बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी

छवि स्रोत,अफ्रीका फुल सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

पटना का सेक्सी बीएफ: बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी, अब उसने मुझे बेड पर लिटाया और मेरी दोनों टांगें अपने कंधों पर रख लीं.

सुहागरात वाला वीडियो सेक्सी

फिर हमने फोन पर बात की, तो वो दुखी मन से कहने लगी- काश मैंने आपसे शादी की होती. सीता की सेक्सी फोटोमुझे चूत में लंड लेते समय अपने मम्मों की चुसाई करवाना बहुत अच्छा लगता है.

कुछ देर रुकने के बाद एक बार मैंने फिर से उनकी चूत को थोड़ी देर तक चाटा. सेक्सी फोटो देखने कामैंने धीरे से अपनी गांड पीछे की, तभी उसने जोर से मुझे पकड़ कर मेरी गांड में अपना लंड घुसा दिया.

मैंने महसूस किया कि ऐसे डर के साथ चुदाई करने में जल्द पानी नहीं निकलता.बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी: वैसे तो मैं अपनी सास से नहीं डरती थी लेकिन उस वक्त बदनामी से डर लगता था.

मैंने नजदीक वाली को चुदाई के लिए बोला, तो वो कहने लगी कि मेरे पति आज रात को गुजरात से दो तीन दिन के लिए बाहर जा रहे हैं, तो घर में सिर्फ मैं और मेरे दो बच्चे हैं.उस दिन मेरे पति को बहुत ज़रूरी मीटिंग में जाना था तो वो रूक नहीं सकते थे.

जुने सेक्सी व्हिडिओ - बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी

लगभग दस मिनट की लंड चुसाई के बाद मैंने अपना माल भाभी के मुँह में ही निकाल दिया और वो एक प्यासी औरत की तरह सारा का सारा माल एक ही घूंट में पी गईं.उसकी चूची इतनी सॉफ्ट और छोटी थी कि मेरे हाथ की हथेली में पूरी समा गईं.

उन दोनों ने मुझे छत के बीच में खड़ा किया और दोनों अलग अलग दिशा में चार चार कदम नाप कर खड़ी हो गईं. बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी मुझे उसकी भावना और बातों से पता चल चुका था कि वो मुझे चोदना चाहता है.

कुछ देर लंड को चूत के दाने पर रगड़ने के बाद भाभी कहने लगी- राज, अब ज्यादा मत तड़पाओ और इसको अंदर डाल दो.

बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी?

चुपचाप खाना खाकर मैंने आंटी को थैंक यू बोला और गुड नाइट कहकर बाहर निकल कर आ गया. मैंने भी उसके कहे अनुसार उसकी चुचियों का हलवा बनाना शुरू कर दिया और फ़िर से दोनों निप्पल एक साथ मुँह में ले कर जोर से चूसने लगा. मीशा ने मेरा लंड अपने मुलायम हाथों से पकड़ लिया और उसे फील करने लगी.

शौहर ने मुझे छोड़ने से पहले मेरे साथ कुछ समय बिताया था, तब जी भर के मुझे मज़ा दिया था. मैं समझ गयी, मैंने भी वो आधा टुकड़ा अपने होंठों में ले लिया और उसे हम दोनों चूसने लगे. मैं मस्ती में आकर उसके बालों को पकड़ खींचने लगी, तो उसने और तेज़ी से उंगली अन्दर बार करनी शुरू कर दी.

समय दिए बिना मैंने दूसरा झटका मारा, और पूरा लौड़ा उसकी चूत के अंदर घुसा दिया. फिर मैंने उसे शांत करते हुए उसके आंसू पौंछे और उसको गले से लगा लिया. भाभी मेरे बाथरूम में नहाती और मेरे रूम में ही कपड़े पहनकर निकल जाती.

मैंने उनसे कहा कि सच है, ऐसे में मैं कहीं जाऊंगी तो अच्छा नहीं लगेगा. अब पापा का कॉल आया, तो मैंने आने की जिद की, तो बोले कि कह दिया, चुप रह … सुबह आना.

उसमें तो कई को मैं भी देख रही थी कि वे सीधे मेरे दूध में बताशा मार रहे थे.

भैया नहा कर नाश्ता करके बैंक चले गए और भैया को विदा करके भाभी मेरे पास आ गईं.

