इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,తమిళం సెక్స్ వీడియో తమిళం సెక్స్ వీడియో

तस्वीर का शीर्षक ,

डीपी रखने के लिए फोटो: इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो, एक दिन की बात है कि उस लड़की को गर्मी की वजह से सर में दर्द शुरु हो गया.

हिंदी में सेक्सी फिल्म फिल्म

मैं उसकी चूत में लंड डाल ही रहा था कि वो जाग गई और फिर मुझसे नाराज हो गई. जानवर के सेक्सी जानवर के सेक्सीचूसते-चूसते दीदी की ब्रा भीग गई तो दीदी बोली- मेरी ब्रा को क्यों खराब कर रहा है?मैंने दीदी की ब्रा को खोल दिया और चूचों को आजाद कर दिया। अब मैं बूब्स के निप्पल को चूसने लगा जैसे कोई बच्चा दूध पीता है।दीदी कहने लगी- भाई, इतनी ट्रेनिंग कहां से ले रखी है?मैं बोला- दीदी, मैं इस दिन का कब से इंतजार कर रहा था। आज जब आपके चूचे चूसने के लिए मिले हैं तो मैं कोई कमी नहीं छोडूंगा इनका दूध पीने में.

यह जानकर‌ जिससे मुझे अब कुछ राहत मिल गयी।पेशाब करने के बाद मोनी ने वापस बिस्तर के पास आकर अब एक बार तो मेरी तरफ देखा फिर चुपचाप वो बिस्तर के दूसरी तरफ सो गयी। पहले मोनी अन्दर दीवार की तरफ सो रही थी और मैं बाहर किनारे की तरफ. जियो फोन में वॉलपेपर कैसे डाउनलोड करेंउसने हाय बोला, मैंने उसकी हाय का जबाव दिया और बस हम दोनों की बातें शुरू हो गईं.

रात के 1:30 बजे मैंने बुआ को आवाज दी और हिलाया, लेकिन वो सोती रहीं.इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो: अब तो हम दोनों आस-पड़ोस के लड़कों के बारे में भी बातें करने लगी थीं.

उसने दरवाजा खोला तो मेरी नजर सीधी उसके चूचों की दरार पर जाकर ही अटक गई.रूम में जाते ही मैं सोचने लगा की मॉम को चोदना ठीक होगा या नहीं? सोचते-सोचते मेरे दिमाग ने यही सुझाव दिया कि माँ एक औरत है और मैं एक मर्द हूँ.

सेक्सी पिचार - इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो

बस फिर क्या था, मेरे हाथों ने उसके चुचे को दबा लिए और कस-कस कर मसलने लगे.मुझे दरवाजे पर तुम्हारी आवाजें सुनाई दे गई थीं लेकिन मैंने मानसी की चुदाई के रंग में भंग डालने की कोशिश नहीं की.

जब मामी का ध्यान बंटा, तब मैंने जोर का झटका दिया, जिससे मामी की चीख निकल गई- आहहहह आहहह … मर गई …मेरा आधा लंड मामी की चुत में चला गया. इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो मैंने पूछा- कैसा लगा तुझको?उसने कहा- इतनी जल्दी हटा लिया, पता ही नहीं चला.

तब मुझे लगा कि मुझे भी अपनी सच्ची चुदाई की कहानी आप सबको बतानी चाहिए.

इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो?

उसके बाद मैंने थोड़ा सा जोर लगाया, तो इस बार वो ज्यादा जोर से नहीं चीखी. तभी कानों में मैडम की सुरीली आवाज़ आयी- ओह हो … तो आँखें हरी की जा रही हैं … तुम्हारी फेवरिट है क्या वो?मैं हड़बड़ा के उठा, मैगज़ीन भी नीचे गिर गई. तभी भाभी ने रोक कर मुझे एक किस किया और बोली- कैसी लगी नयी गर्लफ्रेंड?मैं बस मुस्करा दिया.

जीजा ने मुझे मजा तो दे दिया था इसलिए अब अगली बार का इंतजार करना मुश्किल हो रहा था. पूजा फिर मेरी तरफ मुड़ी और अपनी कमर पर हाथ रख कर पूछने लगी कि क्या किया तुमने, जो ये इतने जोर से चीखी?मैंने बताया कि मुझे लगा कि तुम बैठी हो और मैंने इसके गाल को जोर से नोंच लिया, इसलिए ये चीखी. पति- सॉरी यार, अगर मुठ नहीं मारता, तो मैं शांत नहीं हो सकता और वादा करता हूं कि घर आने पर तुमको बहुत खुश कर दूंगा.

