हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली

छवि स्रोत,हिंदी में बीएफ वीडियो मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

xx3 सेक्सी वीडियो: हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली, मेरी बहन की खूबसूरती सच में किसी की भी नज़र उस पर रोकने में बखूबी सक्षम थी.

सनी लियोन की बीएफ इंग्लिश

मेरी … जान लोगे क्या? मैं … मर जाऊँगी … आह!इतना कहते कहते उसकी चूत से उसका पानी निकलना शुरू हो जाता है और परीशा का ऑर्गस्म हो जाता है. ब्ल्यू फिल्म बीएफ बीएफबस स्पीड से दौड़ रही थी और हम धीरे धीरे उसी स्पीड का फाइदा उठा के एक दूसरे के अरमान पूरे कर रहे थे.

मेरा 2017 में वह आखरी साल था … तो मैंने सोचा कि इस साल थोड़ी मस्ती मजा करते हैं, कहीं घूमते फिरते हैं. एक्स एक्स बीएफ सेक्सी भोजपुरीआह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह … की आवाजें दोनों के ही मुंह से निकलने लगीं.

मेरा यह पहला चुम्बन था और वो भी सौरव जैसे हैंडसम लड़के के होंठों द्वारा.हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली: मैंने मोबाइल की लाइट जलाई, तो देखा उनके गोरे-गोरे गालों पे आंसू मोतियों के जैसे चमक रहे थे.

उन्होंने नीचे तो स्विम सूट पहना था पर सोसाइटी की वजह से ऊपर काफ्तान जैसी कोई ड्रेस पहनी थी.अम्मी ने देखा और बोला- क्या हुआ परवेज जी?अंकल बोले- फातिमा जी, मैं इतने दिनों से आपसे बात कर रहा हूँ, मुझे आपके साथ बहुत अच्छा लगता है.

मराठी बीएफ सेक्स पिक्चर - हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली

उसके बाद मैं भाभी के चूचों को दबाते हुए नीचे की तरफ उनकी नाभि की तरफ बढ़ा.मैंने लंड का सुपारा उसकी चूत की फांकों में घिसा और उसके दोनों दूध को पकड़ कर लंड उसकी चूत में रगड़ने लगा था.

चाची ने मेरा लंड अंडरवियर के ऊपर से ही हाथ में पकड़ लिया और बोलने लगीं- ये क्या है … मेरा बेटा इतना बड़ा और जवान पट्ठा हो गया है. हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली ऐसा कहते कहते उन्होंने एक शॉट लगाया और अपना सुपारा मेरी मां की टाइट चूत में डाल दिया.

उसके बालों को हटा कर उसकी पीठ पर अपने गर्म होंठ रख कर उसको चूमा और फिर से उसको सीधी करते हुए उसकी ब्रा को उसके कंधों से निकाल कर अलग कर दिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली?

पूरा लंड पेलने के बाद अंकल ने अम्मी की चूची मुँह में दबाई और लंड के धक्के लगाना शुरू कर दिए. लेकिन चाची ने ये सब नजरअंदाज करते हुए मुझसे ठीक से बात की … तो मेरी टेंशन थोड़ी कम हुई. वसुंधरा के जिस्म से उठती हुई नशीली गंध मेरे होश उड़ाये दिए जा रही थी.

मुझे लग रहा था कि वो मेरे धक्के के साथ ही चूत की दीवारों को संकुचित कर लेती थी जिससे लंड बार-बार उसकी चूत पर रगड़ खा रहा था. मैंने कहा- ये क्या कर रहे हैं अंकल?कुछ नहीं, साइज चेक करने के लिए ऑर्डिनरी क्वालिटी लाया था, अब इसी साइज में अच्छी क्वालिटी ला दूंगा. एक दिन मैंने उसको इशारा किया कि रात को बारह बजे अपने घर के पीछे आना, तो उसने मना कर दिया.

मैंने एक जोरदार शॉट मारा और पूरा लंड उसकी अनचुदी चूत में भीतर तक समा गया था. जब आगे जाती तो आधे से ज्यादा लण्ड बाहर निकल आता लेकिन पीछे की और धक्का मारती तो लण्ड का सुपारा उसकी नाभि से टकराता. मेरी चूत में जो आग लगी हुई थी उसको भोला का लंड अच्छी तरह बुझा सकने वाला दिख रहा था.

