बीएफ साड़ी पर

छवि स्रोत,18 साल की लड़की का सेक्सी बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

व्हिडिओ सेक्सी ओपन: बीएफ साड़ी पर, नम्रता ने उस लसलसे रस को अपनी उंगलियों के बीच लिया और उंगलियों को खोलते हुए उस लसलते के बने तारों को दिखाते हुए अपनी जीभ में ले लिया.

लड़का वीडियो बीएफ

होंठों के चुम्बन के साथ इस बार मैं उसके मम्मों को टॉप के ऊपर से ही मसलने लगा. बीएफ पिक्चर नंगी सीन वीडियो मेंबस चुदाई की मस्त आवाजें आ रही थीं- चप … चप … चप …तब मैंने उसको नीचे लिटा दिया और उसकी टांगें उठाकर चोदने लगा.

कुछ देर आराम करने के बाद हमने नाश्ता किया तो दिलिया बोली- आमिर, डॉक्टर को दिखा लो, कहीं कोई दिक्कत न हो गयी हो?मुझे भी उसकी बात जंची. बीएफ सेक्सी भाभी की चुदाई वीडियोहाथ रखने के बाद मैंने धीरे से उनको दबा दिया तो मनीषा की नींद खुल गई.

थॉमस ने मेरे मम्मों को चूस चूस कर उसका सारा रस निकाल दिया था और मेरे निप्पलों को भी पूरी तरह से निचोड़ दिया था.बीएफ साड़ी पर: आप सभी को ये सेक्स कहानी में कितना मजा आ रहा है … प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें.

सोनल अपनी जगह वापस बैठ गई और बोली- भाभी अब आप जो चाहें, वो भाई के साथ कर सकती हो.इस बार उसे दर्द नहीं हो रहा था तो दोनों एक इस चुदाई का भरपूर मजा लिया.

दिखा बीएफ - बीएफ साड़ी पर

फिर नम्रता ने अपने कूल्हे फैला दिए, जो कि मेरे लिये इशारा था कि जब तक पानी गर्म हो रहा है … तब तक मैं उसकी गांड घिसाई कर सकता हूं.मैंने नोयडा में रह रहे अपने एक मित्र से बात की, संयोग से उसे भी एक फ्रेशर की जरूरत थी और इस तरह गोलू नोयडा चला गया.

बेडरूम मैं जाकर उन्होंने मुझे बेड के नजदीक खड़ा किया और अपने होंठ मेरे होंठों पर रखकर चूमने लगे, उनका लुंगी में खड़ा हो रहा लंड मेरे पेट पर चुभने लगा था. बीएफ साड़ी पर अब मैं उनके बेड पर लेटी थी, जिस पर कुछ दिन पहले अंकल और आंटी को चुदाई करते हुए देखा था.

फिर मैंने कहा- और अगर वैभव ने बता दिया तो?प्रतिभा ने कहा- मैंने पहले ही वैभव से ये बात किसी को ना बताने के लिए कह दिया है.

बीएफ साड़ी पर?

इस धक्के के कारण मेरा लंड एक चौथाई से भी ज्यादा अंदर तक उसकी चूत में चला गया था. उनके जाने के बाद हम तीनों ने मिलकर ढेर सारी बातें की … और पता ही नहीं चला कि कब लंच का टाइम हो गया. नम्रता हल्के-हल्के अपने नाखून गड़ाकर मेरे जिस्म के एक-एक हिस्से को चाटते हुए मुझे सुकून दे रही थी.

उसके बाद उन्होंने मेरे होंठों पर अपने होंठ रखे तो मेरे ही कामरस की गंध मेरी नाक में जाने लगी. उस वक्त मेरी उम्र 23 साल है और मेरे चाचा की लड़की, जिसका नाम मेनका है, उसकी उम्र 19 साल की थी. जब एक प्रतिष्ठित बैंक में प्रोबश्नरी ऑफिसर की वेकेंसी निकली तो मैंने अप्लाई कर दिया और मेरा रिटन एग्जाम बहुत ही अच्छा गया और मुझे विश्वास हो गया कि मैं इंटरव्यू के लिए भी सेलेक्ट हो जाऊँगी.

