बीएफ गंदी बीएफ

छवि स्रोत,करीना की सेक्सी वीडियो दिखाएं

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी में सेक्सी डाउनलोड: बीएफ गंदी बीएफ, ’किरण कुछ नहीं बोल रही थी, पर उसकी आंखों से साफ पता चल रहा था कि उसको भी चूत चुदवानी है.

सेक्सी कार्टून सेक्सी कार्टून वीडियो

मैंने भाभी को बेड पर लिटाया और उनकी बहन से अपनी चूत को भाभी के मुँह पर रखने को कहा. देखने वाले वीडियो सेक्सीवहां दो कमरे थे और आगे की तरफ बहुत सारे गमले रखे थे, जिनमें फूल और पौधे लगे थे.

मैंने पहले कभी किरण से फोन पर बात नहीं की थी, इसलिए मैं उसकी आवाज को एकदम से नहीं पहचान पाया था. हिंदी सेक्सी चमैंने कपड़े पहने और बाहर जाकर देखा तो लच्छो किचन में खाना बनाने की तैयारी कर रही थी.

मेरी सहमति देखकर उन्होंने चोदने की स्पीड बढ़ाने के साथ ही चांटे मारने की भी स्पीड और पॉवर बढ़ा दी जिससे एक तरफ मेरी गांड की खुजली शांत हो रही थी, वहीं नितंबों पर जलन बढ़ रही थी.बीएफ गंदी बीएफ: मैंने सुमैत्री की गांड को थोड़ी देर चोदा और वापस अपना लंड बाहर निकाल लिया.

आप सभी कैसे हैं … उम्मीद करता हूँ कि आप सभी लोग मेरी कहानियों को पढ़ कर खूब मजे ले रहे होंगे.उधर गीता हमें देखकर नीचे उतरकर बोली- नीता, क्या तुम अकेली ही रस पियोगी? मुझे भी तो इस अमृत का थोड़ा स्वाद ले लेने दो.

भोजपुरी की फिल्म सेक्सी - बीएफ गंदी बीएफ

सरिता भाभी और देविका मौसी कार के पास आकर मम्मी से बोलीं- आराम से जाना और पहुंचते ही फोन करना.उन्होंने ही मुझ अनाथ को कूड़े घर से उठा कर अपने घर में आसरा दिया था.

ये बात सुनकर मैंने पूनम से पूछा- तुम तो शादीशुदा हो, तो पति चोदता नहीं है क्या?उसने बात को टाल दिया और मुझको अपनी ओर खींचती हुई बोली- आओ मुझे किस करो. बीएफ गंदी बीएफ जैसे ही मैं लेटा, तो मेरी नजर अपने लंड पर गई, जिसमें चारों तरफ खून लगा हुआ था, जो कि रूपा के कुंवारेपन का सबूत था.

मैं उसकी चूत जोर जोर से चूस रहा था तो गीता एकदम से कसमसाती हुई झड़ने लगी.

बीएफ गंदी बीएफ?

थोड़ी देर में मॉम बोलीं- तनु आज नहीं चुसाएगा क्या?मैंने कहा- नहीं मॉम … आज मेरा मूड नहीं है. जैसे ही भाभी रूम में आईं तो मैंने उनको बांहों में भर लिया और उनकी गर्दन पर किस किया. मैंने अपने हाथ की तर्जनी उंगली को चूत के निचले हिस्से से शुरू करके, चूत की दरार में ऊपर-ऊपर, फिराना शुरू कर दिया.

नीता चिहुंकने लगी और बोली- ओह हर्षद अब और मत तड़पाओ मुझे … जल्दी से चोद दो मुझे और मेरी चूत की प्यास बुझा दो. वो पहली बार ये सब अनुभव कर रही थी इसलिए गीता का शरीर जल्द ही अकड़ने लगा था. फिर हम लोग 69 की पोजीशन में आ गए और लंड चूत की चुसाई का मजा लेने लगे.

किसी भी परिवार में, जब मां अपनी ही चूत से बच्चे को जन्म देती है और अपने चुचों से ही उसको दूध पिलाती है, तो जब बच्चा बड़ा हो जाता है, तब ये प्यार कहां चला जाता है?मेरा तो मानना है, इस प्यार को बरकरार रखते हुए, हर घर में, मॉम को नंगी घूमना चाहिए. मैंने कहा- बहुत तड़पाया है तूने मुझे जान, आज तुझे एकदम चूस कर खा जाऊंगा. थोड़ी समय के बाद सुमैत्री ठंडी हो गई और मैं भी सुमैत्री को चोदते चोदते ठंडा पड़ गया.

