सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,देहाती सेक्सी चुदाई वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी दिसणारी: सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ, कुछ देर बाद मैंने किताब को पढ़ना शुरू किया तो मुझे ऐसा लग रहा था कि मुझे बुखार चढ़ने लग गया है और मेरे बूब्स जो अभी तक पूरी तरह से विकसित भी नहीं हुए थे, उनमें और बुर में पता नहीं क्या होने लगा.

बाप बेटी का प्यार

भाभी के नाखून मेरी पीठ को आकर खरोंचने लगे तो मैंने तुरंत उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. बीपी ट्रिपल एक्स बीपीफिर उसने मेरे हाथ पकड़कर पीछे की तरफ खींचे और मेरी गांड की चुदाई शुरू कर दी.

थोड़ी देर के बाद उसने अपनी चूत में मेरे सिर को दबा लिया और मेरी नाक भी उसकी चूत में जा घुसी. डब्ल्यू डब्ल्यू एक्स एक्स हिंदीउसने ज़ोर से झटका दिया, तो उसका आधा लंड रिया की चूत के अन्दर चलागया था.

मैंने उसके भीगे मुंह वाले लंड को बिना पूछे ही अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ: मैंने उतनी देर रुकना मुनासिब नहीं समझा और अजय को फ़ोन कर घर जाने का कारण बताकर जाने की इजाजत मांगी.

फिर मैंने किसी तरह उन दोनों को फिर से एक किया लेकिन उनकी इस लड़ाई से मैं और साक्षी कुछ ज्यादा खुल गए थे.मेरे सवाल पर उसने कहा- हां पर पहले उत्तेजना अधिक होती थी, जिस वजह आनन्द आता था.

नंगी नंगा पिक्चर - सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ

धीरे-धीरे जैसे-जैसे हम क्लोज़ होते गए, रज़िया भाभी मुझसे ज़्यादा मज़ाक करने लगी.मैं खुद पर गर्व महसूस कर रहा था कि ऐसी औरत, जिसको चोदने का सपना हर मर्द देखना चाहेगा, उन्होंने मुझे सामने से चुदवाने के लिए बुलाया है.

मैं कुछ नहीं कर रहा था, वो अपनी चूत पर तेल लगा कर मेरे लंड पर भी तेल लगाने लगी. सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ मेरी सेक्स स्टोरी के पहले भागशौहर के लंड के बाद चूत की नई शुरूआत-1में आपने अब तक पढ़ा कि शौहर से सम्बन्ध खत्म होने के बाद मेरे ऑफिस में मेरे साथ काम करने वाले स्टीव से मेरी हसरतों ने कुछ खेलना शुरू कर दिया था.

और फिर मैंने सोचा कि क्यूँ ना सारा को थोड़ा तड़पाया जाए!मैं बस लंड को चूत पर रगड़ रहा था.

सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ?

यह मेल पढ़कर मैंने रितिका को मैसेज किया- हेल्लो!और उसके भेजे मेल का स्क्रीनशॉट लेकर भेज दिया. किसी में कोई लड़की पूरी नंगी थी और किसी में कोई अपनी बुर को खोल कर दिखा रही थी. जी … प्लीज़ … जल्दी कर लीजिये ना!” मैंने उनसे प्रार्थना की।मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

लेकिन जैसा मैंने ऊपर बताया था कि मैं शुरूआत मामी से करवाना चाहता था, इसलिए मुझे थोड़ी राह देखनी पड़ी. मामी ने हाथ से पकड़कर चमड़ी को पीछे करके सुपारा बा‍हर निकाला और ऐसे ही पकड़ कर मुझे बाथरूम में ले गईं. मणि संजय के सामने ही कोमल की चुदाई के मजे लेता और कोमल की अपनी इस चुदाई को वो संजय को दिखाता.

रिया की गांड मराने की पोजीशन में किया ही था कि दूसरे ने भी अपना लंड रिया की गांड में डाल दिया. थोड़ी देर के बाद जब मेरी छोटी बहन सो गयी तो सीमा मेरे कमरे में आयी और मेरे बेड पर सो गयी. मैं इंग्लिश में थोड़ी कमजोर थी, तो मम्मी को लगा कि उनकी ट्यूशन का मुझे फायदा होगा.

पर मैंने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया और धीरे धीरे करके उसकी चुदाई करनी चालू रखी. तब आशीष बोला- तू मेरे लिए रंडी बन जाएगी?मैं पहले तो एकदम सोच में पड़ गई, फिर मैंने आशीष से बोला- तू बता, क्या सच बोल रहा है?आशीष- तू मेरे लिए रंडी बन सकती है?मैं बोली- हां बन सकती हूं, तेरे लिए मैं कुछ भी बस कर लूँगी … तू बोल बस दे.

