बीएफ इंडियन बीपी

छवि स्रोत,एक्स एक्स वीडियो इंग्लिश एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

லேடீஸ் செஸ்: बीएफ इंडियन बीपी, मैं सोच में पड़ गयी कि अगर मैं न बोलती हूँ, तो ये नौकरी, घर और ऐशो आराम सब निकल जाएगा … जिसके लिए में हमेशा के लिए तरसती रही हूँ.

इंग्लिश सेक्स हॉट वीडियो

इतने में मां बोलीं- हर्षद कहां खोया है … और ऐसे क्या देख रहा है मुझे!ये बोलते समय उनकी नजरें मेरी तौलिया पर टिकी थीं. राजस्थानी सेक्सी बीएफ वीडियो एचडीमैंने बिन्दू को अपने ऊपर आने का इशारा किया, बिन्दू मेरे ऊपर आ गई और उसने अपनी बुर को मेरे लौड़े के ऊपर रख लिया.

वह मेरा चुम्बन लेते हुए बोला- शुरू में थोड़ी लगती है … अभी पीर खत्म हो जाएगी. सेक्सी वीडियो सील पैक बीएफकरीब 3 – 4 मिनट इसी पोजीशन में रहने के बाद लण्ड बैठकर चूत से बाहर आ गया.

लड़के ने देख लिया तुरन्त पापा को दिखाया और बोला कि भैया ने ऐसे मैसेज भेजा है.बीएफ इंडियन बीपी: जो भी मुझे देखे, बस अपने बिस्तर पर लिटाने का ख्वाब देख ले। मेरे बदन के दो सबसे आकर्षक हिस्से है पहला मेरे स्तन, जो 34C के आकार के हैं.

सच कहूं तो मुझे बहुत डर लगने लगा था और घबराहट भी होने लगी थी कि कुछ अनहोनी न घट जाय.मैंने बिन्दू से पूछा- कैसा लग रहा है?बिन्दू बोली- बहुत अच्छा लग रहा है, ऐसे ही करते रहो.

থ্রি এক্স ভিডিও দেশী - बीएफ इंडियन बीपी

उसी वक्त मैंने भी अपने लंड से वीर्य की गर्म पिचकारियां मारनी शुरू की.सतही कहानियां जैसे कि मेरा नौ इंच का लंड उसकी सील बंद चूत में समा गया और वो चीख उठी और बेहोश हो गई फिर होश में आकर वो सहयोग करने लगी; वो अनगिनत बार झड़ चुकी थी, रातभर उसकी चुदाई की, लंड को सुबह उसकी चूत से निकाला, फिर मैंने उसकी गांड भी मारी पर मेरा निकल ही नहीं रहा था इत्यादि … इस टाइप फूहड़ सेक्स कथाएं लिखना मुझे गंवारा नहीं; जब तक बात दिल से न निकले, तब तक लिखने का आनंद ही नहीं आता.

जैसे ही मैंने उसका लंड अपने मुँह में लिया मेरे मुँह का स्वाद एकदम ख़राब हो गया. बीएफ इंडियन बीपी ऐसे ही चलता रहा … और कुछ दिन बाद वो मेरे रूम के सीढ़ी के पास आकर रुक जाती थी और मुझे सुनाते हुए कहती थी- हाय थक गई हूँ.

नेहा ने अपनी चूत को एक दो बार सुपारा लेने के लिए ऊपर उठाया लेकिन मैंने सुपारा अंदर नहीं डाला.

बीएफ इंडियन बीपी?

मैं ममा के साथ लेस्बियन सेक्स करना चाहती थी, लेकिन डर भी लग रहा था. मैंने भी गोदी में ही से हाथ बढ़ा कर उसके लंड को थामा और लंड के हिलाना शुरू कर दिया. अगर आपने फिर से सुमीना को बीच में लाने की कोशिश की तो मैं चला जाऊंगा.

नेहा अपने ही बेड पर अपने ही घर में, एक अजनबी से चुद रही थी और खुश हो रही थी. ताऊ जी के घर पर ही बस लग गई थी, सब आ गए थे।उस दिन भाभी बहुत ही अच्छी लग रही थी और उनके चेहरे पर कुछ अलग ही मुस्कान थी।भाभी मेरे पास आकर मुझसे बाते करने लगी और मेरी पढ़ाई के बारे में पूछने लगी. रमेश ने रीता की गाँड पर ढे़र सारा गाढ़ा थूक गिरा दिया और अपने हाथ से उसकी गांड के छेद पर थूक को मलने लगा.

