बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती

छवि स्रोत,बीएफ ब्लू पिक्चर वीडियो हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

সেক্স মুভি সেক্স: बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती, अमीश के जाने के बाद मेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ गई थी और अपना रास्ता बनाने के लिए मैं अक्सर दादी के पास चला जाता था ताकि मल्लिका के करीब जाने का मौका मिल सके.

देहाती औरतों का सेक्सी बीएफ

उसने पहले तो कुछ देर मेरी योनि को ऊपर से चाटा, फिर ऐसे दांतों और होंठों से मेरी योनि की पखुड़ियों को दबोच-दबोच चाटने लगी जैसे वो मेरी योनि खा जाएगी. सेक्सी वीडियो चोदा बीएफमैं दर्द से कराह उठी और हाथों और टांगों की मदद से कविता को और आगे बढ़ने से रोक लिया.

मेरा खड़ा लंड देख कर अनु बोली- अब आप ही देख लो फूफाजी, इस झांटू का लंड ही मेरी चुत में अन्दर नहीं जा रहा है. 18 साल वाला बीएफफिर जीजू ने मुझे उठाया और फ्रेंच किस करने लगे।वे मेरी जीभ को चूस रहे थे और जीभ से जीभ लड़ा रहे थे.

मैंने भोलेपन से पूछा- कैसा काम खराब हो जाएगा!जीजू बोले- यार मैं तुमसे एक बात कहना चाहता हूँ.बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती: उसके बाद मैंने उसकी चुदाई कैसे की?दोस्तो, मेरा नाम अमन है और आज आपके लिए एक मस्तकॉलेज गर्ल सेक्स कहानी लेकर आया हूँ.

वो बोली- हां रमित, प्लीज दिन भर मुझे अपनी बांहों में रखो … मुझे अपने से अलग मत करना.रति- ठीक है बेटा।रिया गार्डन में गयी और फिर से रेहाना से बात करने लगी.

देहाती बीएफ एचडी सेक्स - बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती

मेरे सीने पर सर रख कर मेरे कान में फुसफुसाई- बहुत मस्त चुदाई करते हो आप.मुझे बहुत शर्म आ रही थी; मैंने जल्दी से कुर्ती पहन ली और ब्रा पर्स में रख ली.

उसके चेहरे का वो कामुक अंदाज़!उसे देख मेरा ज्यादा देर टिके रहना मुश्किल हो रहा था. बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती मैंने अन्जना को बताया कि मेरे और मेरी आंटी के बीच में क्या क्या हुआ.

सुबह पांच बचे रिलेश का फोन आया कि जल्दी नीचे आ जाओ, मम्मी पापा घूमने निकल गए हैं.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती?

मैंने भी दीदी को वहीं पलटा और उसकी टांगों को अपने कंधे पर रखवा लिया, दीदी की फुद्दी की बाहरी दीवारों पर मैंने लौड़े को रगड़ा. हालांकि मुझे तो लग ही गया था कि उनकी उम्र 50 साल के आस पास या कुछ अधिक ही होगी. मैं भाईजान के लंड पर से उठना चाहती थी लेकिन उन्होंने मुझे पकड़ लिया और धीरे धीरे लंड को अंदर जाने दिया.

इससे वो फिर से गर्म होने लगीं और मैं उनकी चुचियों को पकड़ कर धक्के देने लगा. आँटी बहुत देर तक ऊपर उछल कर शांत हो गई और नीचे उतरकर मेरे साथ लेट गई. कुछ देर बाद मौसी चुदासी सी बोलीं- अब देर न कर पहले जल्दी से मेरी चूत में अपना लंड डाल मेरी चूत फाड़ दे.

मैंने भी उनके बदन से उनकी टीशर्ट और लोअर को उतारकर उन्हें नंगा कर दिया. भाभी के चूचों का लिसलिसा सा रस पीते हुए मैंने उनके भूरे रंग को निप्पल को गुलाबी कर दिया. लेकिन शादी के बाद भी ये सब होना है और अब भी सब हो रहा है, सो मैंने सोचा कि जो होगा देखा जाएगा.

फिर मैंने उसकी चूत की एक फांक को अपने होंठों में भर लिया और खींचते हुए चूसने लगा, वो कलप उठी. यह सुनकर वे दोनों एकदम परेशान हो गए और आदमी बोला- ये कैसे हो सकता है? अभी तो हमने हाँ की है.