मैंने थोड़ी हिम्मत करके दीदी के कंधे पर से दूसरी तरफ के स्तन को स्पर्श किया. मैंने अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली और कुछ दिन बैंक में ही काम में बिजी हो गया.

भले ही उन्होंने मेरी चूत को प्यासी छोड़ कर अपने लंड का पानी निकाल दिया था लेकिन मेरी चूत पर भोला से पहला हक तो मेरे जीजा का ही बनता था.

मैं उनके पास जा बैठा और मैंने उनसे पूछा- क्या हुआ भाभी आप रो क्यों रही हैं?भाभी कुछ नहीं बोलीं.

हालांकि इससे पहले मैंने उसे कई बार अपनी बाईक पे बिठाया था, लेकिन आज सब अलग सा था. राहुल ने पूछा- घर पर कोई नहीं है क्या?सीमा बोली कि उसके पति कॉल सेंटर में सीनियर एग्जीक्यूटिव हैं. उसने झटके से पैंटी को अपने मुँह से निकाल कर मेरा लौड़ा मुँह में ले लिया और पूरे जोश में चूसने लगी.

मैं काफी सोच में पड़ गया, लेकिन जब वह आई … तो उसने बताया कि उसने मूवी की टिकट ऑलरेडी बुक कर दी थी. मैंने चाय का खाली कप किचन में जाकर रख दिया और वापस आने लगा तो सुमिना ने कहा- भाई, एक बार जाकर कपड़े दे आ, नहीं तो वो शॉप बंद करके चला जायेगा. उस दिन हीना ने साहिल को पहली बार देखा था मगर फोन पर होने वाली चैट पर वो एक-दूसरे को पहले से ही जानते थे.

बहुत भीड़ होने के कारण धक्के से अमित मेरे ऊपर आया और उसका पूरी बॉडी मेरी पूरी पीठ से रगड़ खा गयी.

थोड़ा नीचे होकर मैं उसकी नाभि पर किस करने लगा और जीभ नाभि में डाल दी. उस दिन चुदाई के दौरान मैंने सोना से कहा कि मुझे सोनम को चोदना है, तो वो बोली कि सोनम इसके लिए कभी हाँ नहीं बोलेगी. ”फिर तो एक ही चारा बचा है और मुझे पता नहीं कि यह आप को पसंद आएगा या नहीं.

ऐसे तो शादी के फ़ंक्शन में वसुंधरा का जलूस निकल जाता जो मुझे मंज़ूर नहीं था. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम विन चौधरी है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मैंने इसकी सारी कहानियाँ पढ़ी हैं, तथा आज पहली बार अपनी कहानी लिख रहा हूं.

मैं वहीं पर खड़ी होकर अपने कपड़े बदलने लगी, सबसे पहले साड़ी उतारी फिर अपने शरीर को पौंछने लगी.

श्वेता मैडम मेरे सर पे से हाथ घुमाते हुए प्यार से मुझे रसपान करते हुए निहार रही थीं. सुचिता ने अपनी स्कूटी निकाली और हम दोनों से बोली- बाई … एन्जॉय योर हनीमून …वो आंख मारते हुए निकल गई.

हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली फिर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखे और उसकी चूत में एक धक्का दे दिया. चाची- क्या मस्त बॉडी बना ली है जीशान … जिम जाता है क्या?मैं- हां चाची!चाची अब मुझे अपने नीचे करके चूमने लगीं.

हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली अब ऊपर के ऑफिस में सिर्फ हम दोनों ही थे ज्योति टीचर और मैं … उस दिन उन्होंने पिंक साड़ी और ब्लैक ब्लाउज साथ में शायद ब्लैक ही ब्रा पहनी थी. थोड़ी सी सैट की हुई दाड़ी, कान में बाली, चौड़ा सीना, मोटे मोटे मसल्स वाले हाथ … मैं तो उसे देख कर एकदम मदहोश होने लगा.

मुझे अपनी बीवी की गांड चुदते हुए देखने में पहली बार बहुत मजा आ रहा था.

