बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में

छवि स्रोत,ब्राउज़र सेक्सी सीन

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी फुल्ल सेक्सी विडिओ: बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में, देसी नंगी भाभी की सेक्स कहानी में पढ़ें कि भाई की बीवी की जवानी चखने के बाद मैं एक दिन बिन बुलाये उसके घर के बाहर पहुंच गया.

लडकी के सेक्सी

ऐसा मैंने जानबूझकर किया था ताकि शायरा अच्छे से हमारी चुदाई देख सके. विदेशी चोदा चोदी सेक्सी वीडियोजैसे ही मैं अपने कमरे से बाहर निकली तो देखा कि समीर बाहर वाले गेट के पास बैठा था.

मैंने जब मोना भाभी के ब्लाउज़ को खोला था, तो देखा था कि भाभी ने ब्रा भी पहनी हुई थी. सेक्सी जानवर के सेक्सीमैंने कहा- वो भाव खाती है, मैंने उसे प्रपोज भी किया, पर उसने मना कर दिया था.

मैं टेबल पर खड़ी हो गई।वो बोले- सारे कपड़े उतारो।मैं चुपचाप सारे कपड़े उतारने लगी.बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में: उसने भी मेरी ब्रा के हुक खोलकर मेरे स्तनों को बाहर निकाल दिया। मेरे स्तनों को घूरने के बाद वो पागलों की तरह मसलते हुए मेरे चूचकों को मुंह में भरकर बारी-बारी से चूसने लगी.

कभी मामी की चुचियों को चूस लेता, कभी उनकी गर्दन पर चुम्बन कर देता … कभी उनके होंठों को काटने लगता.अब तक आपने पढ़ा था कि मैं शायरा के कमरे में अपने कॉलेज की टीचर और भाभी की बहन ममता की चुदाई कर रहा था.

लड़की का सेक्सी हिंदी में - बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में

अब मैं आराम से उसकी चूत की चुदाई करने लगा और वो भी चुदने का मजा लेने लगी.इस धक्के से ममता जी के मुँह से एक जोरदार चीख निकल गयी- आह मर गई रे आआअहह … आहह हरामी कितनी तेज पेलता है … हायईई आराम से पेल साले.

मैंने जल्दी से सॉरी बोलते हुए तुरंत अपना रूमाल निकाला और ब्लाउज को रुमाल से साफ करने लगा. बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में मैं उसको ऐसा मजा देना चाहता था कि वो अपने पहले संभोग को हमेशा याद रखे.

मैं प्राची के मम्मों को दबाने लगा और उसके दूध की धार चाय के कप में छोड़ने लगा.

बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में?

मैंने उसके होंठों पर से होंठों को हटा लिया और हाथों को उसके बूब्स पर रख लिया. मैं बाइक को अब धीरे धीरे चलाने लगा क्योंकि मुझे उसके स्पर्श का ज्यादा देर तक मजा लेना था. शायरा के होंठों का रस इतना मीठा था कि उसके सामने पूरी दुनिया फीकी लग रही थी.

यामिना की बड़ी बड़ी सॉलिड चूचियाँ मेरी दोनों जाँघों में टिकी गई और मेरा लण्ड उसकी ठोड़ी के नीचे लग गया. गुलजान को खींच कर मैंने अपने मुँह पर बिठा लिया और उसकी चूत चाटने लगा. खाना सभी लोग एक साथ खाते थे और फिर कुछ देर बातचीत करके अपने अपने कमरे में चले जाते.

ऐसा कोई जुगाड़ लगाओ दीदू, जिससे जीजू को पता ना चले और काम भी हो जाए. मुस्कान के साथ बातों ही बातों में पता लगा कि उसकी उम्र 38 साल की थी. दीदी ने मुझसे बोला कि आगे भी कुछ करोगे … या यूं ही समय गुजार दोगे?मैंने कहा- दीदी मुझे तो कुछ समझ ही नहीं आ रहा है कि अब क्या करना है.

मैं थोड़ा ऊपर उठा तो चाची ने झट से मुझे नीचे झुका कर धीरे से फुसफुसा कर कहा- ऊपर मत उठो और जल्दी से मेरे साथ लेट जाओ. पर दूसरे साल में मेरा ग्रुप बहुत छोटा हो गया … और मैंने लड़कियों से दोस्ती बढ़ा ली.

