बीएफ खून वाला

छवि स्रोत,ओमनी एचडी डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

ओडिशा सेक्सी वीडियो: बीएफ खून वाला, वो नर्स सेक्स के मजे में बोली- राज, तुम मस्त चोदते हो! पहले भी किसी लड़की को चोद चुका है क्या?मैंने जोर का धक्का लगाया और कहा- मैं चुदाई का दीवाना हूं और बहुत औरतों लड़कियों को चोदा है।अब तक हम दोनों पसीने में पूरे भीग चुके थे।मैंने उसे उठाकर टेबल पर लिटा दिया और खड़ा हो कर उसकी चूत में लन्ड घुसा दिया और चोदने लगा.

लड़कियों की चूची

बाहर आ कर मैंने हवलदार से हाथ मिलाया और उनको कहा- आप जाओ, ये दुबारा पार्क में नहीं बैठेंगे. यूपी पोर्न वीडियोमेरा लंड पूरी तरह फ़नफना रहा था।मैंने मोनिका को अपने से लिपटाया और उसका एक पैर उठा कर लंड उनकी पुद्दी में डाल दिया।वो बस सहम कर रह गई।धीरे धीरे मैंने अपनी रफ्तार तेज की और अब उसे भी ज्यादा तकलीफ नहीं हो रही थी।वो भी बस मजे ले रही थी।काफी देर तक मैंने उसे चोदा.

हालांकि मेरे मन में दुविधा की एक कड़ी सी अभी भी बनी थी कि ये एक समलैंगिक रिश्ता था. बोसी कैसी होती हैमैं कहने लगी- छोड़ो जीजू … प्लीज मुझे छोड़ दो।जीजू ने एक नहीं सुनी और मेरी लोवर उतार दी.

इसलिए छोटे छोटे रोएं जितने बाल थे।वह मेरी चूत को खोलकर देखने लगा और एक उंगली से कुरेदने लगा.बीएफ खून वाला: मैंने बोला- जिस रेजर से मेरी शेव की है, मुझे वो वाला ही रेज़र दो, उसी से करूंगी.

मैंने अपने होंठों को उसके होंठों पर रख दिए और उसके होंठों को स्मूच करने लगा.एक दिन छोड़ कर पट्टी बदली जायेंगी।अब हर दूसरे दिन भैया के साथ बाइक पर मैं पट्टी कराने जाती थी.

सील तोड़ने वाली सेक्स - बीएफ खून वाला

मैंने बिना देर किए उसकी चूत में जैसे ही लंड डाला, वो ‘उम्म उम्म आह.जाने दो।रमेश- जाने कैसे दूं?रति- जानू प्लीज … तुम्हें मेरी कसम।रमेश रुक गया.

अब हम दोनों ऐसे ही नंगे लेट गए।कुछ देर के बाद मैंने फिर से दीदी को अपने ऊपर खींच लिया. बीएफ खून वाला एक दिन भाभी के पति और सास-ससुर किसी काम के सिलसिले से कहीं गए हुए थे.

फिर कुछ देर बाद जैसे ही वॉशरूम से वो आई तो बिल्कुल कयामत लग रही थी.

बीएफ खून वाला?

वह अमन के माता पिता के साथ मेरठ में रहती है क्योंकि अभी शादी नई नई शादी हुई है. धीरे धीरे गांड को चूसते हुए मैंने एक उंगली मामी की गांड में डाल दी. हेल्प करते हुए हमारे हाथ और बदन कई बार आपस में टकराते रहे और हम एक दूसरे का साथ पाकर रोमांचित होते रहे.

फ्रेंड्स … ये जो 18 साल से 20 साल तक की उम्र होती हैं ना … ये कमाल की होती है. फिर उसने पैंटी को पूरी नीचे कर दिया और उसकी रसीली सी चूत मेरी आंखों के सामने नंगी हो गयी. मेरे लौड़े ने मेरी लोअर से बाहर आने की बगावत शुरू कर दी थी।जल्दी ही आप देखेंगे कि उसके बाद दीपिका और मैं दोनों कैसे गर्म हुए.

हम दोनों ही बेड पर एक दूसरे को किस कर रहे थे और धीरे-धीरे दोनों पर सेक्स सवार हो रहा था. पापा का लंड बहुत बड़ा था और मम्मी के पीछे से बहुत तेजी से मम्मी की चुत में आगे पीछे हो रहा था. एक-दो बार जीजू बोले- साली जी तुम्हारी सील मैं एक झटके में तोड़ दूँगा।एक दिन की बात है कि सुबह जीजू ऑफिस जा चुके थे और दीदी को बैंक का कुछ काम था इसलिए दीदी बैंक चली गयी थी.