फुल सेक्स विद फादर इन लॉ कहानी के दूसरे भागबहूरानी की चूत में लंड घुसा दियामें आपने पढ़ा कि मेरे और ससुर जी के बीच हमारी पहली चुदाई हो गई. किरण भी किसी पेशेवर रंडी की तरह मेरे लौड़े में जान फूंक रही थी और धीरे धीरे उसकी मेहनत रंग ले आयी.

मैं यहां शहर में एक कंपनी में काम करता हूं और यहां मेरे बहुत से दोस्त बने हैं.

आपको मेरी ये दास्तान कैसी लग रही है आप मुझे अपने मेल और कमेंट्स से बताएं.

मैंने पूनम की चूत के दाने के ऊपर 8-10 बार लंड रगड़ा, फिर एक ही झटके में पूनम की चूत के अन्दर पेल दिया. मैंने भैया से कहा- आप ऐसे चुपके से मत आया करो, मेरी जान निकल जाती है. दोस्तो, मेरी पिछली सेक्स कहानीमकान मालकिन ललिता भाभी की गांड मारीमें मैंने आपको बताया था कि किस तरह से मैंने अपनी मकान मालकिन ललिता भाभी को दो दिन तक खूब चोदा था.

मैंने खुले दरवाजे से देखा कि चाची ने अपनी साड़ी उतारी, पेटीकोट ब्लाउज भी उतार दिया. फिर एक बार में ही उसने मेरे लौड़े को अपने मुँह में अपने गले तक उतार लिया. कुछ देर चूत की फांकों में लंड के सुपारे को घिसा और भाभी की आंखों से आंखें मिलाईं.

उसके दूध ज्यादा बड़े तो नहीं थे, पर बहुत मस्त थे, एकदम टाइट … जरा भी नहीं लटक रहे थे.

भाभी की बड़ी बहन और मैं दोनों एक दूसरे के होंठों को खा जाना चाहते थे. लेकिन जब धारा बिल्कुल ही नहीं हिली तब उसे समझ आया कि चाहे जैसे भी हो आगे का क़िला उसे ही ढहाना पड़ेगा. पर मैं पत्थर दिल, उसके किसी पत्र का जवाब नहीं देती थी।ऐसे में कुछ समय बाद, उसने थक हारकर हार मान ली।वो अपनी चिट्ठियों में मुझसे बेहद प्यार करने के दावे करता और मुझे मनाने का हर संभव प्रयास करता।उसकी शादी की बात मुझसे शुरू से मालूम थी और उसने भी साफ तौर पर कहा था कि हम एक नहीं हो सकते.

इस पर वो आदमी झट से पैग बना कर लाया और बोला- आज तो इस रांड का मैं भी भोग लगाऊंगा. अब मेरा हौसला और ज्यादा बढ़ गया और मैं पागलों की तरह से किरण के गले, गाल, मुँह पर लिप किस करने लगा. उस वक्त हमने नया घर लिया था और जहां पर हमने नया घर लिया वह कॉलोनी एकदम खाली थी.

दोस्तो, कैसे हो आप सब!आशा करता हूँ कि सभी सही सलामत होंगे और लॉकडाउन का मजा चुदायी करके लिया होगा.

मॉम बाहर जाते जाते मुझसे बोलीं- चल रोहन … चुदाई खत्म करके जल्दी आ जाना. पूरे कमरे में बस धारा और शेखर की सिसकारियाँ और शेखर के जाँघों से टकराते धारा के नितम्बों के पट-पट की आवाज़ गूजने लगी.

बीएफ गंदी बीएफ उस वक्त छन छन की मधुर आवाज ऐसी मस्त लगती थी जैसे चुदाई के साथ लय ताल मिला रही हो. ये Xxx सिस फक़ स्टोरी तब की है, जब मैं अपनी सेक्स की बढ़ती भूख के चलते मैं पूरे पूरे दिन भाई बहन की चुदाई वाली वीडियो देखता रहता था.

