सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की

छवि स्रोत,ഹോട്ട് സെക്സ് വീഡിയോ

तस्वीर का शीर्षक ,

हाशमी की सेक्सी: सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की, इससे मैं एकदम से खड़ी हुई और उसको डांटने लगी- ये क्या कर रहे हो … तुम्हारा दिमाग खराब है क्या?ये सब मैं उसको दिखावे के तौर पर डांट रही थी.

देहाती भाभी की चूत की चुदाई

वो एक हाथ से मेरी चूत में उंगली डालकर चला रहा था।वो मेरी चूत में उंगली करते हुए बोला- दीदी, ये तो गुफा हो गयी है।मैं बोली- हां, तेरे जीजा विवेक ने गुफा बना दिया है इसे।विवेक बोला- साले, तूने भी तो मेरी बहन की चूत को गुफा बना दिया है, देख, चारों उंगलियां अंदर आराम से ले रही है ये।शिवम बोला- दोनों का हिसाब बराबर हो गया. एक्सएक्सएक्स हिन्दमैं उसको लेकर वहां से चल दिया और उधर से 20 किलोमीटर दूर मेरे फ्रेंड के होटल पर आ गया.

अब मैंने एक हाथ उसके नितम्ब पर रख कर हल्के से दबाया तो दोबारा से उसके मुँह से ‘इसस्स …’ की कामुक सिसकारी निकली. बफ फिल्म हिंदीमैं बोली- बच्चे की मां पर इतनी मेहनत कर रहे हो, तो पापा बनने का इनाम भी तो मिलना चाहिए ना.

मैं रोमांचित था … और वह भी तो अपनी आंखें बंद करके इस पल का आनन्द ले रही थी.सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की: अब मैं उन्हें एक माल के रूप में देखने लगा था, मैं भी अब उनके नाम की मुठ मारने लगा था.

लेकिन मेरी छोटी सी फ्रेंची में तना हुआ लण्ड बाहर निकालना आसान नहीं था.बैठा कर, लिटा कर, दीवार से सटा कर, डॉगी स्टाइल, हवा में लटका कर, एक टांग उठा कर, दोनों टांग मेरे कंधे पर रख कर … मतलब मैं उसे तमाम आसनों में चोद चुका था.

हिजड़े का सेक्स वीडियो - सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की

शेखर को समझ में आ चुका था कि ये वही बटन है जिसके दबने या फिर सहलाये जाने के बाद बड़ी से बड़ी ज़िद्दी औरत भी अपनी चूत खोलकर विशाल से विशाल लंड अंदर ले लेती है.देविका- मैं ना तो कहीं पेमेंट कर पा रही हूं, ना ही पेमेंट ले पा रही हूं।मैं- ठीक है मैम, मैं आपका मोबाइल चेक कर लेता हूं।अभी तक हम यहां ब्यूटी पार्लर के रिसेप्शन पर बैठे हुए थे।मैं गर्मी में मार्केट से आया हुआ था तो मुझे पसीना बहुत आ रहा था।उन्होंने मेरा पसीना देखते हुए बोला- यहां बहुत गर्मी है। आप अंदर चल कर वहां बैठकर काम कर लीजिए। वहां पर ए.

मैंने उसकी बात मानते हुए अपने लंड को बाहर निकाला और देखा कि उसकी चूत से थोड़ा खून आ रहा है. सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की मगर ऐसे आपका नाम लेना क्या सबको अजीब सा नहीं लगेगा!वो बोली- ठीक है, पर अकेले में तुम मुझे मेरे नाम से ही बुलाया करो.

मैंने उसे अपने मोबाइल पर उसकी मां की पिछली चुदाई की वीडियो क्लिप दिखा दी.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की?

हाथी के सूंड जैसी सुन्दर टाँगों और जाँघों के बीच मोटी फाँकों वाली सुन्दर गुलाबी चूत जिसकी दरार चिकनापन लिए थी, बाहर दिखाई देने लगी. हालांकि हॉस्पिटल पहुंचने से 15 या 20 मिनट पहले नीना ने डॉक्टर साहब को अपने आने की सूचना दे दी थी. तभी अमित बोला- नीरज भाभी के साथ मज़े कर रहे थे क्या!मैंने कहा- हां यार, कोमल को रगड़ रहा था.

