खेती बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी इंडियन स्कूल

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स करने के तरीके: खेती बीएफ, वो मस्ती से चिल्ला रही थी- आआहह ओह प्लीज़ अब छोड़ दो … मुझसे सहन नहीं हो रहा है.

माधुरी दीक्षित के सेक्सी नंगे फोटो

लेकिन मुझे यह समझ नहीं आया कि वे मेरे से लेट नाइट बात कैसे कर लेती हैं जबकि वो अपने पति और बेटी के साथ रहती हैं. सेक्सी ब्लू पिक्चर दो नाये सब बिल्कुल एक पागल सांड की तरह चोदते हैं, ये जानते हुए भी मैं उन सभी से चुदने के लिए मरी जा रही थी.

रानी ने बाद में बताया कि मेरा झड़ने का समय बढ़ाने के लिए उसने ऐसा किया था, बोली- राजे लंड जब चूत में घुस कर तुनक तुनक करता है तो मुझे उसकी ताल से अंदाज़ लग जाता है कि तू अब झड़ने के करीब है तो उस वक़्त मैं तुझे धीमे कर देती हूँ. सेक्सी फिल्म चाइनीस मेंमेरे हाथों में लंड जाते ही वह समझ गया कि मैं भी उसका लंड लेना चाहती हूं.

मैं बायोलॉजी का स्टूडेंट हूँ, इसलिए मुझे सेक्स के बारे में सब पता था.खेती बीएफ: मैं उसकी मस्त चूचियों को देख कर इतना ही बोल पाया- वाओऊऊ क्या मस्त चूचियां हैं … लगता है ऊपर वाले ने बहुत प्यार से इनको बनाया है.

कूलर को मैंने अपने कमरे में लगाने के लिए मानसी से पूछा तो वो बोली- ठीक है.इसके लिए मैं एक आयुर्वेदिक तेल लिख देता हूँ जिसकी मालिश इसके पूरे शरीर पर करनी पड़ेगी.

सेक्सी बंद करें - खेती बीएफ

भाबी के चुचे … जो कि पहले से बड़े नज़र आ रहे थे और पीछे से उनकी बड़ी सी गांड … जो कि और बड़ी नज़र आ रही थी.वसुन्धरा की भृकुटि हर वक़्त यूं तनी रहती कि जैसे उस की पेशानी पर स्थायी तौर पर 111 लिखा गया हो.

वैसे हम लोगों के रूम के आगे काफी बड़ा ग्राऊन्ड है, जो खाली पड़ा रहता है. खेती बीएफ इन सब बातों के अलावा उन्होंने मेरे निवेदन करने पर अपने कुछ फोटो और अन्तरंग फोटो भी मुझे दिए.

हमें देख कर पारो बोली- आप थोड़ी देर रुको, मैं गुलाबो को लेकर आती हूँ.

खेती बीएफ?

ऊपर की ओर बढ़ती मेरे दोनों हाथों की उँगलियां बस, दोनों शिखरों तक पहुँचने ही वाली थी कि पर्वत शिखरों की ऊंचाई और बढ़ने लगी और साथ ही मेरी उँगलियों के पोरुओं तले पर्वतों का तल कुछ-कुछ कठोर हो उठा था. कमरे में जोरदार फच-फच की आवाज गूंजने लगी। जब मेरा लिंग वीणा की चूत के चिकने पानी से पूर्ण रूप से चिकना हो गया तब मैंने उसे वीणा की गांड के छेद पर टिका कर अंदर डालने का प्रयास किया।वीणा भी अपनी गांड का उद्घाटन विक्रम से शादी से पहले ही करवा चुकी थी इसलिए मेरे लंड ने वीणा की गांड में जाने में ज्यादा समय नहीं लगाया. उसके बाद नहाते हुए मैं फिर से सुमन को चाटने लगी तो सुमन बोली कि मैं थक गई हूँ.

मेरी चूत से पानी बहना शुरू हो गया था जो उस लड़के के हाथ की हथेली को चिकना कर रहा था. जिसमें पहले कुछ रोमांटिक गाने, फिर नग्न नृत्य और उसके बाद सनी लियॉन के सम्भोग दृश्य. बूंदाबांदी हो रही थी, मैंने गुप्ता जी से पूछा- सर सुबह सुबह कहाँ?गुप्ता जी बोले- डॉली का एग्जाम है, स्कूल तक छोड़ने जा रहा हूँ.

भाबी भी मस्त हो कर अपनी टांगें चौड़ी करके अपना टाइट भोसड़ा मुझसे चुदवा रही थीं. मैं बोली- ओके, पर ये तो बता कि इसमें तेरा क्या फायदा है?वो बोली- वो सब मैं बाद में बताऊंगी. अभी तक की कहानी में आपने पढ़ा कि अपनी चाची की बेटी मोनी के साथ मैं उसके ससुराल में उसके पति के घर आ गया था.

