अमरपाली के बीएफ

छवि स्रोत,देशी सेक्स विडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

बिहार वाला बीएफ दिखाइए: अमरपाली के बीएफ, खाने के बाद माया दीदी ने मेरी ओर देखा और बोलीं- राजू तुम तो काफी बड़े हो गए हो.

एक्स एक्स हॉट मूवी

मिनी प्यार में पागल प्रेमिका की तरह आंखें बन्द करके किस करने में लगी हुई थी. সেক্সি ভিডিও ব্লু ফিল্মअकेले घूमने जाना, रात को लंबी ड्राइव पर बाइक में निकल जाना, उसका मुझे इस प्रकार पकड़ कर बैठना कि मेरा लंड उसके टच से ही खड़ा हो जाए … ये सब आम होता था.

जैसे ही पिचकारी निकली तो सारी मलाई सौम्या के मुँह में और गालों पर जा गिरी. एक्स एक्स वायवो बोली- वाह तुम्हारे लंड का अमृत क्या खुशबूदार और टेस्टी है हर्षद!इतना कहकर उसने मेरा पूरा लंड चाटकर साफ कर दिया.

रीता- अच्छा ये बताओ तुमहारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैं- नहीं क्यूं?रीता- ऐसे ही.अमरपाली के बीएफ: काफी देर तक चाची की दोनों चूचियों को पीने के बाद मैंने चाची के होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

तो भाभी बोलने लगीं- नहीं अभी किसी ने भी आज तक मेरी गांड नहीं मारी … और ना ही मैं अपनी गांड मरवाना चाहती हूँ.मैंने आंखों ही आंखों में सीमा को इशारा किया जिस पर वो मंद मंद मुस्कुरायी.

सेक्सि व्हिडिओ - अमरपाली के बीएफ

फिर एक दिन मेरी मां ने मुझे बताया कि तुम्हारे ताऊ की तबियत अचानक खराब हो गयी है तो मैं और तुम्हारे पापा उनको देखने जा रहे हैं.फिर वो मेरा लौड़ा हाथ में लेकर चूसने लगीं, जिससे मेरा लौड़ा दोबारा खड़ा हो गया.

मैं उसकी चूत चौड़ी करके जीभ अन्दर डालकर चूसता रहा और एक उंगली चूत में डालने लगा. अमरपाली के बीएफ वो बड़बड़ा रहा था- ले भोसड़ी के गंडवे भड़वे साले गांडू और ले!उसने एक और तेज धक्के में मेरी गांड के अन्दर तक लौड़ा घुसा दिया और धक्के देने लगा.

अब आगे हॉट न्यूड गर्ल सेक्स स्टोरी:तभी मैंने देखा कि शिल्पा अपने बॉयफ्रेंड से बातें करते हुए कह रही थी कि जानू तुम्हारा लंड लेने का बहुत मन कर रहा है … आह डाल दो अन्दर.

अमरपाली के बीएफ?

मैं हमेशा सेक्स करने के बारे में सोचता रहता था पर मौका नहीं मिल पाया था क्योंकि मैं बहुत ज्यादा शर्मीला था. उस दिन मेरा ऑफिस का कोई काम नहीं था, तो मैं अपने रूम में बैठ कर अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ रहा था. हैलो फ्रेंड्स, मैं गौरव आपको देसी आंटी सेक्स कहानी में अपनी पड़ोसन पम्मी आंटी की चुदाई की कहानी सुना रहा था.

अगले ही दिन मैं अपने पिताजी के एक दोस्त के पास गया और उन्हें ज़मीन और सारी चीजें बेचने की बात बताई. उस ऐसा करते देखकर मैं गर्म हो गया था और भूल गया था कि वो मेरी बहन है. वो बोली- अब बचो मेरे वार से … बहुत नींद आ रही थी ना … अब सो कर दिखाओ.

फिर धीरे से मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया तो वो अचानक से अपनी टांगें चिपकाने लगी. पांच मिनट की चुदाई के बाद मुझे अहसास हुआ कि लंड पूरा अन्दर घुस चुका है. उसी समय मैंने चुपके से सौम्या को एक चिट पर अपनी समस्या को लिख कर दे दिया.

