हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज

छवि स्रोत,नंगी अंग्रेजी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

साउथ हीरोइन बीएफ: हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज, वो कई बार बता चुकी है कि उसका पराए मर्द से चुदाई करने का बड़ा मन है लेकिन डरती है कि बात कहीं खुल गई तो बहुत बदनामी होगी.

गन्ने के खेत में लड़की की चुदाई

भाभी ने स्माइल दी और मुझे थैंक यू बोल कर मुझे पैसे लेने पर ज़ोर देने लगी. नई सेक्सी ब्लू पिक्चरसोच सोच कर दिमाग की नसें फट रहीं थीं।बड़ी मुश्किल से आँसुओं को छुपाता हुआ नीचे उतरा और बाहर निकलकर पास की नहर के किनारे जाकर चीख चीख कर रोया.

10 मिनट के बाद मेरा उसके मुख में निकल गया, मेरा पहली बार था लेकिन मुझे भी पता था. bp पिक्चर चाहिएशनिवार की सुबह मैं घर से निकला और रास्ते से नेहा को पिक किया और एक लिप किस के साथ हम दोनों मिले उसके बाद मैंने अपनी कार को सीधा कर दिया मनोज के घर की तरफ, मनोज का घर करीब हमारे घर से से 1 घंटे की दूरी पर है.

अब उन्होंने पैरों पर जाने को कहा तो मैं उनके पेटीकोट को घुटनों तक उठाकर पैरों की मालिश करने लगा.हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज: मेरी आँखें चकरा गई, मैं बोला- आप ऐसे नंगी मेरे सामने क्यों आई हो? आप मेरी माँ की उम्र की हैं.

कहाँ खो गए और ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने कहा- भाभी, आप इतनी सुन्दर और सेक्सी लग रही हो कि मेरा मन कुछ और ही करने लगा था.अमन और राहुल मेरे लंड को दबाने और मेरे होंठों को चूसने लगे थे।थोड़ा और आगे गए तो हम खंडवा रोड छोड़ कर एक गाँव की तरफ जाने वाली रोड पर आ गए और वहाँ से एक रोड अन्दर जा रहा था.

परिणीति का अर्थ - हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज

समझी मेरा नाम मोना है मेरा मगर तू सिर्फ़ दीदी बोलना समझी!मोना ने एक घंटे तक नीतू से बातें की और उसका विश्वास जीत लिया.माला के नग्न शरीर के ऊपर से फिसलती हुई पानी की बूँदें ऐसे लग रही थी जैसे सूर्य उदय के समय पेड़ एवम् पौधों की पत्तियों पर से मोती जैसी ओस की बूँदें फिसलती हैं.

ऋतु ने सारा रस ऐसे पिया जैसे जूस पी रही हो और फिर वो खड़ी हो गई… उसका पूरा चेहरा भीगा हुआ था. हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज वो बोली- बड़ा पता है तुझे हम औरतों की बात का?‘बस भाभी सुन ही लेता हूँ आप लोगों की बातें भी कभी कभी जब आप लोग मेरे बरामदे में बैठी एक दूसरी से बात करती हो तो आप सबको लगता है कि मैं सो रहा हूँ पर मैं आप सब की बात सुनता हूँ उस वक़्त!’भाभी बोली- हम्म… पूरी नज़र रखता है सब पर और हम सब तुझे तो इतना शरीफ समझी थी कि शायद ही ऐसा कोई हो.

और अभी खाना वो शुरू करती कि तभी गुलशन जी आ गए, जिसे देख दोनों माँ बेटी चौंक गई क्योंकि दोपहर में उनका आना होता ही नहीं था। वो सुबह निकलते तो सीधे रात को ही आते.

हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज?

दो बार झड़ने के बाद पूजा को नींद आने लगी, मगर संजय संतुष्ट नहीं था वो कल के लिए सोचने लगा कि उसको क्या करना है. मेरा तो पहले ही बुरा हाल हो रहा था और उसकी कामुक सिसकारियाँ और गर्म साँसें मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं. जो होगा उसको होने दे, उसी में सबकी भलाई है। आज पूरी कर ले अपनी इच्छा, नहीं तो जिंदगी भर पछताएगी।मोना ने काका के लंड को पकड़ लिया और धीरे-धीरे सहलाने लगी- काका, किसी को पता चल गया तो क्या होगा?काका- अरे रानी घर में कोई नहीं है.

फ्लॉरा गहरी नींद में थी या ऐसा कहो नींद की दवा के असर से बेसुध पड़ी थी मगर उसके नाज़ुक जिस्म के साथ जॉन जो वासना का गंदा खेल शुरू कर चुका था, उससे वो तड़पने लगी थी. इस बार मैंने उसकी कसम से मजबूर होकर हाँ कर दी और बोला कि सिर्फ एक बार ही भोपाल आऊंगा उससे मिलने, इसके बाद वो मुझे नहीं बुलायेगी, न मैं कभी फिर दुबारा आऊंगा. बाद में करना। अब तो मैं मोना रानी की गांड मारूँगा। देख ये देसी घी लाया हूँ इसे गांड में लगाकर इसकी ठुकाई करूँगा। तब तक तू मेरी राधा रानी की चुत चाट.

