सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल

छवि स्रोत,एक्स वीडियो कॉलेज

तस्वीर का शीर्षक ,

साउथ सेक्सी हीरोइन: सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल, मिताली भाभी के बेडरूम में आकर मैंने कुछ देर मिताली भाभी से बातें की और कहा- डार्लिंग मुझे किस चाहिए.

सेक्सी ब्लू बताओ

राज! आज की रात मुझे ऐसे प्यार करो कि आप का अंश मेरी कोख में पैर पसार ले. जबरदस्त सेक्स वीडियोसवो बोली- कोई बात नहीं, दस दिन में तो मैं तुमसे चुद कर प्रेग्नेंट हो ही सकती हूं.

मेरे लौड़े से भी इतनी उतेजना बर्दाश्त नहीं हुई और साथ ही मेरे लौड़े ने पिचकारी छोड़ दी. सेक्सी ब्लू वीडियो चाहिएमनु ने तो मेरे डिल्डो निकालने के बाद दीदी की चूत पर मुँह भी लगा दिया.

लेकिन साथ में माता जी के होने की वजह से मैं खुल के रेनू से बात नहीं कर पा रहा था.सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल: उसने कुछ दूर पीछे हटकर अपने हाथ कमर पर बंधी हुई डोरी पर रखे और अपनी कमर पर बंधी हुए डोरी के एक सिरे को पकड़कर खींच कर खोल दिया.

इधर मैं भी अपने चरम पर पहुंच चुका था और उसके मुँह में ही मेरी पिचकारी चल पड़ी.मेरे बार-बार ऐसा प्रश्न करने से वो चिढ़ गई और उसने मैसेज कर दिया कि मुझे कुछ नहीं बताना है और आप मेरी कहानी भी मत लिखो.

ब्लू फिल्में फुल एचडी - सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल

उसने मेरा एक पैर आईने के पास जो स्टूल था, उस पर रख दिया और पीछे से मेरी चुत पर अपना लंड रगड़ने लगा.उई!और फिर आगे सतीश को बोली- अह … साले … उई अह … मेरी बच्चेदानी … को टकरा रहा है तेरा लौड़ा … उई उई आह इ … सी सी.

मैंने एक बार मुस्कान को थोड़ा ऊपर उठाया और फिर दुबारा उसे अपने लंड पर बिठा लिया जिससे मेरा लौड़ा अच्छे से दुबारा उसकी गांड में चला गया।सीमा ने मोनू को इशारा किया और मोनू के लंड को भी अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल मैंने कहा तो गुज्जु ने मेरे लंड पकड़ा और अपनी फुद्दी पर रखा और बोली- भाईजान, आराम से, आज तक फटी नहीं है, आराम से फाड़ना, अपनी छोटी बहन समझ कर फाड़ना.

रजत ने अपने खुरदुरे हाथों से मम्मों को बेरहमी से मसला और कहा- तू अभी इन खिलौनों से खेल मेरी रानी … फिर तेरी गर्मी मैं शांत करूंगा.

सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल?

जैसे मैंने दरवाजा बंद किया तो वो पीछे से मुझ पर पागलों की तरह टूट पड़ा. संजू नीरज के लंड चूसने के क्रम में वहां पर जितना भी वीर्य गिरा था, उस सबको चाट गई. पर ये क्या? देखते ही देखते, अलका ने मेरा पूरा लंड अपने मुँह में निगल लिया और वो उसको कुछ यूँ चूस रही थी कि मेरी सांसें ही गले में अटक गईं.

इसके बाद मैंने शैम्पेन की बोतल, जो मैं अपने साथ लेकर आया था, उसको खोला और शैम्पेन का एक गिलास बेबी रानी और एक गुड्डी को दिया. और जो समझ आ रही थी, वो मेरे मन में भी डर पैदा कर रही थी क्योंकि फैजल ने कुछ दिन मुझे सेक्स करने के लिए बोला हुआ था. उसके इतना कहते ही विमला ने उसे जोर से थप्पड़ मारा और वहां से भाग जाने को कहा.

कविता की बातों ने मुझे मदमस्त कर दिया, मैंने बड़ी नाजुकता से कविता का एक एक कपड़ा उतारा और बिल्कुल नंगी कर दिया. परमीत भी लेटते हुए लगभग चुदाई की पोजीशन पर आ ही गई थी, तभी संजय ने उन्हें रोक दिया. वे चुत चोदने में माहिर खिलाड़ी हैं … वरना उनके लंड की फोरस्किन इतनी पीछे कैसे हो गई थी.