कुछ महीने पहले की बात है, जब मुझे पैसों की बड़ी तंगी आ गई थी, जिसके कारण में चार दिनों से चोदाई नहीं कर पाया था. तभी एक दिन उसके गांव में किसी के घर शादी थी, तो मामी और उसका भाई बरात में चले गए. साथ ही नीना ऊपर-नीचे सांस छोड़ने लगी जिससे चूचियां भी ज्वार-भाटा की तरह हरकत करने लगीं.

मेरे पति भी मुझे चोदते हैं, लेकिन इस लड़के से चुदवाने में अलग ही मजा था. फिर जिसका लंड मुंह में लेने के लिए मैं बेताब हो जाता उससे बातें शुरू कर देता था. शुरू शुरू मैं उसने थोड़ा विरोध किया, लेकिन बाद में वो मेरा साथ देने लगी.

मेरा मन ऐसा कर रहा था कि बस आज मैं इसकी हो जाऊं और इसे अपना सब कुछ दे दूँ.

मंजू ने सब्ज़ी पका दी थी, पर उसके बच्चे के रोने के कारण आटा लेकर वह अपने घर चली गई थी कि रोटी बनाकर ला देगी. सभी लोग जाने लगे। अब सभी लोग छत से जा चुके थे और मैं, निहारिका और उसके दो भाई-बहन छत पर थे। हम लोग वैसे ही कुछ देर तक बात करने लगे. मैंने देखा कि मिशिका के फोन में रिशु नाम के एक लड़के का मैसेज आया हुआ था.

थोड़ी देर बाद में मैंने जोश में आकर उनके पूरे कपड़े उतार दिए और भाभी को पूरी नंगी करके उनको पागलों की तरह किस करने लगा. परन्तु बुर एकदम नई थी, इसलिए मैंने सोचा कि इसे थोड़ा और तड़फ़ाया जाए ताकि पहली बार लंड लेने में इसकी गर्मी इसके दर्द के एहसास को कम कर दे. मैं- हैलो मेम, मैं मदन के दोस्त का पापा हूँ, वो आपके घर की चाभी लाया था.

ले मैं पहली बार इतनी जल्दी मेरा लंड लावा उगलने को तैयार हो गया वन्द्या.

मैंने अजय की तरफ देखा, जो वहीं बैठा, अपने लंड को लोअर के ऊपर से मसल रहा था. उसके इस तरह से लंड घिसने से मुझे बड़ी कामुकता और व्याकुलता का अहसास हुआ जा रहा था.

बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी उसने कोई विरोध नहीं किया।अब वो भी गर्म हो चुकी थी और मेरा साथ दे रही थी। मैं लगातार किस किये जा रहा था और एक हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था। फिर मैंने उसके बूब्स को छोड़ कर नीचे उसकी चूत में हाथ डालना चाहा हो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और फिर बोली- आज नहीं किसी और दिन. उम्म्ह… अहह… हय… याह… … सौरभ … ऐसे ही कर मेरी जान … ज़ोर से कर सौरभ … मैं आ गई सौरभ … और आंटी इतना कहकर फिर से झड़ गईं.

बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी मैं तो बस उन्हें चूसने में लग गया और मेरे हाथ उसके कपड़े उतारने में लगे रहे. वो मेरे बालों में हाथ फेरता हुआ कह रहा था- आह्ह्ह अह्ह माया तुम कामदेवी हो आह्ह्ह आह्ह्ह.

मुझे उससे चुदवाने में बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था.

કોલેજીયન સેક્સ વીડિયો

मैं उसे देखकर खो सा गया तो उसने पूछा- कहाँ खो जाते हो तुम?मैंने बोला- कहीं नहीं, आप हो ही इतनी हॉट कि कोई भी अपने होश खो सकता है. मैंने भी कह दिया- अगर आप मुझे किस करती हो, तो मैं समझूँगा आपको भी मुझसे कोई शिकायत नहीं है. उन्होंने हल्के से चुत को मेरे अपने दोनों हाथों से फैलाये और फिर अपनी जीभ को जैसे ही चुत में टच कराया, मैं उछल पड़ी.

मैं बहुत प्यार से तुम्हें कली से फूल बना दूंगा और इस परीक्षा की तुम टेंशन मत लो. ”अरे कुछ नहीं होगा मेरी जान!”मैंने थोड़ी जबरदस्ती की, थोड़ा सा थूक उसकी गांड पे लगाया और लंड को हल्के से उसकी गांड के छेद पे रख कर घुसा दिया. मैंने पूछा- खाना किधर है?वो बोले- इसको तुमने गर्म किया है ना … अब इसको ठंडा भी तो करो.