शेखर ने कुछ देर तक धारा के होंठों को अपनी उंगलियों से छेड़ा फिर अपनी एक उंगली को धारा के होंठों के बीच रख कर होंठों के अंदर के हिस्से की नर्मी को महसूस करना चाहा. जब तक टोकन लेकर अंदर आ जाओ।मैंने बाई को पहले को बोल दिया था कि मेहमान आएंगे तो कुछ नाश्ता बना देना।फिर मैं 35 मिनट में वहां पहुँच गया और स्मृति को फोन किया।फ़ोन उठाकर उसने बोला कि वो कस्टमर केयर कैबिन के पास खड़ी है।मैं नीचे गया और उसके पास जाकर उसे हैलो बोल कर विश किया।उसके पास ज्यादा कुछ सामान नहीं था।हम ऊपर प्लेटफॉर्म पर आ गये. लगभग 20 मिनट तक मेरी मम्मी के चुचे चूसने के बाद निखिल उठा और उनकी बची खुची साड़ी भी उतार फैंकी.

उसने पूछा- कहां पर?मैंने गांड की तरफ इशारा किया तो वो बोला कि उधर दवाई लगानी पड़ेगी. आप मुझे मेरी इस डर्टी चुदाई कहानी के लिए मेल और कमेंट्स करना न भूलें. मैंने कहा- तू मेरी क्या है?कोमल गांड हिलाती हुई कहने लगी- आह बाबू … मैं आपकी रंडी हूँ … मेरी चूत का भोसड़ा बना दो … आह रुला दो मुझे.

अब आगे हॉट आंट सेक्स कहानी:दूसरे दिन मैंने साहिल को बोला- आज मुझे मार्केट में कुछ काम है तो मैं कंपनी नहीं जाऊंगा. फिर जब चाचा ने अपना मुँह उठाया, तो उनका पूरा चेहरा चाची की चूत के पानी से भीगा हुआ था.

भाभी की गर्म सांसों की आग मुझे मेरे चेहरे पर पड़ रही थी जो मुझे और भी पागल बना रही थी.

मैंने 20 मिनट बाद उसे कॉल किया, तो वो कॉल उठा कर बिना हैलो बोले सीधे बोली- ऊपर वाले स्टोर रूम में आ जाओ … और देख कर आना, कोई देख न ले.

मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और बोली- साले तूने यह क्या किया?गौतम को लगा शायद उसने मेरी चुत में स्पर्म डाल दिया, उसके लिए मैं गुस्सा हूं. कुछ देर बाद रोहन का कॉल आया- आप कहाँ पर हो?मैंने उसे बताया कि मैं बस अड्डे के बाहर खड़ा हूँ. वो सेक्सी मूवी देखने से गर्म तो पहले से थी … मेरे गले लगाने से और गर्म हो गई.

कुछ देर बाद लंड चूत की दोस्ती हो गई और अब वो भी कहने लगीं कि बड़ा अच्छा लग रहा है … आअहह एमेम … बस ऐसे ही राजा … आह और चोदो मुझे … ओफफ्फ़ आह. निखिल ने मीरा की चुत के होंठों को फैला कर उसकी चुत चाटनी शुरू कर दी. [emailprotected]रोमांटिक भाभी की वासना की कहानी का अगला भाग:अफसर की बीवी ने चपरासी से चुत गांड चुदवाई- 2.

मैं इतना ज्यादा उत्तेजित हो गया था कि सिर्फ़ दो मिनट में ही झड़ गया.

मुझसे सहा भी नहीं जा रहा था और अंकल का लंड लिए बिना रहा भी नहीं जा रहा था. मुझे जोश आ गया और मैं तेज तेज झटके लगाने लगा- हां ले साली रंडी कुतिया … छिनाल … अम्मी ले मेरा लौड़ा … भोसड़ी वाली तेरा बेटा ही तेरे लिए लंड लाया है … ले साली अम्मी चुद हरामन. मैंने खड़े खड़े चाची की एक चूची को निकाल कर मुँह में भर लिया और अपने हाथों से चाची के चूतड़ों को पकड़कर मसलने लगा.

इधर …स्नेहा चेंजिंग रूम में ज्योति से मस्ती करने लगी- आज तो लगता है काम हो गया तेरा?ज्योति चिढ़ते हुए बोली- घंटा काम हो गया … साली छिनाल पूरा काम खराब कर दिया. मेरे तैयार होते ही शहज़ाद का फ़ोन आया कि आपके घर के आगे वाली गली में खड़ा हूँ. मैं भी गर्म हो गया और उसके सर को जोर से पकड़ कर अपनी चूचियों पर दबाने लगा.

शेखर ने रघु की बात का मुस्करा कर जवाब दिया और फिर वापस लैपटॉप की स्क्रीन पर अपनी नज़रें जमा लीं.

