कामसूत्र बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,गूगल पागल है

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी मे सेक्सी बीएफ: कामसूत्र बीएफ हिंदी, तुम पहली लड़की हो।”कल रात जब तुमसे फोन पर बात हुई तो मुझे लगा कि कोई अधेड़ उम्र की औरत होगी.

दीपिका पादुकोण के सेक्स वीडियो

हम काफी देर तक वहां पर नहाते रहे और एक दूसरे के जिस्मों से खेलते रहे. सेक्सी वीडियो बनाओतुम्हारे जैसी सेक्सी भाभी पर रोल प्ले सेक्स में पैसा खर्च करके मैं पूरी तरह से संतुष्ट हूं.

मैं- आखिरी कुछ दृश्यों में तुम्हें देख कर मैं खुद को रोक नहीं पाया. काजल राघवानी का पति कौन हैथोड़ी ही देर में हम दोनों वहां पहुंच गए, जहां वो लड़के कार लेकर खड़े थे.

चलो कोई बात नहीं फिर!” मैं संक्षिप्त स्वर में कहा और आंखें मूंद कर फिर आहिस्ता आहिस्ता कराहने लगा.कामसूत्र बीएफ हिंदी: एक बार तो शीला ने उसकी चिकनी छातियों को नजर भरकर देखा, फिर अपने काम में लग गयी.

नीरजा ने अपनी टांगें खोल दीं- उफ्फ राज … तुमने मेरी बुर में आग लगा दी … आंह … बहुत अच्छा लग रहा है.तू चुपचाप देखती रह बस।उसके बाद मैं उसके साथ खड़ा हो गया और बोला- ये तेरे बाल कितने सुनहरे हैं.

स्फिंक्स बिल्ली - कामसूत्र बीएफ हिंदी

रिंकी ने अपनी ड्रेस के बटन खोल दिये और उसकी मोटी चूचियां नंगी हो गयीं.अपना लंड चूत से बाहर निकाले बिना ही प्रीति के बूब्स और निप्पल को चूसने लगा.

उसकी बातों से मेरा नशा दोगुना हो गया था। मैंने उसके स्तनों को चूसने के बाद उसकी नाभि को चाटते हुए उसकी चूत पर किस किये और उसकी टाँगें चौड़ी करके उसकी चूत के होंठों में अपनी जीभ डाल दी. कामसूत्र बीएफ हिंदी मैंने उसको जांघों के पास से जोर से पकड़ लिया था और मैंने उसके लंड को अपनी चूत में पूरा अंदर उतार लिया.

वानी- मुझे लगता है कि ये सब काफी है तुम्हारे ऑफिस का माहौल बनाने के लिए। तुम्हें क्या लगता है डार्लिंग?मैं- बहुत उम्दा। अब रोल प्ले शुरू करते हैं, मैं तुम्हें नंगी देखने के लिए अब और इंतजार नहीं कर सकता हूं.

कामसूत्र बीएफ हिंदी?

मैं बोली- तो उड़ा न साले … भैन्चोद … मैं तो कब से लंड लेने के लिए तैयार हूं. [emailprotected]जिजा साली चुदाई कहानी का अगला भाग:चालू अमीर लेडी की वासना पूरी की. नीरजा- वैसे किसको देखा है?मैं- तुझे दो दिन से खिड़की से झांक कर नहाते हुए नंगी देख रहा हूँ.

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी स्टोरी पढ़ने में उतना ही मजा आया होगा जितना मुझे करवाने में आया. कुछ देर तक ये सब करने के बाद उन्होंने मुझे अपनी तरफ मुँह करके खड़ा कर दिया और मेरे एक निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगे. चूंकि हम लोग बात कर रहे थे, तो उसने धीरे से पूछा- क्या कर रहे हो? कहीं मुठ तो नहीं मार रहे हो?ये कह कर वो जोर जोर से हंसने लगी.

मैंने इस जीजा साली Xxx स्टोरी के पहले वाले भागसाली की चूत में जीजा का लंड- 1में आपको बताया था कि मेरी बड़ी साली को मैं घुमाने के लिए नैनीताल में ले गया. मैंने गीत के सिर को अपने हाथों में पकड़ लिया और अपने लंड को उसके मुंह में घुसाने लगा. तो उसने बताया कि वो पढ़ना चाहती थी लेकिन आर्थिक तंगी के कारण घर वालों ने सपोर्ट नहीं किया.