एक बार चारु ने मुझे एक पोर्न क्लिप दिखाई, जिसमें एक लड़की अपनी चूत में डिल्डो डाल कर अन्दर बाहर कर रही थी.

लेकिन इससे पहले कि मैं कुछ समझ पाता, उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर नाइटी के ऊपर से ही अपनी चुत के ऊपर रख दिया और दबाने लगी. लेकिन मैंने अपने लंड और अपने आप पर कंट्रोल किया और दूसरी ओर मुंह करके खड़ा हो गया और ऐसे दिखाने लगा जैसे मैंने कुछ नहीं देखा हो. काम वासना की जितनी आग निहारिका के अंदर मैंने देखी है उसके लिए तो उसको एक रति-क्रिया में माहिर मर्द चाहिए जो उसकी योनि की अग्नि में अपने वीर्य की बरसात कर सके.

पर मुझे ये पता था कि मेरी दवाई का असर खत्म नहीं हुआ है और मेरी आग अभी बुझी नहीं है. धीरे से निहारिका के कान के पास अपने होंठों को ले गया और मैंने उससे पलंग पर चलने को कहा. वो बोला- ऐसी कोई बात नहीं है … ज़िन्दगी ठीक चल रही है, बस मुझे खुद में रहना ज्यादा पसंद है, मैं हर हाल में खुश रहने की कोशिश करता हूँ, अच्छा हो तो भी, बुरा हो तो भी.

मैंने अपने लंड के मोटे सुपारे को उसकी गांड के छेद पर टिकाया और उसके कूल्हों को ज़ोर से जकड़ कर एक ज़ोर का धक्का लगाया. तभी प्रमिला ने बोला- ओ मेरे घोड़े … गांड में लिए बहुत दिन हो गए हैं.

इसी तरह दिन बीतते रहे और पूनम और मेरा दोस्त मेरे कमरे में चुदाई करते रहे, लेकिन मैंने एक बात नोटिस की, पूनम अब पहले से ज़्यादा चिल्ला चिल्ला के चुदाई का मज़ा लेती थी. दोनों ने इस मस्त चुदाई के बाद कुछ देर आराम किया और कुछ देर तक एक दूसरे से चिपक करके यूं ही लेटे रहे. पापा ने मुझे धक्का मारा, मैं नीचे फर्श पे गिर गई और उन्होंने मुझे भी लाठी से खूब मारा.

यह सुनकर वो भी थोड़ा मुस्कुरा कर बोलीं- हां क्यों नहीं … आपका हमेशा स्वागत है, अब से अगर किसी चीज की जरूरत पड़ी ना … तो मैं सीधे आपको बोलूँगी.

मैंने कहा- आप नेहा मैडम की दोस्त बोल रही हैं?तो उन्होंने कहा- हाँ!मैंने उनका हाल-चाल पूछा. आह्ह … उसके होंठों को चूसते हुए उसकी चूचियां दबाने में जो मजा आ रहा था वह मैं शब्दों में यहाँ पर कैसे बताऊं! मैं तो जैसे जन्नत में था उस वक्त. क्या कल कुछ देर में अमन के घर चली जाऊं?प्रीतम ने मेरी फुद्दी में अपना छोटा सा लंड डालते हुए कहा- क्यों नहीं, तुम कभी भी जा सकती हो.

वह बोला- मैडम हम यह सब आपको फ्री में दे देंगे … आप बुरा नहीं माने तो एक थोड़ी सी गुस्ताखी वाली बात कर दूं?मैं बोली- हां बोलिए क्या कहना चाहते हैं? मैं बुरा नहीं मानूंगी, आप दोनों मेरी हेल्प कर रहे हैं. करीब 20 मिनट के बाद हमने रेस्ट किया और कामुक आहें भर कर हम दोनों ने एक दूसरे की आंखों में खा जाने की वासना भरी नजर से देखा.

मैंने सोनू की बात नहीं सुनी और धीरे-धीरे अपना हाथ उसकी चूत के ऊपर फिराता रहा. 10 मिनट तक मैंने उसके होंठों को चूसा और उसके बाद मैंने कान के पीछे से चूमा. फिलहाल आप मुझे मेल करके बताइये कि आपको मेरे परम आनन्द, परम सुख पाने की मेरी यह पहली कहानी कैसी लगी.