अब क्या था … वो दोनों मेरी चूत के पास आ गए और मेरी चूत का पानी पीने के लिए आपस में झगड़ने लगे. मेरे मन में ख्याल आने लगे कि अगर इसने अपनी माँ को बताया तो क्या होगा.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की मेरे दिमाग में बार बार भाभी का वो ही रूप सामने आ रहा था, जब भाभी मेरा लंड चूस रही थीं. पैरों में हाई हील वाली सैंडल पहनी जिससे मेरे मम्मे एकदम तने हुए दिखने लगे और गांड तोप की तरह उठ गई.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की एक दिन जब मामा मेरे होंठ चूसते हुए मेरी चूचियां मसल रहे थे, तब मां ने देख लिया था. वो लोग काफी दिनों से डिमांड कर रहे थे कि हम अपनी सेक्स लाइफ की मदभरी कहानियों को उनके साथ अन्तर्वासना पर शेयर करें.

मैंने कहा- यार, मुझे आज बहुत मन कर रहा था, क्या मैं तुम्हें लेने आऊं या हमेशा की तरह तुम खुद आ जाओगी?उसने बिना कुछ बोले फ़ोन रख दिया.

अक्षय कुमार के बीएफ

वो थरथराते स्वर में कहने लगी- पर ये सब शुरू कैसे हुआ … और तूने अपने ही सगे भाई का लंड कैसे अपनी चूत में ले लिया. तभी उसने एक झटके में अपना लंड बाहर निकाल लिया और मुझे सीधा बिठाकर मेरे मुंह में लंड दे दिया और झटके देने लगा. मैंने एक रफ जींस ओर गहरे गले वाला टॉप पहना था जिसमें से मेरी क्लीवेज साफ़ दिख रही थी.

कारण था एक तो मेरा स्खलन नहीं हुआ, दूसरा एक खूबसूरत नारी को पूरा नग्न कर उसको संतुष्ट भी कर दिया और सेक्स भी नहीं किया तो उस नारी के जिस्म का भोग लेने के प्रति आतुर होना भी लाजमी था।मैंने जैसे तैसे भोजन कर हाथ धोये और कमरे में जाकर आने वाले समय का बेसब्री से इंतजार करने लगा. उसने सुसु की और मैं पास ही खड़ा होकर उसकी सुसु की सुर्र सुर्र की आवाज सुनता रहा. मैंने उससे पूछा- बैग?वो- वो उधर झाड़ियों में ही रख दिया है, वापसी में ले लूंगी.

वो बोली- नहीं, मुझे सब अभी जानना है कि पापा के होते मम्मी को इस उम्र में ये सब करने की क्या जरूरत है.

मैंने भी बोल दिया- मैं तुमसे ही शादी करूंगा और तुम ही मेरे बच्चे मां भी बनोगी … मेरी प्रेमिका जी. तभी रूपाली आयी और मुझे पीछे से बांहों में भर लिया।उसने बताया कि नीतू भी मान गई है तो मैं रात का खाना बाहर से मंगवा लूँ वो उसे लेकर ब्यूटी पार्लर जा रही है।इतना सुनते ही मैंने उसके चेहरे पर यहाँ वहां 7- 8 चुम्मियाँ अंकित कर दी।शाम को 8 बजे जब नीतू पार्लर से आयी तो उसे देखकर ऐसा लगा जैसे उसका बदन पहले से और ज्यादा चमक रहा है. शिवम बोला- मैं कब चोदता हूं?लूसी बोली- मैं आपकी बात नहीं कर रही, अनिकेत मामा की बात कर रही हूं.

उधर झड़ चुके दिनकर से रहा नहीं गया तो वो खड़ा होकर अपनी बेटी चमेली को किस करने लगा. मैंने अपनी अलमारी से सफेद रंग की ब्रा पैंटी का सेट निकाल लिया जो कि बहुत ही सेक्सी था. फिर उन दोनों ने जो मुझे ऐसा मसलना शुरू किया कि आज तक किसी ने भी ऐसे मेरी जवानी को नहीं मसला था.

मैंने कहा- फ़लक, कोई बात नहीं, जितने बंद होते हैं उतना बंद करके तुम बाहर आ जाओ. मैंने उससे पूछा- तुम किधर सोओगे?वो बोला- अभी मैं कुछ देर पिक्चर देखूंगा.