मेरे घर वालों ने पैसे भेज दिये थे कि मैं शादी के लिए कपड़े दिल्ली से ही खरीद लूँ।मैंने तन्वी को बोला- तू भी चल शादी में, मैं वहाँ ज्यादा किसी को जानती नहीं तो तू भी चल, मजा आयेगा.

फिर हम दोनों एक दूसरे को जोर जोर से किस करने लगे। लिप-किस का दौर लंबा चला.

मैंने उससे पूछा- क्या पहले भी ऐसे ही संभोग करते थे?मैंने प्रीति की दुखती रग तो समझ ली थी, पर वो मुझसे इसका समाधान पाना चाहती थी. फिर दीदी मेरे पास आई और मेरे कपड़े उतारने लगी, मेरा दिल धड़क रहा था। मेरी चूत को हाथ लगाकर सहलाया तो मेरी आंखें बन्द होने लगीं।दीदी- रचना तेरी चूत तो बिल्कुल बह रही है!मैं शान्त रही। दीदी ने मेरी चूत में धीरे से उंगली घुसाने का प्रयास किया तो मैं सिसियाकर सिकुड़ गई। तभी अजय ने मुझे खींच लिया।अजय- कुसुम जान … तू बोले तो आज तेरी बहन की चूत का उद्घाटन कर दूं? कसम से बड़ी मस्त लग रही है तेरी बहन. उसने तब मुझसे उपाय पूछा तो मैंने उससे कहा कि सबसे पहले तो किसी का रूप ही सब कर सकता है और तुम तो इतनी सुंदर हो कि किसी का भी मन मोह लो, पर पति तुम्हारा एक सा रूप देख ऊब गया होगा.

… सीईई …मैं मामी जी के स्तनों को मसलते हुए उन्हें कस-कसकर चोद रहा था, जिससे बाथरूम में जोर जोर से पच पच पच की आवाजें हो रही थीं. मेरा लंड देख कर चाची ने भी अपनी नाइटी उतार फेंकी और मेरा लंड चूसने लगीं. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड निकाला और अपना सारा माल चाची के मुँह पर छोड़ दिया.

तभी मेरी नजर दरवाजे पे पड़ी, तो देखा वहां उसकी छोटी बहन खड़ी थी और हमें ही देख रही थी.

और फिर मैंने सोचा कि क्यूँ ना सारा को थोड़ा तड़पाया जाए!मैं बस लंड को चूत पर रगड़ रहा था. उस साली ने अपनी टांगें फैलाते हुए मुझसे फिर से कहा- मुझे मत चोदो प्लीज़. इससे कहानी को पढ़ने में मज़ा भी आयेगा और चूत में गर्मी चढ़ेगी और लंड भी मस्त होकर खड़ा होगा.

अपने दोनों हाथों से पकड़ कर उसकी टांगों को चौड़ा किया और धीरे-धीरे अपना लंड उसकी चूत में रगड़ने लगा. मेरे हाथ उनकी ब्रा पर पहुंच चुके थे और भाभी अजीब सी आह्ह … ऊह्ह की गर्म आवाजें निकालने लगी थी. चाहता तो मैं भी यही था, लेकिन अंजान बनते हुए मैंने पूछा- क्यों क्या हुआ?उसने तुरंत बोल दिया- मैं तुमसे प्यार करती हूं और बस तुमसे ही शादी करना चाहती हूँ.

अब वे जल्द ही अपनी बाकी बेटियों नरगिस और आयशा की शादी कर देना चाहती हैं.

यानि उसने मेरे तने हुये लंड को अपनी फुद्दी के नीचे इस तरह से सेट किया कि वो उसकी दोनों जांघों की गहराई में बड़े अच्छे से फिट हो गया।मैंने उस से पूछा- तुम्हें पता है कि इस वक़्त किस चीज़ पर बैठी हो?उसने हाँ में सर हिलाया।मैंने पूछा- क्या है?वो धीरे से बड़ी मीठी सी आवाज़ में बोली- लंड।कितनी मिठास थी उसकी आवाज़ में। अब मुझे बड़ी तसल्ली सी हुई कि ये भी पूरी तरह से मन बना कर आई है. मैंने कहा कि किस चूतिया का?वो बोली- अविनाश का … साला मेरे पैसों का भूखा है.

सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ ‘आआहह आअह्ह उफ्फ आअह्ह्ह …’ उसके मजबूत लंड से मेरी चुत को खुजली से बड़ी राहत मिल रही थी. अपनी गंदी वीडियो बनाकर उसको मैंने पापा को दिखाने के लिए उनके मोबाइल से डिलीट नहीं की और सुबह पापा जब अपने आफिस गए तो मैंने वो वीडियो सहित मोबाइल उनको दे दिया।फिर मैं भी कॉलेज चली गयी और पापा के बारे में सोचने लगी कि वो वीडियो देखकर क्या करेंगे, मुझसे कुछ कहेंगे कि मम्मी को कुछ बोल मत देंगे करके मैं दिनभर ऐसा सोचने लगी.

सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ दस मिनट बाद भाभी ने लंड को चूसकर फिर से बड़ा कर दिया और फिर मैंने अलग अलग स्टाइल से भाभी की दो बार और चूत और 2 बार गांड मारी. सच बोलूँ तो ये कोई मनगढ़ंत कहानी नहीं है और न ही इसमें कोई कल्पना है.

मैंने एक सेफ सी जगह देख कर बाइक रोकी, उधर रोड साइड थोड़ा गड्डे जैसा था.

सेक्सी चुदाई बीएफ हिंदी में

मैंने उससे कहा- कॉलेज जाना कैंसल कर दो … आज तुम्हारे ही घर पर क्लास चलेगी. मैंने कहा- कोई बात नहीं, मैं आपको वहां पर छोड़ देता हूँ।उसके बाद मैंने उसको वहाँ उस दुकान पर ले जाकर छोड़ दिया। उसने बाइक से नीचे उतर कर मुझे थैंक्स बोला और फिर मेरा नम्बर मांगने लगी. उसने अपनी उंगली से मेरी चुत की पंखुड़िया खोलीं और मेरी चुत के दाने पर अपनी नुकीली की हुई जीभ से दंश मार दिया.

कुछ देर उसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने भाभी को घोड़ी बनने के लिए कहा. मेरी पैंटी का परदा हटाकर अब सोनल की उंगलियां मेरी गीली चुत के इर्द गिर्द घूमने लगीं. वो बोली- यही तो अड्वेंचर है … और मुझे ऐसे करने से ही तो डंडे मिलेंगे.

तभी मेरी नजर दरवाजे पे पड़ी, तो देखा वहां उसकी छोटी बहन खड़ी थी और हमें ही देख रही थी.

पायल ने भी मस्त होते हुए मेरी शर्ट को निकाल के सीने के बालों को खींचना शुरू कर दिया. तब नहलाती थी मैं तुझे, भूल गया क्या?मुझे वो दिन याद आ गया, जब मामी ने मेरी लुल्ली पकड़ी थी, जो कि अब लंड बन चुका था. फिर उसने मेरी दाईं टांग को गद्दे से नीचे फर्श की तरफ फैला दिया और मेरे सिर को थो़ड़ा आगे धकेल दिया.

मैंने टाईप किया था- आज हम शादीशुदा पति पत्नी हैं, लेकिन मैं चोदते वक्त तुझे दीदी ही मान कर चोदना चाहता हूँ. उस दिन बर्थडे पे हम दोनों सभी क्लास खत्म करके नाइट आउट के लिए बाहर निकल गए. सभी सहेली कहती थीं कि बंध्या तेरे तो गुड्डी गुड्डा और डॉल से भी छोटे दूध हैं, तू ब्लाउज कैसे पहनेगी.

मैं बिना देरी किये उसकी चूत पर टूट पड़ा और तेजी के साथ उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा. उसके बाद रीना ने मेरे लंड के टोपे को पीछे खिसका कर अपने मखमली होंठों को मेरे लंड के टोपे पर लगा कर छूआ तो मेरी सिसकारी निकल गई.

मैंने बहुत देर तक भाभी के चूतड़ों को पकड़कर अपने लंड की तरफ खींचे रखा और भाभी का पूरा पानी मेरे लंड के ऊपर से होता हुआ मेरी जांघों को भिगो रहा था. मैंने उसे समझाना शुरू किया कि उसके जीवन में इतना परिवर्तन, उसकी शारीरिक रूप रेखा से नहीं, बल्कि खुद उसी के नकारात्मक व्यवहार से आया है. मैं मामी के पास गया, तो मामी ने बताया- बच्चों की देखभाल के लिए सासु मां आ जाएंगी.

अब वो एक मिनी नाईटी में थीं जो उनके घुटनों के तीन चार इंच ऊपर तक ही थी और लगभग पूर्णतया पारदर्शी थी.

मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था, लेकिन जैसे ही मैंने अपना हाथ आगे बढ़ाया, तो मुझे 440 वोल्ट का झटका लगा क्योंकि मेरा हाथ किसी के स्तन को लग गया था. मेरा घुटना लगते ही उसके लंड ने एक झटका देकर ये जता दिया कि वह भी मेरे लिए तैयार है. दीदी की टांगें अनन्त की उंगलियों की रफ्तार के साथ और ज्यादा फैल रही थीं.

वो मेरे बूब्स को इतना जोर से दबा रहा था कि मैं ना चाहते हुए भी चीख पड़ती थी. रात को करीब 10 बजकर 15 मिनट के आस-पास मैंने अपने घर का रूम लॉक किया और मैं बाहर निकल गई.

मैं अभी कुछ सोचता इससे पहले मैडम ने कहा- एक ही सुलगा लो, शेयर कर लेंगे. उसने अपने एक हाथ से मेरी शर्ट के बटन खोल दिए और मेरी जीन्स का बटन भी खोल दिया. दीदी नंगी ही थी और अनन्त जीजू की गोद में बड़ी मनमोहक लग रही थी। अनन्त जीजू मेरी दीदी को अपने कमरे में ले गये, अब मेरे पास विनय जीजू शान्त लेटे थे.

बीएफ भोजपुरी साड़ी वाली

उन्होंने नहाने के बाद अपने शरीर पर एक पतली सी, झीनी सी साड़ी घुटनों से ऊपर लपेट रखी थी जिसके नीचे उन्होंने न ब्लाउज, न ब्रा और न ही पेटीकोट पहना था, वह लगभग नंगी दिख रही थी, उनकी बड़ी-बड़ी खड़ी चूचियां और सुन्दर सुडौल चूतड़ उस कपड़े में से साफ़ दिखाई दे रहे थे.

मैं उसकी चूत को उंगली से सहलाने लगा, उसकी क्लिट को छेड़ने लगा, उसकी सिस्कारियां निकलने लगी और जल्दी ही उसने पानी छोड़ दिया. फिर वो पैन्टी के ऊपर से ही रिया को बाईट करने लगा और उसकी पैन्टी फाड़ अलग कर दी. वो कुछ देर मेरी चूची को चूसने के बाद उठे और उन्होंने मेरी सलवार निकाल दी.

इसके साथ ही मामी मेरे कान में फुसफुसा कर बोलीं- अहहहह … हम्म्म्म ऐसे ही मेरी जानू उहूहूहू धीरे धीरे … सब्र करो ऐसे दो तीन बार गांड चुदाई होने के बाद मेरी गांड की आपके लंड से दोस्ती हो जाएगी … फिर आराम से अन्दर बाहर होने लगेगा. मैंने उससे कहा कि वह मुझे कोई ऐसा काम दिलवा दे जिसमें ज्यादा पैसा मिलता हो. बांग्लादेशी सुदा सुदीआपने अब तक की कहानी में पढ़ा था सुखबीर की बीवी प्रीति मुझसे सेक्स को लेकर बातें कर रही थी.

वही तो मेरे दोस्त थे, मुझे जीजू पर तरस आया और मैं अजय से हटकर जीजू के सीने से लिपट गई।कुछ पल बाद अजय ने मुझे फिर खींच लिया. भाभी ने देखा जहां उनके चूतड़ टिके हुए थे वहां से चादर बहुत गीली हो गई थी.

मैं जैसे ही उसके घर पहुंचा, तो वो दरवाजे पर मेरा ही इंतजार कर रही थी. मैं- हैलो, कौन?सोनिया- मैं चंडीगढ़ से सोनिया बोल रही हूँ … क्या आप रिषभ बोल रहे हैं?मैं- जी हां … बोल रहा हूँ. क्योंकि मैं कॉलेज में था और उन्हें लगता था कि कॉलेज में सभी लड़कियां सिर्फ चुदने ही आती हैं.

वो बोली- अच्छा तो कब आऊं अंकल?मैंने उससे कहा- जब तेरे मम्मी पापा काम पर चले जाएं, तब आना. लेकिन सुचेता से मेरी कोई बातचीत नहीं होती थी, उसका छोटा भाई मेरे पास आ जाता था और मेरा अच्छा दोस्त बन गया था। वो भी कभी कभी अपने भाई को बुलाने के लिए हमारे घर आती थी. अगले दिन मामा का लड़का आ गया और मुझे यह डर सता रहा था कि अगर उसे पता लग गया कि उसकी किताबें कम हैं या किसी ने चुरा ली हैं तो? इसलिए मैं उनको जल्दी से जल्दी वापिस रखना चाहती थी.