फिर उसने मेरे दोनों मम्मों को एक साथ किया और एक साथ ही मेरे दोनों दूध अपने मुँह से चूसने लगा. धक्का इतना ज़बरदस्त था कि रानी का बदन झनझना उठा और ऐसा लगा कि लंड ने बच्चेदानी पीछे की धकेल डाली हो.

मैंने उसकी चूत पर एक पप्पी दी और फिर उसको दीवार से सटा कर उसकी टांग को उठाते हुए उसकी चूत पर लंड को लगा दिया.

अपनी उंगलियों को उसकी चूत की फाँकों तक पहुँचाकर मैंने अब अन्दर ही अन्दर धीरे धीरे मोनी की चूत की फाँकों को मसलना शुरू कर दिया जिससे मोनी अपनी जाँघों को भींचकर नीचे से और भी ज्यादा दूसरी तरफ मुड़ गयी। उसकी ये तड़प और खामोशी मुझे अंदर से और भी ज्यादा बेचैन कर रही थी.

मानसी की टांगों को चौड़ी करके वो उसकी टांगों के बीच में बैठ गये और उसका टॉप उतारने लगे. नहीं तो अभी तक वो मुझे चोदने को कह देती या तो खुद ज़बरदस्ती मुझे पटक कर मेरे लौड़े पर चढ़ कर चुद लेती। ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि मैं उसको सैकड़ों बार चोद चुका हूँ और मैं उसके हर एक भाव से वाक़िफ़ हूँ। उसका यह भाव मुझे और भी उत्तेजित कर रहा था।उसके बदन की खुशबू पाकर मेरा लंड फिर से खड़ा होने लगा था जोकि एक बार पहले ही झड़ चुका था। मैं उसकी गर्दन के पास था. तू अब तक कहाँ था, सोनू? सोनू मेरे राजा, अन्दर बाहर करना शुरू कर और आज अपनी आंटी को चोद दे.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मौसेरे भाई बहन के साथ थ्रीसम सेक्स-2. आशीष के साथ फोन सेक्स करते हुए मैं जीजा के साथ चुदाई का मजा ले रही थी. अन्य लोगों की तरह मैं झूठ नहीं बोलूँगा कि मेरा लंड 8-9 इंच लम्बा है.

थोड़ी देर बाद मैंने अपने होंठ काजल के होंठ के ऊपर लगा दिए और उसके होंठों का रस पीने लगा.

वो शर्मा गई और बोली- नहीं!मैंने बोला- प्लीज़!वो मेरे लंड को पकड़ कर चूसने की शुरुआत की, पहले तो उसने सुपारा टेस्ट किया. पिछले 2 घंटों के करतबों के दौरान उसकी चूचियां बहुत सेंसिटिव हो गयी थीं. अम्मी को अब्बू के लंड की कमी महसूस होती होगी, ये बात मैं समझ सकता था.

उसकी इस हरकत ने मेरा हाथ मेरे तने हुए लंड पर पहुंचा दिया और मैंने अपने लंड को सहला दिया. मैंने उसके होंठों को चूसते हुए अपने एक हाथ से लंड को पकड़ कर उसके ऊपर आते हुए चूत पर लंड को सेट कर दिया. अधिकतर अंकल अपने बेटे को देने के चक्कर में मेरे मम्मों को छू लेते, कभी कभी मेरे हाथ को छू लेते, उनका यूँ मुझे हाथ लगाना … मुझे जरा अजीब लगता, पर हल्की सी मन में गुदगुदी भी कर जाता था.

भाई ने ये कहते कहते मेरी टांगें फैला दीं और अपना लंड सैट करके मेरी चूत में डाल दिया.

यह कहानी बाली रानी की स्वीटी डार्लिंग, सब रानियों की महारानी, मेरी बेग़म जान, प्राणों से भी प्यारी अंजलि रानी को समर्पित है. सोनल के हाथ में सिगरेट फंसी थी, जिसे वो बड़े मजे से पीते हुए राधिका के मम्मों पर फूंक रही थी.

खेती बीएफ उनके एक खेल के अनुसार मुझे आंख पर पट्टी बाँध कर तीनों के बारी बारी से मम्मे मसल कर ये तय करना था कि पहले दूसरे तीसरे क्रम के अनुसार मैंने किस किस के मम्मे दबाए थे. नीचे बैठते ही दीदी का फ्रॉक उसकी चूत के सामने फैल गया और मुझे सच में कुछ भी दिखाई नहीं दिया.

