बीएफ कहानियां

छवि स्रोत,बीएफ ऐश्वर्या

तस्वीर का शीर्षक ,

मां बेटा सेक्सी स्टोरी: बीएफ कहानियां, शांत होने के बाद उसने पानी की टोंटी खोली और अपने हाथ में पानी लेकर मेरे हाथ को धोया.

सेक्सी वीडियो 2020 बीएफ

मैं एक छोटी जगह से आई थी और मुंबई जैसे शहर की चकाचौंध मुझे डरा रही थी. सेक्सी बीएफ ब्लड वालापानी की बूंदें रचना के जिस्म से टकरा कर उसके जिस्म से खिसकती हुई चूत और गांड से नीचे गिर रही थीं.

उनके कुतिया बनने पर मैंने उनकी गांड पर थप्पड़ बजाते हुए पीछे से उनकी चूत में लंड पेला और धक्के लगाने चालू कर दिए. सेक्सी बीएफ दे वीडियोरचना झट से बोली- नहीं बेबी, आज कुछ भी हो जाए, मैं तुम्हारी इच्छा जरूर पूरी करूंगी.

मैंने चूत के दाने को चूसना शुरू कर दिया और 5 मिनट में ललिता भाभी की चूत का झरना बहने लगा, जिसे मैं पी गया.बीएफ कहानियां: उसकी चूचियों पर मेरी नजर पहले दिन से ही थी और मैंने आज मन की तमन्ना अच्छे से पूरी की.

मैंने पूछा- आप क्या वहीं रहती हो?मतलब मैंने आंटी से कैसे क्या … सब कुछ पूछा, जबकि मैं पहले से काफी कुछ जानता था.”वो चौंक गई और डर कर बोली- पागल हो गए हो क्या … ये लंड मेरी गांड को तहस नहस कर देगा.

बीएफ सेक्स मराठी बीएफ - बीएफ कहानियां

कुछ देर इसी तरह से रहने के बाद लंड महाराज अब ढीले होने लगे और चुत से बाहर आ गए.अब पहले मैंने उसकी मां के बारे में पता किया, तो मुझे पता चला कि वो अंधविश्वास, ज्योतिष, कर्मकांड को बहुत मानने वाली है.

फिर मुझे दोबारा से जोश आने लगा और मैं उसकी चूचियों को फिर से दबाने लगा. बीएफ कहानियां हम दोनों कुछ देर तक ऐसे ही नंगे चारपाई पर बैठे रहे, पर किसी के पास कुछ कहने को नहीं था.

सबके निकल जाने के बाद मैंने दरवाज़ा भेड़ा और लैब वाले रूम में अन्दर आकर साइड में होकर मैं अपने कपड़े बदलने लगी.

बीएफ कहानियां?

यदि औरत नहीं होती तो आदमियों का जीवन बेकार होता, इसलिए मैं औरत की दिल से इज्जत करता हूँ. रास्ते से मैंने विपिन से पूछा- सेक्स करने के लिए तुम अपनी गर्लफ्रेंड को ट्यूबवेल पर ले जाते होगे ना!विपिन बोला- हां कभी कभी … वरना ज़्यादातर तो गन्ने के खेत में ही कर लेता हूँ. उसको देखकर मैं कई बार सोचती थी कि इसको अपने घर लेकर चली जाऊं और इसके साथ मजा करूं.

मैं दस मिनट तक धक्के लगाता रहा जिससे मैं और शैली दोनों ही अपने चरम पर पंहुचने लगे थे. पल्लवी 19 साल की 32-26-32 के टाईट फिगर वाली माल है और समीर की छोटी बहन है. स्खलन से पूर्व मैंने पूछा- अन्दर छोड़ दूँ या मुँह में लोगी?उसने तुरंत पलट कर पूरा लिंग मुँह में ले लिया.

फिर चादर ठीक करने के लिए जैसे ही उसने लैपटॉप उठाया तो उसमें पोर्न पिक्चर लगी हुई थी. वो देखने में अच्छी थी, पर मैंने ध्यान नहीं दिया क्योंकि मैं भी काफी थका हुआ महसूस कर रहा था. आप लोगों को यह सेक्सी लंड से चुदाई कहानी कैसी लगी मुझे ईमेल करके जरूर बतायें.

मेरी चुदाई इतनी तेज थी कि प्रियंका कुछ बोलने को हुई तो उसकी आवाज हकलाने से आने लगी. मैं उसके होंठों को चूसने लगा तो वो कुछ देर में बिल्कुल नॉर्मल हो गयी.

