दादी और पोते की बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्स वीडियो सनी लियोन की

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म लगाएं: दादी और पोते की बीएफ, कसम से क्या लण्ड चूस रही थी भाभी… मजा आ गया! भाभी ने पूरा लण्ड मुँह में ले लिया और चूसती रहीमैं- भाभी, बहुत मजा आ रहा है! आह्ह्ह!इतने में मेरे लण्ड ने पिचकारी छोड़ दी, भाभी सारा वीर्य पी गई, मेरे लण्ड के सुपारे पर जीभ से एक एक बून्द चट कर गई.

सेक्सी वीडियो भाभी बीएफ

और अभद्र पुरुष आपके पास कभी नहीं आ पाएं?इन फर्जी एजेंसीज के पास ऐसे कोई सुविधा नहीं होती है, न ही ऐसी कोई जांच आदि होती है. बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सजैसे ही मैंने साड़ी ऊपर करनी चालू की, तभी नीचे से मम्मी ने मुझे आवाज लगाई और मैं सब कुछ छोड़ छाड़ कर वहाँ से भाग गया.

मैं पूजा को चोदना चाहता था, पर मैंने कभी उसको इस बात के लिए नहीं बोला. लड़की का बीएफ दिखाएंअन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिये सर्वोत्तमब्राउज़र क्रोम Chrome है.

मैं- मैं भी उसी साइड रहता हूँ!भाभी- अच्छा, कहाँ पर?मैं- रोहिणी में!इतने में दूसरा प्लेटफार्म आ गया.दादी और पोते की बीएफ: एकदम गन्दी फोटो आई, वीडियो आई तो मैं बोली- मैं देख लूंगी!और मोबाइल ले लिया.

शुरू शुरू में तो उसे गांड में लंड डलवाने में दर्द हुआ था लेकिन अब तो वो मोटे मोटे लंड अपनी गांड में लेती है.मैं तो उन्हें देखता रह गया, क्या लग रही थी यार… एकदम कयामत लग रही थी.

डॉग लड़की बीएफ वीडियो - दादी और पोते की बीएफ

उस दिन बस इतनी ही बात हुई और फिर मैं नीचे चला गया और उस औरत को याद करके 2 बार मुठ मारी.दीदी ने नई दुल्हन की तरह शर्मा कर अपना मुँह दूसरी और कर लिया, उसका गोरा चेहरा एकदम गुलाब सा चमक रहा था.

एक बार ट्राई किया था, तब से कसम खा ली थी कि कभी गान्ड में नहीं लेना रे बाबा… और वैसे भी मुझे मुख चुदवाने का शौक है. दादी और पोते की बीएफ मैंने चारों ओर देखा सभी लड़कियों ने सेक्सी कपड़ों में थीं लेकिन किसी के भी चूचे और गांड दीदी जितने बड़े नहीं थे.

इस कहानी को मैं बेगम जान, मेरी मल्लिका ए आलिया महान महारानी अंजलि को समर्पित करता हूँ.

दादी और पोते की बीएफ?

अब वो मुझे घोड़ी बना कर किचन में चोदने लगा और मेरी चूचियों को मसलते हुए मुझे मजा देने लगा. अचानक रश्मि उठी और घोड़ी बन गई, घोड़ी बनते ही बोली- चोदो मुझे, फाड़ दो मेरी चूत और गाण्ड. कहते है जितना गहरा मेहँदी का रंग उतना गहरा प्यार!मैं- पर हमारा प्यार तो सिर्फ कुछ इंच गहराई तक पहुँच सकता है!इतना बोल कर उसके चूत में उंगली डाल दी और वो उचक कर मेरे गले लग गयी.

मुझे नगमा की माँ डांटने लगी कि पब्लिक प्लेस में सिगरेट पीते हुए क्या तुम्हें शर्म नहीं आती. वो पूरे दिन में सिर्फ एक बार मेरे रूम के सामने सप्लाई पानी के आने पर ही आती थीं. मैंने भाभी की जाँघों पर तेल लगाने के बाद उनकी चूत में उंगली डाल दी, तो पायल भाभी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगीं.

फिर मैं अपनी गाड़ी धीमी कर देता और वो बड़े आराम से मेरा लंड निगल जाती. और एक बात मैंने पिछली रात को उस अनजान नंबर को बताया था कि मुझे रेड टॉप में गर्ल्स बहुत अच्छी लगती हैं। सोनू का रेड टॉप में आना मेरे शक़ को और मजबूत कर रहा था। वैसे मेरे दिमाग़ में एक लड़की और घूम रही थी जिस पर मुझे शक़ था. और पसीना भी आ रहा था, ऐसा लगता था, जैसे चूत से पानी आता है, वैसे ही मेरे गांड से आ रहा था.