अभी दो मिनट ही हुए होंगे कि वो ज़ोर ज़ोर से कराहने लगी- आह … आंह … रुको मत प्लीज़ और ज़ोर से … आई सीएईई … मैं आआ रहीईई हूं … उन्हह … कट गई आंह. विलास ने नीचे सरककर मेरे पैंट की चैन खोल दी और अंडरपैंट से मेरा लंड बाहर निकाल दिया.

पिछले भागतान्त्रिक मसाज़ के बाद चुदाई का दौरमें आपने पढ़ा कि कैसे लड़की ने विदेशी महिला की तान्त्रिक मसाज़ करके उसके साथ लेस्बियन सेक्स किया, फिर अपने पति को बुलाकर उस महिला को सेक्स का भरपूर मजा दिलवाया.

मैं भी उनकी पिचकारियों को अपने चूत में महसूस कर रही थी और उसका वीर्य मेरे बच्चेदानी में समाया जा रहा था.

मैं खुश भी था कि आज एक साथ दो चूत मिलेगी।मैंने बिना देर किए मेरी पैंट की ज़िप को खोला और लन्ड बाहर निकल कर हाथों से मसलने लगा. जब मैंने बुकलेट खोला तो उसमें एक बिल दिखा और उसके ऊपर एक गुलाब रखा था. लेकिन कितना दूर है उनका गांव, मुझे ये नहीं मालूम है?विलास बोला- शायद तुम्हें कार से एक घंटा लगेगा.

उनकी कमर के नीचे का शरीर ऐसा मादक था कि किसी भी लड़की को मात दे दे. फिर जैसे ही नव्या भाभी की गांड ऊपर उठी, मैंने मूड बना लिया कि गांड में तो लंड जाकर रहेगा. कुछ देर बाद भाबी ने बगल में रखा एक गुलाबी रंग का डिल्डो अपनी चूत में रगड़ना शुरू कर दिया.

थोड़ी देर इस चुम्मा चाटी के बाद मैं और नीचे सरक गया तो उसकी चिकनी और उभरी हुई चूत देखकर मेरा लंड फड़फड़ाने लगा था.

फिर उनकी तरफ से यदि जरा सी भी हरी झंडी जैसी कुछ दिख जाए, तो लंड हाहाकारी बन जाता है. मैंने सौम्या डार्लिंग को घोड़ी के पोज में किया और सौम्या रूपी घोड़ी की चूचियां, लगाम समझ का पकड़ लीं और एक ऐड़ लगा दी. आंखें बंद करने के बाद मुझे वही सब नजारा दिख रहा था, जो क्लीनिक में हुआ था.

वो मेरे ऊपर अपना सर रख कर लेटी हुई थी और बिल्कुल किसी बच्ची की तरह मुझे कसके चिपकी लेटी रही. इतने में निशा पीछे से बोली- वाह अमित … आपने तो इतनी अच्छी बॉडी बना रखी है. मेरे शहर से उसका शहर मेरे शहर से काफी दूर था तो मैं उससे मिलने के लिए रात 11 बजे ही ट्रेन में बैठ गया और सुबह 7 बजे में लुधियाना पहुंच गया.

उसने मुझे कहा- तब तो बहुत ही मजा आएगा और मुझे तुम्हारी गांड मारने का भी मौका मिल जाएगा.

चीख सुनकर नाना और नानी जग गए लेकिन उन्होंने सोचा कि रोज की तरह सौम्या भूत बूत के नाम पर डर गई होगी इसीलिए उन्होंने ऊपर से पूछा. चाची- अब तेरी मम्मी को बोल कर तेरी शादी करनी पड़ेगी, फिर करना उसके साथ, जो तुझे करना है.

अमरपाली के बीएफ मैंने देखा मोटा काला सा लन्ड जेठ जी का!आज मैं इसी से चुदने वाली थी।जेठ जी ने मुझे कस के अपनी बांहों में जकड़ लिया और किस करने लगे. वो इससे एकदम से चुदासी होने लगीं और ‘आह आह मर गई इस्स स्स …’ करने लगीं.

