बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली

छवि स्रोत,देसी चुदाई सुहागरात

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो झवाझवी: बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली, मैंने रीना से पूछा- क्या मैं तुम्हारी कुछ मदद कर सकता हूँ?तो उसने हां मैं सर हिला दिया.

બ્લેક સેક્સ વીડિયો

भाभी पागल हुई जा रही थी; वह ‘आह आह आह’ की आवाज निकाल रही थी और सी … सी … सी … कर रही थी. खेतों की ब्लू फिल्ममैं शाइना के निप्पल चूसने लगा, तो वो मादक सिसकारी भरने लगी- एम्म्म … आअहह … असेस!घुटनों के बल बैठकर मैं उसके पेट पर किस करने लगा, उसकी गांड को जोर जोर से दबाने लगा.

मैं- तुम ठीक हो न शीना?शीना- हां जी अंकल, बस थोड़ा टांगों और चूत में दर्द हो रहा है. वाढदिवस सेक्सनीतू बहुत देर तक झड़ती रही और मैं उसी तरह उसका रस कई घूंट गटकता गया।थोड़ी देर बाद नीतू पूरी तरह झड़ कर बेसुध हो गई।मैंने भी उसकी जांघों के बीच से अपना सर निकाला और उसकी चूत के पास सर रख कर लेट गया।अब आगे देसी आंटी सेक्स कहानी:वैसे ही लेट कर मैं अपनी सांसों को काबू करने लगा।फिर मैंने उसकी चूत को देखा तो उसमें से कुछ रस की कुछ बूंदें उसकी चूत के बाहर आकर रुक गई थी.

हैलो फ्रेंड्स … मैं प्रकाश सिंह फिर से अपनी एक और मजेदार सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ.बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली: बरखा की बुर के लब खोलकर गुलाबी महल के रास्ते पर नजर डाली और अपना लण्ड क्रीम की शीशी में डाल दिया.

जब चाची मेरी जांघों तक मालिश करतीं तो उनके बड़े बड़े दूध देखने से मेरा लंड चड्डी में खड़ा होने लगता था.हम दोनों रोज सुबह अंधेरे में किसी कोने में कभी चूमाचाटी करते … तो कभी मैं उसके बूब्स दबाता, चुत को सहला देता या कभी वह मेरा लंड चूस देती.

ब्लू फिल्म सेक्सी सीन - बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली

तभी नीतू ने अपना चूतरस छोड़ना चालू कर दिया।उसका चूतरस मेरे लंड के सहारे होते हुए मेरे आंडों से टपकने लगा।नीतू झड़ती रही और मैं उसी तरह उसकी चूत चोदता रहा।कुछ समय तक नीतू बिना रुके निरंतर झड़ती रही.मैंने झुक कर कृति का दाहिना हाथ जकड़ लिया और अपने होंठों से उसके होंठ लगा दिए.

हां शुरू में तुम्हें थोड़ा अजीब टेस्ट लगेगा लेकिन बाद में तुम खुद इसे चूसने को बोलोगी, अब टाइम वेस्ट मत करो चलो चुदाई का खेल खेलें. बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली ममता उसे लेकर बिस्तर पर आ गई और उसकी दोनों टांगें फैला कर उसकी चूत ऊपर से चाटने लगी.

आखिरकार मैं भी मान गया और उससे लंड चुसवाकर खुद को झड़वा लिया और कल आने का वादा ले लिया.

बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली?

हमारे बीच प्रेम की बातें होने लगी थीं मगर अब तक हम दोनों ने एक दूसरे के साथ शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाए थे; हालांकि मैं उससे चुदने के लिए मन बना चुकी थी. चाची- मैं कुछ कर सकती हूँ क्या?मैं- नहीं चाची … ज्यादा कुछ नहीं हुआ. पापा जी, अभी मत छेड़ो मुझे, मैं पहले ही गीली हो रही हूं; होटल के रूम में जो चाहो सो कर लेना.

मिहिका मुँह साफ करके रसोई में चली गई और थोड़ी देर में गर्म दूध लेकर आई. हम दोनों के बीच काफी बार ऐसी बातें हो जाती थीं, जिससे मुझे लगने लगता था कि बड़ी दीदी के मन में सेक्स को लेकर कुछ चल रहा है. कोई तीन मिनट बाद जब मेरा छूटने को हुआ तो मैंने लन्ड शीना के मुंह से निकाला और उसे जीभ बाहर निकालने को बोला.