नेहा का पेट, धुन्नी और उसकी चूत के बालों वाली जगह बहुत ही सुंदर और चिकनी सपाट थी. सरोज फर्स्ट एड बॉक्स ले आई और रुई और पानी से मेरा घाव साफ करके उस पर बैंडेज लगाई. मुझे ऐसे लगने लगा था कि मेरे साथ काम करने वाली लड़की या औरत, एक बार मेरी बिस्तर पर जरूर आ जाए.

विदेशी चुत के नाम से तो उसका लंड फुदकने लगा और बिना सोचे समझे उसने हां कह दिया. मैंने उसी समय चित होकर अपनी टांगें खोल दीं और मेरी बुर खुली हवा में अपने भाई के लंड का इन्तजार करने लगी.

एक ही बार में लंड उसकी चूत में उतर गया और मैं उसकी चूत को पेलने लगा.

फिर सपना को किचन में गैस स्टैंड पर बिठा कर उसके पैर फैला दिए और चूत को चूसने लगा.

जहाँ वो मुझे चोद रहा था, वहाँ हम दोनों को कोई भी नीचे से देख सकता था. तुम लोगों ने रोहित के साथ मार पिटाई की है, इसने तुम्हारी पुलिस में कंप्लेंट की है. आते ही उन्होंने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और पूछा- तो कैसा लगा शादी की सालगिरह का तोहफा?मैंने भी खूब खुश होकर कहा- बहुत ही बढ़िया, मज़ा आ गया।वो बोले- चल ऐसा, कर अपने उतार कर दिखा, क्या कर के गए वो दोनों?मैंने मना किया.

मैंने एकदम से उठते हुए उससे कहा- जुनैद … ये क्या कर रहे हो? मैं तुम्हारी बड़ी बहन हूँ. इससे उसका हौसला बढ़ गया और वो पहले तो धीरे से … फिर कुछ तेज़ से मेरी गांड को टच करने लगा. वो मेरे लंड के सुपारे को अपने मुँह में अच्छे से जीभ फिरा-फिरा कर चूस रही थी.

तीन लौड़े मम्मी के अंदर बाहर हो रहे थे।मैं और शैली एक दूसरे की चूचियाँ मसलते हुए अपनी मम्मी की चुदाई देख रहे थे।शैली बहुत गर्म हो गयी थी। उसने मेरा सिर पकड़ के मेरा मुंह अपनी चूत पे लगा दिया, मैं चूसने लगी।और फिर.

अब की बार 30 मिनट तक चुदाई चली होगी और वे दोनों थक कर निढाल हो गये. फिर दस मिनट बाद वो उठे और बोले- कभी गांड में लंड लिया है?मैं बोली- नहीं … गांड में भी कोई लंड लेता है क्या?मैंने झूठ बोल दिया था. वो कहने लगे कि अगर रोशनी बहू चली जायेगी तो यहां घर को कौन देखेगा? सरोज (मेरी ननद) भी तीन-चार दिन के बाद जाने वाली है तो फिर मेरी देखभाल कौन करेगा?ससुर की बात मैं टाल नहीं सकती थी और भाई ने भी यही कहा कि मैं यहीं पर रुक जाऊं.

उसका कहना है कि इस पोजीशन में लन्ड बिल्कुल अन्दर तक जाता है।आज की कहानी की ओर … यह कहानी मेरे और मेरी तहेरी भाभी के बीच की है, यानि कि मेरे सगे बड़े ताऊ जी की बहू।चोदना तो मैं भाभी को बहुत पहले ही चाहता था लेकिन परिवार की भाभी हैं इसलिए कुछ भी करने से डर लगता था. मैंने एक पल की भी देरी नहीं की और झट से अपना लंड अम्मी की गांड में पेल दिया. मुझे एकदम से झुरझुरी सी हुई मगर मैं दम साधे चुपचाप पड़ी रही, मैंने कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं की.

मैंने ब्रा का हुक खोल दिया, तो चुचे कबूतरों की तरह फुदक कर बाहर आ गए.

रश्मि- क्या सर … आप इस तरह से क्यों देख रहे हैं जैसे पहली बार देख रहे हों।रमेश- क्या करूँ … तुम चीज ही ऐसी हो। उस दिन कितना शरमा रही थी तुम और आज पहले से भी ज्यादा सेक्सी लग रही हो।रश्मि- आप भी मस्त लग रहे हो। आपका दोस्त कहाँ है?रमेश- वह आता ही होगा। जल्दी से अब कपड़े उतारो। मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है. चाय समोसे खाए पिए … दोनों दोस्त मस्त मगन हुए घूमते टहलते हुए रास्ते में जा रही हर लड़की को आंखों से चोदते उनकी गांड और चूचियों के बारे में बात करते रहे और खूब मज़े किए.