वो अपने हाथों की मुट्ठियों से बिस्तर की चादर को खींचते हुए ‘अया आअहह उफ्फ़.

विजय ने तुरंत अपना लौड़ा मेरे मुंह से निकाल दिया और मुझे पूछा- जान, मेरा पानी आने वाला है क्या तुम इसे टेस्ट करोगी तुम्हें कोई दिक्कत तो नहीं?मैं बोली- प्लीज विजय, आज कुछ मत बोलो.

अब बस कर … जल्दी से पहले एक बार चोद दे मुझे!मैंने भी देर न करते हुए भाभी की दोनों टांगें अपने कंधों पर रख लीं और चूत के छेद में लंड डालने लगा. मेरी भी खुली हुई पैंट ऊपर करके मैंने उसे अपने कमर पर बांध लिया और दरवाज़े को खोला. एक लुंगी लपेटकर मैं अपना तौलिया लेकर बाहर आया, तो नीता चाय बना रही थी.

वो जोर जोर से सिसकारी भर रही थी और हम दोनों के सर पर हाथ फेर कर उत्साहित कर रही थी. मैंने अपना लंड ताई के मुँह में दे दिया, ओह्ह … क्या आनन्द आ रहा था. वो बाइक पर मुझे ले जाता था और रास्ते में जानबूझकर तेज ब्रेक लगाता था.

मैं इस तरह से चढ़ा था कि भाभी अपनी चुत पर मेरे लंड को महसूस कर रही थी.

अब तक लन्ड के धक्के खाते खाते भाभी की हालत खराब हो चुकी थी।तब मैंने उसको पीठ के बल लेटाया और मिशनरी पोज में चुदाई शुरू कर दी. अब वो लोग धीरे धीरे ट्रेन के धक्कों के बहाने मुझे छूने की कोशिश कर रहे थे. मेरी गुप्त फेंटेसी के बारे में किसी को नहीं पता था कि मैं बॉन्डेज सेक्स और मर्दों पर राज करने जैसे शौक भी रखती हूं.

और उसके बाद जो हुआ …कहानी के पिछले भागकमसिन बेटी का नंगा जिस्ममें आपने पढ़ा कि राजेश अपनी जवान बेटी को देखने उसके कमरे की ओर आया. दिखने में क्या बताऊँ कैसी थी … मेरा तो सोच कर ही खड़ा हो गया उस देसी मेड के बारे में।उसका फिगर 34डी-30-34 का ही होगा. खाना ख़ाने के बाद हम तीनों पिक्चर देखने चले गए और रात को होटल से खाना खाकर ही वापिस आए.

परंतु संजू की स्थिति देखकर मन मसोस कर रह गया और अपने कमरे में आकर सो गया.

स्नेहा- मुझसे झूठ मत बोलो, ये क्या है?उसने नेहा की चूची मींजते हुए कहा. रचना ने भी मुझसे वादा किया कि जब हमारी शादी होगी, तब हमारी पहली सुहागरात यादगार होगी.

बीएफ कहानियां शामली ने आखिरी बूंद तक मेरा लंड चूसा और चटखारा लेती हुई बोली- वाह, तेरी रबड़ी तो बहुत ही स्वादिष्ट है, खाना खाने के बाद स्वीट खाने कुछ और ही मजा रहता है. समीना की दुविधा का समाधान अभी भी नहीं हुआ है, जिसके बारे में मैंने आपको पिछली सेक्स कहानी में बताया था.

बीएफ कहानियां मैंने भी उसके पैर अपनी कमर के इर्द-गिर्द फैलाते हुए एक हल्का धक्का देकर सुपारा चूत में घुसा दिया. हिन्दी Xxxx चुदाई की कहानी में पढ़ें कि हमारे घर चूड़ी बेचने वाला आया तो वो जवान लड़का मुझे अच्छा लगा, मैंने उसे घर के अंदर लेकर दरवाजा बंद कर दिया.

मेरी मॉम बिल्कुल नंगी थीं और अल्मारी के पास एक आइने के पास खड़ी थीं, तो मॉम कुछ देख ही नहीं पाईं.

