमि को दिया और विकास और साहिल भूमि के दूध मसलने लगे।इधर मैंने अपनी बहन के चूत से लंड निकाल लिया और थोड़ी दूर खड़े होकर भूमि को तीन लोगों से चुदवाते देखने लगा. सामने भाभी केवल गुलाबी रंग की ब्रा और चड्डी में खड़ी खुद को शीशे में निहार रही थी.

सनी लियोन के बीएफ एचडी सेक्सी

मैं तो अपनी बहन की चूत चाटने में ही लगा था और कुछ देर बाद वो अकड़ने सी लगी और मेरे लंड को तेज़ी से दबाने, सहलाने लगी, मैं समझ गया की यह झड़ने वाली है. क्या तुझे भी दूध पीना का मन कर रहा है?मैं बोला- हाँ!वो बोली- अच्छा ठीक है!और मैडम ने अपनी शर्ट पूरी उतार दी. उसके बाद भी वो मेरे लंड को चूसती रही और कुछ ही देर में मेरा लंड फिर से उसके लगातार चूसते रहने से खड़ा हो गया।मैंने कहा- कंडोम नहीं है.

पाठकों से निवदेन है कि मद्यपान करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है. उसकी ऐसी बातें सुन कर मैं पागल हो गई और वहीं अपनी चुत में उंगली करने लगी। सुदीप ने अपनी हाथों की स्पीड बढ़ा दी और जोर से चीख पड़ा ‘आअह्ह्ह प्रमिला भाभी. मैंने भी देर न करते हुए उसकी ब्रा को खोल कर एक तरफ फेंक दिया और उसकी चुची को मुँह में भर लिया.

अब मामी की बहन ने अपना एक हाथ मेरे कंधे पर रखा, खुद मेरी तरफ मुँह करके सोई, उनका एक पैर मेरे पैर उपर था. उसी शादी में मैंने पहली बार अपनी कज़िन सिस्टर को देखा, उन्हें देखते ही पहला वर्ड मेरे मुख से निकला- वाउ…क्योंकि मैं तब तक नहीं जानता था कि वो मेरी कज़िन सिस्टर है. तभी मुझे हरामीपन सूझा, मैंने बड़ी फुर्ती से बाथरूम का दरवाजा खोल दिया, शाहीन एकदम हड़बड़ा गई, मैं नंगा खड़ा था, मैं कुछ नहीं बोला और मैंने नहाना शुरू किया.

मैंने पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर अपना मुंह लगा दिया। वो तड़प उठी- अहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऑफ बसंत अहह हहहह!मैंने उसकी पेंटी उतार दी, मैंने देखा कि उसकी चूत काफी फूली हुई थी और उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था. प्लीज़ मैं आपको हर्ट करना नहीं चाहता था। आपको चाहिए तो आप अभी आवाज दे दो, पर प्लीज़ कुछ बात कीजिए ना प्लीज़.

उफ़ लगता है आज भाभी की चुत मारने के बाद बहुत जोश चढ़ा है राजू?’ पायल भी मस्ती में अपने चूतड़ों को उठा रही थी।मेरे लंड का सुपारा उसकी खुली चुत को छू रहा था।‘हां रानी, आज तो बहुत जोश में हूँ… बस तू जरा सा इसको गीला कर दे, फिर देख क्या मजा देता हूँ तुझे भी चुदाई का!’‘हाई राम! जरा धीरे घुसाना राजू.

वो अपने रूम में है।मैंने उसको पकड़ लिया और उठा कर दीवार के सहारे लगा कर उसे चूमना शुरू कर दिया।उसने मेरे मुँह से मुँह लगाया तो बोली- आई हेट दिस यार. चाइनीस सेक्सी फुल वीडियोराजू ने आगे को झुकी हुई नताशा की उभरी हुई गांड में अपना लंड पेल दिया, और दोनों हथेलियाँ भाभी की कमर पर टिका कर उसे गपागप चोदने लगा. अक्षरा सिंह सेक्सी गाना’मैं भाभी के कूल्हे पकड़ कर धीरे-धीरे ठोकर लगाते हुए चुदाई का आनन्द ले और दे रहा था। मेरा पूरा लंड अन्दर-बाहर हो रहा था। भाभी के चूतड़ों पर से हाथ आगे ले जाकर कुत्ते की तरह मैं भाभी की चुत की चुदाई और हाथों से उनके बोबों की मसलाई कर रहा था, रसीली भाभी की मीठी-मीठी सिसकारियां निकल रही थीं।रसीली भाभी एक हाथ से नीचे से मेरे लंड की गोटियों को सहला कर जोश में ‘आ हां हह. ’ करती रही।अब मैं धीरे-धीरे अपने एक हाथ को उसकी बुर के पास ले गया और जैसे ही चुत पर हाथ फेरा तो ये क्या.

