बीएफ देखना है बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,बेबी फोटो गैलरी ब्यूटीफुल डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

बिहारी देसी सेक्सी मूवी: बीएफ देखना है बीएफ बीएफ, तो फरीदा बोली- अच्छा सर, अब हम लोग चलते हैं और आयशा, तुम रिक्शा कर लो.

वीडियो में फुल सेक्सी

लंड अन्दर जाते ही मैंने अपने पैरों से शिशिर की गर्दन कस ली और उसके पूरे लंड को खाने के लिए कमर को उछालने लगी. इंग्लिश सेक्सी दोअब मुझे लगा कि ये कोई महिला तो नहीं है … जो मुझसे पुरुष बन कर बात कर रही हो.

मैं अपनी बेटी रेखा की मस्त बुर को पेलता रहा, कुछ देर बेटी की चुदाई के बाद मैंने पिंकी को अपने पास बुलाया और पिंकी के रसीले होठों को चूसने लगा. मारवाड़ी बातआज मैं बड़ी दीदी अनीता और राजन जीजाजी के घर उनके मुन्ने को देखने मम्मी के साथ आया हुआ हूँ.

कल जहां चाचा ने कुछ सामान रखा था, मैं वहां गया और देखने लगा कि चाचा ने वहां पर क्या रखा था.बीएफ देखना है बीएफ बीएफ: आज छत पर तो सोया नहीं जा सकता तो मैंने स्टोररूम में देखा, थोड़े अड्जस्टमेंट से एक बिस्तर वहाँ लगाया जा सकता था.

रुको मैं तुम्हारी चूत में छूटना चाहता हूँ और मुझे तुम्हारा रस पीना है।वो बोली- ओके.वो दिन तो ऐसे ही बीत गया था और हम दोनों दोस्त वापिस आ गए,एक सप्ताह बाद फिर मैं उधर किसी काम से गया तो मैंने मन में सोचा कि क्यों ना आंटी से मिलता चलूँ, शायद कुछ नजारा देखने को मिल जाए!मैंने जैसे ही डोरबेल बजाई, आंटी ने दरवाजा खोला, आंटी मुझे देख कर बहुत खुश हो गईं, उन्होंने मुझे अन्दर बुलाया, अन्दर अंकल को न देख कर मैंने पूछा- अंकल कहाँ पर हैं?उन्होंने बताया कि अंकल काम पर गए हैं.

३ मंथ प्रेगनेंसी बेबी साइज in hindi - बीएफ देखना है बीएफ बीएफ

पप्पू ने यह भी सोचा कि यह भी उसकी माँ जैसी ही गर्म और नमकीन होगी बिस्तर में.टीना- चुप करो सालों चुत के भूखे कुत्तों सब बरखा की ही चुत फाड़ दो, मैं और फ्लॉरा चुत में बैंगन डाल के बैठ जाते हैं.

मैंने थोड़ा इंतजार किया, जब पानी गिरने की आवाज आई तो मैं बैठे-बैठे पंजों पर सरकते हुए दीवार की ओट से देखने लगा. बीएफ देखना है बीएफ बीएफ रूपा की नंगी गीली चूत देख कर उस पे हाथ रख कर मसलते हुए रूपा की साड़ी कमर तक उठा दी.

”अमित माया की गांड की जबरदस्त चुदाई करते हुए बोला- साली छिनाल की गांड सच मैं बहुत टाइट है रे उस्मान.

बीएफ देखना है बीएफ बीएफ?

नीलिमा बोली- मैं बच्चे को दूध पिला देती हूँ, तो वो अच्छी तरह सो जाएगा. हालांकि वो थोड़ी सी मोटी हो गई थीं, उनकी चूचियां भी बहुत बड़ी बड़ी थीं, तब भी मेरी मौसी एक काँटा माल थीं. मैं भी अब अपनी चरम सीमा पर था, मैंने एक जोर की सांस ली और सांस रोक कर दनादन उसकी चूत के परखच्चे उड़ाने लगा, फच्च… फच्च… फ्च… फ्च्च… की आवाज़ के साथ मैंने तेज़ी से उनकी चूत में अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

जीजू ने मुझे घोड़ी बनने को कहा और फिर उन्होंने पीछे से अपना लंड मेरी चूत में घुसा कर मुझे चोदने लगे. मेरा हाथ में उसकी मांसल शरीर और उसकी मस्त चूचियों को सहलाए जा रहा था. उसके बाद गुलशन जी सुमन को गोद में उठा कर बिस्तर पर ले गए और उसके मम्मों को सहलाने लगे.