मैंने नीचे हाथ करके टटोला और साइड से हाथ को देखा तो मेरी उंगली लाल हो गई थी. उर्वशी का रंग हल्का सा सांवला है … पर उसके नैन-नक्श बहुत तीखे हैं … जिससे उसके चेहरे पर एक रौनक सी रहती है. इतने में ‘घपप्प उऊऊ हहहह …’ की आवाज के साथ मेरा लौड़ा भाभी के मुँह में घुस गया था.

भाभी ने बोला- अभी तो बेटा है, अभी नहीं … बाद में!मैंने उनकी बात मान ली.

कुछ देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा, चूमने लगा. ये सब कामुक बातें सुन कर प्रिया अपनी चुत में उंगली करने लगी और कमर उछाल कर एक बार और झड़ गई. उसका इतना सारा माल निकला कि रुबिका ने उसको पूरा मुँह में भरने की कोशिश की, फिर भी वो उसके मुँह से बहने लगा.

भाभी अपना हाथ मेरे सिर पर बालों में फेरती हुई मुझे आना दूध पिला रही थीं. थोड़ी देर ऐसे ही मार खाने के बाद विशाल बोला- मैम, अब आप हमें छोड़ दो.

दोस्तो, मैं आपका अपना प्रकाश सिंह आपकी सेवा में अपनी एक नई और सच्ची घटना के साथ पुनः हाजिर हूँ. सोनम की फुद्दी का मटर का दाना फूलकर किसी मूंगफली के दाने जैसे सूज गया था और पूरा लाल होकर अपनी मालकिन की आग बयान कर रहा था. एक दिन भाभी ने मुझे बुलाया और बोलीं- यार विराज, कुछ सब्जी वगैरह ला दे.

बीएफ इंजॉय

जी हां … वो सन 1989 की गर्मी के उत्तरावर्ती दिन थे, जब एक प्राइवेट कंपनी के कर्मचारी (मेरे पिताजी) की मेरे माताजी से शादी हुई थी.

अगले ही पल वो निढाल हो गई और मेरे सीने पर हाथ लगा कर मुझे रोकने लगी- आह राज अब बस … रुक जाओ. मेरी पिछली कहानी थी: बस में मिली प्यासी चूत वाली भाभीयह सेक्स कहानी कोरोना के पहले लॉकडाउन में नाईट कर्फ्यू के समय की है जब मैंने कार सेक्स ऑन रोड का मजा लिया. समाज और विवाह की सारी रेखाएं बांध कर उसने मन के एक कोने में रख दीं और हिम्मत करके वो जोर से उस चपरासी को देख कर चिल्लाई- ओए बहनचोद … ये क्या चल रहा है साले कुत्ते … ये काम करने आता है यहां पर मादरचोद? रुक … आज तो तेरी खैर नहीं हरामी … आज तो तू गया पुलिस स्टेशन!सोनम ने चिल्लाते हुए उस चपरासी की क्लास लगा दी.

पैरों में हाई हील वाली सैंडल पहनी जिससे मेरे मम्मे एकदम तने हुए दिखने लगे और गांड तोप की तरह उठ गई. उसने झट से मुझे अपने बिस्तर पर खींच लिया और मेरे होंठों से अपने होंठ सटा कर रस चूसने लगी. xxx सनी लियोनीउधर सनी भी रवीना को चोदने में सफल हो गया था और वो भी जब तब रवीना को चोद देता था.

मेरी शर्ट हल्की और सफेद होने की वजह से जब उस पर पानी पड़ा, तो मेरी ब्रा साफ दिखने लगी. आज मज़ा आ जाएगा यार … तुम पहले क्यों नहीं आए मेरे पास!मैंने बोला- अब तो आ गया हूँ न मेरी रंडी … अब चल घोड़ी बन जा.

मैंने फिर से चूत से लन्ड बाहर निकाल कर लन्ड को एक बार चादर से साफ किया और फिर से नेहा की चूत में डाल दिया. तो दोस्तो, आपको यह सेक्स विद बॉस इन ऑफिस कहानी कैसी लगी?आप अपने विचार[emailprotected]पर सेंड कर सकते हैं. थोड़ी देर बाद उसने गांड से निकलकर मेरी चूत में लंड डाल दिया और मेरी चूत की चुदाई शुरू कर दी.

बहुत सोचने के बाद वो मान गईं और पूछने लगीं- तुम्हारा दोस्त किधर है?मैंने कहा- वो मेरे किसी काम से गया है, आने से पहले मुझे फोन करेगा. उसी समय मैंने अपने होंठ उसके होंठ पर रख दिए और ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा ताकि वह मुझसे छुड़ा ना सके. मैंने उसकी बीवी ले ली।रोमिल बोला- नहीं भाई, पिंकी तेरी भी तो भाभी है।हां.