पुरानी बीएफ

मैं भी नशे में था, मैंने उनका हाथ पकड़ लिया और कहा- अरे मेरी प्यारी बीवी, एक गुड नाईट किस तो दो.

कोई बात नहीं …” मैंने बिना उसकी तरफ देखे ही बोला और मूवी देखता रहा।आप नाराज मत होइए … वो तो मुझे किसी और पर गुस्सा आ रहा था ऐसे ही मुँह से निकल गया. उसका लंड दो मिनट बाद सिकुड़ा और मेरी फुद्दी से बाहर आ गया वो उठ गया, लेकिन मैं नहीं उठी, अपनी चूत पसारे फैली पड़ी रही. उसने कहा- वहां घरवालों के आने का डर है।अचानक से फिर से निहारिका ने मेरी पैंट को खोल दिया और जोर-जोर से मेरा लंड चूसने लगी।मुझे तो स्वर्ग की अनुभूति सी होने लगी। मुझे लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ.

उसने धीमी नशे में डूबी आवाज में कहा- ओके … क्या मैं भी तुम्हारे निकाल दूँ. मैं- हां मैं आ जाऊंगा, पर आना कहां है?कल्पना- परसों मेरे घर वाले दोपहर में सूरत जा रहे हैं किसी शादी में शरीक होने. सेक्सी वीडियो जापान वालीमैंने ये अंदाज ऐसे लगाया क्योंकि उसके पास कोई एंड्राय्ड फोन नहीं था.

दोपहर को, दीदी का मोबाईल मैसेज आया- हाय, कहां हो?मैंने तुरंत ही रिप्लाय करना शुरू किया- यहीं हूँ आस पास. लगभग आधे घंटे बाद मैं हेमा भाभी का रिएक्शन जानने के लिए उनके घर बीच वाले पोर्शन में गया.

मेरी गुलाबी चूत से बहुत पानी निकल रहा था और मेरी चूत एकदम गीली हो गयी थी. एक तो मैं पहले से इतनी उत्तेजित थी और जैसे ही उसके जीभ का स्पर्श मेरी योनि में पड़ा, तो ऐसा लगा कि जैसे खुद ही मेरी योनि का द्वार खुल गया. अब मुझे चूत में दर्द महसूस होने लगा लेकिन मेरे पानी से चूत पूरी तरह से गीली हो गई थी जिसके कारण पंकज का लंड अब और ज्यादा अच्छी तरह मेरी चूत को फाड़ने में लग गया.

मुझे दबाने में बहुत मजा आ रहा था। फिर मैंने धीरे से उसके गाउन के बटन खोल दिए और ब्रा के ऊपर से ही बूब्स दबाने लगा। फिर ब्रा (जो कि रेड कलर की थी) को ऊपर करके बूब्स को बाहर निकाला और दबाने लगा। उसके निप्पल को धीरे से घुमाने लगा। फिर एक को मुँह में ले कर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से छेड़ने लगा. मैंने कहा- अभी हमारी शादी नहीं हुई है भाभी … शादी होनी तो अभी बाकी है. मैंने पूछा- कितने देर में आ रहो आप?उसने कहा- बस पहुंच ही रहा हूं … तुम कहां पर खड़े हो?मैंने कहा- मैं यहीं हुड्डा मेट्रो स्टेशन के नीचे ही खड़ा हूँ।उसने कहा- ठीक है, मैं गाड़ी लेकर बस 5 मिनट में पहुंच रहा हूँ।लगभग 10 मिनट बीत जाने के बाद फिर से फोन रिंग करने लगा, मगर अबकी बार किसी दूसरे नम्बर से फोन आया था.

मेरे लंड को देखते ही भाभी एकदम से बोली- राज! तुम लगते तो छोटे हो परंतु तुम्हारा लंड इतना बड़ा कैसे हुआ?उन्होंने लंड को अपने हाथ में पकड़ा और बहुत देर तक उसको आगे पीछे करके देखती रही.

तभी वो उल्टा होकर मेरे कूल्हों को फैलाकर मेरी गांड में अपनी उंगली डालने लगा. मैं बोला- आपके वो … मतलब आपके पति क्या करते हैं?तो बोली- रायपुर में कपड़ों का बिजनेस है.

