दादा पोती की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,चोदा चोदी ना

तस्वीर का शीर्षक ,

ऑंटी साडी सेक्सी व्हिडिओ: दादा पोती की सेक्सी बीएफ, जैसे ही मैंने बिना आवाज किए हाथ से पर्दे को हटाया तो देखता हूं कि सुनीता के हाथ में मूली थी, जिसे वह अपनी चूत में डाल रही थी और अन्दर बाहर कर रही थी.

सेक्स करते हुए फोटो दिखाओ

किरण बात को टालती हुई बोली- अभी चाय या कॉफ़ी मिलेगी … बाकी रात को तुम बोलोगे, दे दूंगी. चुड़ैल वाला दीजिएअब हालत ये थी कि दोनों भरे हुए जिस्म वाली शादीशुदा औरतें एक दूसरे के ऊपर लेटी थीं.

कुछ मिनट के बाद मैंने उसकी चूत को छोड़ दिया, उसकी चूत में से बहुत पानी निकल रहा था. चोदा चोदी वीडियो पिक्चरफिर मुझे भी हंसी आ गयी कि फातिमा के प्यार में तो सच में मेरी गांड फट गयी.

उसने अपना लंड मेरी चूत में पीछे से घुसा कर धक्के देना शुरू कर दिया, साथ ही मेरे दोनों मम्मों को पकड़ कर मसलने लगा.दादा पोती की सेक्सी बीएफ: अगली सुबह में डरते डरते उठा और देखा कि कहीं मेरी बहन मेरी मम्मी को न बता दे.

उस दिन मैंने भाभी को सही से होंठों को चूसना बताया और जीभ चूसने का मजा लेना भी दिखाया.मैं कुछ चीख ही नहीं पाई क्योंकि भैया ने मेरे होंठों को अपने होंठों में दबा लिया था.

xxx दिपीका - दादा पोती की सेक्सी बीएफ

अब मेरी हिम्मत भी बढ़ती गई और मैं भी एकटक भाभी को देखते हुए खाना खा रहा था.मेरी पिछली सेक्स कहानीराजेश से शिवानी रंडी बनने तक का सफरके बाद मुझे काफी सारे ईमेल आए, कईयों ने प्रपोज किया, जिससे मेरी ईमेल बॉक्स भर गया.

अब मेरा लंड सीधा बच्चेदानी में टकराने लगा और मॉम की सिसकारियां मधुर संगीत बन कर निकलने लगीं. दादा पोती की सेक्सी बीएफ गीता से रहा न गया और उसने मेरा लंड अपने दोनों हाथों से पकड़ा और उसे आगे पीछे करने लगी.

उसी सेक्स कहानी को मैं आगे लिख रहा हूँ, लुत्फ़ लीजिए नंगी सेक्सी लड़की की कहानी का.

दादा पोती की सेक्सी बीएफ?

कुछ देर ऐसे ही उसका मुँह चोदने के बाद मैंने लौड़ा बाहर निकाल लिया और दोनों पैर ऊपर करके सोफ़े पर रख दिए. मेरी चूत को अब लंड की खुराक मिलने लगी थी इसलिए मेरी चूत भी खिली खिली सी रहने लगी थी. फिर वो अपनी कुर्ती उतार कर अपनी बिना ब्रा की नंगी चूचियां मेरे गाल पर रगड़ने लगीं.

मैं कई बार अपनी भाभी को याद करके मुठ मार चुका हूं।मेरे घर में हम चार भाई हैं साथ में मां और बाबू जी भी रहते हैं. किरण के बाल पकड़ कर पाटिल ने उसको जोर से थप्पड़ मारा और उसके मुँह पर थूक दिया. कुछ तो उसने मुँह से निकाल दिया लेकिन ज्यादातर पानी उसको पीना पड़ गया.

मैंने उसकी चूत सहलाई और कहा- और इसने मुझे!वो मेरे होंठों को चूम कर बोली- अब जाओ और कल जल्दी आ जाना. मेरी धकापेल चुदाई के बाद सर ने अपना सारा माल मेरे बिस्तर पर ही गिरा दिया और मुझे चूमने लगे. भैया ने भाभी की ठोड़ी को पकड़ा हुआ था और वो दोनों एक दूसरे की आंखों में झांक कर हल्के हल्के से मुस्कुरा रहे थे.