मैं उसकी गर्दन को चूमते चाटते हुए उसकी चूचियों को मसलता रहा जब तक कि उसका दर्द कम न हो गया. इंडियन लड़के अपनी मां को असल जिन्दगी में बहुत कम ही चोद पाते हैं इसलिए कल्पना का सहारा लेना पड़ता है.

मैंने उसके दोनों दूध थाम लिये थे और ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा।वो सिसक उठी- आह प्लीज, धीरे-धीरे करो ना।रितु, मेरी जान … कब से तड़प रहा हूँ इस गर्म गर्म रेशमी जिस्म के लिये। कितनी प्यारी हो तुम आह …”तो वो भी सिसक उठी- सच्ची बहुत तड़पाया है तुमने।क्या हुआ जान?” मैं मुस्कुराते हुए बोला।उसकी शर्म से बुरी हालत हो गई।कुछ नहीं …” वो धीरे से बोली।मेरा गर्म गर्म सख्त लण्ड उसकी चिकनी टांगों में मचल रहा था.

तुम जल्दी घर वापस लौट आओ।बुआ से मैंने तुरंत जाने की आज्ञा मांगी तो रीना दीदी भी ‘मां की तबीयत बिगड़ी है’ सुनकर साथ चलने को तैयार हो गई।शाम तक बड़ी मुश्किल से मैं अपने घर रीना के साथ पहुंच गया और मित्र कीबाईक लेकर दोनों मम्मी से मिलने अस्पताल गए।अस्पताल में मम्मी को बीमार देख दीदी बहुत दुखी हो गई और खूब देखभाल करती रही।सदर अस्पताल में रात्रि आठ बजे के बाद किसी अभिभावक को रुकने की इजाजत नहीं होती.

जल्द ही दुबारा चुदाई का मूड बन गया और इस बार पम्मी ने मुझसे पूछा- तुम मेरे बड़ी बहन को चोदना पसंद करोगे?मैंने एकदम से ना कह दिया. इसी के कारण अब मैं अपनी वासना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा लेने लगा था. काश … कि वो मेरी जांघों पर हाथ रख ले, मैं मन ही मन कुछ ऐसे ही दुआ कर रहा था.

जब आधे से ज्यादा खीरा मेरी चूत में चला गया तो भाभी मेरे ऊपर चढ़ गई और उन्होंने खीरे को अपनी चूत के ऊपरी भाग पर लगा कर मेरे ऊपर जोर डाला तो खीरा मेरी चूत की गर्म दीवारों को फैलाता हुआ पूरा अंदर जा घुसा और भाभी की जांघें मेरी जांघों पर पूरी बैठ गई जिससे हम दोनों की चूतें आपस में चिपक गई और मेरी आनंद से सीत्कार निकल गई. थोड़ी दूर जाते ही रुमित बोला- अब तुम दोनों चनिया चोली कैसे पहनोगी … यहां तो कहीं पर भी मुझे जगह ही नहीं दिख रही है. फिर मम्मी बहुत जोश में आकर नीचे से अपनी गांड उठाकर मेरे लंड पर तेजी से लंड अन्दर लेने लगी थीं.

चुदाई के बाद जब दोनों झड़ गए तो लौड़ा और चूत साफ़ करने का काम इस बार गुड्डी रानी ने किया.

मेरा लंड बार बार भाभी की गांड के बारे में सोच सोचकर खड़ा हो रहा था. उसके बाद उसने अपनी लैगिंग को खींच कर निकाल दिया और उसकी सांवली मोटी गांड भी नंगी हो गयी जिसकी बड़ी सी दरार भी दिख रही थी. वो मेरे मन में चल रहे मानसिक द्वंद्व से बेखबर मेरी सेवा किये जा रही थी.

मैंने दादी से पूछा- दादी, ये भैंसा क्यूँ रखा हुआ है, ये क्या दूध देता है?दादी मुस्कराई और बोली- भैंसा तो भैंसों को काबू करके रखने के लिए रखा हुआ है. आपको मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी कैसी लगी? ईमेल करके मुझे बताएं और कमेंट्स भी करें. यहां पर हर कोई मंहगे कपड़े और मंहगे जेवरों से सुसज्जित था, खूबसूरत महिलाएं और हैंडसम पुरूषों की भरमार थी.

फिर नई चूत मिलेगी तुझे जल्दी हीमेरे दिमाग से पाप पुण्य अच्छे बुरे का विचार तो गायब ही हो चुका था.

लगभग आधा घंटा बैठे रहने के बाद भैंसा ने पांचवीं बार भैंस के ऊपर फिर छलांग लगाई और वह अपना लंड भैंस की चूत के अंदर घुसाने में कामयाब हो गया. आह्ह … उसका लंड पूरा मेरी चूत में अंदर तक उतर गया और मैं उस पर पूरी बैठ गयी.

