एक्स एक्स ब्लू बीएफ

छवि स्रोत,क्रिकेट सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी+पिसातुरे: एक्स एक्स ब्लू बीएफ, मेरी दोनों टांगों को उठा कर अपने कंधे पर रख कर फिर एक बार मेरी चूत में अपना लन्ड सेट किया; अब फट फट की आवाज़ के साथ फिर से मुझे चोदने लगा.

गुरु जंभेश्वर

लेकिन जब मेरे साथ भी कुछ ऐसा घटना घटी, तब से मुझे पूर्ण विश्वास हो गया है कि यहां सब कहानियां सच्ची होती हैं. कैटरीना का सेक्सी वीडियोमैं उस समय वहाँ सेक्टर-23 में अकेला रहता था। बीवी-बच्चे यूपी में मेरे गांव में रहते थे.

अब अंकल के जाने के बाद वो मकान मालकिन आंटी घर में बेटी के साथ रह गयी. चारबाग लखनऊउसके बाद मैंने उसका सौदा अपने दोस्त के साथ किया और हम तैयार होकर उसके रूम पर पहुंच गये.

पूरे 5 साल बाद मैं घर आया था, तो बाहर निकलते ही सभी पूछ रहे थे कि कब आया … कैसा है.एक्स एक्स ब्लू बीएफ: और जब पूरा लन्ड अंदर पर हो गया तो वो अगले ही पल अपनी फूल स्पीड में राजसी की गांड भी चोदने लगा।कुछ देर तक तो राजसी चिल्लाई और रोई.

उनके मम्मे और गांड इतनी मस्त है कि जो भी चाची को एक बार देख ले, तो खुश हो जाए.सन्नो- अरे वाह मुनिया रानी, भाई के लंड का पानी तुझे दारू जैसा नशा दे गया क्या … जो सोये जा ही है.

पापा ने लंड पर झुलाया - एक्स एक्स ब्लू बीएफ

चाची ने कराहते हुए कहा- आह धीरे कर … मैं कई दिनों से चुदी नहीं हूँ.झांटें साफ होने के बाद इशिका की चुत गोरी मक्खन की तरह दिखाई देने लगी.

कुछ पलों बाद स्यू मामी बोलीं- बेबी, अब और नहीं रहा जाता … डाल दो और देर न करो. एक्स एक्स ब्लू बीएफ मैं सोच रहा था कि काश कोई मेरी भी सेटिंग होती और मैं भी उसके साथ ऐसे ही मजे करता.

और यह देख कर भी कि मेरे कारण उसकी जिंदगी में खुशियां आ गई थी।हम दो दिन वहां रूके.

एक्स एक्स ब्लू बीएफ?

करीब 11 बजे जब साड़ी ब्लाउज पहने अम्मी किचन में खाना बना रही थीं, तो मैंने अम्मी से पूछा कि अम्मी क्या मैं एक दोस्त के यहां स्टडी के लिए चला जाऊं … मैं एक घंटे में आ जाऊंगा. करके ध्वनि निकलती तो लगता था मानो मैं आनंद के सागर में गोते लगाने लगता था. मैंने उनके एक मम्मे को अपने मुंह में लिया और दूसरे को अपने हाथ से दबाने लगा।मैं जीभ से उनके निप्पल को चाट रहा था.

मैडम की ये हरकत देख कर मुझे कुछ समझ ही नहीं आया कि ये सब क्या हो रहा है. कुछ ही देर में हम दोनों पति पत्नी पूरे नंगे होकर बैठ गए थे और लंड चुत का मजा ले रहे थे. मैं शालिनी को अपनी बहन मानता था, लेकिन जैसे जैसे में बड़ा हुआ और समझदार हुआ, तो मुझे पता चला कि वो मेरी सगी बहन नहीं है.

मैडम- तुमको ये कैसे अंदाजा हो गया है कि मैं 70 किलो की होऊंगी?मैंने कहा- वैसे ही अब मैंने आपको कोई तौला थोड़ी है जो सही सही बता देता. अब तुम देर ना करो, आज इसकी बुर का मुहूर्त कर ही दो, तो बस मेरी इच्छा भी पूरी हो जाएगी. फिर वो अस्मा के चूचे मसलते हुए बोला- अस्मा तेरी चूत तो बहुत जल्दी मैदान छोड़ गई.

