बहु ससुर का बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ पिक्चर सेक्सी में वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो बीएफ खपाखप: बहु ससुर का बीएफ, मैंने जानबूझ कर दुपट्टा सही नहीं किया और अपने मम्मों का क्लीवेज दिखाती रही.

ब्लड सेक्सी बीएफ

मेरी उससे वीडियो कॉल पर बात होने लगी और हम दो दो घंटे रात बात करने लगे. मथुरा के बीएफमैंने अपने लंड को उसकी चुत के अन्दर करने के लिए हल्का सा झटका दिया, तो वो सिसक उठी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने देखा कि लंड उसकी चुत में नहीं गया, वो फिसल कर बाहर आ गया.

मोनी के पैरों को सहलाने में मुझे मजा सा आ रहा था इसलिये उसके पैरों को सहलाते-सहलाते मैंने अब अपने पैर से धीरे-धीरे उसकी साड़ी व पेटीकोट को ऊपर की तरफ खिसकाना भी शुरू कर दिया. हॉट सेक्सी बीएफ न्यूसुमिना मस्ती में होकर अपने चूचों को अपने हाथों से खुद ही दबा रही थी.

धक् धक् धक् धक् धक् धक् धक् … दे दनादन दन दन दन दन … धक् धक् धक् … चुदाई की स्पीड इस समय हवाई जहाज़ रफ़्तार को भी शर्मसार कर सकती थी.बहु ससुर का बीएफ: और धीरे-धीरे मैंने अपनी दसों उँगलियों को ऊपर की ओर जुम्बिश देनी शुरू की और अपनी हथेलियाँ ठीक ऐसे ऊपर को उठाने लगा जैसे छतरी बंद करते हैं.

वहां मां-पापा को कुछ जमीन-जायदाद से संबंधी काम था जिसका निपटारा करने में कई दिन का समय लगने वाला था.वो फोन पर बात करती रहती थी और मैं दरवाजा बंद करके रजाई के अंदर लंड को सहलाता रहता था.

सेक्सी चुदाई वाली बीएफ सेक्सी - बहु ससुर का बीएफ

मैं बिस्तर पर नंगी होकर बैठी थी और वो भी नंगा होकर मुझे किस करने लगा.फिर मैं उसके नाभि को चाटने लगा और चाटते चाटते उसकी चूत तक पहुंच गया.

मैं उसकी गांड मारने के साथ उसकी चुत में उंगली डाल डाल के मज़े दे रहा था. बहु ससुर का बीएफ जीजा-साली दोनों ही एक दूसरे के जिस्म को ऐसे भोग रहे थे जैसे इससे पहले न तो जीजू ने किसी महिला को नंगी देखा हो और न ही मानसी ने किसी मर्द को नंगा देखा हो.

पिच्च्च करता हुआ लौड़ा रसरसाती चूत में घुसता चला गया और अंत में रानी की रानी की गुफा के अंतिम छोर पर यूट्रस से टकराया.

बहु ससुर का बीएफ?

हम लोग बाजार में कुछ देर तक एक साथ घूमे और उसके बाद उसने बोला- क्या तुम मेरे साथ होटल में चलोगी, वहां पर हम दोनों कुछ देर आराम से रुक कर ये सब आराम से कर सकते हैं. मां बोली- हां, बात तो तू सही कह रहा है सुमित। कई दिनों से मैं सोच ही रही थी फार्म हाउस पर कोई गया नहीं है. हमारी सांसें तेज होने लगीं, किस करते हुए मैं उसकी जांघों को सहलाने लगा.

उनकी गांड के नीचे तकिया लगा होने के कारण पूरा लंड उनकी चुत में अन्दर तक जा रहा था. रात के दस बज चुके थे, गुप्ताइन ने कहा- चलो बेबी हम लोग चलें, अब अंकल को सोने दो. माँ बोली- राहुल, यह तुम क्या कर रहे हो?मैं चुपचाप नीचे ही देखता रहा.

तब उसने धीरे से अपनी उंगली मेरी चूत में से बाहर निकाली और वो अपनी उंगली चाटने लगा. मैंने माँ से कहा- माँ, मैं आपको बहुत पसंद करने लगा हूँ और आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं. भाबी- प्लीज़ देव अपने लंड का साइज़ तो देखो … तुम्हें लगता है मैं इसे पीछे बर्दाश्त कर भी पाऊंगी?मैं- भाबी, प्लीज़ दर्द तो फर्स्ट टाइम सबको होता है … लेकिन इतना दर्द भी नहीं होता.