यह सब तो एक दूसरे की सहमति और सहयोग से ही यह सब अच्छा रहता है।”हम्म!”मुझे लगा नताशा कुछ सोचने लगी है। शायद वह इस क्रिया को भी एक बार आजमा लेने पर विचार करने लगी है। काश! अगर एक बार वह हाँ कर दे तो फिर तो मैं उसे इस प्रकार अपने झांसे में फंसा लूंगा कि बाद में तो वह कितना भी मना कर चिल्लाये मेरे लंड को अपनी गांड से नहीं निकाल पायेगी।प्रेम! मैंने कभी इस प्रकार के संबंधों के बारे में सोचा ही नहीं था. क्या करूं? कर दूँ बदन उनके हवाले? नितिन से धोखा नहीं कर सकती? क्या सच में नितिन के मन में भी यही है? मैं शर्मा सर से नजर नहीं मिला पा रही थी, तो मैंने नजरें झुका दीं. अंकल जी ने तो चुदाई का इंतजाम कर दिया था बस अब मुझे हिम्मत करके उनसे चुदने जाना था.

”अंशु और मैं बैठ के शराब पीने लगे और उपिंदर ने मम्मी को बिस्तर पे दबोच लिया, उसके ऊपर लेट के होंठों को खूब चूसा। ब्रा उतार दी। चुचियाँ को तबियत से दबाया। फिर पेटीकोट और चड्डी भी उतार दी, अपने से चिपका के मम्मी के उभारों को मसलता रहा।अंशु ने मेरे पल्लू के अंदर हाथ डाला और मेरे उभार दबाए।ये क्या कर रही हो?”ये तो मेरा हक है. इस पोजीशन में मेरा पूरा लंड उसकी चूत में फंस गया और उसने मजे से मेरी गर्दन को अपने हाथों से जकड़ लिया.

कुछ ही पलों में रश्मि तरह तरह की आवाज निकालने लगी और उसकी आवाज़ और रंडी जैसा व्यवहार देखकर मेरा लंड फटने को हो गया.

… प्लीज … जल्दी से डाल ना … आआह्हह … उम्म्म् फ़क मी हार्ड … आज मेरी गांड फाड़ दे, मेरी चूत का भोसड़ा बना डाल आज तो…बस नितिन आ गया अपनी वाली औकात पे, उसने चूत पर अपना लंड सैट किया और एक ही बार में पूरा लंड घुसेड़ दिया.

हम तीनों लटक कर एक दूर से उलटे घूम कर चूत में पेंच की तरह लण्ड को कस और ढीला कर रहे थे. मैंने कहा- जानू, एक बार पीछे की चुदाई भी करने दो प्लीज!वह बोली- गांड की?मैंने कहा- हाँ. स्नान करने के दौरान मंजू मेरे लण्ड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

उसने शर्ट को बड़े मादक अंदाज से मेरी आंखों में देखते हुए बेड के नीचे गिरा दिया. तब तक मैं थोड़ा सहज हो गया, जूली डॉक्टर को समस्या बताई तो डॉक्टर ने पैंट उतारने को कहा. थॉमस मुझे अब तक 35-40 मिनट तक चोद चुका था और मैं भी पूरे जोश में थॉमस से चुदवा रही थी.

मैंने आंखें खोलीं, तो सामने शर्मा सर ने अपना लंड बाहर निकाल लिया था.

”कुछ नहीं होगा। मेरा भाई है न राजेश, उसकी एक जान पहचान की लेडी डॉक्टर है. लंड का सारा माल निचोड़कर पीने के बाद भी चाची ने मेरा लंड चूसना नहीं छोड़ा, इसका नतीजा ये हुआ कि मेरा जवान लंड फिर से उनके मुँह की गर्मी पाकर खड़ा हो गया. अगर तूने आज मेरी प्यास को बुझा दिया तो तेरा तबादला टीचर के तौर पर नहीं बल्कि प्रिंसिपल के तौर पर होगा.

कसैला सा स्वाद लिए हुए उसकी गांड को मेरा मन छोड़ने को कर नहीं रहा था. लेकिन खाते समय मैंने नोटिस किया कि वो आज रोटी देने के लिए कुछ ज़्यादा ही झुक रही है. मैंने अब लंड पर उछलना चालू किया … भैया मेरी गांड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने में लग गए.

मुझे उसके मुलायम-मुलायम मम्मे दबाने में बहुत मजा आ रहा था और उसको मेरे लंड के खोल को खींचने में.

अब बस तुम साथ दोगे, तो तीन दिन सिर्फ मेरे होंगे और मैं जो चाहूंगी, वो सब करूँगी. तो हुआ यूं कि एक दिन में बाहर गया था और पापा को उस दिन काम से छुट्टी थी तो वो घर पर थे.