मैंने कंडोम की कमी का अहसास दिलाया तो उसने अपने गद्दे के नीचे इशारा किया.

मैं जैसे ही झटके देता, वो नाखून मेरे सीने में कंधों पर पीठ में घुसा देती थी. भला लंड को किसी की परमिशन की जरूरत थोड़े ही पड़ती है खड़ा होने के लिए! लंड महाराज ने अंडरवियर सहित ही चूत का रास्ता खोज लिया था.

मैंने फिर से उन्हें रोका तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ा और मेरा हाथ अपने बम्बू की तरह तन चुके लंड के उभार पर रख दिया. मेरे किराए के मकान में नीचे का फ्लोर मेरा और ऊपर के फ्लोर में मकान मालिक की फैमिली रहती है. करीब 20-25 जबरदस्त शॉट लगाने के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया और उससे लिपट कर कुछ देर शान्त हो गया.

वो बिल्कुल पागल सी हो गई और तेज तेज आवाज निकलने लगी और बोलने लगी- जानू आई लव यू … अअअअअ सी सी … ओहह आह उम्म उम्म!फिर वो झड़ गई. अब जब वो मेरा ऊपर आ गई तो उसने अपनी पूरी फुद्दी को मेरे मुँह पर ही रख दिया। उसकी भग्नासा से लेकर उसकी गांड तक मैं हर जगह अपनी जीभ फेर रहा था. इतना सुनते ही मेरे लंड ने हल्का सा झटका मारा और मैंने हा‍थ मामी की कमर पर रख लिया.

सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ उसकी गांड बहुत टाइट थी और मुझे उसकी गांड में लंड डालने के बाद मुझे मज़ा आ गया. मैं अब्बा हज़ूर के पास से आ रहा हूँ, कश्मीर वाली नूरी फूफी (मेरी खाला) और तुम्हारे अब्बा भी उनके पास बैठे हैं और सारा वाले मामले के बाद नूरी फूफी (मेरी खाला) कह रही हैं कि सुबह सारा और ज़रीना से मिल कर आयी थी, दोनों बहुत खुश और संतुष्ट हैं.

बीएफ सेक्सी चुदाई वीडियो देसी

मामी अन्दर चली गईं, आज मैंने सोच लिया था कि चाहे कुछ भी हो जाए, मैं मामी को चोद कर रहूंगा. मैंने उसकी सलवार उतारी, तो देखा उसने पिंक कलर की पैंटी पहनी हुई थी. सीढ़ियों में घुसते ही एक दरवाजा ग्राउंड फ्लोर के लिए था, जो अक्सर बंद रहता था, एक फर्स्ट फ्लोर के लिए था और अंत में सीढ़ियाँ मेरे कमरे तक जाती थीं.

मुझे मेरी मामी के लिए ऐसे ख्याल कभी नहीं आये थे, लेकिन प्रॉब्लम खत्म करने के लिए मामी के नाम का ख्याल मन में आने शुरू हो गए थे. चाय पीते हुए भैया बोले- अमित, मैं और तू मेरे एक दोस्त के यहां होली खेलने चलते हैं, वहीं से दारू पी कर और मूड बना के आएंगे. मोटी चूची वालीमैंने कहा- बिल्कुल … मैं आपका दास हूँ आज की रात पूरी बाकी है, जो मन हो वो करवाइये.

उसकी चूत का फूलापन देखकर मेरे लंड ने मेरी पैंट में तंबू बना दिया था.

पापा कभी मेरे सीने को टटोलते, कभी मेरे पेट को सहलाते और कभी उससे नीचे लेकर अपनी बेटी की कमर को सहलाते. सबको ऐसी भाभी … नहीं, बीवी मिले, जिससे हर आदमी दूसरी औरत के बारे में सोचेगा ही नहीं.

उनकी चड्डी, बोले तो पेंटी पर उनकी चूत का उभार दिख रहा था। मैंने देर ना करते हुए उनकी पेंटी के ऊपर से ही उनकी चूत पर अपना मुंह रख दिया और उनकी चूत के रस से भीगी हुई पेंटी को चूसने लगा. आप देविका जी को ले लीजिये, मैं अपनी मिसेज को ले लेता हूँ, हो सके तो शंकर जी और कौशल्या जी को भी ले लिया जाए. मेरे और मेरे पति के माता पिता (मेरे सास-ससुर) राजस्थान के एक गांव में रहते हैं.

एक दिन ऐसा संयोग बना कि ममता और सुधा दोनों ही अपने पति के साथ मायके आई हुई थीं.