मैंने अपना लंड दीदी के चुचों के बीच रगड़ते हुए दीदी को बूब फक का मजा देने लगा.

मुझे ज़रा भी होश नहीं था कि कामोत्तेजना में मैं खुद ही अपनी योनि का रस चूस रही थी।ऐसी हालत तो किसी मर्द के लिए भी नहीं हुई थी मेरी!अब मुझे समझ आ रहा था कि कविता एक अनुभवी खिलाड़ी रही होगी.

लेटते ही चाची ने मेरी तरफ करवट ली और मुझ पर चादर डाल ली और झुककर अपने होठों को मेरे होठों से मिला दिया. बुआ की आवाज़ शांत होते ही मैंने उनके चूतड़ों पर थोड़ी पकड़ बना कर एक आखरी धक्का लगाया जिससे मेरा पूरा लंड उनकी गांड में घुस गया. दो तीन मिनट तक ये खेल चला और तभी वो जोर से चिल्लायी और उसकी चूत से लावा फूट पड़ा.

मैं बगल के कमरे में से डॉक्टर की सब बात सुन रही थी, तो मैंने सोचा कि साले ने क्या बहाना बनाया है. उस रात हम दोनों ने नंगे होकर दारू पी और उस रात को दीदी की चुत में, गांड में,चुचियों में मुँह में … पर सब जगह लंड पेला और ऐसे ही एक हफ्ते तक मैंने दीदी को जमकर चोदा. लगभग 15 मिनट बाद 1 बस और आ गयी, वह बस थोड़ी खाली थी तो मैं उस बस में चढ़ गई.

अब आप सोच रहे होंगे कि पीठ पर क्यों … तो उसका कारण ये है कि पीठ रगड़ने से बॉडी की कोशिकाएं एक्टिव हो जाती हैं और बदन में गर्मी आ जाती है.

तुम भी उसकी प्यास नहीं बुझा पाओगे, तो और कौन प्यास बुझा पाएगा?मैं- पापा घर पर हैं यार और मम्मी भी आजकल कुछ करने नहीं दे रही हैं. खलास होते ही लिली मेरी छाती पर पसर गई और उसने अपनी गर्दन मेरी गर्दन के बीच लगा ली. उसके कहने पर मैंने अपने लंड को कुर्सी के हैंडल के साथ अपने हाथ से दबा लिया.

आज भी मैं अपने जीवन की उसी सच्ची घटना की एक और कड़ी से आपको रूबरू करवाना चाहता हूँ. तभी मैंने उससे एक बात पूछी- एक बात बताओ … तुमने मुझे चोदने के लिए ही जांच का बहाना बनाया था ना?तो डॉक्टर बोला- हां मेरी रानी. एकदम नर्म और फूली हुई दो पंखुड़ियां छूते ही मन में उनको देखने की तीव्र इच्छा होने लगी.

मैं अपने मम्मी पापा के लौटने से पहले इस मौके का पूरा मजा लेना चाहता था इसलिए मैंने लंड पर से हाथ हटा लिये क्योंकि मैं इतनी जल्दी स्खलित नहीं होना चाहता था.

बिना कुछ बोले मैं पापा को बाय कहकर वहां से अपनी गांड मटकाते हुए निकल गई. जब मुझे बर्दाश्त के बाहर हुआ तो मैंने चीखना चाहा लेकिन चाह कर भी चीख ना सका.

बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में मम्मी- क्या नॉर्मल हो गया है, अभी तो तुम्हारी शादी को 5 साल ही हुए हैं. रोजाना के दूध की तरह ये दूध पतला नहीं था बल्कि क्रीमी था और हल्की सी मिठास भी थी.

बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में उधर नेहा निखिल के लंड को ठीक से अन्दर भी नहीं ले पा रही थी … वो बहुत तकलीफ में थी. आपको जवान लड़के के साथ सेक्स की मेरी ये सेक्स स्लेव पोर्न कहानी कैसी लगी अपने कमेंट्स में जरूर बतायें.

कभी मैं सोचता कि अभी चाची को पकड़कर बांहों में भर लूँ; कभी दिमाग में आता कि चाची की उस पैंट को उनकी कच्छी समेत नीचे खिसका कर चाची को नंगी कर दूँ और चाची को गिरा कर चोद दूँ.