बीएफ साड़ी पर मेरे पूछने पर दीपिका ने बताया कि संजना और वो कॉलेज की सहेलियां हैं और अब शादी के बाद दोनों इस शहर में अपने पतियों की जॉब के कारण यहाँ आ गईं, दोनों के हस्बैंड एक ही ऑफिस में हैं. मैंने अपने ममेरे भाई को उठाया और हम दोनों ने जल्दी से अपना अपना कपड़े पहन लिए.

बीएफ साड़ी पर लेकिन मैं उसकी चूत पर चाकलेट लगा कर मजे से चूस-चूस कर खाने लगा। जहां मुझे चूत चटाई में अपार आनंद प्राप्त हो रहा था वहीं उसे बहुत दर्द हो रहा था वो बस कामुक होकर ‘उमम्म्ह … आहहहह ईइइइ इइ … याहह हहहह ओहहह हहह उइइइ इइइइ करती रही और चूत चटाई का मजा लेती रही।अब वो पागलों की तरह बर्ताव करने लगी थी और मुझे नोंचने लगी थी. उसकी चूत एकदम आसमान में टंग गई, अब तो मैं घुटनों पर खड़ा होकर चोद सकता था.

दिलिया गर्म पानी मग में डाल कर ले आयी और मैंने लण्ड पानी में डाल दिया.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी क्वालिटी

सारा बोलने लगी- रूई … कपड़ा … फूल!मैं वैसे ही दिलिया के ऊपर नीचे के ओंठ चूसते हुए धक्के मारने लगा. मैं अपनी आंखों में कामुक भाव लाते हुए उनसे बोली- सर … क्यों सता रहे हो … डाल दो ना आप का लंड मेरी चुत के अन्दर!जो हुकुम डार्लिंग!” बोल कर शर्मा सर धीरे से मेरे ऊपर चढ़ गए. मैं अपनी कुर्सी पर बैठा ही था कि शुभ्रा मुझ पर चिल्लाते हुए बोली- अपने लिये पानी ला सकता था तो मेरे लिये क्यों नहीं?मामी बीच में ही बोल उठी- क्यों चिल्ला रही हो? मैं जाकर तेरे लिये पानी ला देती हूं.

मेरे इन प्रयासों से कुछ देर में जूली फिर गर्म हो गयी और सारा को एक तरफ हटा कर मेरे ऊपर आ गयी. नम्रता मेरी पीठ और कूल्हे को सहला रही थी और मैं उसकी पीठ और कूल्हे को सहला रहा था. नहाने के बाद मैंने चाय नाश्ता किया उनके साथ और फिर मैं मोबाइल में गेम खेलने लगा और वो नहाने चली गई.

अपना लंड चुत के जड़ तक घुसाकर अंकल एक के बाद एक वीर्य की पिचकारी मेरी चुत में छोड़ने लगे.

सारा लेट गयी और दिलिया उसके ऊपर लेट कर उसे लिप किस करने लगी और दोनों एक दूसरे की चूचियों से खेलने लगी. अब वो धीरे धीरे मेरे लंड पर कूद रही थीं- आह … राहुल … इसस्स्स … यस … उहह … मजा आ गया … तेरा लंड बड़ा कड़क और मोटा है … मेरी चूत की खुजली मिटा दे मेरी जान. घर आकर पढ़ने बैठ जाता और फिर शाम को स्कूल का पढ़ाई का काम खत्म करने के बाद कुछ देर क्रिकेट खेल लिया करता था.

दोस्तो, आप को बताना चाहूंगा कि हम जिस रिश्तेदार के यहां शादी में गए थे, उनका थोड़ी ही दूर पर एक छोटा सा और घर था, जिसमें वो लोग फालतू सामान और प्रयोग में ना कि जाने वाली चीजें रखते थे. मैंने भाभी को अपनी तरफ खींचा और उनके बोबे दबाते हुए उनको किस करने लगा. इसके बाद वो मुझे अपने चूचे उठा कर दिखाने लगी और मुझसे पूछने लगी कि बता तो क्या मेरे ये बड़े दिखने लगे हैं.

इस दौरान मैं चूत का दाना सहलाती रही थी जिस वजह से मैं 3 बार झड़ चुकी थी. मैं यह बात समझ गया कि संजना बस मेरे लिए ही मेरा लौड़ा चूस रही है ताकि मैं सीधे से झड़ जाऊं, जो मैं इतनी चुदाई होने के बावजूद नहीं झड़ पाया था.