वो भी मेरा साथ देती रही।तभी मैंने उसकी टीशर्ट में हाथ डाल कर उसके मम्में पकड़ लिये और जोर से दबा दिया।अब मैंने उसकी गर्दन पर किस किया तो वो कसमसा गयी.

कुछ सोचने के बाद भाभी कहने लगी- तुम्हें इस मकान में रखने का हमारा मकसद यही है कि हमें कोई बाहर का आदमी जैसे रोहित या उसके दोस्त अकेले समझकर नेहा, बंटू और हम सबको परेशान न करें.

ऐसे उसने इसलिए किया था क्यों मरीज को काफी देर तक ज्यादा खांसी होने के कारण उसे अपनी कुछ चिंता हुई होगी. रोहन फोन के बाद टेंशन में थे और मैं भी चिंतित होने का नाटक करने लगी थी. काम खत्म हुआ तो वापसी करने में देर नहीं लगाई।Xxx ग्रुप सेक्स कहानी आपको कैसी लगी.

सेक्सी भाभी न्यूड स्टोरी पढ़ कर आपनी अन्तर्वासना जागी या नहीं?सेक्सी भाभी न्यूड स्टोरी जारी रहेगी. उसने अपनी मोटी गांड को साइड में कर लिया और मुझे उसके चूतड़ और अच्छी तरह से दिखने लगे. दीपिका- आप उस दिन इतने नाराज क्यों हुए थे?मैंने कहा- दीपिका जी, मैं लेडीज की इज्जत करता हूँ और आपके हस्बैंड आपसे बद्तमीज़ी से पेश आ रहे थे जो मैं सहन नहीं कर पाया था.

मैंने धीरे धीरे उसके पैर चूमते हुए उसकी जाँघों को चूमा और धीरे से उसकी पेंटी उतार दी.

जब मम्मी को पता चला तो मम्मी ने मुझे बुलाया और पूछने लगी तो मैंने सारी बात बता दी लेकिन मुझे बहुत शर्म आ रही थी।मम्मी ने कहा- कोई बात नहीं … कल अस्पताल चलकर दवाई ले लेना. एक रात को मैं इंटरनेट पर अपनी अतृप्त वासना को शांत करने के तरीके खोज रहा था. मैंने साली जी की बुर के बाहरी होंठ चाटते हुए उन्हें आहिस्ता से खोल लिया और चूत के आंगन में अपनी जीभ घुसा ली.

कुछ देर बाद मैं उठा और मैंने ज़ीनिया से कहा- अब मैं चलता हूं क्योंकि मुझे घर भी जाना है. इसके बाद उन मोहतरमा ने समय और दिन निश्चित किया और उस दिन मुझे आने के लिए बोल दिया. मैं इसमें अनुभवी नहीं हूँ पर ट्राइ ज़रूर करूंगा, तुम कोई पुरानी चादर फर्श पर बिछा लो और लेट जाओ.

मुझे पता था कि उसका लंबा मोटा लौड़ा मेरी गांड को पूरी तरह से फाड़ कर रख देगा.

मैंने उसकी तरफ मुस्कराते हुए पीछे देखा और फिर से आगे की तरफ देखने लगी. इसलिए लॉकडाउन में छूट मिलते ही मैंने अपने पति के सामने ही अपने बॉयफ्रेंड थॉमस के मोटे लंड से चुदने की एक प्लानिंग की.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती मन तो मेरा कर रहा था कि लपक कर उन दोनों के लंड पकड़ लूँ और उनको एक साथ फुद्दी और गांड में डाल लूँ. दोस्तो, मुझे कोई आश्चर्य नहीं हुआ क्योंकि मुझे पूरा विश्वास था कि वो हां ही करने वाली है.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती विजय अचानक चुदाई करते करते रुक गया और पूछने लगा- शालू किसका फोन है?लेकिन मैंने विजय को नहीं बताया सुमन भाभी ने कॉल किया है. मैंने आंटी के ब्लाउज में हाथ डाला और उनकी बड़ी बड़ी चूचियों को हाथों से दबाने लगा.