कुछ देर सोचने के बाद मैंने भाभी से कहा- मैं तो कंडोम लेकर आया था लेकिन आपने तो मेरे पैसे बचा लिए. मेरी पिछली कहानीमॉम को चोदने की चाहत-2में मैं निशा अपनी मसाज करवा रही थी. मैंने बोला- भैया, टेंशन न लो, हम खुद भिड़ा लेंगे, आप देखो, कहीं आप भाभी को देखने की जगह, भाभी की सहेलियों या साली को न देखने लगना.

गीता ने वाणी के कन्धे के ऊपर से उसे पकड़ लिया ताकि वो सीधी ना हो पाये. मेरी पैंट में लंड ने तंबू बना दिया और झटके देकर कहने लगा कि चोद दे इसकी चूत को. साथ ही मैं उसकी कोमल मुलायम चूचियों को दबाते हुए उसके होठों के रस को भी पीता जा रहा था.

बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी अमित ने मेरी ब्रा को खोल दिया और मेरे उरोजों को अपने गर्म लाल होंठों में भर कर पीना शुरू कर दिया. मेरी सेक्स कहानी के दूसरे भाग में अब तक आपने पढ़ा कि पटेल के लड़के और उसके दोस्त ने मुझे झाड़ियों में खींच लिया और मेरी चूत चाटने लगे.

सेक्स ब्लू फिल्म ब्लू

मैंने उसे देख कर मुस्काराते हुए उसके होंठों पर एक मीठी चुम्मी कर दी. फिर एक धक्का मारने पर सुपारा पूरा अन्दर चला गया और वह मेरी बीवी की गांड में अपना लंड डालने लगा. मेरी योनि से चिपचिपा तरल, तेज़ी से रिसता देख सरदारजी का लिंग अकड़ने लगा.

तब वह दूसरा वाला बोला- समझा नहीं मैडम … आप नहीं बताना चाहती हो तो कोई बात नहीं. अब डेविड ने मुझे पीछे से कसकर मेरे मम्मों को पकड़ लिया और अपने लंड को मेरी गांड के छेद में फिट करते हुए सीधे मुझे उठा लिया. इंग्लिश सेक्सी वीडियो चाइनीसफ्रेश होकर जब सासू माँ के पास गई, तब उनसे पता चला कि हितेश ऑफिस जा चुके हैं.

ज़रीना अब काफ़ी हद तक गर्म हो चुकी थी, वह चुदवाने को बेक़रार थी, उसने मुझसे कहा- अब करते क्यों नहीं, जल्दी करो, अब नहीं रहा जा रहा.

उनमें से एक का नाम था श्वेता था वो उनतीस साल की गदराई हुई मदमस्त जवानी थी. अब मुझे लगा कि मीशा अपनी अक्षत योनि के भेदन के लिए पूर्णतया तैयार है.

उसके कुछ दिन बाद मुझे महसूस होने लगा कि भाभी भी अपने पति यानि कि मेरे भाई को मिस कर रही है. ऋतु ने फिर से अपनी मॉडलिंग पे ध्यान देना शुरू कर दिया था और जिम भी जाने लगी थी. मैं अपने बायें हाथ से सोनू के मम्मे दबाता रहा और दायें से उसकी चूत में उंगली करता रहा.

अब मेरे जिस्म में चार चार लंड एक साथ चल रहे थे और मैं बिल्कुल नशे में चूर पागल सी हो रही थी.

डॉली ने हैंड शावर ले कर लंड पर लगे झाग को साफ किया और फिर लंड पर टूट पड़ी. सुजाता पीती तो थी, पर वो सकुचा रही थी, उसने कहा- मैं पीने के बाद घर कैसे जा पाऊंगी?रमेश ने सुजाता को अपनी गोद में खींचा- अले मेली छोना को घल भी जाना है. मैं अपने दूसरे हाथ की उंगली फिर से भाभी की बुर के फांकों में घुमाने लगा.

देसी सेक्सी भाभी हॉट‘शीला जी, पद्मा जी, आपकी और हमारी शादी तो हो गयी, पर हम आपको बता दें कि हमने कभी किसी औरत को हाथ भी नहीं लगाया और न ही कभी किसी को गलत नज़रों से देखा, आप दोनों तो फिर भी तजुर्बेकार हैं. धारा- धत … मेरे जैसी पसंद कैसे हो सकती है तुम्हारी?मैं- क्यों नहीं हो सकती भला, क्या कमी है तुम में? किसी अप्सरा से कम थोड़ी ना दिखती हो.