थोड़ी देर चूत पर अपना लंड रगड़ते रगड़ते उसने धीरे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. मंजू के बालों को पकड़ कर मैं बेड से नीचे उतरा, बोला- भोसड़ी की चुदाई भी करवानी है और ऊपर से न नुकर कर रही है?उसका मुंह लाल हो गया. मैं भी लंड सहलाता हुआ बोला- ठीक है मेरी जाने बहार … आपका हुकुम मेरे सर माथे.

अब जब उसका मन होता है, तो मेरे साथ चुदाई कर लेता है और जिस दिन मेरी बहुत इच्छा होती है कि वो मुझे रगड़े, मसले, इतनी ताकत से चोदे कि मेरा रोम रोम मस्त हो जाए, तो उस दिन वो मेरी तरफ देखता भी नहीं है.

ठीक है, तुम थोड़ा सो लो, तुम्हें अच्छा लगेगा … तब तक मैं नीतू को बेडरूम में ले जाता हूं … तुम्हें चलेगा ना?” शर्मा सर ने नितिन को जानबूझ कर ये सवाल पूछा. अंकल के घर के सामने खड़ी होकर मैंने डोर बेल बजायी, अंकल ने दरवाजा खोला, अंकल सिर्फ लुंगी और बनियान पहने थे. इसमें मेरे पति नितिन की रजामंदी भी थी और ये बात मुझे नहीं मालूम थी.

बाथरूम में अब पानी की टप-टप की आवाज से भी ज्यादा हम तीनों की चीखें और सिसकारियां सुनाई दे रही थीं. मैं रोने के अलावा और कर भी क्या सकती थी तो मैंने रो रो कर बुरा हाल कर लिया.

मेरी सीत्कारियां उनके अन्दर जोश भर रही थीं- सश्स … आहह … अंकल … कितना सता रहे हो … उम्म … आह … काटो मत … चूसो परर … प्लीज … काटो मत. मेरे प्यार ने मुझे स्वीकार कर लिया, अब चाहे मुझे मौत भी आ जाए तो गम नहीं. सुमन यह सब बर्दाश्त नहीं कर पाई और झड़ गई। हरकेश का लंड उसके मुंह में था इसलिए उसकी आवाज नहीं निकल रही थी.

गाना वाला सेक्सी वीडियो भोजपुरी

आप रिसेप्शनिस्ट-कम-अस्सिस्टेंट होंगी और सिर्फ 15 हजार ही मैं आपको दे पाऊंगा.

मैंने अपनी नौकरानी को कॉल करके बता दिया कि मैं कभी बाजार जा रही हूँ, जब मैं आ जाऊंगी तो तुमको फोन कर दूँगी तब तुम आ जाना. घर आकर हम सभी ने थोड़ी देर बात की और अपने अपने कमरे में सोने के लिए चले गए. अन्दर का दृश्य कुछ इस तरह था कि सुमीना ने सारे कपड़े उतार रखे थे और ससुर जी भी पूरे नंगे थे और अपनी बेटी की चूत को चाट रहे थे.

मैं जाकर बेड पर बैठ गया, मेरा लंड जो लगभग 70 से 90 डिग्री के एंगल पर खड़ा था. मैंने अपना काम चालू रखा। अब मैं धीरे-धीरे अपने लंड को आगे-पीछे करने लगा और धक्के की स्पीड भी धीरे-धीरे बढ़ाने लगा।एक जैसी पोजिशन में धक्के मारते-मारते मैं थकने लगा तो मैं चित लेट गया और जूली को अपने ऊपर कर लिया और फिर उसकी चूत में लंड डालकर नीचे से अपनी कमर उठा-उठाकर उसको चोदने लगा।जूली भी अब समझ चुकी थी. बीएफ सेक्सी वीडियो चाइनीसदोनों जैसे पूरी तरह से संतुष्ट हो गये थे और एक दूसरे के जिस्म के अंदर ही घुस जाना चाह रहे थे.

अचानक दरवाजे पे आवाज हुई, मैं बोली- जी सर?बाहर बॉस थे, वो बोले- अंदर एक फाइल है, वो चाहिए. मुझे नहीं पता था कि उनकी पत्नी पड़ोस की किसी औरत के साथ बाजार गयी है.

आपके बहुमूल्य कमेंट्स के जरिये ही मुझे पता लगेगा कि मेरी मेहनत कहां तक कामयाब हो पाई है इसलिए मेरी बंगाली हॉट सेक्स स्टोरी पर आप अपना फीडबैक देना जरूर याद रखें. मैं उसकी चूत के गुलाबी छेद को चूस कर उसको और ज्यादा तड़पने पर मजबूर कर रहा था. अगली बार मैं अपने जीवन के और भी अनुभवों को आप लोगों के साथ साझा करना चाहूंगा.