खेती बीएफ गुप्ताइन बोली- तुम समझ रहे हो तुम क्या कह रहे हो? कहाँ 18 साल की वो मासूम बच्ची और कहाँ तुम्हारा गधे जैसा लण्ड. मैं शुरू से ही मामी को पसंद करता था और शायद मामी भी मुझे पसंद करती थीं.

मैंने पूछा- आप क्या करोगी?वो बोली- कुछ भी, पर तुम मुझे मना नहीं करोगे.

इंग्लिश बीएफ एचडी सेक्सी वीडियो

मुझे देख कर मेरे स्कूल के लड़के और मेरे भाई के दोस्त अक्सर आहें भरने लगते थे, परन्तु मैं इन सब में कुछ नहीं समझती और अपनी ही मस्ती में मस्त रहने वाली एक अल्हड़ कच्ची कली थी. उसकी गोरी और मोटी चूचियों को दबाते हुए उसकी चूत में लंड के धक्के लगाते हुए जो आनंद आया मैं उसको कैसे बताऊं दोस्तो, ऐसी किस्मत बहुत कम लोगों की चमकती है जिनको ऐसी चूत नसीब होती है. आपको एक बात बता दूं कि मुझे गालियां देते हुए सेक्स करने में बहुत मज़ा आता है.

लेकिन पॉइंट्स के हिसाब से ये तय हुआ कि मुझे सबसे पहले अपनी बहन सोनल की सील तोड़ने पड़ेगी, फिर ही मैं दिशा को चोद पाऊंगा. उसकी बात सुनकर वो महिला भी उससे पूछने लगी- और मेरा फोन कितनी देर में मिलेगा?उस कर्मचारी ने उस महिला के फोन के लिए देखा और कहा आपका फोन भी तीन घंटे में ही मिल पाएगा. बयालीस वसंत पार कर चुकी खूबसूरत, विवाहिता, दो बेटों की माँ, सभ्रांत और बैंक अधिकारी महिला के साथ सेक्स करने का का वो अनुभव भी कमाल का रहा; पर वो सब बातें मेरी कहानी का विषय नहीं हैं.

मेरी पिछली सेक्स कहानीभाभी ने घर बुला कर मेरे लन्ड का शिकार कियाआप सभी ने पसंद की, धन्यवाद.

वो मेरी तरफ देख कर बोला- तू आराम से खुल कर मजे ले रंडी, मुझे भी अपने बाप की तरह ही समझ. मानसी के ऊपर लेटकर रितेश जीजू ने उसके होंठों को जोर से चूसते हुए उसके चूचों को मसल डाला. मैं उसे निकालने को बोल रही थी, पर वो पूरे ज़ोर से मेरी गांड मारे जा रहा था.

उसने मुझे गाली देते सुना तो उसने मुझे भी गाली देते हुए बिस्तर लाके पटक दिया और मेरी टांगें फाड़ते हुए लंड सैट किया. मैं कुछ देर इसी तरह लेटी रही, फिर कुछ देर बाद उठी मुझे बहुत दर्द हो रहा था. मैंने उसके बोबे अपने हाथ में लिए और उसकी नंगी पीठ से बिल्कुल चिपक गया।मेरे ऐसा करने से वो वासना में डूब गयी। मैं उसी अवस्था में उसके कंधों पर चूमने लगा। उसके मुंह से कामुक सिसकारी निकली- आहह!मैंने चुंबन जारी रखा.

इसीलिए मैं अपने काम में लगा हुआ था। उसके चूतड़ों को पकड़ कर अपना पूरा मुँह उसकी चूत में घुसा रहा था। मैं जीभ को अंदर तक घुसा कर उसकी चूत की दीवारों को चाट रहा था।वो जोर-जोर से सिसकारियां ले रही थी- विशाल मेरी जान … तू मेरा भाई नहीं, मेरी जान है। मैं तेरी रखैल हूँ. उसने आंखें बंद किये हुए हल्की मुस्कान के साथ ‘उम्मम …’ की धीमी सीत्कार ली.

राज जी! सब मेरी गलती है जो मेरी बेटी मेरी आँखों के सामने तिल-तिल कर मर रही है. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी फ्रेंड के साथ एक ही बेड पर दोनों के साथ एक ही समय में सेक्स किया है और उसके बारे में मैंने अपनी पहली कहानीपहला आनन्दमयी अहसासमें जिक्र किया है। मुझे तो बेहद आनन्द आया था और उस आनन्द की कल्पना करूँ तो कई बार मन में आया भी कि काश एक बार फिर से वैसा ही करने का मौका मिले।5. पहले तो वो मुस्कुराई, फिर बोली- तू परेशान मत हो … मेरे पास एक तरीका है.