अब वो मेरी कॉलोनी के थोड़ा दूर रुक गया … क्योंकि मैं वहां किसी लड़के के साथ नहीं जा सकती थी. मैंने आंटी के चूतड़ ज़ोर से दबा दिए जिससे आंटी चौंक सी गयी और उसकी आवाज़ आह‍हह करके निकल गई।लेकिन वो कुछ भी नहीं बोली.

मेरे शिश्न-मुंड के अपनी योनि के भगनासे पर हो रहे लगातार घर्षण के कारण वसुंधरा के मुंह से लगातार निकलने वाली सीत्कारों और सिसकियों में इज़ाफ़ा हो रहा था लेकिन अब मुझे इस ओर ध्यान देने की होश कहाँ थी.

मैं- आप सभी ने कपड़े नहीं पहने हैं?जीजा जी- आज हम बिना कपड़े खाना खाएंगे.

साथ ही डर भी था कि अगर सुमित भी गलती से वहां चला गया तो सारा खेल बिगड़ जायेगा. उसने मुझसे फिर से बाइक से घर छोड़ने की बात का शुक्रिया कहते हुए बात शुरू हुई. एक दिन संडे को उसका मेरे पास कॉल आया- क्या कर रहे हो?मैं बोला- कुछ नहीं … मैं फ्री हूं.

उसकी चूत में फंसा डिल्डो बहुत आकर्षक लग रहा था और चूत से रिसता लहू कौमार्य के चीरहरण की गवाही दे रहा था. फिर वो सीमा के मम्मों से सतीश का रस चाटने लगी।सीमा के मुंह में जो मेरे लंड का रस था वो भी सीमा ने मुस्कान के मम्मों पे डाल दिया. इसके बाद सर ने अपना अंगूठा निकाल लिया, मैंने देखा सर का लण्ड सिकुड़ कर छुहारे जैसा हो गया था.

मैंने चुदाई के बाद उससे बोला- जान मेरी एक ख्वाहिश है … क्या तुम मेरे लिए उसे पूरा कर सकती हो?अंशी बोली- हां बोलो क्या करना है?मैंने उससे बोला- कंडोम से पानी निकाल कर अपने हाथों में लेकर उसको जीभ से चाट सकती हो.

तभी मुझे मस्ती सूझी और मैंने दीदी के कंधों को मसाज करते हुए उनके मम्मों को दबाने लगा. तो मैंने हाथ जोड़ कर कहा- नमस्ते भाभी, कैसी हो आप?वो भी खुल कर मुस्कुरा दी- अरे नमस्ते भाई साहब, आज आपको हमारी याद कैसे आ गई?मैंने कहा- कल शीराज के फोन आया था कि उसकी बदली मुंबई की हो गई है, तो उसने मुझे हेल्प के लिए कहा था।वो मुस्कुराती हुई आगे चल पड़ी और बोली- ओह हो … तो आप आये हैं मेरी हेल्प करने!मैं उसको जाते हुये देख रहा था. अब मैं कुछ ज्यादा ही हाथ को आगे ले जाते हुए उसके बदन को मसाज देते हुए उसके चूचों को टच करने लगा था.

तो वो बोली- मैं पढ़ाई में तेरी कोई हेल्प नहीं कर सकती क्योंकि मैं खुद टीचर से चुदवा कर पास होती हूँ. मुझे भी बहुत मजा आने लगा था, वो मुझे गालियां देते हुए ज़ोर ज़ोर से गांड पर चपत मारते हुए बोला- साली तेरी जवानी तो बड़ी मस्त है. जब हम दोनों की नजर पड़ी, तब आलिया घुटने के बल बैठकर जीजा जी का लंड चूस रही थी और जीजा जी आलिया के बाल पकड़कर अपनी आंखें बंद करके सीत्कार कर रहे थे.

खैर … मेरा लम्बा लंड देखकर सुहानी डर गई और बोलने लगी- इत्ता बड़ा … ये मेरे अन्दर नहीं जा पाएगा.

नेहा रोते हुए कलप रही थी- आह … उई … आई माँ मर गई उईईई अमित … मार ही डालेगा क्या?उसकी चुत से खून का रिसाव भी हो रहा था और वो बुरी तरह रोने लगी थी. भाभी के सारे कपड़े उतारने के बाद मैंने उन्हें गले लगा लिया और एक किस की.

सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल मैंने पीछे से जाकर उसे पकड़ लिया, मेरा लंड जो उसकी गांड देख कर खड़ा हो गया था. जैसे ही मैंने उसकी पीठ पर हाथ घुमाया तो मैंने महसूस किया कि उसके कुर्ते में पीछे की तरफ चेन लगी हुई थी और उसने ब्रा नहीं पहनी थी।लेकिन सामने से देखने पर उसके बूब्स ऐसे नहीं लग रहे थे कि उसने ब्रा न पहनी हो मैंने उसकी तरफ थोड़ा आश्चर्य से देखा तो वो मुस्कुराकर मेरे सीने से लग गयी।मैंने प्यार से उसका चेहरा उठाया और उसके नर्म मुलायम होंठों का रसपान करने लगा।रोजी की साँसें तेज होने लगीं थीं.

सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल मैंने मन मार कर पढ़ना शुरू किया, पर न जाने क्यों मेरा मन पढ़ाई में नहीं लगता था. ये बोलकर वो चली गयी।फिर अगले दिन भी हम दोनों मौका देखकर स्टोर रूम में चली गयी.

उसके बाद धीरे-धीरे मैंने उसे स्पर्श करना शुरू किया और उसे गले से लगा लिया.

बाल वाली चूत सेक्सी वीडियो

उनकी ब्रा मेरे हाथ और उनकी चुचियों के बीच में बाधा बन रही थी तो उन्होंने हाथ पीछे ले जाकर अपनी ब्रा का हुक खोल दिया. मैंने अपना फोन जेब में रख लिया और दीदी मुझे सेक्सी स्माइल देने लगीं. उधर वसुंधरा का दायाँ हाथ मेरे लिंगमुण्ड को निम्बू की तरह निचोड़ने पर आमादा था.

थोड़ी देर वो इधर उधर देखते रहे और मैं खुद को और समेटे झुकी हुई अधलेटी हो गयी. वो भी हांफते हुए मुझे चोद रहा था और आह्ह … उफ्फ करके सिसकारी ले रहा था. वो नंगे बदन ही फ्रेश होने के लिए धीरे धीरे लंगड़ाते हुए बाथरूम में जाने लगी.

समीर ने एम बी ए किया है और अभी एक बड़ी कंपनी में मार्केटिंग मैंनेजर के तौर पर काम कर रहे हैं.

सिल्क के मुँह से जोर जोर से ईइ इशशश्श शश … अआआह्ह … ईइशश्श शश … अआआहह … की आवाजें निकलने लगी. मैंने कहा- तो फिर अब तक आपने खुद को ऐसे ही रोक कर रखा हुआ है?वो बोली- हां और क्या करती. अगर इस तरह से चुसेगी तो किसी भी लड़के का बीज बहुत जल्दी ही तेरे मुँह में निकल जायेगा और तू चुद नहीं पाएगी.

मेरा एक हाथ उसके चूतड़ों से होता हुआ उसकी चूत पर पहुँच गया और मैं उसकी चूत में उंगली करने लगा।रोजी सिसकारते हुए बोली- जानू ऊऊऊह ऊऊ अब जल्दी करो!मैंने भी देर करना सही नहीं समझा और उसकी पेंटी को फिर से एक तरफ करके अपना लंड धीरे धीरे उसकी चूत में डाल दिया. अब पोजीशन ऐसी थी कि लंड उसके पेट में घुसने को हो गया था इसलिए उसको दर्द हो रहा था. जिया- राज तुम्हें पैर की मसाज नहीं करवानी है?मैं- नो … मेरे पैर एकदम ठीक हैं.

उधर नीरज धीरे धीरे अपनी बहन की गांड में लंड थोड़ा-थोड़ा अन्दर बाहर करने लगा. अपनी तारीफ सुनकर मैं और मचलने लगी और परमीत ने भी दीदी की बातों के बाद अपनी हरकतों में तेजी ला दी.

अब तो बस मेरा मन, अपने लंड को स्वीटी आंटी की चुत में घुसाने को कर रहा था. जहां चाय कॉफी की केंटीन, बुक स्टाल, स्टेशनरी शॉप, जूस कार्नर, डेली नीड्स और साईबर कैफे जैसी सभी जरूरत की छोटी-बड़ी चीजें हमें हाईवे पार करने के बाद ही मिलती थीं. मैं उसके बताए हुए एड्रेस पर 10 मिनट के अन्दर पहुंच गया और उसको मैंने कॉल किया.