मैंने आँटी की टांगों को चौड़ा करके थोड़ा मोड़ा और लण्ड को अंदर डाल दिया. अनामिका- जीजू … वो कैसे! और तुझे उनसे चुद कर क्या सच में मजा आया?प्रियंका- देख ज्यादा डिटेल न पूछ … मतलब की बात यह है कि मुझे तो बहुत मजा आया.

मेरे शरीर में कोई भी ऐसी जगह नहीं बची थी, जिस पर सनी ने अपने लंड से प्रहार न किया हो और स्पर्म न छोड़ा हो.

कुछ पल बाद मैंने एक हाथ उनकी पज़ामी में डाल दिया और उनकी चुत को टटोलने की कोशिश करने लगा.

मामी मुझे देख बोलीं- राहुल इतने उतावले क्यों हो रहे हो … क्या मैं कहीं भागी जा रही हूँ!मैंने कुछ नहीं सुना और उन्हें उठा कर अपने कमरे में ले आया. विजय ने मुझे अपनी गोद में से उतारा और मुझे पलंग पर दुबारा लिटा दिया. लैपटॉप लाने के लिए वो जैसे ही पलटी, मेरी नजर उसकी मचलती गांड पर पड़ी, क्या मस्त माल थी वो.

क्या हुआ क्या है? तूने ही किया है ये!”ममता जी ने मेरी तरफ देखते हुए कहा. गीतिका की केले के तने जैसी गौरी मोटी और चिकनी टांगें प्लाजो में से निकल आई. अभिषेक ने मेरी सहेली को पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और एक बहुत तगड़ा वाला स्मूच किस करने लगा.

मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके होठों पर लंड फिराने लगा वो गप से लंड अंदर ले गई और लोलीपोप के जैसे चूसने लगी।अब मैंने उसे बिस्तर में घोड़ी बनाया और अपना लौड़ा उसकी मखमली चूत में घुसा दिया और तेज़ तेज़ झटकों से चोदने लगा.

भाभी- उन्हह … मार ही डालोगे क्या संजय … मैं कांप रही हूँ … मुझे ऐसा लग रहा है … जैसे ये सब आज मैं पहली बार कर रही हूँ … लव यू संजय … आह खा जाओ मुझे आज. ये कहकर हम दोनों ही हंसने लगे, क्योंकि लॉकडाउन में फंसे होने के कारण ख्वाहिशें तो पूरी करनी ही थी. मुझे भी अच्छा लग रहा था क्योंकि पीछे वाला लड़का भी अब मेरे चूतड़ों को धक्का लगा रहा था.

फिर मैं और शिवम अपनी टांगें फैलाये इस तरह सट कर बैठे कि हमारे लिंग आपस में सट गये। एक-एक टांग हमें इस पोजीशन के लिये एक दूसरे पर चढ़ानी पड़ी थी और अपने हाथों को पीछे टिका कर इतना गैप बनाना पड़ा था कि बीच में वह फिट हो सके।उसने इशारा समझ लिया और शिवम की तरफ चेहरा किये, दोनों पैर इधर-उधर रखती इस तरह बीच में आई कि शिवम का लिंग उसकी योनि पर टिका और मेरा उसके गुदा द्वार पर. नेहा की बात से हम तीनों थोड़ा सीरियस से हुए और संजय रुक गया और मैंने कहा- बेड पर चलो. अगले रोज दोपहर को दीपिका का फोन आया- राज जी, आप आज दफ़्तर से जल्दी आ जाना, शाम को आपको डिनर पर बुलाने घोष बाबू को भेजूंगी, मना मत कीजिएगा.

फिर यूं उसके उठे हुए चूतड़ों के पीछे रोहित आ गया और उसने हिना के पीछे खाली पड़े गुदा द्वार में अपना लिंग घुसा दिया। दो-दो मोटे लिंग से उसके छेद भर गये।वे दोनों अब अलग-अलग रिदम में कमर चलाते उसे चोदने लगे।मेरे लिये उसका मुंह बचा था तो मैं उसके मुंह की तरफ आ गया और उसने बड़ी सहजता से मेरे लिंग को मुंह में ले लिया.