कुछ देर बाद भैया उठे और बोले- मैं बाहर जा कर अमित के साथ दारू पीता हूँ … तू थोड़ी बहुत देर आराम कर ले. उस वक्त मैं पढ़ा करता था पर मैं हस्तमैथुन और सेक्स करने की विधि जानता था. धीरे धीरे हम दोनों में सीनियर जूनियर का फर्क खत्म हो गया और हम अच्छे दोस्त बन गए.

सेक्सी शॉट दाखवाघुंडियों को होंठों में पकड़ कर चूसने लगी, उन पर अपनी जुबान फिरा कर गुदगुदी करने लगी. मैंने भी एक जोरदार झटके के साथ अपना लंड उनकी चुत की गहराई में उतार दिया और उनके ऊपर लेट गया.

बीएफ वीडियो हॉट हिंदी

इंदु मेरे लंड को भी खड़ा करने की कोशिश कर रही थी और मैं भी इंदु को फिर से गर्म करने में लगा था. भाई ने पूछा- ये क्या होता है?तो मैंने और अम्मी ने कहा- हम सब एक साथ नंगे हो जाएंगे और आपस में एक दूसरे की चुदाई करेंगे, जिसको जैसे चोदना है चोद सकता है. तो उस लड़के ने रिया के बाल पकड़ कर खींचे और जैसे ही रिया ने चिल्लाने के लिए मुँह खोला, उसने पूरा का पूरा लंड उसके मुँह में पेल दिया.

मैंने पूछा- सेफ्टी रेजर तो होगा?वो सेफ्टी रेजर ले आयी, मैं इंदु की पैंटी को उतार के बालों में क्रीम लगा कर झाग बनाने लगा. मेरा ध्यान तब टूटा, जब मोनिका के हाथ में रखा फ़ोन उसके हाथ से छूट कर मेरे सिर पर गिर गया. माला अपनी स्टडी के कारण नहीं जा सकी थी, तो उसके घर वाले विजय के घर बोल गए कि आप माला के पास एक दिन के लिए रह जाना.

सासू माँ- ठीक है बेटा, मैं सब से बात करके देखती हूं, फिर डिसाइड करते हैं कि कौन तेरी नथ उतारेगा. थोड़ी देर बाद जब उस से बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने अपने हाथ में लंड को पकड़ के चूत के छेद पर रखा और पीछे की तरफ जोर लगाया. बस एक बात का ख्याल रहे कि किसी को हमारी इस बातचीत के बारे में कुछ पता न चले.

फिर मेरा भी कण्ट्रोल छूट गया और मैं धीरे से उसकी गर्दन के पास अपना मुँह ले आया. मैंने जाते ही भाभी के बिल्कुल पीछे खड़े हो कर अपना लंड उनकी गांड पर टच कर दिया.

रिया अब चिल्लाने लगी- बचाओ बचाओ …लेकिन कोई आसपास था ही नहीं … तो कौन हेल्प करने आता.

उसकी बात सुन कर मैं बहुत खुश हुआ और उससे बोला- तुमने ये बात बोलने में इतना टाइम क्यों लिया?उसने बताया कि वो मुझे पहले दिन से ही पसंद करने लगी थी, लेकिन कभी कहने की हिम्मत नहीं कर पाई. एक्स एक्स एक्स बीपी पिक्चर हिंदीजब मैंने मणि से पूछा कि तुमने कोमल को कैसे तैयार किया?मणि बोला- लड़की को जब लंड का चस्का लगता जाता है, तो वो किसी का भी लंड लेने को तैयार हो जाती है. हिंदी सेक्सी चुदाई हिंदीउसकी चुचियाँ ठीक मेरी छाती से रगड़ खा रही थी और मैं उसके होंठों का रसपान कर रहा था. फिर धीरे से वो निकालता, फिर थोड़ा और अन्दर, फिर बाहर, ना जाने कैसे पर इससे एक सनसनाहट सी पैदा होने लगी और दर्द कम और मज़ा ज़्यादा आने लगा.

मैंने अपनी हल्की सी पकड़ ढीली कर सीधे सीधे भाभी के मम्मों को पकड़ के मसला ही था कि भाभी एक बार फिर मुझे धक्का दे कर भाग गईं.