फिर सलोनी ने वापस मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया और मैं उसकी मक्खन जैसी चुत को चाटने लगा. फिर उन्होंने मोबाइल में मुझे एक फिल्म दिखाई, जो बहुत सेक्स वाली थी. मेरे लंड को खड़ा होते देख कर मामी मेरी गोद से उठीं और अपनी सलवार का नाड़ा खोलने लगीं.

वहां मेरा ये काम था कि उस बाहर वाले काउंटर से एक बार में दस पर्चे लाना और फिर एक एक को बुला कर डॉक्टर साहब से मिलवाना. पापा जी, चलो स्टेशन से बाहर निकलते हैं होटल की गाड़ी आती ही होगी वो हमें होटल छोड़ देगी.

लगभग 10 बजकर 15 मिनट पर एक लड़का कार से आया और शीला आंटी के घर में चला गया.

मेरे दिमाग़ में अब बार बार एक ही बात आ रही थी कि चाची की सांसें तेज़ क्यों चल रही थीं.

भाभी पागल हुई जा रही थी; वह ‘आह आह आह’ की आवाज निकाल रही थी और सी … सी … सी … कर रही थी. शुरू में तो मुझे ये जरा असहज सा लगा कि पति के सामने कोई दूसरा मुझे कैसे चोद सकता है, पर धीरे धीरे मुझे भी इस चीज में आनन्द आने लगा और मैं भी चुदाई के दौरान किसी और से चुदवाने के लिए व्याकुल होने लगी. भाभी का पेट इतना खूबसूरत तरीके से ऊपर नीचे हो रहा था कि मेरे दिमाग में खुराफाती आईडिया आ गया.

मैंने बोला- नहीं नवीन रहने दो, क्यों यूं दोनों की चुदाई खराब करें, हमारे नसीब में होगी, तो हमें भी हमारी चूतें रात तक मिल ही जाएंगी. उसके 36 के चुचे 32 की कमर और लगभग 40 का पिछवाड़ा … उफ्फ़ क्या कयामत लग रही थी. मैंने पूनम बुआ के सिर पर हाथ रख कर उनके मुँह में हल्के दबाव के साथ मर्दन करना शुरू किया.

मुझे भी कुतिया की चूत चाटने दे।सुन्दर ने अपना मोटा लंड मेरे मुख में पेल दिया और मैं भी चूसने लगी.

उस दिन पेट्रोल पंप पर तुम्हें देखा तो मुझे लगा कि मेरे सपनों के राजकुमार तुम हो. जब जब वो अपने मजबूत चूतड़ों के दबाव से मेरी चूत में धक्के मार रहे थे, तो मेरी बच्चेदानी सहम कर रह जाती थी. [emailprotected]हॉट लेडी सेक्सी कहानी का अगला भाग:मोहल्ले के लड़कों ने मेरी चुत गांड बजायी- 2.

थोड़ी देर बाद हम दोनों की ही आंख लग गई परन्तु अभी चुदाई का खेल बाकी था. दादाजी- उसमें क्या लिखा था बेटा … बताओ?मैं- दादाजी, उसमें लिखा था कि कल से मेरी मॉम को उनके घर पर जॉब करनी है … उन्हें इसके एवज में 20000 रूपए मिलेंगे … और हम सब उनके साथ उनके घर में ही रहेंगे. मैं बोला- तेरी बुर मेरा ये नाग जैसा लौड़ा सह लेगी!वो मेरे बाल खींच कर बोली- मैं मर भी जाऊं … तो भी मुझे तू इतनी बार ही चोदना.

इसके बाद दोनों अच्छे से रेस्टोरेंट में गए, वहां अच्छा सा लंच करके वापस घर की तरफ चल पड़े.

पापा जी, अभी मत छेड़ो मुझे, मैं पहले ही गीली हो रही हूं; होटल के रूम में जो चाहो सो कर लेना. मैं भी अपनी चरम सीमा पर था और उनके मम्मों को मसलते हुए मैंने पूरे दूध लाल कर दिए थे.

बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली मैंने अफ़रोज़ से कहा- मैं लड़की वाला डायलॉग बोलूंगी और तुम लड़के वाला. मैं- अपना रस आप खुद पीना चाहोगी?चाची कराहते हुए मीठी आवाज में बोलीं- हां पी लूंगी हरामी … मगर जल्दी से मेरी प्यासी चुत में अपना मुँह फिर से लगा.

बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली थोड़ी ही देर में उन्होंने मेरे कपड़े उतार दिए और मुझे एक फ्रेंची में कर दिया. लेकिन अब हम दोनों काम वासना के समंदर में गोते लगाने को तैयार हो गए थे.

कुच्ची- तो मैं तो तुझे रात भर चोद नहीं पाऊंगा, गुड्डू को भी बुला लेता हूं … फिर हम दोनों तुझे रात भर चोदेंगे.

सेक्सी सुहागरात सेक्सी सुहागरात

उसकी ब्रा को हटाया तो उसके कोमल गोरे चूचे नंगे हो गये जिनके निप्पल हल्के लाल मगर थोड़े से गुलाबी रंग के थे. मेरी मां की चुत ने चार चार बच्चों को पैदा किया था और मेरे पापा अभी भी उनसे खुल कर चुदाई के मजे लेते थे. अब ममता ने अपने भाई का लंड किस तरह से चूसा वो सब आपको माउथ सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगी.

अब आगे बहू सेक्स की कहानी:आधे से ज्यादा मेहमान तो वरमाला होते रात में ही निकल लिए थे; बस वर वव्हू पक्ष के कुछ नजदीकी खास रिश्तेदार ही विदाई होने की प्रतीक्षा में रुके हुए थे. मैंने उठने की कोशिश की, पर दूसरे हाथ ने मेरा सर दबाकर मुझे वापस लेटा दिया और अपना मुँह मेरे कान के पास लाकर कहा- ऐसे ही लेटे रहो. मैंने कहा- शमा तुम सच में खुदा का नूर हो … वास्तव में तुम फेसबुक की फोटो से दस गुना ज्यादा हॉट हो.

मैं तुम्हें साफ साफ बताऊँ कि सुधीर के साथ मेरा जिस्मानी रिश्ता पिछले चार पाँच साल से न के बराबर है.

चाची सिसयाते हुए बोलीं- आहह आह मेरे सरताज … प्लीज जल्दी अन्दर डालो … आहह प्लीज उईइ. फिर जब 5 मिनट तक मां मेरे लंड के साथ खेलती रहीं और मेरा लंड एकदम फुल कड़क हो गया तो मां ने अपनी चड्डी को उतार मेरे मुँह पर फैंक दी. तभी कुच्ची के पास शब्बो का फोन आया और उसने बताया कि हम दोनों छत पर हैं.

उसके बाद मैं उनके निप्पल होंठों में दबा कर चूसने लगा और दीदी भी मस्ती से मेरे मुँह में अपना पूरा मम्मा दबा कर मुझे ब्रेस्ट मिल्क चुखाने लगीं. हमारे बीच प्रेम की बातें होने लगी थीं मगर अब तक हम दोनों ने एक दूसरे के साथ शारीरिक सम्बन्ध नहीं बनाए थे; हालांकि मैं उससे चुदने के लिए मन बना चुकी थी. भाभी भी बड़ी मजाकिया स्वभाव की थीं तो हम दोनों काफी फ्रेंडली हो गए थे और जल्द ही हमारे बीच सेक्स की भी बातें होने लगी थीं.

मुझे भाभी की ये इच्छा सुनने में थोड़ी अजीब लगी, लेकिन प्रीति भाभी ने जैसा कहा था कि मेरी सहेली की हर इच्छा पूरी करना. उसकी 38 इंच की बड़ी गांड देख के नेरा मन किया उसकी गांड मारने का!फिर मैंने सोचा कि पहले एक बार इसकी चूत चोद लूं, फिर गांड भी मार लूंगा.

मैं ऐसे लंड को चूस नहीं पा रही थीमैंने सागर को बेड पर धकेला और उसके ऊपर आकर लंड चूसने लगी. पैंटी की किनारी बीच में अड़ रही थी, मैंने पैंटी को नीचे टाँगों तक खींच कर बाहर निकाल दिया और यामिना की चुदाई शुरू कर दी. थोड़ी देर की धक्का मुक्की के बाद सर का लण्ड मेरी चूत के अन्दर हो गया.

उसने सासू जी को उठाया और साथ में गुलाब भी आ गया, सबने मिलकर सहारा देकर गाड़ी में बिठाया।मैं भी बैठने लगी तो मां बोली- बहू तुम रहने दो.

कुछ देर बाद मैं उसकी कमर पर किस करने लगा और उसकी जांघों को चाटने लगा. अब आगे स्टेप मॉम सन सेक्स स्टोरी:अब हम दोनों एक दूसरे का हाथ पकड़ कर उंगलियों में उंगलियां फंसाए हुए एक-दूसरे की आंखों में आंखें डालकर देखने लगे. वो भी अब बिंदास मेरे दूध देखते थे और मेरी बांहों पर हाथ फेर कर अंह आंह करने लगते थे.