सेक्सी भाभी देवर भाभी

मैंने देखा, तो खुशी ने अपनी ब्रा पैंटी निकाल कर बेड पर ही रख दिए थे और वो एक पारदर्शी गाउन पहन कर खड़ी थी. घर जाते ही मैंने चार पहिया गाड़ी का इंतजाम कर लिया ताकि अगर रात में जाना पड़ा तो दिक्कत ना हो. इसी तरह वो कुछ देर में मेरे मुँह में ढेर हो गया, मैंने उसकी रबड़ी खा ली और लंड चाट कर साफ़ कर दिया.

मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]देसी लड़की चुदाई कहानी अगले भाग में जारी रहेगी. उस वक्त मेरे दिमाग में यही चल रहा था कि काश मुझे किसी लड़की के आस-पास की कोई सीट मिली हो. आज सही समय लग रहा है मुझे क्योंकि मुझे पता था आज तुम्हारी मम्मी तुम्हारी मौसी के घर जाएगी और तुम घर पर अकेले होंगे.

मैंने पूछा- कपड़े धोएँ?सरिता- राज! कपड़े तो मैंने ही नहाते हुए धो लिए थे लेकिन भारी बाल्टी उठाने से मेरी कमर में दर्द हो गया.

अगर कोई आ जाता तो?वो बोली- अबे साले तुझे मजा आया कि नहीं बोल!मैं कुछ बोल ही नहीं सका. फिर वो बोले- तुमने कहा कि भूरा अच्छा है, इसका क्या मतलब हुआ?मैं- अरे आप तो दूसरी ओर ले गये, मेरा मतलब था कि प्रेमा के साथ तो भूरा ही जमता है. उससे ये होगा कि वो अंकल अब पूरा दिन तड़पेंगे और रात को सारी हवस मेरी चूत में निकालेंगे जिससे मुझे तो बहुत मज़ा आएगा।खैर मैंने भी थोड़ी देर डिल्डो डालकर अपना पानी निकला और जाकर वर्क फ्रॉम होम के लिए तैयार हो गयी।फिर सारा दिन अपना काम ख़त्म किया.

मेरी चूत की आग अब बर्दाश्त से बाहर हो चुकी थी … मैं बार-बार अपनी गांड उठाकर उसका लोड़ा अपनी चूत में लेना चाह रही थी. उन्होंने मुझे बैठने को तो कह दिया लेकिन भाभी के नंगे जिस्म के बारे में सोचकर मेरा लंड उठ गया था. वो मेरी तरफ देखने लगी और बोली- तुम्हें भी … मतलब, मैं समझी नहीं?मैंने कहा- वो मधुर आवाज सुनकर मुझे भी मजा आ गया.

अनामिका मुझसे अपने पैर खोलने की ख रही थी मगर मैंने उसके पैर नहीं खोले. समझ तो वो भी गयी थी कि आज उसकी चूत को लंड मिलने वाला है और वो भी उसके घरवालों की मर्जी से।वो रूम में चली गयी और सुरेश ने अंदर से किवाड़ बंद कर लिए.

दो मिनट बाद ही मैंने अपना कंट्रोल खो दिया और अब मेरे लौड़े से ज्वालामुखी फूट पड़ा. 5’3″ की लंबाई, गोरा बदन, लंबे काले बाल, गुलाबी होंठ, नागिन जैसी बलखाती कमर, सुराहीदार गर्दन, 30″ के नए नए बाहर निकले जवान हो रहे चूचे, 26″ की पतली कमर और 32″ की गदराती गांड।जब वो सामने आती तो दिल करता कि वहीं इसे रगड़ कर चोद दूं।शादी के उस फंक्शन में वो मेरे बगल में खड़ी थी. आंटी ने कहा- अब सब कैसे होगा, मेरी तो कुछ समझ में ही नहीं आ रहा है.

मेरे लंड में ना जाने कहां से पहली बार इतना पानी निकला था कि मुझे विश्वास नहीं हुआ.

कोई 15 मिनट बात होने के बाद शामली उससे बोली- आज इधर बहुत बारिश हो रही है. मुझे आज भी वो दिन याद है, जब साले साहब की शादी में डांडिया लाने के ऊपर चाची ने मज़ाक में कह दिया था कि दीपक के पास तो ऑलरेडी लंबा मोटा डंडा होगा, इनको नकली डंडे की क्या जरूरत होगी. वर्ना तो जितना पानी उनके लंड से निकला था वो तो मुझे 1 बार में ही माँ बना देते।फिर वो मेरे ऊपर ही गिर गये और सो गए.