बीएफ गंदी बीएफ अब तो देविका ने मेरी गांड के छेद पर भी अपनी उंगलियां फिराने लगी थी तो मैं और ज्यादा मदहोश होने लगा था. इससे मौसी कुछ ज्यादा ही पागल हो गईं और जोर जोर से मेरे लंड पर कूदने लगीं.

कुछ देर बाद मैंने आंटी को बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और नीचे तकिया लगा दिया.

देसी बीएफ रोमांस

तो दोस्तो मेरी यह हॉट भाभी की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी, आप लोग जरूर बताइएगा. मैं थोड़ी देर में उनके घर पहुंच गया और दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया. शर्म से मेरी आंखें अपने आप बंद हो गई।जल्द ही मेरा ब्लाउज भी मेरे जिस्म से अलग हो गया.

जब रुचिका को मालूम पड़ा कि उसकी मम्मी भी बिस्तर पर नंगी होकर आ गयी हैं, तो कुछ नहीं बोली. मैं- बस किस ही करना है और कुछ नहीं?मेरे मन में लड्डू फूटने लगे थे … सोचा कि अब तो इसे चोदूंगा ही सही. मैंने ध्यान दिया तो महसूस हुआ कि मेरा भाई मेरे एक मम्मे को चूस रहा था और मेरी चूत में उंगली कर रहा था.

मैं इतनी गीली हो चुकी थी कि क्या कहूँ … ऐसा लगने लगा था, जैसे मेरी जान ही निकल जाएगी.

हफ्ते में दो तीन दिन तो बाहर ही रहते हैं और पन्द्रह दिन में कभी कभार एक बार चोदते हैं. दोस्तो, मेरी कंपनी का मालिक मेरी पत्नी मेघना को अपनी गोद में उठाए हुए कमरे के अन्दर दाखिल हुआ. मेरे बाथरूम में पानी नहीं आ रहा था इसलिए मैं बनियान और टावल पहने नीचे चला गया.

मैंने धीरे से कान में कहा- आई लव यू जान … तुम्हें दर्द नहीं होगा, बल्कि मजा आएगा. उसमें मेरी विग, ब्रा, कपड़े, मेकअप का सामान, माहवारी के समय लगाने वाले विस्पर पैड, हिप्स पैड ताकि मेरे कूल्हे चौड़े दिखें, गांड भी और अधिक उभरी हुई दिखे, वो सब ले आई. बातें करते करते उसने बताया कि आज क्लास 2 बजे से है और मैडम आज 8 बजे तक क्लास लेने वाली हैं.

कुछ देर बाद मेरा भी लंड पानी छोड़ने वाला था, तो मैंने उससे पूछा- किधर लोगी?वो बोली- अन्दर ही आ जाओ देवर जी. इतना कह कर उसने मुझे फिर से दबोच लिया और कंधों से दबा कर नीचे बैठा दिया.

उसने पूछा- ये न्यू ब्रांड की कोल्डड्रिंक आई है क्या?मैंने बोला- हां. सामने से दोनों हाथ जमीन पर रख कर अब वो सच में किसी कुतिया की तरह मेरे पास रेंगती हुई आने लगी. आज मैं इस इत्तेफाक की वजह से पराये मर्द से चुद चुकी थी और वो पराया मर्द अभी भी मेरी किचन में मौजूद था.

उसने मुझे बताया कि शनिवार की रात में पार्टी करेंगे और मैं उस दिन दारू पीकर घर भी नहीं जा सकती, तो मैं तुम्हारे रूम पर ही रुक जाऊंगी.

अब क्या लाऊं तुम्हारे लिए?मैं- पीने के साथ कुछ नाश्ता भी हो तो ले आओ. रेशमा की कमर पर रखा हुआ मेरा हाथ मैं उसके सीने पर ले गया और उसका एक चूचा पकड़ कर जोर जोर से मसलने लगा. इस पोजिशन में कुछ मिनट चोदने के बाद मैंने भाभी को कुतिया बन कर झुकने के लिए बोला.

मैं चूंकि क्लीन शेव्ड रहता हूँ तो मेरे होंठों पर लिपस्टिक ने मुझे एकदम किसी लौंडिया जैसा रूप दे दिया था. मैंने उनकी पैंटी को उतारा और वैसे ही फर्श पर एक तरफ डाल कर कर नहाने लगा.