जब जब वो अपने मजबूत चूतड़ों के दबाव से मेरी चूत में धक्के मार रहे थे, तो मेरी बच्चेदानी सहम कर रह जाती थी. कुछ देर बाद उन्होंने कॉल उठाया तब मैंने उन्हें कहा- गुलशा आई आल्सो लव यू.

कुछ ही देर में वो दोनों निखिल के लंड को चूमने लगीं और एक दूसरी की चूत में भी उंगली करने लगीं. वहां मैं, मेरी मां, बड़ी मां, उनका बेटा और उनकी छोटी बेटी भी रहती थी. फिर सिसकारते हुए सुरजन बोला- उफ् … संतरे की फाड़ जैसी दिखती है तेरी मस्त चूत भाभी!मैं- तो इस फाड़ी का रस चूस लो मेरे राजा! आह्ह … निचोड़ लो इसके रस को!उसने मेरी चूत पर जीभ से कुरेदा तो मैं तड़प उठी- उफ … सुरजन … खा जाओ मेरी चूत को!सुन्दर बराबर मेरे दूधों को मसल रहा था, दबा रहा था.

सेक्सी फिल्म फ्री डाउनलोड

दस साल पहले पहाड़पुर और सितमगढ़ के राजघरानों के काफी अच्छे संबंध थे.

अब इतना तो मैं भी समझता था कि चुत की झिल्ली फटने से ही खून निकलता है. बिखरे हुए बाल, सपाट माथे पर पसीने की कुछ बूँदें, शांत आँखें, कुछ जोर से चूमने से लाल हो चुके गाल और होंठ पर मंद मुस्कान।उसके चहेरे पर सम्पूर्ण संतुष्टि के ऐसे भाव थे जो उसे अब अपने पति(मौसा जी) से कभी नहीं मिलने वाले थे।मैंने अपने लौड़े से चूत के अंदर खटखटा कर उसकी तन्द्रा भंग की. सबने भोजन पूर्ण किया और शयनकक्ष की ओर चल पड़े, हमारा चुदाई का सिलसिला पुनः चलने लगा.

वो इस लिक्विड चॉकलेट के टपकाए जाने से ही समझ गई कि मैं क्या करने वाला हूँ. ये सब देख सुन कर मैंने एक दिन पूछ लिया- क्या हुआ दी?तो दीदी फट से बोलीं- ये गुड़िया मेरे निप्पल खींचती है न … तो दर्द सा होने लगता है. मुंबई बीपी सेक्सकभी अपने हाथ से मेरे लंड की मुठ मारती तो कभी अचानक से फिर मेरे लंड को अपने मुंह में ले के चूसने लग जाती.

आपको मेरी यह सेक्सी गर्ल Xxx कहानी कैसी लगी, कृपया आप मुझे मेल जरूर करें. वो खुली दुकान का मतलब नहीं समझ सकी और सवालिया निगाहों से मुझे देख कर बोली- इसका क्या मतलब हुआ?मैंने उसे बिस्तर पर बिठाया और उसकी गोद में अपना सर रख कर लेट गया.

मुझे यकीन है कि जो भी उसे एक बार देख लेगा, तो वो बिना मुठ मारे रह ही नहीं पाएगा. दादी जी मेरे चेहरे की मुस्कान देख कर बोलीं- क्या हुआ बेटा … बड़ा मुस्कुरा रहा है. उसका किस खत्म करने के बाद मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और बांहों में लेकर फिर से उसके होंठ चूसने लगी.

वह शर्मा गया लेकिन थोड़ी सी देर के बाद ही उसके लंड में जान भर गयी और लंड तनकर क़रीब 6 इंच का लंबा और खासा मोटा हो गया. जमीन पर लेट कर चुदाई करने वाले लड़के ने अपना ब्लेजर जमीन पर बिछाया हुआ था और उसके साथ की लड़की उसके लंड पर बैठ कर उछल रही थी. कुछ देर बाद हरीश बिस्तर पर चित लेट गया और सुम्मी उसके ऊपर बैठकर लंड को अपनी चुत में फंसा कर गांड हिलाने लगी थी.

अन्दर की कामुक आवाजों को सुनते ही मेरा हाथ अपने आप लंड पर आ गया और मैं लंड हिलाने लगा.