बीएफ इंडियन बीपी चुत पर किस करते ही उसने टांगें फैला दीं और दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ लिया. अर्जुन सर इज टू लकी!”मैंने उसका इशारा अच्छे समझा, मैंने थैंक्स कहा और जिम वाले फ्लोर पे निकल गयी।मेरे जिम में घुसते ही जैसे, मानो जिम का माहौल थोड़ा अलग हो गया हो.

बीएफ इंडियन बीपी कुच्ची बार बार बोलता कि खड़े लंड पर धोखा देगी क्या … और हंसी उड़ाता. जिस वेबकैम मॉडल के साथ मैंने इसलाइव वीडियो चैटसेशन का आनंद लिया था उसका नाम था आरूषि.

और मेरे कॉलेज तक भी ये खुशखबरी पहुँच चुकी थी।तन्वी का फोन आया और उसने पूछा- तो लड़की जीतने लगी है, तू इतनी होशियार है या चुदक्कड़, मैं क्या समझूँ?मैंने कहा- तू तो सब जानती ही है, कभी कभी जीतने के चुदना भी पड़ता है।सुनील ने मुझसे फोन कर के कहा- फ़ाइनल जीतने के लिए कब चुदवाओगी?मैंने कहा- ऐसा करते हैं, फ़ाइनल जीत जाऊँ तब करते हैं.

हद बफ सेक्सी

यदि आप दोनों चाहते हैं कि ये सब ये अब्बू के पास ना तो जाएं, तो आपको एक काम करना पड़ेगा. वे उसके चूतड़ों पर थपकी देते हुए हंस कर बोले- शाबास नसीम … तुमने लौंडे को सही चालू कर दिया … इसी तरह सबको तैयार कर दो, फिर जलसा करेंगे. कोई पांच मिनट लंड चुसाई के बाद रॉबर्ट ने अपना दुबारा माल मेरे मुँह में निकाल दिया.

विन्नी मुस्कराते हुए- अच्छा जी!मैं- ह्म्म … जी।मैं- तुमने कुछ खाया?विन्नी- नहीं।मैं- चलो कुछ खा लेते हैं. साली जी ने ब्रा भी डिजाइनर ही पहिन रखी थी मैंने उसके कप मुट्ठियों में जकड़ लिए और मसलने लगा. मैरिड कपल की चुदाई का नजारा कौन नहीं लूटना चाहेगा? रात में हम लोग लाइट जलाकर सेक्स किया करते थे.

मेरा लंड तो इस तरह से अकड़ रहा था जैसे कि पैंट के अन्दर उसका दम घुट रहा हो.

मैंने बिन्दू से कहा- चलो एक बार मेरे लौड़े को तुम्हारी चूत का किस लेने दो. जब जब उनकी गर्म जीभ मेरी गांड के छेद पर घूम रही थी, एक अत्यंत आनन्ददायक लहर मेरे चूतड़ों से होती हुई मेरे दिमाग तक पहुंच रही थी. मैंने कुसुम से कहा- यार, ये बताओ कि वो लड़की मुझे बुला रही है तो क्या मुझसे सेक्स संबंध भी बनायेगी? या ऐसे ही दोस्त समझकर बुलाकर रही है? अगर सेक्स संबंध बनाना होता तो अभी शादी के समय क्यों बुलाती? वो भी अपने घर पर! और उसका मंगेतर भी बुला रहा है.

पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि प्रतिभा मेरे साथ थी और उसने मुझे कैसे पाया, इसको लेकर बता रही थी. मैं रोहन के ऊपर लेटी हुई थी और उन्होंने अपना लंड मेरी चुत में डाल रखा था. जोश में आकर मैं भी उसकी चूचियां जोर जोर से चूसते हुए उस पर थप्पड़ से मार दे रहा था.

वो सेक्स स्टोरी मैं कभी बाद में आप लोगों के साथ शेयर करूंगा कि मैंने कैसे उन दोनों की एक साथ चुदाई की. वो अपनी गांड उठा उठा कर मेरी चूत में नीचे से लंड के धक्के देने लगा.

उन्होनें बहुत सारी क्रीम मेरे लंड पर लगायी और फिर अपनी गांड के छेद पर भी लगायी। अंकल बोले- बिल्कुल धीरे-धीरे अंदर करना, मैंने एक दो बार ही लिया है. तभी इसका मोबाइल रोमिंग में था जो मुझे बाद में पता चला क्योंकि वो छतरपुर का ही कोई इसका दूर का रिश्तेदार है. वो अपने लंड को हाथ में लेकर मुझसे बोलने लगे- देख लो मन्नत आज से इसको जन्नत की सैर तुम्हें करवानी है.