मैं- हटो … तुम ये कैसी बातें कर रहे हो?वो- मुझे भी पता है, तू मुझसे चुदना चाहती है, इसी लिए तो तू मुझे अपने मम्मे दिखाती है.

भैया का लंड देख कर दिव्या भी बेकाबू सी होने लगी और उसके पास जाकर उसके लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. वह भी मेरे होठों को चूस चूस कर मेरा साथ दे रही थी और कस के पकड़े हुए लेटी थी. फिर मैंने जीजा जी की बात सुनकर ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर दी और दीदी जीजा जी की ओर देखकर सेक्सी स्माइल करने लगीं.

मुझे घोड़ी बना बना कर पीछे से चोदते हैं और मेरे हिप्स पर बहुत मारते हैं।यह वह दौर था मेरी लाइफ का … जब मुझे सेक्स और भी ज्यादा अच्छा लगने लगा। मेरे दिमाग में हमेशा सेक्स ही सेक्स रहने लगा. कुछ पल बाद मैं उसके लंड पर बैठ गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मजा सा आ गया और उसका लंड अपनी चुत में फिट करके खेलने लगी.

वो बाजार गया और ममता के लिए एक सुंदर सी ड्रेस और कुछ लायेंजरी खरीद कर लाया. मैंने अपनी अलमारी से तौलिया टी-शर्ट और बरमूडा लाकर उसे दे दिया और कहा- बाहर कपड़े रख दिए हैं, बाहर आकर इसे पहन लेना, मेरे पास फिलहाल यही हैं. मैंने उससे पूछा- क्या हुआ तुमने उसे मेरा फ्लैट नंबर तो नहीं लिखा दिया.

बोलने की सेक्सी

रजत के लंड का सुपारा कत्थई रंग का हो चुका था और उसका भयानक स्वरूप देखकर ही मेरी गांड फटने लगी थी.

मैंने उनकी इच्छा को समझते हुए एक ही झटके में आधा लंड उनकी चूत में पेल दिया. इस पर मीना ने कहा कि सर हमारी कंपनी आज आपके सम्मान में एक आपको एक पर्सनल डिनर पार्टी दे रही है. मैं भी उसके लंड का टेस्ट मुंह में लेते हुए उसका लौड़ा पूरी शिद्दत से चूसता रहा.

दीदी ने मनु को सहलाते हुए कहा- शाबाश मेरी गुड़िया रानी, तुम तो बहुत बहादुर हो … पूरा डिल्डो गटक लिया, देखना अब कितना मजा आएगा … बस थोड़ा और साहस करो और साथ दो. जब मैंने उसे फोन पर सब कुछ बताया, तो उसने कहा- ठीक है मैम मैं आपके साथ हनीमून पर चलने के लिए रेडी हूँ, पर उसके ज्यादा पैसे लगेंगे. और भाभी का सेक्स वीडियोतभी मेरा ध्यान अचानक अंकल के लंड पर गया, जो बहुत छोटा सा था … लेकिन गोरा था.

उसका भी चुदाई करने का बहुत मन करने लगा था, पर साला रूम का कहीं जुगाड़ नहीं बन पा रहा था. वो सभी नाश्ता कर रहे थे, इसलिए मैं भी उन सभी के साथ ज्वाइन करके नाश्ता करने लगा.

पर अब मेरे अन्दर की शर्म की जगह सिर्फ और सिर्फ वासना थी, इसलिए मैंने भी जल्दी से थोड़ी करवट ले ली और पास लेटी मनु की चूत को चाटना चाहा. धीरे धीरे मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसको पूरी नंगी कर दिया. एक ने दिव्या को घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी गांड में लंड को रगड़ने लगा और दूसरे ने आगे से उसके मुंह में लंड को दे दिया और उसके मुंह को चोदने लगा.

फिर स्वीटी आंटी ने मुझे पीछे से मेरे कमर से होती हुई मेरे छाती पर हाथ रखा दिया और जोरों से मुझे थाम लिया. वो दीवार के सहारे हाथ रख के खड़ी हो गयी और साड़ी उठाने लगी। मैंने भी उसको थोड़ा पीछे खींचा और साड़ी को कमर के ऊपर कर दी। उसने कच्छी नहीं पहन रखी थी. मेरा ध्यान हसन पर था और पता नहीं कब रजत मेरी मालिश करते हुए मेरी जांघों तक पहुंचने लगा.