उस दिन निकिता मैडम ने क्या मस्त इत्र लगाया था, मैं एकदम मदमस्त हो गया था. अब जैसे ही सेक्स सीन चालू हुआ, मैंने राज का लंड शॉर्ट के ऊपर से सहलाना चालू कर दिया.

मेरी नजरों के सामने चाची के गहरे गले के ब्लाउज में उनकी चूचियां बहुत ही मस्त लग रही थीं.

जब मुझे लगा कि हनी की चूत अच्छी तरह से गीली हो गई है तो मैंने अपनी जींस उतार दी.

मुझे क्या दिक्कत होगी!उन दोनों की बात सुनकर हम दोनों बाहर हक्के-बक्के रह गए. उस छोटे हाफ पैंट से मेरी गोरी जांघें और हाफ टी-शर्ट के कारण मेरा चौड़ा सीना भी साफ झलक रहा था. मेरे नथूनों में आ रही उसके जिस्म की खुशबू से मेरा लंड तुरंत खड़ा हो गया.

उधर दरोगा को चुत की फांकों में लंड का सुपारा घिसने में मजा आ रहा था. आंटी सोफे से नीचे उतर कर फर्श पर दोनों हाथों को आगे झुकाकर घुटनों पर आ गई. मैंने सोनू से कहा- ये सब क्या है? तुमने तो कहा था कि तुम ही चोदोगे, ये तो 4-5 हैं.

अब उसने अपने हाथ से मेरे पेट को दबा कर मुझे हल्का सा पीछे करने की कोशिश की जिससे उसका लन्ड मेरी गांड पर ज़ोर से टकराया.

एक बड़ी रस्सी लायी गयी और कोमल के 36 के बूब्स को कसकर बांध दिया गया. मेरा रस गिरने वाला था, तो मैंने पूजा की गांड में थप्पड़ मारना चालू कर दिए. मेरा सम्पर्क एक ऐसी महिला से हुआ जिसे सेक्स संतुष्टि के साथ साथ दिली प्यार की भी जरूरत थी.

अब्बू ने आंखें बंद करे करे ही करवट ली और बोले- अभी सोने दो न … एक घंटे बाद उठूंगा. उसकी ये नाइटी पारदर्शी थी, जिसमें से उसका जिस्म बड़ा ही कामुक लग रहा था. फिर मैंने उसकी पैंटी को हल्का सा साइड किया और उंगली अंदर पैंटी में दे दी.

मैंने कहा- किधर चलना है मेम?उसने मेरी चौड़ी छाती देखते हुए कहा- आज नहीं, कल से मेरे साथ चलना.

फिर उन्होंने कुछ सोचते हुए उससे कहा कि बेटा यह तुम किसी से मत कहना. वो दरअसल लैट्रीन कर रही थी और उसी के साथ उधर से ही दूसरी औरत से बात कर रही थी.

एक्स एक्स ब्लू बीएफ वो बहुत कम समय में अपने पैसों की ताकत और राजनीतिक काबिलियत के दम पर आगे बढ़ता जा रहा था।एक मर्तबा पार्टी के एक कार्यक्रम में सुयश की मुलाक़ात समता से हुई. चाची की चूत चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी चाचीजान कुछ दिन के लिए हमारे घर रहने आयी तो उनका सेक्सी जिस्म देख मेरा वासना जाग उठी.

एक्स एक्स ब्लू बीएफ सायली- ज्यादा मुँह मत चला भोसड़ी वाले … लंड चला, बहुत दिनों बाद चूत में पानी गिर रहा है. मैंने उनके ऊपर से नीचे उतारा और उनकी सलवार को नीचे पकड़ कर खींच दिया.

मैं हर बार की तरह उस दिन भी उसकी चूत में लंड डाल कर उसे ताबड़तोड़ चोद रहा था और घोड़ी बना कर पीछे से उसकी चूत को चोद कर उसको मजा दे रहा था.