या यूं कहूं कि जीजू को मेरी तनी हुई चूचियां और उठी हुई गांड चोदने का निमंत्रण दे रही थी कि आपकी साली की चुत भोग लगवाने के लिए तैयार है.

पीली कुर्ती

वो मेरा पूरा साथ दे रही थी और आज हमारे किस में प्यार के साथ हवस भी भरपूर थी, जिससे हम दोनों ही वाकिफ़ थे. ऊपर से गिरता हुआ पानी कविता भाभी के सिर पर से बहता हुआ, आंखों के बीचों बीच से बहते हुए, गुलाबी नर्म होंठों को छूते हुए, उनके खूबसूरत चेहरे से बहकर … लंबी सुराहीदार गर्दन से चिपक कर धीरे धीरे गुलमर्ग की वादियों में जा रहा था. मैंने सरोज भाभी से कहा- भाभी, मैं इस कमरे में अपना सामान रख रहा हूँ लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इस कमरे में आप लोग नहीं आओ जाओगे.

वो बी मजा लेकर अपनी चूचियां मसली जाने का मजा ले रही थी और हल्की हल्की सिसकारियां भर रही थी. यहां मैं बता दूं कि मैंने बालकॉनी की लाइट नहीं जला रखी थी और मैं अंदर कमरे में से जो खिड़की और दरवाजों से हल्की सी लाइट आती थी, उसी में बैठता था. मैंने आँटी की चूचियों को अपने मुँह में लिया और उन्हें चूसने, काटने लगा साथ ही उनके चूत के क्लीटोरियस पर ऊँगली अंगूठा चलाने लगा.

झांटें छोटी छोटी होने से चूत की गुलाबी त्वचा नुमाया होकर अलग ही मस्त नजारा पेश कर रही थी.

कुछ दिनों के लिए और उसने अपनी जगह अपने लड़के श्यामू को भेजने को मुझसे बोल दिया था. फिर कुतिया की तरह चलकर इधर आ।रिया कुतिया की तरह चलकर रमेश के पास आ गयी. भाभी भैया को नशे में टल्ली देख कर मेरे पास आईं और बड़बड़ाने लगीं- बस इनको तो दारू के नशे में मजा आता है.

बल्कि यों कहिए कि वे मेरे बूब्स को काट कर मेरे शरीर से अलग कर देना चाहते थे. आपने मेरी पिछली कहानीऑटो ड्राइवर ने सारी रात चोदाको बहुत पसंद किया. फिर उसके पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया और उसकी पैन्टी के ऊपर से सहलाने लगा.

तो दोस्तो, मेरी ये ग्रुप में गे सेक्स स्टोरी आपको कैसी लग रही है, प्लीज़ मेल करके जरूर बताना. मैंने इतने बड़े बड़े चुचे पहली बार देखे थे … तो मुझसे रहा ही नहीं जा रहा था.

मैंने कहा- भाभी, यह जवान है, हो सकता है इसकी कुछ शारीरिक जरूरतें भी होंगी?भाभी- असली बात तो यही है, इसकी फुद्दी में ही आग लगी हुई है, इसीलिए उससे आराम से बात कर रही थी. कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि दो लड़कियाँ मेरी टूरिंग कार से कोटा गयी. लेकिन उसने अपनी पड़ोस की एक असंतुष्ट भाभी आएशा को वासना पूर्ति के लिए शाम को बुलाया है।34 साल की आएशा एक शेयर कारोबारी हमीद दलाल की तीसरी बीवी है जो अपने ४८ साल के खसम से खुश नहीं है।रीना की प्लानिंग सुन मैं दंग रह गया.

मैं- बोलो न फिर … जान मेरी चूत में लंड डाल दो!नीरा- अमन, प्लीज़ मेरी चूत में लन्ड डाल दो प्लीज़!मुझे खुद पर गर्व महसूस हो रहा था.

कुछ देर होंठों को चूसने के बाद रमेश नीचे खिसक गया और उसके चूचों को मुंह में लेकर चूसने लगा- उम्म … पुच … पुच … आह्ह … ऊंह … हम्म … आह्ह … क्या बूब्स हैं तेरे रेहाना. उन्होंने मुझे अपने बारे में बताया।मगर जैसा मुझे मेरी फ्रेंड ने बताया था कि भरोसा जरा सोच समझ कर करना … वह बात हमेशा मेरे दिल और दिमाग में घूम रही थी. फिर हम दोनों ने मिलकर चाय पी और अपनी कार में बैठकर माउंट आबू के लिए रवाना हुए.