मैंने सोचा कि शायद ये अब तो उसे छोड़ देगा मगर उसे पता नहीं क्या जोश चढ़ा था. मुझे अपना गदराया हुआ जिस्म बड़ी सनसनी दे रहा था, तो मैं अपनी नंगी फोटो खींचने लगी.

उसके गोल-गोल माँसल नितंब लिंग को गुदाद्वार में प्रवेश की चुनौती दे रहे थे।उसने गाउन पहन कर अपनी बेटी को चाय-बिस्कुट और कुछ चॉकलेट देकर फिर से दरवाजा बाहर से बन्द कर दिया।बेडरूम में आकर उसने गाउन उतार दिया. इससे अनामिका जैसे पागल हो उठी और सीत्कार भरते हुए बोली- आह जीजू … चूस लो अपनी जान के रसील आम … आपको बहुत पसंद हैं ना … आह पूरा रस निकाल लो. रूचिका- सन्नी बेटा तुझे बुखार है क्या?मैं- आंटी इतनी ओवेरक्टिंग भी मत करो.

आंटी की छूट

लगभग 15 मिनट तक चूत चाटने के बाद मुझे उसकी चूत से नमकीन पानी की बाढ़ आती महसूस हुई.

अब वो नीचे झुक कर मेरा लंड अपने मुँह में भरकर मस्त ब्लोजॉब देने लगी. अब उसकी गर्दन को चूमते हुए और काटते हुए मैंने उस पर हर जगह लाल निशान बना दिये. हम दोनों एक वोल्वो बस में बैठे जिसमें ज़्यादातर जवान कपल्स और लड़कों के ग्रुप थे.

12 बजे के करीब मौनी ने कॉल किया और पूछा- कित है?? (कहां है)मैं बोला- यहीं पास के पार्क में बैठा हूं. उनका लंड हल्का काला था लेकिन लगभग आठ इंच लम्बा और लगभग 3 इंच मोटा मूसल लंड था उनका!मैं बोली- अंकल, ये लंड कहाँ से लाये हो?तो वे हंसने लगे और बोले- ये दूध का लंड है. ट्रिपल एक्स वीडियो बीएफ सेक्सीमौलवी जी ने बताया था कि असर 3 दिन बाद होना शुरू हो जाएगा और 7 दिन में काम पूरा हो जाएगा.

हमारी मुलाकात बस कॉलेज में होती‌ थी और कॉलेज में तो हम‌ ऐसा कुछ कर नहीं सकते थे. मैंने नीचे झुककर अपने होंठ नीता के गुलाबी और मुलायम होंठों पर रख दिए.

वैसे तो ममता लंड लेने की लिए पहले से ही तैयार थीं और उनकी चुत भी गीली‌ होकर बिल्कुल‌ चिकनी हो रही थी … मगर फिर भी वो लंड लेते ही चीख पड़ी- आआअहह … ऊओउऊ … आआअहह … पूरा बेरहम है साले … एकदम से घुसेड़ दिया. इस दौरान उसके हाथ मेरे लिंग को सहलाते रहे।मैंने उसको उल्टा लिटा कर उसकी पीठ, क़मर और नितंबों की शिलाओं को सहलाते हुए होंठों से बहुत प्यार किया।वो पलट गई और अपने चूचक को मेरे मुँह में दे दिया. मगर उस पर गुस्सा भी आ रहा था कि जब वो ही मुझसे बात नहीं कर रही तो मैं क्यों करूं?आखिर मुझे थप्पड़ भी तो उसने ही मारा था.

एक दिन मैंने उसे एक लड़के की गांड मारते देखा और फिर …अन्तर्वासना के पाठको को मेरा नमस्कार. अदिति ने अपना एक पैर मेरी जांघों पर रख लिया और मेरा लंड अपनी जांघों में पकड़कर मुझसे सटकर लेट गयी. मैं उसकी चूचियां देखते हुए बोला, तो वो बोली- यहां मेरे पास खड़े रहो और बातें करो.

मेरा लंड उनके एक हाथ से तो पकड़ा ही नहीं जा रहा था इसलिए वे दोनों हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी.

रंगोली की चिकनी बुर देख कर मैं खड़ा हो गया और उसके होंठों को चूसते हुए उसका हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी में डाल दिया. भाभी हर झटके के साथ मस्ती से चिल्ला रही थीं- उफ्फ हां ऐसे ही चोदो अक्की … मजा आ रहा है.