बीपी सेसी

वो मानो पागल हो गयी थी और मुँह से ‘आय यस स्श्ह इह्ह उऔऔ इह्ह उऔ ऊया औ उहिही उहू. अब मैं उठा और उसे लिटा कर उसकी चुचियां चूसने लगा, मैं एक दूध चूसता और एक को दबाता, बड़ा मज़ा आ रहा था. उसको दर्द तो हुआ पर कुछ देर के बाद वो सहज होकर अपनी गांड उठा उठा कर धक्के दे रही थी- चोद डाल अपनी इस रानी की मुनिया को … आह … मेरी चूत का भोसड़ा बना दो मेरे राजा … मुझे औरत बना दे.

मैं सलवार ऊपर खींचते हुए अपना सलवार का नाड़ा बांधते हुए बारात घर तरफ तेजी से चल दी. वो मस्त हो गई और अपने दांत दबाते हुए अपने हाथों से अपने मम्मे को मेरे से चुसवाने का मजा लेने लगी. मैंने उसकी चूची दोनों हाथों से पकड़कर दो आखिरी धक्के लगाए और अपना सारा माल उसकी चूत में ही गिरा दिया.

मेरे सामने तीनों मर्द अपने लंड अपने हाथों में लिए मेरे को घेर कर खड़े थे. मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरे लंड को किसी गर्म लावे की कढ़ाई में डाल दिया गया हो. बहुत मोटे-मोटे होते होंगे न 34 इन्च के तो?वो बोली- हां, बड़े तो होते हैं।मैं देखना चाहता हूँ 34 इन्च के बूब्स को …” मैंने कहा।फ़िर पूनम मेरी ओर देखने लगी और मुस्कराने लगी और बोली- देख लो जो देखना चाहते हो।मामी ने नाइट सूट के उपर के तीन बटन खोल दिये और बूब्स के बीच की रेखा मुझे साफ़ साफ़ दिखाई देने लग गयी थी। मामी के बूब्स देखकर मेरे लंड में उछाल आना शुरू हो गया था.

इतना बोल कर उसने मेरे पैरों को फैला दिया और मेरे चूत को निशाना करके रूक गई और बोली- आज तो इस नई चीज से जन्नत की सैर करने के लिए तैयार हो जाओ मेरी प्यारी नंगी भाभी।और उसने मेरी चूत को निशाना पर लिया और जोर लगाने लगी।उसने धीरे धीरे करके आधे से ज्यादा डिल्डो मेरी बेचारी चूत में घुसा दिया. मेरा लंड जब आंटी की चूत की गहराई में जाकर लग रहा था और जब मेरे लंड की जड़ आंटी की गांड से टकराती तो फट्ट की आवाज हो जाती थी.

उसके बाद भाभी मेरे पास बेड पर वापस आ गई और मेरे लंड और मेरे मुंह से अपनी ब्रा और पेंटी हटाकर कहने लगी कि अब इसकी क्या ज़रूरत है मेरे राजा … जब मैं खुद तुम्हारे पास हूँ तो …भाभी ने अपने अंडरगार्मेंट्स उठाकर एक तरफ फेंक दिए और मेरे होठों पर किस करने लगी.

कुछ ही देर बाद मेरा रस निकलने वाला था, तो मैंने उसके मुँह से लंड निकाल कर उसके मम्मों पर पूरा माल निकाल दिया. नंगा सेक्सी पिक्चर दाखवावो दोनों दुकान में काम करने वाले मुझसे बोले कि मैडम आपको आराम करना हो या बैठना हो तो बैठ सकती हैं. सेक्सी 18 साल वालीमैं भी गाने से जोश में आ गयी थी और डेविड ने अपना लंड मेरे मुँह में घुसेड़ दिया. शौहर के जाने के बाद मुझे बहुत दिनों के बाद मेरे हाथों ने लंड को छुआ था.

मेरे लंड को थोड़ा हिलाने के बाद उसने मुझे घुमा दिया और झुकने को बोला.

उन्होंने अपने होंठ मेरी गर्दन से रगड़े, तो मेरे बदन में वासना की तरंगें उठने लगीं. सलोनी- ये तो फिर से खड़ा हो गया!मैं- अभी उसकी इच्छा जो पूरी नहीं हुई है. तभी वो उल्टा होकर मेरे कूल्हों को फैलाकर मेरी गांड में अपनी उंगली डालने लगा.