किस्मत का खेल देखो… ठीक एक घंटे पहले ये एक सामान्य घर में सामान्य से परिवार थे. काफी समय तक मुझे कोई ऐसा मेल नहीं मिला जिसने मेरी बात कर समर्थन करते हुए मुझे भाव दिया हो. शाम को साली ने केवल ये पूछी कि आप ये फिल्म देखे हैं?मैंने सरल सा मुँह बना कर कहा- फुर्सत कहाँ है वीडियो फिल्म देखने की.

अगले दस दिन मुझे दिखे नहीं।इसी बीच मुझे दो बार मेरे सपनों में चाचा ने बहुत चोदा. मैंने फटाफट बेल्ट खींचा और हुक और चैन खोल कर उसकी जींस को नीचे सरका दिया.

मैं बोला- तुम तो कह रही थीं कि किसी लड़की के पास सोने से वीर्य निकलता है.

मैंने उम्मीद नहीं की थी कि मेरी जिंदगी का पहला सेक्स अनुभव इतना शानदार होगा.

मेरे अंडरवियर में मेरे खड़े हथियार को देख कर सुमन भाभी ने कहा- सैम तुम्हारा तो बहुत बड़ा है, मेरी जान निकल जाएगी. फिर मुझे लगा कि मुझे पहले अपनी उंगली ही गांड के अंदर डालने की कोशिश करनी चाहिए, मैं अपनी उंगली में वेसलिन लगा कर गांड के अंदर घुसने की कोशिश करने लगी और वीडियो देखने लगी. थोड़ी देर बाद मॉम चिल्लाईं, मैंने पूछा- क्या हुआ?मॉम बोलीं- बेटा हिप पर दाना था, उसे तूने दबा दिया.

अब धीरे धीरे मेरी ममेरी बहन होश में आने लगी और मेरी पकड़ से निकलने की बेकार कोशिश करने लगी. अजय- साली रंडी पहले तो कहती थी तू गांड बहुत अच्छी मारता है, अब तुझे मज़ा नहीं आएगा. बेबी अभी चुद रही थी तू ऐसे क्यों ढक रही है?”अनीता बोली- तेरी चुदाई के लिए ज़रूरी है.

मैंने भाभी की चूत को इतना चाटा कि वो मेरे लंड को काटने सा लगीं और जोर जोर से अपने चूतड़ उछाल उछाल कर फुदकने लगीं.

दोस्तो आपने मेरी देसी हॉट सेक्स स्टोरी में अब तक पढ़ा कि मेरी चचेरी बहन मेरे साथ बिस्तर में थी और मैं उसकी गांड के छेद को चाट रहा था जबकि वो मेरे लंड को चूसने में नखरे कर रही थी. मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मैं दोनों हाथों से उसकी चूचियों को सहलाने और दबाने लगा, मेरी बहन भी धीरे धीरे सिसकारियाँ लेने लगी. मेरा पति आज तक मम्मे मसलता था पर उसमें वो बेरहमी नहीं थी, जो तू दिखा रहा है.

इतने में राज ने मेरे चूचे पकड़ लिए और मम्मों को दबाते हुए वो मेरे होंठों को किस करने लगा. वो बोली- तुझे पता नहीं तेरी ये चूत अब सिर्फ पेशाब करने का छेद नहीं है. दूसरी रात को मैंने सागर को कहा- सागर ऐसा करने से फ्लैट हमको मिल जाएगा और एक खूबसूरत बदन तुमको चोदने में मिल जाएगा.

मैंने उसकी मॉम को खूब चोदा था तब जाकर मेरी बेटी पैदा हुई थी और आज मैं उसे चोदने वाला था.

मेरा भाई और बहन जो दोनों मुझ से छोटे हैं, दोनों मेरी मम्मी के साथ मामा जी के घर चले गए. मैं आंटी को काफ़ी देर तक चोदता रहा और फिर झड़ गया, मैंने लौड़े को बाहर निकाल कर सारा माल आंटी की गांड पर छोड़ दिया और हाँफने लगा.

बीएफ देखना है बीएफ बीएफ जब ये लोग पहुँचे तब अतुल और बरखा फ्लॉरा के साथ कमरे में थे और टीना बाहर हॉल में अकेली थी. वो तड़फ़ने लगी और चूत को लंड की तरफ उठा रही थी, पर मैं रगड़ते हुए लंड को फिर पीछे कर लेता.

बीएफ देखना है बीएफ बीएफ शमशेर ने जैसे लंड बाहर निकाला तो मैंने देखा कि साले का लंड चूत का पानी पी कर तो और भी भयंकर हो गया था. दोस्तो, ये मेरी रियल सेक्स स्टोरी थी, आपको कैसी लगी, मुझे कमेंट्स करके जरूर बताएं!अभि.