मैंने रतिजा की फोटो भी नहीं देखी थी इसलिए थोड़ा डर भी लग रहा था कि पता नहीं कौन होगी और कैसी दिखती होगी.

तभी नीरज ने भी अपना वीर्य का फव्वारा संजू के मुँह में डाल दिया, जिसे संजू पूरा पी गई. उसके मुंह से घुटी घुटी सी अजीब अजीब आवाज़ें आ रही थीं… घूं … घूं … घूं उसका पूरा बदन कसमसाने लगा था.

चित्रा दीदी सेक्सी स्माइल करके मेरे होंठों को चूमने लगीं और मैं भी दीदी के होंठों को चूमने लगा. मेरे बार-बार ऐसा प्रश्न करने से वो चिढ़ गई और उसने मैसेज कर दिया कि मुझे कुछ नहीं बताना है और आप मेरी कहानी भी मत लिखो. लेकिन जब मैंने उससे अंशी और अपने लिए उसके कमरे की बात कही, तो वो राजी हो गया.

फिर मैंने चॉकलेट खोली और उसकी एक साइड उनके मुंह में रख कर दूसरी तरफ से अपने मुंह में लेने लगा. मैं मनु के साथ लेस्बियन कर चुकी थी उसके बावजूद मैं उससे नजर नहीं मिला पा रही थी. मैं कमरे में जाने के लिए हुआ ही था कि उसने मुझे आवाज दी और बोली- क्या आप मेरे साथ अस्पताल तक चल सकोगे.

सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल अब तक की मेरी इस मस्त सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने नताशा को बिना कंडोम के चोद दिया था और वो एक गर्भ निरोधक गोली खा कर मेरे बाजू में लेट गई थी. सिल्क बोली- उफ्फ … क्या करते हो? रुको अभी!पर मैं कहाँ रुकने वाला था … मेरा दूसरा हाथ उसके सिल्की से पेट से सरकता हुआ जन्नत के दरवाज़े तक पहुंच गया और चिकनी चमेली चूत … ये क्या … चूत तो गीली हुई पड़ी थी.

हिंदी सेक्सी फिल्म mp4

इसके बाद मैंने उसके बालों के जूड़े को खोल दिया और उसे पलटा कर, उसके ऊपर आ गया. रवि से फोन पर बात की तो रवि बोला कि वो क्लाइंट के साथ ही है और उसे 11 बज जायेंगे. इससे हुआ यह कि वो मुझे अच्छा आदमी समझने लगी क्योंकि मेरी कविताएं गंभीर और प्रेरणादायक होती हैं।फिर दूसरे ही दिन मेरी कहानी का अगला भाग भी आ गया, कहानी के सारे भाग आते तक हमारी बात कम ही हो पाई। मैं भी और दूसरे पाठकों के मेल का जवाब देने में लगा रहा।तभी एक दिन उससे बात हुई.

पर अब तक हम झड़े नहीं थे क्योंकि हमने सेक्स पावर वाली गोली खाई हुई थी।फिर मैं और ऊपर गया और उनके बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही किस करते हुए चूसने लगा और मजा लेता रहा. तो मैंने सरीना की गांड से लन्ड निकाला और नीलू की टांग पकड़कर उसे उल्टा कर दिया और घोड़ी बना दिया और उसे गांड फैलाने को कहा. भाभी सेक्स व्हिडिओजब भाभी ने मेरी मम्मी से ये कहा कि वो मुझे अपने साथ ढंग से रखेंगी, उसी वक्त उन्होंने मेरी तरफ देख कर हल्की सी स्माइल पास कर दी थी.

वह चुदने के लिए अपनी दोनों चुचियों को मसल रही थी … उसी आंखें बंद थीं.

उसकी उम्र कोई 29-30 साल की होगी, लम्बा कद, रंग गोरा, मस्त चूचियाँ, जिन्हें देखते ही किसी के भी मन बेकाबू हो जाए. मीना छटपटा गयी पर चुदास इतना जोर पकड़ चुकी थी कि वो सारा दर्द भूल कर कुणाल कि एक्सप्रेस चुदाई का मजा लेने लगी.

मगर मैंने उसकी चुत की दोनों तरफ उंगलियों को फेर कर जांघ पर हथेलियों को ले जाने लगा. हमने नंबर एक्सचेंज किये और एक दूसरे को अलविदा कह कर वहां से चले गये. मैं उसके बताए हुए एड्रेस पर 10 मिनट के अन्दर पहुंच गया और उसको मैंने कॉल किया.