मेरा लंड टेप से चिपके होने के कारण ढंग से खड़ा तो नहीं हो पा रहा था पर उसमें सुरसुरी हो रही थी और लंड झड़ने को होने लगा था. कुछ देर बाद अञ्जलि ने अपनी बाजुओं को मेरी पीठ पर कस लिया और मुझे अपने अन्दर खींचती हुई बोली- आह और तेज आमोद … और तेज चोदो.

ससुर जी को मुझे चोदते हुए अभी तक आधा घंटा हो गया था और मैं दो बार झड़ गई थी लेकिन उनका पानी नहीं निकल रहा था.

उसने एक बार में ही मेरे कच्छे को खींच कर मेरे शरीर से अलग कर दिया और मेरे लंड पर अपना हाथ फिराने लगी.

भाभी हंसने लगीं और बोलीं- उनका मन उकता गया होगा, या आपका मन भर गया?मैं हंसने लगा. अब आंटी मेरे लौड़े को सहलाने लगीं और मुँह में लेकर लंड को गपागप गपागप लॉलीपॉप की तरह जल्दी जल्दी चूसने लगीं. मैं बिस्तर पर लेटा हुआ उसके आने का इंतजार कर रहा था और आहिस्ते आहिस्ते अपने लंड को सहला रहा था.

मन ही मन मैं भी यही तो चाहती थी।तीनों लड़के आपस में आंखों के इशारों से कुछ बात कर रहे थे जो मैं समझ नहीं पा रही थी. जैसे औरतों की गांड शादी के बाद चौड़ी हो जाती है, मेरी मौसी की भी गांड काफी चौड़ी हो गई थी. दोपहर में मैंने अपने भाई के सर को फ़ोन किया और उनसे उनके घर पर मिलने के लिए शाम का समय ले लिया.

चूंकि मैं काफी उत्तेजित हो चुका था इसलिए मैं सुमैत्री को देखता रहा और धीरे धीरे उसकी तरह बढ़ने लगा.

लव इन बेड स्टोरी में पढ़ें कि मेरी माशूका सात समंदर पार से मुझे मिलने आई थी. मैंने गीता की तरफ देखा तो उसकी आंखें बंद थीं लेकिन उसका सीना ऊपर नीचे हो रहा था, उसकी सांसें तेज तेज चल रही थीं. मेरी भी किस्मत बहुत अच्छी थी क्योंकि वहां रोशनी थी और सब कुछ एकदम साफ नज़र आ रहा था.

मैं अपना गुस्सा छोड़ मुस्कुराते हुए अन्दर गया और बोला- मुझे भी खेलना है. मैं बोली- अच्छा ऐसी बात है, मेरी इतनी याद आ रही थी?उन्होंने हां में उत्तर दिया. नीता बोली- आज किसी भी तरह से पूरी रात गीता को चोदकर उसके माँ बनने का सपना पूरा कर दो ना.

फिर घोड़ी बना कर सुनीता की भट्टी को ठंडा कर दिया और हम दोनों लिपट कर बेड पर आ गए.

इस बीच मैं दूसरी बार भी झड़ गई और मेरी चूत का पानी फर्श पर गिरने लगा. ये देखकर मॉम बड़ी खुश हुईं कि मैंने आज दीपाली को पूरे जोश से चोदा है.

दादा पोती की सेक्सी बीएफ और इसका नतीजा यह हुआ कि वो मुश्किल से पांच मिनट में अपना काम रस मेरे मुँह पर छोड़ती हुई स्खलित हो गई. बीच बीच में मैं उसकी गांड पर जोर से चपत लगा देता, जिससे उसके दोनों चूतड़ों में मेरी उंगलियों के निशान छप गए.

