एसएस बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,देसी मोटी औरत का बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़कियों को दिखाओ: एसएस बीएफ पिक्चर, दोस्तो, अंतर्वासना पर इंडियन ससुर बहू सेक्स कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको बताना चाहती हूं कि यह एक सत्यकथा है जिसमें कपोल कल्पना का सहारा नहीं लिया गया है.

बीएफ पिक्चर वीडियो पर

क्या आ जाओ मतलब?इसके साथ ही मेरी नींद एकदम भाग गयी वरना अब तक मैं नींद में ही था. सेक्सी वीडियो पंजाबी सेक्सी वीडियो बीएफवो उसने जिम के दूसरे कमरे में लगा दी और हम दोनों शाजिया के आने का इंतज़ार करने लगे.

जिस पर उसके पति ने बताया कि जब हम दोनों घर से निकले थे, तो मैं अपनी वाइफ को बुर्का पहना कर यहां लाया था. हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो सेक्सीपता नहीं अचानक क्या हुआ, नहाने के बाद ममा ने मेरा और अपना शरीर पौंछा.

उसने अपनी कमीज की जेब से एक दारू का अद्धा निकाला और नीट ही हलक से नीचे उतारने लगा.एसएस बीएफ पिक्चर: मैंने थॉमस के लंड को हाथ में लिया और रोहन के सामने ही उसे मुँह में लेकर चूसने लगी.

अब तक की मेरी मां बेटा सेक्स स्टोरी हिंदीजवान सौतेली मां की चूत चुदाई की लालसा-3https://www.मैंने बिन्दू के टॉप को ऊपर उठाया और दोनों मम्मों को बाहर निकाल कर मसलना शुरू कर दिया.

बीएफ पिक्चर दिखाइए चुदाई वाली - एसएस बीएफ पिक्चर

यदि उसके गर्म होते ही उसको चोद दोगे तो आंनद तब भी आयेगा किंतु उतना नहीं आएगा.उसने मेरा हाथ अपने हाथ में लिया और अपना गर्म मस्त लंड मेरे को पकड़ा दिया.

मैं बोली- कैसा लगा मेरा सरप्राइज?वो बोला- बहुत अच्छा।मैंने बोला- ये मैंने पहले ही तय कर लिया था कि मैं तुमसे इसी तरह रेगिस्तान में खुले में चुदवाऊंगी. एसएस बीएफ पिक्चर मैं आपकी गालियों से पागल होकर कहने लगा कि हां मेरी चुदक्कड़ माल … आप जैसे कहोगी, मैं वैसे चोदूंगा.

मेरा ब्लाउज भी पतले कपड़े का था, जिसमें से मेरे निप्पलों ने कड़क होना शुरू कर दिया था और झीने से ब्लाउज में मेरे चूचुक एकदम तन गए थे.

एसएस बीएफ पिक्चर?

अन्दर शेफाली बोली- ये अंकुश कहां रह गया … अभी तक आया नहीं?तभी अंकुश भी आ गया और बोला- ये क्या … आज तो पूरा इंस्टीट्यूट ही खाली है. मैं इन्हीं ख्यालों में खोया था कि पता नहीं लड़का होगा या लड़की!जो भी हो हमने कभी कोई जांच नहीं करवाई थी कि आने वाला बच्चा लड़की होगी या लड़का, जो भी भाग्य से होगा वो ख़ुशी ख़ुशी मंजूर था हमें. मैं उनके शांत चेहरे पर काम वासना के वशीभूत होकर देखने लगी, वो शायद मेरे मन की बात समझ गए.

तब भी एक दिन कुछ ऐसा वाकया हुआ, जो आपके लंड खड़े कर देगा और लड़कियों व भाभियों की चुत गीली कर देगा. नेहा ने घड़ी की तरफ देखा और बोली- मेरा तो दो तीन बार डिस्चार्ज हो चुका है, अब तुम भी कर लो, कहीं मम्मी ना आ जाए?मैंने नेहा को फिर बेड पर लिटाया और मैं खुद बेड के नीचे खड़ा हो गया. जैसे ही मैं ऊपर पहुंचा उसी समय घर की बेल बजी और नेहा की मम्मी सरोज आ गई थी.