अनामिका से मैंने कहा- क्या तुम मुझे अब भी याद करती हो?उसने कहा- जब तक तुमको देखा नहीं था, तब तक तो मुझे तुम्हारी कुछ भी याद नहीं आती थी. शायद हम दोनों को घूमने में मजा ही नहीं आ रहा था, बस यूं लग रहा था कि किसी तरह एक दूसरे से चिपक कर अपनी गर्म सांसें एक दूसरे से लड़ा लें.

एक अप्सरा सी लौंडिया अपना इतना ज़ायकेदार बदन चटवा चुसवा रही हो तो मुंह में पानी आना तो स्वाभाविक ही है.

मैं तो बस अपनी गीतू को चूसना चाहता था।मैंने देर न करते हुए उसकी गुलाबी रंग की पैंटी उतार दी.

इस बार मैं आपको एक हसीन हादसा, जो मेरे साथ हुआ, उसके बारे में बताना चाहता हूँ. राधिका ने कहा- सबसे पहले दिशा थी, फिर मैं आई थी और आखिर में सोनल थी. फिर वो बोला- सर कुछ और चाहिये हो तो प्लीज़ 9 नम्बर पे कॉल कर दीजिएगा.

हम लोग बाजार में कुछ देर तक एक साथ घूमे और उसके बाद उसने बोला- क्या तुम मेरे साथ होटल में चलोगी, वहां पर हम दोनों कुछ देर आराम से रुक कर ये सब आराम से कर सकते हैं. मैं तुरंत कैंची लेकर आया और चाची के चूत के लम्बे बालों को काटने लगा. भाभी भी सिस्कार रही इथी- आहह उहहाआ आअहह फक मी जान अहह चोद दे मेरे राजा … मेरी आग को बुझा दो.

जीजा जी मेरी बात पर कहते थे कि आप मेरी साली हो और साली आधी घरवाली होती है.

यह जानकर‌ जिससे मुझे अब कुछ राहत मिल गयी।पेशाब करने के बाद मोनी ने वापस बिस्तर के पास आकर अब एक बार तो मेरी तरफ देखा फिर चुपचाप वो बिस्तर के दूसरी तरफ सो गयी। पहले मोनी अन्दर दीवार की तरफ सो रही थी और मैं बाहर किनारे की तरफ. उनका लंड इतना गर्म था कि क्या बताऊँ … उनके लंड का सामने का भाग काफी मोटा था. मैं तो देखते ही पागल हो गया था, पर कुछ नहीं कर सकता था, वो प्रेग्नेंट थी.

फिर उसने मेरे गले में से दुपट्टा भी उतार दिया और मेरी चूचियों की दरार बाहर दिखने लगी. फिर हम दोनों तैयार हो गये और मैं उसको स्टेशन पर छोड़ कर वापस घर आ कर सो गया. मैंने अदिति को फोन किया और उससे पूछा कि वो कौन सी ट्रेन से आ रही है.

मेरा यह चिकना नाजुक बदन तुम दोनों के सख्त जिस्म से रगड़ रगड़ कर छिल जाएगा.

विक्की ने इशारा समझ कर निहारिका के होंठों पर किस कर दिया और उसकी चूचियां दबाने लगा. मुझे अपने पास बुलाकर बोले- आजा जानम, आज तुम्हें सुहागदिन का मजा देता हूँ.

बहु ससुर का बीएफ मगर पता नहीं मैं कब नींद में उससे जाकर चिपक गया था। अगर गलती से भी मोनी की नींद खुल गयी तो पता नहीं वो मेरे बारे में क्या सोचेगी? अब ये बात मेरे दिमाग में आते ही मैं अब और भी घबरा गया। मैं करवट बदलकर मोनी से दूर होना ही चाहता था कि तभी मोनी पहले तो हल्का सा कसमसाई फिर अचानक से उसने मुझे दोनों हाथों से धकेलकर अपने से दूर कर दिया. मेरे मुंह से दर्द भरी आवाजें निकल रही थीं और वो मेरी चूत को चोदे जा रहा था.

बहु ससुर का बीएफ मौसी कुतिया सी बनी, तो एक औरत ने मेरे मुँह को पकड़ कर मेरी मौसी की गांड में दे दिया और चाटने के लिए बोला. जीजा साली सेक्स की इस कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे कमेंट करें और मुझे मेल भी करें.