सोनिया के मम्मे मेरे सामने नीचे को लटक रहे थे, तो मैंने अपने एक हाथ से सोनिया के एक मम्मे को पकड़ लिया और मसलने लगा, तो सोनिया मजाक से बोली- आप जीजा साली हमारे एरिया में दखल मत दो.

अग्रेजी सेक्सी

आम तौर पे गुजराती औरतें शादी और बच्चे होने के बाद मोटी हो जाती हैं, पर रूपा ने अपनी सेहत का काफी ध्यान रखते हुए अपने जिस्म पे ज़रा भी चर्बी चढ़ने नहीं दी. बीजू- यार सुना है ये दोनों किसिंग मस्त करते हैं तो उससे तो पक्का ये पहचान जाएगी ना. मम्मी दोनों हाथों से ससुर जी के सिर को अपनी चूत पर खींच रही थीं और बोल रही थीं- खा जाओ मेरी भोसड़ी को.

यह घटना कोई प्यार की नहीं, बेवफाई की हिया, सेक्स की है, लालसा, वासना की है. देख बस रुकेगी अब… मैं उतर रही हूँ… तुझे कुछ चाहिये इससे ज्यादा तो तू भी उतर नीचे मेरे साथ. नीता की जाँघ पकड़ कर उसे अपने पास खींच कर उसकी बनियान की नेक से उसके साफ़ दिख रहे मम्मों पे उंगली फेरते हुए पप्पू बोला- अब बेटी वो क्या बोलते हैं यह मुझे समझा तो ही मैं कह सकूंगा ना कि वो कितनी गंदी बात करते हैं तेरे बारे में.

हुआ यूँ कि देर रात हम रूम में थे, मुझे खिड़की पे कुछ आहट सी सुनाई दी, मैंने बाहर जा कर देखा तो वही लड़का था जो खिडकी से झाँक रहा था.

गोपाल सवालिया नज़रों से मोना को देखने लगा कि साली कहाँ से पैदा हो गई. फिर शुरू हुआ असली खेल… रहमत मेरी मां की चुत चोद रहा था और रहीम चाचा मेरी मां का मुंह चोद रहे थे। माँ भी एक ही मिनट में इस बात के लिए मान गई कि चलो कोई बात नहीं। चुदवाना तो है ही, जहां एक लंड, वह दूसरा भी सही।ऐसे ही दोनों ने मिल कर मेरी चुदासी मम्मी की जम कर चुदाई की. इसके बाद आपको मैं कहानी का अगले भाग में बताऊंगी कि मैंने अपने देवर के मोटे लंड से चूत चुदाई की डिग्री हासिल कर लेने के बाद क्या क्या गुल खिलाए.

दर्द के मारे मेरे मुँह जोर की चीख निकली और मेरी आँखों में आंसू आ गए. सुमन ने फ्लॉरा को पूरा यकीन दिला दिया कि उसके पापा बहुत गहरी नींद में सोते हैं, तू जाकर लंड का मजा ले सकती है. मैं उनकी वो रसीली चुचियों को जोर से दबाने लगा, जिससे वो भी जोश में आ गईं और कहने लगीं- मोनू मुझे प्यार कर.

दीपक भैया की आंखें बन्द हुईं और मुँह से दर्द और आनन्द की मिली जुली आह निकल गई. शायद भाभी ने मेरी नीयत जान ली थी इसलिए एक दिन भाभी ने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने झूठ बोल दिया कि नहीं.

मैं बहूरानी के मम्में गूंथते हुए उसके गाल काट रहा था और बहूरानी मुझसे बचने के लिए अपना मुंह दायें बाएं हिला रही थी. मैंने राज का भी थोड़ा विरोध किया, पर मुझे भी मजा रहा था तो कुछ ही देर बाद मैं भी उसका साथ देने लगी. उन्होंने मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल दी और जीभ से मेरा मुँह चाटने लगीं.

ये उस समय की बात है जब मैं पढ़ाई करने 2008 में विदेश इंगलैंड में गया था.

उसने अपने बाल संवारे और उसका पप्पू को दबाने का जोश कुछ ठंडा पड़ गया. इसके दो मिनट बाद उसने मुझे आवाज़ दी और फ्रीज़ से सब्जी निकालने को बोली. जीजू ने मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोला तो मैं अपने जीजू का लंड चूसने लगी.