मेरे चूत चाटने से उत्तेजित होकर Xxx आंटी मेरे लंड को और तेजी से चूसने लगीं. मैंने कुछ पल देखा और लंड की पुरजोर मांग पर तय कर लिया कि आज लौंडिया का काम उठा देना चाहिए. मगर न जाने ऐसा क्या हुआ कि कुछ ही सालों में वो ऐसी निखर गईं कि उनके चूचों की चर्चा पूरे इलाके के बच्चों से लेकर बड़ों तक पहुंच गई थी.

मैंने उससे कहा- आज मैं तुम्हारी चूत के होंठों के साथ फ्रेंच किस करूंगा. सरदार ने मेरी बीवी से कहा- अरे भाभी जी ,कॉफ़ी क्या पीना… आपको वही वाली कोल्डड्रिंक पिलाऊं?मेरी बीवी चहकी- हां यार वो बड़ी दमदार थी … पिलाओ. बसन्त कुमार जी 15-20 दिन बाद दुकान का सामान लेने बड़े शहर जाते रहते थे और रात को वहीं रुकते थे.

बीएफ कहानियां इन सब बातों में मैंने आपको उनक नाम तो बताया ही नहीं!उनका नाम धीरेन्द्र प्रताप सिंह था. पाठको और पाठिकाओ, मैं महेश फिर से आपके सामने अपनी प्रेम कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ.

xxxxx देसी

दोस्तो, मैं आपको अपनी जिन्दगी से जुड़ी बहुत ही कड़वी सच्चाई बताना चाहता हूं. उफ्फ़ … उसकी गोरी जांघों के बीच फंसी इस छोटी सी पैंटी में उसकी चुत एकदम फूली हुई सी थी और रो रही थी. दोस्तो, मैं आपको अपनी जिन्दगी से जुड़ी बहुत ही कड़वी सच्चाई बताना चाहता हूं.

मैंने पीहू को सो जाने के लिए बोला तो उसने थोड़ी देर में सोने का कह दिया. उसने वही पारदर्शी काले रंग की ब्रा पैंटी पहन रखी थी जो मुझे उसे फाड़ फेंकने का निमंत्रण दे रही थी. वीडियो बीएफ सेक्सी देखने वालाहेलीमा अपनी बहन गुलजान की चुत चूसने में मस्त हुई तो उसकी गांड एक पल के लिए ढीली हुई.

मेरी चूचियां मेरी साड़ी के ऊपर नंगी तनी हुई थीं और वो दोनों उनको उनके चार हाथों से मसलने में लगे हुए थे.

मुझे डर भी लग रहा था और एग्ज़ाइट्मेंट भी थी कि पहली बार एक गैर से चुदने में क्या होगा और कैसे होगा. अब उन्होंने मेरे लोअर के अन्दर हाथ डालकर मेरे लंड को दबाया और उसे आगे पीछे करने लगीं.

मैंने विजय के वीर्य को पूरा एक साथ गटक लिया और उसके लौड़े को चाट चाट कर साफ़ कर दिया. मैंने तो सोचा था कि वो हमारी आवाज सुनकर या तो दरवाजा खुलवाकर हमें खूब खरी-खोटी‌ सुनाएगी, या फिर वो वहां से चुपचाप वापस चली जाएगी. युवक की चोदन गति देखकर लग रहा था कि उसको बहुत दिनों के बाद योनि सुख प्राप्त हो रहा है.

ये सुन्दर नजारा ज्यादा देर तक नहीं चला और सुरेश की काली मोटी जांघें थरथराने लगीं.

उसने मुझे देखा नहीं था और मैं उसे आवाज देने ही वाला था कि मैंने सोचा कि आज इसको भी चोद ही दूँगा. भाभी ने बताया- हां यार, वो बेबी ने मेरा ज्यादा दूध पिया ही नहीं तो सारा दूध मेरी छाती में भर गया है और दर्द भी हो रहा है, सो उसी वजह से ब्लाउज भी गीला हो गया है. इस बार भी मैं उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी आज की ये फोन सेक्स चैट कहानी भी पसंद आयेगी और आपका भरपूर मनोरंजन होगा.

बीएफ चुदाई दिखाओ वीडियो मेंमैंने चुत को देखा तो बुआ ने कनखियों से मुझे ताड़ा और कुछ पैर और फैला दिए. मैंने लाल रंग की साड़ी पहनी थी और मैं उसको यूं अपनी तरफ देखती हुई कुछ समझने की कोशिश कर रही थी.