बीएफ लड़की और घोड़ा

मैं ये सब डिलीट कर दूंगा फोन में से।आंटी- डरो नहीं, कुछ नहीं कहूंगी तेरी मम्मी को, ये बताओ कि गर्लफ्रेंड है क्या तुम्हारी?मैं- नहीं आंटी, अभी तक तो कोई नहीं है, आप मोबाइल दे दो मेरा!मोबाइल मेरे हाथ में देते हुए वो बोली- फोन में लॉक लगाकर रखा करो. जब मैं उठी … तो भाई साहब के लंड का पानी मेरी जांघों से बहता हुआ नीचे जा रहा था. मैंने जेनिल से पूछा- तुम्हारी उम्र कितनी है बेबी?उसने कहा- मैं 21 की हो गई हूँ.

इसी तरह साहिल ने काफी देर राजसी की चूत फाड़ने के बाद अपना माल उसकी चूत के मुहाने पर गिरा दिया जो टपक टपक कर नीचे चादर पर गिरने लगा।चूत चुदाई का एक दौर समाप्त होने के बाद राजसी साहिल के ऊपर ही लेट कर उसके होंठों को चूमने लगी और बोली- मुझे तुमसे अपनी गांड का भी उद्घाटन करवाना है. उनकी इस बात से मैं पूरे जोश में आ गया और उनके ऊपर चढ़ कर उनके साथ मस्ती करने लगा. हनी के होंठ छोड़कर मैं उठा और हनी की टाँगें अपने कंधों पर रखकर उसे धीरे धीरे चोदने लगा.

अब जो आदमी कोमल की चूत चोद रहा था उसको सोनू ने गांड चोदने को कहा और खुद उसकी चूत चोदने लगा.

यह कहानी एक भाभी की की चुदाई की शुरुआत की कहानी है जो उन्होंने खुद मुझे बतायी थी. मगर जब यहां मीता की कमसिन जवानी को डॉक्टर और रवि भोग रहे थे, उसी समय दूसरी जगह आप सबकी चहेती सुमन के साथ भी कांड हो गया था. संगीता मुझसे दूर खिसकी और थोड़े पल बैठकर अपने बेडरूम की ओर जाने लगी.

अब आगे:आंटी ने अपनी टाँगें चौड़ी कर लीं और मुझे अपने ऊपर आने का इशारा किया. वो भी जैसे अपना पूरा वजन मेरे ऊपर पीछे की ओर मेरे लंड पर डाल रही थी. अरे यार, अब ये क्या हो गया बीच में कौन आ गया … चुदाई का पूरा मज़ा बेकार हो गया.

डिब्बे में पूरा अंधेरा था और बस बीच में एक लाइट जल रही थी और उसके बाद दरवाजे के साथ वाली लाइटें जली हुई थीं. जब मेरी एम एस सी के पहले वर्ष की पढ़ाई शुरू हुई, तो मैंने कॉलेज में एक लड़की को देखा.

आज अपन दोनों करेंगे न पार्टी … खुश!मैंने चौंकते हुए पूछा- नूपुर … तू भी दारू पीती है क्या?तो वो हंसी और बोली- नहीं, मैं पीती तो नहीं हूँ … पर आज तेरे लिए ट्राई करूंगी. मैंने जैसे ही अपना मुँह खोला की संगीता ने अपनी लार से मेरा मुँह भर दिया और फिर अपने होंठों को मेरे होंठों पर जड़ दिया. पहले भागचुदाई के साथ मानसिक सुख की कामना- 1अब तक आपने पढ़ा कि मैडम मेरी बांहों में थीं और उनकी मदमस्त चूचियां मेरी धड़कनें बढ़ा रही थीं.

मैंने जल्दी से हाथ में दूध का डिब्बा लिया और पड़ोसन के घर से दूध लाने बाहर निकल आया.

जीजू ने भी दीदी के सिर को पकड़ लिया और उसके मुंह को जोर जोर से चोदने लगे. माँ की गांड चुदाई की हसरत थी तो वो पूरी नंगी होकर अब्बू के कमरे में चली गयी. ”एक मैं, एक अंकल और बाकी दो?”आगे टीचर सेक्स की स्टोरी:बाकी दो तब की बात है जब मेरे इण्टरमीडिएट के फाइनल प्रेक्टिकल हो रहे थे.