उन दिनों जाड़े के दिन थे, वो नहाते हुए धूप का आनन्द लेना चाहती थीं, शायद इसी वजह से खुले में नहा रही थीं. वो बोला- तो क्यों तड़पा रही हो काजल, दिखा दे ना अब?काजल मुस्कुराते हुए- पक्का?अब दोनों की साँसें तेज हो रही थीं, धड़कनें बढ़ गई थीं और एक दूसरे को लेकर ख्याल बदल चुके थे.

उस्मान अब भी अपना लंड हाथ में लिए हिला रहा था, जोकि अब पूरी तरह तन चुका था. हुआ यूँ कि देर रात हम रूम में थे, मुझे खिड़की पे कुछ आहट सी सुनाई दी, मैंने बाहर जा कर देखा तो वही लड़का था जो खिडकी से झाँक रहा था. मैंने किचन में ही उनकी नाइटी को ऊपर करके आंटी की चुत को चाटना शुरू कर दिया.

वीडियो सेक्स डॉट कॉम

मैं मेरी जिन्दगी की दूसरी चुत की चुदाई करने का स्वर्ण अवसर खोना नहीं चाहता था इसलिए मैं उसके बचे हुए कपड़े एक एक करके निकालने लगा.

मैं उठी तो मेरी गांड पर मैंने हाथ फेरा, वो एकदम चिकनी और खुली सी लगी. उस दिन मैं और मेरा दोस्त रात के समय कॉलेज से घर निकले, मुंबई स्टेशन पहुँचे, तभी मेरी नजर एक लड़की पर गई. तो वो हंसते हुए बोली- अच्छा मैडम,पूरी रात चुदाईका मजा लेना चाहती हैं.

मेरा लंड फिर खड़ा होने लगा, तो मैंने उसे चूसने को बोला और वो रजाई में घुस गई और लंड को मुँह में लेके चूसने लगी और एक हाथ से मेरी गोलियों के साथ खेलने लगी. अन्दर से मयूरी (24 साल) आई जो कि बड़े भाई रमेश की पत्नी थी और दोनों को देख कर मुस्कुराते हुए बोली- आ गए दोनों?छोटा भाई सुरेश बोला- हाँ भाभी!मयूरी- तुम दोनों काफी थके हुए लग रहे हो?सुरेश- हाँ भाभी, आज का दिन काफी हेक्टिक रहा. पकड़ा पकड़ीजैसे ही मेरे हाथ मम्मों तक पहुँचे, उसने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ पकड़ लिए.

वो चिहुँक उठी और मेरा मुँह अपनी चूत में दबाने लगी। मैं तब तक उस की चूत चाटता रहा. कुछ देर बाद मैं बोली- जीजू, क्या अब मैं अपनी आँखों की पट्टी खोल दूँ?जीजू की आवाज आई- नहीं मेरी जान, इतनी जल्दी क्या है.

मैं उसके कूल्हों को हाथ से सहला रहा था और मेरा हाथ उसकी गांड की दरार पर लग गया था, मैं उसके चूतड़ों को दबाने लगा. मैं आपको यह बताना भूल गया कि भाभी के पूरे शरीर में सबसे खूबसूरत उनकी गांड और उनके चूचे ही हैं. उनकी आवाज़ आते ही मौसी ने झट से मेरी पैन्ट ऊपर की, खुद के कपड़े ठीक किए, फर्श पर गिरे चुत की पानी को झटपट पौंछा और दरवाज़ा खोल कर हम बाहर आ गए.

करीब 1 घंटे के बाद गाड़ी में सब सो गए, सिर्फ इरफान और चाची बातें कर रहे थे. मेरी हालत अब खराब होने लगी पर मुझे लगा कि कुछ हो न जाए इसलिए बोली- अंकल, ये सब ठीक नहीं, आप लोग बहुत बड़े हैं, मैं आप लोगों से बहुत छोटी हूं, प्लीज छोड़ दीजिए।अंकल ने कहा- तुम बेवजह परेशान हो रही हो आरती, शायद तुम्हें डर लग रहा है कि हम चार लोग हैं, तुम्हारा डर अभी दूर करता हूं और अपना बड़ा सा स्मार्टफोन निकाला और तुरंत उसमें कुछ चालू किया और मुझे दिखाने लगे. मुझे एक डर ये भी था कि कहीं मैं झड़ न जाऊं लेकिन मेरे लंड ने मेरी और अपनी दोनों की ही लाज रख ली थी.

जल्दी कर या और मारूं?मैंने तुरंत अपने सारे कपड़े उतार दिए और एकदम नंगा हो गया.