कामसूत्र बीएफ हिंदी मेरा लंड खड़ा तो पहले ही हो चुका था अब उसमें और कठोरता आने से मुझे बेचैनी महसूस होने लगी थी. नेहा भी हमारी चुसाई के मज़े लेती हुई बोली- चूसो सालों, मेरी जवानी तो कब से तुम्हारी चुसाई के लिए तड़प रही है.

कामसूत्र बीएफ हिंदी वहाँ पर दारू भी चल रही थी तो मैंने भी ४ पॅग पी लिए और मैं पूरी टल्ली हो गयी. मैं उसके चुत के दाने को चूसता हुआ जीभ उसकी चुत में घुसा कर उसको अपनी जीभ से चोदने लगा.

वो बोलीं- ये सब बाद में करना … अभी सिर्फ फटाफट सेक्स करो और घर चलो … क्योंकि मां घर पहुंचकर इंतजार करेंगी.

राजस्थानी बीपी सेक्स

इसलिए मैं रंजु की ओर सरक हो गया जो दीपक के नीचे मुंह के बल लेटी कराह रही थी. थोड़ी ही देर के बाद उसका बदन अकड़ गया और सुमीना भाभी की चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया. फिर मैंने भाभी जी को बेड पर लेटाया और उनकी चुत में लंड डाल कर चुदाई करने लगा.

पी लो तुम भी?मैंने कहा- मगर भाभी मैं अभी खाना बना रहा हूं और फिर खाने का समय हो जायेगा. अब वो पूरी तरह से चुदने के लिए तैयार थी और मैं भी इससे ज्यादा वेट नहीं कर सकता था. हम दोनों के शरीर पसीने पसीने हो गया था और हम दोनों ही चरम आनंद पर पहुंचकर साथ साथ लेट गई.

मैं तुम्हें अपने घर तो ले जा सकती हूँ अगर तुम बुरा न मानो तो?तो वो थोड़ी न नुकुर करने के बाद तैयार हो गया.

मैं कुछ बोलती कि इतने में राजीव मेरे दूसरी साइड में बैठ गया और मेरे दूसरे गाल पर किस करते हुए बोला- मधु जी मान जाइए ना … कसम से आपको भी बहुत मजा आएगा. मैंने पूरी झींक लगाते हुए फिर से लंड का झटका मारा, तो भाभी की आह निकल गई और मेरा पूरा लंड उनकी चुत में खो गया. भाभी ने झुककर चादर को देखा तो एक संतोष की सांस ली और आंखें बंद कर ली.

मैंने- नमकीन मलाई खिलाओगी?वो बोली- हां मगर वो आपको चम्मच से नहीं बल्कि चाट कर खानी पड़ेगी. मैं बोली- दर्द हो रहा क्या साले कुत्ते?मैंने उसकी गोटियों को छोड़ दिया. मैं बार बार यही सोच रही थी कि क्या जुगाड़ लगाया जाए कि सर मुझे चोद दें.

रवि भी रिया के सिर को पकड़ कर प्रेशर के साथ उसके मुंह में अपना लंड घुसाए हुए था. मैंने पूछा- इतनी जल्दी खलास हो गई?नेहा- एक तो मज़ा बहुत आया, दूसरे कुछ मन में यह भी था कि कहीं मम्मी न आ जाये?वो उठी और बाथरूम चली गई.

इसकी किस्मत में अगर ज़िन्दगी भर बिना चुदे रहना ही लिखा है तो कोई क्या कर सकता है. शांति के चूतड़ों के नीचे दो तकिये रखकर मैंने उसकी चूत हवा में टांग दी. वहां पर हमने बाथ टब के गर्म गर्म पानी में एक दूसरे के जिस्मों के सहलाया.

फिर मैंने एक गिलास में वोडका निकाल कर उसे चूमते हुए गिलास उसके होंठों से लगाया.

उसने राजेश की चादर को हल्के से दूसरी ओर से खींच तो लंड पूरा खुले में आ गया. लण्ड अंदर जाते ही भैंसा ने अपने चूतड़ों को दो तीन बार आगे पीछे किया और कुछ सेकंड रुक कर लण्ड बाहर निकाल लिया. अब आप लोग इतना अंदाजा लगा सकते हैं कि इतनी देर में मेरी कैसी चुदाई हुई होगी.