मैंने उसे कहा- कोई चिकनी चीज है?तो वो वैसलीन ले आई… उसने मेरे लन पर और अपनी फुदी में वैसलीन लगाई.

एक बार हम चुदाई करके निकले तो एक पड़ोसन लड़की अपने यार के साथ चुदाई करके निकली और हमारा सामना हो गया. वो एकदम टाइट हो चुकी थी।फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसको लंड पर किस करने को बोला।पहले तो उसने मना कर दिया. वो अपने मुंह से थूक निकाल कर नताली की गांड पर डाल देता और फिर उसे अपनी जीभ से चाटने लगता.

अब दूसरे राउंड में मज़ा आ रहा था चुदाई का और उसको मेरे ऊपर आकर चुदने को कहा।यह देसी चुदाई स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!उसको अपने लौड़े पर झूला झुलाते हुए और चोदा और अब वो बहुत मस्त हो चुकी थी और चुदाई का मज़ा ले रही थी।उसके चूचे जोर जोर से हिल रहे थे, मैंने उसके चूचे खूब मसले जिससे उसकी चूत बार बार रस बहा रही थी।उसको चोदते चोदते पता ही नहीं चला. पर लंड अन्दर नहीं गया। फिर थोड़ा तेल लगाया और धक्का दिया तो लंड ऐसे अन्दर घुस गया कि मजा ही आ गया।यहां मैं उसकी गांड मार रहा था और चूत पर उंगली कर रहा था कि वो फिर एक बार झड़ गई। अब तक साली करीब पांच बार झड़ चुकी थी।अब मेरा भी लंड थक चुका था दो-तीन चोट के बाद मैं भी झड़ गया और थक कर वहीं उसके बगल में लेट गया।ये अब तक का सबसे बेहतरीन सेक्स था।अब तो आए दिन उसकी चुदाई करता रहता हूं. मैंने गाली देकर उसकी चुदाई वाली वीडियो वाली बात याद दिलाई तो तुरन्त ही माँ मेरे लंड को अपने मुंह में डाल कर चूसने लगी.

बीएफ फिल्म दिखाओ हिंदी में बीएफ

जहाँ पे उसका भाई और उसकी बहन भी साथ में थी।यह मेरी पहली चुदाई की कहानी थी. नाम है मेरा राज… मैं अपने को बहुत सुंदर तो नहीं कहूँगा पर 25 साल साँवला रंग का सामान्य कद काठी का लड़का हूँ. अब मैंने उसके टॉप को ऊपर सरकाया, उसने ब्रा नहीं पहनी थी, मैंने अपने होंठ अपनी बहन की चूची पे रखा दिए और चूसने लगा.

मुझे बहुत मजा आ रहा था मैंने अपना हाथ मौसी की गांड पर लगाया और दबाने लगा.

इसलिए बोल रहा हूँ कि मान जाओ और तुम भी मजा लो।आंटी कुछ सोचने लगीं और बोलीं- ठीक है बस आज कर ले.

तो मैंने बोला- कहाँ निकालूँ?वो बोलीं- मेरे मम्मों पर निकाल दो।मैं अभी झड़ने ही वाला था क्योंकि अब मेरे बर्दाश्त के बाहर था, मैं लंड निकाल ही नहीं पाया और मैंने भाभी की चुत में ही सारा माल निकाल दिया।वो गुस्से से बोलीं- ये तुमने क्या कर दिया. सुरभि दीदी उन सबमें सबसे बेस्ट माल है।दीदी की चुदाई कैसे की, यह जानने के लिए पिछली कहानी पढ़ लीजिएगा।जैसा कि आप लोग जानते हैं कि सुरभि दीदी कोलकाता में एक साफ्टवेयर कंपनी में जॉब कर रही है और मैं अपना बी. सेक्सी व्हिडीओ सेक्सी एक्सहम एक लकड़ी के मकान में गए, वहाँ पर एक बिस्तर था, गद्दा बिछा हुआ था, हल्की सी रोशनी थी और बहुत अच्छी खुशबू आ रही थी.

उसका चेहरा देखकर हमारे पैरों के नीचे से ज़मीन निकल गई, वह लड़की कोई और नहीं मुदस्सर की बाजी (बड़ी बहन) परवीन थी. हम दोनों इस पर आराम से सो जाएँगे।वो बोली- ठीक है।अब वो बिस्तर पर मेरे साथ सो गई और वो उल्टा सोई. पर यार कुछ होगा तो नहीं?मैंने ‘ना’ में सर हिला दिया।अब क्या अब मेरे हाथ उसकी टी-शर्ट निकाल रहे थे। अन्दर पिंक ब्रा थी उसकी.