सेक्सी ब्लू फिल्म दीजिए

मैं अक्सर डिक्शनरी में योनि, लिंग, सम्भोग, स्तन, शब्दों के पर्यायवाची खोजती जिनसे मुझे एक सुखद अनुभूति मिलती. सीमा- रॉबी, आज जितना मज़ा तुमने दिया, उतना कभी नहीं आया … थैंक्स रॉबी. वसुन्धरा ने अपनी बायीं टांग मोड़ कर मुझे अपनी योनि छूने से रोकने की कोशिश की तो सही लेकिन चूँकि मेरी बायीं टांग, वसुन्धरा की बायीं टांग के ऊपर थी इसलिए इस बार वसुन्धरा अपनी कोशिश में कामयाब नहीं हो पायी और ऐन नाभि के नीचे पहुँचते ही अपना हाथ पैंटी के इलास्टिक के अंदर से नीचे की ओर बढ़ा दिया.

दरवाजा बंद करते हुए मुझे पीछे से पकड़ा, अंकल मेरी गर्दन पर पीछे से किस करने लगे और अपना लंड मेरे कूल्हों पर घिसने लगे. बस कुछ ही देर बाद मुझे फोन आया, तब पहली बार मैंने उनकी आवाज सुनी थी. मेरा वैवाहिक जीवन कैसे सुखी बना, ये फिर कभी बताऊंगा … पर ये बताना जरूरी है कि इसमें भाभी की भूमिका अहम थी.

ब्लैक कलर की जालीदार नाईटी में वो किसी नामर्द का भी लण्ड खड़ा करवा दे.

वसुन्धरा जी! मैं आप से कुछ कहना चाहता हूँ और उम्मीद करता हूँ कि आप मेरी बात पर गौर जरूर करेंगी. मैंने कहां- हां बेच ही दिया, कुछ जरूरत पूरी करनी थी … तो देखो शायद पूरी हो जाए. सुबह 10 बजे रश्मि ने दरवाजा खोला, तो मेरी बांहों में मेरी प्यारी नई बीवी मधु एकदम नंगी सो रही थी.

एक ठाकुर की चुदाई का ऐसा मजा दूंगा तुझे कि तू अपनी सारी चुदास भूल जायेगी मेरी रंडी. फिर मैं दीदी के पज़ामे के नाड़े को खोल ही रहा था कि दीदी ने मना कर दिया. दोस्तो, कैसी थी मेरी नैना भाभी की चुदाई कहानी, अपनी प्रतिक्रिया जरूर बताना.

मैं बोला- अरे यार इतनी शर्मा क्यों रही हो … तुम्हें चोदने के लिए उतारा है. मैं 28 वर्ष का 5 फुट 6 इंच का सामान्य कद काठी का दिल्ली का रहने वाला आदमी हूँ.

अंकल थोड़ी देर रुके और फिर उन्होंने पूरे जोर से एक और शॉट लगाया जिस वजह से उनका मोटा और लंबा लंड मेरी मां की चूत में पूरा उतर गया. मैंने रश्मि को 69 में ले लिया और उसकी पेंटी को एक बाजू करके चुत को चाटने लगा. वो पीछे हटी, मैंने हाथ पीछे ले जाके उसके चूतड़ों को पकड़ के खींचा और जीभ से चाटने लगा.

उस आनंद के लिए आप तैयार रहें जो आपको याराना के अगले भाग में आने वाला है.

मैं चूस-चूस कर उनके लंड को खड़ा करती हूं तब जाकर हमारे बीच में सेक्स होता है. दोपहर का कुछ 2:00 बजे थे, गर्मी बहुत थी, उस वक्त आने जाने वाले लोग भी बहुत कम होते हैं. जब मैं उसकी गांड की चुदाई करने लगता था, तो वो अपनी पुत्तियों को मसलने लगती, या फिर उंगली चूत के अन्दर डालने लगती.

लेकिन मैंने कभी उसको इसके बारे में कुछ रोका-टोका नहीं क्योंकि मैं जानती थी कि जवानी में अक्सर ही लड़के अपने लंड की प्यास के चलते एक चूत की खुशबू की तरफ ऐसे आकर्षित होने लगते हैं जैसे एक भंवरा फूल की तरफ आकर्षित होता है. वह बीच बीच में चूत को चाटते हुए रुकता, मेरी चिकनी गुलाबी चूत को प्यार से देखता और फ़िर जीभ से चाटते हुए मुझे मज़े के सागर में डुबोने लगता.