उधर मैं फोन पर आशीष को भी इसी तरह से कामुक सिसकारियां लेते हुए उत्तेजित रखने की कोशिश कर रही थी लेकिन असली मजा तो मुझे यहां जीजा के साथ आ रहा था. फिर फिल्म में एक सीन आया जिसमें हीरो और हिरोइन के बीच में रोमांस चल रहा था. सामने अंकल ब्लैक पैंट और ब्लू शर्ट में खड़े थे, बहुत हैंडसम लग रहे थे.

यह मेरी कुंवारी चूत की पहली चुदाई थी इसलिए उसका लंड मेरी चूत में नहीं जा रहा था. लड़का फौज में मेजर है, बहुत ही शरीफ लोग हैं और ऊपर से अपनी ही जाति के हैं.

चलो कोई बात नहीं गुड़िया रानी, जैसी तुम्हारी मर्जी!” अंकल जी बोले और मुझे बेड पर लिटा कर मुझसे लिपट गए.

मैं उसे किस कर रहा था … और ऐसे कर रहा था जैसे मुझे कभी लड़की मिली ही ना हो.

ज़ाहिर सी बात थी कि काजल के बाद सुमिना घुसने वाली थी और सबसे आखिर में मैं. मैं राधिका के पास जाकर बैठ गया और सोनल तरफ देखकर हल्की स्माइल दे दी. मतलब अब वो तो मेरी बुर तो चाट ही रहे थे, साथ ही उनका लंड मेरे मुँह के आस पास था.

थोड़ी देर बाद मौसी खुद थक कर या जल्दी करने के लिए बोली- हुआ नहीं तेरा अभी तक?मैं- नहीं, अभी नहीं. सुमेर का लण्ड खड़ा हो गया तो सुमेर बोला- आमिर ध्यान से देख ले कि कैसे चुदाई करते हैं. मौसी अपने कपड़े ठीक करने के बाद बोलीं- सोनू, मैं जा रही हूं, तुम 10-15 मिनट बाद आना और कोई पूछे कि कहां गया था, तो बोल देना कि ऐसे ही बाहर गया था.

मैंने उनकी गांड के नीचे तकिया रखा और अपना लंड उनकी चुत पर रगड़ने लगा.

मैं भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का रहने वाला हूं। मेरी हाइट करीब 5. मेरा बड़ा लंड भी खड़ा हो गया, मैंने जल्दी से हाथ से उसको अडजस्ट किया. फिर ऊपर छत पे 2 रूम हैं, जो पहले किराये पे दिये थे, पर अभी खाली हैं.

फिर हम दोनों बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गए और फिर से एक एक पैग लेकर बिस्तर पर लेट गए. मैं अपने नंगे बदन को चादर से ढकने की कोशिश कर रही थी लेकिन चादर नीचे दबी हुई थी. मेरा लंड उसके हलक तक गया ही था कि कुछ ही सेकेंड बाद वो मुझसे अलग होकर खांसते हुए बोली- क्या जान से मारना है मुझे? तुम्हारा लंड बहुत मोटा है … मैं धीरे धीरे ही ले पाऊंगी.

या तो मैं तुम्हारे गांव ही आ जाऊंगा वरना तुमको फिर सतना ही बुला लूंगा.

मेरा बड़ा लंड भी खड़ा हो गया, मैंने जल्दी से हाथ से उसको अडजस्ट किया. मानसी ने पूछ लिया- लेकिन दीदी तुमने राज के साथ शुरूआत कैसे की, बताओ तो, मैं तो सुनने के लिए बहुत उत्साहित हो रही हूं.

इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो ज्योति आंटी का पति अक्सर टूअर पर जाता रहता था। मैंने बहुत कोशिश की आंटी को पटाने की लेकिन आंटी की लाइन कहीं से भी ओपन नहीं लग रही थी. मैं हौले हौले से उसकी चुत पर हाथ घुमाने लगा और धीरे धीरे करके मैंने अपने पूरे लंड को उसकी चुत में घुसेड़ दिया.

इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो फिर मैं भाई के ऊपर आ गयी और होंठों को बुरी तरह से चूसने लगी और अपने हाथ से उसका लंड हिलाने लगी. लेकिन काम भी जरूरी था, इसलिए हम लोगों ने लाईट की व्यवस्था की और फिर से काम चालू हो गया.

इंस्टालेशन की और मिनिस्ट्री से पेमेंट लेने की सारी सिरदर्दी बड़े मियाँ की थी, मुझे कम्यूटर्स असैम्बल करवा के शिमला, सिर्फ वसुन्धरा के पापा तक पहुंचाने थे और मुझे मेरी सारी पेमेंट वसुन्धरा के पापा से मिलनी थी.

आलिया भट्ट की सेक्सी वीडियो

नम्रता- आह … हां … मेरे राजा चाटो इस छेद को, बहुत मजा आ रहा है … अपनी गांड को चटवाने में … आह-आह ओह-ओह किए जा रही थी. जिन्होंने नहीं देखी, उन्हें मैं बता दूं कि ये एक सॉफ्ट कोर पोर्न मूवी जैसी है. दीपिका! आज तूने खुश कर दिया है मुझे! तू कमाल की है! साली छिनाल! तेरे बाप ने तेरी माँ को बड़े प्यार से चोदा होगा जो तेरी जैसी बिजली पैदा हुई.

इससे उसकी आह निकलने लगी और वो अपने होंठों को अपने दांतों से पकड़ने लगी. भाबी से गले लगते ही मुझे सेक्सी भाबी के बड़े नुकीले चुचे मेरी छाती में लगने लगे. मैडम ने पैरों में किसी मखमली से गहरे नीले कपड़े की स्लिपर पहनी हुई थी.

करीबन पांच मिनट बाद जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ, तब मैंने राधिका को उठाकर बेड पर पटक दिया.

उसके हॉस्टल में मुझे उसने अपने ममेरे भाई के रूप में एंट्री दिलाई थी. अगर मैं अपनी बहन की सहेली की चुदाई के ख्वाब देख सकता हूँ तो फिर कुणाल क्यों नहीं?कुछ देर पहले जिस कुणाल के लिए मेरे मन में इतनी गुस्सा था अब उसी कुणाल के किये में मुझे कोई गलती नज़र नहीं आ रही थी. अन्तर्वासना की सेक्सी कहानियों के सभी पाठक पाठिकाओं, लेखक, लेखिकाओं को देव कुमार का नमस्कार.

उन्हें पता था कि स्कूल से छुट्टी होने के बाद यहाँ से लड़कियों का झुण्ड साइकिल पर निकलेगा और स्पीड ब्रेकर पर उनके मम्में उछलेंगे और वे बेहद बेशर्मी से आँख गड़ा कर हमारी उछलती गेंदें देखेंगे. मैंने जैसे ही आतिशा की ब्रा को खोल कर हटाया, तो वो अपने मम्मों को अपने हाथों से ढकने लगी. कुछ दिन बाद ही भाभी के हज़्बेंड का ट्रांसफर जयपुर हो गया, तो भाभी वहां चली गई.

मैंने बोला- अच्छा जी … सही है और बताइये क्या प्लान है?वो बोली- मेरा कोई प्लान नहीं है, मैं तो फ्री हूँ. फिर मेरे पीछे आकर मेरे कूल्हे को हाथों से दबाते हुए दांत से काटने लगी.

रानी के हाथ न जाने कब मेरे चूतड़ों तक चले गए थे और उन को दबा कर धक्का लगाने में सहायता कर रहे थे. टेबल पर रखे सामान की तरफ इशारा करते हुए मुझे नाश्ता करने के लिए कहा. रानी तब तक बेल्ट खोल चुकी थी और पैंट को ढीला करके ज़िप भी खोल दी थी.

उसको दर्द होने लगता और उसकी आंखों में पानी आ जाता, दर्द से भाभी बोलती- आह धीरे करो मेरे को अन्दर लग रही है … मेरे हज़्बेंड का इतना लम्बा नहीं है … प्लीज़ थोड़ा धीरे करो.