संगमरमर की तरह तराशा हुआ गुरजीत का जिस्म देखकर मेरा लण्ड उछलने लगा. मामी इठलाते हुए अपने बालों को झाड़ने लगी और मुझसे बात करते हुए पूछने लगीं- और बताओ अतुल … मम्मी पापा कैसे हैं … और घर में सब कैसा चल रहा है?मैंने हल्के से मुस्कुराते हुए बोला- सब ठीक ही चल रहा है मामी. ये कहते हुए मॉम ने अपनी एक उंगली मेरी चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करते हुए बोलीं- इसमें जब मर्जी हो, उंगली करवा लो, पैंटी उतारने की जरूरत नहीं होगी.

मैंने धीरे धीरे अपना लण्ड अन्दर बाहर करते हुए गुरजीत से पूछा- एक बात बताओ गुरजीत, तुम्हारे मन में पहली बार कब आया कि मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ?करीब तीन साल पहले. मम्मी ने उनको समझाया और बोला- बच्चों और बहुरानी को यहीं लेकर आ जाओ … और यहीं रह कर बच्चों का स्कूल में एडमिशन करवा दो … क्योंकि बच्चों के स्कूल के दिन खराब हो रहे हैं.

फिर उसका मैसेज आ गया कि किटी पार्टी कैंसल हो गई है और शॉपिंग के लिए चलना है.

फिर मैंने अपना लंड उसके मुँह में देने की कोशिश की, लेकिन उसने लंड चूसने से मना कर दिया.

मैं आपसे प्रेम करती हूँ, अगर आप मुझे नकार भी दोगे, तब भी मैं आपसे प्रेम करती रहूंगी. मैं थॉमस के लंड पर एक दो बार उछली और उसके लंड को पूरा अन्दर तक ले लिया. जिसे देख कर रश्मि के मन में एक ही बात आई- अद्भुत!रश्मि- अंकल पहले क्या करूं?उसने अपने होंठ लंड के सुपारे पर टिकाते हुए पूछा।रमेश- पहली बात तो ये कि तू मुझे अंकल बोलना छोड़ दे.

मम्मी बहुत जोर जोर से ‘आआअह … आआ … ऊऊऊह आआऔऊऊ ईईई करके चीखी क्योंकि शायद मेरी मम्मी बहुत दिनों के बाद चुदाई कर रही थी. जब मैं नीचे काम से जाता था या घर से बाहर कहीं जाना होता था तो अक्सर सुमीना भाभी मुझे दिख जाया करती थी. थॉमस जब झड़ने लगा तो उसने अपना माल मेरी जीभ पर निकाल दिया और मैंने भी उसे बड़े ही स्वाद लेकर पी लिया.

मगर फिर हम सोने चली गयी।दोस्तो, कैसी लग रही है आपको हमारी यह कहानी? आप अपने कमेंट फेहमिना को[emailprotected]पर मेल करके जरूर बताइएगा.

मेरी गांड मारने के बाद वे भी मेरे लंड के लिए अपनी गांड खोल देते थे. मैं ये सोच सोच कर और ज्यादा रोमांचित हो रही थी कि पति का बाप मेरी चूत मार रहा है. निष्ठा डार्लिंग, चलो अब अपने घुटने मोड़ कर ऊपर कर लो और अपनी चूत अपने हाथों से खूब अच्छे से खोल लो.

उनके चूमने, चाटने और चूसने में उनकी भूख साफ झलक रही थी। मेरे होंठ, गाल, ठोड़ी, गर्दन सब चूस गए. सूजे सुपारे को होंठों में जकड़ कर रश्मि ने तेज़ी से उसे चूसना चालू कर दिया. उसने अपना लंड मेरी चुत पर सैट किया और धक्का लगा कर अपने लंड को आधा अन्दर कर दिया.

लड़की की जांघें चाटने में मुझे वैसे भी अपार हर्ष और आनंद होता ही है.

अब उसने राजू को बोला- धीरे-धीरे लंड को मेरी चूत में डाल!राजू ने लंड डालने की कोशिश की. उसके मोटे लंड से मुझे काफी दर्द हो रहा था, लेकिन अंकुश धीरे-धीरे मुझे प्यार से सहलाते हुए अपने लौड़े के टोपे से ही मेरी चुत की मालिश करते हुए उसे अन्दर-बाहर करने लगा.

एसएस बीएफ पिक्चर वो तुम्हें इस रूम में ही मिलेगा, वो कल तुम्हें चोदेगा और तुम उसे डील साइन करवा लेना. और साथ में ये दो और चूत वालियों को ले के आ गयी, वाह!शैली- सुलेमान ने कुछ नहीं किया, उसे मेरी दीदी ने फंसाया है.