इस सेक्सी चालू औरत की चुदाई कहानी के अगले भागों में आपको मेरी मोटे लंड से चुदाई की कहानी का मजा मिलना शुरू हो जाएगा. अनीता बोली- अभी पहले मैं दो घंटे नींद लूंगी, तुम बच्चों को तैयार करके स्कूल भेज देना … और हां स्कूल छोड़ कर आते समय, फूफाजी के लिए व्हिस्की की चार पांच बोतलें अलग अलग ब्रांड की लेते आना.

बीएफ खून वाला मैंने गीतिका की चूत के पास वाली गोरी जाँघ को आपने दाँतों में भर कर पहले चूसा और फिर काट लिया. दिल्ली सेक्स चैट की इस दिलकश हसीना, हॉट सेक्सी वेबकैम मॉडलमेघा से बात करने के लिए आप इस लिंकपर क्लिक कर सकते हैं.

बीएफ खून वाला शायरा की भीगी हुई पैंटी देखकर उसकी चुत की महक लेने के लिए अपने आप ही मेरा सिर उसकी जांघों के बीच झुक गया. निशु का शरीर एकदम चिकना था और उसकी स्किन बहुत ही मुलायम मालूम पड़ रही थी.

काफ़ी देर ऐसे ही खेलने के बाद कविता ने मेरे गालों को चाटना शुरू कर दिया और धीरे धीरे गले से सीने पर उठे हुए मेरे स्तनों तक जाने लगी.

नंगा सेक्स पिक्चर

उनकी तनी हुई चूचियां कहीं से भी उनकी उम्र की चुगली नहीं कर रही थीं. यदि आप लोगों को मेरी पूरी दास्तान जाननी है, तो आप लोगों मेरी पिछली सेक्स कहानीबिजनेस बचाने के लिए अफ्रीकन लंड से चुद गयीको जरूर पढ़ें. भाभी- उन्हह … मार ही डालोगे क्या संजय … मैं कांप रही हूँ … मुझे ऐसा लग रहा है … जैसे ये सब आज मैं पहली बार कर रही हूँ … लव यू संजय … आह खा जाओ मुझे आज.

वो लड़की- चल अब देर क्यों कर रही है … नहीं तो बस निकल जाएगी और बारिश भी आने वाली है. जैसे चाहे करो। वह जोश में थरथराते हुए बोली।तुम्हारे दोनों छेद अच्छी तरह गीले और चिकना चुके हैं, अब तुम खुद से हमारे सामान गीले कर के अंदर घुसाओ ताकि अपने हिसाब से एडजस्ट कर सको। डरना मत. मैं इन अहसासों में खोया हुआ स्टेज के समीप पहुंचा, तो मेरी दीवानगी ने अपना रूख बदल लिया.

अच्छा भाभी यह बताओ कि भैया का लंड कितना बड़ा है?”भाभी कहने लगी- बस इस खीरे जितना ही है.

इसलिए उनको ऐसी पैंटी के साथ ये सब करना होता है जो नीचे से पतली हो और उनका लंड उसमें फंस जाये. मेरा मन लालच से भर गया और मैं उसे चाट लेने को झुकी, पर कविता ने मुझे रोक लिया. उन्होंने आखिरी दो तीन झटके में अपना सारा पानी मेरी गांड में निकाल दिया; जिसे मैंने महसूस किया.

लाइनर यानि काजल, लाल लिपस्टिक, नेलपॉलिश, फ़ेस पाउडर वगैरह सब लगा कर अच्छे से सेक्सी मेकअप करके तैयार हो गयी. इतने में छोटी चाची ने मेरे लंड के सुपारे को अपनी जुबान से चाटना शुरू कर दिया. तो मैंने कहा- रो मत … किसी चीज़ की जरूरत हो तो मुझे बोलना … और आज के बाद रोई, तो मैं तुमसे कभी बात नहीं करूंगा.

और जैसे ही उसका पानी आने वाला था, मैंने उसका लौड़ा अपने सिर पर रख दिया और उसने अपने लौड़े को हाथ से पकड़ कर एक तेज धार से मेरी मांग को अपने वीर्य से भर दिया. मेरा माल अब गिरने वाला था … मैंने उनसे बिना पूछे ही अपना माल उनकी चुत में भर दिया और हम दोनों हांफने लगे.

आपरेशन करा दो तो सही रहेगा।सबकी बातें सुनकर मेरा दिमाग खराब हो रहा था मेरी कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूँ।दोस्तो, आप लोग सोच रहे होंगे कि क्या वहाँ पर कोई नर्स महिला डाक्टर नहीं थी. मैं- देखो इस समय तो वो घर पर है नहीं, अगर तुम‌ चाहो, तो ये कोरियर मुझे दे सकते हो, मैं उनको दे दूंगा. संजय ने बिना देर किये गीत के आगे होकर उसकी चूत में अपना लंड डाल दिया और अब गीत को थोड़ा ऊपर को करके संजय गीत को चोदने में लग गया.