एक्स एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो

पर ऐ भूतनी, इसके बाद एग्जाम तक कोई नाटक नहीं समझी?स्नेहा- ओये बंदर, भूतनी किसको बोला … तू चल, तुझे तो वहीं बताती हूँ मैं. ‘आअह अह्ह्ह्ह ह्म्म्म धीरे करर्रर भोसड़ी के … आह्ह्ह्ह फाड़ ही देगा क्या मेरी चुत साले मादरचोद … और जोर से मार मेरी गांड कुत्ते … आह फाड़ दे मेरी गांड, रंडी बना दे मुझे अपनी साले हिजड़े. हमारे कमरे में एक खिड़की थी, जिसे खोल कर सिगरेट का धुंआ बाहर निकल जाता था.

मैं अपने लंड को पजामे के ऊपर से ही उनकी गांड पर कसके दबाने लगा और पीछे से ही उनकी गर्दन, पीठ पर चूमने लगा. मैंने मामी को पीठ के बल लेटा दिया और उनकी चुचियों और पेट पर तेल गिरा कर सामने से उनकी मालिश करने लगा. मैं तो अभी ज्यादा से ज्यादा लोगों का स्पर्म लेने के मिशन पर थी इसलिए मैंने भी उस डॉक्टर का पूरा साथ दिया.

मैंने अब भाभी के ब्लाउज़ के ऊपर से ही उनके चुचों को मुँह में दबा कर चुभलाना शुरू कर दिया था.

देखो … ( उसने अपने हाथ हवा में लहराये और अपने टॉप की स्ट्रैप्स को एडजस्ट किया). भाभी ने नंगी होकर सन्नी को देखा, तो उसने भाभी को अपनी गोद में खींच लिया और भाभी अपनी चूचियां मिंजवाती हुई सिगरेट जलाने लगीं. एक बार चाची ने मुझसे अपनी पैन्ट की बेल्ट का बटन बंद करवाने की कोशिश की थी.

अब मैं सोच रहा था कि क्या किया जाए क्योंकि जिसे मैं चोदना चाहता था, उसका तो सामने से ही ऑफर आ रहा था. थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहने के बाद वह उठा और उसने मुझको अपने लौड़े से कंडोम उतारने के लिए बोला. थोड़ी देर में मेरी बीवी का कॉल आया- किंजल आ रही है, उसे बस स्टॉप से पिक करके उसका काम खत्म करके उसको वापिस उसके घर छोड़ आना.

दोस्तो, मैं विकी एक जवान कुंवारी चूत की चुदाई वाली हॉट सेक्स इन होटल स्टोरी का तीसरा भाग आपके लिए लाया हूं. मैंने अपनी बीच की उंगली से निर्मला जी की चुत को ऊपर से नीचे तक सहलाना शुरू किया, मेरी उंगली उनकी चुत की फांकों में ऐसे फिसल रही थी, जैसे मार्बल के फर्श पर बर्फ फिसलती है.

पापा मम्मी के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूस रहे थे और मम्मी की चूत में उंगली कर रहे थे. ’ कह कर अपना काम चालू कर दिया और मैं और अलवीना अपने अपने घर को एक साथ रवाना हो गए. फिर उन्होंने मुझे गोदी में उठाया और मेरी चूत अपने लंड पर सेट की और वो मेरे वज़न से अंदर चला गया और मेरी जान निकल गयी।वो मुझे ऐसे ही लेकर सोफे पर लेट गए और जोर जोर से चोदने लगे.

लंड पकड़ते ही उसने ऐसे लंबी सांस ली, जैसे उसे उसकी पसंद का खिलौना मिल गया हो.

समीर से सटकर बैठने की वजह से मेरा पूरा हाथ उसकी गोद में था जिससे मुझे उसके मोटे नेवला, जो उसकी पैंट में था, का अहसास भी हो रहा था. एक दिन हुआ यूं कि किंजल मेरी बीवी से मिलने वीकेंड पर मेरे घर आने को हुई. ऐसे में मैं रोज रात में बरामदे में पड़े तख्त पर सोता था और दोनों भाभी अपने अपने कमरे में सोती थीं.