मैं उनकी बात सुनकर हैरानी से उनकी ओर देखने लगी और सोचने लगी कि कहां मैं दूसरे स्कूल में धक्के खाने की सोच रही थी, यहां तो मुझे चूत के बदले में प्रमोशन भी फ्री मिल रहा है. अब नम्रता मेरे इशारे के साथ ही मूत रही थी और मैं उसके गर्म पानी को पीकर मजा ले रहा था. अन्दर आकर गुप्ताइन बोली- कल गोलू को पहली सैलरी मिल गई है, हम लोग सुबह मन्दिर गये थे, यह प्रसाद है.

हमारी धुआंधार चुदाई होने के बाद हम अब तीनों थक चुके थे और कुछ भी करने की हालत में नहीं थे.

मैं रूम में अकेला था, तो पजामे के ऊपर से ही थोड़ा लंड सहलाते हुए मुठ मार रहा था कि तभी भाभी की आवाज आई- मोहित इधर आना तो. नीचे का नज़ारा देख कर मेरा लंड तन कर एकदम नब्बे डिग्री के एंगल पर झटके देने लगा.

वो जानबूझकर अपने बूब्स एक के बाद एक ऊपर कर रही थी अब उसके दोनों बूब्स आधे बाहर थे और उसका एक हाथ पूरी तरह मेरे लंड पे था. बदले में मैंने भी सबकी नजरों से बचते हुए अपने लंड पर हाथ फेरकर और होंठ को गोल करके नम्रता को जवाब दिया. इसी बीच शीना मुझे अपनी तरफ खींचते हुए मेरे पीठ में नाखून बढ़ाते हुए झड़ने लगी.

यदि आपने सौरभ को अपने यहाँ से निकाल दिया तो यह फिर किसी भी बाहर के आदमी से संबंध बना लेगी फिर वो चाहे कोई मजदूर ही क्यों न मिल जाये. आहा हाहा … मौसी की चूत पर छोटे छोटे बाल थे, शायद मौसी ने 8-10 दिन पहले ही अपनी झांटों को साफ किया होगा. बाद में हम दोनों फ़िर एक ही सोफ़े पर पास पास बैठ गए और एक दूसरे की आंखों में देखने लगे.

बीएफ साड़ी पर मैं अपने नये बॉस को सोच-सोचकर दोनों मोटी-मोटी जांघ खोलकर नंगी बिस्तर पर पड़ी थी. जब उसने दुबारा पूछा तो मैंने हल्की मुस्कुराहट से उसे हां कहा और अपना बैग उठाकर अपनी गोद में रख लिया.

बीपी सेक्सी भेजें

तभी राधिका मेरी तरफ देखकर हल्की सी मुस्कुरा दी, क्योंकि उसे पता था कि आगे क्या होने वाला था. वो मेरे कंधों तक पहुँच रहे थे, वो मेरे कंधों और गले की भी मालिश कर रहा था. मीरा ने उसी शाम को रितेश को खाने पे बुलाया और कहा कि वो रीमा को भी साथ में लेते आए, तभी रात को हम अपने मिलने के बारे में भी सोचते हैं.

अगले दिन जब उन्होंने मेरे साथ छुपा-छिपी खेलने के लिए कहा तो मैंने ये कहकर मना कर दिया कि मेरे पैर में दर्द हो रहा है. मुझे पता था कि अब वो मेरी गांड को चाटने वाले हैं … क्योंकि मूवी में मैंने देखा था. बीएफ चुदाई वीडियो सॉन्गमेरी पत्नी हर शनिवार को दिल्ली जाती है और घर पर मैं और मेरी बेटी ही रहते हैं.

आपको हमारी यह भाई-बहन की चुदाई वाली कहानी पसंद आई होगी ना? तो आप जरूर कमेंट करें.

अब टास्क देने की बारी राधिका की थी- राज, मैं चाहती हूँ कि तुम दिशा की चुत और उसके सुंदर चूतड़ों पर किस करो. जैसे ही लंड में तनाव आया उन्होंने मुझे नीचे लिटा दिया और मेरी दोनों टांगों को उठाकर ऊपर कर दिया जिससे मेरी चूत पूरी तरह से खुल गई.