सुमैत्री ब्लाउज और पेटीकोट में थी और अपने बाल तौलिया से झाड़ रही थी. तभी मैंने देखा कि मेरे सामने जो बिल्डिंग थी, उसकी खिड़की से कोई देख रहा था. साबिरा के मुँह से ऐसे बोल सुनकर शिराज थोड़ा चौंक गया, पर शायद बड़ी बहन का गुस्सा देख कर वो चुपचाप हमारे पास आकर नीचे बैठ गया.

पशुओं की बीएफ फिल्म

मॉम खुद से मेरे मुँह में झटके मारने लगीं और एकदम से बोलीं- अब हटो … सुसु आ रही है.

मैं खुद भी काफी गर्म हो गया था और मुझे अपने सामने एक चुदासी चूत दिखाई दे रही थी. जिस नंबर से ये कॉल आई थी, वो नंबर मेरे फोन में पहले से ही सेव था तो मुझे लग ही रहा था कि कहीं फोन पर भाभी तो नहीं हैं. कुछ देर तक मेघना को अपनी गोद में उचकाने के बाद बॉस ने उसे नीचे उतारा और अब मेघना बिस्तर पर घोड़ी बन गई थी.

सुबह होते ही हम दोनों तैयार हो गए और करीब दस बजे रूपा का एजेंट उसे लेने के लिए आ गया. उस समय मेरी मम्मी ने मुझसे पूछा भी कि पूजा क्यों नहीं कर रहा है तो मैंने बहाना बना दिया कि मन नहीं कर रहा है. सलमान खान कैटरीना सेक्सीथोड़ी देर में ही ललिता की गांड तेज़ी से आगे पीछे होने लगी और वो ‘राज और चोदो … और ज़ोर से चोदो चोदो … फ़ाड़ दो मेरी गांड … आं मेरे चोदू राजा.

धारा की गीली चूत को मुँह में भर कर शेखर एकदम से उसे चूसने लगा जानो आम चूस रहा हो या फिर यूँ कहें कि रसभरी चूचियाँ चूस रहा हो. जबरदस्ती जांच करवाने को कहती हूं तो मुझे और मेरी दीदी को मारते पीटते हैं और कहते है कि वो नामर्द नहीं है। हमारा खानदान ही बांझ है। हम दोनों अपनी मां बाप के बच्चे नहीं है इस तरह की गाली देते हैं।और सोनम रोने लगी.

इस वक्त गर्मी का मौसम था तो मैंने कहा- क्यों न एक बार नहा लिया जाए, उसके बाद सोएंगे. फिर भी कन्फर्म करने के लिए मैंने पूछ लिया- फिर क्या हुआ … अच्छा लगा ना?इस बार उसने शर्माते हुए हां में सर हिलाया. मैंने पूछा- कुंवारी का मतलब शादीशुदा नहीं है या कुछ और बात है?उसने कहा- नहीं, वो बिल्कुल सीलपैक माल है.

माया मॉम- अभी तो मेरे पास और भी बहुत कुछ है मेरे प्यारे बेटे के लिए. भाभी हंस दीं और मुझे चूम कर मेरे मुँह के ऊपर भैंस की तरह खड़ी हो गईं और पेशाब करने लगीं. कुछ ही देर के बाद मैं पूरी नंगी हो गयी और अपने बालों को पानी से भिगोकर शैम्पू लगाने लगी.

फिर बॉस उठ कर मेघना के पैरों के पास बैठ गया और उसकी दोनों टांगें फैला दीं.

मैंने भी आंटी को बोला- इसको सुधारने के बाद भी ये ठीक तरीके से काम करेगा भी या नहीं इसका भरोसा नहीं. अब उन्होंने मुझे टेबल पर बैठा दिया और मेरे मम्मों पर लगा केक चाटने लगे और मेरे मेरे निप्पल्स को चूसने लगे.

मैंने उसका विरोध नहीं किया तो वो मुझे अपने सीने से लगा कर जोर जोर से चूमने लगी, मेरे होंठों को चूसने लगी. वो मेरी बात सुनकर हंस पड़ी और बोली- तुम कैसे समझीं कि मैं अलग सी हूँ?मैंने कुछ नहीं कहा, बस उसकी आंखों में झांकती रही. मैं इतनी गीली हो चुकी थी कि क्या कहूँ … ऐसा लगने लगा था, जैसे मेरी जान ही निकल जाएगी.