दादा पोती की सेक्सी बीएफ धारा की नज़रों से वो दृश्य बच नहीं सका और उसने शेखर की ओर अपनी हवस भारी आँखों से देख कर मुस्कुराते हुए अपने होंठों पर अपनी जीभ फिरायी … मानो वो उस बूँद को अपनी जीभ से चाट कर खा जाना चाहती हो. रेशमा ने अपना मुँह ऊपर करके कहा- आपको क्या लगता है? मैं हां करूं या ना?मुझे इस सवाल की बिल्कुल भी अपेक्षा नहीं थी, उल्टा मुझे लग रहा था कि रेशमा इस बात से बुरी तरह से गुस्सा होने वाली है, पर यहां तो रेशमा ने मुझे एक अलग ही दुविधा में डाल दिया.

मेरे होंठ हल्के गुलाबी हैं और मेरे निप्पल और चूत भी काली नहीं, बल्कि हल्की गुलाबी है और मैं एकदम चिकनी चूत की मालकिन हूँ.

सेक्सी चाहिए बिहार का

अब थोड़ी देर ऐसे ही मैंने तुम्हारे लंड को अपनी चूत में रखना चाहती हूँ. कुछ देर बाद मुझे ऐसा लगा कि मेरा पानी निकलने वाला है तो मैंने जल्दी से लंड को बाहर निकाला और अपनी बहन के मुँह पर सारा पानी निकाल दिया. कुछ देर बाद मैं भी अपने कपड़े उतार कर सिर्फ चड्डी में ही बाथरूम में घुस गया.

कहानी के पहले भागमैं अपनी सेक्सी बीवी को मजा नहीं दे पातामें अभी तक आपने पढ़ा था कि मेरी बीवी ने बॉस की चड्डी में हाथ डाल दिया था और वो उसका लंड सहलाने लगी थी. एक तरफ मैं सामान्य लड़का था, जिसकी गर्लफ्रेंड फातिमा थी और दूसरी तरफ मैं खुद फातिमा बन कर उसके भाई की गर्लफ्रेंड था. मगर उसने मेरे हाथ को हटा दिया और बोली- हट साले … वर्ना मैं मम्मी से कह दूंगी.

मैं- मॉम मैं कुछ समझा नहीं कि आप क्या बोल रही हो?माया मॉम- बेटा इसको (लंड) देखो और बताओ इसको क्या बोलते हैं?मैं- इसको पेनिस या डिक बोलते हैं मॉम, पर यह सब आप क्यों पूछ रही हो और आपने इसको पकड़ कर क्यों रखा है?अपनी मॉम के सामने मैं भोला इसलिए बन रहा था क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि मॉम की नजर में मैं हरामी बन जाऊं या अपनी मॉम की ममता को खो दूँ.

मैं अपने दोनों हाथों को नीचे करके उसके चूचों के ऊपर रखे हुए था और उनको मसल रहा था; साथ ही उसे किस करता जा रहा था. फिर दो मिनट तक वो मेरे मम्मों को बहुत जोर जोर से मसलते और दबाते रहे. एक हाथ से बेल्ट पकड़ कर मैं दूसरे हाथ को उसकी फुद्दी की तरफ लाया और फिर से उसकी चूत में तीन उंगलियां घुसा कर जोर जोर से उसकी चूत रगड़ने लगा.

दोस्तो, आपको गीता की चुदाई की कहानी का पूरा ब्यौरा सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूँगा. जब उसका हस्बैंड चला गया, तब मैं पूरा नंगा होकर खिड़की के पास चला गया भाभी भी खिड़की के सामने ही कुर्सी पर बैठी शायद मेरा ही इंतज़ार कर रही थी. मेरे कमरे में सिर्फ़ तेल और वैसलीन थी तो मैंने वसलीन ली और उसको घोड़ी बनने बोला.

एक दिन मैं कंपनी से अपने रूम आ रहा था तो मेरे पड़ोस में रहने वाली एक आंटी मुझे देखकर मुस्कुराने लगीं. मुझे बचपन से ही अपनी मॉम की और बहनों की पैंटी और ब्रा को सूंघने और उनको पहनने का शौक रहा है.