चाची- क्या?मैं- मतलब आपका का मन है चाची, जिसका चाहे उसका दूध पिला दो. जिस घर में वो लोग रहते थे उसमें उसके पापा के भाइयों का भी हिस्सा था और वो सब बाहर रहते थे.

आंटी सोफे से नीचे उतर कर फर्श पर दोनों हाथों को आगे झुकाकर घुटनों पर आ गई. उसकी चुत पर उसने वैक्स किया हुआ था, जो हाल ही में उसने किया होगा क्योंकि चुत पर एक भी बाल नहीं था. फिर मैंने भी हिलना डुलना बंद कर दिया और उसकी अगली हरकत का इंतज़ार करने लगी.

इंडिया बीएफ सेक्सी हिंदी

मेरी आंखें बंद हो गईं और मैं बस चाची से अपने लंड को चुसवाते हुए मस्त आवाजें करता रहा.

लगभग 2 बजे 2 डॉक्टर आये, सारे डॉक्टर मर्द थे।फिर जब कोमल को देखा और बोला कि तुम नंगी क्यों हो और ये चूत और गांड में क्या है? फिर कोमल ने सारी बात बताई. [emailprotected]सेक्सी लड़की की वासना की कहानी का अगला भाग:कुंवारी पड़ोसन को बियर पिलाकर मस्त चोदा- 2. तो तुझे समझ आ गया कि मैं किस बारे में बात कर रहा हूँ?”हां बिल्कुल, बस मैं तेरा ही इंतज़ार कर रही थी कि तू कब पूछेगा, पर तूने पूछने में बहुत टाइम लगा दिया.

बाथरूम में गया मैं … तो देखा सेक्सी ऐक्ट्रेस बाथटब में मजे से नहा रही थी. वह फिर अपना मुंह खोलकर बोली- हां अंकल! उसको कॉल की थी मैंने तो वह बता रहा था कि बाहर है और एक घंटे के अंदर आ जायेगा. सेक्सी कैटरीना कैफअगले दिन सुबह आठ बजे की ट्रेन से मेरे दोस्त वापस चले गए और मेरा साथ वाला भी दोस्तों के साथ गांव चला गया … तो मैं भी अकेला था.

संगीता ने उसकी ब्रा और पेंटी को हाथ में लिया और अपने बेडरूम की ओर चलने लगी. कोई दस मिनट की लगातार चुदाई के बाद मामी ने शायद अपना रस छोड़ दिया था.

मैंने कहा- मत रो मामी, आज से मैं आपको हर वो सुख दूंगा … जो आपको सही मायने में अब तक मिला ही नहीं. उफ्फ … जो तेरा मन आए बोल दे मेरी जान, मैं तो बस तेरे लंड पर कुर्बान. मैंने उसको अपनी बांहों में लिया और पीछे हाथ ले जाकर उसकी ब्रा के हुक को खोल कर उतार दी.

मैंने देखा उसके बूब्स लाल हुए पड़े हैं।मैंने उसे उठाया और जल्दी से नहाने के लिए कहा. मेरे पति घर में एक कमरे में सोते रहते थे और बॉस मुझे रोज चोदने घर आया करते थे. आसिफ़ ने गोद में लेकर मुझे बेड पर लिटाया और मेरी ब्रा को खोलकर मेरे बूब्स पीने लगा.

कुछ देर बाद हम दोनों अलग हुए और बाथरूम में जाकर एक दूसरे को साफ़ किया.

जेठ जी ने मेरी कमर को सहलाते हुए मेरे दोनों मम्मों को पकड़ लिया और एक दूध को मुँह में डालकर चूसने लगे. उसकी चिकनी कमर पर हाथ फिराते हुए मेरा लंड उसकी जांघ से टकरा रहा था.