एसएस बीएफ पिक्चर पर मेरे आशिक़ को तो जैसे चैन ही नहीं था, उसने पीछे से आकर मेरे स्तनों पर हमला बोल दिया, उन्हें दबाने लगा। वो मेरी गर्दन पर चूमने लगा।अपनी गांड पर गर्म लन्ड का एहसास पाकर मैं भी आपा खोने लगी। मैं गैस पर रखे दूध को भूल गयी. यदि ये सुविधा होती तो अब तक मैं दिल्ली में ही मामी की फोटो मंगा सकता था.

मुझे मेरे घर में भी मन ना लगता … मुझे रात भर अपने बेटे की फिक्र होती रहती.

चुदाई करने वाला

मैंने भी अपना हाथ अदिति की जांघ पर रख दिया और धीरे धीरे सहलाने लगा. सुबह मेरा माथा चूमकर मां ने मुझे जगाया, तो मैंने आंखें खोलकर देखा और कुनमुना कर बोला- सोने दो ना मां. थॉमस भी अपने पूरे जोश में मुझे अपने लंड से चोद रहा था और मुझे मजा दे रहा था.

अह्ह्ह उम्म्म ओह याह … फ़क अर्जुन … आःह्ह्ह जोर से पेलो मुझे … उम्म्म!” मैं उसे चूमने लगी।अर्जुन ने मेरे पैरों को पकड़ कर मुझे बेड से आधा झुक जाने को कहा जिससे मेरी कमर के नीचे का हिस्सा बेड के किनारे था. हॉस्टल में मेरे साथ मेरी एक बहुत पक्की सहेली रहती थी जिसका नाम सनम जहाँ था. मैंने अपने बेटे से चलने को बोला, तो उसने कहा- आप अकेली चली जाओ मम्मी.

मेरे और मामी की उम्र में, उम्र का कम ही फर्क था, तो इस पर मामी बोलीं कि तुम तो मेरी उम्र के ही हो, तुम ही बताओ कि मैं कैसे जी रही होऊँगी.

रश्मि के मुंह से सच सुन कर रमेश हँसने लगा और बोला- तो झूठ बोलने की कोई वजह?रमेश ने उसे गोद से नीचे उतार कर कहा।रश्मि- पैसे ज़्यादा मिल रहे थे, इसलिए बोल दिया था. चूंकि पार्क में अंकल टाइप के लोग सायं के समय घूमने के लिए अक्सर आते हैं इसलिए पार्क मेरी पसंदीदा जगहों में से एक होती थी. मौसी ने अपनी भानजी की चुदाई करायीआप इस लिंक पर जाकर मेरी इस सेक्स कहानी का मजा ले सकते हैं.

वो कभी मुझे पूरी जान से कस लेती और कभी मेरी गर्दन तो कभी कंधे पर काट लेती. नेहा ने मेरा हाथ पकड़ कर चूम लिया और कहने लगी- राज, देखो, बेड शीट का क्या हाल हो गया है. उसके रात भर की दमदार चुदाई के बाद मुझे इसकी पूरी जरूरत थी क्यूंकि उसकी चुदाई से मेरी जिस्म में दर्द आ गया था.

तब अम्मी उस पर चिल्ला कर बोलीं- तुम दोनों सगे भाई बहन हो, तुम्हें शर्म ही आती है या नहीं!मेरी बहन बोली- तो आप कौन सी दूध की धुली हैं. इतने में ही मेरे पति ने मेरे मुंह में जीभ डाल दी और मेरे होंठों को पीने लगे.

अब वो मुझे बेतहाशा गंदी गंदी गालियां भी देने लगा था- ले साली रंडी … चुद मेरे लौड़े से … साली मादरचोद. मेरी गांड इस वक्त प्रकाश भाईसाब के लंड के कारण खुली हुई थी, सो मुझे कुछ दर्द-वर्द नहीं हुआ. इस सेक्स हिंदी स्टोरी में पढ़े कि कैसे मैंने अपनी पड़ोसन के साथ सेक्स शुरू किया.

कपड़े ठीक-ठाक करने के बाद हम बाहर आये और होटल का बिल भुगतान किया और फिर बाहर आ गये.

इसमें हकीकत की चाह करना भी बेवकूफी है।मैं उसकी बातों से सहमत भी था इसलिए मैंने कभी जिद नहीं की. मेरा लंड अब भी मामी की चुत में था और मामी की मादक सिसकारियां चीखों के मानिंद निकल रही थीं. वो मेरे चूतड़ों पर लगभग आधे खड़े हुए थे और मेरी कमर उन्होंने कस कर पकड़ी हुई थी.