मैंने क्या देखा?लेखक की पिछली कहानी:लॉकडाउन में मेरी भतीजी की चूत मिलीदोस्तो, मैं आपकी दोस्त रिज़वाना, आज मैं इस देसी मेड Xxx कहानी में आपको अपने जीवन की एक बहुत बड़ी सच्चाई बताने जा रही हूँ।बात ऐसी है कि मैं बहुत ही गरीब घर से हूँ। अब्बू ऑटो चलाते हैं. फिर मैंने अपने लंड को मां की चूत पर सैट किया और एक ही बार में पूरा लंड अन्दर डाल दिया जिससे मां की कामुक सिसकारी निकल गयी.

मुझे खुद पर गुस्सा आ रहा था कि चोदने में तो नहीं शर्माया और अब शर्मा रहा हूँ. मेरे लंड को वो अपने मुँह में ऐसे ले रही थी, जैसे कोई लॉलीपॉप चूस रहा हो. थोड़ी देर में मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया कुछ रह गया था तो बाहर लटकते दो आंड!जब मेरा लंड उसकी चूत में पूरा चला गया तो मैंने उसकी दोनों टांगें हवा में उठा ली और उसे जोर से चोदने लगा।उसके हाथों में पड़ी चूड़ियां खन खन और उसके पैरों में पड़ी पायल छम छम कर रही।चुदाई का ऐसा मधुर संगीत चल रहा था जैसे किसी बहुत बड़े संगीतकार ने चुदाई राग छेड़ दिया हो।कुछ देर में नीतू को भी मजा आने लगा था.

अगली बार Xxx मामी से शादी करके मैंने उनकी चुदाई का मजा लिया और उनकी कुंवारी बहनों की सील तोड़ चुदाई का मजा कैसे लिया … वो सब मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा. मैंने भी देर ना करते हुए पूनम बुआ की तरफ बढ़ कर अपने होंठों को पूनम बुआ के होंठों पर रख दिया. पैंटी की किनारी बीच में अड़ रही थी, मैंने पैंटी को नीचे टाँगों तक खींच कर बाहर निकाल दिया और यामिना की चुदाई शुरू कर दी.

बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली मैंने मन में सोचा कि रानी मैं चोदता भी बहुत जबरदस्त हूँ … कभी हवेली पर आओ तो तुम्हारी चुत चोद कर भोसड़ा बना दूँ. उसने सूट पहन रखा था; मैं तो पहले से ही नंगा था।नियाशा अपने कपड़े उतारने लगी तो मैंने कहा- जान, आज मैं खुद ही तुम्हारे कपड़े उतारूंगा.

सेक्सी भेजिए भोजपुरी

मैंने राजकुमारी पूजा की एक टांग उठा कर अपने कंधे पर रखी और उसकी चूत पर अपने लौड़े को सैट कर दिया. मेरे इम्तिहान आ गए और इम्तिहान के बाद मैं छुट्टियां भी अच्छे से गुज़र गईं पर उस वक्त चाची को लेकर कुछ ज़्यादा हलचल नहीं हुई. इसी बीच वो बोल रही थीं- आह राज … तेज करो आह … और तेज मेरे राज … साले तू बड़ा मस्त चोदता है.

गर्म भाभी Xxx कहानी में पढ़ें कि मेडिकल कॉलेज क्लिनिक में मैंने एक भाभी की मदद की. अब मैं समझ गया था कि दीदी को आज चुदने का मन है और वो मेरे दोस्त के लंड से अपनी चुत की खुजली मिटवाना चाहती हैं. इंडियन सेक्सी ब्लू पिक्चरआंटी बोलीं- हां यार, एक बार फिर से करो … मुझे भी खुल कर चुदाई का मजा लेना है.

आगे क्या क्या हुआ … वो सब मैं आपको मॉम सन हॉट सेक्स स्टोरी में अगले भाग में लिखूंगा.

दादी जी- हां बेटा, रश्मि के आते ही मैं उसको सब बता दूंगी … पर तेरे उस नामर्द बाप, यानि मेरे बेटे को तू कुछ मत बताना, वो जब आएगा तो सब कुछ अपनी बीवी से ही सुन लेगा … ठीक है?मैं- ठीक है दादी जी. उस दिन के बाद से वो जब भी घर आता, तो जैसे ही मौका मिलता, वो उसी समय मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चुदाई का मज़ा दे देता.