फिर मैंने सुपारे को बाहर करके अपनी जुबान उसके नुकीले सुपारे के छोटे से छेद पर रख दी. अब ललिता भाभी भी अपनी कमर हिला हिला कर चुदाई में पूरा साथ दे रही थी. कमरे के अन्दर दारू चल रही रही और वो दोनों टीवी पर एक ब्लू फिल्म देखते हुए मज़े ले रहे थे.

बीएफ गंदी बीएफ खैर उसने लगातार अपना लंड रगड़ना जारी रखा … उसकी इस कोशिश ने अपना रंग दिखाना शुरू किया और अब धारा भी दर्द से राहत महसूस करते हुए शेखर की छाती पर अपनी हाथेलियों का ज़ोर देकर खुद अपनी गांड उठाने और दबाने लगी. मैंने लंड निकाला और चूत में डाल दिया और आंटी की चोटी पकड़ कर चोदने लगा.

बीएफ सेक्स वीडियो फिल्म हिंदी

फिर उन्होंने मुझसे पूछा- ये कौन सी ड्रेस पहनी हुई हो?मैं बोली- ये नाईट ड्रेस है भैया. चाची बोलीं- यही करोगे या आगे भी बढ़ोगे … कब से मेरी चूत पानी छोड़ रही है. थोड़ी समय के बाद सुमैत्री ठंडी हो गई और मैं भी सुमैत्री को चोदते चोदते ठंडा पड़ गया.

पर साला था तो गांडू नामर्द, कब तक टिक पाता साबिरा जैसे खूबसूरत लड़की के मुँह में?मुश्किल से दस बीस झटके दिए होंगे और मादरचोद अपनी बहन के मुँह में झड़ गया. अब मैंने उसकी दोनों मुलायम, दूध जैसी गोरी, मांसल और गदरायी जांघें सहलाईं और फैलाकर पकड़ लीं. सेक्सी चुदाई बढ़िया वालीमैं धीरे धीरे से धक्के लगाने लगा और वो भी गांड में रगड़ लगने से मजे ले रही थी.

कहानी के पिछले भागछोटी बहन के पति का लंड चूसामें अब तक आपने पढ़ा कि मेरी बहन के पति मनीष ने मुझे फिर से चोदने के लिए गर्म कर दिया था और वो अपना लंड मेरी गांड पर फेरने लगा था, जिससे मैं घबरा गई थी.

उसने एक दिन पूछा- आपकी कोई जी एफ है?मैंने साफ मना कर दिया और कहा- तुम्हीं बन जाओ मेरी जीएफ!वो हंस दी और उस दिन से हम आपस में खुल गए. मेरे मुँह से गर्म आहें निकलने लगीं और मैंने अपनी टांगों को फैला दिया.

तभी भाभी ने कहा- क्या आज हम दोनों पूरी रात यहीं रुक सकते हैं?मैंने कहा- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है. मैं नंदा के कमरे में जाकर नित्य की तरह कपड़े उतार कर एयर कंडीशनर चालू करके लेट गया. काफी देर तक चुदाई करने के बाद रोहन बाहर चला गया और उसके कुछ देर बाद भाई भी निकल गया.

उसको अहसास हो गया कि मैं जग रही हूं पर वो कुछ नहीं बोला; जोर जोर से धक्के देता रहा और मुझे चोदता रहा.

रेशमा की नंगी चूत देख कर मुझसे अपने आपको रोका नहीं गया, मैंने बाथरूम में ही लगे टब पर रेशमा को नंगी बिठाया और उसकी चिकनी चूत किसी कुत्ते की तरह चूसने लगा. अब आगे Xxx मास्टर सेक्स कहानी:अब तक मैं भी अपनी उखड़ती सांसों में डूब गई थी और कामुक आवाज़ों के साथ कराहने लगी. क्योंकि मैंने किसी औरत को पहली बार इतनी नजदीक से छुआ था तो मैं उसके ऊपर भूखे भेड़िए की तरह टूट पड़ा।इतने ज्यादा जोश में था मैं कि मेरा पूरा चेहरा और कान लाल हो गये थे.