मुझे लड़कियों की चूत चुदाई का मजा भी आयेगा और इस तरह से मैं उनको बिना किसी डर के सेक्स का आनंद भी दे पाऊंगा.

दूसरे दिन हम दोनों ननद भाभी चाय नाश्ता करके छत पर बैठे बातें करते हुए समय पास कर रहे थे. उस लड़की की चूत से मैंने लन्ड निकाल कर उसके पेट पर अपना माल छोड़ दिया।हम दोनों झड़ गए. सर मस्त हो गए और बोले- साली रंडी … आज तेरी गांड तो पक्के में फटेगी.

सेक्सी फिल्म ब्लू दिखाओमैंने उन दोनों की बारी-बारी से चुदाई की और तीनों पूरी तरह से थककर एक दूसरे के बदन से चिपककर सो गए. असल में शाम से जब रवीना को मालूम पड़ा कि मीना ने रवीना को डिनर पर बुलाया है तो उसने इस बिजनेस डील का फायदा उठ कर 9 बजे से ही रवि को फोन करना शुरू कर दिया था.

लंगा सेक्सी बीपी

मेरे लंड को हाथ में लेकर सुरभि डर गयी और बोली- अभय … इतना मोटा लंड और लंबा लंड … मेरे पति को 4 इंच का है. दोस्तों, मैंने इतनी लड़कियों को निपटाया था, पर आज नेहा का शादी का जोड़ा हटाते हुए मेरे हाथ कांप रहे थे. परमीत ने दूसरे तरीके से बात रखी- अच्छा तो ये बताओ कि मेरा बर्थडे गिफ्ट कहां है?इस बार फिर संजय ने कहा- यही तो हैं तुम्हारा बर्थ डे गिफ्ट!इससे हम दोनों का दिमाग खराब हो चुका था.

मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से उसने लन्ड पेल दिया और घोड़ी वाले आसन में चुदाई करने लगा। मेरी कमर पकड़ कर धक्के लगाते हुए उसका लंड पूरा का पूरा मेरी चूत में जा रहा था जिसके कारण फच-फच की आवाज हो रही थी. चाची भी मेरे मुंह को अपनी चूत पे दबा रही थी और जोर जोर से आवाज निकाल रही थी- आ. परमीत और हसन, दोनों ही इस अवस्था में कुछ देर रुक गए और फिर कुछ देर में संयत होने लगे.

चूत पर हाथ फेरते फेरते उन्होंने अपनी ऊंगली मेरी चूत में डाल दी, दो चार बार उंगली अन्दर बाहर करने के बाद सर ने अपना लण्ड मेरी चूत के मुंह पर टिका दिया और मेरी कमर को मजबूती से पकड़ लिया. ये फ्रिज भाभी के मायके में उनके लिए किसी रिश्तेदार ने गिफ्ट किया हुआ था. मैंने रानी को और ज़ोर से आलिंगन में कसा और एक गुलाटी मार के मैं नीचे हो गया और रानी ऊपर आ गई.

सुबह जब मेरी नींद खुली, तो देखा कि दीदी उठकर घरेलू कपड़े पहनकर चाय बना रही थीं. मैंने दीदी को किस करते हुए लेटा दिया और फिर से अपने लंड को चुत पर सैट करके बिना देरी के घुसा दिया.

बेख़ुदी के आलम में वसुंधरा धीरे-धीरे नीचे की ओर सरक कर बिस्तर पर बैठने की मुद्रा से अधलेटी मुद्रा में हो गयी थी.

मैंने इस बार प्रियंका को उसकी बाजू से पकड़ कर अपने पास खींचा, बोला- साली इधर आ … तू ही रह गयी अब मेरे लंड से चुदने से!वो तुरंत बोली- मैं तो रोज़ आपसे ही ठुकती हूँ डियर, अब रेस्ट करो सभी!मोनू कहने लगा- देख लो यार … रेस्ट करना है तो कर लो. वीडियो ब्लू फिल्म हिंदीचुंबन का दौर शुरू के साथ ही हम दोनों में एक दूसरे के हर अंग को नाप लेने का प्रयत्न भी होने लगा. सेक्सी वीडियो प्लीज वालीएक बार मिलो तो?लड़की- पर कहां?लड़का- कल से पूजा पाठ शुरू होगा न?लड़की- हां. सच कहूं तो मैं अब जेठजी या खुद को रोकने के बिल्कुल मूड में नहीं थी.