अब आगे जीजा साली सेक्स की कहानी:वो बोले- क्या हुआ अंजलि?मैंने कहा- कुछ नहीं जीजू, सिर घूम रहा है बहुत तेज!जीजू- कोई बात नहीं, भांग का असर दिमाग में चढ़ गया है, थोड़ी देर में सब ठीक हो जायेगा. उसका लंड अब मेरी बच्चेदानी से टकरा रहा था जिससे मुझे और ज्यादा मजा आने लगा. वो लंड को अपनी चुत की फांकों में रगड़ने लगी और मैं अपने हाथों से उसके चुचे दबाने लगा.

अब मेरे दिमाग में और मेरी चूत में बस वो साहिल का लौड़ा ही घूम रहा था।मैंने सोचा क्यों ना ये मेरी ज़रूरत पूरी कर दे क्योंकि मैं भी बहुत प्यासी हूँ. रवि- चल उठ साली … अब मेरा लंड चूस … भैन की लौड़ी इसमें गर्मी आने लगी है आह आज इसका पूरा रस निकाल दे. उनकी बड़ी बड़ी 36 इंच की चूचियां एक लयबद्ध तरीके से सांसों के साथ उठ बैठ रही थीं.

एक्स एक्स ब्लू बीएफ संगीता ने अपने दोनों हाथों को पीछे की तरफ मोड़ कर अपनी ब्रा के हुक खोल दिए, लेकिन ब्रा को अपने स्तनों पर लटकने दी. वो धन्यवाद देने मेरे घर आई तो …कैसे हैं आप सब?दोस्तो, मेरा नाम सिंधू है। मैं यूपी का रहने वाला हूं।काफी दिनों से सोच रहा था कि आप सबके साथ अपनी कामुक स्टोरी हॉट भाभी की साझा करूं।तो आज मैं आपको अपनी सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हूं.

बीएफ सेक्सी मध्य प्रदेश

मैंने कहा- संसार में आज तक किसी की चुत नहीं फटी है, ये बनी ही लंड लेने के लिए है. उन्होंने कहा- नहीं यहां नहीं … ये भी कोई मुँह लगाने की जगह है!मैंने कहा- स्स्स्स्स … आप बस चुप रहो और बस इस पल को एन्जॉय करो. शायद मैंने पहली बार चखा था किसी के वीर्य का स्वाद!अब मैं नीचे आ गयी और वो कुछ देर बाद वहां से चला गया।कुछ देर बाद हम लोग खाना खाकर लेट गए.

आते ही वो चहक कर बोली- और विजय … कैसे हो!मैंने बोला- बस ठीक हूँ … और आप!अंकिता- मैं एकदम बढ़िया हूँ. तो मैंने उसे बताया कि मैं अभी झड़ा नहीं हूँ और अभी और चोदना चाहता हूँ. गाड की फोटोदस मिनट बात करने के बाद मैंने फोन काट दिया … क्योंकि अभी मेरा पूरा ध्यान प्रिंस पर ही लगा था और फिलहाल मौका भी अच्छा था.

फिर उन्होंने मुझे घुटनों पर बैठा लिया और मेरे सामने आकर खड़े हो गये.

वो भी अब काफी गर्म हो गयी और मेरे होंठों को जोर जोर से किस करने लगी. पूरे कमरा भाभी की मादक सिस्कारियों और मेरी तेज साँसों से भर गया था.

मैंने उनसे और कुछ पूछना चाहा, तो उन्होंने कहा कि मैं तुम्हें सब कुछ बताऊंगी … कल हम मिल ही रहे हैं. मैंने उसे नीचे लिटाया और उसकी लैगी और अंडरवियर उसके शरीर से अलग कर दी, अपनी टी-शर्ट भी निकाल दी. मगर कहीं ये मेरे लंड से चुदते हुए मर ही गयी तो क्या होगा? क्योंकि साली इतनी मरघिल्ली और छिली मूंगफली सी तो है.

अंकल कहते थे कि वो मेरी हर इच्छा पूरी करेंगे और मुझे हर सामान लाकर देंगे.

फिर उस रात को मैं खाना खाकर टहलने के लिए गया तो आंटी और उनकी बेटी के लिए आते हुए मैं आइसक्रीम ले आया. मैं ज्यादा अन्दर नहीं ले पा रहा था, तो उसने अपने एक हाथ से मेरे सर को ज़ोर से पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगा. उनके मुँह से गाली सुन कर मैं और जोश में आ गया और चाची की चूत में स्पीड से झटके मारने लगा.