रास्ते में बहुत सारी बातें और हँसी मज़ाक होती रही दिन में!मेहर उतरते ही मेरा मूड बदल गया … या यू कहूँ तो डर सा लग रहा था। मैंने उनको कहा- होटल नहीं जाएंगे.

काफी देर तक मानसी जीजू के होंठों को पीती रही और जीजू ने नीचे से अपना हाथ निकालते हुए उसकी चूत को सहलाया तो मानसी के मुंह से निकल पड़ा- आआह्ह … जीजू का हाथ उसकी चूत पर लगते ही उसकी वासना ऐेसे भड़की जैसे जलती हुई आग में किसी ने घी डाल दिया हो. मैंने भी कहा- आज मैंने अपनी लाइफ की पहली चुदाई अपने ही भाई से करवा ली. मेरा मन नहीं लग रहा था और तुमसे बात होने के बाद मेरा लंड ढीला होने के नाम नहीं ले रहा था और सबके सामने मैं इस तरह रह भी नहीं सकता था, बार-बार तुमसे हुई बात मेरे जहन में आ रही थी, इसलिए मैं तुरन्त होटल आया और नंगा होकर तुम्हारा नाम लेते हुए मुठ मारने लगा.

आज मैं जो कहानी आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ, वो किसी और की नहीं, मेरी अपनी है. मौसी के इतना बोलते ही मैंने लंड को मौसी के चूत के छेद पर टिकाया और एक जोर का धक्का दे मारा … पहले ही धक्के में मेरा करीब आधा लंड मौसी की चूत में घुस गया.

लंड की छुअन से मुझे अच्छा तो लग रहा था, लेकिन इस गांड चुदाई के खेल में बहुत दर्द भी हो रहा था. मगर अभी मुझे 12 बजे का इंतजार करना था ताकि माँ गहरी नींद में सोती रहे. मैंने फिर से पूछा- सही बताओ कि तुमने कभी ऐसा किया है? वैसे मुझे कुछ मालूम है.

सेक्सी इंग्लिश ब्लू सेक्सी

काजल के इतना बोलते ही मैंने एक ज़ोरदार शॉट मारा और उसकी चूत में मेरा वीर्य निकलने लगा.

फिर एक दिन मैंने उंगली टेढ़ी करने की सोची क्योंकि सीधी उंगली से तो घी निकलना मुझे संभव नहीं लग रहा था. लंड घुसते ही वो दर्द से चीख रही थी, पर उसकी चीख मेरे होंठ उसके होंठ पे होने से मुँह में ही दबी रह गई. मैंने कहा- देता हूं भाई लेकिन!क्या लेकिन?”वही …”क्या वही?”बस एक बार …”नहीं यार, क्यों मेरे पीछे पड़ा है?”तेरा पिछवाड़ा है ही ऐसा.

जब वो मुझे चोदते-चोदते थक गयी, तो मेरे बगल में अपनी टांगें फैलाकर लेट गयी. मैंने कहा- दीदी मैं आपकी टी-शर्ट उतार दूं?तो दीदी ने हां में सिर हिलाया. गर्भवती औरतों की सेक्सी वीडियोबस वही हुआ … जो होने वाला था और उसकी चुत से पानी रिसने लगा, वो भलभला कर झड़ने लगी और ऐसे साँस लेने लगी, जैसे वो तृप्त हो गई हो.

फिर उसने अपने लंड को पकड़ा और सुमिना की चूत में घुसा दिया और दोबारा से उसके होंठों को चूसने लगा. मैं आंखें बंद करके महसूस कर रही थी कि वो अपना लंड लेकर मेरे सामने ही खड़ा है.

काफी देर तक एक दूसरे को फोरप्ले का मजा देने के बाद हम बिस्तर पर चुदाई के आसन में हो गए. इतना बोल कर शायना बुआ नीचे बैठ कर मेरा लंड चूसने लगीं और दस मिनट तक ऐसे ही चूसती रहीं. मेरी लाइफ की यह पहली स्टोरी थी जिसमें मैंने एक कुंवारी गांव की चूत को पहली बार चोदा था.

भाभी ने कहा- मैं तो तेरी भाभी हूँ, मुझसे कैसी शर्म … चल अपना औजार बाहर निकाल कर दिखा मुझे. थोड़ी देर तक मैं उसकी चूत की गंध को अपने नथुनों में भरा और फिर फांकों पर जीभ फिराने लगा. मोनी के पैरों को सहलाने में मुझे मजा सा आ रहा था इसलिये उसके पैरों को सहलाते-सहलाते मैंने अब अपने पैर से धीरे-धीरे उसकी साड़ी व पेटीकोट को ऊपर की तरफ खिसकाना भी शुरू कर दिया.