वो बोली- तो छोड़ दो मेरी जान… आज तुम्हारी पिचकारी से मेरी चूत भर जाने दो. वैशाली भाभी ने दोबारा फोन किया, मैंने उठाया तो उन्होंने घर आने को कहा.

मुझे जबरदस्ती पूरा नाश्ता खत्म करवा के जूस पिला कर भाभी वापस जाने लगीं; फ़िर जैसे कुछ भूल गई हों, वैसे पलट कर बोलीं- शाम को 5 बजे भूलना मत…!और बस चली गईं.

अब मैं आंटी के बारे में आपको बता दूँ, उन्होंने काले रंग की साड़ी पहनी हुई थी जो उसके गोरे रंग पर गजब ढा रही थी.

हम दोनों बहुत गर्म हो गए थे और एक दूसरे को पागलों की तरह चूमने और चाटने लग गए।फिर मैंने उसका लोअर खोल दिया और फिर उसकी पैंटी भी खोल दी और उसने मेरे सारे कपड़े खोल दिये. मैं जब अपने कमरे का ताला खोल रहा था तो भाभी की आवाज आई- भाईसाहब, मेरे पति अब तक अपनी कंपनी से वापस नहीं लौटे, आप किसी एसटीडी पीसीओ से फोन लगा कर कंपनी में पूछो कि वो निकले या नहीं. थोड़ी देर तक यूं ही नाभि का मजा लेने के बाद मैं नीचे की तरफ बढ़ा और उसकी चूत पे एक चुम्बन किया.

बिंदु ने मेरे कमरे में आते ही डेविड के लंड को हाथ में लिया और चूसने में लग गई. मैंने उसे बाथटब में बैठा दिया और एक एक कर उसकी टी-शर्ट को, फिर केप्री को निकाला. क्या क्या देखा?मैं- कितने प्यार से चोद रहा था आपको… और आप भी उसका साथ दे रही थीं.

डॉक्टर ने मुझे लेटने को कहा और जैसे ही मैं लेटी, उसने मेरी दोनों टांगों को पकड़ कर फैलाया किया और एक इंस्ट्रूमेंट से मेरी चुत तो भी फैला दिया.

हम अपनी बहन के बिस्तर के पास ही चारपाई पर बिस्तर लगाते थे, सर्दी बढ़ गई थी इसलिए ठंड होने के कारण रज़ाई ओढ़ लेते थे. मैं खड़े खड़े ये सोच रहा था कि जो लड़की इतनी सुन्दर है, उसकी चूत कितनी रसीली होगी, जिस लड़की को देखने मात्र से मुझे इतना मज़ा आ रहा है, उसको चोदने में कितना मज़ा आएगा. यह कहानी करीब 4 साल पुरानी है, तब मैं 25 साल का था, कहानी नहीं, ये एक सच्ची घटना है.

फ़िर मैंने उनको उठाया और बेडरूम में उनके बेड पर ले जाकर उनको लेटा दिया. सब कुछ बहुत मज़ेदार और स्वादिष्ट!उसके बाद अलका कॉफ़ी ले आयी; बहुत बढ़िया कॉफ़ी थी. इधर सोनिया की लड़की 3 महीने की हो गई, लेकिन मेरी मौसी की लड़की अब कुछ उदास सी रहने लगी.

अचानक प्रिया ने मुझे अपने से थोड़ा परे किया और अपने बाएं हाथ से मेरे नाईट-सूट के बटन खोलने की कोशिश करने लगी लेकिन एक हाथ से बटन खोलना और वो भी बाएं हाथ से… थोड़ी टेढ़ी खीर थी.

जब आप तैयार हो तो मैं भला आपकी बहन को खुश करने के लिए मना कैसे कर सकता हूं?इसके बाद हमने फिर से सेक्स करना शुरु कर दिया. मकान मालिक मेरी चूत को बहुत देर तक चाटता रहा और उसी दौरान मैं झड़ गई.

दादी और पोते की बीएफ मेरा पुराना आशिक मेरे होने वाले पति को बता रहा था कि कैसे उसने अपने रिश्तेदार से मिल कर मेरी चूत और गांड की चुदाई की थी. भाभी घबराते हुए बोलीं- पानी गरम करने वाला गैस गीजर नीचे गिर गया और मैं घबरा गई.

दादी और पोते की बीएफ मैंने भी लंड पर थूक लगाया, सुपारा उसकी गांड पर रखा ही था, मैंने धक्का दे दिया. उसके मुँह से गालियाँ सुनकर मुझे और जोश आ गया, मुझे तो ऐसे लग रहा था जैसे मैं स्वर्ग में हूँ, मैं अपना लंड आगे पीछे कर रहा था.