इस टाइम, सब ठीक तो है ना?गुलशन- अरे सब ठीक है, आज मेरी बेटी ने मुझसे बात नहीं की तो मेरा दिन अच्छा नहीं गुजरा. शुक्रवार सुबह सात बजे जब मैं उठा और मुझे लघु-शंका के लिए जाना था इसलिए बाथरूम की और बढ़ा तो वहाँ पानी चलने की आवाज़ सुन कर थोड़ा ठिठका. देखने मैं तो मानो कोई अप्सरा लगती हैं। दरअसल यह भाभी की चुदाई सेक्स स्टोरी उन्होंने ही लिखी है.

उसने कहा कि मैंने पहले कभी लंड चूत में नहीं लिया है, अतः धीरे करना. उत्तर में बड़े चाचा ने कहा- नहीं भईया, कल सुबह बच्चों को स्कूल भी जाना है.

मेरे प्यारे साथियो, आप मेरी इस देसी चुत की कहानी पर कमेंट्स कर सकते हैं.

फिर घर चले जाते थे।मैं शाम को घंटों फ़ोन पर दोनों से फ़ोन पर बात करता था.

चो…अ…दिए ना?मैंने कहा- डालिंग अब बेचारे इस बूढ़े को भी अपनी चुत का अमृत पिला दो, ये लो ये बूढ़ा तेरी चुत में अपना लंड डाल रहा है।ये कह कर मैंने तुरंत अपना लंड संजना की चुत में डाल लिया।वो जैंसे चिहुँक उठी और लंबी सी ‘इ…स… अअअअ. यह देख कर मैंने भी थोड़ा सा केक उठाया और रुचिका की चूचियों पे लगा दिया और उन्हें फिर से चूसने लगा. उसने भी एक हाथ रेलिंग पर रखा और दूसरा हाथ से मेरे कंधे का सहारा ले लिया.

फिर मैंने अपनी जीभ उनकी गांड के छेद में डाल कर गांड को कुत्ते के तरह चाटने लगा. जग्गी आकर मेरे मुंह के सामने घुटनों के बल बैठ गया और अपने लंड और आंडों को मेरे मुंह और होठों पर फिराने लगा. जब मैं बाजार पहुची तो जो मैंने सोचा था, वही हुआ, आकाश मेरे पीछे था, थोड़ी देर इधर उधर घूमने के बाद आकाश ने जैसी मुझे अकेला देखा, मेरा हाथ पकड़ कर रोक लिया!मैंने आकाश को घूर के देखा तो उसने मेरा हाथ छोड़ दिया और बोला- सॉरी भाभी जी, मुझे गलत मत समझना, मैं तो बस आपसे बात करना चाहता हूँ, उस दिन के बाद आज आप मिली हो!मैं आकाश से बड़े आराम से बोली- आकाश, देखो ये ठीक नहीं है.

फिर उसके थोड़ा नॉरमल होते ही मैंने एक ही झटके में अपना पूरा 7 इंच का लंड उसकी चूत की जड़ तक घुसा दिया तो वो बेहोश ही हो गई.

तो मित्रो, स्नेहा और मेरी कहानी कुछ इस तरह से थी अब तक जो आपने पढ़ी. उसने लगभग पारदर्शी लाल रंग का कुर्ता पहना था और ब्रा भी नहीं पहनी थी. फिर मेरी तरफ मुखातिब होकर बोली- सॉरी फूफाजी… आपका अचानक से ट्रिप बन गया… मधु ने टिकट बुक करके रखी हुई हैं… नहीं तो आपके साथ बैठती… वैसे आपको सही न लग रहा हो तो मैं रुक जाती हूँ… मधु किसी और को ले जायगी.

मैं जब अगले दिन मैडम के पास पहुँची तो मैडम ने मेरी मुलाक़ात एक बिजनेसमैन से करवाई. पड़ोस वाली जवान भाभी को नंगी देख कर मेरा मन भाभी की चुत की चुदाई का हो गया. तो मुझे अपना पत्ता जमता दिखा, मैंने थोड़ी उसको सहानूभूति दिखाई और उसको उसके पति की जॉब की अच्छी जॉब का लालच भी दिया तो वो पटाए में आ गई और मैंने उसके मोबाइल नंबर और उसके घर का अड्रेस ले लिया.

अगर किसी को कुछ ज्यादा मिल जाए या कम मिले या फिर मिले ही नहीं तो कुछ समझ नहीं आता है.

ज़रा मुझे भी बताओ मेरे भाई?दोस्तो मॉंटी सीधा सा लड़का था, उसके दोस्त भी ठीक से थे, इसलिए ये सेक्स की बातों से दूर था, इसका तो बस पढ़ाई में ध्यान रहता था। अब बेचारा इसको क्या पता था कि इसकी बहन एक पक्की रंडी है जो तरह-तरह के लंड देख और खा चुकी है।मॉंटी- पता नहीं अपने आप ही होती है। एक तो सुबह जब सोकर उठता हूँ, तब और कभी जब जोर से सूसू आती है जब।टीना- अच्छा ये बात है. संजय तो पहले ही इसके इस रूप का दीवाना हो चुका था मगर आज उसे पता था कि ये कच्ची कली उसके लंड को सुकून देगी.

हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज बिना ब्रा और बिना पेंटी के हमने उसे वहीं छोड़ कर वापिस अपने घर आ गए. चलो, क्लास का टाइम हो गया है।टीना के बोलने के बाद साहिल और अजय उनके साथ चले गए और पीछे से संजय ने उन दोनों की क्लास ले ली।संजय- बहन के लंड.

हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज मैंने चारों ओर देखा आसपास के छतों से देखे जाने का कोई खतरा नहीं था क्योंकि सब मकान नीचे ही थे वैसे भी अब अँधेरा घिरने लगा था तो किसी के देखे जाने की कोई सम्भावना नहीं थी. अगला दिन शनिवार था तथा छुट्टी होने के कारण मैं देर से उठा और जब रसोई में माला से चाय बना कर देने के लिए कहने गया तो उसे वहाँ नहीं पाया तब मैंने स्टोर में देखा तो वह वहाँ भी नहीं थी.

उधर सामने से जग्गी अपना लंड मेरे मुंह में पेले जा रहा था और मदमस्त हो रहा था.

मौसी वाली सेक्सी फिल्म

उसके बाद दोनों ने अच्छी तरह से लंच किया और टीवी के सामने बैठे एक-दूसरे को देख कर मुस्कुराने लगे।गोपाल- क्यों जानेमन, अब क्या इरादा है. पर उस पर तो कामुकता, वासना का भूत सवार था, वो मुझे ज़ोर-ज़ोर से चूमने लगी और मेरा हाथ पकड़ कर अपनी कमीज़ पर रख दिया, उसने कामुकता से कहा- जानू. रिया हलक से जोर लगाकर चीखी और साथ ही दर्द पे काबू करने के चक्कर में उसने मुझे एक जोर का चांटा मार दिया.

भले ही तेरे लंड में जान नहीं है, उफ़फ्फ़ मगर तू चूसना अच्छे से जानता है। काश तू भी काका की तरह मर्द होता तो बेचारी राधा को तड़पना ना पड़ता।काका- अरे ये अगर मर्द होता, तो कहाँ मेरे से चुदती. कुछ देर तक मैं ऐसे ही पिंकी की योनि को अपने लिंग से रगड़ता रहा और फिर एक पल के लिए मैं रुक कर उसके चेहरे की तरफ देखने लगा। वो आँखें बंद किये हुए थी, चेहरा उत्तेजना से एकदम गुलाबी लग रहा था, निप्पल तन्नाये खड़े थे… पिंकी पूरी तरह से उत्तेजित थी और अब वो विरोध करने की स्थिति में नहीं थी. लेकिन मैं उसको चोद नहीं रहा था, तड़फा रहा था, उसकी चुदाई की भूख बढ़ा रहा था.

हम तीनों दोस्त कपड़े पहन कर किचन में जाकर बियर पीने लगे और शानदार चुदाई को डिस्कस करना शुरू कर दिया.

पता तो मुझे था कि ये लड़कियों के सुसू करने की जगह है, पर मैं वैसे ही सो गया. संजय ने पूजा को बेड पे लिटाया और उसकी चुत को हवा में उठाकर चूसने लगा. बस मेरे पति मेरा घाघरा ऊंचा करके ही लंड पेल देते हैं और मम्मों को सिर्फ ऊपर से मसल लेते हैं।मैं काफी सेक्स के मामले में संतुष्ट महिला हूँ.

कुछ देर मेरी चुत सहलाने के बाद आकाश ने मेरी ब्रा और पेंटी उतार कर मुझे नंगी कर दिया और खुद भी सारे कपड़े उतार कर नंगा हो गया!जब आकाश ने अपने कपड़े उतारे तो उसका लंड देख कर हैरान हो गई उसका लंड भी दीपक के लंड की तरह खूब बड़ा और मोटा था. चाची ने मुझे किस किया और थोड़ी गांड उठा कर इशारा किया ‘अब धक्के मारो…’ तो मैं भी शुरू हो गया. थोड़ी देर वो सोचता रहा कि कैसे वो इस कली को निचोड़ कर इसका रस निकाले.

इतने में वह अनोखे लाल सक्सेना हाज़िर हो पड़ता है- क्या हाल है भाबी माँ के?सक्सेना अपनी पागलों वाली मुस्कान देते हुए बोला. वो बोला- जल्दी घुसेड़ दो ना…मैंने उसकी गांड में लंड को घुमाते हुए घुसा दिया.

मॉंटी- जाओ मैं आपसे बात नहीं करता। मुझे पता था आप मेरा मजाक बनाओगी और एक बात सुनो. मैं- दीदी, मुझे तुमसे कुछ पूछना है?सीमा- हाँ पूछो?मैं डर भी रहा था पर हिम्मत कर के बोला- ये सब क्या हो रहा है, तुम्हारे रूम एक किताब मुझे मिली थी. आप तो मेरे घर का सभी काम अच्छे से जानती हो और उसे बहुत निपुणता से संभाल भी रखा है.

लेकिन मैं रुका ही नहीं।फ़िर मैं उनके पेट को चूमते हुए चुत को किस करने लगा, उनका दाना मुँह में लेकर रगड़ने लगा।मामी मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगीं, मेरा लंड दोबारा खड़ा हो गया।अब मामी ने मुझे कुछ बोलने का मौका ही नहीं दिया.

क्योंकि अब चाची को आनन्द आने लगा था इसलिए उत्तेजना वश वह भी तेज़ी से उचकने लगी थी और उनकी योनि में रुक रुक कर संकुचन होने लगा था. दो घंटे में संजय ने पूजा को 3 बार चोदा उसको एकदम थका दिया और फिर दोनों चिपक कर सो गए. वो मेरे घर में 3 महीने रही, हमें जब भी मौका मिलता हम चुदाई करते और उसने कभी मुझे मना नहीं किया क्योंकि वो मुझे बहुत प्यार करती है.