अमरपाली के बीएफ अगर बाजू वाले कमरे में कोई होगा तो है तो उसे पक्का समझ आ गया होगा कि इधर दमदार चुदाई हो रही है. राहुल ने चाची को कॉल करके अगले हफ्ते के लिए कह दिया और उन्हें पास के होटल मिलने की बात कह दी.

जीजा जी मुझसे बोले- राजू मैं शराब की बोतल लेकर आया हूँ … अगर तुमको परेशानी ना हो तो मैं इस कमरे में पी सकता हूँ?मैं- हां जीजा जी, क्यों नहीं, आइए ना.

लड़की बेवफा

सरिता बोली- हर्षद, आज तुम जा रहे हो लेकिन मुझे बहुत सूनापन महसूस होगा. फिर मैंने एक ही झटके में उनको नीचे लिटा दिया और तेज़ तेज़ झटके मारने लगा. अगले दिन फिर मेरे हस्बैंड का फोन भी आया और उन्होंने मुझसे कहा- अभी मुझे यहां टाइम लग रहा है.

नाचते नाचते मेरा हाथ पुलकित के लंड पर लग गया तो पता चला कि उसका लौड़ा एकदम हार्ड था. साथियो, मैं आपका साथी यश हॉटशॉट एक बार फिर से आपके सामने शिल्पा की चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. अब मैंने उसकी नाइटी उतार दी और साथ में मैंने उसके शरीर से पैंटी और ब्रा को भी अलग कर दिया.

इसमें हालांकि मुझे भी हल्का हल्का दर्द हो रहा था पर मजा भी आने वाला था।दोनों ही धीरे धीरे उनके लण्ड को चूत के अंदर बाहर कर रहे थे.

मेरा जोश बढ़ गया था, मैं सरिता की चुची जोर से मसलने लगा तो सरिता कसमसाने लगी. जब मैं और फ़लक एक दूसरे का हाथ पकड़ कर चल रहे थे तो मैं उसे बार बार छेड़ रहा था. क्या मजा आ रहा था!और वह भी अपने गांड को मटका रही थी- जोर से भाई … और जोर से चाटो … मैं एक रंडी हूं!अब मेरी बहन मुझसे कह रही थी- भाई, मुझसे आप कंट्रोल नहीं हो रहा … अपना गरम औजार अपनी बहन की चूत में घुसा दो!मैंने कहा- हां मेरी जान मेरी रंडी बहना! तुझे तो मैं आज पूरे जन्नत की सैर कराऊंगा.

मैंने ध्यान दिए बिना उनके बेडरूम को देखकर जब जाने लगी तो अचानक ही दोनों मेरे सामने आ गए. कुछ समय बाद मैंने देखा कि चाची बार बार अपने मम्मों को पकड़कर सहला रही थीं. मैंने उसकी टांगों को फैलाया और चुत को ऊपर से जैसे ही चाटा, तो वो मछली की तरह तड़फने लगी.

मैंने बिना देर किए उसके बदन से सारे कपड़े उतार फेंके और मैं भी पूरा नंगा हो गया. रीटा तो आनन्द में गोते लगा ही रही थी क्योंकि वो भी पहली बार ये सब अनुभव कर रही थी.

मैं बोला- सॉरी शिल्पा मुझे पता नहीं था कि तुम यहां हो!शिल्पा बोली- सॉरी क्यों बोल रहे हो, कोई बात नहीं. पर मैंने मना कर दिया क्योंकि उसके लंड पर खून और तेल लगा था जो मैं नहीं चूस सकती थी. मैंने तेल की शीशी से थोड़ा तेल उसकी चूत और अपने लंड पर गिराकर लंड का सुपारा घिसना शुरू किया.

मैं आपको अपनी सोच की एक ऐसा काल्पनिक देसी चाची की चुदाई हिंदी में सुनाने जा रहा हूँ जिसने मेरे जीने का नजरिया बदल दिया और उसे वासना से भर दिया था.

मैंने वो जल्दी से लाकर बराबर बराबर मात्रा में उसकी ब्रा और ब्लाउज पर छिड़क दिया और बाकी बचे पाउडर को एक तरफ छिपा कर रख दिया. मैंने कहा- अभी कहां हो?उसने बताया कि घर से कुछ दूरी पर एक पार्क है, वहां बैठी हूँ. फिर जैसे ही मैंने मुश्किल से उसकी चूत के दाने को उंगली से पल भर के लिए छुआ होगा … तो उसकी चुत का पानी मेरी हथेली पर आना शुरू हो गया.