अब हालात यह थे कि शेखर का एक हाथ धारा की कमर को थामे हुए था और दूसरा हाथ धारा की चूचियों और अपने खुद के सीने के बीच फँस सा गया था.

मुँह बन्द होने से वो गों गों करने लगी और उसकी आवाज मुँह में ही दब कर रह गयी. इतना कह कर शेखर ऑफ़लाइन हो गया और जल्दी से अपने बॉस की केबिन की तरफ़ दौड़ा.

मैं सारी बात सुन कर मज़े ले रहा था कि इतने में वो बोला- क्या तुम मेरी मां को चोदना चाहते हो?मैंने सकपका गया और बोला- क्या बात कर रहा है बे … वो तेरी मां है और मैं उनको कैसे चोद सकता हूँ. कभी रीमा एकदम टाइट कपड़े पहन कर चली जाती, जिसमें रीमा की गांड और कसी हुई चुत का साफ़ दिखता आकार निखिल को पता चलने लगता. उसने भी मेरे लोवर में हाथ डालकर लंड को बाहर निकाल लिया और सहलाने लगी.

ये टॉप बिना बांह के था और उसका गला काफी गहरा था जिसमें से मेरी चुचियों के मस्त उभार साफ़ दिख रहे थे. मैं बाथरूम के अन्दर आ गयी और उसका परदा मैंने थोड़ा खुला रखा, जिससे शहज़ाद मुझे नंगी नहाते हुए देख ले … और हुआ भी वैसे ही. तमन्ना- क्या इरादा है?मैं- इरादा तो नेक है!तमन्ना- हां जैसे कल था! जैसे परसों था!कहकर मुझे चूमा और उठकर सोफे पर जा लेटी.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की निखिल चुत चोदते वक़्त रीमा के निप्पलों को काटता और चूसता जा रहा था. मैंने अगले ही उसकी कमसिन बुर को अपने मुँह में भर लिया और ज़ोर ज़ोर से पीने लगा.

लेडीस घोड़ा का बीएफ

दोस्तो, आगे की सेक्स कहानी में मैं लिखूंगा कि मेरे और भाभी के बीच क्या क्या हुआ वो सब आगे लिख कर बताऊंगा. हमने एक दूसरे से शादी भी कर ली, साथ ही हमने अपना हनीमून केरल में मनाया. चाची उठीं और चाचा के दोनों तरफ पैर करके अपनी चुत के छेद में उनका लंड पकड़ कर लगाने लगीं.

पिंकी लंड पर उछल उछल कर गांड पटकने लगी और मस्ती से चुदवाने लगी।अब दोनों तरफ से बराबर झटके लगने लगे और ऐसा लगने लगा जैसे दोनों एक-दूसरे को चोद रहे हों।पिंकी ने बताया कि रोमिल के लंड में इंफैक्शन हो गया है, जिस कारण उसने 5 दिनों से नहीं चोदा।अब पिंकी जल्दी जल्दी उछलने लगी और आहह हाँह उहह हह करके चूत से पानी छोड़ दिया. मुझे नहीं पता था कि तुम इतनी बुरी तरह से चोद दोगे मुझे, लेकिन अच्छा लगा, बहुत मज़ा आया. मोटे लंड से चुदाईऔर उस लड़के ने अपनी जीभ दीपा की चूत में कर दी।दीपा को मजा आ रहा था, उसने आगे बढ़कर उस गोरी लड़की के होंठों से अपने होंठ भिड़ा दिये।शिखा के मन में अब एक साथ दो लंड लेने की थी।उसके बराबर में जो जोड़ा चुदाई कर रहा था, उसमें से लड़की जैसे ही अलग हुई, झट शिखा उस आदमी के ऊपर चढ़ गयी.

एक दिन मैंने रोहन से वीडियो कॉल में उन दोनों का लाइव सेक्स देखने की इच्छा जताई.

तभी अचानक एक दिन दीदी मेरे पास आई और बोली- मधु, हम लोग अपने घर जा रहे हैं. जैसे कई लोगों को खुले में सेक्स करने का मन रहता है और कई लोगों को अपने पार्टनर को बांध कर सेक्स करने में मज़ा आता है.