सेक्सी वीडियो सोने वालापर आप सभी तो जानते ही हैं कि जिस्म की भूख इस तरह नहीं मिटती।मैं दफ्तर के वाशरूम में जाकर दिन में तीन चार बार उंगली करने लगी।मुझे उंगली करने की ऐसी लत लगी कि लंड को अपने दिल और दिमाग से बाहर निकाल फेंका।पर अब उंगली करते करते हाथ थक चले थे. पर तभी रेशमा ने मेरे हाथ से मोबाइल लेते हुए पाटिल साहब को अपनी शर्तें बता दीं और ये चेतावनी भी दी कि इसके बाद वो हमारी निजी जिंदगी में कभी दखलअंदाजी नहीं करेंगे.

सेक्सी बीएफ छोटी छोटी लड़कियों की

मैं एक हाथ में फोन और दूसरे हाथ को अपनी चूत में फेरती हुई मोहन बाबू के मजे लेने लगी. फिर भी कन्फर्म करने के लिए मैंने पूछ लिया- फिर क्या हुआ … अच्छा लगा ना?इस बार उसने शर्माते हुए हां में सर हिलाया. चुदाई के बाद वो मेरी छाती पर चढ़ गया और मेरी दोनों चूचियों के बीच अपना लंड पेलने लगा.

जब वो तीनों ब्रा और पैंटी में आ गईं तो नंदा ने मुझसे पूछा- अब आगे?मैंने कहा- ड्रिंक लेते हैं. मुरथल पहुंच कर हम दोनों ने सुखदेव ढाबे में खाना खाया और पार्किंग में लगी अपनी गाड़ी में बैठ कर बातें करने लगे. अब मेरी हिम्मत भी बढ़ती गई और मैं भी एकटक भाभी को देखते हुए खाना खा रहा था.

आप मेरी Xxx सेक्स फॉर फ्री कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया मुझे मेल पर ज़रूर देंगे. एक हाथ से बेल्ट पकड़ कर मैं दूसरे हाथ को उसकी फुद्दी की तरफ लाया और फिर से उसकी चूत में तीन उंगलियां घुसा कर जोर जोर से उसकी चूत रगड़ने लगा. दस मिनट चोदने के बाद भैया भाभी की बुर में झड़ गए और अपना सारा वीर्य उनकी बुर में निकाल दिया.

मैं जाकर उनके बेड पर बैठ गया और लैपटॉप में फोल्डर दिखाने लगा- ऐसे खोल लेना. मेरी उंगलियों की हरकत की वजह से सोनी भी मचलने लगी और अपनी कमर ऊपर नीचे करने लगी.

मैं- सच … वो कब मिलेगा मॉम?माया मॉम- जितनी जल्दी तुम नहा कर नाश्ता कर लोगे और मेरा काम खत्म होगा, उतना जल्दी मिलेगा.

उसने मुझसे अपने ब्वॉयफ्रेंड और मेरे रिश्ते के बारे में पूछा, तो मैं कुछ सोच नहीं पाई क्योंकि मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं था. सेक्स कॉलेज सेक्सी व्हिडिओमैंने भी देर न करते हुए उनकी दोनों टांगों को खोला और उनकी चूत के मुहाने पर अपना लंड टिका दिया. पटना वाली सेक्सीचूत में लंड सैट होते ही मैंने झटका मारा और मॉम की ‘ऊईई ऊईई …’ के आवाज के साथ अन्दर घुसता चला गया. रेशमा- आहहह अम्मीई ईईई जानन्न उफ्फ धीरे करो मालिक्क फाड़ दी मेरी चूत.

किरण भी किसी पेशेवर रंडी की तरह मेरे लौड़े में जान फूंक रही थी और धीरे धीरे उसकी मेहनत रंग ले आयी.

मैं रूना के ऊपर लेटा हुआ था और मेरा लंड रूना की चूत के ऊपर टिका हुआ उसकी चूत को सहला रहा था. मैंने देविका की दोनों चूचियां अपने हाथों में ले लीं और उन्हें मसलने लगा. फिर थोड़ी देर बाद मेरा निकलने वाला था तो मैंने कहा- जान, मैं आने वाला हूं.