और सोचता था कि इसे कैसे चाटूं।कुछ दिनों बाद वो किराएदार आंटी जाने लगी। तब उसने मुझसे माफी मांगी और उसने कहा- तुम्हें जो कुछ करना है कर लो!मैंने आंटी की चूत चोद दी।चोदना ही होता. थोड़ी देर बाद चाचा और उनके दोस्त चुटकुले सुनाने लगे और सब हंसने लगे इधर चाचा अपना हाथ मेरी जाघों में चलाने लगे, मैं ब्लैक कलर का सूट पहने थी, सलवार के उपर से ही चाचा मेरी जांघों के बीच में मेरी चूत में कपड़े के ऊपर से ही उंगली करने लगे.

सांवली बुर के बीच से हल्की गुलाबी झलक का नजारा ऐसा लग रहा था मानो एक सुन्दर गुलाब खिल गया हो. पप्पू की गोटियाँ मसलते हुए वो बोली- आहहहह… और चाट मेरी चूत और ऐसे ही मसल डाल मेरे मम्मे पप्पू. बहूरानी ने अपने नाखून मेरी पीठ में गड़ा दिए और टाँगे मेरी कमर में लपेट कर कस दीं.

उसके सख्त लंड का टोपा मेरी गांड में मेरी पेंटी सहित घुस ही गया होता, जो मैं आगे को ना खिसकी होती. देसी कहानी का पिछला भाग :रिश्तेदारी में आई लड़की को पटा कर चोदा-1अब तक की देसी कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने नेहा को वाइन पिला कर मदमस्त कर दिया था और खुद टॉयलेट के बहाने बाहर आ गया था ताकि वो पास में रखे मेरे मोबाइल में पॉज की हुई ब्लू फिल्म को देख सके. वो मेरे मुंह के पास अपनी जांघें ले आया और उसने फ्रेंची मेरे मुंह पर लगा दी, बोला- ले चाट बेटा… जी भर कै…मैं थोड़ा होश में आया और उसकी फ्रेंची को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा जिसमें बीयर की गंध भरी थी और साथ में ही उसके कामरस का भी स्वाद आ रहा था.

बीएफ देखना है बीएफ बीएफ मेरा नाम कोमल है, आप पहली बार मैं अपनी कहानी शेयर करने की हिम्मत जुटा पाई हूँ. यह कहते हुए मैंने उसकी गांड को नीचे करते हुए अपने लंड को उसकी चूत में पुश किया.

सेक्सी फिल्म दिखाओ इंग्लिश में

एक लड़की ने मेरी दोनों टांगें फैला दीं और मेरी गांड में उंगली डालने लगी. चाचाजी ने अपनी पेन्ट को नीचे की तरफ सरका दिया, जिससे उनका तना हुआ लंड मेरे मुँह के बिल्कुल करीब आ गया. कुछ देर में मेम के चीखने की आवाज आई, मैं भागा… और छत पर जाकर देखा कि मेम पूरी भीग चुकी थीं और रो रही थीं.

जय जब अपना लंड मेरी चुत में अन्दर घुसाने लगता तो वो मेरे पैरों को मेरे कंधे पर जोर से दबा देता था. तो बेटा ये बता कि ये ज्ञान तुझे किसने दिया?”पापा जी, वो मेरी बड़ी मामी हैं न वो बुरहानपुर में आयुर्वेदाचार्य हैं. हरियाणा सेक्स वीडियो एचडीचाचाजी ने थोड़ी स्पीड बढ़ा दी, मैं बस मदहोश होकर अपनी चुत में फिंगर फक का मजा ले रही थी.

अमित ने माया की पीठ पे चुम्मियों की बौछार लगा दी और वो माया के हाथों को चूमता हुआ पीठ और बोबे के बीच वाली जगह चाटने लगा.

गुड़िया ननद की शादी के बाद जब आप उस रात छत पर उस एकान्त कमरे में अकेले सो रहे थे और मैं आपके पास आपको अपना पति समझ के पूरे कपड़े उतार कर पूरी नंगी होकर आपके पास लेट गयी थी और आपको सम्भोग करने के लिए मना रही थी, उकसा रही थी. अनिता- ऐसा कुछ नहीं है संजय… वो अच्छे इंसान हैं और मैं वैसी की वैसी ही हूँ, तुम्हारा देखने का नज़रिया बदल गया है.

जब मैंने आंटी को ब्रा पहनाने के लिए साइड में हाथ फेरा तो उनको थोड़ा झटका सा लगा. फिर मैंने 5 मिनट तक लंड अन्दर बाहर करने के बाद जोर जोर से धक्का देना शुरू कर दिया. हम तीनों ने एक दूसरे के होंठों को चूम कर फ्रेश होने बाथरूम में नंगे समा गए.

मेरी तो कुछ समझ में नहीं आया कि वो क्या कर रहे हैं और मम्मी ‘सीईइइ आह…’ क्यों कर रही हैं.