नीचे से चूत उछाल उछाल कर मैं भी धक्के लगाने लगी… साथ में मेरे मुंह से आनन्द भरी आवाजे निकलने लगी… हाय. जिस पर कुछ दाल गिर गई थी।अंकल के छूने मात्र से मेरी बुर की खुजली बढ़ने लगी। मैं देख रही थी वो मेरे मम्मों को दबा रहे थे।कुछ पल बाद मैं अन्दर जा कर उनके लिए थाली में भोजन लगा लाई और अभी थाली को टेबल पर रखा ही था कि बिजली चली गई।‘सत्यानाश हो इस बिजली का.

ज्यादातर लोगों को गोवा के बारे में पता होगा, जिनको पता नहीं उनको बता देना चाहता हूँ. आंटी सारा वीर्य पी गई और अपने कपड़े ठीक करके बाहर अपनी चेयर पर जा बैठी. मैंने उसके चेहरे को दोनों हाथों से पकड़ा और फिर उसके गुलाबी होटों पर किस किया.

देसी ऑंटी सेक्सी व्हिडीओ

अब मेरा लंड धीरे-धीरे फिर से खड़ा होने लगा, शायद इसलिए चाची लगातार चूसे जा रही थीं.

सुमित बोला- अरे वाह, तुम तो बहुत समझदार हो, क्या संभाल लोगी हम दोनों को?कीकू बोली- जिस दिन मेरे साथ पहली बार हुआ था, उस दिन 5 लड़के थे, जिन्होंने मुझे शराब पिला कर बेसुध कर दिया, और फिर बारी बारी मेरे साथ सेक्स किया. मेरा नाम रजत है, मैं 25 साल का हूँ और मेरी बहन शालू 22 साल की है, अब उसकी शादी हो गई है. इस खूबसूरत चहरे से हंसी कहाँ गायब हो गई है?तो मैंने कहा- रोहित (पति) के जाने के बाद मैं अकेली पड़ गई हूँ।तो वो बोला- आप अकेली कहाँ हो भाभी? कभी किसी चीज़ की जरूरत हो तो मुझे बता दीजिये।तो मैंने पूछने के अंदाज में कहा- कभी भी किसी चीज़ की जरूरत?वो मेरा इशारा समझ गया और बोला- हाँ भाभी.

जब रिया मेरे बदन से उतर गयी तो मैंने कोहनियों के बल उठकर अपनी चूत को देखा तो वो ऐसी हो गई थी जैसे किसी बिना चुदी चूत पर पहली बार में 10 लड़कों ने चढ़ाई कर दी हो. कुछ समय पहले मोना रानी ने एक ऐसा कारनामा अंजाम दिया जिसका विवरण पढ़ के आप लोग हैरान रह जायेंगे. सेक्सी सनी लियोन सेक्सीउन्होंने एक बार कहा था कि तुम हमारी बहू नहीं बेटी हो।राजू- अरे तू काका के कारनामे नहीं जानती। वो ना जाने गाँव की कितनी बहू बेटियों को चोद चुके हैं। तुझे छूने के लिए उस दिन उन्होंने ऐसा कहा था और ये सामने देख ना.

जो सच है वो बता?फिर वो चुप हो गया, तो मैंने उससे कहा- एक बात बताऊं. मैं उसको भोगने को तड़प रहा था जैसे पानी बिन मछली और वो इस आग में अपनी हरकतों से घी डाले जा रही थी.

संजय- अच्छा ये बात है तो मेरी जान आज तेरी गांड का भी मुहूर्त कर ही देता हूँ. दोस्तो, तो ये थी मेरी रियलफैमिली सेक्स स्टोरी… आपको कैसी लगी आप जरूर बताइएगा. 2 मिनट बाद वो अपनी चड्डी मुँह में फंसा कर पूरी नंगी होकर बेड पर आई और बोली- आज रात की हर हुई और होने वाली गलती के लिए पहले से माफ़ी मांगती हूँ, और तुम मुझे माफ़ करोगे यही मेरी दोस्ती का गिफ्ट होगा.

उसके बाद मरियम बिस्तर पर लेट गई, मैं उसकी जाँघों के बीच आ गया और सुधा बेड पर चढ़ गई और मरियम के मुंह में बैठ गई, मरियम की जीभ निकली और वो उसकी चूत को चाटने लगी, इधर मैंने भी एक बार हिम्मत की और लंड को मरियम की चूत को लंड से सहलाने लगा और ऐसा करते हुए एक बार फिर सुपारा चूत में जाकर फंस गया. उसमें से बूंदें यानि प्रीकम बाहर आने लगा था। यही हाल पूजा का था उसकी चुत भी पानी छोड़ने लगी थी।पूजा- आह. तुम उसकी इंक्वायरी करो।मोना- हाँ शुरू में तो बहुत ज़बरदस्त चुदाई करता था मगर अब सच में उसका मन भर गया है मगर मैं क्या करूँ आख़िर वो मेरा पति है.

मैं पुणे में रहता था और जब मैं रोज़ सुबह कॉलेज जाने के लिए बाहर निकलता था, तब एक मैरिड लेडी लगभग 34 साल की.