रितेश जीजू भी पूरी मस्ती में अपनी गांड को आगे-पीछे करते हुए मानसी को लंड चुसवा रहे थे.

मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि इस आनंद का अंत दो पल में ही हो जायेगा. मैंने सोनल से पूछा- सोनल, मजा आया न?सोनल- बहुत ज्यादा, लेकिन दर्द हो रहा है.

दोस्तों आपकी मेरी पिछली कहानीमौसेरी बहन की कुँवारी चूतकी सराहना से प्रेरित हो कर मैं फिर हाज़िर हूं एक और मदमस्त आपबीती ले कर. वनिता बोली- ओके बाबू जी, वैसे मेरी सहेली का टेस्ट कैसा है?तो वो बोले- मस्त है. अच्छा हट्टा कट्टा, ऊंचा लम्बा, मज़बूत कद काठी का लड़का था और शायद हैंडसम भी था.

उसकी भूरी आंखें, काले लंबे बाल और उसके होंठ तो गुलाब की पंखुरियों से थे. कुछ देर तक मोनी की सन्तरे जैसी चूचियों को सहलाने के बाद मैंने मोनी को सीधा करके अपनी तरफ खींचने की कोशिश की ताकि मैं उसकी चूचियों का रसपान कर सकूं. ये कह कर उन दोनों ने जगह बदल ली अजय नीचे चूत पर आ गया और ऐसे चूत चाटने लगा, जैसे पहली बार कोई चूत मिली हो.

खेती बीएफ तभी मैंने देखा कि नीना अपनी चूत से बाप का मुँह अलग करके बोली- पापा, मेरी भी दीदी की तरह उंगली से चोदते हुए थोड़ी चूचियां पीजिए न. चलो कोई बात नहीं गुड़िया रानी, जैसी तुम्हारी मर्जी!” अंकल जी बोले और मुझे बेड पर लिटा कर मुझसे लिपट गए.

बंगाल के बीएफ सेक्सी वीडियो

एक दिन सुबह कहीं जाने के लिए कार निकाल रहा था तो देखा कि गुप्ताइन की लड़की डॉली छाता लेकर खड़ी थी और गुप्ता जी स्कूटर निकाल रहे थे. दोपहर में हम घर में ही रहते थे, तो वनिता मेरे घर आ जाती थी या मैं उसके घर चली जाती थी. मैंने जैसे ही लंड डाला, मौसी की अनचुदी गांड की कसावट से मुझे भी दर्द होने लगा.

मैडम ने पैरों में किसी मखमली से गहरे नीले कपड़े की स्लिपर पहनी हुई थी. इस तरह से उन्मुक्त होती चाची की चुदाई करते समय मेरे ऊपर हवस और बढ़ती जा रही थी. सेक्सी फिल्म वीडियो चालू करोअगर मैं उससे ये पूछता कि आप क्या पढ़ाई कर रही हैं तो शायद वो मुझे लल्लू समझ बैठती क्योंकि वो मेरी बहन के साथ ही पढ़ाई कर रही थी इसलिए ऐसा बेतुका सवाल पूछ कर मैं अपना इम्प्रेशन बनने से पहले ही बिगाड़ना नहीं चाहता था.

इसी बीच मैंने उसकी गांड में उंगली डाल दी, चिहुंक कर वो एक किनारे हट गयी.

करीब 5 मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी चुत में ही झड़ गया क्योंकि बहुत दिन बाद चुत मिली थी, तो मैं जल्दी झड़ गया. उसने बताया कि महेश ने उसे मेरे द्वारा किए गए सारे एहसान के बारे में बताया है.

जब मुझसे लंड चुसाओगे तो और क्या होगा?” मैं तेज आवाज में बोली।वो पास आ गया. वो अचानक हुए हमले के लिये तैयार नहीं थी, बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… रुको!पर मैं कहाँ रुकने वाला था, तब तक मेरा दूसरा धक्का उसकी चुत को झेलना पड़ा और मेरा पूरा लंड अंदर हो गया. उसने मुझे चोदने के लिए एक अलग फ्लैट ले लिया था जो मेरे घर से थोड़ी ही दूरी पर था.

तुम्हारी ये सेक्सी आवाज और सेक्सी बात सुनकर मैं अपना लंड मसल रहा हूं, कहीं मेरा माल निकलकर मेरी पैंट न खराब कर दे.

मैं उसे निकालने को बोल रही थी, पर वो पूरे ज़ोर से मेरी गांड मारे जा रहा था. मैं अब ये समझ चुका था कि भाभी पूरी तरह गरमा गयी है और अपनी गर्म चुत में मेरा लंड डलवाने को मचल रही है. दोपहर में हम घर में ही रहते थे, तो वनिता मेरे घर आ जाती थी या मैं उसके घर चली जाती थी.