बर्तन धोने के बाद मैं फ्रेश होने बाथरूम चली गयी, मैंने अच्छे से अपनी चूत की सफाई की, उसके बाद किचन में मामा जी के लिए चाय नाश्ता बनाने लगी. मैं भी अपनी गुलाबी गर्म जीभ को उसके मुँह में डालकर चारों तरफ़ घुमाने लगी. जीजू ने अब मेरी चूत में अपनी एक उंगली डाली और उसे आगे पीछे करने लगे, फिर वो बोले- अब तो मैं रुक नहीं सकता हूँ मेरी जान!इतना कह कर वो मेरे ऊपर आ गए और एक हाथ से पकड़ केअपने लंड को मेरी चूत में घुसा दिया.

सेक्सी गांव का वीडियोमुझे लग रहा था कि उसके चुचे जोर से चूस लूँ और पूरा का पूरा खरबूजा खा जाऊं. जब कोई लड़का उस पर फिकरा कसता या भीड़ में कोई उसका बदन छूता तो उसे अच्छा लगता था.

बाथरूम में सेक्सी

वो कहने लगी- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- आपको किस करने का दिल कर रहा है. पर मैंने भी हार न मानी और बुर के अन्दर तक जीभ घुमा घुमाकर अर्चना की बुर को चूसता रहा. दीदी बेडशीट को ज़ोर से पकड़े थी… जीजाजी पेले जा रहे थे… दीदी अपनी कमर उचकाते हुए चुदवा रही थी.

सुमन भाभी के सीधे हाथ वाले चूचे पे एक काला तिल उनके चूचे की ख़ूबसूरती को और अधिक बढ़ा रहा था. वो बोला- देख अंश, यार जो तू सोच रहा है, मैं चाह कर भी वो तुझे नहीं दे सकता… मुझे लड़कियों में इंटरेस्ट है। और वैसे भी प्यार व्यार तो मैं किसी लड़की से भी नहीं करता! तू तो फिर भी लड़का है. मैं हैरान हो गया और उसे देख रहा था- अनु और चुदाई??मतलब वो कभी हिन्दी में अश्लील शब्द नहीं बोलती थी, वो हमेशा इंग्लिश में ही बोलती थी सेक्स करते वक्त! इस लिए मैं हैरान था कि वो हिन्दी में बोल रही थी.

मैंने लंड को मामी की चुत में से निकाल कर अर्चना के मुँह में लगा दिया. फ़िर मैं मौसी की गांड को चूमने लगा और कभी कभी दांत से हल्के से काट भी लेता. उधर मैंने अपने लंड से झांटें साफ़ कीं और लंड पर क्रीम आदि लगा कर उसे चमकाया और लंड को लेकर अपने मन में बुदबुदाया कि कुछ दिन और रुक जा भोसड़ी के … बस जल्दी ही तुझे तेरी चुत मिल जाएगी.

एक ने तो यह भी कही कि अगर मामी दोनों टांगें फैला कर चल रही हों तो समझो मामा ने गांड मारी, या फिर मामी को कुतिया बना कर चोदा होगा. बुआ ने आते ही दरवाजा बंद किया और चित लेट गयी, फिर उन्होंने अपने घुटने मोड़ कर अपनी साड़ी और पेटीकोट नीचे खिसकाई.

दीपक- यार राजीव साली की गांड ही मारना है तो इसको मेरे लंड पर बैठा दे ताकि नीचे से मैं इसकी चूत मार सकूँ और तू पीछे से गांड का मजा लेते रहना.

मैंने ‘हाँ’ में सर हिलाया तो आगे कहने लगीं- प्लीज़, यह बात अपने अंकल (यानि उनके पति) को मत बताना. शॉर्ट सेक्स वीडियोबर्तनों के खनकने की आवाज से भाभी उठ गई और अंदर के बर्तन न देख कर समझ गई कि चंदा ने सब कुछ देख लिया है। खैर, भाभी ने मेरे ऊपर चादर डाली और बाहर गई। फिर वे चंदा से बात करके आई। औरतें आपस में खुली होती हैं. कुमारी सेक्स वीडियोअबकी बार ऊपर चढ़ने के वक्त नीलिमा बोली- थोड़ा पीछे से मुझे हाथ लगाओ, मुझे बर्थ पे चढ़ने में आसानी होगी. पर मेरी माँ नहीं मानी, शायद वो मामा मामी के बारे में कुछ नहीं बहुत कुछ जानती थीं कि कुछ भी कर लो मामा को रात में कम से कम एक बारमामी की चूत चुदाईचाहिए ही चाहिए.