संजय लेट गया और संजय के लेटते ही गीत संजय की तरफ मुंह करके उसके लंड पर अपनी चूत रख कर बैठ गयी.

फिर मैडम मुझे किस करती हुई नीचे बैठ गईं और मेरे लंड पर किस करती हुई बोलीं- अब मेरे मुँह में जाने की इसकी बारी है … लेकिन अभी नहीं. मैंने आँटी की चूचियों को अपने मुँह में लिया और उन्हें चूसने, काटने लगा साथ ही उनके चूत के क्लीटोरियस पर ऊँगली अंगूठा चलाने लगा. एक बार तो रश्मि ने अपनी चूत से मेरी टुड्डी को भी रगड़ दिया और मेरे मुँह पर बैठ गयी.

अगर आप ऐसा करने में कामयाब हुए, तो आपकी ज़िंदगी और रिश्ते में बहुत सुधार होंगे. उनकी साड़ी नाभि दर्शना थी और उन्होंने बहुत गहरे गले का बिना आस्तीन का ब्लाउज पहना हुआ था.

अब मैं मायूस भी होने लगी और सेक्स के लिए उतावली भी!क्योंकि सूरज हर बार मुझे गर्म करके छोड़ देता था. उसकी सहेली ही हम दोनों की मदद किया करती है।दोस्तो, आज 2020 आ गया और हम दोनों को मिले 5 साल पूरे हो गए हैं।आज भी हम दोनों का रिश्ता यू ही चल रहा है. स्तन में जो भी परेशानी होगी अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट में पता चल जायेगा.

एचडी सेक्सी वीडियो गाना

अगले 3 दिन और 3 रात में विजय के घर पर ही उसके साथ ही पूरे दिन नंगी ही रही.

आँटी मुझसे कहने लगी- अच्छा देखूं तो मेरी पशुशाला के भैंसा का हथियार कैसा है?और यह कहते हुए उन्होंने मेरे पैंट में तने हुए लंड पर हाथ फिरा दिया. भाभी ने कहा- दादी भूल जाओ इस बात को और जो मैं कह रही हूँ उसको ध्यान से सुनो और इसकी शादी जल्दी से जल्दी कर दो. मैं बहुत ज़ोर ज़ोर से धक्के मार रहा था और वो भी फिर से अपनी चुदाई का पूरा मज़ा लेने लगी थीं.

फिर भी मेरे मोटे लवड़े के जोरदार प्रहार से भाभी दहल गई थीं और मेरी कमर को अपने हाथ से रोक कर मुझे अपने दर्द का अहसास करवा दिया था. मैंने गीतिका से पूछा- तुम्हारे हसबैंड का लण्ड कितना बड़ा है? और तुम्हारी सेक्स लाइफ कैसी है?गीतिका कहने लगी- यदि मेरे हसबैंड का लण्ड किसी काम का होता या मेरी सेक्स लाइफ रंगीन होती, तो क्या तुम्हें मेरी चूत इतनी साफ और चमकीली मिलती? मेरे हसबैंड का लण्ड नहीं है, उसकी तो लुल्ली है और वह भी मौके पर काम नहीं आती. तिरंगा फिल्म दिखाओतो सुबह मैंने देख लिया वरना पता ही नहीं लगता कि क्या बैंड बजा था रात को मेरी गांड का.

जब अनामिका की चूत जब तीन उंगलियां आराम से अन्दर लेने लगी … तो प्रियंका ने साथ में अपना मुँह भी चुत में लगा दिया. वो दोनों अपने अपने बैग ले आए और मेकअप का सामान निकाल कर बिस्तर पर रखने लगे.

उसके बाद निशु ने मुझे और रोहन को सेक्स बढ़ाने वाली गोली दी और बोला- लो ये गोली खा लो. मैंने पूछा- आपके पास सबूत है कोई?पुलिस- इन लेडीज़ ने देखा था और फोन करके हमें बुलाया है. दीपिका की जांघों और उसके स्तनों को टॉप में उठा देख कर मेरा हथियार मेरी लोअर में उभार ले चुका था.