तभी मैं प्रीति की चूत के सामने आ गया और अपना लंड प्रीति की चूत पर घिसने लगा तो प्रीति सिसकारी भरने लगी.

इंडियन बीएफ चुदाई वाली

उसके बाद चंदर बोला- अपनी टांगें चौड़ी करके लेटो, अब मैं तुम्हारी चुत को चाटूंगा और खाऊंगा. मित्रो, आंटी की चुदाई की मेरी ये पहलीफ्री सेक्सकी कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताना. फिर मेरी तरफ इशारा करके बोलीं- यह मेरे पति ने एक चूत पैदा की है, जिसकी आज तुझे नथ उतारनी है.

पायल भाभी पागल ही हो गईं और मेरे बाल पकड़ कर अपनी चूत में मेरा मुँह दबाने लगीं. उसे देखते ही मैं अपने लंड को छुपाने की कोशिश करने मगर वो साला हाथ से भी निकल निकल जा रहा था. फिर अनुज बोला- यार ये तो साली चूत नहीं दे रही और मेरा लन्ड खड़ा हो रहा है.

मैंने कहा- यह तो होता ही है!मैं उसकी गांड भी मारना चाहता था तो मैंने अपनी इच्छा व्यक्त की लेकिन वो बोली- नहीं आर्यन, गांड में करने से दर्द होगा और मुझे दर्द से डर लगता है!मैंने भी अपनी बात पर जोर नहीं दिया क्योंकि आप जिससे प्यार करते हैं, उसको तकलीफ में नहीं देख सकते।उसके बाद उसने मुझे एक अच्छा फोन गिफ्ट किया, मैं मना नहीं कर पाया.

करीब सात आठ मिनट लंड चूसने के बाद मॉम लंड को मुँह से बाहर निकल कर घुटने के बल खड़ी हो गईं और उसी तरह से चल कर नवीन के लंड के ऊपर आ गईं. मगर तुम चिंता ना करो… जाओ जाकर फ्रेश हो जाओ और ठीक से कपड़े डाल लो, कहीं कोई आ गया तो ग़ज़ब हो जाएगा. बताई गई जगह और समय पर मैं पहुँच गया तो वो अब तक नहीं आई थी। इसलिए मैं उस रेस्तराँ के अंदर सामने टेबल पर बैठ कर ही मैं उसका इंतज़ार करने लगा.

पहले मैंने सोचा कि अब मुझे निकल लेना चाहिये लेकिन फ़िर दिल ने कहा कि इतनी मुश्किल से लंड नसीब हुआ है तो ऐसे जाना ठीक नहीं…उसने अपना लंड अंदर किया और बोला- चल… अंदर चल… यहाँ कोई आ जायेगा. तभी चाचा ने दूसरी बात करते हुए चाची से कहा कि वे खेत के किसी जरूरी काम से शहर जा रहे हैं. भाभी बड़े प्यार से मेरे बालों पर हाथ चलाते हुए अपना दूध मुझे चुसाने लगी थीं.

दोस्तो, मेरा नाम रवि है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ। डिप्लोमा फाइनल इयर में हूँ। देखने में ठीकठाक हूँ। मेरा कद 5’5″ है।आज मैं आपको अपनी लाइफ का पहला सेक्स अनुभव शेयर करने जा रहा हूँ जो मेरी सेक्सी चाची जी के साथ था। मेरी लाइफ का पहला सेक्स मैंने मेरी चाची के साथ किया था।मैं आपको अपनी चाची के बारे में बताता हूँ, मेरी चाची की उम्र 35 वर्ष, कद 5’4″, बदन का आकार 32-30-34, रंग गोरा. क्या बताऊँ यार… वो एक 22-24 साल की औरत थी और उसके चुचे भी 36 इंच के लग रहे थे.

उसकी चुत लंड को खाने के लिए रिस रही थी, जिससे उसकी चुत का पानी मेरे लंड को चिकनाई दे रहा था. उनके माथे से लेकर पैरों तक उनके शरीर के हर एक पार्ट को बड़े रोमाँटिक तरीके से चूमा, भाभी बस कसमसाए जा रही थीं. मैंने कहा- अब आप मेरे सामने थोड़ी अदा से नंगी होकर अपना हुस्न दिखाएँ तो मजा दुगना हो जाएगा.

अब हम दोनों लगभग हर रोज़ ही शाम को मिलते और ऐसे ही चूमा चाटी करके चले जाते.