शेखर की प्यास बुझाने के लिए धारा ने अपने दोनों हाथों की उँगलियों से अपनी चूत को जहां तक सम्भव था खोल दिया और शेखर को अछी तरह चूत चाटने और चूसने का मौक़ा दिया. मैंने अपने एक हाथ से लंड को पकड़ कर उसकी चूत पर ऊपर नीचे रगड़ना शुरू कर दिया. वो अपने दोनों हाथों से मेरे दोनों निप्पलों को अपनी मुठ्ठी में भर कर दबाने लगी.

इंडियन सेक्स बीएफ सेक्स बीएफ

जब उन्होंने मेरे एक निप्पल को मुँह में लेकर ऊपर की तरफ खींच खींचकर चूसना शुरू किया और दूसरे बूब को मींजना शुरू किया तो मैं निहाल हो गई. साबिरा को बिस्तर पर धकेलते हुए मैंने शिराज को गुस्से से देखकर कहा- सुन बे हिजड़े, चल तू ही बता … पहले क्या चोदूँ तेरे बहन की? इसकी गांड या इसकी फुद्दी?मेरे सवाल से बेचारा शर्म के मारे ऐसे ही बैठा रहा. पहले तो मैंने लच्छो की चूत की दो बार जमकर चुदाई की उसके बाद तीसरी बार मैंने उसकी गांड भी चोद दी.

अभी मैं बेड पर ही था, इतने में सोनी मेरे पास आई और उसने मुझसे लिपटते हुए अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए.

मेरा हाथ पैंटी पर गया तो महसूस हुआ कि पैंटी गीली हो चुकी थी।फिर मैंने पैंटी में हाथ डाला तो सोनम की चूत पे छोटे छोटे झांटे थी लग रहा था कि 5- 6 दिन पहले ही साफ की हो।सोनम की गर्म भट्टी की तरह तप रही गीली चूत में 2 उंगली डाल दी तो सोनम चिहक उठी।मैंने पैन्टी को नीचे सरका दिया।अब मैं कम्बल में घुस गया, सोनम की टॉप ऊपर करके ब्रा खोल दी।मैं उसके बूब्स को चूसने लगा.

मैंने मम्मी से कहा- मम्मी, आपके और पिताजी के कुछ कपड़े बैग में रखने हैं, तो दे दो. इसके बाद हम एक दूसरे से पूरी तरह खुल गए थे, अब हमारे बीच सेक्स की भी बातें होने लगी थी. निर्भय सेक्सी वीडियोअब आपको क्या प्रॉब्लम है?मैंने हंस कर कहा- पागल है पूरी … चल सो जाते हैं.

मैंने कहा- प्लीज तुम अपनी पैंटी उतारो और मुझे अपनी डरने वाली चीज दिखाओ. देविका ने फिर से मेरा बाक्सर नीचे खिसका दिया और मेरे लंड को खुली हवा में आजाद कर दिया. उस दिन न जाने क्या बात थी कि हम दोनों के अलावा और कोई नहीं आया था, काफी देर हो गई थी.

आसिफ मेरे पीछे आया और बोला- चल निखिल, अब प्यार का इम्तिहान देने की बारी आ गई है. पैंट नीचे करते समय उनकी अंडरवियर कुछ नीचे हो गई थी, जिससे उनके लंड के आस पास के बाल दिखने लगे थे.

उनकी रफ्तार इतनी तेज हो गई कि मेरे लंड में हल्का हल्का दर्द हो रहा था क्योंकि वो इतना झटके के साथ चूत में लंड ले रही थी कि क्या बताऊं।पूरा लंड सहित शरीर भी मेरा उनके चिपचिपे पानी से भीग गया और वो थी कि लंड से उतरने का नाम ही नहीं ले रही थी।मैं झड़ने के करीब था तो मैंने जोरदार झटके देना शुरू किया.

बर्थडे पार्टी में मेरे साथ संजीव भैया ने क्या क्या किया, वो सब बड़ा ही हॉट था. एक दिन मेरे एजेंट ने मेरी दिल की इच्छा पूरी कर दी, जिसके लिए मैं न जाने कब से इंतजार में था. किरण का थूक अब उसके सीने पर टपक रहा था, पर साली जी-जान लगा कर मेरे लौड़े से अपना मुँह चुदवा रही थी.