वो मुझे लंड की ठोकर देते हुए बोला- मेरी जान … माय स्वीट वाइफ … आई लव यू आअह्ह …उसने चोदना चालू कर दिया, वो जोर जोर से धक्के लगाने लगा. अभी तक आपने पढ़ा कि पहली बार मैंने चाची को फिल्म देखने के बाद कैसे चोदा. साड़ी के ऊपर से ही मैं उसके चूतड़ों को भी सहला देता और अपनी उंगली को उसके चूतड़ों की दरार के बीच घुमा आता.

इधर उंगली से मेरी चूत का भी पानी निकल चुका था।इस सब में मैंने एक काम कर लिया था कि सुमीना और मेरे ससुर की रासलीला की वीडियो अपने मोबाइल से बना ली थी.

और उसने अपने पैर मेरी कमर में लपेट दिए साथ ही अपनी भुजाओं में मुझे कस लिया. मैंने उनके कूल्हों के दोनों और अपने दोनों पैर टिकाए और गांड को उनके मुँह के पास लाकर खड़ा रहा. दीदी कहे जा रही थी- तू तो जानती ही है मधु कि गर्दन पर कोई सांस छोड़े, तो लड़की कितनी कामुक हो जाती है.

चाची का बीएफ सेक्सीमैं उन लोगों की चुदाई की बातें सुनती हूँ, तो मुझे भी अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाने का मन करने लगता है. उनका लंड काफी बड़ा था, उनका लंड मेरे काफी करीब था, इसलिए उसके ऊपर की नसें भी साफ साफ दिखाई दे रही थीं.

हिंदी सेक्सी पिक्चर हिंदी ब्लू पिक्चर

फिर उसकी नाक का अहसास मुझे छेद में होने लगा और फिर जीभ चलने का अहसास होने लगा. सुमन एक हाथ से मेरा और एक हाथ से हरकेश का लंड पकड़े हुए थी मैंने अपना मुंह आगे करते हुए सुमन के होठों को काटना शुरू कर दिया।हरकेश उसके दूध को बेइंतहा चूस रहा था. मेरा काफी दिनों से किसी को चोदने का मन कर रहा था लेकिन कोई माल मेरी नज़र में नहीं आ रहा था.

उसके बाद मैंने मनीषा के लहंगे में हाथ डाल दिया और मेरा हाथ सीधा उसकी चूत तक पहुंच गया. लंड चूत में अन्दर लेते ही मेरी सारी थकान न जाने किधर छू-मंतर हो गई थी. ये हॉट सेक्स स्टोरी इन हिंदी एकदम सच्ची है, जो अभी थोड़े महीने पहले ही मेरे साथ घटित हुई थी.

अब मैंने सुमन को अपनी गोद के ऊपर बुलाया और वो भी अपनी टांगें चौड़ी करके मेरे लंड के ऊपर बैठ गई और सोफे में ही कूद-कूद कर चुदने लगी. लंड पर मीना की जीभ का अहसास पाते ही मैं अपने आपको हवा में उड़ता हुआ पाने लगा. मगर चाची के चूचों को चूसते ही वो मुझे चोदना शुरू कर देती थी और मैं उनकी चूत के रसपान से वंचित रह जाता था.

लेकिन चाची की मदमस्त चूचियों को चूसने और दबाने से मेरा वो दर्द एक मतवाली लज्जत में बदल गया था. उससे चिकन के लिए पैसे मांगे तो उसने अपने ब्लाउज में पैसे रख कर कहा कि निकाल लो.

मैं पूरे मज़े लेकर उसकी चूत में जीभ डाल कर उसका पूरा रस निचोड़ लेना चाहता था.

मैंने देखा कि माँ की चूत पर तो जैसे बारिश हो गयी हो, इस तरह से पसीना पसीना हो रहा था. मिया खलीफा एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियोये एक दो बेडरूम वाला फ्लैट था … जो कि काफ़ी अच्छी तरह से सजाया हुआ था. बीएफ मालिकमैंने अपना लंड उसकी चुत पे रख दिया, तो वो सिहर उठी और मुझसे चिपक गई. एक-दो बार उन्होंने पास आने के लिए बोला भी, पर मुझे उनको तरसाने में मजा आ रहा था.

उसके बाद मैंने अपने बॉयफ्रेंड को जाने के लिए बोला, तो वो मुझे किस करने के बाद अपने घर चला गया.