इस घटना को मैं कहानी के रूप में पहली बार लिख रहा हूँ, अगर कोई गलती हो जाए, तो प्लीज़ माफ कर देना.

देसी वीडियो एचडी

मेरे मामा के घर पर मेरे मामा मामी और मामा का लड़का, बस सिर्फ़ तीन ही लोग रहते हैं. मैंने मामी से पूछा- आपको मजा आ रहा है?वो बिना कुछ बोले मेरे बाल पर अपना हाथ फिरा के मेरा साथ देने लगीं. यह देख कर मेरा लंड भी फड़फड़ाने लगा और मेरी पैन्ट फाड़कर बाहर आने के लिए मचलने लगा.

ये मुझे चोदने के लिए अपने शहर से आये हुए बैठे थे और मैं उनसे दूसरे ही ढंग से पेश आ रही थी. लेकिन फिर भी घर के अंदर ही मौका पाकर कभी उसके होंठों को चूस लेता और चूचों को दबा दिया करता था. उसका मुँह चोदते चोदते, मैं उसके सूट के ऊपर से उसकी चूचियों को मसलने लगा.

थोड़ी देर बाद मेरा दर्द कम होते ही उसने बातों ही बातों में मेरी चूत में अपने लंड से और एक ज़ोर से धक्का दे दिया.

नम्रता भी अपनी कमर हिला-हिला कर चूत और गांड चटवा रही थी और मजे से मेरे लंड के साथ खेल रही थी. मगर मैंने फिर से उसे पकड़ लिया और उसको धकेलते हुए दीवार से सटा दिया. मैं सन् 2012 से ही इस साइट का नियमित पाठक हूं। अन्तर्वसना के बारे में मुझे तब पता चला जब मैं ट्रेनिंग ले रहा था। ट्रेनिंग के दौरान मेरी मुलाकत एक व्यक्ति से हुई जो हमारे साथ ही ट्रेनिंग ले रहा था। वह राजस्थान के किसी जिले का रहने वाला था। आज मैं सेंट्रल गवर्नमेंट में एम्प्लोई हूं और अच्छी पोस्ट पर काम कर रहा हूं.

जब कई बार उसकी चूत का पानी निकल चुका तो सुमन का मन भी अब लंड लेने को करने लगा. फिर उन्होंने बुआ को उनके ऊपर आने को कहा तो बुआ मेरे ताऊ जी के खड़े लंड को हाथ में लेकर उनके लंड पर बैठते हुए लंड को चूत के मुंह पर सेट करने लगी. मैं यूं ही कमरे की बालकनी में चला गया और वहां लगे झूले पर बैठ के किशोर कुमार का ‘मेरे सपनों की रानी …’ वाला गाना गाने लगा.

मैं डरती थी कि अगर मेरे भैया कहीं मुझे अपने दोस्त के साथ बाइक पर देख लेंगे तो बहुत डांटेंगे और इस वजह को सोच कर मैं उसके साथ कहीं बाहर घूमने नहीं जाती थी. बीवी ने अनमने मन से मुझे देखा, फिर गांड हिला कर पूरा लंड गांड में ले लिया.

वहाँ मेरा कोई फ़्रेंड नहीं था। मैं समय काटने के लिए मैं फ़ेसबुक पर बहुत ऑनलाइन रहता हूँ और पहले भी कई लोगों से मुलाक़ात कर चुका हूँ। साथ में मैं ऑनलाइन सेक्स मूवीज़ भी देखता हूँ।फ़ेसबुक पर मैं बहुत सी लड़कियों और भाभियों को रिक्वेस्ट भेजता हूँ कि काश़ कोई मिले और मैं मज़े ले सकूँ. मैं कुंवारी चूत की मालकिन थी इसलिए मुझे बहुत दर्द हुआ जब उसने पहली बार मेरी चूत में लंड को अंदर धकेला. माँ बोली- अब तो खुश हो गया होगा न तू?मैंने कहा- हाँ मां, आज मैं बहुत खुश हूँ.

सामने अंकल ब्लैक पैंट और ब्लू शर्ट में खड़े थे, बहुत हैंडसम लग रहे थे.