इस बार आंटी बहुत मज़े लेकर लंड की चुसाई कर रही थीं और उनकी बड़ी बड़ी चूचियां आगे पीछे होकर झूल रही थीं. भाभी अपने दोनों हाथों से मेरा सिर अपनी चूत पर दबा रही थीं- आह मेरी जान … मुझे ये सुख अब तक तुम्हारे भैया ने कभी दिया ही नहीं. पीठ पर हाथ फेरा तो मेरी कामुक नजरें उनके शरीर के अन्य अंगों पर घूमने लगीं.

फिर मैंने आंटी को घोड़ी बना दिया और गांड में लंड घुसा कर चोदने लगा.

लाल रंग के लहंगे में वो बला की खूबसूरत लग रही थी जैसे स्वर्ग से कोई हुस्न की परी उतर कर आ गई हो. लेकिन शेखर की उम्मीदों के विपरीत धारा ने बस उसके लंड के सुपारे पे झलक आयी उस बूँद को ही चाट था और फिर अपनी जीभ को हटा लिया था. उसकी बड़ी बड़ी चूचियां देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए तो मेरा लंड कौन सा सीधा किस्म का लंड था.

मैं धीरे धीरे धक्का लगाने लगा और कुछ मिनट के बाद वो भी मेरा साथ देने लगीं. मैं उसके दूध दबाते हुए उसे धकापेल चोदने लगा और बीच बीच में मैं उसे गाली भी दे रहा था- आंह साली चुदक्कड़ कुतिया … मुझसे चुद भैन की लौड़ी … आज तू मजे से लंड ले मेरा … मैंने आज तेरी सील तोड़ दी है … साली आज से तू मेरी रांड है मादरचोदी.

मेरी जिंदगी का सबसे अहम लड़की इस वक़्त मेरे साथ थी और हम ऐसी जगह पर थे, जहां अब हमें कोई टेन्शन भी नहीं थी. उसको देखकर तो मेरा लंड जैसे फटने को हो गया एकदम!उसका गीला बदन, उसका गोरा रंग और चूचियों के लाल लाल निप्पल और एकदम चिकनी चूत देखकर तो मैं पागल ही हो गया. मैंने भी अपना लंड उसकी गांड के सुराख पर लगाया और जोर देते हुए अन्दर डालने लगा.

आदीवासी सेक्सी वीडियो

उनकी आंख दबी तो मन बेकाबू हो गया और मैंने उसी पल भाभी को अपनी ओर खींच लिया.

अब मेरा लंड भी मंजिल पर पहुंच गया था और झटके के साथ लंड ने पिचकारी छोड़ दी. मैं बोली- अच्छा ऐसी बात है, मेरी इतनी याद आ रही थी?उन्होंने हां में उत्तर दिया. मेरा लौड़ा और उसकी गांड की लड़ाई में जांघों से टकराने से थपाथप थपाथप का संगीत तेज होने लगा.

नमस्ते दोस्तो, आशा है धारा के साथ हुई पहली रोमांचक चुदायीकॉकोल्ड वाइफ सेक्स कहानीने आप सबका भरपूर मनोरंजन किया होगा. मैं समझ गया और मैंने उसे चूमते हुए कहा- मेरी डॉल तुझे मेरे साथ मजा आया या बुरा लगा?वो मेरे सीने से चिपकती हुई बोली- आप बहुत मस्त मर्द हैं. ब्यूटीफुल दुर्गा maaकि दोपहर में मिहिरा मेरे घर आई, उसके कॉलेज के प्रॉजेक्ट में उसको मेरी हेल्प चाहिए थी.

तो सोचा आपसे बात की जाए।वो- मैं आपको सुंदर लग रही हूं?मैं- आपसे सुंदर यहां कोई दिख रही हो तो बताइए. फिर उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और दूध चाट कर साफ़ कर दिया.

थोड़ी ही देर में सबका खाना खत्म हो गया और हम लोग बाहर बैठकर बातें करने लगे. मैंने बाथरूम में लगे आईने से ध्यान से देखना शुरू किया तो समझ गया कि चाची के पंजे थे. उस दिन न जाने क्या बात थी कि हम दोनों के अलावा और कोई नहीं आया था, काफी देर हो गई थी.