मैं उन पर टूट पड़ा और मैंने रोशना के दोनों दूध चूस चूस कर लाल कर दिए. शायरा अगर मुझे अपना लवर बनाकर रखेगी तो उसका लवर … और अगर वो मेरे साथ दोस्त बनकर रहना चाहती है … तो उसका हमदर्द दोस्त ही बनकर रहूंगा.

उसने नेहा की गीली भोसड़ी से सुपारे तक लंड बाहर खींचा … फिर एक झटके से उसकी गीली भोसड़ी में अपना लंड जड़ तक घुसा दिया और दनादन दनादन चोदने लगा. इस पर मैंने उनकी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख लिया और लंड फिर से मोना भाभी की चुत में पेल कर उनकी चुदाई करना शुरू कर दिया. https://thumb-v9.xhcdn.com/a/0pOv0m62_5ndTjdh4Qm_oQ/011/683/339/526x298.t.webm.

বিএফ এক্স

मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]मेरी चुदाई की तमन्ना की कहानी का अगला भाग:चूत की प्यास बुझाने नौकरी पर रखा लंड- 2.

जब उसकी मुनिया ने पानी छोड़ा, तब उसके मुँह से आआ… आ… आआह की लंबी सिसकारी निकली और वो नंगी पड़ी रही. दोस्तो, देवर भाभी Xxx कहानी के अगले भाग में मैं आपको एक साथ दो लंड अपनी चुत गांड में लेने वाली चुदाई की कहानी लिखूंगी. उह्ह् … ओय्य … थोड़ा रुक ना … बहुत गर्मी लग रही है … थोड़ा एसी को‌ तेज कर दे.

मैंने आँटी से पूछा- इस वक्त यहाँ कैसे?आँटी बोली- अंदर आने दो, बताती हूँ. कुछ देर के लिए मैं वहीं एक कुर्सी पर बैठने लगी तो मुझे लगा कि कुर्सी के कुशन के नीचे कुछ है. सेक्सी वीडियो का ऑप्शनमैंने नाराजगी के लहजे में कहा- चाची, ये क्या बात हुई, अब मैं क्या पीऊँ?मैं उदास हो गया और चाची के मम्मों की ओर देखने लगा.

उधर भाभी सुबह 6:30 बजे उठती हैं और भाई तो आराम से 9 बजे तक उठते हैं. राजवीर(राजू)- पर अभी एक बार मेरा लंड चूस ले … बस बाकी तेरी जो मन में चुदवाना हो … वो रात को चुदवा लेना.

मैंने एकदम नीचे खिसक कर उसके पैंट की चैन खोल कर उसका लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा. यह पहली बार है जब मैं किसी लड़की के साथ चैट कर रहा हूं।मिशैल- आराम से बैठो बेबी … अपने लंड को अभी छेड़ो मत. मैंने यामिना से पूछा- यामिना, तुम्हें ये सब किये कितना वक्त हो गया है.

इसी दौरान अनु दीदी अपने मुँह पर लटकती रंजू के चुचियों को दांतों से काट रही थीं. प्राची की आंखों से पता चल रहा था कि उसको कितनी तेज तकलीफ हुई होगी; पर मैंने ध्यान नहीं दिया. नाश्ते के बाद मैं हाल की खिड़की के नजदीक खड़े होकर फ़ोन पर बात करने लगा.

सुना था कि दीदी एक नंबर की चुदक्कड़ हैं, पर कभी उन्हें उस मूड में देखा नहीं था.

पिछले भागअमीर बिजनेसमैन को पटा कर चुदाई करवा लीमें आपने पढ़ा कि अशोक ने मेरी चुत की फांकों में अपना मोटा लंड लगा दिया था और वो अन्दर पेलने की कोशिश कर रहा था. ’ की आवाज निकाली, तो मैंने फिर से तेल टपकाया और थोड़ा और दबाव बनाया.

मैं- मम्मी क्या सोचेंगी?लिली- कुछ नहीं सोचेंगी, वो तो खुद लण्ड के लिए तड़पती रही हैं, आप चिन्ता मत करो. संगीता अपनी जीभ से मेरे लंड के सुपारे को चाट रही थी और ‘शुर शुर अल्ल अम्म लपर लपर उम्म्म. फिर मैंने उनसे कहा- कोई पंगा मत करना … वर्ना मुझसे बुरा कोई नहीं होगा.