फिर …अच्छा जीजू सुनो तो सही एक मिनट!” निष्ठा ने मुझे पकड़ कर फिर से हिलाया. रिया- फिर बातें क्यों चोद रहे हो? आओ, शुरू हो जाओ।रमेश ने झट से अपना तौलिया उतार कर फेंक दिया और अपनी बेटी के सामने पूरा नंगा हो गया.

लेकिन उदय सर ने इतनी कसके मेरे बालों को पकड़ रखा था कि मुझे उनसे छूटना मुश्किल था. अपनी गांड बार बार सिकोड़ी फैलाई, सिकोड़ी फैलाई, चूतड़ उचकाए, चूतड़ के धक्के दिए. नीरजा ने अपनी टांगें खोल दीं- उफ्फ राज … तुमने मेरी बुर में आग लगा दी … आंह … बहुत अच्छा लग रहा है.

নেপালি বিএফ সেক্স

नेहा ने बड़ी बेचैनी से लिंग को कुछ देर और चूसने के बाद मुझे हाथ खींचकर बाथटब के अन्दर बिठा लिया.

अचानक रवि ने अपना लंड बाहर निकाल लिया और बोला- आह्ह रंडी, नीचे आ … मैं झड़ने वाला हूं. मैंने अपने लंड के टोपे को उसकी चुत के बाहरी हिस्से में घिसना शुरू कर दिया. मैं अपनी फीमेल स्टाफ को दो मर्दों से चुदते हुए देख कर मुठ मारने लगा.

आज प्रिंसीपल सर के लंड को चूस कर मैंने अपनी चुत के लिए मोटे लंड की खोज कर ली थी. जब मैं किसी लड़की की चुदाई करता हूं, तो वो लड़की पूरी तरह से तृप्त हो जाती है. सील टूटने वाला सेक्सीहम दोनों ने एक बार फिर से गिलास खाली किए और मैंने जेब से सिगरेट निकाल कर सुलगाई.

पायल ने मुस्कुराते हुए पास आकर कहा- अब आप प्रस्तुति के लिए तैयार रहें. हम दोनों धीरे से बिस्तर पर लेट गए, मैंने भाभी को पैरों से चूमना शुरू कर दिया.

मेरी चुदासी तड़पती साली के मुंह से निकली एक एक सिसकारी और एक एक शब्द मेरे अंदर मानो चिंगारी भड़का रहे थे। उसने मुझसे पोज चेंज करने को कहा तो मैंने उसे अपनी गोद में बैठा लिया. इससे मुझे अंदाज हो गया था कि कोमल बाहर से जिया की आवाज साफ सुन रही होगी. मैंने फिर से एक धक्का मारा और अबकी बार मेरा आधा लंड भाभी की चूत में घुस गया.

शायद पायल कुछ और ना पूछ ले, इस डर से प्रतिभा उसे थोड़ा हटाकर दूसरी बात करने लगी. रिया- चख लो सेठ, ऐसा मौका फिर मिले ना मिले।रमेश- रंडी तू बहुत ही बड़ी रांड है। रवि तू हट वहां से, जरा मैं भी चखूँ इसका स्वाद।रमेश रिया की गाँड के पास आ गया और रवि ने आगे आकर रिया के मुंह में अपना लंड ठूंस दिया. मेरी शादी हो चुकी है और मैं अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहता हूं.

मेरा दास विक्की अपने तने हुए लंड के साथ अपनी मालकिन के सामने घुटनों पर था जो अपनी मालकिन को प्यासी नजरों से देख रहा था.

[emailprotected]जिजा साली चुदाई कहानी का अगला भाग:चालू अमीर लेडी की वासना पूरी की. गेंहुए गोरेपन की धनी प्रतिभा का जिस्म बता रहा था कि उसे छूने पर चिकनाई का ऐसा अहसास होगा, जैसा कि मक्खन को छूने पर होता है.

अपनी रंडी की चूत को नोंचकर खा जा!मैंने उसकी मालपुआ जैसे चूत से लेकर नाभि, निप्पल, कानों को चाट चाट कर गीला कर दिया. कहते हुए उसने अपने बायें हाथ से सेक्स डॉल के लंड को अपनी गांड में घुसा लिया. आपको मेरी ये अंतर बासना सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें.

चूतनिवास[emailprotected]कहानी का अगला भाग:एक और टीवी एंकर की चुदाई-2. वो मुझे बोली- चोद इस रंडी को, साली कुतिया रोज अपनी चूत मुझसे चटवाती है. रिया ने रमेश के लंड को पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया और साथ ही वो रवि के लंड पर कूदने भी लगी.