मैंने- तुम ब्रा पैंटी नहीं पहनती क्या?वो बोलीं- पहनती हूँ, पर आज जानबूझ कर नहीं पहनी थी. मैंने सोनी की तरफ उम्मीद भरी नजरों से देखा और उसकी सलवार को फिर से नीचे की तरफ सरकाने लगा. पर वो हटने को तैयार ही नहीं था और बार बार बस एक ही चीज कह रहा था मुझे आपकी चूत खानी है.

मैंने भी अपना लंड भाभी की चूत की फांकों में लंड का सुपारा फंसाया और पेलने को हुआ.

मैंने उसे देख कर 4 बार मुट्ठी मारी और मैंने उससे आई लव यू बोल दिया. अपने भाई के मुँह से लंड निकालते हुए उसने भी मेरा लौड़ा मुँह में भर लिया और दोनों भाई बहन मिलकर मेरे लौड़े की मालिश करने लगे.

मैंने ओके कहा और वन्दना की जगह रुचिका को अपने लौड़े के नीचे ले लिया. [emailprotected]इरोटिक गर्ल X कहानी का अगला भाग:चढ़ती जवानी में सेक्स की चाह- 2. वो कुछ नहीं बोलीं, तो मैंने उनके मुँह में लौड़ा घुसा दिया और झटके लगाने लगा.

उन्होंने मुझे गले लगा कर धन्यवाद किया, कहा- ऐसी चुदाई मेरी आज तक किसी ने नहीं करी. वो बोली- भैया, सिर्फ एक बार ही अपने बीएफ के साथ सेक्स किया था, उसको भी कुछ नहीं आता था. करीब ग्यारह बजे मैंने जब मोबाइल चैक किया तो दोनों ही कमरे में नहीं थे.

दादा पोती की सेक्सी बीएफ शादी होने के बाद मैं यहां आ गई और वो 2 दिन बाद वहीं से अमेरिका चले जाएंगे 20 दिन के लिए और सास महीने भर बाद ही आएंगी।बात करते करते हम सब घर पहुंच गए. इधर आओ बाथरूम में।फिर उसने अपने गोरे-गोरे रसीले स्तनों के मुझे दर्शन करवाये।उसके दूधों को देख कर मेरे मुंह में पानी आ गया और मैं उसके दोनों दूध पकड़ कर चाटने लगा.

सेक्सी पिक्चर देखने का वीडियो

बस अपनी पत्नी के बारे में ऐसा सोचकर खुद के अन्दर तकलीफ होती थी कि मेरी बीवी को कोई और चोद रहा है. मेरी ब्रा पैंटी भी भीग गई थीं तो मैंने अपनी ब्रा का हुक खोला और सामने लगे आईने में अपने मदमस्त मम्मों को हिला कर देखने लगी. बिना देर किए मैं भी अपने हाथ उसकी पीठ पर ले गया और उसकी ब्रा का इकलौता हुक खोल कर उसके चूचे नंगे कर दिए.

कुछ मिनट चूत चुसवा कर फिर से गोद में बैठती हुई अञ्जलि ने मेरा पूरा लंड अपनी चूत में निगल लिया. मैंने निधि की गांड पर नीचे हाथ रखा और उनकी गांड को ऊपर नीचे करने लगा. रानी मुखर्जी की सेक्सी फिल्मकरीब दस मिनट की चुसाई के बाद अंकल ने मेरे बालों को पकड़ कर अपना पूरा लंड में मेरे मुँह में गले तक घुसा दिया और एकदम तेज़ तेज़ मेरे मुँह में लंड ठूंसने लगे.

रात को कमरे में एक अलग ही तरह से पलंग जमा हुआ था।मैं– क्या है यह सब?प्रिया- हमारे सोने की व्यवस्था।मैं- मगर तुम्हारे तकिया मेरी कमर के पास क्यों लगा है?प्रिया– आप सिर्फ नंगे होकर मेरी तरफ मुंह कर के से जाइए।मैं– ठीक है जैसा तुम बोलो.

उनके जाने के बाद मैंने टीवी पर एक ब्लू फिल्म चला दी और खुद पूरी नंगी होकर अपने दोनों मम्मों को दबाने लगी. माया मॉम- अभी तो मेरे पास और भी बहुत कुछ है मेरे प्यारे बेटे के लिए.