इंग्लिश में सेक्सी चलने वाली बस उसी पल मेरे लंड ने कुछ तेज पिचकारियां देविका के गले में गहराई में मार दीं और मैं झड़ गया. लंड उसकी गांड में कसा-कसा जा रहा था, गांड के अंदर की दीवार लंड की उभरी नसों से छिल रही थी.

अब मैंने फिर से नीचे आकर उसके पैर को किस करना शुरू कर दिया और उसकी नर्म जांघों से होते हुए उसकी चूत पर भी एक किस कर दिया. तो सोचा आपसे बात की जाए।वो- मैं आपको सुंदर लग रही हूं?मैं- आपसे सुंदर यहां कोई दिख रही हो तो बताइए. इतना कह कर उसने मुझे फिर से दबोच लिया और कंधों से दबा कर नीचे बैठा दिया.

बीएफ फिल्म दीजिए तो

मैं मन में कहने लगी कि खाना खाकर … उसने आपकी बहू की इज्जत ही खा ली. दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आपको नंगी सेक्सी लड़की की कहानी के इस भाग में मजा आया होगा. कुछ देर बाद मैंने उसके मुँह में जीभ डाल दी तो वो मेरी जीभ को चूसने लगी और हमारी आंखें मुंद गई थीं.

और मुझे ये भी यक़ीन है कि मैं जो तुमसे कहने वाली हूँ तुम उसका भी मान रखोगे. फिर मैंने एक अपनी स्पेशल चड्डी पहनी जो मेरी लुल्ली को दाब कर ऊपर से चूत का शेप देती थी.

लगातार 20 मिनट तक ताबड़तोड़ चोद कर उसके झड़ने की बेला आई तो उसने मुझे अपनी भुजाओं में एक बहुत मजबूती से जकड़ लिया और अपनी चूत की धारा से मेरे लंड को भिगोती हुई निहाल हो गयी.

इसका लंड था तो मेरे पति की ही तरह, पर थोड़ा टेड़ा था, एकदम केले के तरह. मैंने उनसे कहा- अभी नहीं, अभी ऐसा कुछ न कीजिए, पहले मुझे खाना बना लेने दीजिए. वो बोला- तो मनीषा मेरी जान अमृत पीने को तैयार हो न!मैंने कहा- जी मालिक.

बीस मिनट तक अपनी बहन की चूत चोदने के बाद उसने अपना सारा वीर्य मेरे मुँह में भर दिया. उसने जींस और टॉप पहना था जिसकी वजह से मेरा हाथ आगे नहीं जा पा रहा था. उनकी चुदाई से पूरा कमरा चुदाई की फचाफच वाली आवाज से कमरा गूँज गया था.

मैं उसके दोनों चूचकों को अपने दोनों हाथों की उंगली अंगूठे के बीच लेकर दबाते हुए चूचकों को खींचते हुए रगड़ने लगा.

बीएफ गंदी बीएफ: बहुत ही आलीशान घर था … देखते ही मैं दंग रह गया।2 मर्सडीज गाड़ी, 2 बीएमडब्लू कार, 1 जगुआर कार, सामने खड़ी थी. उसने मेरे लंड में अपनी चूत फंसाई और अब वह भी अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी थी.

फिर कुछ देर रूककर उन्होंने कहा- सौम्या, तुम तो बहुत मस्त माल निकलीं. वो मेरे सर पर हाथ रख कर अपनी चूत चटवाने का मज़ा ले रही थी, मेरे सर पर हाथ फेरती हुई बोली- अभी दस मिनट पहले ही साफ़ की है, मजा आ रहा है न!मैं उसकी आंखों में प्यार से देखने लगा. तब फिर उसने कुछ झिझकते हुए मुझे कहा- दीदी एक बात है, जो मुझे बहुत दिन से आपसे बोलना था, पर कैसे बोलूं ये नहीं समझ पा रहा था.

जब भी मुझे लंड की खुजली मिटानी होती थी, तब मैं अपनी फैक्ट्री की ही एक महिला श्रमिक सोनम को चोदने चला जाता था.

Xxx जीजा सेक्स कहानी में मैं एक बार अपनी छोटी बहन के पति से चुद कर मजा ले चुकी थी. सबको चाय देकर देविका ने मुझे भी चाय दी और खुद लेकर मेरे पास बैठ गयी. उसने बैठ कर मेरे लंड को मुँह में ले लिया और बड़ी मस्ती से लंड चूसने लगी.