दिन में जब कोई काम होता, तो वो मुझे बार बार छूने की कोशिश करते और एक दूसरे के इर्द गिर्द ही रहते. अंदर आकर मैं भाभी के ऊपर चढ़ गया और उनके चूचों पर अपनी छाती सटा कर उनके होंठों को जोर से चूसने लगा. फिर उसने लड़की, जिसका नाम पारो था, उससे पूछा- पारो क्या तुम मेरे दोस्त आमिर से चुदना चाहती हो?तो मेरी बीवी बनी आपा सारा बोली- तो आमिर … फिर तुमने पारो को चोदा?मैंने कहा- थोड़ा सब्र रखो और पूरी कहानी सुनो!फिर मैंने कहानी आगे बढ़ाते हुए कहा:तो पारो शरमाते हुए बोली- इनका लण्ड तो तगड़ा है चुदाई में बहुत मजा आएगा.

वह छटपटाई उम्म्ह… अहह… हय… याह… लेकिन मेरी पकड़ मज़बूत थी।पूरा मेरा पूरा सात इंच लंबा, ढाई इंच मोटा लंड उनकी चूत में जगह बना चुका था. निहारिका ने कपड़े बदल लिए, अब मैंने अपने कपड़े बदलने थे तो विक्की छत पर जाने लगा, तो मैंने कहा- कल तो मेरे दबा रहे थे, आज इतनी शर्म क्यों महसूस कर रहे हो?इस पर वो थोड़ा मुस्कुरा दिया.

उसका मुँह चोदते चोदते, मैं उसके सूट के ऊपर से उसकी चूचियों को मसलने लगा. जिस चूत को मोटे लंड से आधा आधा घंटा रगड़वाने की आदत हो, उस चूत में उंगली क्या काम करती. भाभी किचन में जाने लगी, तो पीछे से उसकी ठुमकती गांड बहुत सेक्सी लग रही थी.

चूत मारते हुए

फिर रवींद्र और वनिता की चुदाई का प्रोग्राम भी मेरे ही घर होना तय हुआ.

उसके बाद मैंने उनके चूचों को छेड़ते हुए कहा- अगर इन दूधों पर भैया ध्यान नहीं दे रहे तो क्या हुआ, मैं उनका ही भाई तो हूं. फिर वो मेरा लंड मुँह से निकाल कर बोले- देखा मजा आया न, पता चला कैसे चूसते हैं. कुछ कुछ नर्म, कुछ कुछ कठोर … मैंने अपने दोनों हाथों से हल्का सा दबा कर दोनों निप्पलों की सख्ती को जांचा.

’मैं एक झटके में ऊपर गया और उसकी आँखों की पट्टी हटा दी। वो एकदम से चिहुँक गयी. मुझे किस करने के बाद वो फिर से मेरी चूचियों को चूसते हुए पीने लगा और मैं मादक सिसकारियाँ लेने लगी. बाथरूम में नहाती हुई सेक्सीउसके चेहरे पर संतुष्टि साफ-साफ दिखाई दे रही थी। उसने अपनी महकती बांहों का हार मेरे गले में डाल कर मुझे कस कर गले लगा लिया.

देखते ही देखते उसका लंड तन गया और फिर उसने एकदम से अपने लंड को पैंट के बाहर निकाल कर उसकी मुट्ठ मारते हुए हिलाने लगा. मैंने तुरन्त नम्रता को उठाकर उस टेबिल पर इस तरह लेटा दिया कि उसकी कमर टेबिल के बाहर थी और इस तरह से मेरे खड़े होने की सही पोजिशन बन पा रही थी.

प्रिया के पापा के ये फर्स्ट कज़न साहब अपनी पत्नी और बेटी वसुन्धरा समेत प्रिया की शादी से तीन दिन पहले से ही मेरे ही घर में अड्डा जमाये हुए थे. उनको जो भी देखता है, उसके सोये हुए अरमान जाग जाते हैं कि वो मेरी बुआ को चोद कर अपना लंड शांत करवा लें. उस दिन क्लास शुरू होते ही प्रिया मेरे पास आई और उसने अपनी नोटबुक में एक सवाल लिखा हुआ था.

एक तरफ गांड पसीज रही थी तो दूसरी चुड़ैल को देखने का मन भी कर रहा था. मैंने कहा- तेरी चूत का पानी तो निकल गया लेकिन मेरी चूत तो अभी भी वैसी की वैसी गर्म है. आह्ह … जब पूरा लंड चला गया तो बुआ के मुंह से एक आवाज निकली ‘स्सस … आआ …’पूरा लंड चूत में लेकर बुआ ने ताऊ के लंड पर उछलना शुरू कर दिया.

मैंने देखा कि अनुषी का देवर अपने घर के बीच में, जो आंगन है, वहां सोया हुआ है.