उसकी बताई जगह पर पहुंचकर मैंने उसको फोन किया तो उसने अपना क्वार्टर नम्बर बता दिया. उसके गोरे चूचे जिनके गुलाबी निप्पल थे, मैंने अपने मुंह में भर लिये. हम लोग उस समय नए नए जवान हो रहे थे, इसलिए सेक्स के प्रति हमारा आकर्षण अपनी ऊंचाईयों पर था.

मेरे होंठों से अपने होंठों को दूर हटाने की एक बार तो उसने कोशिश की मगर मैं भी ऐसे हार नहीं मानने वाला था. मेरा जोश और ज्यादा बढ़ गया और मैंने भाभी की चूत की चुदाई और तेजी से करनी शुरू कर दी.

वह मुझे स्कूल खत्म होते ही अपने फ्लैट पर ले जाता और तसल्ली से मुझे चोदता था. उसने मुझे फिर से बहुत चूमा और मेरे बोबे दबाये और मैं लौट के घर आ गयी. मैंने कहा- भाबी, मैं सोच रहा हूँ क्यों ना आज हम आंगन में चुदाई करें?ये कहते हुए मैं हंसने लगा.

इंग्लिश सेक्स एक्स एक्स एक्स

अगर मैंने शराब न पी होती तो शायद मेरा जमीर एक बार के लिए मुझे रोक भी लेता मगर सेक्स और शराब का नशा मेरी आत्मा की आवाज को बाहर नहीं आने दे रहा था.

दोनों फांकें बिल्कुल चिपकी हुई थी। उसकी चूत माचिस की डिब्बी के समान बिल्कुल छोटी सी और कमसिन सी लग रही थी।मैं अब कुछ देर तो ऐसे ही उसकी चूत की फांकों को सहलाते हुए उसका जायजा लेता रहा. मैं उतावला हो रहा था तो सुमेर से बोला- भाई, गुलाबो कैसी दिखती है?सुमेर बोला- थोड़ा सब्र रख … सुंदर है. उसने रास्ते में अपनी बाइक रोकी तो मैंने पूछ लिया कि आपने बाइक क्यों रोक ली?वो बोला- मुझे यहां पर कुछ काम है.

इस दोहरी चोट को वो सह नहीं पाई और बहुत ज़ोर से चीख़ पड़ी उम्म्ह… अहह… हय… याह… जिसको मैंने अनसुनी करके अपना लंड पूरा निकाल कर वापस से एक ज़ोर का झटका दे मारा. तो सुमेर ने पूछा- वो लड़की कौन है?तो पारो बोली- मेरी छोटी बहन … उसका नाम गुलाबो है. भोजपुरी सेक्सी बीएफ जबरदस्तीजीवन में पचासों लड़कियों औरतों को चोदा था लेकिन इतनी टाइट और छोटी चूत पहली बार देखी थी.

उसको दर्द होने लगता और उसकी आंखों में पानी आ जाता, दर्द से भाभी बोलती- आह धीरे करो मेरे को अन्दर लग रही है … मेरे हज़्बेंड का इतना लम्बा नहीं है … प्लीज़ थोड़ा धीरे करो. दस मिनट की मेहनत के बाद मैंने सेलिना को फिर से गर्म कर दिया और उसके हाथ फिर से मेरी पीठ को सहलाने लगे.

मैंने उसकी जांघों को अपने हाथों से पकड़ कर एक धक्का लगाया, वो सिहर सी गयी और मेरा लंड फिसल गया. एक ही सिगरेट को हम दोनों ने बारी बारी से खींचते हुए पूरी वाइन पी ली. उसका गोरा रंग, मीडियम बिल्ट बॉडी, पैसेवाला, गुस्से का जाहिल, पर जबान का पक्का है.

ताऊ के चूतड़ मेरे ठीक सामने थे और उनके नीचे बुआ की चूत में जाता हुआ लंड भी मुझे दिखाई दे रहा था. सुमेर का लण्ड खड़ा हो गया तो सुमेर बोला- आमिर ध्यान से देख ले कि कैसे चुदाई करते हैं. स्लिपर बहुत सुन्दर थी परन्तु उसमें पांव ढक हुए थे, दिख नहीं रहे थे.

अब आगे:मैंने अनुषी से कहा कि मुझे पूरी रात तुम्हारे साथ बितानी है, वो भी तुम्हारे घर में … या तुमको समय निकल सकता है, तो किसी होटल में.