मैंने देर न करते हुए सोनिया से कहा- सोनिया, अब मुझे तुम्हें चोदना है. उसकी सांसों से रूबरू होते हुए उसके होंठ कब मेरे होंठों से मिल गए, कुछ पता ही नहीं चला.

पर मैंने तो आज अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी और बारिश की वजह से मेरे बूब्स साफ दिखने लगे थे. वो रिसेप्शन वाली लड़की की चूत मैंने कैसे ली, ये अगली कहानी में लिखूंगा. मैं बेशर्मी की हद पार करता हुआ कहने लगा- सॉरी, मैं अभी तौलिया लपेट लेता हूँ.

देसी भाभी की सेक्स वीडियो

मैंने बातों बातों में यह भी महसूस किया था कि वह अपने पति से खुश नहीं है.

इस पोज में हम दोनों को बहुत मजा आता है इसलिए मेरी प्यारी पत्नी को ये पोज पसंद है. वो बोला- यार यहां कोई देख लेगा … बाहर गाड़ी में चलें!मैंने बोला- चलो. रोहित ने जोर की सांस भरी और बोला- आह बोल साली रंडी … कैसा लगा मेरा लंड?मेरी आंखों में आंसू थे.

मैं चला गया और दरवाजे के पास खड़ा होकर भाभी की मदमस्त जवानी को याद करके लंड सहलाने लगा. नहा धोकर बैठा ही था कि उसका मैसेज आया कि ये चॉकलेट क्यों रखा … पहले ही इतना मोटी हूँ और वजन बढ़ जाएगा. मराठी सेक्सी बीपी एचडीमैंने उसे किस करते हुए एक जोर से धक्का मारा, जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया.

वो बोले- तू सन्नो तो नहीं लग रही, पर तेरा टच सन्नो सा ही है … और सन्नो के कपड़े तुझे फिट तो बैठ रहे है ना. मैंने बोला- फिर आपने घर में झूठ क्यों कहा?तो दीदी बोली- मम्मी हमें बाजार नहीं जाने देतीं, इसलिए.

दोस्तो, मैं आपको अपने दोस्त राहुल की चाची अनिता की चुदाई की कहानी सुना रहा था. मेरे बारे में अधिक जानने के लिए पिछली सेक्स कहानी अवश्य पढ़ें जिसका लिंक ऊपर है. शादी के बाद मैं अपने घर आकर जब वापिस जॉब पर गया तो एक अज्ञात नंबर से मुझे मैसेज आया.

थोड़ी ही देर में मेरा लंड डंडे जैसे हो गया तो विलास ने बोला- यार, एक बार मैं फिर तेरा मोटा लंड अपनी गांड में लेना चाहता हूँ. वो एकदम नंगी सी हो गई थी और क़यामत माल लग रही थी क्योंकि पैंटी तो पहले ही मैंने उतार दी थी. सरिता ने मुझे भी अपनी बांहों में कस लिया और मेरे होंठों को चूसने लगी.

फिर वह खुद खड़ा हो गया और खड़े-खड़े ही अपना मुसल जैसा लंबा लण्ड मुझे नीचे करके मेरी चूत में दबा दिया और गोद में लेकर मुझे जोर जोर से चोदने लगा.

मैंने उसका लंड एक बार में पूरी तरह अन्दर ले लिया क्योंकि मेरी चुत काफी गीली हो चुकी थी और पानी भी काफी निकल चुका था. वैसे तो मैं खुद ही चाची की चूत मारना चाह रहा था लेकिन उनके ब्लाउज खोलने की बात कहने पर न जाने क्यों मेरे हाथ कांपने लगे.

करीब 5 मिनट ऐसे ही चोदने के बाद मैंने अपना पानी उसकी चूत में निकाल दिया. मौसी हंसने लगीं और बोलीं- अच्छा ये बता, तेरी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं- नहीं मौसी, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है. फ़िर मैंने मुस्कुराते उनसे कहा- इस पानी से कुछ नहीं होने वाला भाभी … मुझे तो आपका रस पीना है.