लड़की और जानवर की सेक्सी मूवीजीवन में पचासों लड़कियों औरतों को चोदा था लेकिन इतनी टाइट और छोटी चूत पहली बार देखी थी. जब भी मेरी छुट्टी रहती है, मैं मस्ती करने मामी के पास चला जाता हूं.

सेक्सी बीएफ फुल एचडी देसी

मुझे चूसने के बारे में नहीं पता और मेरा मन भी नहीं कर रहा था उनके लिंग को अपने मुंह में लेने का मगर वो चाहते थे कि मैं उनके लिंग को मुंह में ले कर चूस लूँ. बंधन काफी मजबूत था। मैं आइस को उसके कंधों से कान और गर्दन तक घूमता। वो आनंद से उन्मादित हो उठती।ऐसा करने के बाद मैं उसकी बांहों के नीचे आ गया। चूंकि उसके दोनों हाथ ऊपर पुल-बार में बंधे हुए थे उसके आर्मपिट्स (बगलें) मेरी तरफ खुले हुए थे. मेरे लिए यह मौका पहली बार था कि मैं किसी लड़के के साथ हॉल में मूवी देखने आई थी.

सगाई हो जाने के बाद जैसा की गांव में होता हैं लड़का और लड़की को शादी के पहले तक मिलने नहीं दिया जाता. लेकिन जैसे ही जीजा ने मेरे बूब्स को दबाना शुरू किया तो सेक्स मेरी घबराहट पर भारी हो गया और मैंने जीजा के साथ मजा लेने का मन बना लिया. अपनी ही उंगलियां अपनी चूत में डाल डाल कर मैं अपनी भूख मिटाने की कोशिश करती.

वो जोर जोर से रोने लगी, कुछ बोलना चाहती थी, लेकिन बोल ही नहीं पा रही थी. वनिता बोली- हम्म झूठ मत बोलो यार … एक बात कहूँ, मेरे ससुर जी तुम पर फ़िदा हैं. अगले दिन जब मनीषा बाथरूम में नहाने गयी हुई थी और घर मे कोई नहीं था तो मैंने जागृति से पूछा- तुम्हें डर नहीं लगा रात को ऐसे बाथरूम में चुदाई करवाते हुए?वो बोली- जब मेरी बहन को अपनी चूत में तुम्हारा लंड चोरी से लेते हुए डर नहीं लगा तो मैं कैसे पीछे रहती.

क्योंकि मैंने निक से शादी कर ली थी और उसे निभाने का वचन भी बहुत बार दे चुकी थी. हालाँकि इस मजाक में कोई गन्दगी न तो मेरे दिमाग में थी, न उन सबके मन में … पर शायद मोनिका को बुरा लगता था.

मैंने भाभी की तरफ देखा और एक हल्की सी मुस्कान दी तो भाभी भी नॉर्मल हो गई.

सुमेर बोला- इसे तुम जब मर्जी चोद लेना पर ये राज किसी पर जाहिर मत करना, बेचारी लड़की बदनाम हो जाएगी. सेक्सी फिल्म वीडियो में राजस्थानरिदम जब भी मेरे भैया से मिलने के लिए मेरे घर आता था तो हम दोनों लोग नजरों में ही एक दूसरे से बात कर लेते थे. मां और बेटे का सेक्सी कहानीमेरा लौड़ा तुरंत खड़ा हो गया और मैंने उसके होंठों को वहीं पर चूसना शुरू कर दिया. ”अरे इसमें ऐसी वैसी कोई बात नहीं है। तुम खूबसूरत हो, मस्त चूचियाँ हैं, चिकनी चूत है, ये सब मजे लेने के लिए ही तो हैं.

जब मैंने अपने भाई की पत्नी वीणा को निर्वस्त्र देखा तो रीना भी वीणा के सामने फीकी लगी.

आह्स्स … जीजा … आह … मेरे मुंह से कामुक सिसकारियाँ और ज्यादा तेज होती जा रही थीं. मेरे हाथ को कुछ नर्म नर्म लगा तो कुछ फूल हटाए तो वहां फूलों में छुपी हुई दिलिया का चेहरा नज़र आया. शायद उसको भी उसकी चोदाई करते हुए लड़के का चेहरा देखना बहुत सुखद लग रहा था.

उसने मेरे लंड को हाथ में लेकर ज़ोर से दबा दिया और फिर लंड के ऊपर एक के बाद एक कई किस कर दिए. मैं अन्तर्वासना की एक नियमित पाठिका हूँ, मुझे यहां लिखी हुई सारी सेक्स स्टोरी बहुत पसंद हैं. फिर उसने मुझे लिटाया और मेरे ऊपर चढ़ गया और थोड़े से धक्कों में वो झड़ गया। मैं पूरे मज़े में थी.