तो मैंने कहा- दादी यह तो बहुत छोटी है?दादी- नहीं, छोटी नहीं है, यही उम्र होती है ब्याने और दूध देने की!और दादी यह कहकर उठकर चली गई. इस पर वो मादक आवाज में बोलीं- साले, मुझे आंटी मत बोल … मुझे अपनी सविता रखैल बोल … क्योंकि मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है तेरे लंड से चुदने में … आह मैं अब हमेशा ही तुम्ह़ारे लंड से चुदना चाहती हूँ. वो मेरी बात पर हां कहती हुई मेरे साथ लेटने के लिए आ गयी और बिस्तर पर एक किनारे सो गयी.

अब तू खुद ही बता तुझे क्या सेक्सी गाने सुनना अच्छे नहीं लगते! तूने भी ब्लू फिल्म तो देखी है, भले ही एक दो बार देखी है.

अर्चना कटे पेड़ की तरह मुँह के बल गिर गई और मैं नंगा ही उसके ऊपर पड़ा अगल बगल का नजारा देखने लगा. ”ना … बाबा … ना … आप तो रहने ही दो … अब दुबारा मैं आपकी बातों में अब नहीं आने वाली.

एक-दो बार जीजू बोले- साली जी तुम्हारी सील मैं एक झटके में तोड़ दूँगा।एक दिन की बात है कि सुबह जीजू ऑफिस जा चुके थे और दीदी को बैंक का कुछ काम था इसलिए दीदी बैंक चली गयी थी. [emailprotected]भाभी का सेक्स कहानी का अगला भाग:भाभी का सेक्स करने का मन था-2. उसने अपनी गर्दन को पीछे करके अपने गाल मेरे गालों से लगा दिए और लंबी लंबी साँसें लेने लगी.

इस लॉकडाउन में जब भी मौका मिलता, तो हम दोनों एक दूसरे के अन्दर समा जाने के लिए बेताब हो जाते. कुछ देर बाद मैंने दीदी को वीडियो कॉल किया ताकि उन्हें नंगी देख कर लंड हिला लूंगा … लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव ही नहीं किया. खैर, मैं दवाइयाँ लेने नीचे गयी तो खिड़की पर बहुत सारे लोग खड़े थे क्योंकि हसपताल के अंदर वो एक ही स्टोर था और आस पास भी कोई स्टोर नहीं था.

बीएफ खून वाला दर्द हो रहा था मुझे चूत में और मेरे मुंह से निकल रहा था- छोड़ दो … अब बस … ओह्ह … प्लीज रुका जाओ. पर कमरे में मेरे कानों में पहले और अभी की कराह और मादक सिसकियां गूंज रही थीं, जो मुझे बेचैन किए जा रही थीं.

सनी लियोन की सेक्सी चुदाई

अपनी टांगों से दादी ने मेरी कमर को जकड़ लिया और वीर्य की आखिरी बूंद टपक जाने के बाद छोड़ा. मेरी बाइक स्पोर्ट्स बाइक थी, तो इस पर पैर एक साइड करके बैठना सम्भव नहीं था. खैर … स्कूटी में ज्यादा दिक्कत नहीं थी, बस स्पार्क प्लग में ही कुछ दिक्कत थी.

वो भी मुझसे बात करके खुश थी और मुझसे बात करने में इंट्रेस्टेड भी लग रही थी. आप मेरी ईमेल पर भी मैसेज कर सकते हैं और नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं. एक्सीडेंट सेक्स वीडियोमैंने भावना की पेंटी एक तरफ सरका दी और पहले एक उंगली से नीचे से ऊपर तक सहलाया, फिर उसे जी भरके निहारा और आंखों को ठंडक पहुंचाई.

मैंने भाभी के चूतड़ों पर अपना गाल फिराया और उन्हें चूसना शुरू कर दिया.

उसने अपने चूतड़ों को दोनों हाथों से फैला लिया और अपनी गांड का काला छेद दिखा दिया. पर फिर सूरज ने अपने हाथ मेरे गालों से हटा कर मेरी छाती पर ले आया और मेरे स्तनों को बेरहमी से भींचने लगा.

आज रात तक वैभव और उसका परिवार उस होटल (दूसरा होटल, जहाँ उन्हें ठहराया जा रहा था) में आ जायेंगे. फिर उन्होंने मुझे बिस्तर से ऊपर खड़ा कर दिया और मुझे पकड़ कर दीवार के सहारे टिका दिया. और मुझे शमा से कोई डर न रहे कि वो मेरा राज़ किसी और के पास खोल देगी.