इस तरह हम 69 की अवस्था में एक दूसरे को संतुष्ट करने लगे।जब उत्तेजना चरम पर पहुंच गयी तो मैं अपनी टांगों को मोड़कर उन पर बैठ गया. बेटे ने मां को चोदा कहानी के दूसरे भागजवान सौतेली मां की चूत चुदाई की लालसा-2में अब तक आपने जाना कि मैंने मां के मुँह में अपना लंड दे दिया था और वे मेरे लंड को चूसने लगी थीं.

ये करते करते हम दोनों को लगभग बीस मिनट हो चुके थे और अब मैं झड़ने वाला भी था. चूंकि अब हम लोग जमीन पर खड़े थे और मीता मेरे कंधों तक ही आ रही थी … जिससे उसकी चूचियां मेरे सीने पर दब रही थीं और लंड चूत पर दस्तक दे रहा था. जब दोस्तों के साथ मैं अपने कस्बे के तालाब में नहाने जाता, तो हम सब लौंडे जिनमें मैं व मेरे सारे दोस्त, अपना हाफपेंट व कमीज झट से उतार फेंकते और तालाब में उतर जाते.

लड़की चुदाई फिल्म

पिताजी ने फोन पर मां से क्या कहा था और घर जाकर मेरी मां के साथ मेरी चुदाई का सिलसिला किस तरह से चला, ये सब मैं मेरी मां बेटा सेक्स स्टोरी हिंदी में लिखूंगा.

मैं और तेजी से उसकी एक चूची चूस रहा था और दूसरे हाथ से उसकी दूसरी चूची को मसल रहा था. जवान लड़की की पहली चुदाई की कहानी का पिछला भाग:लॉण्डरी वाले से पहली चुदाई करवाई-1फिर रात को अचानक से गेट पर दस्तक हुई तो मैंने टाइम देखा तो रात के साढ़े बारह बज रहे थे. मैं- पर तुम्हें किसने बताया कि हम लोग इस बार तुम्हारे शहर में मिलने वाले हैं.

प्रतिभा भी इस समय उंगलियों को चूम कर मेरे प्यार के मधुरता पर मुहर लगा दे रही थी. ज़रा मुस्करा दो।वो मुंह बना कर बोली- तुम भी न, हमेशा अपनी बात मनवा ही लेते हो। ठीक है जाओ, और हाँ रात में ही आने की कोशिश करना।रमेश- बॉय!रति- बॉय! जल्दी आने की कोशिश करना।अब रमेश भी घर से निकल गया. बीएफ पिक्चर अंग्रेजीइसी बहाने कई आदमियों, लड़कों और बुड्डों ने भी मुझे छुआ और कभी मेरे मम्मों को, तो कभी गांड को सहलाया जाता रहा.

बैठा हूँ और नाश्ता कर लिया था सुबह!फिर बोली- मैंने जिओ का सिम ले लिया है जो तुम भाभी को दिए थे. उसका हाथ मेरी गांड पर आ गया था, जिसको वो ज़ोर ज़ोर से अपने हाथों से दबा रहा था.

अगर यकीन नहीं होता तो जाकर सोसाइटी में बोल दो कि इस केक पर तुम बैठी हो. ऐसा कहकर आप मेरे लंड को फिर से बेतहाशा चूसने चूमने लगीं भाभी और फिर अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी. मैंने दिमाग लगाया और उन पुलिस के लोगों को डरा कर भगाने के बाद पुलिस वालियों की चुदाई करने की बात कही.

उसे उठाने के बहाने जैसे ही मैं नीचे झुकी तो उसे मेरी गांड के दर्शन जरूर हो गए होंगे क्यूंकि उस वक़्त मैंने पैन्टी नहीं पहनी थी. मैंने उठना चाहा तो उन्होंने मुझे नीचे दबा लिया और मेरी चूचियों को पीने लगे. मैं कुछ बोलती इससे पहले वो फिर मुझसे गले लगकर किस करने लगा और बोला कि मैं आपको चोदना चाहता हूं.

इतना सुनते ही वो उठे और उन्होंने प्यार से मेरे चूतड़ों पर हथेली से चार पांच बार थपथपाया और नीचे झुक कर मेरी गांड का छेद चाटने लगे.

एसएचओ ने एसआई से कहा कि इनको गाड़ी में बैठाकर जहां से लेकर आए थे वहीं पर सम्मानपूर्वक छोड़ कर आओ. विभिन्न चुतों की चुदाई की कहानी के साथ बने रहकर आप चुदाई का आनन्द लेते रहिए.