पाठकों, अब बताता हूँ नीना के शब्दों में डॉ भगत के साथ खेली गई चुदाई की होली का आँखों देखा हाल:तब तक करीब सवा दो बज चुके थे और डॉ भगत अपने सभी पेशेंट निबटा चुके थे; रूटीन के काम बंद होने का समय था, असिस्टेंट जा चुका था और डॉक्टर साहब अपनी रिपोर्ट बनाने में जुटे हुए थे. यह कहानी है जब मैं लुधियाना प्राइवेट बैंक में लोन विभाग में जॉब करता था. फिर धीरे धीरे मैं उसके नाभि की तरफ बढ़ा और उसकी गहरी नाभि में अपनी जीभ फिरा कर चूमने लगा, जिससे वो और भी उत्तेजित होकर मेरे सिर पर अपने हाथ फिराने लगी.

मैंने रुक कर लंड निकाला और उनके मुँह में दे दिया, वो मेरे लंड को चूसने लगीं. लंड घुसवाते ही भाभी मेरे लंड पर उछल उछल कर चुत चुदाई का मजा लेने लगीं.

तभी मोहन का संयम छूट गया और लंड ने जोर की पिचकारी मेरी मुँह में मार दी. आंटी नहाते वक्त अपनी चुत में उंगली कर रही थीं और ऊंहां… ऊऊऊऊ… स्स्स्स्स्…” जैसी कुछ कामुक आवाजें निकाल रही थीं. मेट्रो स्टेशन रेवेल्यूशन स्क्वायर से हम पैदल जमा भीड़ को निहारते हुए क्रेमल की ओर चल दिए.

लड़का लड़का के बीएफ वीडियो

मैं थोड़ा सवालिया सा हुआ, तब उसने बताया कि अब मेरे पति बच्चा करने की बोल रहे हैं.

वो चिल्लाना चाहती थीं, पर उनके मुँह में बॉल घुसा होने की वजह से चिल्ला नहीं पाईं. जल्दी ही आर्थर का लंड टनटनाने लगा और आकार में दुगना तीन गुना हो गया! अब वो मेरी परी के नन्हे से मुख में नहीं समा रहा था और ब्लॉन्ड रसियन बार्बी डॉल उसे अपने दाहिने हाथ में पकड़े हुए उसके छतरी जैसे चौड़े-मांसल टोपे को अपनी सुन्दर, गुलाबी जीभ को बाहर निकाल कर चाटने लगी थी. अब वो उछल उछल कर मेरे मुँह में लंड डालने लगे, मेरा मुँह छिल रहा था, पर मैं कुछ कर भी तो नहीं सकती थी.

धीरे धीरे हम कॉल कर के सेक्स की बातें करने लगे और फिर हमने मिलने का प्लान चंडीगढ़ में बनाया।पिछले महीने हमारी मुलाकात चंडीगढ़ में हुई, मैं भी किसी जॉब इंटरव्यू का बहाना लगा कर निकल आया और उसने भी घर पर अपनी किसी सहेली की शादी का बहाना बनाया और हम दोनों सेक्टर 17 के बस स्टैंड पर मिले, कार्यक्रम हमारा पहले से ही तय था कि दिन में घूम फिर कर मौज मस्ती और रात को पलंग तोड़ मस्ती. विवेक ने उसको ऐसे ही काफी देर उछालने के बाद उसको पलट कर बेड पे डाल दिया और उसकी एक टांग कंधे पे रख कर उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिए. बीएफ सेक्सी देखने कीबस इसके बाद तो जब तक मैं मौसी के घर रही समझो मेरी चुत में भैया का लंड आता जाता रहा.

वो पीछे को होने लगी, मैंने रुक कर सुहानी से पूछा- क्या तुम्हारा फर्स्ट टाइम है?तो वो दर्द में चिल्ला कर बोली- और क्या मैं चुदती फिरती हूँ. तो मैंने उस से कहा- मेरी गर्लफ्रैंड है, तो उस से आपको क्यों जलन हो रही है?उसने कुछ नहीं कहा और नाराज हो गयी.

उसको चोदते हुए बहुत देर हो गई थी, पर मेरा पानी निकल ही नहीं रहा था. चाची पहली बार कोई लंड चूस रही थी तो उनको आ नहीं रहा था, तो वो जोर से चूस रही थीं जिससे मेरे लंड पर उनके दाँत लग रहे थे. जो आज उनके घर का चिराग है, वो मेरा बच्चा है। यह सिर्फ़ हम दोनों को ही पता है।लेकिन उस दिन के बाद मैंने चाची जी के घर जाना बंद कर दिया। उसके बाद मैं दिल्ली आ गया।तो ये थी मेरी आप बीती चोदन कथा!प्राइवेसी के कारण मैं अपना इमेल नहीं दे रहा हूँ.

मैंने उससे पूछा- क्या तुम मुझसे प्यार करती हो?उसने सर झुका लिया मैंने उससे फिर पूछा- बताओ?उसने हामी भरते हुए मुझसे अपने प्यार की रजामंदी दे दी. अब सब सोने के मूड में थे तो बस में बहुत हल्की ब्लू लाईट ही जल रही थी. हमारे यहाँ नई दोस्ती की शुरुआत जाम उठा कर की जाती है!” आर्थर मुस्कुराया.