दोस्तो, मैं यश एक बार फिर से अपनी पड़ोसन भाभी की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. मेरी प्यासी चुत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोसी के लंड से चुदने के लिए योग, व्यायाम करने का बहाना किया. अब उसने अपनी उंगली पर क्रीम लगाई और मेरी गांड के अंदर उंगली डाल दी.

बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में उसमें देखते हुए मैंने बोला- कल्पना डार्लिंग तुमने कभी शीशे के सामने सेक्स किया है?मामी दर्पण में देखते हुए बोलीं- नहीं. हालांकि मैं जानती थी यह मुस्कुराहट सिर्फ मुझे दिखाने के लिए है क्योंकि उन्हें बहुत दर्द हो रहा होगा.

पोर्न सेक्स व्हिडिओ

लेकिन फिर भी मेरे अंदर एक झिझक बनी हुई थी कि कहीं चाची मुझसे बेटे वाला प्यार तो नहीं निभा रही है?लेकिन मुझे यह बाद में समझ आया कि चाची भी एकदम खुलने में झिझक रही थी और वह नीचे लौड़े पर हाथ मार कर यह पक्का कर लेना चाहती थी कि मेरे ऊपर सेक्स का कोई असर है या मैं भी बेटा ही बना हुआ था. अगर मैं उसका सुझाव मान लेती, तो मुझे अशोक से मिलने में बहुत दिक्क्त होती. उसने किसी को पर्ची पर दवा का नाम लिख कर दिया और 10 कंडोम भी मंगवा लिए.

उसकी 34 नाप की चुचियों की नोंके उसके टॉप में से ऐसी उठी हुई लग रही थीं, जैसे टॉप कप फाड़ कर उसमें छेद ही कर देंगी. संध्या- तो मेरे ये कौन से कम है, उनको भी बस चोदने का बहाना मिलना चाहिए. सुपरहिट सेक्सी फिल्मेंखन्ना जी का ही कॉल था- हैलो राज, कहां हो?मैंने कहा- मैं रूम पर हूं।खन्ना- तू जल्दी से मेरे घर पहुंच.

जैसे ही उसको इस बात की भनक लगी, उसने अपना लौड़ा सोनम की गांड से निकाला और झट से उसकी झड़ी हुई चुत में पेल दिया.

चाची की मस्त चिकनी और मुलायम गांड देखकर मेरे मुँह में पानी आ गया और मैं घुटनों के बल बैठकर रमिला चाची के चूतड़ों को चाटने लगा. मैंने मना किया था ना!मैंने बोला- साली बहन की लौड़ी रंडी … मुझे पता ही नहीं चला कि मेरा रस कब निकल गया.

बात करते करते अचानक से श्वेता की गर्दन में दर्द होने लगा- आह … मेरी गर्दन!मैं बोला- क्या हुआ?श्वेता- मेरी गर्दन अचानक से बहुत दर्द करने लगी. यामिना- हाँ, फ़लक बोल?फ़लक- मम्मा, आज लेट कैसे हो गई? आई नहीं अभी तक?यामिना- हाँ, आज आफिस में रुकना पड़ा है, साहब की मीटिंग थी, इसलिये?फ़लक- ये आपका सांस क्यों उखड़ा हुआ है?यामिना ने मेरी आँखों की ओर देखा और बोली- वो … मैं. कुछ वीर्य उसके होठों के किनारों से निकलने लगा, बाकी फ़लक सारा अंदर ही पी गई.

हेलीमा ने मुझे मेरे पीछे से हाथ डाल कर गले से गला लिया और वो पीछे से ही मेरी गर्दन पर किस करने लगी.

मैंने हंसने का कारण पूछा, तो बोली- मेरे उभारों को देख लिया हो … तो अपने चूहे को काबू में कर लो वरना चूहा शॉर्टस से बाहर आ जाएगा. अंकल ने मेरे दोनों मम्मों को एक साथ पकड़ लिए और जोर जोर से दबाने लगे. अब पहले वाले ने मुंह से लंड निकाला और दूसरी तरफ जाकर मेरी बीवी की चूत में डाल दिया.