नम्रता- अरे यार क्या लड़कियों वाली बात करते हो, तुम्हारे जैसे पार्टनर के साथ गाली बककर अपनी चूत चुदवाने का मजा अलग है. मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया और खुद अपने सिर को उसकी फैली हुई टांगों के बीच रखकर अपनी निगाहों को उसकी चूत पर टिका दिया.

यहाँ बता दूँ कि मेंसेस में खून से भरी हुई चूत बहुत ज़्यादा गर्म होती है. लेकिन अब वो मेरे पेट पर जीभ चलाते हुए मेरी गांड में उंगली डालने का भरसक प्रयास कर रही थी, लेकिन उसकी उंगली अन्दर नहीं जा रही थी. दस बजे करीब जब मेरी आंखें खुलीं, तो मैंने देखा मेरे बगल में अलका सोई हुई है.

बीवी ने पूछा- क्या बात है, महेश जी ने क्या खिला कर भेजा है?मैंने हंसते हुए कहा- महेश की बीवी ने बहुत अच्छे से स्पेशल खाना खिलाया है. ये कहते हुए भाबी ने मेरे लोवर में हाथ डाल दिया और मेरे लंड को बाहर निकाल कर प्यार से लंड को सहलाने लगीं. मैंने अपना लंड निकाल कर कंडोम हटाया और लंड उसके मुँह में डाल कर हिलाने लगा.

बहु ससुर का बीएफ चूंकि मेरे अन्दर एक कमी कहिये या अच्छाई कहिये, वो ये कि मैं स्लिम फिट हूँ, ज्यादा मोटा नहीं हूँ. जोर लगाया तो लण्ड का सुपारा अन्दर हो गया लेकिन डॉली की आँखें छलक आईं.

सेक्सी वीडियो मोटी

उसके पास आते ही मैं उसे किस करने लगा और साथ में सोनल के मम्मे भी मसलते जा रहा था. मैं आपसे सम्मोहित हो चुका हूं।विक्रम ने रीना की गांड को पकड़कर उसे उल्टा किया तथा रीना को स्तनों के बल लेटा कर पीछे आया और लगभग डॉगी स्टाइल में ही रीना को फिर से तैयार किया. जब मैं कॉलेज से आया तो सुमिना ने मुझसे कहा- सुधीर, आज तुम हमें मार्केट में ले चलोगे क्या?पहले तो मुझे मेरे कानों पर यकीन नहीं हुआ, मैं वहीं बुत बन कर खड़ा हो गया जैसे मुझे कोई सांप सूंघ कर चला गया हो.

मेरे भैया का एक दोस्त है जिसके बारे में यह कहानी में आपको बताना चाहती हूँ. दरवाजा खुलते ही मानसी और रितेश के कामुक सीत्कार बाहर मुझे साफ-साफ सुनाई देने लगे. भाभी देवर हिंदी बीएफमुंह से आह्ह ऊंहह की आवाजें निकालने लगी जो मेरे जोश को और ज्यादा बढ़ा रही थी.

मैंने उसकी चूत को तेजी के साथ सहलाना शुरू कर दिया और वो मेरे चूतड़ों को दबाते हुए मुझे अपनी तरफ खींचने लगी.

भाबी ने ये कहा और लंड को दबाते हुए मुझे छेड़ा- देखो तो कितना रॉड की तरह तना हुआ खड़ा है. कैसी दिखती होगी वो? क्या मेरा सामना पुरानी सड़ियल, तल्ख़, कठोर वसुन्धरा से होने जा रहा था या फिर साक्षात रति-रूप, कामांगी वसुन्धरा मेरे रु-ब-रु होगी?साल पहले की वसुन्धरा की पिंक चोली और पिंक पेंटी में मेरी ओर चली आने वाली क़ामायनी छवि मेरी आँखों के सामने मूर्त हो उठी.

आज कौन सा भूत सवार हो गया है आपके सिर पर सेक्स करने का?जीजा ने दीदी की बात को कोई जवाब नहीं दिया. इसके बाद मैंने अपने पर्स से ट्रिपल फाइव सिगरेट का पैकेट निकाला और एक सिगरेट सुलगा ली. मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि ये क्या हो रहा है … और ये कौन है.

जब मैंने अपना लंड उसकी फुद्दी में घुसाया, तो हमारे अन्दर आग सी लग गई.