डॉक्टर के साथ सेक्स वीडियो

इसी लिए तो कहीं बेचारी छोड़ कर नहीं चली गई?मैं- अरे नहीं भाभी, ये बात नहीं थी. उसने पीछे मुड़कर देखा और मुस्करा दी। उसने मानो मौन स्वीकृति दे दी थी. प्लीज अब मुझे सोने दो, अब मुझे तंग नहीं करना … नहीं तो मैं बेहोश हो जाऊंगी.

जब मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आया और मेरा लण्ड अकड़कर मूसल जैसा होने लगा. उसके निप्पल को हल्का सा काट देता दांतों से, जिससे वो आहें भरते हुए आह्ह … आह्ह … करने लगी. नंगी जवान औरत की चूत का रसपान करते हुए मेरे लौड़े की भी आग जाग चुकी थी पर अभी उसमें उतना कड़ापन नहीं था कि मैं सीधा उसको रेशमा की चूत में घुसा सकूं.

मेरे मुँह से आह निकलती गई- आह आह अंकल … सीईई अंकल … मेरी गांड फट गई आह अंकल मुझे दर्द हो रहा है … अंकल छोड़ दो अंकल. चार पांच पिचकारियों में मैंने अपना गर्म गर्म वीर्य समीना के मुँह में ही निकाल दिया. नूपुर देखने में भोजपुरी मोनालिसा की तरह 34-30-36 के साइज़ की सेक्स की मूरत की तरह थी.

मॉम हॉट फ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि हम पापा के दोस्त के घर गए तो वहां सबने मिल कर कैसे फैमिली सेक्स का मजा लिया. मैंने कहा- इस लॉलीपॉप में से दूध भी निकलता है?उन्होंने कहा- हां इसमें से दूध निकलता है और वह दूध तुम्हें पीना है, जिससे तुम्हें नींद आ जाएगी.

अंकिता फिर से लेट गयी और मुझसे बोली- क्या मेरे बूब्स छोटे हैं?मैंने कहा- ऐसा कौन बोला? ये बिल्कुल मस्त हैं, हां लेकिन इनकी मसाज करती रहा करो ताकि ये शेप में रहें.

इससे पहले मेरी कहानी 2017 में प्रकाशित हुई थी जिसका शीर्षक हैभाभी की चुदाई की तड़प की हिंदी सेक्सी स्टोरीअगर आपने यह कहानी नहीं पढ़ी है तो एक बार इस कहानी को अवश्य पढ़ें क्योंकि आज की कहानी भी उससे ही आगे की कहानी ही है. हिंदी सेक्सी बीएफ सीनमेरे से भी रुका नहीं जा रहा था, मैंने हाथ नीचे ले जाकर उसके लंड को पकड़ा और अपनी चूत पर रख दिया. बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियो में हिंदी मेंमैंने दो उंगलियां उसकी योनि में डाल कर घर्षण शुरू किया और होंठों से उसकी योनि को चाटना जारी रखा।रेनू के लिए अब खुद को संभालना मुश्किल हो गया था. तुम हो गयी हो पहलवान!ज़ारा- क्या बात कर रहे हो? मेरा फिगर देखो कितना सेक्सी है!मैं- तुम सिर्फ बदन से लड़की हो वैसे तो पूरी गुंडी हो गयी हो!वो खिलखिलाकर मुझसे लिपट गयी काफी देर तक हम लेटे हुये बातें करते रहे.

उसने मेरी एक खूबसूरत सहेली को देखा तो …नमस्कार दोस्तो, मैं सारिका कंवल आज फिर से आपके लिए एक रोचक लेस्बियन सहेली की कहानी लेकर प्रस्तुत हूँ.

प्रियंका- आह जीजू … आज तो मार ही डाला आपने आह लगे रहो मेरे जालिम जीजू … आह आज अपनी साली की चुत का भोसड़ा ही बना दो. आगे यामिना बोली- साहब, मेरा सपना है कि मेरी बेटी भी अपनी कंपनी की सफेद शर्ट और लाल स्कर्ट पहने. पता नहीं आज ये कैसे हो गया?मैं उसे पाना तो चाहता था मगर उसे खोना नहीं चाहता था … क्योंकि शायरा थी ही‌ कुछ ऐसी.