मैं उनकी बगल में डरती हुई बैठ गई और फाइल को अपनी गोद में रख के उनको सब बताने लगी. अगर कोई उसको अपनी चूत दे रही है, तो उसकी चूत को खूब चोदे, लेकिन मेरी भी चूत की प्यास भी तो बुझाये. उसका लन्ड कुछ इस तरह मेरी चूत में कड़क हो रहा था मानो उसके लन्ड में भी हड्डी निकल आयी हो.

नम्रता ने अंदाज लगाया कि मेरा मुँह खासकर होंठ का हिस्सा उसकी चूत पर सैट नहीं हो रहा है, तो उसने अपनी गांड के नीचे तकिया रखा. इसका अंदाजा मुझे इस अहसास हो गया था कि उसकी चूत की दीवारें कामरस से भीग कर बिल्कुल चिकनी और फिसलन भरी हो चुकी थीं. चूंकि मेरा पति झंडू है, इसलिए मैं भी खुशी के सामने अपनी प्यास और तड़प की बातें रख देती थी … और ये बातें वैभव तक भी पहुंच गई थीं.

हिंदी विडियो फिल्म सेक्सी

वह घुटनों के बल बैठ गई और उसके सिर को पकड़ कर मैंने लंड को उसके मुंह में दे दिया। वो बहुत मजे से मेरे लंड को चूसने लगी. वो नशा ही इतना मज़ेदार था कि उस वक्त प्राण भी निकल जाए तो मरने का अफसोस न हो. मैं 20 साल का हूँ और मैं आप सभी को आज अपने पहले सेक्स अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ।कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को अपनी भाभी के बारे में बताना चाहता हूँ.

वह भी झड़ चुकी थी और उसके 1 मिनट के बाद ही मैंने भी अपना माल उसकी गांड में उड़ेल दिया।1 घंटे तक चली इस चुदाई में हम तीनों ही पस्त हो चुके थे और तीनों बिस्तर पर गिर गए.

अभी तक आपने पढ़ा कि मैं मौसी को पटाने की कोशिश कर रहा था और शादी में जगह की कमी के कारण मौसी को मेरी बगल में ही सोना पड़ा.

यह बात उस समय की है जब मैं अपनी मौसी के घर से अपनी बहन के साथ ट्रेन में बिहार से अपने दिल्ली वाले घर पर लौट कर आ रहा था. मैंने सोचा कि शायद उनकी पत्नी घर पर ही होगी इसलिए वो फोन नहीं उठा रहे हैं. सेक्सी सेक्सी सेक्सी बीएफ बीएफ सेक्सीफिर वो उसी माल से लंड और उसके आस-पास की जगह को अच्छे से मालिश करने लगी.

बल्कि यूं कहूँ कि उसके आते ही मैं उसे अपने कमरे में ले जाती थी, जहां हम दोनों ही अकेले रह जाते थे. बिटिया रानी, सुबह घूमना तो बहुत अच्छा होता है सेहत के लिए, मैं तो कहती हूं तू रोज जाया कर!” मम्मी खुश होकर बोलीं. मैंने मुस्कराते हुए चाबी को वापस रख दिया। मैंने पापा की कार की चाबी ली और चल दिया।हम लोग कार में बातें करते हुए जा रहे थे। हम निश्चित कर रहे थे कि हमे कहाँ कहाँ घूमना है.

मेरे पति सेक्स में खूब संतुष्टि देते थे लेकिन यह संतुष्टि केवल 5-6 दिन के लिये ही होती थी. ” यह बोलकर अंकल ने मेरी टांगें और फैला दीं और एक जोर का धक्का दे दिया.

कुछ ही देर बाद मेरा भी पानी निकला और मैंने भी उसके मुंह में सारा माल भर दिया.

मेरी हॉट सेक्सी कहानी आपको कैसी लगी?[emailprotected][emailprotected]कहानी जारी है. हेतल से तो मुझे कोई डर नहीं था लेकिन जीजू को अभी इन सब घटनाओं के बारे में कुछ नहीं पता था. जैसे ही नम्रता लेटी, मैंने उसकी बुर में जीभ लगा दी और उसके उस कैसेले स्वाद से भरी हुई चूत को चाटने लगा.

चाइना का बीएफ सेक्सी उसके बाद मैंने अपनी छोटी भाभी को भी चोदा, उसकी कहानी अगली बार बताऊंगा. मेरे हर धक्के में उसकी कराह निकल रही थी, पर आज किसी बात का डर नहीं था.