सेक्सी विदेवमेरे आने के बाद अंकिता ने हॉल की सभी खिड़कियां बंद कर दीं और सारी लाइट्स बंद कर करके बिस्तर के पास गई. फिर हस्बैंड नाश्ता करके चले गए, बेटा भी नाश्ता करके खेल रहा था और बेटी सो रही थी.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी गांव की

पूजा ने बाथरूम में जाकर कॉल लगाया, तो मैंने कॉल उठा लिया और उससे कहा- जल्दी से कपड़े खोलो. यही सब प्यार मुहब्बत की बातें करते करते कब हमारी नींद लग गई, कुछ पता ही नहीं चला. तो तुझे समझ आ गया कि मैं किस बारे में बात कर रहा हूँ?”हां बिल्कुल, बस मैं तेरा ही इंतज़ार कर रही थी कि तू कब पूछेगा, पर तूने पूछने में बहुत टाइम लगा दिया.

मेरी 36-24-38 की मादक फिगर और खूबसूरत एकदम गोरी रंगत वाली मेरी बॉडी मेरे पीछे पूरे कॉलेज के लौंडे चांस मारा करते थे … और मैं राज पर मरती थी. मजा आ रहा है ना दोस्तो मेरी गर्म सेक्स की कहानी में?[emailprotected]गर्म सेक्स की कहानी जारी रहेगी. पांच मिनट के बाद जीजू ने मेरी कमर को कस कर पकड़ लिया और पूरी ताकत से धक्के लगाने लगे.

मैं उसके घर पहुंचा और सभी से मुलाकात करते हुए उसके रूम में जाकर आराम करने लगा. उधर मेरी हीरोइन ने कुतिया की तरह बन कर पोजीशन बना ली थी और वो मेरे लंड चुत में घुसने का इंतज़ार कर रही थी. मैं बोला- तो फिर आप क्या करते हो?दीदी बोली- मैं उंगली से काम चला लेती हूं.

उसने मेरे दोनों पैर बांध दिए, जिससे मेरी चुत और गांड दोनों उसके सामने खुल गई थीं. अभी मार्च 2020 में अस्मा गर्भ से हो गई है और कासिब और अस्मा दोनों आपस में शादी करने की जिद कर रहे हैं.

अब चाचा अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों कंधों को दबाकर वैसे ही रुक गये और मुझसे बोला- शईमा, तुम तैयार हो।मैंने आँखें खोलकर उसे एक मौन स्वीकृति दी.

दीपक मेरी लोअर और पैंटी उतार कर मेरे पैरों के बीच में आ गया और मेरे ऊपर झुक कर चूचों से खेलने लगा. भोजपुरी लड़कियों का फोटोसबकी चूत गांड पहले से फटी थी।पहले राउंड में साहिल 45 मिनट बाद पहली बार झड़ा. मनीषा नाम की लड़कियां कैसी होती हैमेरी मस्त चुदाई स्टोरी अच्छी लगी या नहीं? मुझे ईमेल करें और मुझे बतायें कि स्टोरी आपको कितनी पसंद आई. जैसे ही वो कमरे में आई, मैंने उठकर उसके गोरे गोरे गालों को पकड़ कर उसके होंठों पर किस किया.

उस झटके से मेरी मामी का हाथ जो मेरी जांघों पर था, वो मेरे लंड पर आ गया.

बलराम ने एक सिगरेट सुलगाई और कश लेकर कहा- साली छिनाल इतनी गर्मी कहां से आई तेरे अन्दर … इतना स्वादिष्ट रस था तेरा … आह बता ही नहीं सकता. मैंने कहा- चलिए, ईश्वर की कृपा से ऐसा ही हो … लेकिन अगर आप मुझे दोस्त मानती हैं, तो प्लीज़ मुझे हर बात बताइएगा. दोस्तो, ये सच लिख रहा हूँ कि मैं उसके लंड को देख कर इतना बौरा गया था कि सही से बयान भी नहीं कर पा रहा हूँ.