मैं उठ गया और बोला- मॉम, मामी की शादी वाला कपड़े पहन कर आओ, बिना सिंदूर लगाए. भाभी लंड हिलाकर अपनी बात बताने लगीं- तुम्हारे भैया का लंड बहुत छोटा है. मैंने कहा- तो क्या हुआ … तुम्हें लाने की क्या जरूरत थी!वो बोली- तो क्या हुआ, क्या मैं नहीं ला सकती थी!मैंने कहा- हां ला सकती हो लेकिन ये फ़ोन इतना महंगा लाने की क्या जरूरत थी?वैसे ये फोन और फ़लक का फ़ोन सेम था.

अमरपाली के बीएफ मैं पहली बार किसी आदमी से और वो भी मेरे दोस्त से अपना लंड चुसवा रहा था. कल बातें करते मैंने उससे कई बार कहा था कि वो काले रंग में बला की खूबसूरत लगती है.

कामवाली बाई सेक्स

मैंने हंस कर कहा- अरे वाह … तुमने तो उसके साथ गंगा जी में डुबकी भी लगा ली?वो भी हंस दी- नहीं यार!फिर मैं बोला कि अगर मैं कभी तुम्हारे गांव आया, तो मेरे साथ घूमने चलोगी?शिल्पा बोली- हां चलूंगी … पर ये सब बातें दीदी को मत बताना ओके. मैं उसके मुंह से अपनी गांड चोदने की बात सुनकर शरमा गई … शर्मा कर उसके गले लग गई. मेरा मन कर रहा था कि अभी उसके ऊपर चढ़ जाऊं और लंड उसकी चूत में डाल कर उसकी जोरदार चुदाई कर दूँ.

मेरी नजरें भी मुकेश को यहां वहां देखने लगी लेकिन वो कहीं नहीं दिखा. मेरी तो फट गयी … मैंने जल्दी से लंड अन्दर डालकर पैंट की चैन लगा दी. किस करने वाली सेक्सी वीडियोक्योंकि अभी काफी समय तक शादी वगैरह के चक्कर नहीं चाहता था और न ही कमिटमेंट के लिए तैयार था।वो कुछ नाराज़ हुई और हफ्तों तक मुझसे बात नहीं की.

उसका क़ातिलाना फिगर 32-26-34 का था और उस वक़्त उसकी उम्र मेरे बराबर ही रही होगी.

फिर लगभग पांच मिनट तक मैंने उसकी चूत मारी और फिर दोनों एक साथ स्खलित हो गए. अगर अभी कुछ कर पाया, तो ही कुछ बात बन पाएगी, नहीं तो ऐसा मौका नहीं मिल पाएगा.

रेखा ने मेरे होंठों को चूसते हुए कहा- ठीक है … मुझे भी बहुत मजा आएगा हर्षद!मैंने अपने दोनों हाथ जांघों से नीचे डालकर उसकी गांड को कसके पकड़ा और रेखा को लेकर खड़ा हो गया. देसी गर्ल Xxx कहानी मेरे चाचा की कमसिन जवान बेटी की पहली चुदाई की है. सौम्या का लहंगा भीग गया होता, अगर मैंने उसकी चूत का पूरा रस ना पिया होता.

वो मेरे लंड को चड्डी के ऊपर से फील करके हड़बड़ा गई और अपना हाथ वापस खींचने लगी.

वो एक हाथ से अपनी चूत के दाने को मसल रही थीं और दूसरे हाथ से उन्होंने मेरे कंधे को थामा हुआ था. मैंने नोटिस किया कि सौम्या डार्लिंग को सुबह 10 बजे कॉलेज जाना होता था. कहानी के पिछले भागअंग्रेज टूरिस्ट का लंड मेरी गीली चूत परमें आपने पढ़ा कि मैंने एक अंग्रेज टूरिस्ट के साथ चलती बस में सेक्स का मजा ले रही थी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो देहाती सेक्सीफिर जब उसका दूसरी बार फोन आया तो मैंने उससे कहा- मैं फलां होटल में रुक हुई हूं और मुझे सिर्फ तुमसे बात करनी है … क्या तुम आ सकते हो!उसने हां कर दी. सबसे पहले मैंने उसे देखना शुरू किया कि वो किस समय घर से निकलती है और किधर जाती है.