इस 6-8 घंटे में ही मेरी जिंदगी कितनी बदल गयी है, जहां मैं अपने आदमी से खुलकर सेक्स शब्द नहीं बोल सकती थी, वहीं आज मैंने एक रंडी की तरह बुर, लौड़ा, गांड, एक से एक गंदी गाली तुम्हारे साथ शेयर की और चूत को कुतिया की तरह चुदवायी. उसने बोला- मैं तो शादीशुदा हूँ यार … तुम जाओ मेरे लिए तो पति हैं मेरे!अब हम दोनों मूवी देखने पहुंचे. नम्रता ने अंदाज लगाया कि मेरा मुँह खासकर होंठ का हिस्सा उसकी चूत पर सैट नहीं हो रहा है, तो उसने अपनी गांड के नीचे तकिया रखा.

कैलेंडर फोटो सेक्सी

मेरी कुछ सहेलियां पढ़ाई और जॉब करने के लिए मेरे शहर में किराये से कमरा लेकर रहती थीं. सोनल उठकर राधिका के पास चली गई और नीचे झुककर अपनी भाभी राधिका की चुत चाटने लगी. इधर मेरे शरीर में अकड़न होने लगी और मेरे लंड से फव्वारा छूटकर रेखा की चूत के अन्दर गिरने लगा.

अंकल ये क्या कर रहे हो?”नीतू बेटा, अब तुम्हारी चुत को इसी की जरूरत है, उंगली जीभ से अब कुछ नहीं होने वाला है. पैर अंकल के पैरों पर रखे और मेरी उंगलियां उनके सीने के बालों में घुमाते हुए उनसे पूछा.

आप सभी के मेल के इंतजार में- आपका अपना शरद सक्सेना।[emailprotected].

जब भी मैं किसी अच्छे दिखने वाले लड़के की तरफ देखता था तो मेरा ध्यान सबसे पहले उसकी पैंट की ओर चला जाता था. अब तक तो तुम समझ ही चुके होगे कि हमारी सोसायटी में सेक्स कितना कॉमन है. मैंने कहा- तुम्हें अभी मज़ाक सूझ रहा है … इधर अंधेरे के कारण मेरी जान जा रही है.

शायद वह अपने रिश्तेदार के यहाँ आई हुई थी क्योंकि इससे पहले मैंने उसको कभी आसपास नहीं देखा था. लगता था कि मुद्दत से अंदर रखा अवसाद आज बरसों बाद बाँध तोड़ कर आँसुओं के साथ बाहर निकला था. वो पसीना पसीना हो गया था … और मेरे बदन पर पड़े हुए मुझे किस कर रहा था.

मैंने लाल रंग का लांचा खरीदा और रेड ब्रा पेंटी और सुहागरात के लिये रेड गाउन लिया.

बीएफ साड़ी पर: बहुत ही मुलायम चूचियां थीं उसकी, मुझसे रहा ना गया, मैंने जोर से उसका एक दूध दबा दिया. उसकी चूत के आस-पास से धार बाहर निकल रही थी, तब तक आधी कुप्पी खाली हो चुकी थी.

मैंने अपना लंड उसकी चूत पे सैट किया और हल्का सा धक्का लगाया, तो लंड चूत में चला गया. रिया- हा हा हा … कुछ भी बोलते हो डैड। सूसू साथ में करने में क्या मज़ा?रमेश- तू देख तो सही रंडी कि मैं क्या करता हूँ? मज़ा ना आए तो कहना!रिया- जो करना है जल्दी करो डैड. उसके बाद जब मुझे आभास हो गया कि अनिता पूरी तरह से गर्म हो चुकी है तो मैंने फिर से उसकी चूत चाटी और अपने लन्ड को उसकी चूत पर रगड़ने लगा.

सतीश से चुद रही मुस्कान भी सिसकारियाँ निकाल रही थी।तभी मैंने देखा मोनू और प्रियंका ने कुछ बात की और दोनों बैड से नीचे उतर कर मुस्कान के पास चले गये। प्रियंका ने सतीश से घोड़ी बन कर चुद रही मुस्कान की गांड को हाथों से खोला और उसे ध्यान से देखने लगी।मैंने और सीमा ने उसे ऐसा करते देख लिया.

कई कहानियों में इसके मजे के बारे में लिखा है और मैं हर मजा लेने को तैयार हूँ. जब सोनल जोरों से सिसकार रही थी, तब दिशा अपने मम्मे दबा रही थी, तो राधिका अपनी चुत सहला रही थी. मौसी पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगीं, जिससे मेरा लंड फुंफकारने लगा, जो मौसी भी महसूस कर रही थीं.