दोस्तो, आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी? अगर कहानी आपको पसंद आई हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताना. फिर बातों बातों में मैंने उससे पूछा- हिना जी, आपकी पुसी पर एक भी बाल नहीं है, क्या लगाती हो आप?तो वो बोली- पंकज जी, ये तो ऊपर वाले का उपहार है, जिसकी वजह से मेरी पुसी पर आज तक एक भी बाल नहीं आया … में कुछ लगाती भी नहीं हूँ, बस फेयर एंड लवली क्रीम लगाती हूँ. वापस आकर मैं कपड़े पहनने लगी तो जीजा जी ने कहा- अभी तो आधा मजा ही लिया है साली साहिबा, रुको थोड़ी देर … फिर आपको असली मजा दूँगा.

छोटी बच्ची वाली बीएफमैंने उससे कहा- जब इसमें से बच्चा बाहर आ सकता है, तो लौड़ा क्यों नहीं घुस सकता. वह उस समय बिल्कुल नंगी थी। उसके हाथ में एक ट्रे में कॉफी थी। वो मेरे पास आकर मुझसे नाश्ता करने के लिए कहने लगी.

एक्सएक्सएक्स मूवी

ऐसे ही मैं हर दिन उससे लिफ्ट के लिए पूछता और वो मुस्कुराते हुए मना कर देती. धीरे-धीरे जीजा जी एक उँगली अंदर-बाहर आराम से करने लगे तो मैं दर्द और मजे से उछलने लगी. मेरी जिद के चलते आख़िरकार भाबी ना ना करके पीछे से करवाने के लिए राज़ी हो ही गईं.

मेरे पति दूसरे शहर में नौकरी करते हैं और मैं किसी अन्य सिटी में हूं; मेरा मेरे पति से मिलना सिर्फ शनिवार रविवार ही होता है. शैम्पू-कंडीशनर से वसुन्धरा के सिर के बालों का शायद ही कभी वास्ता पड़ा हो. उसने मेरे लंड पर और खुद की चूत पर खुद का थूक लगाया और लंड को चुत में डाल ही दिया.

उस समय धूप बहुत थी और मैंने उस दिन टॉप लेगीस और बुरका पहन रखा था, मुझे पसीना आना शुरू हो गया था. इतना कह कर जीजा मेरी गांड में जोर-जोर से लंड को डालते हुए चोदने लगे. मैं भी गांड उठा कर मादक सिसकारियां लेने लगी और वो मेरी चूत को चाटने लगा.

वो थोड़ी शर्मा कर थोड़ा मुस्कुरा कर बोली- आपका!उसकी इस बात से मुझे जोश आ गया और मैंने एक जोर का झटका दे मारा. फिर हम दोनों बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गए और फिर से एक एक पैग लेकर बिस्तर पर लेट गए.

मैंने मना किया तो आंटी ने कहा- मैं तुमको कोई गिफ्ट देना चाहती थी, लेकिन इस वक्त सम्भव नहीं है, प्लीज़ तुम बुरा मत मानना, अपने लिए कुछ भी मेरी तरफ से ले लेना.

जो कि कालांतर में मेरे लिए बहुत प्रॉफिटेबल और परमानेंट बिज़नेस की आधारशिला बनी. ब्लू सेक्सी वीडियो बीएफ वीडियोफिर सबने मुझे बीच में लिटा दिया और एक साथ ही सबने मेरे चेहरे और मुँह के अन्दर अपना सारा मुठ निकाला. 8 साल लड़की का बीएफपहले तो मैंने और रानी ने आमने सामने बैठ कर लंड को चूत में घुसेड़ दिया. कहकर वो तेजी के साथ मेरी चूत में जीभ चलाने लगा और मैं मचलते हुए अपने चूचों को दबाने लगी.

वो खुद भी पूल में आ गया और मेरे साथ मस्ती करने लगा, कभी दूध दबाता कभी चुत में उंगली करता.

रात की चुदाई और अंकल के चांटों के कारण मेरी गांड और मम्मे अब तक लाल थे. थोड़ी देर में भाभी मेरे से बोलीं- आर्य तुम थके होगे, जा कर नैना वाले कमरे में आराम कर लो. कुछ देर में उन्होंने मेरी लाइफ के बारे में सवाल किये, मैं उनके सब सवालों के जवाब दे रही थी.