मेरे कच्छे में हाथ घुसाकर जैसे ही उसने मेरा लौड़ा पकड़ा, तो ख़ुद ही उसकी सिसकारी निकल गयी. मेरी बीवी संजू और मेरा दोस्त विक्रम दोनों पूर्ण नग्न अवस्था में थे और संजू घुटने के बल बैठकर विक्रम के विशालकाय लंड को बेतहाशा चूसे जा रही थी. एक दिन वो अपने आप ही बोली- क्या हुआ, तुम तो ग्रुप सेक्स करवा रहे थे?मैंने उसे तुरंत अपनी बांहों में ले लिया और उसे नंगी करके खूब चूमा.

लड़का लड़की की नंगी वीडियो

उसने कहा- इस लोशन से थोड़ा मसाज कर दोगे?मैंने कहा- ये तो मेरे लिए सौभाग्य की बात होगी. मैंने उसके होंठों को चूम लिया और दोनों चुचियों को भी चूमकर अपनी पोजीशन में आ गया. मैंने जैसे ही बाथरूम का दरवाजा खोला तो अन्दर का सीन देखकर मेरा लंड फुंफकार मारने लगा.

कॉलेज आकर मैंने अपना ध्यान पढ़ाई करने में लगाया मगर आज कहीं भी मेरा दिल नहीं लग रहा था.

तुम बताओ की क्या वो रह पाएगा?अनन्या- तो क्या आप उससे पूछती नहीं हैं?मैं- हां, जब पूछो तो यही कहेगा कि तुम्हारी कसम मैंने आज तक किसी और की तरफ नजर ही नहीं डाली, चुत की तो बात ही छोड़ो.

पर कोटा के बारे में उन्हीं दिनों एक बात यह भी सामने आई कि कोटा में सबसे ज्यादा गर्भ निरोधक खरीदे और बेचे जाते हैं. मैं भोपाल का रहने हूँ; मैं दिल्ली में जॉब करता हूँ। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ तो सोचा कि मैं भी आज अपने जीवन से जुड़ी एक सच्ची कहानी आप लोगों से साझा करूँ. हिंदी नंगी फिल्म बीएफमैंने करीब 20 और झटके मारे होंगे कि वो एकदम से मेरे हाथों को नौंचते हुए अपना पानी छोड़ बैठी … और उस पर बेहोशी छा गई.

भाभी की दुधारू मस्त मुलायम चूची देख कर मेरा लवड़ा और ज्यादा टनटना कर खड़ा हो गया. उधर ममता जी के घर पर भी हम‌ नहीं मिले सकते थे, क्योंकि वहां उनके सास ससुर रहते थे. मेरे हर एक झटके पर गुलजान, हेलीमा की चुत को ज़ोर से चूस लेती, जिससे हेलीमा की हालत भी खराब हो गई.

मैं- पता नहीं क्यों हो रही है?ज़ारा- बाद में पकौड़े खिलाऊंगी आपको!मैं- रिश्वत?ज़ारा- रिश्वत नहीं जान! प्यार!हम छत पर पहुंच गये. उसके धक्के धीरे धीरे कम होते गए जिससे मैं आराम से झड़ गई। मुझे असीम संतुष्टि मिल रही थी।मेरे झड़ने के बाद भी उसके धक्के रुक नहीं हो रहे थे.

और ये फिर से खड़ा हो गया है।मैंने कहा- भाभी आपकी नंगी गांड को चलते हुई देख कर फिर से खड़ा हो गया है।भाभी बोली- फिर क्या इरादा है मेरे जान? वैसे तुमने आज मुझे वो ख़ुशी दी है, इसके बदले मैं तुझे जो दूँ वो कम है.

वो बोली- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है, मैंने कभी तुम्हारे बारे में ऐसे सोचा नहीं. मगर उससे बात करके मेरे दिल में फिर से वही सब विचार आने लगे थे, इसलिए मैंने शायरा की जितनी हो सके उतनी तारीफ की, पर उससे ज़्यादा खुला नहीं. मैंने भी उस अमृत की एक बूँद को जमीन में गिरने नहीं दिया; मैं पूरा चुत रस पी गया.

बीएफ पंजाबी सेक्सी व्हिडिओ उसका एक हाथ मेरी चूत पर था, दूसरा हाथ मेरे बूब्स को जोर जोर से मसलने में लगा हुआ था. विपिन बोला- क्या हुआ?मैंने कहा- कुछ नहीं तुम चोदना शुरू करो भोसड़ी के … ज्यादा टाइम नहीं है.