अब तो मेरी कुछ समझ में ही नहीं आ रहा था कि अब आगे क्या बोलूं? जब इन लोगों को सब पता था … तो उससे मेरी शादी क्यों करायी. मैं उसके मम्मे ज़ोर ज़ोर से दबाए जा रहा था और छोटे बच्चे की तरह चूस रहा था. मामी पूरी तरह से गर्म तो हो ही गई थीं, वे बोलीं- जल्दी लंड डाल कर मुझे चोद दे कमीने.

बीएफ देसी सेक्सी बीएफ

जब वो दरवाजे की लॉक खोल रही थीं, तब उनके कान की बाले बार बार उनके गालों को चूम रहे थे और मुझे चिड़ा रहे थे. मैं बस मन ही मन मुस्कुरा रही थी और अपनी स्कर्ट से झांकती टांगें उसको दिखाए जा रही थी. मैंने तुक्का मारते हुए बोला- इस प्यार के बारे में तो इसने बता ही दिया होगा.

यह सुनते ही मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और जैसे ही मैंने अंडरवियर नीचे किया, मेरा 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड बाहर निकाला तो लण्ड एकदम झटके से बाहर निकल कर मेरे पेट पर लगा.

महफ़िल जम गई पापा और चाचा ने दारू की बोतल खोली और हम सबने दो दो पैग खींचे.

मुझे और भी मजा आने लगा ‘आह्ह मर गयीईई आह्ह …’फिर उसने मेरी जीन्स पेन्ट उतारी और बोला- वाह … आज अन्दर कुछ नहीं पहना मेरी जान … तू तो बिल्कुल तैयार होके आई थी मेरे पास. अगर आप लोगों को पसंद आती है … तो ही मैं दूसरा पार्ट लिखूंगा, जिसमें धारा की गांड चुदाई हुई और कैसे मैंने श्वेता को अपने लंड के ज़ाल में फंसाया. इंग्लिश सेक्सी बढ़ियाउसने मेरे गांड के छेद से अपनी उंगली निकाल दी और अपनी जीभ को नुकीली करके मेरी गांड में डालने लगा और चाटने लगा.

उसके बाद मैंने आंटी को वहीं पर कुतिया बना दिया और घुटनों के बल बैठ कर पीछे से आंटी की चूत में लंड को पेल दिया. लता बोली- ट्राई जल्दी करनी है, दो-तीन दिन में मेरे हस्बैंड टूर से वापिस आ जायेंगे, उनके सामने या किसी पड़ोसन से यह बात न कर ले. उन्हें भी …मैं- पर मम्मी जी, कब तक पराये मर्द के साथ लाइफ जिएंगे, कोई अपना भी तो होना चाहिए ना आगे की लाइफ बिताने के लिए …सासू माँ- देख बेटा, जब तक जवानी है ना … तब तक ही लाइफ को जिया जाता है.

भाभी ने उस माल को कान में कुछ कहा, उसने मेरी तरफ देखा और हंस कर मेरे को चलने बोला. दोस्तो, सच कहूँ तो उसका खुला निमंत्रण से मेरे लंड महाशय सर उठा चुके थे, लेकिन थोड़ी नौटंकी तो बनती ही है ना.

राहुल ने कहा- रुको भाभी!मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोला- भाभी मेरे लिए संतरा और थोड़े अंगूर ले आओ.

मैंने उसकी टांगों को ऊपर उठा दिया तो उसका सिर दीवार से जा लगा, और वो विरोध की पॉजीशन में नहीं रही. मैंने भाभी जी से पूछा- भाभी जी, कोई काम था?उन्होंने कहा- काम तो था, परन्तु तुम तो दूसरे ही काम में लगे हुए थे. मैंने फोन डिसकनेक्ट किया और सोने लगा, पर काफी देर तक मुझे नींद नहीं आई.

सेक्सी मोटी मोटी औरतों की मम्मी जाकर साड़ियों को खुलवा कर देखने लगीं और लहंगों की वैरायटी को भी देखने लगीं. जरीना रोती हुई बोली- तुमने तो मार ही डालने का इरादा कर रखा है क्या? आराम आराम से नहीं कर सकते क्या? या यह कोई रबड़ का खिलौना है कि जैसे मर्जी वैसे तोड़ मरोड़ दिया?पर मैं बोला- मेरी इसमें क्या गलती है, तुम्हारी बुर है ही इतनी छोटी सी.