लगभग दस मिनट के बाद जब दोस्त चला गया तब मैं कमरे में गया तो चाची को कंप्यूटर पर एक वीडियो देखने में तल्लीन देखा. उसने टीवी में देख कर मेरी बहन की चुत को जोर-जोर से चोदना शुरू कर दिया.

साधु बाबा तो चले गए मगर मोना को असमंजस में डाल गए।सॉरी दोस्तो, बीच में आने के लिए ये साधु वाला किस्सा काल्पनिक है. ज्यादा हो जाता तो मैं उसकी चुत को रगड़ देता था, जिसमें उसको भी बहुत मजा आता था. मैंने वक़्त की नजाकत को समझते हुए, नताशा को अपने हाथों से अपनी नितम्बों को फैला लेने का इशारा किया, तो हिरोइन ने इशारे को सही समझते हुए सफलतापूर्वक अपने पैरों को थोड़ा और चौड़ा कर लिया.

तूने ये सब सीखा कहाँ से?मैंने हंस कर कहा- ब्लू-फिल्म देख-देख कर!इतना बोल कर मैं थोड़ा ऊपर उठ कर भाभी की चूची चूसने लगा। अब मुझसे न रहा जा रहा था तो मैंने उन्हें फिर से जोर-जोर से चोदना चालू कर दिया।फक् फॅक. ऋतु कसमसाई और बोली- देखेंगे!अपना गाउन पहन कर उसने अपने डिल्डो को अंदर छुपा लिया और बोली- मुझे भी अपनी बुर पर तुम्हारे होंठों का स्पर्श काफी अच्छा लगा… ये अहसास बिल्कुल अलग है… और मुझे इस बात की भी ख़ुशी है कि मेरा अब कोई सिक्रेट भी नहीं है. हिंदी में फ्री सेक्स स्टोरी की बेस्ट साईट अन्तर्वासना के सभी पाठकों को नमस्कार.

हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज चूँकि वो कुछ दिनों से कहीं बाहर गईं थीं तो मैं उनसे यों ही हालचाल पूछने लगा. तो चलो वहीं का नजारा देख लेते हैं।सुमन जब घर वापस आई तो रोज की तरह नॉर्मल रही। उसने चेंज किया फिर उसकी माँ ने लंच लगा दिया.

नंगा सेक्सी दिखाइए

ओह्ह्ह… आअह्ह्ह्ह… मर गई!बहुत जोर से झटका मारा था मेरे देवर ने… मेरी आँखों से आँसू निकल आये, आज तक किसी ने भी इतनी जोर से मुझे झटका नहीं मारा था। आदी का आधा लंड मेरी चुत के अंदर था मेरे मुँह से जोर की चीख निकली मगर उस चीख को सुनने वाला कोई भी नहीं था. रयान ने कहा- ये तो पेट की मजबूरी है, वर्ना इतनी हसीं जिन्दगी कोई ऐसे खराब करने के लिए नहीं होती. तब तक मैं मेरी प्यारी बहू की चुत ठंडी करता हूँ।काका की पूरी बात मोना को सुनाई तो दी मगर वो वासना में जल रही थी इसलिए उसे कुछ समझ नहीं आया। वो तो बस इंतजार में थी कि जल्दी से काका अपना मूसल अन्दर पेल दें और उसकी चुत को सुकून मिले।काका ने लंड चुत पर रखा और एक ही झटके में पूरा अन्दर घुसा दिया।मोना- आह आह… मज़ा आ गया उफ़फ्फ़… इसे कहते है असली लंड ओफ चोदो काका आह.

इससे सुमन की देसी चूत अब एकदम गीली हो गई थी और वो उंगली से चूत को रगड़ने लगी थी, जिसे मॉंटी ने देख लिया. आदरणीय पाठको, यह मेरी पहली सच्ची सेक्सी कहानी है। अभी मेरी उम्र 21 साल है, मैं देखने में काफी आकर्षक हूँ। वैसे तो मैं सांवली और दुबली हूँ पर चेहरा आकर्षक है। मेरी कमर पतली है, पर चूतड़ चौड़े हैं. मराठी झावाझवीसुड़क सुड़क… सुड़क सुड़क… सुड़क सुड़क…चूतरस पी राजे रहा था, हवस मेरी उड़ान भरने लगी थी, मज़े से मैं कांपने लगी थी.

ज्यादातर लोगों को गोवा के बारे में पता होगा, जिनको पता नहीं उनको बता देना चाहता हूँ.

तो अभी तक शादी क्यों नहीं की?सुधीर- रिश्ते तो बहुत आए, मगर मुझे जैसी वाइफ चाहिए वैसी मिली नहीं।मोना- ओह अच्छा तो कैसी वाइफ चाहिए आपको. उस रात आप बिना कपड़ों के मेरी लूली से खेल रही थीं ना? आपको क्या लगता है ऐसे में कोई सो सकता है.

पूजा- हाँ मामू पहले तो मुझे ये सब समझ नहीं आता था मगर अब तो आपने मुझे सब सिखा दिया है. अब चलो मैं राधा को नीचे ले जाता हूँ तुम दोनों ये खराब चादर वो सामने जो अनाज का कमरा है. और अचानक उन्होंने पीछे से आकर ना… मुझे अपनी बांहों में ले लिया और बिना कुछ पूछे मुझे चूमने लगे.

मैंने उस डायरी को खोला, उसमें कुछ नंबर नोट थे तो उनमें से मैंने डॉक्टर का नंबर देख कर डॉक्टर को बुला लिया और डायरी को और खोलने लगा.