उस दिन मैंने उनसे वादा किया कि वो अपना दोस्त समझ कर कभी भी मुझसे फोन पर बात कर सकती हैं. वहां भावना भाभी अपने पति अशोक और दो साल के बेटा लालू के साथ रहने लगी थी. थोड़ी देर बाद मेरे कान के पास आकर बोली- भाई मेरा भी मन करता है लेकिन किसी को पता न चल जाये इसलिए ख़ानदान की इज्जत की वजह से मैं हमेशा अपने ऊपर कंट्रोल कर लेती हूं। आप मेरे भाई हो इसलिए मैंने आपको ये सब बात बता दी। लेकिन हमारे बीच में ऐसा कुछ नहीं हो सकता.

દેશી ભાભી ચૂદાઈ

मेरी इस रंगीन चूत चुदाई की कहानी पर आपके मेल का मुझे इन्तजार रहेगा.

पर पता नहीं मुझे क्या हुआ … उससे बात करते करते मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया. करीब 20 मिनट तक हम लोग किस करते रहे और साथ साथ मैं उसकी दोनों चुचियों को भी दबा रहा था. फ्रेंड्स … मेरा नाम दीपक कुमार है, मैं 26 साल का हूँ, मैं जोधपुर सिटी में रहता हूँ और अभी कॉम्पटीशन के एग्जाम्स की तैयारी कर रहा हूँ.

मेरी चूत को चाटने से जो मजा मुझे आ रहा था उसके कारण मुझे गांड का दर्द महसूस नहीं हो रहा था. उसका लंड मुंह में लेकर मैं अपनी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं कर रहा था. सेक्सी बीएफ हिंदी फिल्म बीएफलेकिन उससे पहले उन्होंने अपने पेटीकोट को अपनी चूचियों पर ले जाकर बांध लिया। ये सब करते समय उनकी पीठ मेरी तरफ थी.

मेरी गांड पर ज़ोर से चांटे जड़ दिए और पीछे से मेरी चुत में लंड डाल दिया. भोला ने जीजा की तरफ देखा और बोले- देख, ये तेरी बेटी कितनी अच्छी है.

इन्होंने अपना लण्ड मेरी टांगों के बीच डाल दिया और धक्के मारने लगे, तुरन्त ही डिस्चार्ज कर दिया, अपने कपड़े पहने और सो गये. जब भी मेरा उसकी ससुराल जाना होता, तो मेरी साली मुझे किसी न किसी बहाने से छेड़ ही देती थी. वहाँ जो बड़ा सा बाथ टब था, उसमें मुझे डाल दिया और उसमें खूब सारा शेम्पू डाल के खुद भी अंदर आ गए और मुझे अपने ऊपर लेटा लिया.

चुदाई की कहानी का अगला भाग:मौसी की लड़की को पटा के चोदा-2लेखक के आग्रह पर इमेल आईडी नहीं दी जा रही है. मैंने उनके होंठों को अपने होंठों से दबाते हुए ज़ोर से काट लिया … वो चिल्लाने लगीं. जैसे जैसे बटन खुल रहे थे, वैसे वैसे मेरी किस्मत के ताले खुल रहे थे.

वो बोली- क्या हुआ … रुक क्यों गए?मैंने ना में सिर हिलाया और अपनी तरफ खींच के उससे फिर से प्यार से किस करने लगा.

देखने के बाद मुझे लगा कि ये मुझसे नहीं पटेगी लेकिन फिर भी मैंने हिम्मत करके बात करने की कोशिश की. उसकी गोरी जांघों से जब उसकी पैंटी निकली तो उसकी हल्के बालों वाली चूत देख कर मैं धन्य हो गया.

मैंने कहा- फोटोज नहीं चाहिए?वो मुस्कुरा कर बोली कि आई लव यू … मुझे अब उन फ़ोटोज का कोई डर नहीं है. मैंने अपनी बहन को नीचे लिटा कर उसकी टांगें अपने कंधे पर रखीं और उसकी चूत पर अपना लंड सैट करके जोर से लंड पेलने की कोशिश करने लगा. फिर जब सब हो गया, तो उन्होंने मेरी छाती पे किस की और नीचे को किस करती हुई फिर से लंड तक पहुँच गईं.