हिंदी बीपी सेक्सी ब्लू पिक्चर

पर मैं जानती थी कि नंबर बाई नंबर सलवार पैंटी कुर्ती ब्रा सब को ही उतरना ही था. मैं आपसे सम्मोहित हो चुका हूं।विक्रम ने रीना की गांड को पकड़कर उसे उल्टा किया तथा रीना को स्तनों के बल लेटा कर पीछे आया और लगभग डॉगी स्टाइल में ही रीना को फिर से तैयार किया. उसने मेरी छाती से होकर अपना हाथ नीचे ले जाते हुए मेरी लोअर पर रख कर मेरे लंड को सहला दिया.

बूंदाबांदी हो रही थी, मैंने गुप्ता जी से पूछा- सर सुबह सुबह कहाँ?गुप्ता जी बोले- डॉली का एग्जाम है, स्कूल तक छोड़ने जा रहा हूँ.

मैं भी कभी-कभी अपनी गांड उठा कर उसका पूरा साथ दे रही थी और हम दोनों लोग बड़े मजे से सेक्स कर रहे थे.

मन तो मेरा भी था कि रात भर वहीं रुक के उसके तगड़े लंड से चुदती रहूँ. मेरी पैंटी में खुजली बढ़ने लगी थी और मेरी बुर बार बार गीली होने लगी साथ ही मम्मों में एक अजीब सी कसक, अजीब सी सनसनी मचने लगी, मीठा मीठा दर्द रहने लगा; दिल करता कोई इन्हें अच्छे से मसल डाले और आटे की तरह गूंथ दे एक बार. सेक्स अंग्रेजी सेक्सी वीडियोउसके मुँह से तेज आवाजें आने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ्फ …’मुझे उसके मुँह से निकलती आवाजें और जोश दिला रही थीं.

मैं धीरे धीरे चाची की चुचियों पे किस करता हुआ नीचे आने लगा और रबड़ी को चाटने लगा, जो चाची ने अपनी चूत की फांकों के बीच लगाई हुई थी. अगला दिन गुजरने के बाद जब रात आई तो मोनी खुद ही मेरे पास मेरे साथ बिस्तर पर आकर लेट गई. उसने एक अच्छी स्लट की तरह हाथ ऊपर करके अपनी पूरी जवानी को मुझे परोस रखी थी.

मुझे लगता था कि मम्मों के बड़े न हो पाने का कारण उसका पति था, जो एक शराबी था. वो हंसा और उसने खुल कर कहा- आशना, क्या तुमने कभी हकीकत में मर्द का लंड देखा है कि बस सिर्फ़ मूवी में ही देखा है?मैं उसकी इस खुल्लम खुल्ला बात से बहुत शर्मा गई और बोली- तुम ये क्या कह रहे हो?उसने कहा- बोलो ना यार … मुझसे शर्मा क्यों रही हो?मैंने कहा- नहीं मैंने कभी नहीं देखा.

तभी मैंने उनकी एक चूची के निप्पल को उंगलियों से पकड़ कर जोर से उमेठ दिया.

कुछ ही देर में कूलर के सामने लेटने से मुझे नींद आने लगी और मैं सोने के लिए कहने लगा. मैंने घर पे फोन कर के बोल दिया कि मैं आज मेरी फ्रेंड के घर रुक रही हूँ. फिर मैंने एक जोर का झटका मारा, अबकी बार मेरा आधा से ज्यादा लंड उसकी चुत में घुस गया था.

हिंदी सेक्सी वीडियो चोदते फिर अंकल मेरे मम्मों को देख कर बोले- मस्त लाल टमाटर लग रहे हैं और आज तो मैं गांड में भी लंड डालूंगा. होता भी क्यों नहीं … दो दो लड़कियां उसके सामने कपड़े जो उतार रही थीं.

पैंटी उतरते ही मेरी आंखों के सामने साफ गुलाबी बाल रहित चूत उभर कर आ गई. भाभी बोलीं- देवर जी, आज तो तुमने मुझे ऐसा मज़ा दिया है कि मैं क्या बताऊं. या फिर चलो दोनों लोग एक साथ ही मूतने चलते हैं, मैं तुम्हें मूतते हुए देख लूंगी और तुम मुझे.