मैं उसकी चुत चूसने लगा, वो वासना से कराहने लगी; साथ साथ उसने अपनी चूचियों को भी दबाना शुरू कर दिया. भाभी जी की गांड और चूत एकसाथ कैसे चुदी?दोस्तो, मैं एक बार फिर से दो लंड से एक बार में चुत गांड एक साथ चुदवाने वाली सेक्स कहानी लेकर आपके सामने हाजिर हूँ. इंडियन हॉट सेक्सी गर्ल सेक्स कहानी मेरे दोस्त की बहन की सहेली की चुदाई की है.

मेरा मन कर रहा था कि वो मेरे निप्पलों को यूं ही चूसता रहे बस!आकाश ने बड़े आराम से मेरे दोनों निप्पलों को प्यार से चूसा.

जानते हो, ललित ने तुम्हें हमारी सेक्स लाइफ़ और अनजान लोगों के साथ की जाने वाली मस्ती के बारे में जो भी बताया है वो सच तो है लेकिन आधा सच।तुमने पूछा था ना कि ये सब मेरी मर्ज़ी से होता है या फिर सिर्फ़ ललित की मर्ज़ी से, तो ये जान लो कि ये सब ललित की ही चाहत थी. हम दोनों को ही ये खेल खेलते हुए काफी देर हो गयी थी तो मैंने भाभी की कमर के नीचे तकिया लगा कर उनकी गांड और चुत मेरे लंड के सामने कर ली. उन्होंने मुझे धक्का देती हुई बेड पर गिराया और सीधा मेरे ऊपर आकर बोलीं- अब फटाफट लंड अन्दर डाल दे, नहीं तो मैं मर जाऊंगी.

मराठी xxx sexउन्होंने मुझे पास की दीवार पर टिकाया और मेरे दोनों हाथों को अपने एक हाथ से पकड़ कर ऊपर कर दिया. मैंने अपनी इस शर्ट का ऊपर वाला एक बटन खुला रखा, जिससे मेरी चूचियों की घाटी साफ़ दिखे.

सेक्सी चुदाई देहाती बीएफ

तभी मैंने एक तेज झटका मारा, भाभी ने गर्म सिसकारियां लेते हुए चीख निकाल दी और बोलीं- आह मर गई … धीरे डालो न … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ. शन्नो कुतिया बनी गांड आगे पीछे करके बोली- राज आह तुम मुझे और जोर से चोदो … आह आज जमकर चोदो. अबकी बार ज्योति सबके सामने खुल कर चिराग के साथ, कभी उसके गले में बांहे डाल कर सेल्फी ले रही थी … तो कभी हग करके फुल एंजॉय कर रही थी.

कुछ ही देर में उसकी चूत में दर्द होने लगा और वो जोर जोर से चीखने लगी. ये देखते हुए प्रिया ने अपनी चुत पर हाथ लगा कर फिर से चिल्लाना शुरू कर दिया. मैंने उसको कहा- तुम फोन पर तो बहुत कुछ बोल रही थी कि मेरे तो कपड़े तुम ही उतारना, आज शर्म क्यों कर रही हो.

मैंने लंड को अंडरवियर से बाहर निकाला और अन्तर्वासना पर कहानी पढ़ते हुए मुठ मारनी शुरू कर दी. धारा- अच्छा जी … तो आपको यक़ीन नहीं हो रहा है कि ये मैं ही हूँ! दो मिनट रुक जाइए फिर आपको यक़ीन हो जाएगा. जिनको मेरे बारे में पता नहीं है, मैं उनको बता दूँ कि मैं हरियाणा में रहता हूं.

हम दोनों वहां से निकल कर नदी के तरफ आए और नाव देख कर शहज़ाद ने मुझसे नदी में सैर करने के लिए कहा. शेखर ने किसी तरह अपने होंठ छुड़ाए और एक झटके से धारा को पीछे की तरफ़ घुमा दिया.

फिर स्मृति ने भी एक स्ट्राबेरी ली और मेरे लण्ड पर उसका रस टपका कर उसे चूसने लगी और मेरे लंड पर किस करने लगी.

फ़लक की चूचियाँ शर्ट से लगभग बाहर थीं क्योंकि शर्ट के ऊपर के तीन बटन खुले थे जो बंद ही नहीं हो रहे थे. डॉक्टर सेक्सी पिक्चरपहले मैंने ताई की चुत में दो उंगली डालीं और उन्हें उंगलियों से चोदने लगा. बफ सेक्सी फुल हदनिखिल को बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने करवट बदल ली और गहरी नींद के बहाने से मीरा के चुचों में मुँह घुसा दिया. भाभी ने मुझे अपनी चूत सूंघते हुए देखा तो बोलीं- ये क्या कर रहे हो जानू … चाटो न … जल्दी से.