मैं यहां-वहां कुछ खाने की सामाग्री जैसे बिस्किट या स्नैक्स वगैरह टटोलने लगा. मैंने उसकी टांगों को थोड़ी फैलाया और उसकी चूत पर अपने होंठ रख दिये. उसके कहे अनुसार ही काम हुआ, हम दोनों ने एक-दूसरे को नहाते हुए देखा.

हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली आंटी भी शायद चुदने को तरसती थी।ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि इतने दिनों के बाद जब पति घर आये तो वह भला कैसे अपनी चूत को लंड के बिना शांत रखती होगी. फिर एक लड़की से मेरी शादी हो गयी … नाम अंशु। सुहागरात भी हुई और मैंने उसे चोदा भी पर मज़ा नहीं आया। वो उपिंदर के साथ चिपक के उससे दबवाने का, उसका चूसने का, उससे मरवाने का मज़ा कुछ और ही था।पर शादीशुदा ज़िन्दगी चलने लगी, हम दोनों सेक्स के मामले में खुल गए।शादी के 8- 10 दिन बाद अंशु बोली- तुम्हारी चुचियाँ बड़ी प्यारी हैं, मेरा मसलने का, चूसने का मन करता है.

एक्सएक्सएक्स हॉट

तेरे मौसा की बेरूखी के कारण मैं तो मर्दों के लंड का स्वाद लेना भूल ही चुकी थी. मैंने छुप कर देखा तो भाभी ने एक काले रंग की ब्रा और कच्छी पहनी हुई थी. फिर अजय ने उसकी पैंट को निकाल दिया और अब मेरी बीवी मेरे बिजनेस पार्टनर के सामने नीचे से नंगी होकर केवल पैंटी में थी.

कंडक्टर आवाज देते हुए कहा कि जिसको बाथरूम जाना है या नाश्ता करना है, कर लो … फिर बस नॉन स्टॉप जाएगी. हल्का फुल्का तैयार होकर मोहल्ले की नजर से बचते हुए हम दोनों एक रेस्टोरेन्ट पहुंचे, जहां पर खाना खाया गया और फिर पैदल ही पास की मार्केट में टहलने लगे. हिंदी बीएफ गांड मारने वालीसर से पांव तक भीगा हुआ मैं, कार चला कर वसुन्धरा को साथ लिए भरी बरसात में साढ़े सात बजे के लगभग धर्मपुर पहुंचा तो ऐसा लग रहा था कि जैसे हम किसी भूतिया नगर में पहुंच गए हों.

मुझे लगा शायद आज कुछ बन जाये! लड़कों का दिमाग हमेशा वहीं लगा रहता है.

उससे कभी ज्यादा बात नहीं हुई थी, पर 2013 में वो अब हमारे मकान में ही रहने लगी थी. जिस टाइम में उस टेम्पो में चढ़ा, उस समय उस टेंपो में तीन लोग और बैठे थे.

मैं बोली- हां आज ही शेव की है … तुम पैंटी भी जल्दी से खोल दो, वरना वो गीली हो जाएगी. मैं रोजाना रात को बाहर घूमता और सुमन भी अपनी बहनों के साथ घर के बाहर बैठ जाती थी. मेरी भी छुट्टियां चल रही थीं, तो मैं भी तैयार हो कर उनके साथ लखनऊ चल दिया.

मैं कुछ असहज तो हुई क्योंकि मेरी बहन को चोद चोद कर इस साले कमीने ने ग्याभन कर दिया था और फिर ऐसे वैसे ही घर में शादी करनी पड़ी थी.

उसके मोटे चूचों को दबाते हुए उन पर अपनी पकड़ तेज करता जा रहा था मैं. उन मम्मियों से और उन लौंडों से मेरी ख़ास इल्तिजा है, जो आपस में सेक्स करते हैं कि मुझे जरूर मेल करें. मैंने पूछा- क्या देख रहे हो?उसने कुछ जवाब नहीं दिया और बस हवस भरी नजरों से मेरी तरफ देखता रहा.

पंजाबी सेक्सी हिंदी बीएफमैं- चाची, आप हो ही इतनी सेक्सी कि आपको देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया. उनकी माताजी ने बात संभालते हुए कहा- बेटा तू आज ही आया है, आज तू भी यहां रुक जा, अपने जीजा से बातें कर ले, सुबह जल्दी निकल जाना.