मैंने पूछा- क्या है ये?बड़ी चाची ने कहा कि तुम अभी नए हो और जवान भी … और हम दो हैं.

साली जी की झांटें कुतरी हुई छोटी छोटी सी थीं, नाखून बराबर छोटी छोटी सघन झांटें मेरे होंठो में चुभ रहीं थीं पर उस चुभन में भी मज़ा था. प्लीज़ आप लोग उदास ना हों और मेरे नाम की मुठ मार लें … और जहां आपका दिल करे, वहीं अपने लंड का स्पर्म डाल दें. अगले दिन सुबह मैं उठा ही था कि मेरी नजर‌ नीचे गिरी हुई शायरा के कोरियर के साथ लगी उस चिट्ठी पर पड़ गयी जोकि कोरियर के साथ आई थी.

सेक्स होटलउसके मुख से मस्त कामुक आवाजें निकल रही थीं- आह्ह मानव … ओह्ह … मानव … चोद दो … आह्ह … आई लव यू मानव … और जोर से … उईई … आह्ह … ओह्ह … यस … आह्ह चोदो … चोदते रहो. मतलब उस दिन मैं घर पर अकेली थी।सुबह-सुबह मम्मी ने मुझे फोन किया और कहा- आज अस्पताल जाकर डाक्टर से एक बार चैक करवा लेना!मैंने मना कर दिया.

ইংলিশ সেক্সি বিপি

भाभी दर्द दबाते हुए बोलीं- आह मेरी जान … तुमने तो मुझे मार ही दिया. लंड की भूखी ये चुदक्कड़ बीवी अपने पति के लिए कोई भी सबूत नहीं छोड़ना चाहती है कि वो किसी और के पास चुदकर आई है. मैंने भाभी से कहा कि मेरी जान आपको थोड़ा सा दर्द होगा … झेल लोगी न?भाभी ने कहा- मेरी जान, तुम्हारे लिए मैं कुछ भी कर सकती हूं.

उन्होंने बोला- कोई बात नहीं … गर्मी का मौसम है … फिर से नहा लेते हैं. फिर मैंने उसके दोनों होंठों को चूस कर उसकी जीभ को भी चूस लिया जिससे हमारी किस और जबरदस्त हो गयी. उसने अगले ही पल खड़े होकर पेंटी निकाल फैंकी और अकड़ कर मुँह चिढ़ाते लंड पर बैठ गई.

चूचुकों के घेराव की वृहदता भावना के परिपक्व होने की गाथा का बखान कर रहा था. इंडियन हनीमून सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने चोदू यार के साथ मसूरी में हनीमून मना रही थी. अनामिका- जीजू … वो कैसे! और तुझे उनसे चुद कर क्या सच में मजा आया?प्रियंका- देख ज्यादा डिटेल न पूछ … मतलब की बात यह है कि मुझे तो बहुत मजा आया.

फिर निशु वहीं रूम में कुर्सी पर बैठ गया और बॉडी पर क्रीम लगाने लगा. दोनों अपने हाथों से अपने चुचे मेरे मुँह में घुसेड़ रही थीं और गालियां दे रही थीं.

रॉनी भी मादक सिसकारियां लेने लगा- आहह अह ओह मज़ा आ गया जान आअहह … बस मेरा होने वाला है.

डाक्टर और कंपाउंडर भी कभी-कभी कुछ बातें मज़ाक में बोल देते थे।दोस्तो, इस सबमें लगभग एक महीना लग गया. छोड़ा छोड़ि सेक्स वीडियोतुम्हारे भाई आकर तुम्हें ले जाएंगे क्योंकि उनका घर रानीखेत में है इसलिए तुम्हारी छुट्टी भी हो जाएगी और तुम्हें रेस्ट भी मिल जाएगा. फास्ट नाइटमैं- ठीक है, जरूर, लेकिन क्या मैं जान सकता हूं कि आप इनको वापस क्यों करना चाहती हैं?मेघा शर्म से चेहरा लाल होती हुई- आप नहीं समझोगे. उसने ब्लैक जींस और सफेद शर्ट पहनी हुई थी, जिसके आगे के दो बटन खुले हुए थे.

जिस भी भाभी की चुदाई मैंने आज तक की है वो ही मुझसे खुश होकर गयी है और आज तक भी मुझे याद करती रहती है.