मेरी पिछली कहानी थी:जंगल में गर्लफ्रेंड की हंसी को चीखों में बदलाआप सभी से अनुरोध है कि आप अपनी चुत में उंगली डाल कर ही मेरी नयी सेक्स कहानी को पढ़ें. मैं- तो फिर मैं उसकी चूत चोदूं या गांड?अन्जना- नॉटी ब्वॉय। अपनी विधवा आंटी की सीधा ही गांड मत मारना.

मैं अब पहले से कहीं और अधिक उत्तेजित महसूस करने लगी थी और अब मैं लम्बी-लम्बी सांसें खींच कर कविता की साँसों की खुशबू लेना चाहती थी. अब बेवजह तो मैं शायरा से मिल‌ नहीं सकता था, इसलिए मुझे इस कोरियर के जरिये उससे मिलने का बहुत ही सही बहाना लग रहा था. हम सबने विजय को विदा किया।यह थी मेरी और विजय के मिलन की दास्तां!यही कहानी लड़की की आवाज में सुन कर मजा लीजिये.

सेक्सी चित्र दिखाइए

जब वो उठी और कपड़े बदलने लगी तो मुझे उसकी पैंटी की एक झलक मिल गयी थी.

मैंने पूछा- क्या हुआ कुतिया?तभी छोटी चाची जो अब सोफ़े पर आकर बैठ गई थीं, वो बोलीं- मेरे घोड़े तू डाल जोर से … ये तो नाटक कर रही है साली. वो झट से उठी और मेरे लंड को पैंट में से आजाद करके अपने मुलायम हाथों से सहलाने में लग गई. कभी मैं अपने मुँह से थूक और लार उसके मुँह में दे देती और वो चूस लेती, तो कभी वो मेरे मुँह में देती और मैं चूस जाती.

इस तरह से गीत को अब डबल मज़ा मिल रहा था और गीत के मुंह से बस अब कुछ ऐसे सिसकारियां निकलने लगीं-उईई…आह्ह. भाभी जब वापिस आई तो उनके हाथ में लगभग 5 इंच लम्बा, हाइब्रिड पतला, लगभग 100 ग्राम का खीरा था. बीएफ वीडियो भयंकर चुदाईवो लगातार मेरी चुत चूसती गई और मेरी भी टांगें खुद ब खुद खुलती चली गईं.

मैं हंस पड़ा और बोला- ओके कविता, तुम ये तो बता दो कि शॉवर चालू कहां से होता है. तो मैं भी उसके कपड़े उतारने लगा कुछ ही पलों में हम दोनों ने एक दूसरे को नंगा कर लिया!अब वो मुझे किस करने लगी और किस करते-करते हम दोनों बिस्तर पर गिर गये!मैंने उसकी चूचियां चूसनी शुरू कीं तो ज़ारा तड़प उठी और नीचे हाथ ले जा कर मेरा लंड पकड़ लिया और सहलाने लगी.

मैं और शायरा चलते हुए आधी दूर ही आए थे कि तभी हल्की हल्की बारिश होनी शुरू हो गयी. फिर भी अनजान सा बनकर मैंने बोला- भाभी मैं समझा नहीं कि हफ्ते में एक बार ही ध्यान रखता है … इसका क्या मतलब हुआ?भाभी बोलीं- इतने अनजान मत बनो कि समझे नहीं … तुम सब समझते हो. अब रॉनी ने भी तेजी पकड़ ली थी और वो मेरे दूध दबाते हुए मेरी गांड मारने में लग गया.

मैंने शादी के लिए ही दो अच्छे सूट खरीदे थे और दो पहले वाले सूट भी साथ रख लिये थे. भाभी ने बाथरूम के बहाने रात को अपने बेडरूम में आने का भी मेरा रास्ता साफ कर दिया. इससे पहले मैं कुछ और सोच पाती, राहुल ने करीब आकर अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और बोला- चल छिनाल चूस मेरा लौड़ा.

बात हो ही रही थी कि रश्मि उसी दरवाजे से अन्दर आयी और लौड़े को मुँह में भर कर चूसती जा रही थी.