दिशा पाटनी सेक्सीफिर उसने साक्षी की चूत में उंगली दे दी और साक्षी के मुंह से आह्ह … निकली. मेरे ऐसे करने से प्राची फिर से अपनी चरम सीमा पर पहुंच गई और कामुक सिसकारियां लेते हुए मेरे लंड पर झड़ने लगी.

भाई बहन की नंगी फिल्म

अब आप सोच रहे होंगे कि पीठ पर क्यों … तो उसका कारण ये है कि पीठ रगड़ने से बॉडी की कोशिकाएं एक्टिव हो जाती हैं और बदन में गर्मी आ जाती है. यह सुनते ही मैंने पूरा जोरदार शॉट उनकी चुत में दे मारा, जिससे मेरा लंड मामी की चुत को चीरता हुआ पूरा उनके अन्दर चला गया. हम तो वैसे भी कॉलेज आ रहे थे?चिराग- दोस्तो, इस वीकेंड पर पिकनिक का मूड बन रहा है.

मैं उन्हें देखते हुए अपनी पैंट उतारी और लंड को भाभी के हाथ में दे दिया. जब चाची को विश्वास हो गया कि मैं चाची के मम्मे सेक्स के कारण पी रहा था तो चाची ने मेरी शर्ट को पकड़कर थोड़ा ऊपर खींचा, जिसका अर्थ था कि मैं ऊपर बैड पर आ जाऊं. उस दर्द के कारण मैं झटके से आगे को सरका; पर पूनम बुआ ने उंगली को बाहर नहीं निकलने दिया.

हालांकि उसके मुंह पर लगातार ‘ना’ ही थी लेकिन उसका बदन मुझसे दूर होने की कोशिश नहीं कर रहा था। शशि के आने में अभी आधा घंटा बाकी था. अचानक आँटी मेरे ऊपर से उतरी और 69 की पोजीशन में आ गई और मेरे लण्ड को अंदर तक मुंह में डालकर चूसने लगी. फिर स्नेहा अपने भाई से बोली- क्या हुआ भैया … कहां खो गए?ज्योति ने धीरे से शर्माते हुए कहा- चुप कर कहीं भी कुछ भी बोलती है.

अगर होश में आने के बाद उसको ये पसंद नहीं आया तो? तो वो अब बाद में देख लूंगा. मैं उनके पीछे गया और दीदी की पीठ पर किस करके उनकी ब्रा का हुक खोल दिया.

कुल मिलाकर सबकुछ ठीक ही था।बस रात को फ़्लैट पर अकेले-अकेले दीवारों से बातें करना और अपनी रेणु को याद करके अपनी काम वासना को शांत करना शेखर का काम अब यही हो गया था.

गाड़ी का गेट खुल गया, मैं गाड़ी के नजदीक गया तो गाड़ी में एक बहुत ही सुंदर लड़की बैठी थी, जो गाड़ी चला रही थी. भोजपुरी में सेक्सी सेक्सीमैं भाभी की ब्रा के ऊपर से ही मुँह से मम्मों को दबाकर मजा ले रहा था. सेक्स व्हिडिओज सेक्सी व्हिडिओजमैं सही बोल रही हूँ ना?मैं शर्म के मारे में बस चुप ही रहा और सोच रहा था कि भाभी को ये सब कैसे पता चला. उसके बाद क्या हुआ?हैलो फ्रेंड्स, सेक्स कहानी की बात कही जाए तो किसी भाभी की चुदाई करने में जो मज़ा आता है न दोस्तो, वो किसी और की चुदाई करने में नहीं आता है.

दोस्तो, मैं महेश एक बार फिर से अपनी प्रेम से लबालब सेक्स कहानी में डुबोने हाजिर हूँ.

इस मस्त देसी भाभी न्यूड कहानी के अगले भाग में आपको भाभी की चुदाई की कहानी को पूरे रस से डुबो कर लिखूंगा. मेरी अन्तर्वासना की कहानी में पढ़ें कि मेरी चूत की आग ने मुझे किस किस से चुदवा दिया. ये प्वाइंट्स हम यूपीआई या जीपीए या पेटीएम या क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके खरीद सकते हैं.