मेरी तो अब 3 दिन ऑफिस से छुट्टी है।तो मैंने कहा- ठीक है मस्ती से 3-4 दोस्त मिल कर दारू पिएंगे।‘आज क्या होगा?फिर मैंने कहा- आज 4 दोस्त नहीं पर हम 3 दोस्त जरूर मिल सकते हैं. इतना अमृत तो आज बहुत दिन बाद निकला था!मैं थोड़ सा उठा था कि लंड सिकुड़ कर बाहर आ गया बेचारा लंड बेजान सा, जो एक जीत के बाद भी हारा हुआ सा लग रहा था.

मैंने अपनी बहन की बेटी यानि भानजी को कैसे चोदा, उसकी चुदाई की कहानी का मजा लें.

चलो अब मजा दोगुना आएगा।मैं समझ गया कि ये दोनों मेरे लंड से चुदना चाहती हैं।फिर रीना ने अपने कपड़े भी निकाल दिए और वो रूबी के मम्मों को दबाने लगी। रीना खेली खाई थी. पंकज बोला- भाभी जी, वैसे आप हाज़िर जवाब बहुत हो!तो सुनीता बोली- आप कौन सा कम हो देवर जी, जैसी बात करोगे तो वैसा जवाब तो बनता ही है न, वैसे भी आप जैसे दोस्तों से मेरे पति तो मस्त ही रहते होंगे, आप भी हाज़िर जवाबी में कम नहीं हो!इस तरह वो थोड़ा खुल कर एक दूसरे से बात करने लगे. जिससे उसके जवानी के उभरते समोसों का दर्शन हो रहा था।कोमल बोली- बैठो राहुल.

सेक्सी वीडियो गूगल से ’ कहते हुए उठ कर बाहर चला गया। मैंने एक टी-शर्ट और लोवर पहन लिया, मैंने अन्दर बस पेंटी ही पहनी थी।फिर मैंने उससे आवाज दी- आ जाओ, हो गया।तो अन्दर आते ही वो मुझे देखते हुए बोला- वाओ तुम्हारी चुची तो बड़ी मस्त हैं. मैं इतना उत्तेजित हो गया था कि मैं उसके मुंह में ही झड़ गया!उसने मेरा माल पी लिया और मेरे लंड को साफ़ किया!वो हंस रही थी क्योंकि मैं इतनी जल्दी ही झड़ गया!मैंने उसे बताया- मैं पहली बार सेक्स कर रहा हूँ.

ले! राजू एक हाथ से चूची मसल रहा था और दूसरे से माला की चूत का दाना रगड़ रहा था।माला मदहोशी में थी… उसने ऐसी उतेज़ना, ऐसी चुदास कभी महसूस नहीं की थी, वो मस्ती में चिल्ला रही थी- हाई… हाई… मार दे. आराधना ने कहा था कि खाना रात का वहीं खा लेना तो मुझे भी कोई दिक्कत नहीं थी, मैं भी आराम से बैठ गया. वो सिहर गई।फिर उसने मेरा मोबाइल लिया और उसमें कुछ ढूँढने लगी। उसमें उसे 2-4 पॉर्न वीडियो मिल गए तो उसने पूछा- ये सब भी रखते हो।तो मैंने तपाक से बोला- हाँ.

बीएफ अच्छे-अच्छे बीएफ

काली-काली रात सी आंखें… अगर उसके होंठ प्रियंका चोपड़ा की तरह न होते तो उसमें और आयशा टाकिया में फर्क करना नामुमकिन हो जाता।भीगी हुई टॉप में उसके स्तन साफ नजर आ रहे थे. फिर भी चिपटा था पूरी ताकत से… जोर लगा रहा था… जाने कब से चुदाई का मौका नहीं मिला था, इस अवसर का पूरा मजा लेना चाहता था. अपने मम्मों को मुँह में लेती हुई जाने लगीं।ये सब देख कर मैंने फिर से लंड का पानी निकाला और उसी कटोरी में जमा कर लिया।फिर मामी योगा करने गईं.

वो मुझे वहां खड़ा करके अपनी गाड़ी ले आई और मैं उसके साथ गाड़ी में बैठ गया। गाड़ी में बैठते ही मैंने उससे होंठ छू जाने की बात को लेकर सॉरी बोला।वो बोली- कोई बात नहीं. मुझसे मोटा लंड भी झेल जाएगी।मैं- राहुल भैया प्लीज़ आपके लंड से मेरी चूत फट जाएगी.