उसके ऐसा करने से मेरी तो हालत ख़राब होने लगी, मेरे मुँह से सिसकरी निकलने लगी- आआआ अह्ह्ह् ऊऊऊ उह्ह्ह!और मेरे जिस्म अपने आप हिलौरें मारने लगा. बेडरूम में डबल बेड बिछा हुआ था जिस पर सुन्दर सी बेडशीट बिछी थी साथ में कई सारे तकिये और नैपकिन रखे थे.

अब आगे:दोपहर का खाना खाकर काजल और दोनों माँ बेटी ने बाजार में जाकर शॉपिंग करने का प्लान बनाया. उन्होंने एकदम से मेरे दोनों दूधों को पकड़ कर अपने लंड को चूत में पूरा का पूरा जड़ तक पेल दिया. मैडम के पीछे पीछे मैं ड्राइंग रूम में चला गया और कापियों वाला गट्ठर एक टेबल पर रख दिया.

मेरा मानना है कि हर लड़की, जो जवान हो गई है या हो रही है, वह अपनी बॉडी के बारे में ज्यादा जानने की कोशिश करती होगी. मैंने भाभी की तरफ देखा और एक हल्की सी मुस्कान दी तो भाभी भी नॉर्मल हो गई. ये बात तब की है, जब मैं 21 साल की थी और मैंने बीए सेकंड ईयर में एडमिशन लिया था.

इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो अपनी बीवी बना या कुछ भी बना लेकिन मेरी चूत को चोद कर इसकी आग को बुझा साले हरामी. फिर तेल को उसकी चूचियों पर फैलाया, तो उसकी चूचियों के निप्पल तन गए.

एक्सएक्सकॉम

मेरी इस हरकत पर वह थोड़ी सहम सी गई और उसने मुझे अपने से अलग कर दिया. बेबी गोरखपुर में बीकॉम में पढ़ती है और कॉलेज में एक हफ्ते की छुट्टी के कारण यहां आई है. मैंने बोतल बेबी को पकड़ाई और बाथरूम की तरफ इशारा करते हुए कहा- बाथरूम इधर है.

मैंने तुरंत ही नम्रता से कहा- अब मजा आएगा, तुम्हें मेरा लंड चूसने में और मुझे तुम्हारी चूत चाटने में … आओ 69 वाली पोजिशन में आकर इस गीले लंड और चूत का मजा लें. नम्रता बोली- चलो पहले मूत के आते हैं, या फिर अगर मेरी मूत पीने का मन है तो मैं तुम्हारे मुँह में ही मूत दूँ. സെക്സ് പടംइसी क्रम में मुझे एक पाठिका सोनम सिंह का मेल मिला जिसमें उन्होंने मेरी कहानियों की तारीफ़ के साथ साथ अपने बारे में भी बहुत कुछ बताया.

मुझ पर ही भूत सवार था किसी मिल्ट्री-ऑफिसर को दामाद बनाने का और मेरी इस बेकार की जिद ने सब गुड़-गोबर कर दिया.

कुछ ही देर में काजल ने अपने पैर पटकना चालू कर दिए और वो कामुकता से भरी मादक सिसकारी भी निकाल रही थी. मैं पूरी तरह से संतुष्ट हो गया था उसकी चूत में वीर्य निकालने के बाद.

शादी से एक दिन पहले सभी मेहमान आ गए थे तो रात को सोने का इंतजाम करने लगी. फिर वो बोलीं- अजी आपका तो आज बड़ा फुदक रहा है, लगता है मेरी फ़ुद्दी की आज खैर नहीं. मैंने अपनी उंगली उसकी चूत में डालकर हौले हौले अन्दर बाहर करते हुए कहा- आज की रात सोने के लिए नहीं है.

मेरे इस सवाल का जवाब उसे भी नहीं सूझा। सुमिना तो उसकी सहेली थी ही जिससे वो इन्कार नहीं कर सकती थी.

मैंने उससे खुल के पूछ लिया- तुम अपनी बीवी को यहाँ क्यों नहीं रखते?तो वो बोला- क्या करूँ मेमसाब, आप तो जानती हैं कि यहाँ क्या क्या होता है. फिर दिनेश अलग हो गया और अनिल ने मुझे घोड़ी बनाकर मेरी चूत में लंड एक ही झटके में पेल दिया. फिर भाभी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने बताया कि मेरा ब्रेकअप हो गया है.