वैसे भी मैं तो पहले भी लड़कियां चोद चुका था, तो मुझे सब पता था कि कब कितनी गहरी चोट मारनी है. जो उसमें चालू करने के बाद सबसे पहली कॉल की गई थी वो उसके नए प्रेमी का नम्बर था जो मुझे बाद में पता चला. ये सुनकर मैं मां से अलग हो गया और हम दोनों नहाकर नंगे ही अपने रूम में चले गए.

रमेश मुस्कराते हुए बोला- ठीक है, अब चल … मेरा लंड चूस।रीता झट से अपने हाथ को रमेश की पैंट पर ले गयी और उसे खोलते हुए उसने रमेश के लंड को बाहर निकाल लिया. सच कहूं तो मुझे बहुत डर लगने लगा था और घबराहट भी होने लगी थी कि कुछ अनहोनी न घट जाय. नैना चिल्लाते हुए बोली- आह … हां जो चाहो करो मेरी चूत के साथ … आह … फाड़ डालो मेरी चूत को … आह …अ … मैं मर भी जाऊं, तब भी तरस मत करना … इसको इतनी चोदो कि मैं दो दिन तक बिस्तर से नहीं उठ सकूं.

एसएस बीएफ पिक्चर हम दोनों एक सीमा तक ये सब कर रहे थे क्योंकि पार्टनर को तड़पाने का अलग मजा होता है. और बाद में इल्जाम लगा दोगी कि मैंने तुम्हें बहकाया है।इस पर खुशी का संयमित जवाब आया- वैसे तो प्यार की कोई उम्र नहीं होती.

हिंदी सेक्स चुड़ै

कुछ कहानी पढ़ने के बाद मुझे एक सेक्स कहानी बहुत पसंद आई, जिसमें एक औरत अपने बेटे के दोस्त से सेक्स करवाती है. तभी बैलेस बिगड़ने से मैं गिरने को हुआ, तो मेरा हाथ कुछ टेकने को बढ़ा. मेरी पिछली कहानीट्रेन में मिली गर्लफ्रेंडआपने पढ़ी जिसे आप लोगों ने काफी प्यार दिया था.

मैंने रोहन को यह नहीं बताया कि कल मुझे दूसरे पार्टनर से चुदने जाना है. सर के मोटे लंड का दहकता सुपारा मेरी चुत को फाड़ने के लिए फांकों में रगड़ने लगा था. बड़ी बड़ी चूची वाली बीएफउन्होंने अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत की फांकों के बीच में रखा और मुझे धक्का देने के लिए बोला.

हमारा क्या है, हम लोग तो हाथ चला कर अपनी आग निकाल लेते हैं … पर आपका तो उस तरह से करना भी आपकी आग को ज़्यादा भड़का देता होगा.

मैंने खुद को उनके ऊपर निढाल छोड़ दिया और अपनी चुचियों की मालिश का मज़ा लेने लगी. मैंने उसे फ़ोन लगाया और कहा- हैलो सर, मैं होटल आ गयी हूँ और ऊपर रूम में आ रही हूँ.

दोस्तो, मेरी इस भाभी की चुदाई कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि मेरी दोस्त की प्राची भाभी मुझसे चुदने के लिए मरी जा रही थीं. अंकल ने मुझे अपनी कुवारी बुर में ऊँगली करते देख लिया था और मुझे सेक्स के लिए मानसिक रूप से राजी कर लिया था. कुछ देर इधर उधर की बात करने के बाद उसने मुझसे पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?उसके इस तरह से एकदम गर्लफ्रेंड के बारे में पूछ लेने से मैं चौंक गया.

उसने लंड को बुर के छेद पर रखा और मेरी आंखों में ऐसे देखा … जैसे मुझसे इजाजत मांग रहा हो.

वो जाने लगी, तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और एकदम से खींचा तो वो मेरे ऊपर गिर गई और मेरे सीने से लग गई. यूं ही मां की चुत में उंगली करते हुए और उनके मम्मों का मजा लेते हुए तीन घंटे का सफर कब खत्म हो गया, हमें पता ही नहीं चला. अब मैं उसके ऊपर नजर रखे था कि ये कब इधर उधर हो तो इसका फोन चेक करूँ.

बीएफ बीएफ इंग्लिश फिल्मनिष्ठा रानी, इस ड्रेस में तो तुम बहुत बहुत ब्यूटीफुल और हॉट लग रही हो रियली!” मैंने तारीफ़ भरे स्वर में कहा. फिर वो उछल उछल कर लंड को अपनी चूत में लीलने लगी और चुदाई का मजा लेने लगी.