नीना ने हम दोनों को घंटे भर आराम करने के लिए शोरगुल न करने और शांति के साथ होम वर्क करते रहने को कहा.

उसकी योनि छोटी सी ही थी मगर काफी फूली हुई थी जिसके कारण योनि की छोटी छोटी फांकें स्वतः ही खुली हुई महसूस हो रही थी। उसकी योनि पर छोटे छोटे और हल्के से बाल भी महसूस हो रहे थे।उसकी छोटी सी फूली हुई योनि व उसकी उभरी फांकों को महसूस करने करने के बाद ये तो मुझे यकीन हो गया था कि ये औरत नहीं बल्कि कोई लड़की है और हो सकता है ये अभी तक कुँवारी भी हो. दोस्तो आप तो समझ ही सकते हैं कि जब कोई ख्वाब सच हो जाता है तो क्या होता है? मेरा सपना भी एक दिन सच हो गया.

कुछ देर बाद मैं वहाँ से उठ कर नीचे अपने कमरे में जाने लगा तो उसने मुझे बुलाया और पूछा कि मैं क्या करता हूँ और मेरा नाम भी पूछा. वो बोली- मैं ज़रा बाथरूम से होकर आती हूँ, आप तब तक टीवी पर डीवीडी चला कर मूवी देखिए. दिल्ली में मेरी एक सहेली किराये पर रहती है और वो मेरे साथ कॉल सेण्टर में जॉब करने जाती है.

जब मैं पहुंची राघव के पास, वो मेरा ही इन्तजार कर रहा था, गाड़ी में बैठने के बाद वो एकटक मुझे देखने लगा था. यह सब सुरेंद्र जीजा देख रहे थे और फिर सुरेंद्र जीजा बोले- अंकल, मुझे भी ड्रिंक करना है। मैं आपकी दारू पी सकता हूं क्या?अंकल बोले- हां बिल्कुल सुरेंद्र, तुम ले लो, सामने रखी है!सुरेंद्र जीजा गए और उन्होंने पूरा ग्लास दारू का भरा और पीने लगे. उसने जाते जाते मुझसे कहा कि शुक्र करो कि तुम्हारे चूचे पर मैंने अपने नाम का ठप्पा नहीं लगाया, वरना मैं तो वहाँ पर भी लगा देता हूँ ताकि वो अगर मेरे पास ना वापिस आए तो कोई उसे बहुत सोच समझ कर ही चोदेगा और पैसे भी सड़क छाप रंडी की तरह ही उसे मिलेंगे.

दादी और पोते की बीएफ जैसे ही अंदर घुसा, समीर ने मुझे पीछे से दबोच लिया और मेरे गर्दन पर किस करने लगा. मॉम अपना मुँह लंड के करीब ले गईं और उसी अवस्था में नवीन के मुरझाये हुए लंड को जीभ निकाल निकल कर चाटने लगीं.

चुदाई वीडियो बीएफ सेक्स

मैं वार्डन से बाद में जाकर उसके कमरे में उससे बोला- सर बच्चा है, अभी नासमझ है. उस आह भरी चीख से सबकी नींद खुल गई और सब हमें चुदाई करते हुए देखने लगे. थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद विवेक ने लंड निकाल कर कामिनी की गोरी गांड पे पिचकारी छोड़ दी.

कुछ महीनों बाद हम तीनों प्रेगनेंट हो गई थे, जिसका हमारे घर वालों को पता चला. बहनचोद ऐसा जूस, जिसके सेवन से आदमी की रूह फड़क उठे! माँ की लौड़ी इसको रस कहना तो सरासर ग़लत होगा… ये तो मधु कहलाना चाहिए. एकस एकस एकस बीएफकुछ देर बाद की लंड चुसाई के उपरान्त मैडम मेरे ऊपर चढ़ गईं और मेरे मुँह के पास आकर बोलीं- मुँह खोलो.

उसने अपनी किरायेदारी में रहने वाली बहुत सारी औरतों को और अपनी नौकरानी को भी चोदा है.

मैं एक साल से तुझे रोज़ देखता था और तुम्हारी इन खूबसूरत चूचियों को मसलना चूसना चाहता था, हाय आज दिल की मुराद पूरी हुई. जब 7-8 इंच का लंड मेरे गांड में अंदर बाहर होता है तो जैसे, मुझे स्वर्ग का मज़ा आता है.