कामसूत्र बीएफ हिंदी उसके दोनों मम्मे उसकी टी शर्ट से बाहर थे।मैंने देखा बच्चे के मुंह एक दो बूंदें दूध की लगी थी।अब मैं लवी का मम्मा तो चूस नहीं सकता था. मैंने कहा- अबे, ये क्या कर रही हो?उसने जैसे खुश होकर मुझे अपने ऊपर खींच लिया और बोली- कब से बोल रही हूँ … रुक जाओ रुक जाओ … तुम्हें समझ नहीं आ रहा था क्या?मैंने कहा- तो इसका मतलब क्या हुआ … तुम मूत दोगी?उसने हंस कर मेरे चेहरे को पकड़ लिया और मुझे गाल पर माथे पर होंठों पर खूब चूमा.

हिंदी बफ हिंदी बफ

मैंने उसे चुदाई की पोजीशन में लिया और अपना लंड उसकी चुत की फांकों से लगा दिया. अब तक की इस दोस्त की बीवी की चुदाई कहानी के पहले भागइंडियन सेक्सी भाभी की चुदाई का मौका-1में आपने पढ़ा था कि मेरे दोस्त की हसीन बीवी और मैं डांस कर रहे थे और इसी बीच हम दोनों के बीच चुम्बन का दौर शुरू हो गया. झट से मैंने लंड पर एक कपड़ा डाल लिया और कहा- बस अब नजर मत लगाओ भाभी जी … सीधे इस्तेमाल करके देख लेना.

अब मेरा लौड़ा फिर से विशाल रूप ले चुका था।उसका शरीर धीरे धीरे कांप रहा था। उसके मुंह से उसकी थरथराहट सुनाई दे रही थी। मैं बैठ गया और उसे देखकर हँसने लगा। उसने अपनी आंख खोली और मुझे देखने लगी।फिर खड़ी होकर मेरी बांहों में आकर बैठ गयी और धीरे से बोली- प्लीज जल्दी करो!फिर उसने मेरे लंड को हाथ में पकड़ा और अपनी चूत पर लगाकर उस पर बैठ गयी. इन सब बातों में दस मिनट हो चुके थे और इसी के बीच मीता मेरे लंड से बराबर खेल रही थी. बफ इंग्लिश पिक्चरक्या तुम ये बताने का कष्ट करोगी कि तुम तीनों इस कार की बैकसीट में क्या कर रहे थे? जरा बताओ कि वो दोनों सभ्य पुरूष किस पोजीशन में तुम्हारी शादीशुदा चूत को मार रहे थे इस वक्त? मुझे लगता है कि तुमने इस राइड का पूरा मजा लिया होगा क्योंकि तुम्हारी गाड़ी इसमें लगातार 20 मिनट तक हिलती रही थी.

मैंने उसको किस किया और उसके कंधे और गर्दन में सर घुसा कर तेजी से चोदने लगा.

फिर दोनों दोस्तों ने मिल कर रिया की चूत और गांड बेरहमी से बजाई और रिया भी दोनों मर्दों के लंड को झेल गयी. रंजु की भी चूत का पानी और मेरा पानी मिलकर एक सुखद अहसास दे रहे थे।हम तीनों थक कर चूर आएशा के साथ बिस्तर पर दुबक गए। सुबह होने का अनुमान कर भाभी नंगे बदन बाथरूम में जाकर फ्रेश होकर आ गई थी।सुबह नाश्ते वगैरह कर आएशा भाभी आत्मतृप्ति हो दुबारा चुदाई का वादा कर अपने मायके चली गई।इस तरह से हमारी ग्रुप सेक्स पार्टी खत्म हुई.

एकदम मक्खन सा चिकना शरीर न जाने कितने दिनों से किसी मर्द के सम्पर्क में नहीं आया था. मैंने ओके लिखा और जल्दी से बाथरूम में जाकर लंड की झांटें साफ़ करके चिकना चोदू बन गया. रूम में पहुंचते ही वो लोग मेरे पर फिर से टूट पड़े और हम लोगों ने फिर से थ्री-सम सेक्स किया और पता नहीं कब सो गए.

अरे अभी इतनी जल्दी कहां से ठीक होगा, जब तक इसका पानी नहीं निकलेगा तब तक मेरा पेट दर्द होता ही रहेगा.

मैं उसके मुंह से ‘लण्ड’ और ‘चूत’ जैसे शब्दों को सुनकर और भी ज्यादा उत्तेजित हो रहा था. ” कहकर सानिया मंद-मंद मुस्कुराने लगी थी।इसका मतलब तुम मेरी जलन को बिल्कुल ठीक नहीं करगी?”अले नहीं मैंने ऐसा थोड़े ही बोला है. ’ करके आवाज निकाली और अपने कंधों पर ही उसके हाथ को पकड़ कर मसलने लगा.