लड़की की चुदाई फिल्म

बिन्दू की मस्ती इतनी बढ़ चुकी थी कि उसकी चूत का रस उसकी गांड के छेद पर हर झटके पर थोड़ा थोड़ा निकल कर बाहर आ रहा था. पापा ने थोड़ा उखड़ कर कहा- वो तुमको चोदने के चक्कर में है, बड़ा रसिया टाइप का आदमी है, मैं जानता हूँ, बहुत बड़ा चोदू है. मैंने भी सारा ध्यान चुदाई पर केंद्रित कर 10 15 शॉट लगाए और अपने लण्ड से वीर्य की गर्म गर्म पिचकारियाँ मारते हुए अंदर तक बिन्दू की गहराइयों को लबा लब भर दिया और बिन्दू को बेड पर धकाते हुए लण्ड डाले डाले उसकी कमर के ऊपर पसर गया.

अब उसने मेरा सिर पकड़ कर अपनी चूत में लगाना चाहा लेकिन मैंने भी पहले से ही इरादा बना रखा था कि मुझे क्या करना है. फिर बोली- आज मौका मिल गया, फोन रख कर बाहर चला गया था तो मैंने तुरन्त तुमको फोन लगा लिया. दरअसल पहले दिन चुदाई के बाद बिन्दू की चूत की मांसपेशियां थोड़ी ढीली हो गई थीं और चूत ने लण्ड को जगह दे दी.

मां मेरे कंधे पर हाथ रखकर बोलीं- हर्षद नाश्ता अच्छा नहीं बना क्या? तुम शायद कुछ सोच रहे हो … क्या बात है हर्षद!मैंने बोला- कुछ नहीं मां … बस ऐसे ही. मैंने कहा- सारा काम तो पति वाला ही कर रहे हो, अब और क्या चाहिए?वो बोला- थैंक्स भाभी, आपकी वजह से ही सब संभव हो पाया है. ऐसी कामुक घोड़ी को काबू करना बहुत जरूरी था, तो मैंने गांड पर अपने हाथ से जोर की तीन चपत लगा दीं … वो भी चूत और गांड के बीच में, जिससे वो सिहर गयी और सीधा मुँह करके उसने अपने होंठ मेरे होंठों से लगा दिए.

मुझे स्खलित भी कर दिया और वो भी बिना लन्ड डाले! सच में राज … बहुत मज़ा आया मुझे!ऐसा कहते हुए वो मेरे ही सीने पर लेट गई. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:पंजाबन की बेटी के बाद पंजाबन भी चुद गयी.

रमेश- इसको नाम लेकर बुलाओ ना एक बार!रश्मि ने शरमाते हुए कहा- आपका ये … ये लंड बहुत बडा़ है अंकल।रमेश- हां बेशक … जब ये तुम्हारी चूत में जायेगा तो ये तुम्हें परम सुख देगा.

रात्रि साढ़े आठ के करीब मुझे भूख भी लगने लगी थी तो मैं हॉस्पिटल की कैंटीन से कुछ फ़ास्ट फूड्स और चाय ले आया और हम तीनों ने चाय नाश्ता किया. एक्स एक्स एक्स बीएफ देवर भाभी कीमैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी और उसकी जींस का हुक खोल कर उसे भी उतार दिया. घोड़ा और लड़की का बीएफ सेक्सओके डार्लिंग चलो खा लेते हैं, पहले ये बताओ कि तुमने ये अपनी पिंकी चिकनी तो कर ली न?” मैंने उसकी चूत की तरफ इशारा करते हुए पूछा. फिर मैं सुमीना और उसके बेटे को लेकर नजदीक के एक अस्पताल में लेकर गया.

कभी उसकी जीभ लंड के अगले हिस्से पर घूमती तो कभी नीचे उसकी गोलियों पर।निशांत के मुंह से आह … आहह … करके सिसकारी निकल रही थी.

मैं बोला- तुम्हें अभी से पैसों की लगी है, पहले बच्चे को ठीक तो हो जाने दो. चूत पहली ही रस बहा कर चिकनी और चिपचिपी हो चुकी थी, इसलिए चूत के मुहाने पर लंड का सुपारा रखते ही चूत ने मुँह खोल कर स्वागत किया. मैं इधर गांड हिलाए जा रही थी।उम्म्म अह्ह्ह अर्जुन … मेरे राजा … अब फाड़ दो अपनी चाहत की चूत।”मेरा इतना कहना ही था कि अर्जुन ने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी.