मैं भी एक अनजानी सी खुमारी में डूबने लगा; मस्त आनन्द की गहराई में खोने लगा. दोस्तो, उस रात को सारी रात मैं उनकी याद करता रहा और उनकी फिगर को याद करता रहा. अपने कमेंट्स में जरूर बतायें या फिर मुझे मेरी ईमेल में लिखें।[emailprotected]जीजा साली चुदाई की वीडियो देखें:दीदी ने बहन को अपने पति से चुदवाया.

ಬಿಎಫ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊ

एक दिन मैं ऐसे ही घर पर बैठा हुआ बोर हो रहा था तो मैं रेशमा को कॉल लगा दिया. उसकी चुदने की मंशा जानकर मैंने गाड़ी को सड़क से उतार कर कच्चे में लगा दी और नीचे चादर बिछा कर अक्कू के ऊपर चढ़ गया. मैंने उसके एक पैर को मैंने अपनी कमर के पास रखे रक स्टूल पर रख लिया.

मेरी पिछली कहानी थी:पति ने कराई मेरी चूत की चुदाई जीजू सेमेरी शादी 3 साल पहले इंदौर की एक लड़की रिंकू (बदला हुआ नाम) के साथ हुई थी. Xxx CD सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं एकदम गोरा चिकना लौंडा क्रॉसड्रेसर हूं.

अब वो जब भी कपड़े सुखाने छत पर आती, तब मैं खाली पीली फ़ोन में ऐसे बात करता … जैसे उसको लगता कि मैं कोई ज्योतिषी हूँ.

वो गालियां दे रहा था- आह्ह … चूस बहन के लौड़े … तेरी मां … बहन … चाची … आंटी सबकी चूत मार लूंगा मैं साले गांडू। आह्ह चूस … मादरचोद।मुझे भी उससे गाली सुनने में मजा आ रहा था. मैंने अनजान बनने का नाटक करते हुए कहा- कौन रेशमा?उधर से वो बोली- वही रेशमा, जिसको आप कुछ देर पहले फोन कर रहे थे. मैं उनकी बातें सुनकर खुश हो गया, लेकिन मैंने अपनी ख़ुशी को संभाला और फूफा जी से कहा कि फूफा जी, मैं अपने घर पर बात करके बताता हूँ.

इस बार भाभी भी जरा भी नहीं शर्माईं और मेरे सामने ही बेबी को दूध पिलाती रहीं. तो हम दोनों बातें कर रहे थे और बातों बातों में राहुल भैया ने मुझसे कहा- प्रॉमिस करो, जो कुछ भी कभी भी हमारे बीच बातें होती हैं … वह तुम किसी को नहीं बताओगे. मैं छत पर जाता, तो वो मुझे देखने के लिए छत पर आ जातीं और स्माइल करके अपने रूम में चली जातीं.

इस पोज को सबमिसिव डॉगी स्टाइल भी कहते हैं। इस तरह चुदते हुए उसकी चीखें और भी बढ़ गयीं क्योंकि लंड भी बहुत अंदर तक जा रहा था। मैं भी पूरे जोश में उसकी चूत को फाड़ रहा था.

बीएफ कहानियां: उस रात मैंने उसे तीन बार चोदा और हम दोनों सुबह 4:00 बजे तक सेक्स का मजा लेते रहे. जब तक रेशमा के साथ सेक्स की बात खत्म हुई तब तक मैंने पानी निकाल दिया था.

एक को मुँह में लेकर चूस रहा था और एक हाथ से उसकी चूत को मसल रहा था. वो इतनी अधिक खूबसूरत और हॉट थी कि मैं उसके तने हुए चूचों और उठी हुई गांड को देख कर गर्म हो गया था. दोनों बचपन में साथ नहाती भी थीं और हमेशा एक दूसरे के सामने कपड़े बदलना इनके लिए आम बात थी.

मुझे उससे दोस्ती करनी थी और मैं सीधे सीधे उसको कुछ बोल नहीं सकता था.

मैंने आँटी को फिर उठाया और उसी तरह उनके हिप्स में अपना लण्ड डाल दिया. कुछ मिनट तक लंड चूसने के बाद वो बोला- चलो, अभी कंट्रोल नहीं हो रहा. उन्हीं के सुझाव पर विकास मोरे ने मुझे ऑफिस की साफ सफाई का काम सौंपा था.