सेक्सी वीडियो गाना मारीइसलिए उसने अनिल से कहा कि वो अगर अब और ना पिए तो वो एक बहुत सेक्सी ड्रेस पहनेगी. सलहज ने फुर्ती से लंड को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से लंड चूसने लगी.

वीडियो चूत की चुदाई

मम्मी मस्त नशीली आवाज में बोलीं- हर्षद, अपनी आंखें फाड़कर क्या देख रहे हो? तुम बहुत बदमाश हो गए हो!ये कहते हुए मम्मी ने अपने एक हाथ से मेरे तने हुए लंड को पकड़ा और सहलाने लगीं. कुछ देर बाद सोच कर उल्टा मुझे धमकाते हुए बोली- नहीं मुझे तुम्हारी जरूरत नहीं है. नेहा लंड चाटते हुए नीचे जाकर मेरी गोलियों तक पहुंच जाती और उसे भी चूस चाट रही थी.

कमरे में ले जाकर एक कार्ड जैसी पुस्तिका देते हुए बहुत सी बातें बताई।सबसे पहले कहा- इसमें सभी सुविधाओं के लिए अलग-अलग नं. इतने चटपटे मेल आ रहे हैं कि सिर्फलॉकडाउन के किस्सोंसे पूरा ग्रन्थ तो मैं ही लिखने वाला हूँ. अंकिता भाभी जैसी अप्सरा मुझे चोदने को मिलेगी … मैंने सपने में भी नहीं सोचा था.

कुछ खून की बूँदें भी निकल आई। धीरे धीरे मैंने भाभी की गांड को चोद कर खोल दिया. मेरा लंड उसकी गांड में घुसने लगा और फिर …आप सबने मेरी Xxx कहानी भाभी की चूत की के पिछले भागजैसलमेर के रेत के टीले- 1https://www. इससे मेरी कोशिश थोड़ी ढीली पड़ने लगी और वो मेरे शरीर पर अपनी और ज़्यादा मज़बूत पकड़ बनाने लगे.

और दूसरी अप्सरा फटी हुई डिजाइन की जींस और ढीली शर्ट में थी, उसने अपना नाम सुमन बताया. इसीलिये मेरी बहन इतना मरती है तुम पर।’मैंने कहा- लेकिन आपकी बहन आपके जितना मज़ा नहीं देती.

चलते ही पहले स्पीड ब्रेकर पर मैं आगे खिसक गया और मेरा लंड उस सेक्सी गर्ल की गांड पर जा लगा.

मगर मुझसे नहीं रहा गया तो मैंने आवाज देते हुए कहा- आप सलीम भाई हैं न … सलाम. धंदेवाली का मोबाइल नंबरउसके घर वाले किसी शादी में जाने वाले थे और उसने पढ़ाई का बहाना करके जाने से मना कर दिया तो उसके घर वालों ने मेरी मम्मी को 2 दिन के लिए मुझे उनके घर सोने को बोल दिया और आखिर हम भी तो यही चाहते थे. प्यासी जवानीमैंने बोला- बताऊं!उसने आखें नचाईं … तो मैंने आगे बढ़ कर उसके गाल पर चूम लिया और बोला- मुझे तो ये पसंद है. मगर मेरा ये दोस्त अपनी किस्मत को लेकर बहुत परेशान था क्योंकि उसने चूत का केवल नाम भर ही सुना था.

हाय दोस्तो, मैं शुभम अपनी मेरी न्यू सेक्स स्टोरी इन हिंदी का दूसरा भाग लेकर आया हूं.

कहकर फोन रख दिया।आज मैं सोचने पर विवश हो गया कि खुशी मुझसे सचमुच प्यार करती है या मुझे अपने मतलब के लिए फांस रही है? फिर मैंने सोचा कि चलो ठीक ही है, सुंदर हसीनाओं का शरीर मुझे उपहार में मिल रहा है. शायद प्रीति को भी अहसास हो गया था कि मैं यह सब जानबूझकर कर रहा हूँ तो प्रीति ने एकदम से मेरी पैंट की जिप पर हाथ रखा और मेरे तने हुए लंड को दबा दिया. वो अपने हाथ से मेरी मिडी उठा कर मेरी चूत में उंगली कर रहा था, जिससे मैं गर्म होने लगी थी और दोनों का साथ दे रही थी.