दिव्या ने झटके में चादर अपने ऊपर ओढ़ ली।शशि हंसने लगी और बोली- मैं जल्दी तो नहीं आ गई?दिव्या आश्चर्यचकित होकर मेरी और शशि की तरफ देखने लगी. क्या हुआ वहां?अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार।मेरा नाम राज है. मैंने प्रमोद का अंडरवियर उतार दिया- यार आज तुझे साहब को खुश करना ही होगा.

क्सक्सक्स हड मूवी

मगर उसकी इस हालत को देखने के बाद मुझे अब बेचैनी सी हो गयी थी और दिल में रह रहकर दर्द की एक सुनामी सी उठने लगी. मेरा लंड भी नयी गांड में जगह बनाने के प्रयास में थोड़ा छिल गया था जिसका अहसास मुझे लंड के तिल्ले में हो रही जलन से हुआ. पर सच बताऊ दोस्तो, तुम कितनी भी चूत चोद लो … पर कुछ चूत ऐसी होती हैं, जिनका नाम सुनते ही मेरा लंड खुद ब खुद खड़ा हो जाता है.

हॉट भाभी देवर कहानी में पढ़ें कि मैं भाभी भाभी के साथ फ़्लैट में रहता था.

रिच गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे जिम में एक विवाहित लड़की दिखी.

मोना भाभी गर्म होने लगी थीं और अब उनके मुँह से मादक सिस्कारियां निकल रही थीं- अअह … उहह!भाभी ने जो पेटीकोट पहना था, वो उन्होंने अपने मम्मों के ऊपर चढ़ा कर पहना हुआ था. मगर उसकी इस हालत को देखने के बाद मुझे अब बेचैनी सी हो गयी थी और दिल में रह रहकर दर्द की एक सुनामी सी उठने लगी. सेक्सी ले वालामैं मिशैल के कामुकता भरे डांस के कारण लंड में उठ रही लहरों का विरोध नहीं कर पा रहा था और खुद को मुठ मारने से रोक नहीं सकता था.

उस रात मैंने निर्मला जी को तीन बार चोदा और सुबह तीन बजे के करीब वो अपने घर चली गईं. मैं जिंदगी में पहली बार इतने मोटे लंबे लंड से चुद रही थी, वो भी अपने बेटे के लंड से. वो मेरे शरीर को चूमते चूमते नीचे को आ गईं और मेरे लंड को अपने हाथों में पकड़ लिया.

मैंने भी उनकी गाल की चुम्मी लेकर पूछा- और क्या करने को राजी है मेरी कप्पो रानी?मामी- राहुल, तूने तो मुझे ऐसे ऐसे चीजें सिखा दी हैं कि मैं तो तेरी दीवानी हो गयी हूँ. ऐसे ही मैंने जल्दी जल्दी खाना खा लिया और वापस अपने कमरे में सोने जाने लगा.

हम दोनों दारू के गिलासों को होंठों से लगाए हुए धीरे धीरे सिप लेते हुए एक दूसरे की आंखों में देख रहे थे.

कुछ देर तक ये अब मजा करने के बाद हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और कमरे पर चल कर बाकी की चुदाई का मजा लेने का तय कर लिया. मैं दीदी की बड़ी-बड़ी भरी हुई चूचियां देख कर पागल हो गया और मैंने एक चूची के निप्पल को अपने मुँह में दबा कर निप्पल को खींच लिया. ममता जी- हां … हां … सारी‌ ठरक आज ही निकाल लेना … चाहे किसी की हालत खराब हो तो हो.

सेक्सी नेकेड गर्ल्स पांच मिनट बाद मैं पापा से अलग हो गई और फटाफट अपने पूरे कपड़े उतार कर नंगी हो गई. मुझे अच्छी तरह से पता था कि भाभी जी कल किस समय आएंगी क्योंकि मेरे परिवार में मम्मी-पापा, एक बड़ा भाई, एक छोटी बहन सभी हैं.

वे खाना परोसने में सहयोग करते थे, काम करते थे … और जो लेबर थे, वे बदलते रहते थे. संध्या चाची 37 साल की एक भरे पूरे 36-28-38 के फिगर वाली कामुक औरत हैं. अब आगे की गर्म औरत सेक्स स्टोरी:मैंने उसी वक्त लण्ड को अंगूठे और दो उंगलियों की सहायता से यामिना की चूत के छेद में दबाया, लण्ड का सुपारा पक से चूत में बैठ गया.