व्हिडिओ सेक्सी चुदाई

मगर फिर भी मुझे उसका काफी नशा हो गया था।रोजाना‌‌ की तरह ही शायद कुछ देर बाद मोनी को तो नींद आ गयी मगर उसको अपने बगल में सोता देख कर मुझे‌ बैचनी सी होनी शुरू हो गयी। एक तो मैं पहले से मोनी की तरफ आकर्षित था और ऊपर से मेरे दिमाग में शराब का नशा भी चढ़ा हुआ था. कुछ देर चोदने के बाद उसने अपना लंड चूत से बाहर निकाल लिया और मेरी चूत को चाटने लगा. थोड़ी देर के बाद उसे थकान होने के कारण गहरी नींद आ गई थी।रात के करीब 3:00 बजे थे। विक्रम और रीना के कमरे से आने वाली चुदाई की आवाज भी रुक गई थी। शायद वो दोनों भी सो गए थे।इस तरह आज भाइयों ने अपनी बीवियों को बदल कर भोगा था, देवर ने भाभी और जेठ ने बहू की चूत चुदाई की.

आगे बहुत बड़ा लॉन था जिसके बगल में गेराज को जाने वाला रास्ता था और घर में प्रवेश के लिए बरामदा भी था. जिससे वो भी गर्म हो गई और अपनी दोनों टांगों को पूरा फैला कर अपनी बुर को चुसवाने लगी.

पर कुछ ज्यादा समय हो गया, माँ वापस नहीं आईं, तो मैं उनको देखने के लिए गया.

नतीजा यह हुआ कि तीन चार महीने में ही मेरा चुदाई में ठहराव एक घंटे से ऊपर निकल गया और लौड़े से झड़ने वाले लावा की मात्रा भी न सिर्फ काफी ज़्यादा हो गई बल्कि लावा ज़्यादा गाढ़ा भी हो गया. वो जब किचन से बाहर निकल कर आईं तो उन्होंने गुलाबी रंग की साड़ी और ब्लाउज पहन रखा था. आंटी पहले तो दिखावे का विरोध करती रही लेकिन बाद में उन्होंने हथियार डाल दिये.

उन्हें रात के बारे में सब कुछ समझ आ चुका था लेकिन वो पापा के सामने कुछ बोल भी नहीं सकती थीं. उसकी चूची दबाते हुए मैंने उसको बोला- कैसी हैं मेरी रंडी … आज बहुत दिनों बाद मिली है … खुल कर चोदूंगा तुझे. एक बार की बात है हम दोनों बातों ही बातों में और आपसी छेड़ छाड़ में इतनी उत्तेजित हो गयीं की पूरी नंगी होकर एक दूसरे के जिस्म से खेलने लगीं.

मैं बुआ के कान के पास जाकर बोला- बुआ, जब मजे ले रही हो तो नाटक करने की क्या जरूरत है.

खेती बीएफ: सिर्फ रानी को बाथरूम में चुदना पसंद नहीं था उसका कहना था कि बाथरूम में चलते हुए शावर में एक दूसरे की जीभ और बदन के संपर्क का लुत्फ़ गायब हो जाता है. वह अक्सर मेरी तरफ देखती रहती थी मगर मैंने कभी उस पर ध्यान नहीं दिया था.

मेरी भी नहीं?”मेरी इस बात पर वो हंस पड़ी और उसने मेरे सीने में मुक्का दे मारा. वही हुआ, मैंने उसका नाड़ा खोला और उसको अपने ऊपर लेटा कर लंड पिछवाड़े में डाल कर धकापेल में लग गया. मैंने सोचा कि ये लोग शादी में अपनी खुशियां मनाने आए हैं और मेरी वजह से ये पूरे 2 या 3 दिन मुँह लटकाये रहेंगे, तो अच्छा नहीं लगेगा.

भाबी- और वो गले लगाते वक़्त तुम्हें क्या मस्ती सूझ रही थी?मैं- मैंने क्या किया भाबी?भाबी- अच्छा तुमने कुछ नहीं किया … गले लगाते वक़्त तुमने मेरे कूल्हे नहीं सहलाए थे क्या?मैं- भाबी अब मैं क्या करूं … आपकी गांड को देख कर मुझसे रहा ही नहीं गया … इसलिए ये गुस्ताख़ी कर दी.

उनमें से दो लड़के उठे और हम दोनों बहनों की बगल वाली सीट पर आकर बैठ गये. उस पर लाल रंग की चादर बिछी थी और पूरे रूम में एक मादक गंध फैल रही थी जिससे माहौल पूरा सेक्सी हो रहा था. मैं- रुको न मौसी, इतना क्या जल्दी कर रही हो आप?मौसी ने खीजते हुए कहा- तू समझ नहीं रहा है, अगर कोई आ गया तो बहुत बड़ी प्रॉब्लम हो जाएगी, इसलिए जल्दी कर रही हूं, बाद में फिर कभी आराम से करना.