सेक्स मूवी ब्लू वीडियो

मैंने उन्हें देख कर एक स्माइल दी … और वो दोनों मुझे ‘हैलो गौरव भैया …’ बोल कर अपने जूते उतारने लगे. मैं नहा ही रहा था कि थोड़ी देर बाद दीदी सफाई करती हुई बाथरूम की तरफ आ गईं. रेखा के मुँह से ‘आह उफ्फ ऊंई हं स्स स्स हाय …’ की मादक आवाजें निकलने लगीं, बोली- हाय रे हर्षद … आज पहली बार मेरी चूत को तुमने चूमा है.

सौम्या की कराह भरी मीठी आह निकली और मैं अपनी घोड़ी की सवारी करने लगा. जो दो लोग मुझसे बात कर रहे थे, उन्होंने अपने दोस्तों को इशारा किया. यह सोच कर मैं भी खुश हो गई कि हां मुझे विलियम से चुदने का आज पूरा दिन और शायद अगली रात भी मिल गई है.

इतनी देर से मैं इन चूचों को देख रहा था पर हाथ में लेने में मुझे और भी मजा आ रहा था. निशा ने बताया कि रसोई के पास एक जगह सारे कमरों की चाभी रखी रहती हैं, तुम उधर से ले लो. और मैं अभी भी जोर-जोर से अपने गर्म औजार से उसकी चूत में धक्के मार रहा था.

शिल्पा के साथ पहली बार उसके होंठों को चूमने का अलग ही मजा आ रहा था. जैसे ही मैं उसका एक स्तन अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे स्तन को हाथ से मसलने लगा तो रेखा बेहद गर्म आवाज में सीत्कारने लगी- ऊंई मां मर गई हर्षद … उफ्फ इस्स स्स आह खा लो आह.

उसने कहा- तुम्हारे लंड ने तो मेरी चुत का दो बार पानी निकाल दिया, तुम्हारा लंड अपना पानी कब निकालेगा?मैंने कहा- अभी निकालता हूं, बोलो कैसे निकालूं?पत्नी ने कहा- मुझे कुतिया बनाकर पीछे से चोदो और अपने लंड का पानी मेरी चूत के अन्दर ही छोड़ दो.

दरवाजे की घंटी बजाने पर जैसे ही उसने दरवाजा खोला, मेरी आंखें फ़टी की फ़टी रहा गईं. ब्लू पिक्चर दिखाना वीडियोमैंने उससे उसका नंबर पूछा, तो उसने कहा कि मुझे तो अपना याद ही नहीं है. एचडी सेक्सी ब्लूमैं टीना के सारे कपड़े उतारकर उसकी चूत चाटने लगा तो उसकी ‘आह … आह … इतनी तेज निकल रही थी कि मुझे समझ आ गया था कि आज पक्के में कोई न कोई कांड हो जाएगा. मैं रात को अकेली कमरे में तुमसे मिलने की बात कर रही हूँ … तो क्या सब कुछ खुल कर ही कहना पड़ेगा?मैं समझ गया कि मैं वाकयी लुल्ल हूँ और एक लड़की की चुदने की चाहत को समझ नहीं पा रहा हूँ.

मुकेश यह बात जानता था कि मैं बस दिखावे के लिए ये बोल रही हूँ इसलिए वो मेरे मम्मों को दांतों से दबाने काटने भी लगा था.

अब मैं ब्रा और पैंटी में थी मैं जय की पैन्ट के ऊपर से उसके लंड को सहलाने लगी. अब काफी महीने हो जाने की वजह से सबसे मेरा हैलो होना शुरू हो गया था. कमरे में पंहुचते ही मैंने उनका साड़ी का पल्लू एक तरफ सरका दिया और उनके बूब्स चूसने लगा, उन्हें किस करने लगा.

फिर मैंने एक ही झटके में उनको नीचे लिटा दिया और तेज़ तेज़ झटके मारने लगा. इतना सुनकर धीरू ने बड़ी जोर जोर से मुझे ऊपर नीचे किया और अब उनके लंड ने सारा माल मेरी गांड में भर दिया. सेक्सी चाची की चूत मारी मैंने! और यह सारा खेल चाची और उनकी बेटी ने मिलकर रचा था.