मैंने जल्दी से खाना खत्म किया और उन दोनों से पहले कल्लू के घर में आ गया. मैंने खुद को अब फिर से घुटनों के बल करते हुए रेशमा को भी फिर से कुतिया बना दिया था. उसी समय मैंने एक तगड़ा झटका मारा और अपना पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक घुसा दिया.

इसी बीच मैंने अपनी मस्त गांड की फोटो भी एक इंडियन गे साइट्स पर भी पोस्ट कर दी.

अब जब तक वो वापिस नहीं मुड़ जाती, तब तक मेरे पास कोई रास्ता नहीं था. आपको मेरी लंड गांड की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल व कमेंट्स करके जरूर बताएं. मैंने भी उसको गालियां देते हुए वापिस घुटनों पर कर दिया और अपने लौड़े को उसके मुँह में देकर फिर से उसका मुँह चोदने लगा.

आर्मी सेक्सीमैं अभी भी मौसी को जमकर चोद रहा था और उन दोनों की बातें सुन रहा था. कुछ देर बाद मैंने उसे उठाया क्योंकि मेरे बच्चों के आने का टाइम हो गया था.

क्या साइकिल चलाने से पेट कम होता है

आपको मेरी फार्म हाउस विलेज़ सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल जरूर करें. मैं कुछ जोरदार धक्के मारकर अपनी चरमसीमा पर पहुंच गया और लंड से वीर्य की पिचकारियां देविका की चूत की गहराई में मार दीं. मतलब सोनिया का मेरे डैड प्रण से तलाक हो गया था और वो मेरे डैड से अलग रहने लगी थी.

’‘क्या अन्दर तक चला जाता है?’वो हंसी और बोली- आपका वो!मैंने कहा- मेरे वो का कुछ नाम भी रख दे. मुझे खुशी इस बात की थी कि अब मुझे अपनी प्यास बुझाने के लिए घर पर ही एक लंड का सहारा मिल गया था. मेरा लंड हॉट लड़कियों की चुदाई के अभी भी लोहे जैसा था और गीता की चूत में अड़ा बैठा था.

इसी वजह से वो डर के मारे ना तो हिल रही थी और ना ही कुछ और कर पा रही थी. मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और उनकी रसभरी चूचियों को चूसते चूसते नीचे आने लगा. पर यही तो खेल था जो धारा बड़े सावधानी से खेल रही थी और शेखर को बिना छुए ही चरम पर ले जा रही थी.

मैं घर आया और आते ही जैसे भाभी को देखा, तो भाभी साड़ी बांध कर मस्त लग रही थीं. उसके 36 इंच के भरे हुए मम्मे, बलखाती कमर 30 इंच की और 38 इंच के दो मस्त गदराये चूतड़ों के बीच में भरी हुई गोल छेद वाली मखमली गांड.

धारा अब बिल्कुल पास आ चुकी थी … शेखर के पैरों की तरफ़ धारा ने अपनी एक टांग उठाकर बिस्तर पे रखा और शेखर की ओर देखते हुए मुस्कुराते हुए अपने हाथों में पड़े हंटर की नोक को शेखर के पैरों की उँगलियों पे धीरे-धीरे फिराना शुरू किया.

मेरे पति मुझे चोदते जरूर थे किंतु उन्होंने कभी भी मेरी चूत को जीभ नहीं लगाई थी. पादने का तरीकाफिर धीरे धीरे उन्हें उल्टा लिटा दिया और चूत के नीचे तकिया लगा दिया. लड़कियों लड़कियों की सेक्सीमैंने भी कहा- जिसके लिए मैं आया हूँ वो तो करूंगा ही, बाकी तुम जैसी लड़की को पाकर मैं खुद बहुत खुश हूं. रेशमा दर्द और सुख दोनों एक साथ अनुभव करके ऐसे ही नंगी बिस्तर पर लेटकर अपनी उखड़ी हुई सांसों को काबू करने की कोशिश कर रही थी.

वो मेरी तरफ देख कर रो रही थीं, लेकिन उन्होंने मुझे एक बार भी मना नहीं किया.