अजय की हरकत से मैं डरने लगी, तभी दीदी ने मना किया।दीदी- अरे नहीं यार, रचना अभी तुम्हारा लन्ड नहीं झेल पायेगी।फिर दीदी जीजू से मुखातिब होकर बोली- साली पर पहला हक़ तो जीजू का है।तब जीजू मेरे पास सरक आये और मुझे बांहों में समेटने लगे. सासू माँ- बोल बेटा, क्या बोलना चाहती है तू? तूने कुछ सोचा या नहीं?मैं- सच कहूँ तो मम्मी जी मैं अभी तक कुछ भी डिसाइड नहीं कर पायी हूँ कि मुझे क्या करना चाहिए. कल्पना- अच्छा, कौन थी तीनों?मैं- एक तो मेरी गर्लफ्रैंड थी, बाकी 2 मेरी क्लाइंट थीं.

फिर एक दिन मेरे सर का फोन मेरे पास आया और उन्होंने मुझे एक पता दिया जहां पर मुझे जाना था. मैं भाभी की चूत को धीरे-धीरे सहलाने लगा, उन्होंने मुझे खींच लिया और मेरे मुंह को अपनी चूचियों में दबाने लगी. मैंने कहा कि फूल को फूल दे रहा हूँ … समझ नहीं आता, कौन ज्यादा खूबसूरत है.

बीएफ सेक्स कॉलेज

रितिका नहाने के लिए बाथरूम में घुस गई और जैसे ही वो बाहर आई, मैंने उसे गोद में उठा लिया उसके गीले बालों से पानी की बूंदें मेरे ऊपर गिर रही थी. ये बात सुन कर मैं बहुत खुश हुआ और उसे उधर ही गले लगाना चाहता था, पर रेस्टोरेंट में और भी लोग थे, इसलिए मैंने अपने आपको कंट्रोल किया और उसे आई लव यू बोला. आपने मेरी स्टोरीदेसी भाभी ने सोते देवर का लंड चूसाको पढ़ कर जो मेल किए, उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद.

खैर 4-5 दिन बाद एक कर्मचारी ने मुझे बिना बात के डांट दिया, मैं ठहरा देसी गांव वाला, मैंने भी उसे बोल दिया कि साले तेरी ऐसी गांड बजाऊंगा कि सात पीढ़ी गड़वी पैदा होगी.

आज मेरे दिल में उम्मीद की एक किरण जगी और मैंने भी कार से उतरने से मना कर दिया और खेत पर ही जाकर सोने की इच्छा जताई.

उसके बाद मैंने और वंश ने साथ में एक ही ब्रश से ब्रश किया और सूसू से मुँह साफ़ किया. आशा जब अपनी गांड मटका कर चलती है, तो मेरा दावा है कि उसकी उछलती गांड देख कर अच्छे अच्छों के लंड का पानी निकल जाएगा. लोकल देसी सेक्सी वीडियोजब मैंने भाभी के शरीर पर हाथ फिराना शुरू किया तो देखा कि भाभी सर से पांव तक सेक्स की देवी लग रही थी.

यहां बैठकर खाने की व्यवस्था थी, तो जहां मैं बैठी थी, आशीष हर सामान मीठा खीर सब मेरी थाली पर ज्यादा ज्यादा डाल रहा था. मेरी इस बात पर वो भी हंस दी और फ़ोन कट करके उसने मुझको एसएमएस किया कि रात को सोना नहीं, मैं कॉल करूंगी. मैंने ऊपर भी लिखा था कि कहा जाता है कि दो समान विचारों वाले लोग जल्दी घुल मिल जाते हैं.

मैंने अन्दर अपनी चूचियों को मिरर में देखा कि मेरे दूध पर उसकी उंगलियों के निशान बन गए थे और मेरी चुचियां लाल हो गई थीं. मैं बिना कुछ कहे किचन से बाहर आ गया और मामा जी के साथ टीवी देखने लगा.

जी करता था कि बस सारा जीवन इस मदमस्त कर देने वाली उंगली को चूसते चूसते ही बिता दूँ.

मैंने कहा- चलो … जो तुम कहो, पर मुझे कुछ पता नहीं है, मेरा यह फर्स्ट टाइम है. उनको भी इसमें मजा आता है।दोस्तो, ये थी मेरी आपबीती। आप लोगों को कैसी लगी? इसके बारे में अपने सुझाव एवं राय मुझे अवश्य भेजें। जिससे मैं प्रेरित होकर आप लोगों के लिए और भी नयी कहानी लिख सकूं।[emailprotected]. जब वो आंगन में झुककर झाड़ू लगाती थी तो मैं उसकी गांड देखकर बेकाबू हो उठता था.

सेक्स सेक्स करने वाला उस वक्त मैं बुआ के घर नहीं था, तब मेरी बुआ को मेरी तबियत के बारे में पता चला, तो वो ऑफिस में ही रोने लगी थीं. उसके मलाई जैसे मखमली कोमल बदन को छूकर तो ऐसा लगा कि यह स्वर्ग की कोई अप्सरा है.