उसने कहा- ऐसा करना पड़ता है क्या?मैंने कहा- हां … इसी से प्रजजन सही से होता है. मैंने कहा- किधर चलना है मेम?उसने मेरी चौड़ी छाती देखते हुए कहा- आज नहीं, कल से मेरे साथ चलना. मैंने कहा- हां, बियर में सोडा ही तो होता है … अल्कोहल तो नाम मात्र का होता है.

हिंदी बीएफ पिक्चर हिंदी पिक्चर

वो तेज आवाज में रोने लगी और बार बार बोलने लगी- जान बाहर निकालो … नहीं तो मेरी गांड फट जाएगी. मैं उसके रूम में गया और उसके बेड पर लेट गया।अब मुझे नींद नहीं आ रही थी। ना जाने कहाँ गायब हो गई थी।मैं यही सोचे जा रहा था कि कितना बड़ा दिल है प्रिया का, बहुत प्यारी है ये लड़की।इतने में प्रिया बोली- क्यों क्या हुआ? सो जाओ। नींद नहीं आ रही क्या?मैंने कहा- नहीं यार, नींद पता नहीं कहाँ गायब है। तुम बाद में पढ़ लेना. उसने मेरे इशारे को समझा और अपनी टांगें मेरी टांगों के दोनों तरफ करते हुए मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़कर अपनी चुत पर सैट कर लिया.

[emailprotected]हॉट टीचर सेक्स स्टोरी का अगला भाग:फिजिक्स मैडम को उनके घर पर चोदा- 2.

भाई साहब धक्के लगाने लगे और मैंने अपनी टांगें उनकी पीठ पर लॉक कर दीं.

मैंने यहां पर दोनों के ही नाम बदल दिये हैं क्योंकि किसी की निजी जिन्दगी की घटना मैं सार्वजनिक रूप से असल नामों के साथ नहीं बता सकता हूं. फिर मैंने भी जल्दी से टॉप और स्कर्ट उतार कर बाजू में फेंक दिए और उसके लंड को मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. गम भरे चुटकुलेमैंने उनसे उनकी रुचि जाननी चाही कि आपकी सेक्स में रुचि किस तरह की है … मैं वही करूंगा.

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये और अब मैंने धीरे धीरे लंड उसकी चूत में घिसना शुरू कर दिया. इतने मैं मैंने नारियल के तेल को हल्का सा गर्म कर लिया।मैं बैठा बैठा उसका इंतज़ार कर ही रहा था कि वो आ गई।आकर बोली- चलो कर दो मालिश. मैं सिगरेट फूंकते हुए रेखा की तरफ देख रहा था और वो भी मेरी आंखों से मुझे चोद रही थी.

उसके बाद मैंने उसे कमोड पर बैठाया और पूरी ताक़त से एक झटके में अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. मैं अपने मुँह पर हाथ रख कर अपनी आवाज को रोकने का प्रयास कर रही थी, जिससे मेरी उपस्थिति का आभास उन्हें न हो पाए.

वो भी अब काफी गर्म हो गयी और मेरे होंठों को जोर जोर से किस करने लगी.

जिससे मुझे ये पता चला कि दोनों बहनें खुले दिमाग की और एक दूसरे की परवाह करने वाली हैं. अभी तक भाभी ने मेरा जेन्टलमेंट वाला स्वरूप देखा था, अब वो मेरा कमीने वाला स्वरूप देखने वाली थीं. वह मेरे लंड को पकड़ कर बोली- बड़ा कड़क लंड है आपका मेहता जी! आपकी बीवी तो बहुत भाग्यशाली है.

साडीवाली भाभी जेठ बहू सेक्स की कहानी में पढ़े कि मेरे जेठ जी तलाक के बाद हमारे साथ रहते थे. मैं धीरे धीरे से उसके नजदीक जाने लगा और अब मुझे उसकी गोरी गांड बिल्कुल साफ साफ दिखने लगी.

मैं तुम्हें कितना भी मना करूं … बस तुम मुझे बिना रुके मेरी चुदाई करना. आसिफ़ ने गोद में लेकर मुझे बेड पर लिटाया और मेरी ब्रा को खोलकर मेरे बूब्स पीने लगा. इसी से उसको दर्द होने लगा और वो चिल्लाने लगी कि अनुज बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज़ अभी और मत करो.