मैंने अपने भी कपड़े उतारे, मिहिरा अब मेरे निप्पल चूस रही थी मुझे गुदगुदी हो रही थी और मज़ा भी आ रहा था. एक हल्का सा धक्का लगा कर मैंने अपने लंड को दो इंच चूत के अन्दर डाल दिया. मैंने भाभी को सीढ़ियों पर जाने को बोला और मैं दरवाज़ा खोलने चला गया.

और मैं सोनी को मना भी नहीं कर सकता था और उसे किसी लॉज या होटल में चलने को बोल भी नहीं सकता था. कुछ देर बाद मैं भाभी से बोला- भाभी मुझे पेशाब लग रही है, मैं अभी आता हूँ. मेरे पति ने मोहन बाबू का नम्बर डायरी में लिख रखा था, जो मुझे मिल गया था.

नेपाली के सेक्सी

अपने पिता और भाई को छोड़, हर मर्द मुझे सिर्फ लंड दिखने लगा, लुंगी में रिक्शा चलाता, पसीने से तरबतर बोझा ढोने वाला!या फिर कैब का ड्राइवर जब जब गियर डालता, तो मुझे उसका लोड़े पे गियर डालने का मन करता।मैं अपना आपा खोती जा रही थी. इस पर भाभी बोलीं- मतलब?मैंने बोल दिया- भाभी आप बहुत सेक्सी हो … और जब से आप इधर रहने आई हो, उसी दिन से मैं आपको पसंद करता हूँ. इससे मैंने अंदाज लगाया कि वो मोबाइल में कुछ गर्म सेक्सी चीज देख रहे थे जिससे सर का माहौल बना था.

पेनफुल एनल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी सेक्रेटरी की गांड कैसे मारी.

इतने में मॉम का नहाना पूरा हो चुका था, मॉम नंगी ही अपने कमरे के लिए जाने लगीं.

वो हमारे सामने ही नंगे हो गए और मॉम को अपना लंड चुसाना शुरू कर दिया. यह मेरी पहली कहानी है एक हॉट बेब सेक्स की!मैं 2019 में अपनी पढ़ाई पूरी करके जॉब करने के लिए दिल्ली गया था. नगी सेकसी विडीयोसर- अच्छा, कल तो मैंने देखा तुम्हें, बार बार सोनी को ही देख रहे थे.

मैं- चलो मैडम, आज खाना खाने हम दोनों मेरी पसंद के एक बेहतरीन रेस्टोरेंट में जा रहे हैं. एक मिनट तक सन्नाटा छाया रहा, मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि क्या कहूँ. मेरी पत्नी मेघना दिखने में बेहद ही खूबसूरत है और उसके गोरे जिस्म का फिगर 34-28-36 का है.

जितनी पेशाब मेरे मुँह में जाती उसे मैं पी जाती और बाकी की पेशाब मेरे सीने पर गिरती, जिसे मैं मजे से अपनी छाती पर मल लेती. हाय रे … मुझे खूब रंडी की तरह चोदो। आहां हीं हो हूँऊँ हो उफ़ … क्या मस्त लौड़ा है यार! ओहो हय हूँ ऊँ हो … तू साला हरामजादा … तेरी बिटिया की बुर, साली मेरी चूत फटी जा रही है यार! कितना मजेदार है तेरा लौड़ा बहनचोद, बुर फटी जा रही है.

मैंने उनके 36 इंच के चुचे सहलाते हुए पूछा- क्या हुआ मॉम, परेशान क्यों हो?मॉम ने बताया कि वो सुबह डैड की बात को लेकर चिंतित थीं कि दीपाली की गांड और बड़ी कैसे करें.

खैर … उस दिन दोनों लोग पानी में भीगते हुए सुमैत्री के घर पहुंचे और मैं सुमैत्री को ड्रॉप करके अपने घर के लिए निकलने लगा. जिस जिस तरह से बॉस मेघना को चोद रहा था, ऐसा मैंने कभी भी उसके साथ नहीं किया था. फिर कुछ ऐसा हुआ शादी के तीन सालों के बाद मुझे अपनी पत्नी मेघना पर कुछ कुछ शक सा होने लगा.