अब हम तीनों के शरीर पर केवल लंड चुत को ढंकने वाले अंडरगारमेंट्स ही रह गए थे. भाभी ने कहा- दादी भूल जाओ इस बात को और जो मैं कह रही हूँ उसको ध्यान से सुनो और इसकी शादी जल्दी से जल्दी कर दो.

मैंने दीपिका से उसका कोल्डड्रिंक का गिलास लिया और उसमें आधा पेग 30 एम. हम ऐसे ही सो गए।जब नींद खुली तो 8 बज चुके थे।फिर काजल ने खाना तैयार किया. मैंने उनकी चुत पर एक चुंबन लेते हुए अपना लंड अपनी प्यारी भाभी की गांड के छेद पर रख दिया और धीरे-धीरे दबाव बनाने लगा.

इतना कह कर गीत ने अपनी जीभ निकाली और संजय के आगे बैठ कर उसके लंड को चाटना शुरू कर दिया. उस गर्म चूत का मजा मैंने कैसे लिया?अब आगे की चुदाई इंडियन हॉट चूत की:कुछ ही देर में गीतिका हाथ में एक गाउन और एक ट्रे में दूध का लोटा और कुछ ड्राई फ्रूट लेकर कमरे में आ गई. मुझे तो डर था कि कहीं वे मेरी चूत में झटके देता देता न मर जाए!फिर हम पांचों सोफे पर बैठ गए.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती मैं समझ गया कि हॉट सेक्सी भाबी चुदने को राजी तो हैं, मगर कुछ नाटक कर रही हैं. मैंने उनसे कहा- वे लोग कितनी देर में आएंगे?तो बोले- वे लोग बस आधे घंटे में आ जाएंगे.

प्रिया दीदी की चुदाई

एक पल बाद कविता भाभी मेरे पास आईं और उन्होंने मुझे एक किस करते हुए कहा- तुम सिर्फ़ मेरा साथ दो, मुझे कोई अफसोस नहीं है. मैं और शायरा चलते हुए आधी दूर ही आए थे कि तभी हल्की हल्की बारिश होनी शुरू हो गयी. मेरा पानी उसकी गोद में ही निकल चुका था और मैं जैसे-जैसे उसके लण्ड पर कूद रही थी … चूत और लण्ड की चुदाई में जोर जोर से फच.

तो धीरे-धीरे उन्होंने अपनी बातें और अपनी परेशानियां कहनी शुरू कर दीं. मेरे हाथ उसकी चुचियों को मसलने में लगे हुए थे और मेरे होंठ उसके होंठों का रस पीने में लगे हुए थे. बीएफ सेक्सी पिक्चर बढ़ियाउसने जैसे ही मेरा अंडरवियर उतारा, तो मेरा तना हुआ लंड सीधा उसके होंठों पर जाकर टकरा गया.

मैंने उसे चूम कर पूछा- बेबी शुरू करूं?वो बोली- हां मगर धीरे धीरे करना.

मैंने खुलते हुए कहा- हां तो रंडियों, अब ज्यादा मत तड़पाओ … लंड लेने की तैयारी शुरू कर दो. मगर फिर भी वो बड़ी सावधानी से अपने लंड को मेरे चूतड़ों के बीच सैट कर रहा था.

[emailprotected]हिंदी सेक्ससी कहानी का अगला भाग:तन्हा चूत की प्यास लंड से बुझी- 3. अपने पति की बेरुखी झेलने के बादपराये मर्द से चुदनामुझे असीम आनंद दे रहा था. वो बोला- पर अभी तो दुकान …अनु बात काटते हुए बोली- एकाध दिन दुकान नहीं जाओगे … तो क्या फर्क पड़ेगा.

मैं थोड़ी देर बाद बालकनी में जाकर बैठ गई तो देखा कि धीरू अंकल के दोस्त बालकनी में ही बैठे हुए थे.

अन्नू बोली- नहीं यार, कहीं कुछ गड़बड़ न हो जाये? वो इतना मस्त चोदता है तो फिर क्यों रिस्क ले रही है?डॉली भी बोली- हां यार, ये ठीक कह रही है. एक दो बार मुंह में अंदर बाहर करने के बाद उसने डिल्डो को मुंह में गहराई तक ले लिया. लेकिन एक लेडी बोले जा रही थी कि अब तो तुम दोनों को पुलिस को ही सौंपेंगे.