ব্লু ফিল্ম ভিডিও ব্লু ফিল্ম

फिर भी मैं कभी लेटता, तो कभी उठकर बैठ जाता, तो कभी बारजे में टहलने के लिए चला जाता. कभी मैं धक्के बंद करके सिर्फ उसको किस करता, कभी उसके चुचे को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाता था. मैं तो अपनी तरफ से पूरी कोशिश करता रहता था कि किसी को इस बात की भनक न लगे कि मैं मोबाइल में पॉर्न मूवी देख कर मुट्ठ मारता हूं और नंगी तस्वीरों वाली किताबें अपने पास रखता हूं.

मैंने भी ज्योति को कन्धे से पकड़ा और कहा- आप कहें, तो हमेशा के लिए अपनी बनाकर रख लूं. मैं बोला- चाची आपके चेहरे पर उदासी देख कर मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता. पांच मिनट तक उसके मम्मों को सहलाने के बाद मैंने उसकी पेंटी को निकाल दिया और उसकी चुत के दीदार किये.

बस मन हुआ कि सारी उम्र इन्हें चूसता रहूं।मैंने आगे बढ़ कर उन्हें अपने हाथों में पकड़ा. अपने आपको फिट रखने के लिए मैं रोज अपनी सहेलियों के साथ पार्क में जाकर टहलती हूँ. आह्ह … उसने तीसरे धक्के में पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया.

वो बोली- मैं सुबह तो नहीं आ पाऊंगी क्योंकि कल मुझे किसी काम से कॉलेज में जाना है, हां मैं शाम को चार बजे फ्री हो जाऊंगी. वह दस मिनट तक कच्चे आम सी मेरी चूत को चाटता रहा … और मेरी अमरूद सी चूचियां दबाता रहा.

अगर किचन में जाओ तो साहिल मामा के लिए भी कुछ स्नैक्स वगैरह बना देना.

मैं हल्के हाथों से चूत की मसाज कर ही रहा था जिससे उसे आराम भी मिल रहा था और आनन्द भी. वीडियो बीएफ mp4पुष्पिका- क्या हुआ भाई? कहां ध्यान है आपका? इतनी देर से मुझे ही देखे जा रहे हो. बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो”बेबी बोली- दूसरी बात मैं यह सोचती हूँ कि क्या गिन्नी की किस्मत भी मेरी जैसी है?क्यों? अब गिन्नी को क्या हो गया?”अब पढ़ेंउस बेचारी का हाल भी मेरे जैसा ही दिखता है. जब मैंने उसकी जांघों पर अपने कोमल हाथ फिराये तो मेरे अंदर एक चुदास सी जग गई.

अब तो कंट्रोल करना हम दोनों के ही बस में नहीं था, मैंने उसे अपने से अलग किया और एक ही झटके में उसका गाउन नोच फेंका.

उसके होंठ लगते ही मेरे मुंह से सिसकारी निकालते हुए मैंने आह्ह … की आवाज की. मुझे अच्छे से याद है कि वो इतवार का दिन था जब सुबह सुबह मेरे साले का फोन आया- सीमा (साले की पत्नी) को नर्सिंग होम छोड़ दिया है, दीदी (मेरी पत्नी कामिनी) को लेने आ रहा हूँ. शिशिर मेरी चूत में कभी अपना पूरा लंड डाल कर मेरी चूत को चोद रहे थे, तो कभी वो अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाल कर मेरी चूत में उंगली कर रहे थे.

ईमेल करते समय अपना शहर का नाम जरूर लिखें, अगर कोई हैंडसम लड़का, जो मुझे पसंद आए, मेरे मायके के आस पास का रहा, तो हो सकता है कि दोस्ती करके मुलाक़ात कर लूँ. उसके बाद वो मेरे कुछ कहे बिना ही पेट के बल लेट गई और बोली- प्लीज़ धीरे धीरे घुसाना. काश नम्रता का परिवार भी एक दिन बाद आता, तो आज रात भी मेरे लंड को नम्रता की चूत चोदने का मजा मिल जाता.