तो फिर क्यों जाना चाहते हो?मैंने उसकी इस बात का कोई जवाब नहीं दिया. उसके चुम्बनों में एक अलग सी लज्जत थी, जिससे मैं समझ गया था कि ये लौंडिया कौन है. वहां हो रहे कालबेलिया डांस और फोक संगीत को देख कर वह बहुत खुश हुई और मुझे ‘थैंक यू’ बोला.

भोजपुरी में एक्स एक्स

पलंग के पास खड़े होकर चाचा ने अपना लण्ड हमें चूसने को कहा तो हम चूसने लगे. वो फिर से झड़ने लगी थी और ढेर सारा पानी अपनी चूत से निकाल कर शांत हो गई. मैं मीठी कराह से बोला- आह रीना अब बस भी करो मेरी जान … मुझे चुत से लंड चुसवाना है.

मैं उनके फ़्लैट में गया तो क्या हुआ?इसके पश्चात चार दिनों तक रोज़ कई कई बार व्हाट्सएप्प पर बातें होती रहीं दोनों रानियों से.

थोड़ी देर ऐसे ही चिपके रहने के बाद उसने मेरे सीने पर जोर से काटा और वो अपने होंठों में मेरे सीने की घुंडियों को दबा कर चूसने लगी.

रमेश- तो तू नहीं मानेगा?रवि- सवाल ही पैदा नहीं होता।रमेश हार कर बोला- ठीक है, तो फिर मैं ही जा रहा हूं. मुझे यही उपाय पता था सो किया मैंने!” वो बोलीथैंक्स निष्ठा, पर बुखार तो दवाई से भी उतर जाता न!” मैंने कहा. औरत की चूत की फोटोडांस में जिसकी जितनी हिम्मत होती वो उतने कम कपड़ों में डांस कर लेती.

आह …” कहते हुए उसने मेरी पीठ पर अपने हाथ कस लिए।अब मैं भी इतना बेरहम नहीं होना चाहता था। मैंने थोड़ी देर के लिए रगड़पट्टी बन्द कर दी। नताशा लम्बी-लम्बी साँसे लेने लगी थी। थोड़ी देर हम ऐसे ही लेटे रहे।प्रेम?”हम्म?”एक बार तुम मेरे ऊपर आ जाओ ना प्लीज!”जान मैं ऊपर ही तो हूँ. बेबी रानी का कहना था कि उस दिन क्या … पिछली शाम से गुड्डी रानी कई बार चुद ली. भाभी मेरे लोअर में हाथ मारने लगी और लंड पकड़ कर बोली- ये आज क्यों सुस्त है?मैंने कहा- कल की तैयारी में है.

मैंने नेहा के टॉप को ऊपर करके निकाल दिया और अपनी पैंट और अंडरवीयर निकाल कर अलग रख दिया. फ्री कामुकता सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी कमसिन कामवाली को तोहफे देकर लुभा रहा था.

मेरी पहले वाली कहानियां पढ़ पढ़ के इन दोनों को चुदाई के बाद लंड को जीभ से साफ करने में आनंद आने लगा था.

मुझे माथे पर कुछ ठंडक सी महसूस हुई तो देखा कि मस्तक पर कपड़े की गीली पट्टी रखी है. मैंने उसके मुँह से ये सब सुना, तो मैं गनगना उठा और उसकी चुत को भंभोड़ने लगा. कविता ने रवीना के मम्मी पकड़ लिए और अपने होंठ रवीना के होंठ से मिला दिए.

सेक्स करते हुए सेक्सी आंटी की गीली चूत को देखते हुए मैं जोर से मुठ मार रहा था और आनंद में डूबा जा रहा था. कुल मिलाकर एक मस्त लौंडिया थी जिसमें कामुकता कूट कूट के भरी हुई थी.

भाभी की चूत इतनी साफ और सुंदर थी कि कुंवारी लड़कियों की तरह से चमक रही थी. असल में रवि रवीना के पास से बजाये अपने रूम में जाने के नीचे गया था और नैन्सी की सीत्कारों से उसे भी सारा माजरा समझ में आ गया था. वो मेरे लण्ड को सहलाते हुए बोली- आज का क्या प्लान है, आज क्या नया करोगे डार्लिंग?उसके इस अंदाज से मेरे पूरे शरीर में करंट दौड़ गया.