तीसरे दिन आंटी किसी काम से मेरे घर पर आईं और गलती से मैं उनके सामने आ गया. खैर… हम मंदिर जाने लगे तो बाहर जितने भी लोग थे, बस हम दोनों को ही देख रहे थे. ? मैं भी बताती हूँ तेरी माँ को और तू भी जा बता दे, मैं भी तेरे सर के साथ तेरे चक्कर का बता दूंगी.

इसके बाद दो दिन बस एक दूसरे को देखना, मुस्कराना, नजरों के तीर झेलना, छूकर चले जाना, इसी में समय जाता रहा!तीसरे दिन किसी काम के चलते वो मेरे घर शाम को आई! उस समय पर मेरे घर पे कोई नहीं होता तो उस दिन भी कोई नहीं था! सब आठ बजे के बाद लौटते थे, हमने काम की बातें की और काम ख़त्म कर दिया.

एक दिन ऐसे ही पढ़ाने वक़्त मेरा हाथ खुशबू के जाँघ से छू गया, तो उसने कुछ प्रतिक्रिया नहीं दी, बस मुस्कुरा दी. मैं भी बस यही पल तो जीना चाहता था, तो मैं भी पूरी तरह से खुल गया और उसका साथ देने लगा. मैंने एक उंगली उनकी गांड में डाल कर आगे पीछे कर रहा था, साथ ही उनके मम्मों को दबा कर चूस रहा था.

सेक्सी बीएफ वीडियो एक्स वीडियोना जाने खुदा ने ये चुत क्यों बनाई, ना मिले तो रहा नहीं जाता, मिल जाए तो ज्यादा देर तक इनकी गर्मी को सहा नहीं जाता. मैंने अचानक अपना तौलिया उठा कर लंड के ऊपर रख लिया और भाबी से सॉरी कहने लगा.

बीएफ वीडियो सेक्स बीएफ वीडियो

जब लंड इतना जोर मारने लगा था कि ना चाहते हुए भी उसका पानी चुत में जाना शुरू होने लगा तो फिर उसके लंड को चुत से बाहर खींच लिया. इस वक्त भी मैंने अपने बाल खुले ही छोड़े थे, जैसे मैं हर रोज़ करती थी. जब हम अपने फ्लैट में दाखिल हुए तो मेरी नताशा काफी थकी हुई दिख रही थी.

फिर उससे कहा- आपकी उम्र आपने 45 साल लिखी है, यह सही है?वो बोली- जी. वे दोस्त यार सब जो मेरी गांड मारते थे, व जो मेरे से गांड मरवाते थे… सभी अपनी अपनी जगह चले गए. रंग उसका बिलकुल गोरा था, 36 साइज के टाइट मम्मे थे, जब पहली बार देखा तो देखता ही रह गया.

वो चिल्लाना चाहती थीं, पर उनके मुँह में बॉल घुसा होने की वजह से चिल्ला नहीं पाईं. हम दोनों एक दूसरे को लगातार गरम करते रहते थे… लेकिन चुदाई का खेल नहीं हो पा रहा था. जब हमारी धड़कन कुछ संयत हुई तो उन्होंने मुझसे पूछा- तुम यह कब से चाहती थी?मैंने कहा- मैं आप से बहुत पहले से प्यार करती हूं और हमेशा आपको पाने की चाहत रखती थी लेकिन खुद को काबू में रखा लेकिन आज दीदी के आपसे खराब व्यवहार के बाद खुद को काबू में नहीं रख पाई। आप मुझसे वादा कीजिए कि दीदी के साथ-साथ आप मुझे भी इसी तरह से प्यार करते रहेंगे.

उसकी मजे में चीख निकल गई, जो मैंने उसके होठों पर होंठ रख कर दबा ली और जबरदस्त चुदाई शुरू कर दी. मुझको बहुत गुस्सा आया, पर मैंने मन में सोचा ज्यादा दिमाग लगाना बेकार है.

उसने बताया कि यह पोज उसके हस्बैंड ने कभी नहीं किया क्योंकि वह मुझसे पतला और हल्का है.

मैंने जीभ से बार ज़ोर ज़ोर से स्वर्ण रस के छेद पर प्रहार किये तो रानी दसियों बार झड़ी. सेक्सी बीएफ वीडियो अंग्रेजों कीमैंने वासना भरी आवाज में उससे लिपट कर कहा- अभी तो मैं ही काफ़ी हूँ तुम्हारा ईमान बिगाड़ने को, उसके बाद में कुछ और सोचना. बीएफ फुल मूवी एचडीमैंने चाची को बताया तो बोली- कर दे अंदर ही… बच्चा ठहर गया तो भी खून तो घर का ही रहेगा!मैं थोड़े झटके मार कर चाची की चूत में झड़ गया. भाभी की मदमस्त देह देख कर और उनकी बिल्कुल गोरी चिट्टी चुत देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैंने पूछा- पायल जी, आपको कैसी मसाज़ करानी है?पायल भाभी बोलीं- फुल बॉडी मसाज़.