हमने तो सोचा कि हम सेक्स कैसे करेंगी? इसका तो लंड खड़ा होने में भी टाइम लगेगा. मैंने उसको बोला- तेरी चूत में आग नहीं लग रही क्या?तो वो बोली- यार मेरी चूत तो तुझे सुबह टॉवल में देखकर ही पानी छोड़ गयी थी. फिर एक जोरदार किस करके बोली- आपने तो आज जन्नत की सैर करा दी … आपने अभी तक अपना लंड भी मेरी चूत में नहीं डाला, फिर भी मुझे इतना मज़ा दे दिया.

सेक्सी एचडी ब्लू

वो मेरी गांड को जोर जोर से मथ रही थीं और मैं उनके ऊपर पूरे जोर शोर से अपने लंड की मार कर रहा था. और मैं अपनी शादी से बाहर पहली बार अपने पति की जानकारी में छिनालपन करने जा रही थी।मैंने उन्हें बेड पर बुलाया. एक दिन मैं स्विमिंग इंस्टिट्यूट से घर जाने के लिए निकली और ऑटो के लिए इन्तजार कर रही थी कि तभी शेफाली अपनी कार लेकर आई.

मामी ने मेरी तरफ देखते हुए मुस्कुराते हुए देखा और ये बोलते हुए पेटीकोट उतारने लगीं कि मुझे मालूम था कि तू मुझे वाशरूम के दरवाजे की झिरी से देख रहा है.

मैंने नाराज होते हुए कहा- क्यों क्या बुराई है इस ड्रेस में!अंकुश बोला- सॉरी रोमा मैं तुम्हारा मजाक नहीं उड़ा रहा हूं … पर तुम्हारी ड्रेस ही इतनी बड़ी है कि तुम चाह कर भी इस ड्रेस में फ्लोटिंग नहीं कर पाओगी.

ईईईई ह्ह्ह ह्ह्ह्ह्ह ह्ह्ह ह्ह्ह्ह मेरी चूत … आह भींच दो मेरे मम्मे … आह … सी … आह … मारो … और ज़ोर से मारो … फाड़ दो मेरी चूत … अपना पानी छोड़ दो मेरी चूत में अहह … आह्ह करते हुए झड़ गई. रश्मि की गांड का छेद बहुत छोटा सा था जो एकदम से सिकुड़ कर चिपका हुआ था. घोड़ा वाला सेक्सी बीएफ एचडीमेरी आँखें अब बंद हो रही थी, मेरी चूत की गर्मी अब बरदाश्त के बाहर थी.

इसके बाद अपनी जांघों तक मैंने ब्लैक रंग की स्किन पहनी उसके बाद मैंने थाई शू पहन लिए, जो जाँघ तक आते हैं. पर मेरे दिल ने कहा- संदीप, तुम ऐसे धीरज खो दोगे तो पता नहीं खुशी पर कोई अड़चन ना आ जाये!और मैंने कॉल नहीं किया।लेकिन मेरी नजर मोबाइल से हट ही नहीं रही थी. उन्होंने मुझसे कहा- अब तुम जैसे चाहो अपनी पोजीशन फिक्स कर लो, मैं नीचे से ऊपर नीचे करती हूं.

मीता तो मेरी इस हरकत से जैसे बावली सी हो गई उई मां … मर गई अंकल … उई उई उई हिस्स्स इस्सस … आग लगा दी है. पिताजी ने आगे कहा- बहुत दिन हो गए हैं … हम लता की ससुराल भी नहीं गए हैं.

देखते देखते सोचने लगी कि काश मैं इस वक्त अमेरिका में होती तो किसी गोरे के लंड से चुदवा रही होती.

उसके बदले तो मैं अपनी जान भी दे सकती हूँ … तो फिर गांड क्या चीज है. मैंने उससे अपना हाथ छुड़ाते हुए कहा- ये क्या कर रहे हो तुम? तुम तो बेटे के कमरे वाले बाथरूम में नहाने गए थे!उसने बोला- मुझे आपके कमरे वाले बाथरूम में ही नहाना था. वो कुछ सेकेंड रुका और एक जोरदार झटके से अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चूत के अन्दर उतार दिया.

सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो बीएफ वीडियो उन्होंने कपड़े पहन कर सलीम से कहा- आज मौसम ठीक नहीं है … अब शायद कोई ग्राहक नहीं आएगा. मामी बोलीं- हां पी ले … मैंने कब रोका है … आ जा जल्दी से दोनों चूस ले.

और आपने अपना मुन्ना तो दिखाया नहीं?”मेरा मुन्ना भी देख लेना, गुरजीत कौर. मैंने तुम्हें नौकरी, तुम्हारी स्किल को देख कर नहीं, बल्कि तुम्हारे हुस्न को देख कर दी है. कुछ देर की घमासान चुदाई के बाद वो अकड़ने लगी और लंड को उसकी चुत में गर्माहट महसूस होने लगी.

पोर्न सेक्सी वीडियो एचडी

अब उसने सोफे के साथ में रखे ड्रॉअर से एक काले रंग का डिल्डो निकाल लिया. मैंने भाभी को जोर से जकड़ लिया और उनकी पैंटी में हाथ डाल कर उनकी चूत को अपनी मुठ्ठी में बंद कर लिया. मैं- ओह्ह क्लेरिसा! तुम्हारे बदन की मदमस्त खुशबू मुझे वासना में डुबोए जा रही है.

थोड़ी देर बाद मैंने सना की टी-शर्ट ऊपर कर दी और उसके मम्मों को दबाने लगा. उसका लंड इस बात से ही अकड़ने लगा था कि माल 20 साल का है और कुंवारी है.

कुछ देर ऐेसे ही जोर जोर से अपना लंड उसके मुंह में पेलने के बाद रमेश के लंड से वीर्य निकल गया और उसने सारा वीर्य रश्मि के मुंह में भर दिया.

लेकिन फिर उसने मम्मी के दोनों हाथों को पकड़कर जोर से साइड में किया और फिर से उनके ऊपर लेट करने जोर जोर से किस करना शुरू कर दिया. लंड अन्दर क्या घुसा, डेज़ी की आंखों से आंसू और मुँह से चीखें निकलना शुरू हो गईं. रकुल- समझ नहीं आ रहा कि मैं एक बिकाऊ चीज बनने पर दुखी हो जाऊं या फिर किसी के द्वारा इतनी तारीफ किये जाने की खुशी मनाऊं!राज़- वैसे एक समझदार औरत तो शायद खुश ही होगी।रकुल- और एक समझदार आदमी अपना मतलब निकालने के बारे में सोचेगा.

एकदम से मुड़ने से उसके और मेरे होंठ मिल गए और मैंने फायदा उठाते उए उसके होंठ चूम लिए. बॉस ने उन दोनों से बोला- आज हम दोनों शादी कर रहे हैं इसे दुल्हन की तरह तैयार करो. राजू ने बड़ी मुश्किल से अपना लंड बाहर निकाला और मेरे ऊपर आकर मेरे पेट पर अपना सारा पानी निकाल दिया और फिर मेरी बगल में आकर लेट गया.

मैंने सोचा कि देखते हैं ये कितने दिन तक मुझसे नए नम्बर के बारे में नहीं बताती है.

एसएस बीएफ पिक्चर: जैसे जैसे मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आ रहा था मेरे लण्ड का सुपारा मोटा होता जा रहा था और मेरे लण्ड की तमाम नसें उभर कर फूल गईं. उसके बाद अब मैं ऊपर आ गया और मैंने उसकी चूत में ताबड़तोड़ धक्के लगाते हुए उसकी चूत की चुदाई शुरू कर दी.

… एक ही बार में पूरा का पूरा लंड डाल दे … फाड़ दे मेरी चुत आज … आज खून निकाल दे इसमें से … आज पूरी की पूरी प्यास बुझा दे अपनी मामी की. मैंने मां को बेड पर लिटाया और 69 की पोजीशन बनाते हुए मैं उनके ऊपर आ गया. वो उदास होते हुए बोलीं- काश मैं उस टाइम अपने घरवालों से लड़ी होती, तो आज मेरी ज़िंदगी खुशहाल होती.

… करती हुई झड़ने लगी और जैसे ही वो वॉशरूम की तरफ भागी तो मैं भी बाहर आ गयी.

इस पर मेरी सौतेली मां बोलीं- हर्षद, तुमने तो बरसों से प्यासी अपनी माँ की चुत की आग बुझा दी है. मेरे होंठ उसके लंड को टच होने लगे, जिसमें से मुझे बहुत नापसंद आने वाली महक आ रही थी. थॉमस भी अपने पूरे जोश में मुझे अपने लंड से चोद रहा था और मुझे मजा दे रहा था.