देसी चाची की सेक्सी वीडियोअधिकतर तो तारीफ़ भरे थे तो थैंक्यू बोलने के सिवा और कुछ कहने लायक नहीं था. तब उन्होंने मुझसे लिपटते हुए खुलकर बताया- मैं तुमसे चुदना चाहती थी.

नंगी फिल्म दिखाओ नंगी फिल्म

वसुन्धरा को कुदरत ने या फिर खुद वसुन्धरा ने, दबंग और बद्तमीज़ बना दिया था लेकिन इस में एक लोचा था. मैं पानी लेने जाने लगा तो उन्होंने कहा- अभी रहने दे, मैं बाद में मंगवा लूंगा. काफी देर पूल में मस्ती करने के बाद हम दोनों पूल से निकले और उसने मुझे वहीं पास में रखी लम्बी सी कुर्सी में लिटा दिया और मेरी चुत चाटने लगा.

जब तक मैंने शर्ट उतारी तब तक अंजलि ने मेरी पैंट का हुक खोल दिया और मेरा कच्छा भी नीचे कर दिया. यह बात बहुत साल पहले की है, उस वक्त मुझे सेक्स के बारे में भी कुछ नहीं पता था, लेकिन सेक्स के मज़े से में ज्यादा दिनों तक अंजान ना रह सका. मैं अपनी जांघों पर उसके होंठों का स्पर्श पाकर बहुत उत्तेजित होने लगी.

बड़ी देर बाद जो झड़ा तो मैं तो उसके वीर्य की बरसात से सराबोर होने लगी. रूम में जाते ही मैं सोचने लगा की मॉम को चोदना ठीक होगा या नहीं? सोचते-सोचते मेरे दिमाग ने यही सुझाव दिया कि माँ एक औरत है और मैं एक मर्द हूँ. आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी आप इसके बारे में मुझे मेल करके जरूर बतायें.

आह … क्या बताऊं दोस्तो, उस वक्त मुझे अपने आप पर काबू करना मुश्किल हो जाता था. अब तो भूखे शेर के मुँह खून लग गया था।बस उस दिन मैंने आंटी की चुदाई का मन बना लिया था। मैंने ठान लिया था कि चाहे मुझे आंटी की चुदाई के लिए कुछ भी करना पड़े मैं इसकी चूत को चोद कर ही रहूंगा.

मैं अपने दांतों को उसके पैंटी के ऊपर से ही बुर पर रगड़ने लगा, जिसको वो बर्दाश्त ना कर सकी और तुरंत झड़ गई.

मैंने पजामे में अन्दर से ही अपने लंड को सेट किया और उसका उभार न दिखे इसके लिये मैंने लंड के ऊपर हाथ रख लिया. 𝐭𝐚𝐦𝐢𝐥 𝐬𝐞𝐱”फ़िर बड़ी वाली ने छोटी बहन की कमर में हाथ डालकर उसे झुकाया और जीभ से उसकी चूचियां चाटते हुई बोली- लो अब चोदिये इसकी चूत को पापा. मां बेटे की नंगी सेक्सी वीडियोउसके बाद मैंने भाभी को साइड में गिरा लिया क्योंकि काफी देर से मैं भाभी के नीचे दबा हुआ था. मैं राधिका के पूरे शरीर पर चूम रहा था, इस दौरान मैंने उसकी गर्दन पर लवबाइट भी किये.

वह अपनी गहराती सांसों के साथ कंधों को सिकोड़ कर छुईमुई की तरह बिल्कुल सिकुड़ती सी चली गई.

पूजा ने उस लड़की से पूछा कि वो क्यों चीखी?फिर उसने मेरी तरफ देख कर पूछा कि वो क्यों चीखी, तुमने क्या किया और तुम अभी यहां क्या कर रहे हो?मुझे कुछ समझ में नहीं आया कि मैं क्या बोलूं और फिर मैंने उसको बताया कि मैं तुमसे मिलने आया था. मगर जैसे ही मैं हेतल के कमरे के बाहर दरवाजे के पास पहुंचा तो मुझे अंदर से कुछ आवाजें आती हुई सुनाई दीं. हालांकि मैं अपने आपको गे नहीं मानता हूँ क्योंकि मुझे लड़कियां चोदना भी बहुत पसंद हैं.