इधर भाभी की गांड में भी दूसरे ने अपना लंड डाल दिया था और उनको सैंडविच बना कर खड़े खड़े दोनों तरफ़ से पेल रहा था.

अतुल ने तो सूप में अपना लंड डुबो कर फ्लॉरा को चुसाया और वीरू ने गाजर को बरखा की चुत में घुसा कर चुत रस से गाजर को सान कर खाया. दीदी ने कहा कि मैंने अभी ही घर पर फोन किया था कि तुझे भेज दें, प्रोग्राम है. अभी उसके हाथ लोअर तक ही पहुंचे तो मैं बचने के लिए चाह कर भी हिल नहीं सका क्योंकि मेरा लंड लोअर के साथ उसकी पकड़ में आ गया था.

रंजु ने मुझे कस कर पकड़ लिया और मेरी कमर पर नाख़ून गड़ा दिए, चूमतेचूमते मैंने 2-4 झटके और प्यार से लगा दिए. लड़की सांवली थी, पर उसकी बुर क्षेत्र क्या मस्त था, पूरा छेद का मैदान करीने से साफ सुथरा किया हुआ था. ठीक है पापा जी, पहले मॉल में चलेंगे मुझे शॉपिंग करवा देना, आप फिर वहीं पर किसी अच्छे रेस्तरां में डिनर भी करवा देना.

माँ सेक्स स्टोरी इन हिंदी

उनकी बातें मुझे और उत्तेज़ित कर रही थीं, अब मुझसे रहा नहीं गया तो मैं बोल पड़ी- कमीनों जो करना है कर लो और ये पट्टी नहीं चाहिए मुझे. देखो मिरर में कैसे मैंने अपनी बेटी की मोटी ताज़ी गांड को पकड़ा हुआ है… और मेरा लंड अपनी जानू बेटी की टाइट चूत मैं कैसा मस्त लग रहा है. एक दिन निर्मला भाभी सुबह खाना बनाने के लिए आ गई, तो मैंने उससे कहा- अभी सिर्फ़ सुबह का ही खाना बनाओ और शाम को फिर से खाना बनाने के लिए आ जाना.

मैं बिस्तर से उठ कर खड़ा हो गया और समीर घुटने के बल आकर मेरा लंड चूसने लगा.

मैंने भैया का लंड पकड़ा और मुंह में भर लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

मेरे लंड ने भी उसकी गर्मी बर्दाश्त न करते हुए उसे कुछ देर ऐसे ही चोदने के बाद अपनी पिचकारी सोनिया की चूत में छोड़ दी. इसके बाद राहुल चला गया था, फिर बाक़ी रात भर राजीव ने ही मुझे खूब चोदा. लाइव सेक्सी वीडियोसपूजा- जी नहीं मेरे मामू, ये तो सरप्राइज के साथ फ्री है… वो तो अलग है.

शिवानी मेरे नीचे लेट गई और मैंने अपना लंड एक बार फिर उस की चूत में डाल दिया. उसकी चूचियां तो ऐसी उठी हुई दिखती थीं कि मन करता था पकड़ कर अभी ही दबा दूँ. मैंने अपनी जीभ उसके होंठों के बीच में घुसा दी तो वो बड़े मजे से मेरी जीभ को चूसने लगी.

लगभग दस मिनट के बाद वो वापस आई और उनके हाथ में वाइन की बॉटल थी और कुछ ड्राइफ्रूट्स थे. और आप यहाँ कैसे?तो वो बोलीं- यार आज मैंने एक बहुत ही ख़राब सपना देखा और मैं बहुत डर गई हूँ, इसीलिए यहाँ तुम्हारे पास सो गई.

मेरी ट्रू सेक्स स्टोरी पर अपने विचार मुझे अवश्य मेल करें![emailprotected].

हम अलग हो गए… मैं खड़ा हुआ तो उसने लपककर मेरा लंड मुँह में डाल लिया और तेज-तेज अन्दर-बाहर करने लगी. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को रिशू का प्यार भरा नमस्कार!प्रिय पाठको, मेरी आपबीती सच्ची चुदाई को व्यक्त करने की शैली और निखर जाती है जब आप मेरी कहानी को ई-मेल के द्वारा सराहते हैं. पर उसकी फ्रेंड मनीषा का नंबर ले लिया और उससे बातें करने लगा।उसको मैंने कैसे चोदा.

सेक्सी मराठी विडिओ मैंने अंजान बनते हुए पूछा- कहां जा रहे हो इतनी रात को??इरफान- बस यहीं आस पास जरा टहल कर आते हैं. फिर उन्होंने मुझे छोड़ा और कुछ खाने को दिया और एक ग्लास जूस भी दिया.