एक शाम को मैं घर में बहुत बोर होने लगी थी, तो मैंने अपनी पुरानी साईकल को सही करा ली और शाम को मैं रोज़ एक घंटा साईकल चलाने लगी.

मैंने जाकर मामी को पीछे से कसकर पकड़ लिया तो उन्होंने कहा- ब्रश कर लो, नाश्ता तैयार है. रोहन के आगे नेहा का शर्माना लाजमी था।नेहा ने अब मेरे लिंग को अपने मुलायम हाथों में कस लिया और हिलाने लगी. उनको शक हो गया कि बाथरूम में कविता पहले से थी तो विवेक क्यों गया? भैया जब तक नीचे आते विवेक जा चुका था लेकिन भैया को शक हो गया था.

अब मैं भी मौका देख कर अपनी गांड ले जाकर एकदम से उसके लंड से चिपका देती. मैं अभी कुछ और समझ पाता इससे पहले मेरी मां नीचे झुक कर मेरा लंड चूसने लगीं, साथ ही वो बीच बीच में लंड की मुठ मारने लगीं. उसने जैसे ही हाथ बढ़ाया, मैंने जान बूझकर पैसे गिरा दिए और बोली- ओह्ह सॉरी … मैं उठा देती हूं.

मद्रासी बीएफ सेक्सी मद्रासी

मैंने अपने फ़ोन में वो वीडियो प्ले कर दिया, जिसे देख कर वो चुप हो गईं और बोलीं कि इसे डिलीट कर दो. मुझे अहसास हुआ कि मैं जितना ज्यादा चूत चूस कर सुख पहुंचाता हूँ, आशारा भी लंड को उसी तेजी से चूस कर मेरा जवाब देती है. मेरे लंड का साइज आप ईमेल भेज कर देख सकते हैं, वैसे साइज 7 इंच का है.

आह्ह … धारा !!” शेखर के मुँह से बस इतना ही निकल सका।धारा ने धीरे-धीरे करके शेखर के लंड के उन सभी हिस्सों को जो कि उसके फ़्रेंची के होते हुए छुए या चूमे जा सकते थे, चूमा और अचानक से लंड को अपने दाँतों से पकड़ लिया.

ये करते वक्त प्रिया बहुत खुश हो गई थी और उसी के साथ प्रियंका भी मस्त हो गई थी.

तब तो वो आंख मारती हुई बोली- अच्छा जी … इसके लिए भी टाइम निकालना पड़ेगा?मैंने भी उसे आंख मार दी. थोड़ी देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर घोड़ी बनाया और उसकी गांड में हाथ फेरने लगा. ब्लू सेक्सी पिसातुरेमैंने एक निप्पल को अपनी दो उंगलियों में पकड़ कर खींचा, तो वो सिसिया उठी- उई मम्मी … क्या कर रहा है … ऐसे खींचा जाता है क्या?इस पर मैंने कहा- अभी क्या है रानी … अभी तो शुरुआत है.

वो फिर बोली कि तुमने अपना काम किया … अब तुम्हारा गिफ्ट तो बनता ही है. हम दोनों ने एक दूसरे को देखा और गर्मा गर्मी में एक दूसरे को चूमने चाटने लगे. उसकी आंख से आंसू बह निकले पर इन आसुओं में दर्द से ज़्यादा आनन्द के भाव थे.

उसकी रेशमी झांटों से मुझे कोई दिक्कत नहीं थी तो मैंने उसकी जांघों से किस करते हुए चुत के चारों तरफ किस करना शुरू कर दिया. अनिकेत भैया, विवेक और लूसी पिछले दरवाजे से घर में लगभग 10:30 बजे अंदर आए.

ऑफिस में मैंने सीनियर सेक्स किया प्रोमोशन के लिए। मेरी टीम की एक इंटर्न चुदकर हमारे असिस्टेंट मैनेजर को पटा रही थी.

अब तो उसे भी एक साथ अपनी चूत और गांड में हथियार लेना बहुत पसंद आने लगा है. मैं अपनी हथेली से उनकी चूत सहला रहा था और एक हाथ से उनकी ब्रा को खोलने की कोशिश कर रहा था, पर ब्रा थी कि खुलने का नाम ही नहीं ले रही थी. वहां काफी देर मस्ती करने के बाद जब करीब 6 बज गए तो उधर अंधेरा सा होने लगा.