मेरी दोनों चुचियां एक साथ उसके मुँह में जाने से और दोनों होंठ से दबाने से में भी बहुत उत्तेजित हो गई. उनकी साड़ी पलटते ही उनकी बिना बालों की चुत अंकल की आंखों से सामने थी. अब मैं एक हाथ से उनके एक मम्मे को मसल रहा था और दूसरे से उनकी बुर को रगड़ रहा था.

पेट में पथरी कैसे होती है

फिर मौका देख कर मैं बात करते हुए ही उनके चूचे और चूतड़ को छू ले रहा था. उसके बाद बुआ उठी और ताऊ जी के खड़े हुए लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी. मैंने तीसरी बार गिलास भर लिया और पूछा- और?इस बार मैं आश्चर्य चकित था.

मेरा अपने नये पाठकों से विनम्र निवेदन है कि कहानी से ठीक से तारतम्य बिठाने के लिए पहले मेरी पुरानी कहानियों को एक बार पढ़ लें.

मैं उसकी गर्म सांसों को महसूस कर सकता था। उसके बाद मैं उसके होंठों पर पहुंचा और वो आइस क्यूब को जीभ निकल कर चाटने लगी। उसकी आँखों पर पट्टी थी.

मैंने उनकी तरफ डिब्बी बढ़ाई, तो उन्होंने कहा- एक ही जला लो, उसी से ले लूंगी. यह तो सब करते हैं किंतु वह तुम्हारी कच्ची उम्र थी जब तुमने हमें संभोग करते देखा। यह केवल एक बार नहीं अपितु बार-बार था।इस उम्र में जब किसी को पॉर्न फिल्म देखने को मिलती है तो उसका हाल भी यही होता है किंतु तुमने तो पॉर्न फिल्म को जीवन्त रूप में देखी थी. चुदाई वाला सेक्सी फिल्मएक अठारह साल की लड़की मुझे नहीं हरा सकती थी, इसलिए मेरा नींद का नाटक जारी था.

वैसे भी भाई-बहन के बीच सेक्स हो सकता है इसमें कोई बुरी बात नहीं है. इसलिये मैं अब उससे दूर ही रहने लगा।दो-चार दिन तो मोनी भी मुझसे अलग-अलग सी रही मगर फिर धीरे-धीरे उसने भी मुझसे‌ थोड़ा बहुत बात करना शुरु कर दिया। वैसे भी वहाँ घर में हम दोनों ही थे और लगभग दिन-रात एक साथ ही रहते थे।आप भी इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि एक ही घर में दिन‌ रात एक साथ रहेंगे तो एक-दूसरे से बात किये बिना‌ कब तक‌ रह सकते थे. मैं भी जवान हो चुकी थी, मैंने भले ही अब तक कभी किसी से चुदवाया नहीं था, पर चुदाई के बारे में मैं सब कुछ जानती थी.

बहुत मजा आ रहा है … आह्ह … आआ आ आ … तूने तो मुझे पागल कर दिया है और जम कर चोद मुझे. ?नम्रता ने बड़े इत्मीनान से पूछा- टाईम क्या हुआ?जब पति देव ने टाईम बताया तो बोली- देर रात तक नींद नहीं आने के कारण नींद नहीं खुली.

बहुत सारे मेरे मित्रों ने मुझसे पूछा है कि ये कहानी सच्ची है या नहीं.

एक तरफ गांड पसीज रही थी तो दूसरी चुड़ैल को देखने का मन भी कर रहा था. ये बोलकर जैसे ही वो मेरी फुद्दी के ऊपर अपना मूसल लिंग लगाने लगे तो इसी बीच में डोरबेल बज गई. मैं उसको लेटा कर उसके ऊपर आ गया और अपना लंड धीरे धीरे उसकी बुर की फांकों पर फेरने लगा.

करवा चौथ की सेक्सी वीडियो फिल्म आपके लिए वसुन्धरा का संदेसा है कि आप हरगिज़ भी उससे मिले बिना ना जाएँ. तुम्हारे कारण ही तो मैं इतना सोच पायी कि कैसे अपने पति को रिझाना है.

मुझे नहीं पता काजल ने मेरी पैंट में तने हुए लंड को देखा या नहीं लेकिन मैं खुद ही अपने तनाव को अपने दूसरे हाथ से छिपाने की कोशिश करने लगा. बेबी पानी लेने गई तो गुप्ताइन ने पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं, वो टीवी देखने में मस्त थी, मैं कुछ सोच नहीं पाया. इतना कह कर बेटीचोद बाप नीना की चूत में जो सकासक उंगली डालने निकालने लगा, तो नीना आंख बंद करके बड़ी बहन की तरह मादक आवाज निकाल कर सिसकने लगी.

सोनाली की नंगी फोटो

चूत तो मैंने इससे पहले भी बहुत सी खाई थी लेकिन सेलिना की चूत की बात कुछ अलग थी. इसी क्रम में मुझे एक पाठिका सोनम सिंह का मेल मिला जिसमें उन्होंने मेरी कहानियों की तारीफ़ के साथ साथ अपने बारे में भी बहुत कुछ बताया. अगर हेतल मना कर देती तो मानसी को पता चल जाता कि मैंने हेतल के बारे में झूठा बहाना बनाया था और यह सब मैंने मानसी की चूत चोदने के लिए किया है.

कुछ देर बाद मामी फिर से गर्म होने लगीं और उन्होंने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया. मेरे ताऊ जी जिनकी उम्र 48 साल की है वो रंग के गोरे, शरीर के लम्बे और सेहतमंद इंसान हैं.

उसने कपड़े से पौंछते हुए जब कपड़ा चूत से हटाया तो चूत एकदम चिकनी सफाचट हो गई थी.

पानी की टंकी खाली है, पिछली रात किसी ने मोटर नहीं चलाई तो जिम्मेवार मैं, प्रैस ठीक से गर्म नहीं हो रही तो जिम्मेवार मैं, बाथरूम में टूथ-पेस्ट नहीं मिल रही तो जिम्मेवार मैं, केटरर ने लंच लेट कर दिया तो जिम्मेवार मैं, किचन में कैचअप की बॉटल में कैचअप ख़त्म हो गया है तो जिम्मेवार मैं, कॉफ़ी में चीनी कम/ज्यादा तो जिम्मेवार मैं. आज जीजा जी शायद सेक्स करने में पगला गये थे इसीलिए वो आज बुरी तरह दीदी को ठोक रहे थे. शरद के साथ मेरा ऐसा ही रिश्ता चल पड़ा, जब भी स्वीट खाने को दिल करता, मैं छत पे चली जाती और वहां से 5 से 10 मिनट में ही पैकेट आ जाता.

मेरे पैरों पर जमी धूल की उन्होंने जरा भी परवाह नहीं की और पांवों की उंगलियां मुंह में लेकर चूसने लगे. उसके बाद भाभी की चूचियों का साइज देख कर मेरे मन में ख्याल आया कि उनसे थोड़ा फ्लर्ट कर लिया जाये. अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने अपनी बहन की चुदाई के कारण हुई थकान के चलते उसकी मालिश की.

मुझे लगा कि कहीं ये साली मेरा माल चूस कर ही ना निकाल दे, इसलिए मैंने अपना लंड उसके मुँह से निकाल लिया.

इंडियन लड़की का बीएफ वीडियो: भाबी के इस तरह झपटने से मेरा लंड अचानक ही भाबी की चुत को चीरता हुआ थोड़ा अन्दर घुस गया. ये सेक्स स्टोरी मेरी अपनी छोटी बहन आतिशा के साथ किए गए सेक्स की है.

उसका अंग-अंग टूट रहा था। वो काफी उत्तेजित हो रही थी। उसके चेहरे की मुस्कान गहरी हो रही थी. उसने जल्द ही मेरी चुदाई का वादा करके मुझसे बाय बाय कर ली और चली गई. अब मोनी‌ के‌ नर्म मुलायम नितम्बों के स्पर्श से मैं इतना‌ अधिक उत्तेजित हो गया कि अपने लंड को उसके नितम्बों पर एक दो बार घिसते ही मैं अब अपने चर्म‌ पर पहुँच गया.

उसके बाद चौथे ने अपनी जींस में से बाहर निकला हुआ अपना लंड मेरी चूत पर सेट किया और मेरे ऊपर लेट गया.

पैरों का यह शवाब तो या लगता था कि किसी कुशल मूर्तिकार ने बड़े प्यार से गढ़ा हो. उसके हॉस्टल में मुझे उसने अपने ममेरे भाई के रूप में एंट्री दिलाई थी. शायना बुआ ने बोला- मैं तो जिस दिन आई थी, उस दिन ही तूने मेरी अन्दर की आग को भड़का दिया था.