अगर इसमें कोई भूल हो जाये तो क्षमा करिएगा।सबसे पहले में अपने बारे में बता देता हूं.

उनको ये नहीं पता था कि मैं अन्दर आ गया हूँ और उनको झांटें बनाते हुए देख रहा हूं. परमीत अपनी हर हरकत के साथ वासना की राह पर आगे तो बढ़ ही रही थी, साथ ही अपने साथ मुझे भी वासना के शिखर पर खींच रही थी. उसकी सहेली बोली- शुभम, क्या आज तुम मेरे साथ रात भर रह सकते हो?मैंने अंशी की तरफ देखा तो वो बोली- ठीक है शुभम … तुम इसके पास रुक जाओ.

” हाय … य … ! मरी … मरी … ! मैं मरी … ! सी … ई … ई … ई! … मर गयी … ! हे राम … !!!”हा … हा … हा. अहम् ब्रह्मास्मि”! मैं ही ब्रह्म हूँ, मैं ही रचियता हूँ और मैं ही शाश्वत हूँ. मेरे ऐसा करने से आशा की सांस रुकने लगी और उसकी आंखों से आंसू निकलने लगे.

सेक्सी सेक्सी ओपन करो

मुझे तकलीफ तो हो रही थी, फिर भी मैं अपने अनुभव के कारण आधा लंड चूसने में कामयाब रही. मैं- तो बस देखने में मज़ा आता है या करने का भी मन होता है?आदी- हां होता है. तभी चाची बोलीं- आज चाचा नहीं हैं, तू आज मेरे साथ सो जाना … क्योंकि रात को मुझे अकेले सोने में डर लगता है.

मतलब संजना प्रतीक्षा के दूध दबाने और चूसने लगी और संयोगिता ने प्रतीक्षा की चूत चाटना शुरू कर दिया.

उसने एक बूंद भी बाहर नहीं गिरने दी, सारा वीर्य पी गयी और मेरे लंड को चूस कर साफ़ कर दिया.

मैंने उसको ये बात बताई और फिर हमारी मीटिंग एक शॉपिंग मॉल में मिलने के लिए फिक्स हुई. रानी जितना लैपटॉप के स्क्रीन पर सुन्दर दिखती थी असल में उससे कहीं ज़्यादा सुन्दर थी. कुंवारी लड़कियों की सेक्सी वीडियोताकि वो पैंट के अंदर ही हिलता रहे और ज़ायरा बड़े अच्छे से उसको देख ले.

कोई है तोड़ ऐसी शराब का?इसके बाद मैं गुड्डी की गोदी में बैठ गया और इसी तरह से शैम्पेन पीने लगा. तभी चित्रा ने मेरे लंड पर हाथ रखा और मेरी ओर देखकर सेक्सी स्माइल करने लगी. कोई खाली स्लीपर मिल सकता हैं क्या?चूंकि आधा सफर हो चुका था तो कुछ सवारी रास्ते में उतर चुकी थी.

मेरे द्वारा पूर्व में लिखी सत्य घटना पर आधारित सेक्स कहानीपतिव्रता बीवी की चुदाई गैर मर्द से करवाने की तमन्नाको सभी लोगों ने सराहा. तभी एकदम से पता नहीं चाची को क्या हुआ … वो मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरे सारे कपड़े उतार दिए.

मैंने करीब 15 मिनट तक इस तरह से ही किस किया, तो आंटी ने कहा- अब बस कर दे ना … क्या चूमता ही रहेगा.

आकाश- सुन ले राज … हमें भी हनीमून में बुला लेना … हम भी तेरी बीवी को चोदने में तेरा साथ देंगे. कुछ दिन बाद रोजी ने मिलने के लिए कहा तो मैंने कहा- चलो मूवी देख लेते हैं, मेरे कमरे पर नहीं मिल सकते. मैंने भी उसके बाल पकड़ कर उसके मुँह को जोर जोर से चोदना चालू कर दिया.

bf विडियो मैंने उससे मिलने के लिए बोला तो उसने हां लिख कर बोला- मैं टाइम निकाल कर प्लान बनाती हूँ. फिर मैंने उन्हें अपनी गोद में उठा लिया तो आंटी बोली- कहाँ ले जा रहे हो?मैंने कहा- तुम्हारे बेड पर जिस पे तुम अपने पति से चुदती हो!और मैंने आंटी को ले जाकर बेड पे लिटा दिया.