अब नीलम भाभी उठीं और भाभी ने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत के मुँह पर टिका लिया, फिर भाभी एक झटके के साथ लंड के ऊपर बैठ गईं. मैंने कहा- आज तो चुदवा रही थी ना!वो बोली कि कहां चुदवाया है?मैंने बोला- तो क्या गांड दिखा रही थी उसको?वो अब थोड़ा घबराई और बोली कि सिर्फ कपड़े ही निकाले थे. दोस्तो, मैं आपको बताना भूल गया कि हम पहले भी हंसी मजाक और थोड़ी बहुतफोन पर सेक्स चैटकिया करते थे.

वो मेरे दूध दबाता हुआ बोला- जब तक इस लंड का पानी ना निकले, इसको चूसती रहो. नीलम जी बोलीं- मुझे मैडम नहीं भाभी कहो… मैं तुमको प्यार से मिलना चाहती हूँ… कोई मैडम बन कर नहीं!मैंने कहा- भाभी जी आपने मेरी बात का उत्तर नहीं दिया. दीदी ने कहा- मुझे मालूम है तू मुझे चोदना चाहता है और मैंने बहुत बार तुझे मेरी तस्वीरों को हाथ में लेकर मुठ मारते देखा है.

पंजाबी सेक्सी बीएफ सेक्सी

सबसे महत्वपूर्ण बात यह थी कि वो मुझे राज जी नहीं बोल रही थी बल्कि चूत निवास को शार्ट करके निवास जी बोल रही थी. इससे पहले मैं कुछ और डायलॉग मारता, जूसी रानी लौट आयी और आकर मेरी बग़ल में अपनी जगह पर बैठ गयी. फिर इसी तरह की कुछ और डबल मीनिंग बातें हुई; मैंने उस की प्रोबलम सॉल्व की और वो चली गई.

दोस्तो… मेरा नाम अजय है। मेरी इस सेक्सी स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी किरायेदार नवविवाहिता देसी प्यासी भाभी की चूत की चुदाई का आनन्द लिया.

मैंने मैडम के साथ बैठ कर खाना खाया, खाने के बाद केसर का दूध का गिलास पिया.

”अब असली सरप्राइज आता है, उन दोनों ने मेरी चूत ही चोदी थी मगर पर मेरी गांड नहीं मारी थी. मैंने फ़ोन उठाया और पूछा- कौन?वहां से कुछ देर तक कोई आवाज नहीं आई, फिर थोड़ी देर बाद एक लड़की की आवाज आई- हैलो सनी, कैसे हो?मैंने उसकी आवाज पहचान ली. गढ़वाली सेक्सी बीएफये सुनकर मैं दंग रह गया और मैंने उसे ये कहकर टाल दिया कि वो देख रही थी मैं तो नहीं देखता.

उस दिन बहुत तेज बारिश हो रही थी जिसके कारण मुझे बस स्टैंड जाने के लिए कोई ऑटो नहीं मिल रही थी, मैं रोड के ऊपर खड़ा ऑटो का इंतज़ार कर रहा था. ऋतु- सर प्लीज़ मैं आकाश के सामने कैसे किसी और के साथ सेक्स कर सकती हूँ?ऑफिसर- मैं कोई रिस्क नहीं लूँगा, मैं तुम्हारे हज़्बेंड के सामने ही तुम्हें चोदूँगा बस. इस वक्त उसने काले रंग की नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें वह एकदम सेक्सी लग रही थी.

मैंने चाची से फिर पूछा कि चाची क्या आप अपने स्कूल टाइम में होली में अपनी सहेलियों को लेकर मस्ती करती थीं. फिर हम वहां से अपनी कार लेकर फ्लैट पर पहुंचे, रास्ते में वो मेरे लंड से खेलती हुई आई.

मैं बोला- तुम धमका रही हो?वो बोली- धमका नहीं रही हूँ, समझा रही हूँ या फिर मन है गांड मरवाने का तो जाओ और उसको बोल दो कि मेरी बीवी को मत चोदा करो.

उसके इस रिप्लाई से न मैं उससे कुछ कह पाई… ना पूछ पाई, बस एक सुनसान जगह ले जाके गाड़ी रोक दी. आंटी मेरी गीली पैन्ट देख कर हंस पड़ीं और बोलीं- तुम्हारी तो गीली हो गई. अंदर से उसने बेफिक्र होकर कुन्डी लगाते हुए अपनी शर्ट उतार कर मेरे हाथ में देते हुए बोला- आजा रानी… अब आयेगा तुझे मजा… तेरी गान्ड ने अब तक ऐसी चुदाई नहीं देखी होगी.