दुबई बीएफ वीडियोसिसक-सिसक कर मैं मजे लेने लगी और खुद ही अपनी चूचियों को दोनों हाथों से मसलने लगी. अब संजय जैसे ही लेटा तो मैंने नेहा को संजय की टांगों की तरफ़ मुंह करके संजय के लंड के ऊपर अपनी गांड रख कर बैठने को बोल दिया और नेहा ने भी बिलकुल वैसे ही किया.

नंगी पिक्चर ब्लू फिल्म

मैंने उसकी ब्रा और पेंटी दोनों को अलग कर दिया और चूचियों का रसपान करने लगा. मैं- ठीक है भैया … और कोई आ भी गए, तो मैं बोल दूंगा कि भैया बाहर गए हैं … वो कल आएंगे. मैं उसी दिन से सपने लेने लगी थी कि कब तुम मेरी चूत में इसे उतारोगे और मुझे शांति दोगे.

मैडम के साथ बिताए गए सेक्सी पल को वासना के मोतियों में पिरो कर आपके सामने लिखने की कोशिश कर रहा हूँ. हम दोनों कुछ देर नहीं हिले परन्तु कुछ देर बाद भाभी की चूत कुलबुलाने लगी और उन्होंने अंदर से चूत को भींच कर हरकत की जिससे मेरे लण्ड पर जबरदस्त कसाव हुआ. तभी मैंने देखा कि धीरू अंकल मेरे पीछे पीछे रसोई में आ गए और उन्होंने आते ही मेरी गांड पकड़ ली.

आंटी फिर बोली- कुछ समझे भी हो?मैं बस आंटी के मुंह की तरफ ही देखता रहा. उन्होंने अपने पति से तलाक का ना कोई कारण बताया … और ना मैंने उनसे पूछा. आपकी रूपा[emailprotected]हिंदी चुदाई स्टोरी का अगला भाग:सहेली के बॉयफ्रेंड से चुत चुदाई- 2.

और मैंने तुरन्त फोन काट दिया।फिर जीजू बोले- तुम्हारी चूत पर दाने बिल्कुल ठीक हो गये हैं मैं भी तो देखूं जरा?और इतना कहते ही जीजू ने मेरा हाथ पकड़ लिया. उससे छूटने के बाद मैंने उसे प्यार से देखा, तो वो भी मुझे नजर भर कर देखने लगा.

मैंने स्थिति को समझते हुए कहा- हाँ आंटी कोई बात नहीं, मैं अपना बिस्तर नीचे लगा लूँगा.

जेठ सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी शादी के बाद मेरे पति मुझे नहीं चोद पाए. 16 साल की लड़की बीएफ सेक्सीअन्नू और डॉली अभी कुछ देर पहले ही चुदवाकर आईं थी इसलिए उनका अब और चुदवाने का मन नहीं हो रहा था. माधुरी दीक्षित की नंगी बीएफमुझे बताती है कि लड़कियों को कैसे गर्म करना चाहिए, लड़की की चुदाई मैं कैसे उसे ज्यादा से ज्यादा मजा दिया जा सकता है. कुछ देर बाद मेरी बड़ी चाची एक लड़के के साथ हाथ में हाथ डाल कर बाहर निकल रही थीं.

फिर मेरे आगे आकर सनी बोला- यार चुत पब में मार लूंगा … अभी तो गांड मार लेने दो.

आंटी मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और बोली- अच्छा तो जनाब को गर्म गोश्त खाने का शौक है?उनकी इस बात पर मैं भी मुस्कुरा दिया. कुछ पल तक वो विरोध जताती रही लेकिन फिर उसके हाथ ढीले पड़ गये और मैं उसके होंठों को अच्छी तरह से चूसने लगा. मैं- वो ऐसे कि जब तुम मेरे पास आओगी, तो मैं तुम्हें सबसे पहले अपनी बांहों में भर लूंगा और गले से लगा लूंगा.

मुझे नहीं कहेगा रानी? मेरे नाम में क्या कांटे लगे हैं?यार अजीब लौंडिया है यह. एक बार मैंने फिर से उसको पकड़ लिया और गालियां देते हुए उसके मुंह पर थप्पड़ मारने लगा. पति से चैट खत्म होने के बाद भाभी मेरे पास आ गईं और मेरे गले लग गईं.