असली काम तो अभी बाकी है।वो मुस्कुरायी और बोली- हाँ मेरे घोड़े …मेरे होंठों को चूम कर प्रीति मुझसे अलग हुई और घोड़ी बन गयी। मैंने उसकी गर्दन पकड़ कर एक ही झटके में अंदर लौड़ा डाल दिया. मैंने लोअर की जेब सिगरेट की डिब्बी निकाली और पहले झिझकते आंटी की तरफ देखा तो उन्होंने बड़े अश्लील भाव से ओने होंठों पर जीभ फिराई. अब अजय ने मेरी गांड में लंड डाला, फिर जब तक वो गांड में झड़ नहीं गया, मुझे चोदता रहा.

સેકસી વિડયો

लेकिन एक पल बाद ही खुद को सयंत करते हुए भाबी ने फिर से मेरे लंड को चूसना चालू कर दिया. मैंने मन ही मन कहा ‘इन दोनों (मां-पापा) को भी अभी टांग अड़ानी थी बीच में।’पांचों के पांचों घर का ताला लगाकर बरामदे में खड़ी कार की तरफ बढ़ चले. फिर हमने डिटेल्स में जाके स्टडी की और कैसे अंजाम देना है, इसका होमवर्क कर लिया.

लेकिन इस बीच उसके पापा आ गए, तो बस हमेशा की तरह उन दोनों का दिखना मुहाल हो गया.

रास्ते में डीडवाना से आगे जाने पर एक शादीशुदा महिला जिसकी उम्र लगभग 26 वर्ष के करीब थी, वहां से बस में चढ़ी.

”मतलब?”एग्जामिनेशन टेबल पर चोदा, फिर घर ले आया, मुंह में दे के चुसवाया और मुंह में ही झाड़ा, फिर दोपहर को आराम किया, अब शाम की शुरुआत हो चुकी है. कामिनी को यकीन दिलाने के लिए मैं अपनी इस क्लाइंट से उसको दी गई लास्ट सर्विस की बातें याद दिलाने लगा, जिससे वो मेरी तारीफ करने लगी. ऐश्वर्या राय का सेक्सी बीएफभोला सिंह यह बात सुनकर खुश हो गया और बोला- तुमने तो दिल खुश कर दिया भाई, बंध्या के साथ ही तुम भी यहां पर आ सकते हो.

पूरे कमरे में हम दोनों की सेक्स की गर्माहट से गर्मी भर गई थी और पंखे के नीचे चुदाई करते हुए भी दोनों के बदन पसीने से भीगने लगे थे. चूंकि मेरी बुआ दिल्ली में रहती थीं इसलिए घर वालों ने मुझे हॉस्टल नहीं दिलवाया. यह कहकर उसने मेरे होंठों को चूस लिया और फिर अलग होकर बोली- जब तुम्हारा मन करे तुम मेरे पास आ जाना.

मैं औंधी लेटी थी, इसलिए मुझे पता नहीं चल रहा था कि वो क्या कर रहा है, पर थोड़ी देर बाद मुझे मेरी गांड पर कुछ गर्म गर्म एहसास हुआ. उसने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और बोला- बंध्या, मेरी नज़र में तो तू दुनिया की सबसे मस्त आइटम है और दुनिया की सबसे चुदक्कड़ लड़की है.

मैंने उससे बोला- तुम तो सब चीज़ पैक करके आई हो … मुझको तो तुम्हारा दूध पीना था.

तभी भाभी ने रोक कर मुझे एक किस किया और बोली- कैसी लगी नयी गर्लफ्रेंड?मैं बस मुस्करा दिया. ये मुझे चोदने के लिए अपने शहर से आये हुए बैठे थे और मैं उनसे दूसरे ही ढंग से पेश आ रही थी. अब मैंने पीछे से उसके दोनों मम्मों को अपने हाथों से पकड़ लिया और जोर जोर से दबाने लगा.

हीरोइन की बीएफ वीडियो तभी भोला सिंह ने मेरी चूत में अपनी जीभ रगड़ दी और मेरी चूत को फैलाकर ऊपर करके चाटने लगा. जब वो दोनों माँ-बेटी घर से बाहर निकल रही थीं तो मैं गाड़ी बाहर निकाल रहा था.