दो मिनट बाद वो उठी और हैरानी से अपने भाई का खड़ा लंड महसूस करते हुए बोली- भैया, आपका नहीं हुआ?नीरज ने कहा- नहीं. उन्होंने मेरे मम्मों से अपने हाथ हटा लिए और अपने होंठों को मेरे चेहरे पर लाकर मेरे पूरे चेहरे को जोर जोर से चूमने लगे. और मैंने सासु माँ की नाईटी गले से पकड़ी और फाड़ने लगा।नाईटी का पतला कपड़ा मेरे ज़रा से ज़ोर लगाने से ही फट गया.

आपको सेक्सी फिल्म

आकाश- मतलब?नीरज- जिया बोल रही थी कि जब आपने उसकी गांड मारते समय जितना दर्द दिया था, उतना दर्द वो रात को मुझे देगी. सिल्क ने मुझे जोर से बाँहों में जकड़ के अपना रस मेरे लण्ड पे छोड़ दिया. मैंने वसुंधरा के दोनों हाथ उसके सर के आजु-बाज़ू टिका कर अपनी दोनों कलाइयों से दबा लिए और खुद अपना ज्यादातर वज़न कोहनियों पर कर लिया और अपने लिंग को पूरा वसुंधरा की योनि से बाहर निकाल कर, योनि के भगनासा को अपने शिश्नमुंड से रगड़ देता हुआ वापिस वसुंधरा की योनि में उतारने लगा.

हालांकि प्रिविलेज कुणाल का था, पर रवि को भी बहती गंगा में हाथ धोने का मौका मिल रहा था. मगर एक दिन मैंने सोच लिया कि अगर मैं इसके साथ आगे बढूंगा तो इसको सब कुछ सच बताने के बाद ही.

हम चारों भी सिर्फ निक्कर में थे, इसलिए उन चारों को ऐसा लगा कि हम उनकी चुदाई करेंगे.

वो सभी हमें देखकर मजे कर रहे थे और इधर मैं जिया को बड़ी तेजी से पेल रहा था. मेरी पिछली सेक्स कहानीमैच्योर औरत के साथ पहली चूत चुदाईआप लोगों को बहुत पसंद आयी और आप लोगों के मुझे बहुत सारे ईमेल आए. मैंने बिना रुके उसकी चूत में लंड को आगे सरकाना जारी रखा और धीरे धीरे लिंग को आगे पीछे करता हुआ उसकी चूत में पूरा फिट कर दिया.

कहानी के पिछले भाग में मैंने बताया कि जिम में सुबह के समय एक लड़की आती थी. मैं भी अर्धसम्मोहित सा वसुंधरा के पसीने से लथपथ अर्ध-बेहोश जिस्म पर ढह गया. मेरी फैंटेसी भरी सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी? आपकी मेल का स्वागत है.

मुझे दीवार से लगा कर मेरे होंठों को उसने अपने होंठों से चूसना शुरू कर दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ जंगल: फिर उसे डॉगी पोज में लाकर पीछे से अपना लंड उसकी चूत में घुसा दिया और ताबड़तोड़ चोदने लगा. Teacher Gand Sexमैं घुटी सी आवाज में बोले जा रही थी- प्लीज निकालो … मैं मर जाऊँगी … प्लीज निकाल लो.

गांड चुदाई का नाम सुनते ही वो गुस्सा हो गई और बोली- अपनी हद में रहो. बीच बीच में उसकी गांड से लंड को निकाल कर मैं उसकी गांड को चाट भी रहा था. ये फ्रिज भाभी के मायके में उनके लिए किसी रिश्तेदार ने गिफ्ट किया हुआ था.

वो बोली- हां मेरे राजा, चोद दे … मिटा दे इसकी खुजली अपने मोटे लंड से.

मैंने आंखें खोलीं, तो देखा नीरज मेरी बीवी या यूं कहूँ कि अपनी बहन, जो कि गहरी निद्रा में सोई हुई थी, के पास आ गया था. अब उसकी चुत बहुत ज्यादा चिकनी हो गयी थी, जिससे मेरा लंड बड़ी आसानी से अन्दर बाहर हो रहा था. मैंने सुहास का लंड अपने हाथ में ले लिया और उसे अपने गुलाबी होंठों से किस किया.