मैं- और जो मेरे लंड को तरसा के गयी हो … वो!उसने हंस कर बोला- उफ़ कितना मोटा है वो.

मैं इसमें पीछे रहने वाली हूं क्या?मैं चौंकते हुए बोली- मतलब!दीदी बोली- मेरी छुटकी, मैं तेरे पति को टेस्ट कर चुकी हूँ. मैं- निकाला तो फिर डालते हुए जलन व दर्द होगा, यदि सह लिया तो 5 मिनट बाद अपने आप ठीक हो जायेगा. मैंने शेफाली को फ़ोन किया, तो उसने कहा कि आज उसकी 3 बजे एक किटी पार्टी है.

उस दिन से माहवारी के दिनों को छोड़ कर दो महीने तक कोई भी दिन ऐसा नहीं गया था, जब मैं अपने छोटे भाई के मोटे लंड से न चुदी होऊं. मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी के पिछले भागमाँ को चोद कर बेटी की फैंटसी पूरी की-1में आपने पढ़ा कि मैंने रात भर पड़ोस की जवान लड़की को उसी के घर में चोदा.

अगर मैं दुबारा इससे मिलना चाहूँ, तो इसे मेरे पास लाओगे ना?मैंने भी प्राची भाभी को बांहों में कसते हुए कहा- तुम जब कहो भाभी, मैं हाजिर हो जाऊंगा. उनके ताबड़तोड़ झटकों से मेरी गांड थोड़ी देर में ढीली पड़ गई, दर्द भी कम हो गया. पार्क में जाने की वजह यही थी कि वहां पर कोई न कोई अंकल ऐसा मिल ही जाता था जो जवान लड़कों में रूचि रखने वाला होता था.

ট্রিপল এক্স ভিডিও হিন্দি

आज तुम घर जाते समय अपनी पसंद की सारी चीजें जरूर खाना। मैं तुम्हें पैसे दे देता हूँ.

फिर बस सवाल जवाब- क्यों मंगाया, क्या हुआ है?वो यही सब सवाल करने लगा. हम चारों निकल पड़े और अपने पांचवें साथी के पास पहुँच कर हम पांचों खेतों में घुसकर उन लोगों को तलाश करने लगे. उनकी इस हरकत से एक बार तो हमारे एक दो साथियों की तो टट्टी तक निकल गई थी.

अब वो मुझे बेतहाशा गंदी गंदी गालियां भी देने लगा था- ले साली रंडी … चुद मेरे लौड़े से … साली मादरचोद. मैंने चुदाई करते हुए उसके दोनों मम्मे दोनों हाथों में पकड़ लिए और चूसने लगा. हिंदी गाने में सेक्सकी आवाज़ निकलने लगी। इधर वीना भी मजे से लन्ड लेने लगी।लेकिन बेचारी की टांगें थोड़ी देर में जवाब देने लगीं.

प्रकाश भाई ने लंड पर खूब सारी क्रीम पोती, थूक मला और लौंडे की गांड पर टिका कर कहा- ढीली रखना … लगेगी नहीं, वरना नहीं डालूंगा. शेफाली- अच्छा जी … तो माय डियर हस्बैंड को चुदाई करनी है … तो ठीक है लो कर लो.

उन्होंने मुझसे बोला- ओके … आप बैठो थोड़ी देर में बॉस बुलाएंगे, तो आप अन्दर चली जाना. पर छरहरे बदन की मल्लिका खुशी हर तरह से पढ़ने वाली किशोरी ही लग रही थी. आलम तो ये था कि मेरा पेपर भी उतना अच्छा नहीं हुआ जितना होना चाहिए था.

फिर मैंने आपकी सलवार खोल कर आपकी पेंटी के अन्दर चूत में हाथ डाल दिया, तो आपने मेरी गांड में अपनी उंगली डाल दी भाभी. अपने घर की इज्जत का सवाल है … और मैं अपने घर की इज्जत पर कोई दाग नहीं लगने दूंगी हर्षद. मैंने भाभी के होठों पर किस कर लिया और बहुत देर तक उनके होंठ चूसता रहा, भाभी भी रिस्पांस देती रही.

हो सकता है कि मेरी ऑफिस की उस सेक्सी लेडी के साथ सेक्स करने में तुम मेरी मदद कर पाओ.