बफ हिंदी वीडियो में

मौसी ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगीं- आंह आराम से कर अरुण … बहुत दर्द हो रहा है … आराम से कर कुत्ते. उसने बहुत कोशिश की, पर आखिर उसके बदन ने बता ही दिया कि कुछ तो गड़बड़ है. तो फिर उसने भी मुझे जोर-जोर से गोद में उछालना शुरू कर दिया अपने लण्ड पर और जबरदस्त तरीके से मेरी चूत में लण्ड देने लगा.

मौसी- तो भैनचोद मना थोड़ी कर रही हूँ, चोदने को … लेकिन आराम से तो कर … मां के लौड़े चूत में बहुत दर्द हो रहा है.

उसे पहली रात इससे ज्यादा और कुछ नहीं हुआ और हम दोनों एक दूसरे से अलग होकर सो गए.

इस सबमें वो दुबारा तैयार हो गया था लेकिन मेरी अब हिम्मत नहीं थी कि उसके साथ एक राउंड और करूं. दरअसल हम दोनों की काफी पटती थी और हमारे बीच हर तरह की बातें चलती थीं. बुढ़िया की चुदाई वीडियोमेरी आंखें पूरी लाल हो गई थी और चेहरे पर सांस ना आप आने के कारण आंखों से भी पानी निकल रहा था.

गोरे बदन पर काली साड़ी देखकर मेरा लौड़ा सलामी देने लगा, पर मैंने कंट्रोल किया. मैंने एक बार फिर से उससे कहा- शिल्पा की भी दिलवा दो यार!निशा बोली- ठीक है … कुछ करूंगी. अब मैं खुद को तो अच्छी तरह से जानता ही था कि मुझे क्या पसंद है और क्या नहीं, तो मैंने खुद से ही दोस्ती शुरू कर दी.

थोड़ी थोड़ी तो मेरी भी फट रही थी पर आज पता नहीं क्यों, हाथ आई हुई चूत को मैं दूर नहीं जाने देना चाहता था. मेरे परिवार में एक बड़ा भाई, मैं और दो छोटी बहनों के साथ मेरी मम्मी रहती हैं.

फिर गुस्से से बोलीं- तो ये सब टच कर रहा है तू मेरे पीछे?मैं- सॉरी मौसी ग़लती से हो गया, आगे से ऐसा नहीं होगा.

उधर मेरे आधे घर वाले लेट कर गप्पें लड़ा रहे थे, वहीं कुछ लोग हलवाइयों के पास मस्ती कर रहे थे. हम दोनों शांत हो चुके थे मगर फिर भी ना वह लंड निकालने की कोशिश कर रही थी और ना मैं!हम दोनों की आग शांत हो चुकी थी. तुम मेरे बॉयफ्रेंड नहीं हो, बस सबके सामने बहन हूँ, अकेले में मैं तुम्हारी अनीता हूँ.

भाभी सेक्स विडीओ उससे मेरी सेटिंग कैसे हुई और मिने उसे कैसे चोदा? मजा लें पढ़ कर!दोस्तो, मेरा नाम नवीन है और मैं गुजरात एक प्रख्यात जिले के गांव में रहता हूं. मैंने कहा- मैं तेल लगा कर पेलूँगा बेटू … तेरी गांड में बड़े प्यार से लंड जाएगा.

मैंने होटल के कमरे में लगी हुई घड़ी की तरफ देखा तो सुबह के 4:30 बज रहे थे. उन दिनों नयी नयी जवानी आना शुरू हुई थी और शरीर के यौनांग उस समय कुछ ज्यादा ही ध्यान खींचते थे. तभी विलास उठकर बोला- यार हर्षद, चलो मैं तुम्हें हमारी खेती दिखाता हूँ.

सेक्सी देहाती साड़ी वाली

मैंने जींस की चैन खोली और लंड पर थूक लगा कर और हाथ से पकड़ कर आगे पीछे करने लगा. कुछ देर देर टहलने के बाद जब हमारी नजर आपस में मिलीं, तो पम्मी आंटी ने एक हल्की सी स्माइल पास कर दी. कोई हॉट सेक्सी भाभी सेक्स के लिए क्या कुछ कर गुजरती है, इस कहानी में जाने.