ये शायद मेरी हवस भरी नजरें थीं या वाकयी में मां थोड़ी अलग लग रही थीं, ये मुझे भी नहीं पता था. अंकल- क्या मुझे भी?मैं- हां हां क्यों नहीं अंकल … मैं आपको भी ढेर सारा प्यार करूंगी और आपकी दोस्त बनकर रहूंगी. नीले रंग की साड़ी, उस पर लाल ब्लाउज, खुले बाल, कानों में गोल्डन बाली, होंठों पर लाल लिपस्टिक … सुम्मी मानो कहर बरसा रही थी.

हुआ यूं कि मैंने भोपाल में नौकरी के लिए एक निजी कम्पनी में आवेदन किया था, जिसमें मुझको साक्षात्कार के लिए बुलाया गया.

मैंने अपनी स्पीड पकड़ ली और पूरे रूम में ‘ठप ठप …’ और ‘अहह उहह उईईहह …’ की आवाज़ गूंजने लगी. वो किसी पहलवान की तरह अपनी कमर पर हाथ रखती हुई बोलीं- आ जा अब नीचे हो जाए!मैं- बैठे बैठे करने में तुम्हें प्रॉब्लम तो नहीं होगी ना!मेरी मां रज्जी- नहीं, आप मेरे ऊपर चढ़ कर करो. अम्मी और चाची की आपस में बहुत बनती थी, दोनों बहुत ही अच्छी दोस्त थी.

पाकिस्तानी पोर्न फिल्मपर मुझे दर्द होने लगा था तो मैं उसे स्सी … स्सी … करते हुए रोकने लगी।अजय बोला- यार, थोड़ा दर्द तो बर्दाश्त करना पड़ेगा, वरना आगे का मजा कैसे आयेगा।मैंने उसकी बात समझते हुए थोड़ा स्थिर रहने का निश्चय किया और कहा- ठीक है, अब नहीं हिलूंगी. भाभी- तो सुन मैं भी तुम्हें बहुत प्यार करती हूँ और मैं तुम्हें दूध के लिए ऐसा तरसते हुई नहीं देख सकती.

देवर भाभी का नंगी सेक्सी वीडियो

दूसरे दिन मैं सुबह घर से ये कह कर जल्दी निकल गया कि मुझे जरा काम है, मैं उधर से ही ऑफिस निकल जाऊंगा. कुछ देर बाद चाची की आवाज़ आयी- केदार, यहां आ जल्दी से!मैं वहां गया, तो वो झाड़ियों के पीछे एक पेड़ का सहारा लेकर खड़ी थीं. वो हाथ में पानी का गिलास लिए, गहरे हरे या काही कलर की साड़ी में वो धीर गंभीर चाल से चलती हुई, जिसे कवियों ने गजगामिनी की उपमा दी है, चली आ रही थी.

लोग तो अपने मजे के अपनी पत्नियों को दूसरे लोगों के साथ शेयर करते हैं. तोमर साब बोले- तू बात सुन, मुझे नहीं पता जैसे मर्ज़ी कर, मुझे उन दोनों अम्मी बेटी को चोदना है, पहले अम्मी को, फिर बेटी को। उस दिन जब वो तेरे साथ यहाँ आई थी न, तो उसी दिन उसकी चूचियाँ देखी थी, क्या मस्त चूची हैं. मैं- अच्छा … क्या सिर्फ मेरा ही मन कर रहा था … तुम्हारा भी तो कर रहा है ना?प्रभा- हां बाबा … मेरा भी कर रहा है अब तो बहुत ही जोरों से कर रहा है.

वो बोला- क्या मस्त लंड चूसती है रे तू … तो तुझे तो कोठे में काम करना चाहिए. इसके बाद मैं और वो दोनों बाथरूम में गए और खुद को साफ़ करके कमरे में आ गए. मेरा लंड इंजन के पिस्टन की तरह शन्नो की चुत में अन्दर बाहर अन्दर बाहर होने लगा.

देसी फैमिली की चुदाई कहानी कैसी लगी आपको? आप मुझे मेल करना न भूलें. बस लगा कि तुमने शायद मेरे लिए चला दिया है!मैं- आप चाहती हों, तो मैं दोबारा चला देता हूँ.

उन्होंने एक चुस्त सफेद पैंट पहनी थी, जिसमें से उनका मोटा लंड साफ़ फूला हुआ दिख रहा था.