मैंने थॉमस के लंड को अपने हाथों में लिया और उसे चुत की फांकों में सैट करते हुए मैं लंड पर धीरे धीरे बैठने लगी. कुछ ही मिनट बाद आंटी गांड हिलाते हुए बोलीं- राज मैं तेरा लंड पी जाऊंगी.

अब उनमें से कोई भी दोस्त जब भी मेरे घर आता, मुझे कुतिया बना कर चोद कर चला जाता. उसकी भरी हुई चुचियां उसके झुके होने से ऐसा लग रही थीं, जैसे अभी छलक कर बाहर आ जाएंगी. ये सुनकर उन्होंने अपने पति को कॉल किया और पूछा- आप कब तक आओगे?पति ने बोला- मैं 5 बजे तक पहुंच जाऊंगा.

वो बोली- नहीं, अगर तुम दोनों फिर से स्टार्ट हो गये तो? अब तो मैं चाय पीकर ही जाऊंगी. पर बाजार हमारे घर से थोड़ा दूर था और मेरा निकलना भी उचित नहीं था।हमारे घर से एक गली छोड़ कर ही मेडिकल स्टोर था, वो मेरी जान पहचान वाले का ही था. मेरी बीवी की चुदाई की यह कहानी आपको कैसी लगी मुझे अपने फीडबैक में जरूर बतायें.

बीएफ इंडियन बीपी हमारी रोज़ मुलाक़ात होना शुरू हुई, तो आंखों ही आंखों में थोड़ी बात होने लगी. मैं बोला- मगर आप इतने यकीन के साथ कैसे कह सकती हो कि उसको मेरा लंड चाहिए?शिवानी बोली- मैं एक औरत हूं.

સેક્સી પિક્ચર ગુજરાતી વિડીયો

आंटी ने चड्डी के ऊपर से ही मेरा लंड पकड़ा और बोलीं- आह … तेरा तो बड़ा मस्त लंड है. मुझे मालूम था कि सुबह मेरी मुनिया का उद्घाटन होना है इसलिये साफ सफाई जरूरी थी. अचानक मुझे ध्यान आया कि ये मैं क्या कर रहा हूं … मैंने तो कुछ और ही प्लान कर रखा था.

मैंने बिन्दू से कहा- चलो एक बार मेरे लौड़े को तुम्हारी चूत का किस लेने दो. पूजा- ये सब क्या है … और इधर क्यों?मैं- आज कुछ नया आजमाएं?पूजा- पर क्या?मैं- आज बी. सेक्सी बीएफ चाहिए पंजाबीमुझे पता था कि अब वो मेरी योनि में अपना लिंग प्रवेश करवाने जा रहे थे.

हैलो साथियो, मेरी चुदाई की कहानी में आपने अब तक पढ़ा था कि रोहन के सामने मैं थॉमस के अफ्रीकन लंड से चुदाई का मजा ले रही थी.

मैं और शेफाली लेडीज चेंजिंग रूम की तरफ बढ़ गए और अंकुश अपना बैग लिए जेन्ट्स में चल गया. उसकी ये बातें सुनकर मैं और जोश में आ गया और तेजी से उसकी चूत में उंगलियां करने लगा.

मुझे शुरू में बहुत खराब लगा मगर फिर उनके लिंग से आ रहा नमकीन सा स्वाद मुझे अच्छा लगने लगा. तुम दोनों हस्बैंड वाइफ हो … और रही बात चुदाई की, तो ये तो हर कोई करता है. मेरी गांड की दरार से होते हुए उसकी आग मेरी चूत में जाने को बेताब हो रही थी।अर्जुन मेरे जिस्म के उतार चढ़ाव से असहज हो रहा था.

होंठों पर गहरी लाल लिपस्टिक, आंखों में काजल, गोल बड़े गले की लाल कुर्ती सूट पहनी हुई थी.

दोस्तो, अगर आप लोग किसी काम से जा रहे हो और आपको पता लगे कि आपकी कोई मित्र भी आपको मिलने आ रही है तो सफर का मज़ा ही दोगुना हो जाता है और जब सफर पहाड़ों का हो तो क्या कहने!आज देहरादून से श्रीनगर का सफर ऐसा लग रहा था मानो बहुत दूर हो. मैंने कहा- वो सब छोड़ो, ये बताओ इस बार कैसे चुदवाओगी?वो- जैसा तुम चाहो. अमित करीब पांच मिनट तक इसी तरीके से मेरी चुत को कभी चाटता, तो कभी चूसता.