मराठी नंगी फोटो

दो पल रुकने के बाद सोनम खुलते हुए बोली- जीजू, आप भी ना!मैं- अब बोलो, क्या तुम कुछ सीखना चाहती हो?वो नजरों में वासना भरते हुए बोली- जी हाँ … पर मैं किसी तरह की बदनामी नहीं चाहती हूँ, कोई प्राब्लम नहीं चाहती, बस इसी कारण मैंने आज तक किसी से सेक्स नहीं किया है. इधर मेरे लंड के अंदर वीर्य को रोके हुए बुरा हाल हो चुका था और वो किसी भी पल बाहर आकर भाभी की चूत में भरने के अंदर ही अंदर लहर बनकर उछल रहा था. मेरा मन करता है उसकी मखमली सॉफ्ट पीठ को खूब चूमूं, चाटूं, काटूं, खाऊं.

इसलिए मैंने अपने हाथों से ही उसकी ब्रा को हटाया और उसके चूचों को नंगे कर दिया.

मैंने ध्यान से देखा कि उसने अन्दर ब्रा भी नहीं पहनी थी जिससे मुझे उसके कड़क निप्पल की नोकें ऊपर से ही साफ़ दिख रही थीं.

फिर उन्होंने अपने लंड को कोमल की गांड पर सटा कर एक जोर के झटका मारा और कोमल के मुख से एक जोर की आवाज निकली ‘आआह्हह … माँआआ …’अब ताऊ जी अपनी कमर को धीरे धीरे हिलाने लगे. अक्षिता भी जोर-जोर से धक्के मार कर बोल रही थी- जोर से चोदो जान … मैं झड़ने वाली हूं. जंगल वाली सेक्सी बीएफकई फिल्मों में तो एक लड़की को दूसरी की पोट्टी खाते हुए भी देखा था लेकिन इस तरह से अपनी आंखों के सामने मैंने चूत से निकलने वाला पीरियड का ब्लड नहीं देखा था.

जो बात मैं आपको आज बताने जा रही हूं वह घटना आज से चार साल पहले की है. वो उसके नंगे चित्रों को देख कर जोर-जोर अपने लंड की मुट्ठ मार रहा था. उसके बाद हम कई बार मिले, सेक्स छोड़ कर सब कुछ किया … घंटों तक एक साथ नंगे साथ लेटे रहे, एक दूसरे के साथ 69 का पोज बनाते, एक दूसरे का पानी निकाल देते थे.

उसने घुटनों के बल बैठ कर तुरन्त ही मेरे लम्बे लंड को मुँह में भर लिया. मैंने लंड सैट होते ही एक जोर से धक्का दे दिया, तो मेरा आधा लंड भाभी के अन्दर घुस गया.

पहले मैंने थोड़ा आराम से सहलाया फिर उसकी चुचियों के बीच की घाटी में उंगली डाल दी.

एक दिन उसने मुझसे पूछा- सुना है फर्स्ट टाइम बहुत दर्द होता है?मैं- पता नहीं, मैंने कभी महसूस नहीं किया!सुन कर तेज़ी से हंस पड़ी. मुझे देख कर लगा कि भाभी शायद मुझे दिखाने के लिए जानबूझ कर पहन के आई थी. वो दर्द से तड़पने लगी थी, पर मैं ठहरा मेडिकल स्टूडेंट, मुझे सब पता था कि पांच मिनट में यही लौंडिया गांड उठाकर चुदने लगेगी.

बुढ़िया की बीएफ वीडियो सुषमा बोली- मैं अभी चाय बना के लाती हूँ, फिर हम दोनों बातें करेंगी. मैंने उसके होंठों पर मेरे होंठ रख दिए और एक हाथ से उसके बोबे दबाने लगा.

यह बात जानकार सोनम के मुँह में भी पानी आ गया कि बिना मेहनत किए और बिना बदनाम हुए चुदने को लंड मिल जाएगा. क्या मस्त मजा था, क्या आनन्द था, जो बस महसूस किया जा सकता था … बताया नहीं जा सकता था. लेकिन यहां तो मैं अपनेआप को वसुंधरा का चाहने वाला भी तस्लीम नहीं कर सकता था.

नेपाली सेक्स नेपाली सेक्सी

मैं बेड पर बैठा हुआ था, उसे अपने पास बुलाया तो मेरे सामने आकर खड़ी हो गई. खाना खाने के बाद कोमल एक लोटे में पानी लेकर और डिब्बे में तेल लेकर जैसे ही ताऊ जी के पास जाने लगी. बीच रात को मेरी आंख खुली तो ट्रेन की नाइट लाइट की हल्की-हल्की रोशनी में देखा कि भाभी गहरी नींद में सो रही थी। भाभी की साड़ी उनकी जांघों तक सरक गयी थी। भाभी की गोरी-गोरी नंगी टांगें और मोटी मांसल जांघें देख कर मैं अपना कंट्रोल खोने लगा।उनकी साड़ी का पल्लू भी एक तरफ गिरा हुआ था और बड़ी-बड़ी चूचियां ब्लाउज में से बाहर गिरने को हो रही थीं.