दोस्तो, इस सेक्सी कहानी के पिछले भाग में सुमन की सुहागरात यानि सीधी सादी कॉलेज गर्ल की पहली चुत चुदाई कैसे हुई, आपके सामने लाकर आपकी इच्छा मैंने अच्छी तरह पूरी कर दी थी. उधर मेरे मामा भी फुल स्पीड से मेरी मामी की चुदाई कर रहे थे। लगातार फच्च फच्च की आवाज गूँज रही थी, लग रहा था कि मामी को खूब मजा आ रहा था, उनकी ऊँ-आँ ऊँ-आँ लगातार जारी था। मामा की भी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल रही थी. प्लीज़ एक बार हटो तो सही!गुलशन जी हट गए तो सुमन उनके पास बैठ गई और शुरू से सारी बात उन्हें बताईं कि कैसे उसने उस रात उनकी और माँ की बात सुनी थी.

सेक्सी वीडियो हिंदी में नया

लुंगी के ऊपर से पप्पू का लंड पकड़ कर रूपा ने कहा- पप्पू, आज तुझे मैं अपनी नीता दे रही हूँ. माया जैसे ही पीछे की तरफ झुकी, उस्मान ने उसके दोनों हाथ पकड़ के उसे अपने ऊपर और झुका लिया और झटके मारने बंद कर दिए. अरे मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी चुत चुदाई पूरी कहानी मेरी सेक्सी आवाज में सुनें और मजा लें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिये सर्वोत्तमब्राउज़र क्रोम Chrome है.

मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस ग्रुप सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं. उस दिन मैं मैं पहली बार उसके साथ अकेले लगभग दो घंटे उसके घर रहा और बड़ी मुश्किल से अपने लंड पर कंट्रोल किए रहा.

आगे मेरे शौहर और पूरी फैमिली बैठी थी और पीछे में मेरे चाचा ससुर का लंड अपने मुँह से चोद रही थी.

कुछ देर बाद मेरा माल निकलने वाला था तो मैंने अपना माल आइसक्रीम में गिरा दिया और अपनी बेटी को बोला कि वह मेरा पूरा माल आइसक्रीम के साथ चाट जाए. फ्लॉरा- यार, अब तक तो अंकल गहरी नींद में हो गए होंगे, चल ना हम उनका लंड देख कर आते हैं. जब संजय ने पूछा तो टीना ने शॉर्ट में कहानी सुना दी और नई चुत की बधाई भी दे दी.

मैंने कहा- तुमने मुझे यहाँ क्यों बुलाया है?तो उस ने बात बदलते हुए कहा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं- नहीं क्यों?मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड बनना चाहती हूँ. दो मिनट में ही कविता के दोनों निप्पल किशमिश से अंगूर हो गए यानि उसके निप्पल काफ़ी टाइट और खड़े खड़े हो गये थे. अचानक ही उसने अपने कड़क मर्दाना मज़बूत हाथ से मेरी कलाई पकड़ी और एक जवान हसीन देसी हस्बेंड की तरह मुझे खींच कर उसी खंडहर के अन्दर बने एक कमरे में ले गया.

शुरू में उसको दर्द हुआ फिर जब उंगली चुत में एड्जस्ट हो गई तो उसको मजा आने लगा.

बीएफ देखना है बीएफ बीएफ: माही के कमरे के पूरे नज़ारे को मैंने अपने मोबाइल ने क़ैद कर लिया था. उस टाइम भाभी के अन्दर की रांड जाग गई थी और वो गांड उठा उठा कर चुदाई का आनन्द ले रही थी.

मैं अर्चना की चूत को चूसने लगा और अपनी जीभ को उसकी चूत के बीच डाल कर काम रस को चाटने लगा. फिर वो नीचे सरकी और मेरा लंड पकड़ कर बोली- अब ये मेरी गरम चूत में जाएगा…वो धीरे धीरे मेरे लंड पर बैठने लगी. पिंकी- चुदाई को तेजी से किया जाए? अपनी टाँगें थोड़ा-थोड़ा पापा की कमर से लपेट लो.

उसके रसीले होंठों को चूसने में इतना मज़ा आ रहा था कि बयान नहीं कर सकता.

वो कुछ पूछता तभी मोना फिर बोली- नीतू, तू किचन की सफ़ाई कर और आप कमरे में चलो, मुझे कुछ बात करनी है. शायद मेरी उस वक़्त इतनी उम्र ना थी कि मेरा स्पर्म निकल पाता, मौसी ये समझ गई थीं. एक दिन सुमन भाभी थोड़ी अपसेट सी दिखीं, मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया.