ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ

छवि स्रोत,बड़ी गांड वाली सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मुसलमान की बीएफ सेक्सी: ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ, मैंने कहा- स्वीटी, मुझे तुमसे किसी दिन रात में मिलना है … और तुम जानती हो ये मैं किस लिए कह रहा हूँ.

सेक्सी ब्लू पिक्चर सेक्सी फिल्म

उसकी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया और भानू उसकी बूंद बूंद चाट गया. गरम चुदाईआंटी ने अपनी टाँगें फैलाईं तो आंटी की चूत के लब खुल गए और अन्दर से गुलाबी चूत चमकने लगी.

मेरे अन्दर आते ही मामी ने कमरे के दरवाजे बंद कर दिए और लाइट ऑफ करके बेड पर आ गईं. सनी लियोन सेक्सी मूवी वीडियोलेकिन कॉम्पटीशन के चलते बिज़नेस में हमको मुनाफा ज्यादा नहीं हो रहा था। धीरे धीरे हम लोग घाटे में चले गए और हम पर 50 लाख का कर्ज हो गया।इसी बीच मेरी फेसबुक पर एक राजेश नाम से फ्रेंड रिक्वेस्ट आई.

बस आप फटाफट कमेंट्स और मेल कर दो कि आपको गरम लड़की की चुदाई कहानी कैसी लग रही है.ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ: वो मेरी चूचियों और चूत से खेलने लगा और मैंने उसका लंड हाथ में ले लिया.

फिर एक हाथ से टांगों को थामा और दूसरे से उसकी चूत को खोलकर देखने लगा.गांड को पूरी चिकनी करने के बाद उन्होंने लंड पर भी तेल लगाया और फिर दीदी की गांड को थाम कर अपना लौडा़ उनकी गांड में अंदर धकेलना शुरू कर दिया.

वीडियो लड़की की चुदाई - ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ

वैसे तो सुमन खेली खाई थी … मगर उसकी चुत ने आज तक इतनी गहराई में लौड़ा कभी नहीं लिया था.लंड धीरे धीरे अपना सर उठा रहा था और देखते ही देखते वो 9 इंच का मूसल सा तन गया.

मैडम- क्यों … अब तक आपकी शादी नहीं हुई है क्या?मैं- जी नहीं अभी मेरी शादी नहीं हुई है. ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ मैंने हाथ से पकड़कर लंड उसकी चूत के द्वार पर घिसना चालू किया, तो वो बिन पानी के मछली जैसे तड़फने लगी.

उसके बूब्स मेरे पैर पर रगड़ सुख दे रहे थे और उसका मुँह, मेरे लंड को खूब मस्ती से चूस रहा था.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ?

मैं अन्दर गया तो चाची ने पानी दिया और मेरे सामने अपने पैरों पर पैर चढ़ा कर बैठ गई. एक बार जब हम दोनों अकेले थे तो …हाय दोस्तो, मैं फ्री सेक्स कहानी पर रेग्युलर कहानी पढ़ता हूँ और मुझे लगा कि क्यों न मैं भी मेरी चुत मारी कहानी आप सबके सामने लाऊं. गर्ल स्टूडेंट सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी बिल्डिंग में एक सीधी सादी कॉलेज गर्ल से मेरी दोस्ती हो गयी.

जब मैंने पूछा तो बोलीं- पहली बार चूत चोदेगा, इसलिए लंड को तकलीफ ना हो. रवि- चल उठ साली … अब मेरा लंड चूस … भैन की लौड़ी इसमें गर्मी आने लगी है आह आज इसका पूरा रस निकाल दे. जब मैं उसे कुतिया बना कर चोदता और उसकी चूत में पीछे से लंड का धक्का देता तो उसे चैन मिल जाता.

आआह साली, इधर कुछ मत कर … अभी सब लोग आएंगे, किसी ने देख लिया तो इज्जत की मां चुद जाएगी. मैंने सोचा कि दोस्त के फ्लैट में यदि मैं गया और किसी ने कुछ पूछा तो मामला गड़बड़ न हो जाए. सुरेश हंस कर बोला- आज से मुझे तेरा पति समझ!तब मैं बोली- चौधरी भी क्या मेरा पति है?सुरेश बोला- नहीं साली रान्ड!और एकदम से उसने चुदाई की स्पीड बढ़ाई और मुझे मेरी चूत में कुछ गर्म सा पानी गिरता महसूस हुआ.

मैं बोला- भाभी आप कटड़ा (भैंस का बच्चा) खोल दो, मैं दूध टांग देता हूँ. जब सब लोग सो रहे होते थे तो घर की बैठक वाले कमरे में जाकर चुदती थी.

मैंने स्यू को बताया, तो उसने दरवाजा खुला छोड़ दिया और मुझे लेकर बेडरूम में आ गई.

यही सब सोच कर, एक दिन मैं रात 12 बजे छत पर गया और खिड़की से अन्दर झांका.

इस हॉट लड़की की चुदाई स्टोरी का अगला भाग आपकी पसंद मिलने पर लिखूंगा. मैंने स्वरा से कहा- सच कहूं, मैंने तुम्हें जब जब शिफ्ट से पहले देखा था, उस दिन जिसको भी चोदा, सिर्फ तुम्हारे नंगे जिस्म को सोच कर चोदा. मैं पिछले 4 साल से जिम भी जा रहा हूं, तो मेरी बॉडी भी काफी अच्छी है.

लेकिन जब मेरे साथ भी कुछ ऐसा घटना घटी, तब से मुझे पूर्ण विश्वास हो गया है कि यहां सब कहानियां सच्ची होती हैं. वो गर्म सिसकारी भर कर बहुत आवाज निकाल रही थी ‘ओह शिवम … आह चूस ले … आह आह आह ओह. एक दिन मैंने उसे बात की तो वो तो …नमस्कार दोस्तो, मैं रजत आपके सामने अपनी स्टूडेंट्स Xxx चुदाई कहानी का अगला पार्ट लेकर फिर से हाजिर हूँ.

कासिब कहने लगा- अम्मी ऐसी कोई बात नहीं … तू तो ऐसे ही शक कर रही है.

दरअसल गन्ने को काट कर उसको ट्रैक्टर में भरके फैक्ट्री में जाना होता है, जिसे देसी भाषा में मिल कहते है. मैंने भी भाभी को गुलाबी होंठों को चूमते हुए अपने दोनों हाथ उनकी मखमली गांड पर रख दिए. चूंकि वो पूरी नंगी थी, तो मैंने उसे पकड़ कर उसके टिकोरे जैसे नीबूओं को अपने एक हाथ से मसल रहा था.

चुदते हुए वो चिल्ला रही थी- आह्ह राज … जोर से चोदो … आह्ह … और जोर से घुसाओ … फाड़ दो मेरी चूत को … ये तुम्हारे लंड की हमेशा प्यासी रहती है … इसी प्यास को बुझा दो. चाची की गांड से चिपक कर बैठने से मेरी नाईट पैंट में मेरा लौड़ा मस्त होने लगा. मैंने उनके मम्मों को चूस कर बियर चाटना शुरू कर दी, तो मामी ने गिलास से बियर अपने मम्मों पर गिराना शुरू कर दी.

उसने बेझिझक मुझसे कहा कि क्या आप मेरे दूध पीना चाहोगे?मैंने कहा- मैं तो तुम्हारे दूध बहुत पहले से पीने को उतावला हो रहा हूँ, बस तुम्हारी एक हां की जरूरत थी.

हालांकि ये वक्त कुछ ऐसा था, जिसमें सेक्स के लिए मन बना पाना इतनी जल्दी सम्भव नहीं था. तभी मैंने देखा कि अब्बू थोड़ा हिले और अम्मी की पीठ पकड़ कर अपनी टांग अम्मी की टांग पर रख दी, अम्मी भी थोड़ा कुलबुलाईं.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ मैंने देखा कि मम्मी की छूट पूरी क्लीन शेव थी और चुत की गुलाबी पंखुड़ियां बड़ी मस्त दिख रही थीं. मामी ने तो अपना मन बना लिया था, मगर मैंने अभी तक अपने मन को नहीं समझा पाया था.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ अरे यार, अब ये क्या हो गया बीच में कौन आ गया … चुदाई का पूरा मज़ा बेकार हो गया. मैं उनकी बात सुनकर मस्त हो गया कि हो न हो आज लंड की किस्मत में इनकी चुत लिखी है.

यही नहीं सेक्स के लिए वो खुद आगे बढ़कर अब्बू को निमंत्रण भी देती थीं कि आज उनका भी बहुत चुदवाने का मन है, आज उन्हें लंड चाहिए ही है.

हिंदी सेक्सी वीडियो भाई बहन की चुदाई

फिर चौधरी बोला- चल तेरे कपड़े उतार!मैं बोली- क्यों? मेरी मालिश करोगे?तब चौधरी हंस कर बोला- मालिश भी और भी बहुत कुछ करूंगा. मैंने चुपके से देखा अम्मी ने गैस बंद कर दी … जबकि अभी खाना भी पूरा नहीं बना था. जैसे ही मैंने उसके स्तन के निप्पल को मेरी जीभ रगड़ना शुरू किया, संगीता ने अचानक से अपने हिलने की स्पीड को पूरी तेजी में कर दिया.

मैं उसके ऊपर लेट गया।थोड़ी देर बाद दोनों अलग-अलग हुए उसने लंड को चूस कर साफ़ कर दिया।हम दोनों चुदाई से बहुत खुश थे।तभी मेरे दोस्त का फोन आया, बोला- तुम कहां हो राज़?मैंने बोला- बुआ को कुछ काम था तो बुआ के घर आया था।वो बोला- भाई मुझे भी तुमसे एक काम है. उसका सात इंच लंबा लंड चुत को एकदम फाड़ने की पोजीशन में कड़क हो उठा था. चुदते हुए वो चिल्ला रही थी- आह्ह राज … जोर से चोदो … आह्ह … और जोर से घुसाओ … फाड़ दो मेरी चूत को … ये तुम्हारे लंड की हमेशा प्यासी रहती है … इसी प्यास को बुझा दो.

मैं उस समय दर्द की पीड़ा में मर रही थी और कहे जा रही थी कि सर रुक जाओ सर … प्लीज़ बाहर निकाल लो … बहुत दर्द हो रहा है आआह उफ्फ्फ ईईई निकाल लो.

परीक्षक महोदय ने मेरा अच्छी तरह से मुआयना किया और मिठाई की प्लेट मेरी ओर करते हुए बोले- लो बेटा मुँह मीठा कर लो, तुम्हारा काम सफल होगा. उसने समता से कहा- दिल्ली से बड़े नेता आ रहे हैं, क्या आप चलेंगी?समता को भी उस नेता से मिलना था तो उसने पति से इजाजत मांगी. वो ही हम दोनों का खर्च और पढ़ाई का ज़िम्मा लिए थी।पापा का बहुत पहले ही देहांत हो गया था जिसके वजह से मम्मी और एक बड़ा भाई लखनऊ में रहते थे।अब यहां पर एक हमारे दूर के रिश्तेदार खन्ना अंकल रहते थे.

अरूण बाबू फिर हंसते हुए बोले- पता नहीं आज कितने दिनों के बाद हमें जवान लड़की की सील तोड़ने का चान्स मिला है. मैंने थोड़ा सा वीर्य मुँह के अन्दर छोड़ा बाकी एक तेज धार के साथ उसके चेहरे पर छोड़ दिया. लेकिन बाद में ये सोच कर रह गई कि ये मेरे बिजनेस में मेरी हेल्प करेंगे.

मैडम के जाते ही मैंने जिस्म की ताकत को समेटते हुए केक उठा कर एक ही बार में मुँह में भर लिया और दूसरे हाथ से जूस का गिलास उठा कर पी लिया. इस तरह से उस रात मैंने भाभी की चुदाई तीन बार की, एक बार भाभी की गांड मारी.

मेरी चाची का फिगर बहुत ही कातिल है, उनके चूचे का साइज 38 इंच और उनकी गांड बहुत बड़ी है. उसी बीच मेरे हाथ भाभी के मम्मों पर चले गए और मैंने उनके दूध दबाने लगा. रिकॉर्ड मोड ऑन करके मैंने स्टार्ट करके देखा उसके बिस्तर के दोनों एंगल से बहुत अच्छा दिखने लगा था।2 घण्टे बाद बहन मार्केट से आ गई.

अब्बू मम्मी की चुदाई स्टोरी का अगला भाग:कामुक अम्मी अब्बू की मस्त चुदाई- 4.

मजा आ रहा है ना दोस्तो मेरी गर्म सेक्स की कहानी में?[emailprotected]गर्म सेक्स की कहानी जारी रहेगी. मैं पूजा की गांड में तेल लगाने लगा, तो मधु समझ गई कि अब पूजा की गांड फटने की बारी आ गई है. उसकी चूत से खून बहने लगा, जिसको सुरेश ने अपने लंड पर महसूस कर लिया.

मैंने भाभी से पूछा- ये कब साफ़ की आपने?भाभी बोलीं- न जाने कब से इसे साफ़ रखती आ रही हूँ कि कब इसको प्यार करने वाला मिलेगा. दीपक मेरी लोअर और पैंटी उतार कर मेरे पैरों के बीच में आ गया और मेरे ऊपर झुक कर चूचों से खेलने लगा.

ये कहते हुए वो सीधी हुई और अपना एक चूचा कासिब के मुँह से लगा कर कहा- भाई, अब मेरा गर्म गर्म दूध भी पी लो. फिर मैंने उसकी चूत में जीभ डाल दी और उसने अपने पैर मेरे सिर पर लपेट दिये. मेरा जोश और ज्यादा बढ़ गया और मैं चूत की फांकों को हल्के दांतों से काटते हुए जीभ से चूत को चोदने लगा.

ब्लाउज बनाना बताइए

अब आगे की पड़ोसन सेक्स की कहानी:मैंने सॉरी बोला और उनके घर से निकल कर जाने लगा.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था … क्योंकि पहले वाली औरत तो बेजान होकर चुदवा रही थी, पर अनीता तो मज़े ले लेकर चुदवा रही थी. काफी देर की कोशिश के बाद उसने मुझसे कहा- तुम सहयोग करो न!अब मुझे भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैंने उसके लंड को पकड़ कर चूत के छेद पर सेट किया. ये सुनकर हीरोइन और मैं दोनों हैरान थे कि इसे कैसे पता चल गया कि हीरोइन चुदी हुई है.

रणजीत ने अपने लंड पर अपनी बहन के मुँह की गर्मी को महसूस किया तो उसने अपनी आंखें बंद कर लीं और लंड चुसवाने का मजा लेने लगा. आप लोग सोच रहे होंगे कि एक झटके में पूरा लंड घुसते ही वो चिल्लाई होंगी, लेकिन नहीं … बस हल्की सी सिसकारी ली और लंड को गड़प कर गईं. ब्लू सेक्सी मूवीसआज मुझे उसके हर अंग को अच्छे से चोदना था क्योंकि वो ऐसा ही चाह रही थी.

पर वो बोली- शनिवार को मेरी तो ड्यूटी है।मैंने कहा- मेरे दोस्त से मेरी बात हो गई है. फिर जीजू और मैं बाथरूम में फ्रेश होने चले गए।जीजू ने कपड़े पहने और दीदी के जागने के पहले अपने रूम में चले गए।कुछ ही दिनों बाद जीजू ने मुझे वादे के मुताबिक एक नयी स्कूटी लाकर दी.

पर उसके नीचे मैं इस पोजीशन में दबी थी कि मैं हिल भी नहीं पा रही थी. उसको बांहों में भरकर उसने कई बार उसकी चूची दबाई और उसके कान में कहा- सुबह 4 बजे मेरे कमरे में आ जाना बहू. वो बोली- वो तो तेरा भाई है … तू उससे कैसे कह सकती है?पूजा बोली- भाई है तो उससे क्या होता है.

संगीता ने अपना एक हाथ मेरी टी-शर्ट में डाल दिया था और वो मेरे छाती के बालों को सहलाने लगी थी. कुछ देर यूं ही पड़े रहने के बाद हम अलग हुए और देखा पूरी बेडशीट पर खून के दाग़ लग गए थे. उनकी साड़ी सीने से ढलकी हुई थी और गहरे गले के ब्लाउज से उनके मिल्की वाइट दूध देख कर मुझे बहुत रोमांच हो रहा था.

मेरी Xxx मॉम कहानी में पढ़ें कि होटल रूम में मैंने अपनी सेक्सी मम्मी को पूरी नंगी देखा.

मैंने पूछा- क्या हुआ?तो वो मुस्कुरा कर बोला- फोन पर कौन था … भाबी थी क्या!मैं हंस कर बोला- हां, अभी तो सैटिंग है, बाद में बिस्तर वाली भाबी बन जाएगी. सुमन ने अगले ही पल अपनी टांगें चौड़ी कर दीं- आह मज़ा आ गया … उफ कितनी गर्मी है तुम्हारे होंठों में … आह.

पापा ने मेरे मुँह में अपने लंड का रस टपका दिया और राज ने अपनी सास के मुँह में पानी छोड़ दिया. [emailprotected]बॉटम गे सेक्स कहानी का अगला भाग:चिकने लौंडे के मोटे लंड से गांड चुदाई- 2. कुछ देर बाद वो भी मेरे मुँह में ही झड़ गया और मैं उसका सारा कर सारा वीर्य पी गई.

उसने मैंने लंड को छूते ही कहा- जानू यही वो सामान है … जो आप मुझे कॉल पर दिखाते थे. फिर मेरी ओर देखकर बोले- लीजिए रुक गए, अब उसके होंठों का रसपान कर लीजिए।उनकी बात को बड़े भाई की आज्ञा मान उसे मैंने किस किया और फिर जोर से उसके दो फूले स्तनों को पकड़कर चूसने लगा।मुझे पांच मिनट का अवसर देकर लड़की को उन्होंने फिर लेटाया और खुद ही फिर से चोदने लगे. इधर मैं काफी देर झड़ा नहीं था, तो मुझे अन्दर से लग रहा था कि मैं झड़ जाऊंगा.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ अपने होंठों से जोर जोर से उसकी चुत के दाने को खींचते हुए काटने लगा. मैं समझ नहीं पाया क्या कि अम्मी ने वो बोतल जैसी क्या चीज़ निकाली थी.

सेक्सी हिंदी वीडियो न्यू

फिर वो जल्दी से नीचे बैठी और मेरे लंड को मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी. हम ऑफिस के पांच-छह दोस्त बहुत दिनों से कहीं बाहर घूमने का प्लान कर रहे थे. मैंने अब अपना लौड़ा सीध में टिकाया और घुसाने की कोशिश करने लगा लेकिन चूत टाइट हो गयी थी.

धीरे धीरे हम दोनों बिल्कुल गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड की तरह बातें करने लगे. मैडम उसके सामने मेरे लंड को चूसे जा रही थी और मेरी सिसकारियां निकल रही थीं. बीपी पिक्चर ट्रिपल एक्सअपने जेठ जी के साथ चुत चुदाई का फैसला लेने में मुझे काफी सोच विचार करना पड़ रहा था.

मैंने भी एक घंटे बाद कमरे से निकल कर मेन गेट के रास्ते अन्दर आ गया.

मुझे हीरोइन के कहने से समझ आ गया कि अब सिर्फ एक ही गांड को पेलना था. इस बार पापा मुझे बार बार देख रहे थे, मेरे बूब्स पर उनकी नज़र रुकी हुई थीं.

फिर वो मेरे ऊपर आकर अपने होंठों को मेरे होंठों से मिला कर मुझे चूमने लगा. मुझे जवान लड़कियों से ज्यादा गदराई हुई भाभियां चोदना ज्यादा पसंद हैं और उन्हीं पर मैं डोरे डालता हूँ. मैं एक रूम में सो गया और पुष्पा दूसरे में।हम दोनों ही अलग अलग रूम में बिल्कुल अकेले थे.

में पढ़ता था, उसकी ही ये दोस्त थी। ऐसा हो है नहीं सकता कि कोई जवान लड़की मेरा लन्ड चूस ले और उसे अपनी गुफा में मेरे शेर को डलवाने का मन न करे।मैं अपने कमरे में गया और गंजी पहन कर फिर लुंगी लपेट ली.

कुछ देर यूं ही पड़े रहने के बाद हम अलग हुए और देखा पूरी बेडशीट पर खून के दाग़ लग गए थे. वो थैंक्यू बोलकर बोली- उस दिन आपने मेरी बड़ी मदद की थी और मैं उस दिन भी आपका शुक्रिया अदा नहीं कर पाई थी. सुरेश कुछ देर मीता के होंठों चूसता रहा, फिर उसने लंड को हरकत शुरू कर दी और लंड के धीरे धीरे झटके चूत में लगने लगे.

एक्स एक्स व्हिडिओ मराठीमैं बोला- दीदी, मुझे भी ऐसा ही मजा दो जैसा मैंने आपकी चूत में दिया है. तुम भी पी लेना एक कप मेरे साथ?मैं बोला- ओके।वो चाय बनाने चली गयी और मैं टीवी देखने लगा.

सेक्सी फिल्म हिंदी दिखाएं

वो बोली- सर, बिस्तर पर आ जाओ।मेरा दोस्त बोला- मुझे सर मत बोलो, सुनील बोलो।सुनील ने बुआ के होंठों को चूसना शुरु कर दिया और बुआ ने उसकी पैन्ट खोल दी।उसने मेरी बुआ की ब्रा उतार दी और चूचियों को मसलने लगा. आपने ब्रा भी नहीं पहनी है और आपके गोरे गोरे स्तन शिफान की साड़ी में से झलक रहे हैं. चूँकि हीरोइन ने भी मेरी कहानियां पढ़ी थीं, तो उसे भी अच्छा लगा था, मगर उसने कहा कि मैं उसकी पूरी सेक्स की इच्छा को आप सभी को लिख कर बताऊं और सेक्स कहानी पूरी लिखूँ.

क्योंकि घर में माँ रहती थी तो वो उनसे डरती थी।मैं भी मेरी बहन को बहुत मस्ती मजाक करता था तो उसे कई बार चिढ़ाने लगा कि क्या बात है आज कल बहुत खुश रहने लगी हो. तब मैंने भाई साहब के लंड को मुँह में ले लिया और उनका सारा प्रीकम चाट कर साफ़ कर दिया. भाभी ब्लैक पैंटी और ब्लैक ब्रा में शीशे के सामने खड़ी होकर खुद को देख रही थीं.

गुलचीन ने मुझसे कहा कि मेरे सैंया, तेरे मनी का स्वाद तो बहुत लाजवाब है. उस वक़्त अम्मी के दोनों विशाल चूतड़ हर तमाचे पर और उसी के साथ अम्मी के हर झटकों पर बुरी तरह से हिलते दिख रहे थे. पहले भागचुदाई के साथ मानसिक सुख की कामना- 1अब तक आपने पढ़ा कि मैडम मेरी बांहों में थीं और उनकी मदमस्त चूचियां मेरी धड़कनें बढ़ा रही थीं.

मैंने रेखा को बिना कपड़ों के पूरी नंगी देखा था, तभी से ही मैं उसे चोदने के बारे में सोचता रहता था … पर मुझे डर लगता था कि कहीं पूजा इस बात से मुझसे नाराज़ न हो जाए. मैंने जेनिल से कहकर एक मिनीबार से एनर्जी ड्रिंक ली और पहले हीरोइन की मस्त उभरी हुई गांड के बीच के धार पर लंड फिराया.

बुआ गट गट करके सारी मलाई पी गई और मेरे लंड को चूस कर साफ़ कर दिया।मैं साइड में लेट गया और उन दोनों की चुदाई देखने लगा।सुनील ने बुआ को बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी टांगों को चौड़ा कर के लंड को अंदर तक घुसा दिया।मेरा दोस्त मेरी बुआ को चोद रहा था और बोला- मैंने पहले दिन से आपको चोदने का मन बना लिया था.

करीब 15 दिन बात करने के बाद जब उन्हें लग गया कि मुझ पर विश्वास कर सकती हैं. मोटी चूत मोटा लंडइससे पहले बेटा भाई साहब के रूम में आता, मैंने हल्के से लॉक को घुमाकर दरवाजा खोला. सेक्सी दो सेक्सी सेक्सीमैं उसको अपनी तरफ खींचा और अपनी बांहों में लेकर उसके होंठों को किस करने लगा. उस वक़्त जिम के लिए 100 रुपया लगता था जो मेरे लिए कोई ख़ास बात नहीं थी.

तो मैं बोला- अंकिता घर आई थी … कुछ काम था क्या?ज्योति हंस कर बोली- पहले अन्दर तो आओ … तभी तो काम बता सकेंगे.

फिर उसके दिमाग में कुछ आया और उसने कम्बल हटाकर समता की नंगी तस्वीरें लेना शुरू कर दिया. उनकी इस बात से मैं पूरे जोश में आ गया और उनके ऊपर चढ़ कर उनके साथ मस्ती करने लगा. उस वक्त हमें सेक्स का ज्यादा ज्ञान नहीं था और लंड को मुंह में लेने जैसी बातों से अनजान ही थे.

तो आप सबको कैसी लगी मेरी गाँव की देसी लड़की की चुदाई कहानी?मुझे जरूर बतायें. उस वक़्त जिम के लिए 100 रुपया लगता था जो मेरे लिए कोई ख़ास बात नहीं थी. दोस्तो बाकी आप लोगों में से जिसने भी ये अनुभव किया होगा, वे ही चुत के स्वाद को जान सकते है कि चुत चटाई में कितना मज़ा आता है.

आंटी सेक्सी हिंदी में

मैं भी तुमसे चुदना चाहती हूँ मगर मैं तुम्हारी पहल का इंतज़ार कर रही हूँ. पति के काम पर जाने के बाद मैं सिर्फ नाइटी में रहती और भाई साहब के कमरे में पूरे दिन नंगी उनकी बांहों में रहती. अरे यार, अब ये क्या हो गया बीच में कौन आ गया … चुदाई का पूरा मज़ा बेकार हो गया.

थोड़ी देर लंड रगड़ते रहने के बाद मैंने उसके होंठों को किस करते हुए चुदाई का आगाज किया.

इस तरह ब्रा पैंटी पहन कर मैं पूरी औरत महसूस करता था और मुझे इससे बहुत खुशी मिलती थी.

उसके एक घंटे कहने का मतलब है कि अब वह तीन-चार घंटे बाद ही आएगा।मैंने लड़की को यह नहीं बताया. जिसका कारण ये था कि अब मेरे हस्बैंड को उनके हिस्से का काम भी करना पड़ता था. हिंदी में bf”आंटी अगर आपने मुझमें और कुलजीत में कोई फर्क नहीं समझा तो जैसे कुलजीत को हजारों बार अपना दूध पिलाया है, एक बार मुझे भी पिला दीजिये.

मैं थोड़ा पीछे हुआ और थोड़ा झुककर उसकी चूत के छेद पर लंड को टिका दिया. ”अपने मुहल्ले में किससे करा दूँ? कोई ढंग का माल है ही नहीं।”वाह, तेरे मुहल्ले में कोई ढंग की लड़की ही नहीं है. मेरे लौड़े से वीर्य की धार निकल पड़ी और उसकी चूत को भर दिया।हम दोनों बुआ भतीजा पसीने से लथपथ हो गये.

मैं जिसको रोज याद करके मुठ मारता था, आज उसी ने मुझे सामने से प्रपोज़ कर दिया. ये गाँव की देसी लड़की की चुदाई कहानी मेरी अपनी है कि कैसे मैंने पहली बार सेक्स किया और मेरी बुर की सील टूटी.

तो उन्होंने कहा- मेरी जान, जितना दर्द होना था हो चुका, अब सिर्फ मज़ा मिलेगा.

हम अभी भी कैंटीन में थे, प्रवीण और प्रणाली जा चुके थे, पर अंकित और आकांक्षा अभी इधर ही थे. अब मुझे पक्का विश्वास हो गया था कि अम्मी का आज भी सुबह से चुत चुदाई का पूरा मन था. शॉवर से गिरता पानी और भाई साहब के धक्के दोनों ही मेरे बदन को सुखद अहसास करा रहे थे.

বাঙালি ভিডিও সেক্স ”मैं बारह बजे आ जाऊंगा, आंटी पाँच मिनट के लिए आ जाने दीजिये, प्लीज. वो मेरे सर को अपनी चूत में दबाने लगी और बोली- और तेज़ तेज़!मैंने उसकी गर्म चूत में अपनी जीभ घुसा दी.

अब तक मधु मेरा लंड अपने मुँह में लेकर उसे चूसने लगी थी और मेरा लंड खड़ा होने लगा था. मैं बड़ोदा में राज के पेरेंट्स के साथ रहती हूँ और मेरे मम्मी-पापा अमदाबाद में रहते हैं. लेकिन इतनी जबरदस्त और लम्बी चुदाई के बाद मैंने सोचा कि शायद अब शनिवार को न चुदवा कर, अम्मी संडे को ही चुत चुदवाएंगी.

सनी सेक्सी वीडियो हिंदी

उसने अंत में मेरे पूरे पेट और मेरी नाभि को भी बढ़े अच्छे से चूमा और चाटा. दो दिन बाद वो भैया भाभी को हमारे घर पर रेंट मकान लेकर उधर रहने के लिए छोड़ गए. पांच मिनट के बाद मैंने फोन उठाया और फिर से पॉर्न वीडियो चालू कर दिया.

लेकिन राजसी थी बहुत बड़ी रंडी … इतने दर्द के बाद भी उसने साहिल से ना तो अपना लन्ड बाहर निकलने को बोला और न ही रुकने को!इधर साहिल भी हर धक्के में अपना लन्ड राजसी की गांड में ठूँसता चला जा रहा था. पापा ने मेरे दोनों मम्मों को अपने हाथों से पकड़ लिया और मस्ती से दूध मसलने लगे और चूसने लगे.

भाई साहब ने उठते ही मुझे गुड मॉर्निंग कहा और उसके बाद उन्होंने अपना लंड सहला कर उसे एडजस्ट किया.

अब तुम देर ना करो, आज इसकी बुर का मुहूर्त कर ही दो, तो बस मेरी इच्छा भी पूरी हो जाएगी. आप मेरी अब्बू मम्मी की चुदाई स्टोरी के नीचे अपने कमेंट्स करना न भूलें. अब मैंने चुदाई का मन बना लिया क्योंकि मेरा लंड भी बहुत देर से तना हुआ था.

इतनी हॉट लाइव चुदाई देख कर अब आगे मैं सह नहीं सकती थी क्योंकि मेरे अंदर की वासना भी अब एकदम तेज़ हो गयी थी. तो उसने बताया कि उसे पता नहीं क्यों हिंदी और भारत से अनजाना सा लगाव है. तो बताइए चारबाग़ के बाद मैं आपको किधर छोड़ सकती हूँ … मेरा मतलब आपका रूम किधर है?मैं- मैं चिनहट में रहता हूँ … आप मुझे उधर ही कहीं छोड़ दीजिएगा.

कुछ मिनट तक गांड चुदाई करने के बाद प्रिंस का लंड आसानी से अन्दर बाहर होने लगा था.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ: यदि जाग गई और कुछ बोली, तो कह देना कि दारू के नशे में सन्नो समझ कर लंड लगा दिया था. उसने अपनी चारों सहेलियों से शायद यही सब बात डिस्कस की, तो उन लोगों ने उससे कुछ और करने का कहा.

अगर तू किसी दिन कहीं चला गया, तो कौन निकालेगा!मैं बोला- भाभी, दो मिनट रुक … जब थोड़ा सा रह जावेगा, तब निकाल लेना. मैडम बोलीं- तुमने कभी सेक्स किया है?मैं चौंक गया पर अगले ही पल उनकी वासना में डूबी आंखों में झाँक कर कहा- हां एक बार. मुनिया- आह आ हह भैया … उफ आप बहुत अच्छे हो आह ऐसे ही चूस लो मेरी बुर को आह.

हॉट इंडियन गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी कॉलोनी में चार लड़कियों का एक ग्रुप था.

कुछ देर बाद पापा ने अपने सारे कपड़े उतारे और मम्मी की चुत में लंड पेल कर उनकी चुदाई चालू कर दी. मेरी बहन ने मेरा बरमूडा उतार दिया और मेरा 7 इंच का लंड बाहर निकाल लिया. फिर बोला- ठीक है, मुंह में नहीं लेना तो अपने कोमल हाथों से सहला दो.