अनिता- ठीक है मेरे राजा… आपकी यही मर्ज़ी है तो अब मैं सब कुछ दिल से ही करूँगी. माला के बदन से चिपकी साड़ी में से उसका हर अंग मुझे दिख रहा था जिस कारण मेरा लिंग एक नाग की तरह अपना सिर उठाने लगा था. आप बताओ प्लीज़ कोई ऐसी बात या काम जो ग़लत हो और गोपाल ने किया हो?मोना की बात सुनकर सुधीर टेंशन में आ गया और इधर-उधर देखने लगा.

नसों का डॉक्टरकैसी मस्त चुदाई करते हैं वो। अरे जब उन्होंने अपनी सग़ी बहू को नहीं बख्शा. गुलशन- दिमाग़ तो ठीक है तुम्हारा? लड़कों के कपड़े पहनने से न्यू फॅशन हो जाएगा क्या? नहीं ऐसे भद्दे कपड़े बिगड़े हुए बच्चे पहनते हैं.

हॉट वीडियो क्सक्सक्स

सिगरेट का काश लेकर उसका धुआँ मेरे मुँह पर छोड़कर उसने पूछा- ये लम्बा मूसल कौन से छेद में लेना पसंद करोगी?उसका इशारा मेरे वाइब्रेटर की तरफ था. रात मैंने तुम्हें डांटा था मगर तुम समझ सकती हो तुम मेरी एक ही बेटी हो. के बारे में पूछा कि देखी क्या?तो मैंने कहा- हाँ देखी!फिर उसने पूछा- कैसी लगी?मैंने कहा- अच्छी!फिर उसने बोला- एक बार ये करके देख, मज़ा ना आये तो मुझे बोलना!तो मैंने कहा- चलो ठीक है, एक बार करके देखता हूं!क्योंकि जब से मैंने उस सी.

उनकी बात सुन कर मैं बोला- ठीक है चाची, आप जाकर अपने बाथरूम का पिछला दरवाज़ा खोल दो तब तक मैं इस कमरे को अन्दर से बंद करके मेरे बाथरूम के पीछे की सीढ़ियों से नीचे आता हूँ. खैर शाम को घर वापस आया और कपड़े चेंज कर के चाची को इंजेक्शन देने चला गया. कहीं बच्चा हो गया तो क्या होगा?काका- अरे पगली जिसे बच्चा देना होता है.

स्मृति और मैं एक दूसरे को पहले से ही जानते थे, मैं उनके घर यदा कदा जाया करता था तो स्मृति से हैलो होती ही थी परन्तु कभी ख़ास वार्तालाप नहीं हुआ. और मैं भी उसे देख रहा था। मैं मन ही मन सोच रहा था कि इसकी चूत कैसे मिले, शायद आज मेरी किस्मत मेरे साथ थी।जब हम जयपुर पहुँचे. उसके बाद उनकी शादी के होने तक मैंने हर रात उनकी चुदाई की और शादी से पहले ही दीदी को चोद कर उन्हें सुहागरात का सुख दे दिया.

तब उन कपल के एक और कपल दोस्त से मेरी स्काइप और फोन पर बात हुई और उनको मैं और मेरा मस्ताना बहुत पसन्द आया और हमने स्काइप पर कैम सेक्स भी किया था. फिर एक रोज डॉक्टर ने मुझे 2 बजे दोपहर को लंच टाइम में अपने घर बुलाया.

मेरा शक गहराने लगा… लेकिन करता भी तो क्या, घबरा कर चुपचाप बैठा रहा, मेरा हाथ उसके लंड से हटने लगा.

एक बार मेरे पति संजय ने मुझसे पूछा कि क्या मैं उसके साथ टूर पर जाना चाहती हूँ. कच्ची कली सेक्सीमेरे निप्पल बुरी तरह से कड़े हो गए थे, मुझे लगा कि अब मेरा पानी निकलने वाला है. सूट का पीछे का डिजाइनक्या आपको गोपाल ने यहाँ भेजा है या आप गोपाल की कुछ लगती हो?मोना ने दूध खुजाने के बहाने साड़ी का पल्लू हटा दिया जिससे सुधीर को उसके दूध साफ दिखने लगे. हम दोनों ने उसके जिस्म के खूब मज़े लिए। फिर गोपाल ने उसकी सील तोड़ी.

यही बोली थी कि आपकी सेक्स के विषय में कोई ज़रूरत है जो मैं पूरी कर सकता हूँ.

मेरे दोस्तो, आप मेरी चुदाई की कहानी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. मोना ने कुछ कपड़े पसंद किए और कुछ जरूरत का सामान लिया फिर वो नीतू को लेकर घर आ गई. आदरणीय पाठको, यह मेरी पहली सच्ची सेक्सी कहानी है। अभी मेरी उम्र 21 साल है, मैं देखने में काफी आकर्षक हूँ। वैसे तो मैं सांवली और दुबली हूँ पर चेहरा आकर्षक है। मेरी कमर पतली है, पर चूतड़ चौड़े हैं.