मैं अपना लंड मॉम की चुत के बाहर ही, कभी ऊपर, कभी नीचे की तरफ रगड़ रहा था. उसके बाद किसी कारण से प्राची के परिवार और मिनी के परिवार में बातचीत बन्द हो गई.

मैंने सौम्या डार्लिंग से पूछा- मैं अपनी मलाई कहां गिराऊं?तो उसने बोला- तुम्हें पता है मेरे राजा.

उन्होंने कहा- ऐसे मत तड़पाओ … सीधा डाल दो न!मैंने कहा- मुझे मेरी तरह से मजे लेने दो. मुझे तो इतना मजा आ रहा था कि मैं चाची की टांगें उठा उठा कर उन्हें चोदने लगा. पर मैंने तो मार्च में ही चुदाई की थी और मन तो मेरा भी बहुत कर रहा था किसी की चूत चोदने के लिए!मेरा लंड हमेशा तैयार रहता था.

मैंने उसको सौम्या के ही कुछ सीक्रेट बताए, जैसे कि सौम्या की चूत पर सौम्या कई बार नई नई पेटिंग्स बनाती है … और सौम्या को लौड़े पर बहुत सारी आइसक्रीम लगा कर चाटना बहुत पसंद है. नाजुक सी नाक, बिना लिपस्टिक के भी जानदार लगें!ऐसे गुलाब से रसीले होंठ … दिल करे बस चूम लूं उन्हें. मैंने भी ऊपर होते हुए विलियम को अपने ऊपर खींच लिया और उसने भी एक झटके में मेरे पैरों से मेरी पैंटी निकाल कर मुझे नंगी कर दिया.

तब तक आप मुझे मेल करें कि आपको हॉट सिस्टर Xxx कहानी कैसी लग रही है.

अमरपाली के बीएफ: उसके लिए यह पहला सुखद अनुभव था कि उसने एक लड़की के स्तनों को पकड़ा था और वो भी बिल्कुल नंगी।जब मयंक के हाथ सीमा के स्तनों पर थे तो सीमा ने अपने हाथों से ही अपनी पैन्टी निकाल दी।अब सीमा मयंक की बांहों में बिल्कुल नंगी थी और मयंक का लंड सीमा अपनी नंगी गांड की दरार में महसूस कर सकती थी।यह सारी घटना में अपने कैमरे में ठीक पिछली बार की तरह रिकॉर्ड कर रही थी।ठंडी हवा ज़ोर से चल रही थी. दिखने में लड़की सुंदर थी।30″ की कमर, पतले पतले ओंठ, प्यारी सी मुस्कुराहट चेहरे पर लिए, मटक कर ऐसे चलती जैसे कोई नागिन बल खाती हो!लड़की के चूचे थोड़े हल्के थे … वरना उसकी बराबरी करना, किसी लड़की के लिए भी मुश्किल होता।खैर वो मेरी जूनियर थी और आफिस का काम हम दोनों देखते थे.

मैंने दिमाग़ लगाया और सोचा कि टीना ऐसे वक़्त आए, जब भाभी उसे देख लें कि टीना आई है, मगर भाभी ना आ पाएं. मैं उनकी ना सुनकर बोला- यदि यह आपका आखिरी निर्णय है तो मेरा निर्णय भी सुन लो. मैंने खाला से पूछा- माल कहां निकालूं?उन्होंने कहा- अन्दर ही छोड़ दे.

मुझे तो लग रहा था कि मैंने अपने लंड को किस आग की भट्ठी में डाल दिया है.

रवि मुझसे कह रहा था- आह साली रंडी, चूस मेरा लंड … और चूस, आज तेरी गांड का भोसड़ा बना दूंगा … तू देख साले. उस दिन उसने मेरा हाथ अपने हाथ में लिया था और मुझसे कहा भी था कि फ़ालतू में झगड़ा मत किया करो. मेरे इतना बोलते ही भैया ने मुझे बेड में धक्का देकर लिटा दिया और वो मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे किस करने लगा, मेरे चुचे दबाने लगा.