इस तरह से नीना को उसकी जन्नत नसीब हुई यानि अब जाकर इस चुदाई में प्रशांत का गदहलंड नीना की चूत में पूरा-पूरा समा गया. उसने अपने हाथों की मुठ्ठियों से चादर को पकड़ रखा था और अपना काम रस छोड़े जा रही थी. फिर मैंने उसकी ब्रा को पकड़कर अपने हाथों में ले लिया और उसके चूचों को दबाने और सहलाने लगा.

हिंदी ओपन बीएफ सेक्सी

वो भी एक मेहनती किसान का जवान लंड, जो कि देखने में ही इतना खूबसूरत था कि किसी के भी मुँह में पानी आ जाए. अब मैंने एक उंगली उसकी चूत में डाली और उसकी सिसकारियां निकलने लगीं. कुछ समय बाद उसे दर्द कम हुआ तो वो मजा लेने लगी- आआआह हहह उउउहहह हहह … और मारो मेरी गांड करीम … मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है … मेरा रस निकल रहा है.

पर मेरा बाकी था, तो मैं उसके ऊपर आ गया और उसको जोर जोर से चोदने लगा. यह बहुत ही अच्छा मौका था हम दोनों के लिए क्योंकि घर पर हमें इतनी आज़ादी नहीं मिल पाती थी.

अब तक की कहानी में आपने पढ़ा कि सलोनी की चूत से पहली छूट निकलने के बाद उसने अपने जिस्म को चादर में लपेट लिया.

मामा ने भी बोल दिया- जब तक इलाज न हो जाए, तब तक तुझे ही मालिश करना है. सुधा ने ऊपर आते ही ममता के ऊपर प्यार लुटाना शुरू कर दिया जिसका सबूत उनकी चुम्मा-चाटी की आवाजें बाथरूम के अंदर तक आकर दे रही थी. उस समय तो गे सेक्स के बारे में कुछ जानता भी नहीं था और सोच भी नहीं सकता था.

भाभी जोर जोर से सिसकारियाँ लेकर चुदवाने लगी आहहह हाहहह करती हुई!भाभी बोलने लगी- अह जीजू … बहुत मजा आ रहा है … और चोदो … फाड़ दो इसे आज! आहह मजा बहुत आ रहा है!जितना ज्यादा वो बोलती, उतना ही मेरे जोश बढ़ता जाता और मैं जोर जोर से, कस कर भाभी का चूत चोदन करने लग जाता. पर वो नहीं मानीं और बोलीं कि मैंने कभी किया ही नहीं और मुझे अच्छा नहीं लगता. आज वो ब्लू जींस और एकदम टाईट व्हाईट शॉर्ट टॉप पहन कर आयी थी, जिसमें वो गजब दिख रही थी.

मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसके पैरों को फैलाकर उसकी चूत को चाटने लगा.

सेक्सी फिल्म हिंदी में सेक्सी बीएफ: घोष बाबू- अरे आप सर को जानती हैं? पर कैसे? मेरी तो आज पहली मुलाकात है इनसे!मोहिनी जी- आपको काम से फुरसत मिले तब ना आप जानेंगे जी. मेरे घर वालों ने पैसे भेज दिये थे कि मैं शादी के लिए कपड़े दिल्ली से ही खरीद लूँ।मैंने तन्वी को बोला- तू भी चल शादी में, मैं वहाँ ज्यादा किसी को जानती नहीं तो तू भी चल, मजा आयेगा.

नया नया था तो सीधे उसकी चूत में लंड डालने की कोशिश करने लग गया, कोई किस नहीं, कोई चूत की चटाई नहीं, ना फूलमती ने लंड चूसा. मेरी नजर अनुष्का की छाती पर गई तो उसकी क्लीवेज देखकर मेरे लंड ने एक जोर का झटका दे दिया. मैंने कुछ ही देर बाद छोटी दुल्हन ज़रीना को अपनी बड़ी बहन सारा से कहते सुना.

भाभी की एक बात नहीं मानोगे क्या?मैं बोला- क्या भाभी इमोशनल कर रही हो … वो भी डरा करके.

एक लड़के को पूरा नंगा देखके उसकी भी आंखें हवस से भर गईं, उसने कहा- आओ पहले नहा लेते हैं. मैं अपने हाथों से उसकी टी-शर्ट में हाथ डाल कर उसकी कमर पर हाथ घुमा रहा था. कुछ देर बाद सुदीप ने मुझे नीचे से नंगा करके अपनी गोद में बैठा लिया.