मेरे कुछ सवाल थे, जिनके जवाब उसको देने थे और उसका साथ मुझे अच्छा भी लगता था. मैं भी चला गया, उनके साथ जाने में मुझे डर भी रहा था कि इन्हें कहीं कुछ शक तो नहीं हो गया. मैं घर में जाते ही बोला- भाभी, आपको ठंड नहीं लग रही क्या? इतनी ठंड है.

अंग्रेजों की सेक्सी बीएफ वीडियो में

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम सम्राट है और अन्तर्वासना की कहानियाँ पढ़कर मुझे भी अपनी सच्ची दास्तान सुनाने की इच्छा हुई. जहाँ उनके उछलने से मुझे लेटे लेटे ही चुदाई का आनन्द मिल रहा था, वहीं उनकी उछलती हुई बड़ी बड़ी चूचियां लंड में और उबाल ला रही थीं. कुछ देर उसे देखने के बाद मेरी दबी हुई अभिलाषा फिर से जागृत हो गई और उसे देख कर मेरी चाहत मुझे काण्ड कर देने पर आतुर कर देने लगी.

एक दिन मैंने न्यूज़ पेपर में देखा कि एक कंपनी में लेडीज एकाउंटेंट की नौकरी खाली है. भाभी कराहने लगीं और चुदाई की मीठी किलकारी लेने लगीं- बस उम्म्ह… अहह… हय… याह… आहह.

ऐसे ही थोड़ी देर सहलाते हुए मैंने उसकी तरफ देखा तो वो मुस्कुरा रही थी.

उसके बाद भाभी ने मुझे अपने ऊपर खींचा और मेरे लंड को हाथ में पकड़ लिया; लंड को हाथ में लेकर भाभी ने मेरे लंड को सहलाना शुरू कर दिया. मैंने भी देर ना करते हुए उसके मुँह में साड़ी को डाल दिया और उसकी चूत में लंड डालने के लिए झटका मारा. बस इतना बताओ कि लड़की पढ़ी लिखी दिखाऊँ या तुम्हारी तरह काम चलाऊ पढ़ी हुई.

इनकम टैक्स ऑफीसर के साथ चुदाई के बाद मेरी बीवी का क्या हाल हुआ, ये जानने के लिए आपके लिए इस सेक्स कहानी दूसरा पार्ट हाजिर है. मैंने कहा- उसकी तुम चिंता ना करो, बस आज जो मैं कह रही हूँ, वो ही करो ताकि भाभी तुम्हारे लंड की पूरी दीवानी हो जाए. फिल्म खत्म हुई और सब निकलने लगे मैंने उससे ‘आई लव यू …’ बोला और किस करने को पूछा, पर उसने इस बार फिर मेरा दिल तोड़ दिया.

मैं सुषी के ऊपर लेट गया और मेरी सांसें उस वक्त काफी तेज चल रही थीं.

बीएफ हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सी: मैंने कहा- आप बेहिचक हो कर बोलें?तो वो बोले- मेरी नौकरी के बारे में तो तुम जानते ही हो, इस कारण मैं घर में भी वही पुलिसिया रौब में रहता हूँ, मैं बीवी से खुल के नहीं बोल पाता कि मैं कितना प्यार करता हूँ, नैना, सुरभि और राहुल मेरे सामने बहुत सहमे से रहते हैं. उधर अचानक लाइट चले जाने से उसने मेरे लहंगे में घुस कर मेरी पेंटी उतार दी और मेरी चूत चाटने लगा.

मैं आपका दोस्त, आर्यन एक बार फिर से अपनी एक और नई एवं सच्ची चुदाई की कहानी के साथ आप लोगों का मनोरंजन करने के लिए हाजिर हूँ. दिन रात बस रोती रहती थी कि या अल्लाह ऐसी कौन सी खता हुई मुझसे कि तूने मुझसे सब कुछ छीन लिया. उनकी बातों से मुझे फील हो रहा था कि ये आराम से फंस जाएगी, बस थोड़े खर्चे करने पड़ेंगे.

बिस्तर पर उसकी टांगें फैला कर उसकी पकौड़ा सी फूली अनचुदी चुत को चाटने लगा.

इस पौने घंटे में दोनों तीन तीन बार झड़ गयी और मेरा लंड था कि झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था. हम ग्रीन फील्ड के अन्दर दाखिल ही हुए थे कि देखा सीवरेज का काम चल रहा था. उसकी गांड को चोदने में बहुत मज़ा आ रहा था जिसको मैं यहां बता नहीं सकता हूं.