हिंदी पिक्चर ब्लू पिक्चर वीडियोहम समझ तो जाते कि ये हमारी गांड पर धावा बोलने की फिराक में हैं, पर हम उन्हें मना नहीं कर पाते थे. मीता- क्या आप भी … मुझे क्यों बना रहे हो … मैं इतनी भी खूबसूरत नहीं हूँ, जितनी आप तारीफ कर रहे हो.

देवर भाभी की सेक्स कहानी

अम्म … आह्ह चपकचप… चपचप … मुचमुच… करके वो उसकी गांड को काफी देर तक चाटता रहा. सिर्फ मुझे अर्जुन का लंड चाहिए था, ऐसा मुझपे उसके चुदाई का खुमार छाया था. मैंने पीछे मुड़ कर देखा तो सरोज आंटी पूरे मेकअप में बन ठन कर वहां खड़ी थी.

आपको मेरी यह कामुक कहानी कैसी लगी, प्लीज मुझे ईमेल करके जरूर बताएं. अब वो अपनी चूत की फांकों को खोल कर अपने क्लिटोरिस को जोर जोर से रगड़ रही थी. अंकुश जोर जोर से झटके देने लगा और बीच बीच में शेफाली के मम्मों भी चूसता जा रहा था.

”आह …” सुहाना ने अपना सिर दूसरी ओर घुमा लिया।अब मैंने फिर से अपने लंड को 2-3 बार घिसते हुए उसकी बुर के चीरे पर फिराया और फिर से छेद पर लगाकर अन्दर घुसाने के लिए थोड़ा जोर लगाया।दोस्तो … खेली खाई औरत हो तो इस समय एक ही धक्के में किला फ़तेह किया जा सकता है. वरना हम कामुक कहानी लेखकों को तो लोग गिरा हुआ समझकर हेय दृष्टि से ही देखते हैं।मैंने उससे पूछा- तुमने किस नाम से आई डी बनाई थी? मुझे भी तो बताओ? आखिर मैंने तुम्हें क्या समझ कर चैट किया था मैं भी तो जानूं!इस बार खुशी ने मुझे अपनी कसम दे दी- देखो संदीप, तुम्हें मेरी कसम है तुम दुबारा कभी ये सवाल नहीं करोगे, और जब बताना होगा मैं ही तुम्हें सारी सच्चाई बता दूंगी।अब मुझे शांत रहना पड़ गया. फिर मैंने डेज़ी को उठाया और जोर से अपने सीने से लगा लिया और उसे फिर से किस करना शुरू कर दिया.

नीरा- राज … राज … नहीं राज!मैंने नीरा के मुँह पर एक उंगली रख उसे चुप होने का इशारा करते हुए उसके गले पर अपनी जीभ से चाट लिया. आह्ह्ह्ह अर्जुन … उम्म्म मेरे राजा … चूसो मेरी चूत को! अह्ह्ह्ह!”उसके लंड मैं को और जबरदस्त तरीके से मुँह में लेकर चूसने लगी.

मैंने उंगली बाहर निकाली और अपनी पोजीशन उसकी टांगों के बीच बना कर लेट गया.

अब मैं खड़ा हुआ तो स्वीटी मैडम ने बिना देर किए मेरे लंड को मुँह में ले लिया. bf हिंदी वीडियोवो बड़बड़ाते हुए बोला- आह्ह … क्या माल हो भाभी! एकदम गरम मसाला सनी लियोनी की तरह! काश … आप मुझे पहले मिलीं होती. चोदा चुदाई सेक्सी वीडियोथॉमस भी मेरी गांड पर थप्पड़ मार रहा था और मुझे भी उससे अपनी गांड मराने में बहुत मजा आ रहा था. मीता- मुझे अपना लंड दिखाओ, जो मेरी चूत में जाएगा … अब खुश!मैं- तुम खुद ही निकाल कर देख लो.

पर मेरी टी-शर्ट तो फट चुकी थी, तो अंकुश ने मुझे शेफाली की एक दूसरी टी-शर्ट दे दी.

जब उनका मन मेरी चूचियों से खेलने से भर गया, तब सर ने मेरे लहंगे की डोरी खोल दी और एक झटके में लंहगा उतार कर दूर फ़ेंक दिया. उससे मिल कर मेरी खुशी का ठिकाना ही नहीं था- अबे यार तू कब आया और बताया क्यों नहीं कमीने. फिर अचानक से मैंने उसकी चूत की फांकों में अपने लंड को रख कर एकदम से दे मारा.