গরম সেক্স खैर, धारा ने थोड़ी देर तक शेखर के लंड से उसी हालत में खिलवाड़ किया।फिर धीरे से उसकी फ़्रेंची में अपनी उंगलियाँ फँसा कर उसे नीचे सरकाना शुरू किया. ट्रिपल सेक्स हिंदी कहानी में पढ़ें कि कैसे एक विधवा जवान भाभी मुझे और मेरे दोस्त को अपने घर ले गयी चुदाई के लिए.

अब वो पूरी तरह से गर्म हो गयी थीं लेकिन मैं अभी उनको और ज्यादा गर्म करना चाह रहा था. मैंने उसको खाना और रहने की जगह दी और उसको अपने घर में काम के लिए रख लिया. मैंने पूछा- क्या देखना है?तो उसने मेरा लन्ड पकड़ कर बोला- ये देखना है.

बीएफ सेक्स ब्लू सेक्सी

मैंने किचन में जाते ही अंजू भाभी को पीछे से पकड़ लिया और उनको किस करने लगा. मैंने आंटी की चीखने की परवाह नहीं की और मैं उन के मम्मों को चूसता और काटता रहा. ’थोड़ी देर और उसकी चूत को चाटने के बाद जब उसकी चूत पूरी तरह से पानी से गीली हो गई.

मैंने उन्हें सहज करते हुए कहा- भाभी टेक योर ओन टाइम, आई ऍम नॉट इन हरी. वो मुस्कुराती हुई बोली- क्या हुआ बाबू … मुझसे डर गए क्या?मैंने कहा- क्यों?तब वो कुछ नहीं बोली और हंसती रही.

मैनेजर ने साहिल शाह नाम के एक लड़के को बुलाया और उससे कहा- ये राज सर हैं, हमारी गुड़गांव वाली ब्रांच से आए हैं.

में ना तो कहीं शेखर लिखा था और ना ही अभी तक उसने धारा को अपना नाम बताया था. हो भी क्यों न … चाहे कितनी भी महिलाओं को चोद लिया हो एक नए जिस्म के लिए लार टपकना तो स्वाभाविक है. कम भीड़ थी लेकिन वहां के पटोले, उनकी उठी हुई गांड कम भीड़ में ही ज्यादा मज़ा दे रही थी.

उसने बिना देरी किए मेरी पैंटी को निकाल दिया और सीधे मेरी चूत पर अपना लंड रखकर एक जोरदार धक्का दे मारा. पहले दो दिन इन्होंने मुझे ये सिखाया कि अजनबी लड़कों का लंड कैसे चूसना होता है और उन्हें कैसे शांत करना होता है. आंटी जोर से हंसी और बोलीं- तू क्या … तेरा तो अब सब कुछ बड़ा हो गया होगा.

कुछ सात-आठ जोरदार धक्कों के बाद मयंक ने गांड में से लंड को निकाल दिया.

सेक्सी बीएफ वीडियो देहाती लड़की: वैसे भी यहां चुदने ही आयी थी। अब बस इतना फर्क होगा कि भाई के लंड की जगह मेरी चूत में मेरे दीवाने का लंड होगा।मैं कुछ बोलती इतने में ही राजीव बोला- प्लीज़ मधुजी मान जाओ ना? बहुत दिन बाद मौका मिला है।मैं बोली- ठीक है, देखती हूं. उसके वीर्य के निशान देखकर मैं भी उनको चाट लेती थी और अपनी चूत में उंगली करती थी.

मैंने कहा- वो कैसे?वो बोली- कुछ नहीं इतिहास बाद में बताऊंगी … पहले भूगोल पर काम कर. एक दिन भाभी ने मुझे बुलाया और बोलीं- यार विराज, कुछ सब्जी वगैरह ला दे. भाभी- अब चोद दे यार विराज … तेरे हाथ जोड़ती हूँ मादरजात हहह अहहह आआईई ऊऊऊ.

मगर चाचा लोगों की नौकरी पास के शहरों में थी, इस वजह से उस मकान में सिर्फ मैं और मेरी मम्मी मीनू ही रहती थीं.

ये इतनी जल्दी में हुआ था कि धारा को कुछ समझने का मौक़ा ही नहीं मिला. वो बोली- कितने सवाल करते हो, तुम्हें तुम्हारा गिफ्ट चाहिए या नहीं!इस पर मैं कुछ नहीं बोला और एक हल्की सी स्माइल करके चुप ही बना रहा. भाभी की चूचियां ऐसे उछल रही थीं मानो क्रिकेट में हर बॉल पर सिक्स लग रहा हो.