आखिरकार मैं भी मान गया और उससे लंड चुसवाकर खुद को झड़वा लिया और कल आने का वादा ले लिया. ब्लू फिल्म फुल एचडी वीडियोजिस दिन सुबह सुबह मैं बरखा को हास्पिटल लेकर गया, चित्रा हमारे साथ थी जबकि बहार घर पर रूकी थी. बाबा रामदेव जी की फिल्मइस बार मैंने शन्नो को कुतिया बनाकर चोदना शुरू कर दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा. ऐसा नशा जैसे कोई महंगी शराब पी ली हो।तब मुझे समझ आया कि लोग आजकल क्यों सेक्स के साथ पेशाब भी पीया करते हैं।मैंने मौसी के पेशाब को गले से नीचे उतार लिया।तब मैंने उठ कर रूपाली की तरफ देखा.

मैं चुपके से एक उत्तेजना बढ़ने वाली गोली ले आई और शाम को रुबिका को जूस में मिला कर दे दी.

शन्नो आज बहुत खुश थी क्योंकि उसे रात में चुदाई का मौका कितने सालों बाद मिला था. फिर भाभी ने मेरे अंडरवियर से मेरा लन्ड निकाला और लंड को मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. फिर उन्होंने मेरा सिर अपने कंधे पर रखवा लिया और एक साइड से पूरा अपनी बांहों में भर लिया.

हैल्लो पापा जी, कहां खो गए?” अदिति मेरी आँखों के सामने अपना हाथ लहराते हुए बोलीं. इतने में रीमा ने अपने होश सम्भालते हुए निखिल के चूतड़ों को पकड़ा और उन्हें सहलाने लगी. आप अपने कमेंट्स, अपनी प्रतिक्रिया मेरी नीचे लिखी ईमेल आईडी पर भेज सकते हैं.

सेक्सी फोटो चूत वाली

मैंने उससे उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो वो बोली- मैं तो अपने बॉयफ्रेंड चेंज करती रहती हूँ. सबने भोजन पूर्ण किया और शयनकक्ष की ओर चल पड़े, हमारा चुदाई का सिलसिला पुनः चलने लगा. बीच-बीच में वह मेरे चूतड़ों पर बहुत तेज चमाट मार देता था जिसकी वजह से मेरे चूतड़ एकदम लाल हो गए थे.

बस फिर क्या था … मैंने दीदी की टांगें फैलाईं और अपना लंड दीदी की चुत में पेल दिया.

अब उसकी आवाजें बदल गई थीं- आह … और चोदो मुझे … और तेज चोदो … आह फाड़ दो मेरी चुत, मेरी गांड भी फाड़ दो … आह और अन्दर तक लंड डालो … पूरा अन्दर डाल दो … जल्दी जल्दी चोदो.

मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके सीने की धड़कनों को सुनकर सुकून लेने लगा. चाची जरा गुस्सा करती हुई बोलीं- चुपचाप बता … क्या हुआ है?मैंने इशारा करते हुए बताया- चाची वो मेरे गोले दब गए तो बहुत दर्द कर रहे हैं. सनी लियोन का पोर्न वीडियोहम सब सबसे नजर बचाते हुए उस लैब के अन्दर घुस गए ताकि किसी को पता ना लग जाए कि हम अन्दर हैं.

यह नजारा हमारी जिंदगी का बेहतरीन पल था, जिसे हम दोनों कभी नहीं भुला पाए थे. फिर भाभी ने मेरे अंडरवियर से मेरा लन्ड निकाला और लंड को मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. हिना मेरे पास आई और उसने मेरा लंड पकड़ कर अपनी बहन की गांड से बाहर निकाला और चाटने लगी.

मैंने चाची के ऊपर चढ़ कर चुदाई की पोजीशन बनाई और उनकी चुत में लंड पेल दिया. इससे पहले मैं कुछ बोलता वो अंकल मुस्कराये और फिर दरवाजा बंद करके वापस चले गये.

अब मैं तेजी से अंदर-बाहर करने लगा और धीरे धीरे लंड ने गांड में अपनी जगह बना ली.

निखिल ने मीरा को उठाया और उसे बेड पर चित लिटा कर उसकी चूत चाटने लगा. मैं उसके घर के बाहर गाड़ी पार्क करके अन्दर घुसा, तो उसने जबरदस्त हग से मेरा स्वागत किया. अब रूम के अन्दर आकर देखा कि मीतू पूरी तरह थक कर आंखें मूंदें लेट गई थी.

सेक्स सेक्स वीडियो ब्लू पिक्चर मैं अपने एक हाथ से उसके मोटे और रस भरे दूध को बेरहमी से दबा रहा था और दूसरे हाथ से उसके एक कूल्हे को मजबूत पकड़ के साथ लंड के झटके पूरी तेजी से मारता जा रहा था. इनके आने के कुछ ही दिन बाद हनीप्रीत मुझसे पट गई और उचक उचक चुदवाने लगी.