फिर मैंने उनकी दोनों पिंडलियों पर बारी-बारी से लंड को चलाया, कोमल गुदगुदी वाली जगहों पर उनका और भी बुरा हाल हो जा रहा था. आपसे विनती है कि आप इस लेस्बियन मजा हिंदी कहानी को अपने साथियों से शेयर जरूर करें. मेरी मौसी की सेक्स कहानी के पिछले भागतलाकशुदा मौसी की चूत कैसे मिली-3में आपको मेरी मौसी और मेरे बीच हुई चुदाई की कहानी का लुत्फ़ मिला था.

பிஎஃப் வீடியோ ஹிந்தி

चुदाई से पहले एक दूसरे को गर्म करने की प्रक्रिया फोर-प्ले कहलाती है, वैसे ही चुदाई के बाद एक दूसरे से लिपट-चिपट कर प्यार दिखाना बातें करना, एक दूसरे का आभार जताना, अंगों को सहलाना या फिर दुबारा चुदाई के लिए मन बनाना, ये सब आफ्टर-प्ले कहलाता है. ” उसने सकुचाते हुए कहा।कोई बात नहीं … तुम बाथरूम में जाकर पहले अपने पैर धो आओ फिर लगा देता हूँ. मैंने मां को उनकी कमर के नीचे हाथ डालकर उठाया और उनके बेडरूम में ले गया.

विन्नी के मुंह से सिसकारी निकल गयी- स्स्स… अम्म्म। मैं समझ गया कि पराये मर्द की छुअन से विन्नी मचल रही है.

वो मेरी चूत को चाटते हुए, मेरी चूत के दाने को भी चूसने लगा, तो मैं ‘ऊउन्न्ह ऊम्म्ह.

मैं उनको बता दूं कि मैं कोई रांड नहीं हूँ, जिससे मेरा मन करता है, मैं उसी से सेक्स करूंगी. अंकुश नीचे से धक्के दे रहा था … और में ऊपर से उछल कर मजे ले रही थी. अंग्रेजी लड़की की बीएफरमेश का लंड अन्दर नहीं जा रहा था। उसने कहा- शुरू में थोड़ा दर्द होगा लेकिन फिर ठीक हो जाएगा।रश्मि- ओके.

उसके बाद इसका रात को 8 बजे मेरे पास फोन आया, उसने मुझसे 1 घण्टे तक बात की. कुछ देर बाद जब मैंने भाभी को छोड़ा तो भाभी से खड़ा नहीं हुआ जा रहा था. अपनी दोनों टांगों को भाभी ने चौड़ा किया और मेरे हाथ को अंदर तक पहुंचने का रास्ता दे दिया.

ये टेंट बंद होते हुए भी ओपन किस्म के थे, उनमें दोनों तरफ़ से कोई भी झांक सकता था. रश्मि- क्या सर … आप इस तरह से क्यों देख रहे हैं जैसे पहली बार देख रहे हों।रमेश- क्या करूँ … तुम चीज ही ऐसी हो। उस दिन कितना शरमा रही थी तुम और आज पहले से भी ज्यादा सेक्सी लग रही हो।रश्मि- आप भी मस्त लग रहे हो। आपका दोस्त कहाँ है?रमेश- वह आता ही होगा। जल्दी से अब कपड़े उतारो। मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

और मैं रोहन को जलाने की लिए और जोर जोर से कराह रही थी- आह आह्ह आह्ह उम्म … उम्म थॉमस फक मी फ़क मी फास्ट बेबी … चोदो मुझे आह आह आह …थॉमस भी मेरी चूत को जबरदस्त चोद रहा था और मेरी गांड पर जोर जोर से थप्पड़ भी मारे जा रहा था, जिससे मेरे अन्दर और उत्तेजना पैदा हो रही थी.

अभी पिछले हफ्ते फिर से बाँदा गयी थी मगर अबकी बार कोई और दो नम्बरों में लगातार 15 दिन से खूब बात होती हैं. कितनी जगह से गीली हो गई है, पहली बार यह लगा है कि किसी मर्द ने मुझे जम कर चोदा है. मैं- मीता कैसा लगा?मीता- कुछ मत पूछो अंकल … बस उन पलों को मुझे जी लेने दो … मैंने जितना सोचा था, उससे कई हज़ार गुना सुख आपने दिया.

ब्लू फिल्म हिंदी हिंदी ब्लू फिल्म इसलिए अन्तर्वासना चुदाई की कहानी लिखना मुश्किल था और बाहर से चुदाई भी सम्भव नहीं थी. उसका लंड जब मेरी चुत में गया, तो मुझे महसूस हुआ कि उन सभी में शायद आशीष का लंड सबसे मोटा था.