मेरे स्कल की कितनी बार जल्दी छुट्टी हो जाती थी तो मैं माँ को सरप्राईज़ देने के लिए आता तो मैं ही सरप्राईज़ हो जाता उनको चुदवाते देख कर!मैं एक दिन मार्केट गया और एक पैकेट कंडोम खरीदा.

फिर वह खड़ा हुआ और मेरे पीछे सट गया, उसका लिंग मुझे अपने चूतड़ों पर महसूस हो रहा था।वह अपने दोनों हाथ सामने लाकर मेरे पेट को सहलाते हुए ऊपर की ओर ले गया और मेरे उरोजों पर ले जाकर रोक दिए. फिर हम लोगों ने नित्यकर्म निपटा कर नीचे की ओर रुख किया जहाँ डाइनिंग टेबल पर नाश्ते के साथ राजू हमारा इंतजार कर रहा था. अंजलि एक भरपूर शरीर की मालकिन है, रंग साफ, चुची करीब 32B, पतली कमर, वज़न करीब 55 kg है.

मुझे घर जाना है।मैंने कहा- बस थोड़ी देर रुक जाओ, फिर चली जाना।मैं उसे किस करने लगा, वो झटपटाने लगी और अपने आपको मुझे छुड़ाने लगी। लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा और किस करता गया।फिर मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और गेट बंद कर दिया। वो डर गई और बोलने लगी- सुशान्त प्लीज़ कुछ ग़लत मत करना. मैंने भी पेशाब की और सबकी नजरें बचा कर अपनी पेंटी अपने उतार कर अपने स्कर्ट की जेब में रख ली और दादा जी की गोद में बैठ गई।रात हो चली थी और अँधेरा भी काफी होने लगा था। ड्राइवर ने लाईट बंद कर दी. बुझा लेना चाहिए!मैं अब फिर से खुल गया और इसके बाद मैंने उससे कुछ गंदा वाला मजाक किया। वो भी मुझसे प्यार से बातें करने लगी।मैंने उससे मिलने की बात करते हुए मिलने की जगह तय की और 5 दिन बाद हम दोनों एक होटल कमरे में मिले।यह हम दोनों की पहली मुलाक़ात थी। मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया.

धीरे धीरे वो गर्म होने लगी और उसके मुख से सिसकारियाँ निकलने लगी, वो आह.

इंडिया का बीएफ सेक्सी वीडियो: ये विचार मेरे व्यक्तिगत विचार थे… हो सकता है पाठक इससे इत्तेफ़ाक ना रखते हों!कहानी जारी रहेगी. वो बहुत हॉट थी, उसकी उम्र 32 साल थी, पर इस उम्र में भी वो गजब लगती थी, रंग उसका बिल्कुल गोरा था, 36 साइज के टाइट मम्मे थे.

मेरी खीर को हाथ नहीं लगाना वो उपवास की खीर है।यह कह कर वो नहाने चली गई।मैं होल में से उन्हें देखने लगा, वो जानबूझ कर मुझे चुत में उंगलियां डाल-डाल कर दिखाती रहीं।बाहर मैं जोर-जोर से मुठ मारने लगा. वो बहुत बेचैन हो रही थी।फिर मैं अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा और अब वो पागल सी होने लगी, वो सिसकार कर बोलने लगी- हय. हमने बात शुरू करी तो पता चला वो हौज खास में रहती है, उसकी उम्र 37 साल है और उसके पति जयपुर में जॉब करते हैं, वो भी किसी प्राइवेट कम्पनी में जॉब करती थी, पति दूर था तो चूत में ठरक होना लाजमी था.

’ तरन ने मन में सोचा। वो जानती थी कि रमा कई महीने से सम्भोग नहीं कर पाई है और बस थोड़ा और उकसाने की देर है फिर यह रवि से भी चुदेगी और अपने बेटे से भी।‘रमा रिश्ते तो होते ही हैं हमें सुख देने के लिए… और सोच तू कहीं बाहर चक्कर चलाये तो बदनामी का डर है ऊपर से अगर राहुल को भी बाहर चुदाई की लत पड़ गई तो बेचारा कहीं का नहीं रहेगा.

फिर उसका कोई उत्तर नहीं आया, मुझे लगा गुस्सा हो गई तो मैंने भी कोई मेसेज नहीं किया. जैसे ही उसने शर्ट निकाला, मैं उसके जिस्म को देख कर खुद को रोक नहीं पाया और आगे बढ़ कर उसे अपनी बांहों में ले लिया और मैंने उसकी शमीज ऊपर कर दी, दोनों हाथों में मम्मे लेकर चूसने लगा. उसने दरवाजा खोला और मुझे अन्दर बुला लिया।उस टाइम वो बहुत सेक्सी लग रही थी.