जैसे ही मैंने अपना सिर उसकी ओर घुमा कर उसकी आँखों में झाँका तो वह शर्मा गई और झट से मुड़ कर दूसरी तरफ देखने लगी. जब मैं बाथरूम से वापिस आया तब देखा कि चाची मेरे बिस्तर पर बैठी कुछ सोच रही थी, मैंने पूछा- मेरी प्यारी चाची जान, बड़ी गुमसुम सी हो कर बैठी क्या सोच रही हो?मेरी और देखते हुए वह बोलीं- मैं सोच रही थी कि क्यों न हम नीचे मेरे वाले कमरे में चलें. हमारे घर से थोड़ा ही दूरी पर एक 19-20 साल की कमाल की आइटम रहती है जिसका नाम है तमन्ना… साधारण परिवार से होने के कारण वो ज़्यादा मॉडर्न तो नहीं पर फिर भी उसके जिस्म का आकार और नैन नक्श किसी का भी लंड खड़ा करवा दे.

भाई बहन का सेक्सी हिंदी

आपको ये भाई बहन की चुदाई स्टोरी पसंद आई या नहीं, मुझे जरूर मेल करें. चल अब तू निकल, मुझे नीतू को काम समझाना है और इसे कुछ अच्छे कपड़े भी दिलाने होंगे. मेरा तो मन कर रहा था कि इसको अभी पकड़ कर इसके सारे जिस्म को भंभोड़ डालूँ.

की एक सिसकारी ली और अपने कूल्हों को ऊँचा करके मुझे धक्का लगाने के लिए संकेत किया.

वो मैंने बताया था ना सूरत में एक नई कपड़ा मिल खुली है। बस कई दिनों से उससे बात चल रही थी। अब दुकान में वहाँ से कपड़ा मँगवाएगे तो ज़्यादा फायदा होगा। शाम को उनसे बात हुई.

वो नीचे नीचे सरका कर मेरे साथ आधी लेटी सी हो गईं। फिर वे बर्फ का दूसरा टुकड़ा लेकर मसाज करने लगीं।इस वक्त वो मेरे काफ़ी करीब थीं. और उसने मुझे और ज़ोर से पकड़ लिया, मेरे लंड की स्पीड बहुत तेज़ हो चुकी थी और उसकी टांगों को उसके चेहरे तक मोड़ चुका था मैं!चूत चोदने के चक्कर में मैं यह भूल गया था कि उसे दर्द भी हो सकता है और मैंने उसकी चूत में ही अपना माल छोड़ दिया और कुछ ही पल में हम दोनों शांत हो गए. इंग्लिश सेक्सी वीडियो ओपनमेरा मुँह उनकी चुत पर ढक्कन की तरह फिट था सो मैं धीरे-धीरे करके दीदी की चुत का माल पीता गया.

अलग-अलग तरह से उसने सोचा फिर किसी नतीजे पे पहुँच गई और कब उसकी आँख लगी, उसे पता भी नहीं लगा. सॉरी मॉम प्लीज़ आप ये चिड़चिड़ापन ख़त्म कर दो, मैं वादा करती हूँ आपसे दूर कहीं नहीं जाऊंगी। अगर किसी से प्यार भी करूँगी तो आपको सबसे पहले आकर बता दूँगी। प्लीज़ मॉम अपने आपको संभालो. अब संदीप ने और जोर लगाया और उसके लंड के साथ राजू का लंड भी मेरी गांड को चीरता हुआ गहराई में धीरे-धीरे सरकने लगा.

गुलशन- चुप हरामजादी मेरा भी आह… पानी निकलने वाला है… ले साली आह… ले. ये सब कैसे हुआ खुल कर बता ना?मोना ने सारी कहानी मीना को सुना दी, जिसे सुनकर उसकी चुत गीली हो गई.

भाभी की चूत में अलग ही नशा है। भाभी मुझे हमेशा बोलती हैं- तेरे लण्ड में सच में बहुत जान है, जो एक बार इससे चुदाई करवा ले, वो इसकी दीवानी हो जाती है।अभी तक मैंने भाभी को 17 बार चोदा है। अब भाभी प्रेग्नेंट है तो काफी टाइम से मुझे उनकी चूत नसीब नहीं हुई।तो दोस्तो, यह थी मेरी और मेरी चचेरी भाभी की चुदाई की कहानी। उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरूर पसंद आई होगी।[emailprotected].

इलास्टिक वाली लोअर थी, उतर गई, और फिर उसने चड्डी भी नीचे को कर दी और मेरे लुल्ले को अपने हाथ में पकड़ लिया. पसीने की बहती हुई धारें उनकी छाती से शुरु होकर उनके पेट से होते हुए नीचे लोअर की इलास्टिक को भिगा रहे थे. फिर अचानक वह बोली- पहले एक बार तुम अपना लंड मेरी चूत में पेल दो, मुझसे रुका नहीं जा रहा.

ब्लू पिक्चर नंगी सीन दिखाइए और कब तक अपने लंड के अरमानों पर पानी डालता रहूँगा इसलिए अब तो रात को अपने कमरे के बजाए बाहर सोने लगा था. अगले दिन शाम को ऋतु ने बताया की पूजा की चार सहेलियाँ तैयार हो गई हैं अपनी चूत चटवाने के लिए… और वो इसके लिए दो-दो हजार रूपए देने को भी तैयार हैं.