रश्मि ने वैसा ही किया और उसकी गांड अब रमेश के लंड के निशाने पर आ गयी. मैं तो सोच रहा हूं कि इसका प्रोमोशन करवा कर इसको अपने ही ऑफिस में रख लूं. पहले अंकल ने बारी-बारी से मेरे सारे कपड़े उतारे और फिर मैंने उनके सारे कपड़े उतारे।जैसे ही अंकल के पूरे कपड़े उतारे, मैं अंकल को देखता ही रह गया।ओह्ह्ह यार … क्या बॉडी थी उनकी! एकदम चिकनी, गोरी, मांसल बॉडी और बिल्कुल दूध जैसी गोरी त्वचा.

चूत मरवाई

उसकी तरफ देख कर मैंने अपना सीना फुलाया, तो उसने मेरे दूध देख कर बोला- मुझे सेब भी बहुत पसन्द हैं. अब तो उसने मेरी चूत को ही केक समझ लिया और मेरी चूत को ही खाने की कोशिश कर रहा था. हमारा घर गांव के एक कोने पर बना हुआ है और घर का सिर्फ एक मुख्य दरवाजा है.

ये सुनकर आप बोलीं कि आप जो कहोगे, मैं करूंगी … बस आप बताइए क्या करना है? मैं अपनी गलती सुधारना चाहती हूँ प्लीज़ … इस पर मैंने कहा कि इसके लिए आपको मुझे चोदना होगा भाभी मेरे लंड की प्यास बुझानी होगी. फिर वो डिक्शनरी लेकर मेरे पास आ गए और मुझे देकर बोले- लो इसमें देखो.

आप बनावटी रोना रोते हुए बोलीं कि मैं इसे अपने होंठों और मुँह की गरमी से ठंडा करने की कोशिश करती हूँ.

उसने मेरी तरफ से अचानक नीचे झुक कर मेरे दोनों घुटनों के बीच में अपनी पूरी बाजू फंसा दी. साली तेरी चुदाई तो मैं ही कर रहा हूँ ना … मेरी रांड मेरे लंड का मजा ले. मैं झट से नहायी और उसके कहे अनुसार सिर्फ योगा पैंट और बिना ब्रा की स्पोर्ट्स ब्रा को पहना.

मैं- क्लेरिसा, तुम्हें काम करने के लिये ये नई जगह पसंद आई? यहां पर हमें ऑफिस के उस उबाऊ माहौल को भी नहीं झेलना पड़ेगा. मैंने पूछा- अब तक कितनी लड़कियों के साथ सेक्स कर चुका है?तो उसने कहा- मैंने अपनी दोनों भाभियों को बहुत चोदा है मगर किसी जवान लड़की को चोदने का मौका पहली बार मिल रहा है. विनीता के हाथ मेरे सर को उसकी चूत में ले जाने के लिए कोशिश करते रहे लेकिन सफल नहीं हो पाए.

अब आगे:मैंने उसे समझाते हुए कहा- देखो … मैं ऐसा कह रहा हूं, जरूरी नहीं कि तुम मान ही जाओ.

बीएफ इंडियन बीपी: भाभी चुप हो गईं और धीरे से अपनी उंगली पर अपनी साड़ी के पल्लू को लपेटते हुए बोलीं- वो ये सब नहीं करते हैं. कुछ देर निष्ठा यूं ही भीगी बिल्ली सी बनी बैठी रही फिर उसने खड़े होकर मुझे एक बार असमंजस भरी निगाहों से देखा; जैसे उसने जो जो एक्स्पेक्ट किया होगा कि जीजू संग होली ऐसी होगी वैसी होगी.

रीता रंडी की बात सुन कर वेटर भी शरमा गया और वहां से चुपचाप चला गया. दस मिनट बाद आंटी ने मुझे उठाया और बोलीं- अब तू जा … मीनू आने वाली होगी. अपना हाथ नीचे करके मैंने भाभी की चूत पर फिराया तो भाभी बोली- राज, ऐसा लग रहा है जैसे मज़े में जान ही निकल जायेगी, तुम्हारे हाथों में तो जादू है.

फ्रेश चुत का सेक्स मजा लेते हुए मैंने अगली रात दोबारा भाभी की छोटी बेटी को चोदा.

प्रकाश भाईसाब कहने लगे- बड़ी ठंडक है … ऐसे में कुछ कपड़े पहन कर निकलना था. उसकी हरकत को देखते हुए रमेश मुस्कराया और बोला- तुम खा खाकर मोटी हो गयी. ऐसा लगा कि मैं किसी पोर्न फ़िल्म के अंदर आ गयी हूं। सच में आज समझ आया कि क्या होता है वाइल्ड फक।उसके बाद हम दोनों नींद की आगोश में बातें करते हुए ही समा गये.