बीएफ वीडियो नेपाली एचडी ऋतु- सर प्लीज़ मैं आकाश के सामने कैसे किसी और के साथ सेक्स कर सकती हूँ?ऑफिसर- मैं कोई रिस्क नहीं लूँगा, मैं तुम्हारे हज़्बेंड के सामने ही तुम्हें चोदूँगा बस. जैसे ही वो अपनी ताक़त लगा कर लंड अन्दर को धकेलता, उतना ही ज्यादा मुझको दर्द होता.

अंकल पूछने लगे- फिर बेटा सर्दी में काम कैसे चलता है?मैंने कहा- बस ऐसे ही चल जाता है. वो मेरे पास आया और उसने एक बार फिर से अपना लंड मेरे मुँह में लगा दिया और बोला- जरा लंड चिकना कर दे. शावर से ठंडा पानी निकलते ही कामिनी विवेक से चिपक गई और बोली- बहुत बद्तमीज हो यार.

बीएफ पिक्चर भेज

मैंने भी अपने चूतड़ों को फैला दिया था और अपनी गांड को जरा खोल दिया था. मैंने ज्योति से पूछा- क्या काम है और कैसे आना हुआ?ज्योति ने कहा- भैया आपको मेरे पापा ने बुलाया है, जल्दी चलिए. उनके सभी साथ मैंने अपने ईमेल रिलेशन को अभी तक बनाए रखा है, लेकिन मुझे लड़कियों से ज़्यादा आंटी और भाभी में इंटरेस्ट है.

लगभग बीस मिनट बाद मेरे लंड ने और उसकी चूत ने अपना अपना अपना रस छोड़ दिया. कुछ लोगों ने मुझको मेल करके बताया कि मेरी कहानी उनको काफ़ी मस्त लगी.

दो मिनट की चुदाई के बाद उसने मुझे अपने ऊपर से हटने का इशारा किया और घोड़ी बनने का कहा.

चाचा को उनके मित्रों ने ढेर सारी भांग की ठंडाई पिला दी, जिससे वो गहरी नींद में सो गए. जब उसकी समझ में आया तो वो बोली- मुझे बचाने के लिए आपको भगवान ने ही भेजा है. हालाँकि मुझे इस बात का बहुत अच्छी तरह से आभास था, मगर नौकरी की व्यस्तता के चलते अपनी डार्लिंग के लिए किसी बिंदास लंड का बदोबस्त नहीं कर पाया था.

मैंने लंड को उसकी चूत पर सैट किया और उसकी टांगों को अपने कंधे पर रखा कर एक हल्का सा पुश किया. वो लड़का मुझ पर इस तरह से झपटा, जैसे चूहे पर कोई बिल्ली झपटा मारती है. मैंने उससे पूछा- ये क्या हो गया तुम्हारे कपड़ों के साथ?वो बोली- जब मैं कोल्ड ड्रिंक डालने के लिए गिलास धो रही थी तो पानी की टोंटी ऊपर से निकल गई.

मैंने कहा- और मेरा दोस्त?उसने कहा कि उससे मुझे थोड़ा भी मज़ा नहीं आया.

दादी और पोते की बीएफ: शहर की सीमा आने पर एक जगह दीदी ने मेरे हाथ पर गाड़ी रोकने का इशारा किया तो मैंने गाड़ी पार्क की. वो बोली- साले चूसता है कि नंगा ही फ्लैट के बाहर निकलवाऊं…और वो विवेक से बोली- कहां है तुम्हारा फ़ोन…?विवक का फोन उठा कर उसने रिकॉर्डिंग चालू कर दी.

कपड़े पहनते हुए मैंने उस लड़के को दो झापड़ मारे, अभी मैं उसकी और ठुकाई करता कि तभी लड़का बाहर भाग गया. बस फिर मैं चलती बस में चुदने का सपना लेकर सो गया, शाम 5 बजे मेरी बस थी. पाठक पाठिकाओं को चूत निवास के लौड़े का इकतीस बार फुदक फुदक के सलामी.

भाईजान मेरे हिलने से कुछ देर तो खामोश रहे, फिर धीरे से पास आए और मुझे खामोशी से सोता देख कर उन्होंने मेरा सामने से खुलने वाले जंपर (कुर्ता) के ऊपर के तीनों बटन खोल दिए.

इसी दरमियान उसने मेरे लंड का उभार भी देख लिया, लेकिन वो कुछ बोली नहीं. मैंने कमरे में आकर साड़ी बदलना शुरू किया ही था कि तभी मुझे मेरे पीछे कुछ हरकत सी होती लगी. जो लड़की फोन उठाये, तुम उसे देख कर बताना कि कैसा माल है, अगर खराब लगेगी तो हम दोनों वापस चले जाएंगे.