मामी को भी अपनी गांड में गर्म गर्म वीर्य मिला तो उनकी गांड की सिकाई हो गई. अब मैं झड़ने वाला था, तो मैं रूक गया क्योंकि मैं उसके अन्दर नहीं झड़ना चाहता था. अर्चना कटे पेड़ की तरह मुँह के बल गिर गई और मैं नंगा ही उसके ऊपर पड़ा अगल बगल का नजारा देखने लगा.

बाकी का बचा हुआ वीर्य आंटी के पटों पर बहते हुए फर्श के ऊपर टपकने लगा जिससे आँटी के सुंदर सेंडिल लिबड़ गए. भाभी ने मुझे देखते ही अपनी बांहें फैला दी, मैंने भाग कर भाभी के कोमल जिस्म को बांहों में भर कर उठा लिया और कई देर तक नीचे नहीं उतारा. जब शमा जाने लगी, तो मैंने उसे बुलाया- अरे शमा बात सुन!वो मेरे पास आई- जी दीदी.

भैया भाभी की चुदाई

इस गर्म चूत में मैं अब ये डिल्डो एक दो धक्कों में ही अंदर ले सकती हूं. मैं जैसे बिन पानी मछली की तरह तड़पने लगी और बोली- मादरचोदो, आओ … आकर मेरी चुदाई करो. मैं बिन्दू की पतली नाइलोन की निक्कर के अंदर हाथ डालकर उसकी चूत को सहलाने लगा.

उनके मम्मे बहुत बड़े थे और उनकी गांड को लेकर तो क्या बोलूं … आह एकदम मस्त … मानो दो खरबूजे फिट हों.

मैंने आह करते हुए कहा- आह श्यामू … ये क्या कर रहा है?वो बोला- मालकिन अपनी जीभ से आपके ज्वालामुखी के मुँह की मालिश कर रहा हूँ.

हम कुछ देर इधर उधर की बातें करते रहे और एक दूसरे के शरीर और अंगों पर हाथ फिराते रहे. उसने अगले ही पल खड़े होकर पेंटी निकाल फैंकी और अकड़ कर मुँह चिढ़ाते लंड पर बैठ गई. एमपी ब्लू फिल्मशायरा को भी इस बात का अहसास था इसलिए उसने अब अपने दुपट्टे को सही से करके अपनी चूचियों को छुपा लिया.

फिर उसने मुझे उसी स्ट्रेचर पर घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड को चूत में डालकर चोदने लगा. एक दिन बात करते करते गुड्डी ने कहा- मैं आज रोहतक आ रही हूँ … तुम भी आ जाना. उसकी चूचियों को पीते हुए रवि ने रिया की पैंटी को खींच दिया और उसे बेड पर झुका लिया.

इसी तरह बारी-बारी दोनों स्तनों को काफी देर चूसने के बाद मैं उसके पेट और नाभि को चूमने चूसने लगी. mp3मेरी गांड से बहुत ही गंदी आवाजें आ रही थी- फोचच चच फोचच्च्च!उनका हर एक धक्का किसी हथोड़े की तरह मेरे चूतड़ों पर लग रहा था।वो झुक कर मेरे गालों को चूमते हुए मेरी गांड चोदे जा रहे थे।करीब 15 मिनट की चुदाई करने के बाद उन्होंने अपना सारा माल मेरी गांड में भर दिया।उनके लंड निकालने के बाद ऐसा लग रहा था कि मेरा छेद खुला ही है.

दीदी की शादी के बाद घर का ज्यादातर काम मैं ही करती थी इसलिए मुझे घर का सारा काम आता है.

मैंने भी उसे बांहों में जकड़ते हुए कहा- क्यों साली साहिबा … बहुत जल्दी चुदाई शुरू कर दी. मैंने अनीता के बाल खींच कर उसे अपने ऊपर खींचा और बोला- यार, सर दर्द कर रहा है. तो मैंने सबसे पहले प्रवीण का लंड अपने मुंह में ले लिया और उसे चूसना शुरू कर दिया.

मेरा लैंड खड़ा नहीं होता है तो शाही सर ने पहले मुझे बाथरूम में ले जाकर मेरी चूत मम्मे और मुँह धुलवाए और उसके बाद फिर वहीं ला कर मुझे पहले तो खूब प्यार किया, खूब चूमा चाटा. अनु खिलखिला कर हंस पड़ी- वाह फूफाजी … बस इतना छोटा सा काम … और आप इतने डरते हुए बोल रहे थे.

एक दिन अंकल के दोस्त आये तो …यह कहानी लड़की की आवाज में सुन कर मजा लें. मैं उसकी आंखों को, होंठों को चूमते हुए बोला- आज सुबह की सबसे प्यारी विश है. अब मैं झड़ने वाला था, तो मैं रूक गया क्योंकि मैं उसके अन्दर नहीं झड़ना चाहता था.