गांड चुदाई सेक्सी

सुमीना को मैंने व्हाट्सएप मैसेज किया कि थोड़ी देर में शिवानी भाभी तुमको लेने के लिए आ रही है. मम्मी मस्त नशीली आवाज में बोलीं- हर्षद, अपनी आंखें फाड़कर क्या देख रहे हो? तुम बहुत बदमाश हो गए हो!ये कहते हुए मम्मी ने अपने एक हाथ से मेरे तने हुए लंड को पकड़ा और सहलाने लगीं. बाप बेटी का सेक्स पढ़ें कहानी के इस भाग में! दो दोस्तों ने होटल में रात रंगीन करने के लिए एक कॉलेज गर्ल की चुदाई का प्लान बनाया.

तभी नेहा संजय के लंड पर जीभ से थूक लगाते हुए बोली- अब हम बदला लेंगीं. इसलिए मैं इन सबका प्रयोग नहीं करता हूँ।अगर आप अपनी शक्ति को बढ़ाना चाहते हैं तो आप शुद्ध शिलाजीत ले सकते हैं.

जोदिल्ली सेक्स चैट वेबसाइटकी एक बहुत ही बोल्ड, शरारती और कामुक वेबकैम मॉडल के साथ हुआ था.

उसके रूम का दृश्य सुहागरात के जैसा बना हुआ था, मगर मैं उसको अपनी मां के रूप में देखना चाह रहा था. मैं हल्का सा मुस्कुराई और उसकी टाँगों के बीच मुंह लेजाकर उसके लंड को हाथ से ऊपर से नीचे तक सहलाया और धीरे धीरे किस करने लगे।सुनील ने हल्की सी आह … भरी और बोला- पूरा चूसो ना।मैंने अब बिना देर किये ऊपर से उसका लंड अपने मुंह में लिया और हलक तक अंदर लेती चली गयी। मैंने अब ज़ोर ज़ोर से लंड को ऊपर नीचे चूसना शुरू कर दिया. मेरी लोअर में तना हुआ मेरा लंड उसकी लोअर के ऊपर से ही उसकी चूत में घुसने को हो रहा था.

बेड शीट धोते समय उसे एक जगह कड़ापन महसूस हुआ, वो समझ गयी कि राजेश ने मुठ मारा है. टीन फर्स्ट टाइम सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपनी युवा कामवाली की कुंवारी बुर की सील तोड़ी तो क्या हुआ और कैसे हुआ. साइट पर जरूर विजिट करें औरअस्मि जैसी हॉट इंडियन कैम मॉडलके साथ एक बार मजा जरूर लें.

अगर आप भी कभी अकेलेपन में बोर हो रहे हो या अपने लिव इन पार्टनर से बोर हो गये हो तो दिल्ली सेक्स चैट बहुत ही उम्दा ऑप्शन है.

कामसूत्र बीएफ हिंदी: जवाब आपको ही देना है।मैंने तुरंत सचिन को हाँ कह दिया और कहा कि उन्हें मेरा नम्बर दे देना।सचिन को पता नहीं क्या हुआ उसने तुरंत ही मेरा नंबर उन्हें दे भी दिया।उसने कहा कि कुछ समय बाद वो आपको फ़ोन करेंगे।रात 11 बजे तक मैं इतंजार करती रही।11 बजे मेरे फोन पर अंजान नम्बर से फोन आया।मैं समझ गई कि उन्ही का फोन होगा।मैंने फ़ोन उठाया सामने से एक मोटी सी आवाज आई. हम दोनों चुदाई करना चाहते थे तो मैंने थियेटर में में चुदाई का प्लान किया.

फिर मैंने अपने अंगूठों से उसके नितम्बों को फैला दिया और बोला- रजनी, तुम्हें नहीं पता कि इस खूबसूरत कली और इसकी खुशबू को मैंने कितना मिस किया है. बेबी रानी थोड़ी निराश तो थी मगर यह शर्त सबने मानी थी इसलिए कुछ बोली नहीं. मुझसे रहा नहीं गया और उसी टाइम मैंने मुठ मार ली, जिससे मुझे कुछ शांति मिली.

वो तुरंत बाज़ार जाकर ढेर सारी ब्रेड, बन्स, चीज, और न जाने क्या क्या ले आया.

मैं सीधा होकर अब अहिस्ता अहिस्ता अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा, तो मम्मी भी अपनी गांड उठा उठाकर मेरा हथियार अपनी चुत मे ले रही थीं. राजेश ने बड़ी आहिस्ता से मोबाईल की टोर्च से उसकी टांगों के अंदर झाँकने की कोशिश की पर कुछ नजर नहीं आया. अब क्यों तरसा रहे हो आप …जल्दी से चुदाई करो न, अब रहा नहीं जाता!”इसके बाद हमारे लंड-चूत के बीच वो भीषण संग्राम छिड़ा कि जिसका वर्णन करूं तो सब रिपीट ही लगेगा.