राहुल ने मुस्कुराते हुए अबकी बार एक हाथ उसकी चूत के ऊपर रख दिया तो हँसते हुए सीमा खड़ी हो गयी. मगर मैं ज्यादा आगे नहीं बढ़ना चाहती थी क्योंकि हिरेन के नींद से जाग जाने का डर था.

फांकों को भींचते हुए उसने अब अपनी उंगली चूत के अन्दर डालती, फिर वही उंगली मुँह में लेकर चूसती और फिर चूत के अन्दर पेल देती.

जल्दी से तैयार होकर उसके घर पहुंच गया लेकिन घर जाकर देखा तो पता चला उसके घर पर बाहर तो ताला लगा हुआ था. बात उन दिनों की है, जब मैं पंजाब से अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था. मेरा बेटा बस ‘आअह्ह आह्ह वेरी गुड मम्मी आह्ह्ह आअहह …’ कर रहा था और मैं उसका लंड गपागप चूस रही थी.

अपने कपड़े खरीदते समय वो मुझसे बार बार पूछ रही थी कि कैसी है?मेरा हर बार एक ही जवाब होता था. मैंने भाभी से देर न करते हुए कहा- दसो जी कदो ऑना और केमे आना? (बताओ कब आना है और कैसे आना है?)मैं मन ही मन बहुत खुश था कि कब भाभी से मिलूं और कब उसके साथ जोर जोर से सेक्स करूं. वो मेरे बहुत करीब बैठी थी, उसके शरीर की खुशबू मेरे तन बदन में आग सी लगा रही थी.

मानसी ने कहा- दीदी मैं हिरेन का लंड तो ले चुकी हूं लेकिन जब से मुझे राज के बारे में पता चला है मुझे उसके लंड के बारे में सोच कर ही चुदास सी जगने लगी है.

हिंदी सेक्सी बीएफ आवाज वाली: वो पीछे हटी, मैंने हाथ पीछे ले जाके उसके चूतड़ों को पकड़ के खींचा और जीभ से चाटने लगा. वो बोली- अरे आप यहां कैसे?मैंने उसे बताया- मैं यहीं जिम में आता हूँ और थोड़ी दूर पे सोसाइटी में किराये पे फ्लैट ले लिया है.

फिर मैंने कहा- गुड मोर्निंग … चाय बना लाऊं?अंशु बोली- नहीं कामिनी, आज चाय का मूड नहीं है। रात को तो हमारी शादी होगी और तेरी मम्मी भी होगी तो हम सोच रहे हैं सुबह तेरा प्रोग्राम कर दें। तो शराब ले आ और कुछ खाने को भी!ठीक है. उसने अपने लंड को मेरे होंठों पर रगड़ दिया और फिर अपने लंड के टोपे को मेरे मुंह में दे दिया. दोस्तो, मेरा नाम रोमेश है, मैं छत्तीसगढ़ के बैलाडिला का रहने वाला हूँ.

मेरी गाडी स्पीड में ही रोड से नीचे उतर कर झाड़ियों में घुस गयी और पीछे का टायर एक गड्ढे में फंस गया और गाड़ी बंद हो गयी।मैंने मन ही मन ऊपरवाले को कोसा कि कैसे सुनसान रोड पर गाडी ख़राब करवा दी.

उसका बोलना ही था कि मेरे एक हाथ की दो उंगलियां धीरे-धीरे उसकी जांघों पर चलने लगी. कोई गर्लफ्रेंड नहीं मिली बैंगलोर में?मैं- गर्लफ्रेंड की अपनी जगह … चाची की जगह कोई नहीं ले सकता. मैं भगवान से दुआ करता हूं कि हर जन्म में बाबा जैसा ही एक मेरा दोस्त जरूर हो, जो मेरी हर जरूरत को समझे और मेरी जरूरत को पूरा करने के लिए वह अपनी दोस्ती पूरे मन से निभाए.