सेक्सी चोदने वाला वीडियो

पिंकी भाभी को कोई एक बार भी देख ले, तो मेरा दावा है कि वो सब कुछ भूल कर उसी समय भाभी को चोदने के लिए तैयार हो जाएगा. भाभी जी- नहीं आरुष, अब से तो मैं तुम्हारी और भी ज़्यादा दीवानी हो गई हूं. लंड की लंबाई 7 इंच के आस पास ही है, लेकिन मोटा इतना है कि किसी भी चूत में आसानी से नहीं जाएगा … सामने वाली की आंखों में आंसू ला देगा.

उनसे रिस्पांस पाकर मैं जोर जोर से चूतड़ भींचने लगा और ढीले करने लगा. फिर नसीम भाई बोले- अब तो नहीं लग रही … मजा आ रहा है न!प्रभात मुस्करा कर रह गया.

रंजू और अनु दीदी आपस में एक-दूसरे के मुँह पर अपनी चूचियों की चुसाई का मजा ले रही थीं.

आह … एक तरफ तो दारू का नशा और दूसरी तरफ अलवीना की जवानी मेरे लंड को चूस रही थी. पहले उसने मुझे बहुत समझाया कि मेरी उम्र ज्यादा है … मेरे तीन बच्चे हैं और मैं ज्यादा सुंदर भी नहीं हूं. मैं बोला- मैडम, हाथ कंगन को आरसी क्या और पढ़े लिखे को फारसी क्या? आप रूबरू होकर देख लीजिये, आपको स्वयं ही पता चल जायेगा कि मेरी क्या विशेषता है.

मैं इतराते हुए बोली- अब क्यों मिलना है?डॉक्टर मेरी गांड दबाते हुए बोला- अभी तो तुम्हारी गांड भी मारनी है ना!मैं बोली- अच्छा जी … अब साहब की नज़र मेरी गांड पर है. इसी प्रकार की मस्ती करती हुई दोनों फ्रेश हुईं और तैयार होकर हॉल में आ गईं, जहां पहले से सभी बैठे थे. मैं व्याकुल हो उठा और उठकर आगे बढ़ कर उसका हाथ पकड़कर उसे अपनी ओर खींच लिया.

थोड़ी देर बाद मैं उठा, तो मैंने देखा कि भाभी गांड से खून और मेरा वीर्य एक साथ बाहर निकल रहा था.

बीएफ फिल्म चुदाई वाली हिंदी में: मैं भी तेज धक्के लगाने लगा और लंड गांड में अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा. वो हल्के से मुस्करायी और फिर किचन में चली गयी।उसने अपनी बेटी को चॉकलेट देकर दूसरे कमरे में टीवी चला कर बन्द कर दिया।अब मैं किचन में आ गया और देखा कि वो आज हल्के महरूम कलर का नाईट सूट पहने थी, जो हल्का पारदर्शी भी था.

पहले तो वो कुछ हिचकी मगर एक मिनट के बाद रोशना भी मेरा साथ देने लगी. मैं मधु आप लोगों की बीवी, जल्द ही आपसे अपनी सेक्स कहानी के अगले भाग में मिलती हूं. मैंने लिली की चूत पर पोजीशन ली और लिली की टाँगों को मोड़कर थोड़ा चौड़ा किया और चूत के छेद पर लण्ड का सुपारा रखा.

मेरे लौड़े ने कुछ देर बाद अपनी रफ़्तार शताब्दी एक्सप्रेस के जैसी बढ़ा दी और झटकों के साथ वीर्य की धार छोड़ दी.

जब मैं दरवाजा बंद कर रहा था … तब मेरी नजर सामने वाले घर में चली गयी. स्नेहा का हाथ सीधा उसकी बिना बाल वाली चिकनी चूत पर लगा, तो उसे ऐसा लगा जैसे अभी बाल बना कर आई है. भाभी में मेरी शर्ट की कॉलर पकड़ी और मेरे होंठों पर अपने होंठ लगा कर धीमी आवाज में बोलीं- लेकिन इस रंडी के लिए सिर्फ तुम एक अकेले ही चोदू रहोगे.