अंग्रेज ने की सेक्सी बीएफ

मेरी उम्र 30 साल है और शरीर औसत दर्जे का है लेकिन देखने में अच्छा लगता हूं. अब मैं मामी के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूस रहा था और मामी की चूत में उंगली कर रहा था. कुछ देर इस तरह से चुसाई का मजा लेने के बाद मैंने मधु को बेड के किनारे पर खींच लिया और उसकी चूत पर अपना लंड टिका दिया.

प्लान के मुताबिक हमने ऐसा समय तय किया था जब उसके बच्चे स्कूल चले जाते थे और उसका पति काम पर चला जाता था. अब सुरेश ने पूरी ताक़त से लंड को अन्दर धक्का दिया तो एक ही बार में मीता की चूत के चिथड़े उड़ गए.

फिर एक दिन मेरी अम्मी ने मुझे मुठ मारते देख लिया और बोलीं- असलम, ये तू क्या कर रहा है?तब मैं गुस्से में बोला- अम्मी अब मैं बड़ा हो चुका हूँ … और तुम जो रौनकी के साथ करती हो उसका मुझे सब पता है.

चाचा ने मेरे सर को अपने हाथों में पकड़ कर अपना लन्ड मेरे मुख में डाल दिया।कुछ देर मुझसे अपने लन्ड चुसवाने के बाद चाचा ने मेरे कंधों को पकड़ कर मुझे खड़ा किया. चाची दर्द से छटपटाने लगीं और लंड को बाहर निकालने की कोशिश करने लगीं. [emailprotected]जबरदस्त सेक्स की कहानी का अगला भाग:बहन की सहेली और उसकी बहन संग मजा- 5.

बीच बीच में रणजीत मुनिया के चूचे भी दबा रहा था, जिससे मुनिया एकदम गर्म हो गई और उसकी बुर आग उगलने को बेताब हो उठी. थोड़ी देर बाद उन्होंने अपना लंड बाहर निकाला और मेरी चूत में जमा हुआ हम दोनों का पानी मेरी जाँघों से बहते हुए जमीन पर गिरने लगा।फिर हम दोनों बाथरूम गए और एक दूसरे को साफ़ किया. थोड़ी देर बाद उन्होंने अपना लंड बाहर निकाला और मेरी चूत में जमा हुआ हम दोनों का पानी मेरी जाँघों से बहते हुए जमीन पर गिरने लगा।फिर हम दोनों बाथरूम गए और एक दूसरे को साफ़ किया.

मैं और हस्बैंड उन्हें बहुत समझाते, मगर आंखों की रोशनी जाने का दर्द इतना गहरा था कि उनको सम्भलने में काफी वक्त लग गया.

एक्स एक्स ब्लू बीएफ: पूरा दिन हम लोग प्रोजेक्ट पर काम करते रहे थे, पर तब भी वो पूरा नहीं हो पाया था. उनकी उम्र करीब 50 साल थी, दुबला पतला शरीर और चुसे आम जैसा चेहरा था.

अब मेरी बहन भी लंड के मजे लेने लगी और जोर से गांड उठाते हुए बोलने लगी-आह … चोद जोर से … चोद मर्दानगी दिखा भोसड़ी के. अब विदा लेता हूँ दोस्तो, ये हिंदी चुत सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताना. सुरेश- देखो मीता इसका लंड खड़ा नहीं होता है तो …सुरेश आगे कुछ बोलता रवि ने उसको आगे बोलने से रोक दिया.

वो उसकी चुत की फांकों में अन्दर तक जीभ घुसेड़ कर बुर का नमकीन रस चाटता रहा.

कोई दस मिनट की लगातार चुदाई के बाद मामी ने शायद अपना रस छोड़ दिया था. फिर मैंने मैडम से कहा- मैडम आपका वजन कितना है?मैडम बोलीं- याद नहीं … शायद 90 केजी होगा. वो दर्द से सिहर उठी और उसने झटका दे दिया, जिस कारण से मधु को भी दर्द हुआ और पूजा को भी.