आज मेरे इस तरह से चाटे जाने से आयुषी वासना में कामदेव की रति बन गई थी. और फिर दोनों ही साथ में वापस आ जाएंगे।मैं इसके लिए तैयार हो गया और मैं और भाभी दोनों मुंबई के लिए निकल पड़े. वो दोनों एक दूसरे से ऐसे चिपके हुए थे जैसे किसी ने गौंद से चिपका दिया हो.

असली वाली सेक्सी वीडियो

तारीख 25 दिसम्बर समय शाम के 7 बजे मैं अपने दोस्त विशाल के साथ एक पार्टी में जा रहा था. आज मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे पहली बार ही किसी मर्द से चुदाई करा रही थी. दीदी भी चुदास से भर गई थीं तो अपनी गांड उठा कर लंड चुत में लेने को मचल रही थीं.

वो हंसती हुई बोलीं- बेटा इस चड्डी को भी उतार दे, आज मैं तेरे हथियार की भी मालिश कर देती हूँ. और थोड़ी बर्फ डालने के बाद गिलास को भाभी ने दोनों जांघों के बीच लेकर चुतामृत से गिलास को भर दिया.

[emailprotected]न्यू हॉट गर्ल्स सेक्स कहानी का अगला भाग:दोस्त ने गर्लफ्रेंड की सहेली की चुत दिलाई- 2.

मम्मी अपनी चूत की फांकों को अपने दोनों हाथों से फ़ैला कर बोलीं- आ जा साले … चूस ले मेरी चूत को … और बन जा मादरचोद. भाभी मादक आवाज़ के साथ कहने लगीं- साले बहन के लौड़े … अब तक किधर था तू?मैं बोला- भाभी जी, आपका लंड है, आपके नाम की मुठ मार कर काम चला रहा था. मैं कुछ नहीं बोलता था क्योंकि मुझे लगता था कि वो बस फ़्रेंडली हो रही हैं.

फिर मैंने उसे नीचे लिटा लिया और उसके पेट को चूमते हुए नाभि से होकर शॉर्ट्स के पास आ गया. उनके शॉर्ट्स उतरने के बाद उनके लंड को मैंने पहले अंडरवियर के ऊपर से देखा, उसका साइज़ बहुत बड़ा लग रहा था और मोटा भी।उसको देख कर मेरे मुंह में पानी आ गया. मैंने उसे झटके देते हुए कहा- अगर एक बार बोलूंगी … तब तुम अभी ही मुझे एक बार और चोद लोगे?अफ़रोज़- हां आपा.

शा … वि श्स … आह्ह आह्ह … ओह्ह ओह्ह फक।उसकी ऐसी कामुक आवाजें सुनकर मैं चूत को दांतों से काटकर खाने लगा.

बीएफ सेक्सी देहाती साड़ी वाली: मिहिका अपने एक हाथ से लंड को मुठियाने लगी और मैं उसकी चुचियों को दबाते हुए गालों को चूम रहा था. कुछ देर पहले जो आधा खड़ा था, वो अब पूरा तन कर मेरी वाली डार्लिंग हुर्रेम के मुँह में अन्दर बाहर होने लगा था.

ये सब करने से बहू की आंखें आनंद से मुंद सी गयीं और इधर मेरा लंड भी तन कर खड़ा हो गया जिससे मेरी लुंगी उठ गयी और लंड उभार जैसे टेंट के पोल जैसा दिखने लगा. मॉम- क्या बात है पापा जी?दादा जी- देखो, एक काम मिला है, महीने में 20000 सैलरी मिलेगी. उन्होंने लाल साड़ी पहनी हुई थी और उस पर लाल लिपस्टिक उन्हें कातिल बना रही थी.

लेकिन जब पानी आना होता था … उसी टाइम मेरा ऑफिस होता था … इसलिए मैंने थोड़ी हिम्मत करके रीना से बात की.

मैंने छोटी सी मीना को गोदी में उठाया तो उसने किसी नट की तरह अपने हाथ मेरी गर्दन पर लपेट लिए. जिसके कारण हम दोनों की जांघें आपस में टकरा रही थीं और पट पट की मादक ध्वनि उत्पन्न कर रही थीं. वैसे भी बृज का तुम्हारे से छोटा और पतला था … और कुछ सालों से तो उसका सही से खड़ा ही नहीं हुआ है.