भारतीय ब्लू सेक्सी

चाचा जी बोले- सुहानी बेटा, आप तो बहुत ही ज्यादा खूबसूरत लग रही हो, इतनी सुंदर लड़की मैंने आज तक असलियत में नहीं देखी. तभी वो लोग अपना समान लेकर आने लगे और मुझसे मदद के लिए पूछा तो मैंने भी उनका समान रखवा दिया।अब समस्या ये थी कि मेरे वाले केबिन में काफी समान हो गया था और लेटने में तकलीफ हो रही थी. निष्ठा मेरी जान, अभी तो खेल शुरू हुआ है, आज मेरी साली पूरी घरवाली बनेगी.

अभिषेक के हाथ उसके सर के नीचे थे, तो मैंने बगल में रखी अपनी पैंटी, ब्लाउज और पेटीकोट लिया और बाथरूम में जाकर उनको पहन लिया.

सलवार उतार कर मैंने वहीं फर्श पर फेंक दी और पैंटी को हाथ में लेकर मैंने जोर से सूंघा.

चाचा ने जोर से कहा- चलो साहिल … क्या सोच रहे हो!मैंने अपने आपको संभाला और घर से बाहर निकल कर कार की तरफ़ चलने लगा. आज के चुम्बन के बाद से अब अभिषेक मुझसे भी बहुत खुल गया था … और मैं भी उससे काफी खुल गई थी. बीएफ एचडी भोजपुरी सेक्सीफिर न जाने क्या ख्याल आया कि मैं उन्हें देखने वापस कमरे तक चली गयी.

वह मेरा हाल-चाल पूछने लगी तो उसको अपने स्तन के आपरेशन वाली बात बताने लगी. मैंने अपनी चूत में उंगली करके अपनी चूत का पानी निकाला और फिर उसको उंगली से चाट कर साफ किया. वो अब शांत हो गई।मैंने लंड निकाल लिया और उसे बिस्तर से नीचे बैठाकर उसके मुंह में लंड डाल दिया.

मैंने ओके कहा और भाभी ने अपनी ब्रा मुँह में डाल कर मुझे इशारा कर दिया कि चोद दो. उसकी काली लैगिंग में उसके दो मस्त गोल गोल चूतड़ एकदम से कसे हुए थे.

मैं जब तड़प कर आढ़ी-टेढ़ी हुई, तो सबके सब मेरी अगल बगल बैठ गए और मेरे जिस्म को नोंचने लगे.

मैंने एक झटके में दोनों पैग हलक के नीचे उतारे और सिगरेट लेने के लिए नंगा ही उठा. मगर भाभी तो खुद ही मेरे लंड की दीवानी निकली! कैसे?नमस्कार दोस्तो, मैं आपका दोस्त शिवम आपके सामने एक बार फिर से हाजिर हूं।जिन पाठकों ने मेरी कहानीमामी की चूत चुदाई की चाहतपढ़ी होगी वो मुझे पहचान गए होंगे।सर्वप्रथम मैं अन्तर्वासना को हृदय से धन्यवाद देता हूँ जिन्होंने मेरी आपबीती को अन्तर्वासना जैसे विश्वप्रसिद्ध मंच पर प्रकाशित करने योग्य समझा. अगली सुबह इतवार था तो सुबह उठ कर मैंने दीदी की दो राउंड चुदाई और की.

हीरोइन बीएफ फोटो आह्ह … फक यू … आह्ह चुद साली रंडी … फाड़ दूंगा तेरी गांड के छेद को मैं. तभी एकता ने कहा- अरमान को तो तेरे पास चार साल से भी ज्यादा का समय हो गया है.

फिर उसके सर को पकड़ कर थोड़ा सा झुका दिया और उसके होंठों पर होंठ रख दिए. डाल दो अपना वीर्य मेरी बच्चेदानी में … बना दो मुझे अपने बच्चे की माँ … दे दो मुझे अपना बच्चा!हम दोनों की बातें मोबाइल में रिकॉर्ड हो रही थी और हम दोनों मोबाइल को देख कर मुस्कुरा रहे थे. अब पोजीशन ये थी कि संजय नीचे लेटा हुआ था और उसकी टांगों की तरफ़ मुंह करके नेहा अपनी गांड में संजय का लौड़ा डलवा कर बैठी हुई थी.