ब्लू फिल्म चाहिए वीडियो

मेरी वाइफ पोस्टल डिपार्टमेंट में है और मैं दिल्ली में जॉब करता हूँ. मेरा एक हाथ भाभी के मुलायम चूचियों को दबा रहा था और दूसरा उनकी कमर पर और उनके चूतड़ों को दबाने में लगा था. हम दोनों ही बेड पर एक दूसरे को किस कर रहे थे और धीरे-धीरे दोनों पर सेक्स सवार हो रहा था.

अब दिल में कोई शक नहीं था कि ये औरत मुझे पसंद करती है और मुझे आज इस मस्त अहसास को संभालना होगा. साली जी ने मुझे नंगा देखा और लजा कर अपनी हथेलियों में मुंह छिपा लिया.

पाँच मिनट बाद ही जीजू रुक गये और बोले- साली साहिबा, तुम्हारी सील तो पहले ही खुल चुकी है.

नैना बोली- रमित मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ … बस जो भी पल या लम्हा तुम्हारे साथ बिताने का मिले, उसे भरपूर जी लेना चाहती हूँ. जिन सुधि पाठकों ने मेरी पिछली कहानी नहीं पढ़ी, उन्हें मैं कहूंगा कि मेरी सेक्स कहानी ‘दीदी की अन्तर्वासना’ के तीनों भाग जरूर पढ़ लें. दीदी जोर से आवाजें करने लगी- आह्ह … राहुल … आराम से … आह्ह … मर गयी … क्या कर रहा है … आह्ह … मैं पागल हो रही हूं … आह्ह … ऐसे मत तड़पा … आई ई … आह्ह … मेरी चूत … आह्ह … भाई … मत चूस … आह्ह!मैंने दीदी को पागल कर दिया.

मेरे पूरे जिस्म में सिरहन होने लगी और मैं भाईजान को प्यार करने लगी. मैं यह देखकर हैरान हो गई कि इस लड़की का एक साल में तो बुरा हाल हो जाएगा और यह भी हो सकता है कि यह किसी भी ऐरे गैरे से चुदवा ले? मुझे मालूम हो गया था कि तुम यहां सरोज के घर रहने लग गए हो और तुम्हारे बारे में सरोज ने रिपोर्ट भी बहुत अच्छी दी थी तो मैंने सोचा तुम्हारे से ही मिल लिया जाए. उसने मुझे सोमवार को एक यहां के मॉल में मिलने बुलाया। मैंने भी उसके फ़ोन नंबर और पता लेने में कोई जल्दबाज़ी नहीं दिखाई.

ये देख कर मैंने देर ना करते हुए लंड एक ही ज़ोर के झटके में चुत की जड़ तक अन्दर पेल दिया.

बीएफ खून वाला: कपिल को छोड़कर मैं सीधा अस्पताल आ गया और वहां से अपनी बीवी को छोड़ने घर आ गया. पूजा और मेरे बीच बातचीत चलती रही और रिया अपनी किताब पढ़ने में मस्त थी.

उसने एक काली जीन्स, जो उसकी टांगों में बुरी तरह से फंसी हुई थी, पहन रखी थी. कविता भाभी अपने फ्लैट की तरफ चल दीं और मैं ऐसी ही हालत में उनके किचन में चला गया. एक साथ 6 लोग, 6 लंड और 12 हाथ और साथ में वासना से भरी 12 निगाहें, मेरे बदन पर एक साथ टूट पड़ी थीं.

मैं मन ही मन सोचने लगी कि ये कितना शरीफ है … वो तो सिर्फ मैं ही जानती हूँ.

मैसेज पढ़ते ही बूढ़े का फोन आ गया और बोलने लगा- मैं तो कब से बेकरार हूँ तुम्हारी फुद्दी देखने के लिए! तुम मिलो तो सही!फिर मैंने बूढ़े को भी अपने रूम में आने के लिए कहा तो बूढ़ा पहले तो कुछ घबराने लगा. तुम एक काम करो, जाओ अभी मेरे बाथरूम का शॉवर चला कर खड़े हो जाओ और अच्छे से नहा लो. एक दिन उन्होंने मुझे उनके बूब्स को घूरते हुए देख लिया और वो मुझसे पूछने लगीं- क्या देख रहे हो?मैंने कुछ जवाब नहीं दिया.