फिर पूजा लेटी और वो भी अपनी उंगलियाँ अपनी बुर में डालकर आँखें बंद करके मजे लेने लगी. वो मैं चाहता नहीं क्योंकि तेरा कोई भरोसा नहीं कि कब, किस बात के लिए तू क्या कह दे. सुमन बस पढ़ती जा रही थी और फिर उसकी वासना बढ़ती जा रही थी। साथ ही वो अपनी चुत को सहला कर मज़ा ले रही थी।कुछ ही पलों में सुमन फिर से उत्तेजित हो गई और जोर से चुत रगड़ने लगी। उसको ऐसा लगा कि अन्दर बहुत खुजली हो रही है, उसने थोड़ी सी उंगली अन्दर की तो उसको दर्द हुआ। फिर उसने चुत को ऊपर से ही रगड़ कर अपने आपको शांत किया और खुद को साफ करके कपड़े पहन लिए।सुमन- बाप रे ये मुझे क्या हो गया.

देसी विलेज कपल सेक्स फोटो

अब मेरे पास कहने को कुछ ना था, और सच तो यह है कि मैं सुबह आठ बजे ही तैयार हो जाऊंगी ऐसा मैंने खुद नहीं सोचा था।मैंने माँ की बात यंत्रवत मानी और माँ के साथ काम करने लगी. उस दिन के बाद हम थोड़ी ज्यादा बातें करने लगे, एक दूसरे की सीक्रेट्स बताने लागे और एक अच्छी दोस्ती निभाने लगे. स्मृति को शायद नींद नहीं आ रही थी तो उसने मुझे अपने पास बुला लिया- नींद नहीं आ, रही मेरे पास आओ, बातें करेंगे.

सब लोग सेक्स करना चाहते हैं, मैं भी सेक्स का बहुत बड़ा एडिक्ट हूँ, पर मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है तो मैं अक्सर हाथ से ही लंड हिलाकर शांत हो जाता हूँ. लेकिन दरवाज़ा खुला देख कर मैं बाथरूम के दरवाज़े के पास जा कर अंदर झाँका तो देखा पूर्ण नग्न माला कपड़े धो रही थी.

अलग-अलग तरह से उसने सोचा फिर किसी नतीजे पे पहुँच गई और कब उसकी आँख लगी, उसे पता भी नहीं लगा.

किसी को कुछ पता नहीं लगेगा और काका तो वैसे भी तुझे चोदना चाहते हैं।राधा- ये तू क्या कह रहा है? वो तो हमेशा मुझे अपनी बेटी समझते हैं। याद है. इसके बाद उतर के बगल में लेट गया और दोनों थक कर चूर हो गए थे, इसके चलते टीवी को बंद करके सो गए. मेरे दोस्त, पर चूत मारनी है तो इतना रिस्क लेना ही पड़ेगा, यही सोच कर मैं बस उसे पकड़े हुए था.

जिसमें किसी और के वीर्य से तुमको बच्चा हो सकता है।दीदी ने मुझे कसम खिलाई कि ये बात किसी को नहीं बताना।मैंने उससे अगले दिन फिर से डॉक्टर के पास चलने को बोला. उसके लंड ने एक ठोकर मेरे गांड के छेद में मारी…मैं पुरी झुक कर घोड़ी बन गई. फिर मेरी चूत से भी पानी निकल गया और मैं पीटर के ऊपर से उतर कर साइड में लेट गई.

तेरे साथ मैं भी बदनाम हो गई तो?‘ह्म्म, ये भी है चलो फिर थोड़ा सा नाम कमा लें?’वो बोली- क्या मतलब?‘तुम्हारी चूत की गरमी को महसूस करके!’इतना सुनते ही उसने मुझे चूम लिया और कहने लगी- अगर कोई आ गया फिर?मैंने कहा- आएगा कैसे? तेरा पति तो जॉब पर है नाइट शिफ्ट पर और कोई है नहीं जो इस वक्त जाग जाए तो और कौन आएगा?‘ओके, पर यहाँ नहीं!’ वो बोली.

हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी आवाज: अचानक रयान को बैंक में एक ऑफर मिलता है कि 200 किमी दूर एक बड़े शहर के इंडस्ट्रियल एरिया में बैंक को अपनी नई ब्रांच खोलनी है और उसे वहाँ का मेनेजर बना कर भेजा जा सकता है. उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो बहुत तेज़ी से बाहर जाता और एकदम रॉकेट की तरह अंदर तक आता.

मगर उसने गौर किया तब समझ गई कि सुमन बस लंड से चूत को रगड़वा रही है. कुछ सहेलियों से तो कुछ नेट से बाकी उसका स्वाभाव भी थोड़ा बिंदास ही था तो वो ऐसे नंगी गुलशन के सामने खड़ी हो गई. अब जब भी शालू के आस-पास कोई नहीं होता था, तब मैं और शालू किस करने लग जाते थे.

उन्होंने मुझे थैंक्स बोला लेकिन मुझे कुछ चोट लग गई थी और खून निकल रहा था.

मैं- आहाह… तुम्हारी चूत भी मजेदार है, उईई लो न… चोद तो रहा हूँ… पूरा लंड पेल रखा है, अब कितना चाहिए इईई ले मेरी रानी उईई. प्लीज़ टीना बुरा मत मानना मगर तुम संजय की गर्लफ्रेंड हो किसी और की?टीना- गर्लफ्रेंड तो मैं संजय की हूँ मगर हम सब अच्छे दोस्त भी हैं तो सभी मेरे ब्वॉयफ्रेंड हैं. मैं मदहोश सा होने लगी, मैं सोचने लगी कि अगर खुशबू इतनी मादक है तो मुझे चूसने में कितना मज़ा मिलेगा.