फटाफट चुदाई

हम सामने वाले दरवाजे पर पहुंचे, तो दुकानदार ने शटर को थोड़ा ऊंचा करके हम दोनों को दुकान में घुसा लिया. इसके बाद भी मौसी की चुत में उंगली करता रहा और उनके मम्मे और होंठों को चूसता रहा. मैंने कहा- एक बार आप लोग अपना सामान यहाँ ले आइये, फिर मैं हेल्प कर दूँगा.

मूव लेकर दादी बेड पर आ गईं, अपनी सलवार का नाड़ा खोलकर पेट के बल लेट गईं. और जिस तरह से तुमने मेरी सिस्कारियां निकाली हैं, उससे मुझे तो तुम्हारी बातों पर विश्वास नहीं होता कि तुमने किसी से सेक्स नहीं किया है.

मगर जब आस पास नजर दौड़ाई तो देखा कि हर दूसरे मरीज के साथ उनके घर का सदस्य हाजिर था.

हमें देख कर नीचे से संजय ने गीत की चूत में अपने लंड का एक जोर का झटका लगया और बोला- ले चुद साली, निकाल अपना रस मेरे लौड़े पर… ले… उफफ्फ…।मैंने अंदाजा लगया कि संजय ज्यादा उतेजित हो गया है तो मैंने थोड़ा रोकने के लिए संजय को कहा- अब मैं साली को नीचे से चोदता हूँ. मैंने फिर से स्कूटी की स्पीड बढ़ा दी मगर थोड़ा सा चलते ही स्कूटी बन्द हो गयी. शायर होटल सुनकर हंसने लग गयी और हंसते हुए ही बोली- हां हां तुम्हारा होटल बन्द हो गया होगा … अब ये नाटक बन्द करो और अन्दर आ जाओ.

बाहर आकर गार्ड ने अपनी एक्टिवा स्टार्ट करके मुझे पीछे बैठाया और एटीएम ले गया. कविता का मन जब मेरे स्तनों को चूसने के बाद भर गया, तो वो फिर सरकती हुई मेरे होंठों के पास आ गयी और मेरे होंठों को चूमने लगी. लगभग आधे घंटे बाद भाभी ने बेडरूम का दरवाजा खोला तो मैं अंदर चला गया.

तभी मैंने उसके ऊपर के होंठ को अपने होंठ में लेकर उसे एक किस की जिसका जवाब उसने अपनी जीभ को मेरी जीभ पर टच करके दिया.

बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी देहाती: उसने खड़ा होता लंड देख लिया और बोली- तुम्हारा तो ये तो काफी बड़ा लगता है. मैंने खुशी को खुद से अलग किया और चलने लगा था … तो पायल ने मुझे रोक कर फोटो खींचने के लिए कहा.

मेरी बहन की चुदाई की कहानी पढ़ते हुए सभी ने अपने लौड़े और फुद्दियों को शांत किया होगा अच्छे से!मुझे भी बताना कि ये कहानी कैसी लगी आपको? आप मुझे अपनी राय जरूर दीजिएगा. इन 45 दिनों में मुझे तू रोज़ चोदना बस बीच में 2-3 दिन छोड़ देना … ताकि मैं तेरे मामा से भी चुदवा लूं ताकि उन्हें मेरे पेट से होने पर कोई शक ना हो. मैंने विजय के लण्ड को और उसके आण्डों को जोर जोर से चाट चाट कर पूरा गीला कर दिया.

जैसे ही मैंने भाभी की गोरी गुदाज़ जांघों पर हाथ फिराया, भाभी ने मुझे धक्का दिया और नीचे लिटा कर मेरे ऊपर चढ़ गई.

वो पंजाब से थी और पास के कॉलेज में फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर रही थी. आंटी ने एक हाथ मेरे गाल पर फिराया और बोली- लगता तो काफी मजबूत है, चलो खड़े हो जाओ और अपनी आंटी की तसल्ली करवाओ. अब आगे की कॉलेज गर्ल चुदाई कहानी:आखिरकार 2-3 घंटे बाद हम दोनों वहां से ऐसे ही निकल गए.