रात 3:30 वो उठा और उसने मुझे और विक्रम को उठाया। मैं तैयार नहीं थी पर वो हैवान होकर मेरे नंगे जिस्म पर टूट पड़े और मुझे उठा लिया. इस पर अंकल ने अपनी काम वाली को आवाज दी- शायरा … अरे कहां रह गयी … आ जाओ, मुआ लंड पूरा टाइट हो गया है. अगली कहानी में मैं आपको बताऊँगा कि कैसे मैंने दीदी के साथ हनीमून प्लान किया.

चोदा चोदा सेक्सी वीडियो

उसने मेरा हाथ उठाकर वापस रख दिया, अपना टॉप ऊपर करके अपनी दोनों चूचियां आजाद कर दीं और मेरा हाथ उठाकर फिर से अपनी चूची पर रख दिया. जैसे ही मैं उछलती, उसकी थोड़ी सी उंगली, जिसमें थूक लगा हुआ था, मेरी गांड में घुस जाती. मैंने पूछा कि क्यों आपके घर में और कोई नहीं है?उन्होंने बताया कि घर पे सिर्फ उनकी सास ही हैं और उनके ससुर की काफी साल पहले डेथ हो चुकी है.

लंड भले ही पैंट में मचल रहा था लेकिन दिल कह रहा था- नहीं, अभी ये सही वक्त नहीं है।गाड़ी सड़क पर दौड़ रही थी कि अचानक एक रिक्शा वाला सामने आ गया तो पापा ने एकदम से ब्रेक पर पैर दबा दिया और बड़ी मुश्किल से गाड़ी की टक्कर रोड के बीच बने डिवाइडर से होते हुए बची. गालियों की वजह से मैं और जोश में आ गया और मैं भी चाची को गालियां देते हुए जोर जोर से चोदने लगा.

तूने इतनी मस्ती से खुल कर मुझसे चुदवाया है कि मैं तेरा कायल हो गया हूं.

मैं वाशरूम में जाके हल्का होके बाहर निकला तो देखा कि आंटी ने नाइटी पहनी हुई थी. मैंने अपना लंड निकाल कर कंडोम हटाया और लंड उसके मुँह में डाल कर हिलाने लगा. फिर हम दोनों में यहाँ-वहाँ की बात होने लगी और होते-होते बात सेक्स तक पहुंच गई.

मैं कुंवारी चूत की मालकिन थी इसलिए मुझे बहुत दर्द हुआ जब उसने पहली बार मेरी चूत में लंड को अंदर धकेला. उसकी बहन से मेरी ज्यादा बात-चीत नहीं हुई मगर उसकी बेटी मेरे साथ काफी घुल-मिल गई थी. मैंने कई बार कोशिश की आगरा जाने की लेकिन मैं अभी तक दोबारा उससे नहीं मिल पाया.

वो मजे ले सकती है तो मैं क्यों नहीं?उस दिन के बाद से वो दोनों बहनें अपनी चूतें मुझसे चुदवाने लगीं.

बहु ससुर का बीएफ: रात 3:30 वो उठा और उसने मुझे और विक्रम को उठाया। मैं तैयार नहीं थी पर वो हैवान होकर मेरे नंगे जिस्म पर टूट पड़े और मुझे उठा लिया. उसकी पैंटी अब तक गीली हो गयी थी और मुझे कुछ अजीब सी महक आ रही थी और स्वाद भी.

मैं भी बीच-बीच में भाभी की गर्दन पर, कभी उनके ब्लाउज में फंसे चूचों पर किस कर देता था. उस दिन जो हुआ उसके बाद तो मैंने सेक्स न करने की जैसे कसम ही खा ली थी क्योंकि मेरे जीजा के मोटे लंड ने मेरी चूत में बहुत दर्द कर दिया था. मेरी मौसी की दो लड़कियां हैं, बड़ी 26 साल की स्वाति और छोटी 24 साल की पूजा.

जब लण्ड का सुपारा अन्दर तक जाता तो आह ऊह की आवाजें निकाल कर मेरा जोश बढ़ाती थी.

[emailprotected]मैं जल्दी ही अपनी नई कहानी ले कर आपके सामने उपस्थित होऊँगी कि कैसे मेरे भाई ने मेरी गांड मारी और मेरी बाकि की चुदाई की कहानियां भी लिखूंगी. पहली कहानी (जिस्म की आग बुझाई जिम वाले के साथ) लिखते समय मैंने सिर्फ टॉवल पहना था. सोनल- आह भाई … और जोर से … चोदो अपनी बहन को … फाड़ डालो मेरी चुत … ओह आह.