काला कद्दू काला कद्दू लेकिन मैंने पीछे से उनकी गांड को इतनी ज़ोर से पकड़ा हुआ था और जीभ अन्दर चूत में डालकर चूस रहा था कि मॉम कुछ कर ही ना सकीं और उनका मूत निकलने लगा. उसका लंड एकदम काले नाग की तरह फुंफकार रहा था जबकि मेरे पति का लंड गोरा है.

शिराज का सर पकड़ कर मैंने मेरे गोटों पर दबाया तो उसने भी अपनी जुबान बाहर निकाल दी और मेरे दोनों टट्टे चाटने लगा. अब तो मुझे पता चल ही गया था कि आज अपनी मोहब्बत की खातिर मुझे इस चूतिये का लौड़ा चूसना ही पड़ेगा. साबिरा को बिस्तर पर धकेलते हुए मैंने शिराज को गुस्से से देखकर कहा- सुन बे हिजड़े, चल तू ही बता … पहले क्या चोदूँ तेरे बहन की? इसकी गांड या इसकी फुद्दी?मेरे सवाल से बेचारा शर्म के मारे ऐसे ही बैठा रहा.

तमन्ना भाटिया की एक्स एक्स एक्स

हर धक्के के साथ देविका का सर ऊपर नीचे हो रहा था, साथ में उसके स्तन भी झूल रहे थे. चूत के सहारे हवा में उठी उसकी गांड को चोदने में मुझे बड़ा मजा मिल रहा था- चुप कर मादरचोद, आज तो साली तू रंडी बनकर ही रहेगी बहन की लौड़ी. उसकी आवाजें मुँह के अन्दर ही दब गयी थीं और वो बिन पानी मछली की तरह तड़प रही थी.

मेरे टट्टों में उबलता हुआ मेरा सफ़ेद वीर्य किरण के मुँह में भरने लगा और मेरी गांड रेशमा के मुँह पर रख कर मैं किरण के गले तक अपना लौड़ा पेल कर उसे अपना वीर्य पिलाता रहा. फिर उसने कहा- तुम तो बोल रहे थे कि कभी सेक्स नहीं किया, पर माहिर खिलाड़ी लग रहे हो.

मैंने देखा चाची जी ने काफी उदास मन से अपनी चूत में उंगली की … और चूत की शांत करके वो भी सो गईं.

मैंने वन्दना को अपनी गोद में खींचा और नंदा से साफ कह दिया कि सुबह उठाना मत, अपने आप आंख खुलेगी, तब उठ जाऊंगा. वो भी मस्ती में सीत्कार करने लगी और मेरे सामने अपने दूध उठा उठा कर चुसवाने लगी. फिर मैंने भाई से पूछा- आप मेरे साथ चुदाई करना क्यों चाहते थे?तो वो मेरे गाल पर हाथ फेर कर बोले- तुम बहुत सेक्सी हो.

वो बोलीं- हरामी थोड़ी आराम से चोद ले साले मादरचोद … मैं कोई बाजारू रंडी नहीं हूं, तेरी सगी मां हूं. कहानी के पिछले भागदोस्त की बहन ने मेरा लंड चूसामें आपने पढ़ा कि मैं अपने दोस्त की शादीशुदा बहन के घर में उसके साथ सेक्स का मजा ले रहा था. उन दोनों को सिर्फ पैंटी और अंडरवियर में देख कर मेरे लंड का बुरा हाल होने लगा.

थोड़ी देर बाद भाभी मेरे ही बगल में आकर बैठ गयी और मुझसे पूछा- कुछ खाया या नहीं?मैंने कहा- जो खाना पीना था, सब हो गया.

दादा पोती की सेक्सी बीएफ: पाटिल जी ने भी रेशमा की टांगें खोलीं और झट से उसकी नूरानी चूत का रसपान करने लगे. न्यू कॉल गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने सैंकड़ों कॉल गर्ल को चोदा है पर कुंवारी बुर कोई नहीं मिली.

उसने मुझसे कहा- अब देख क्या रहा है चिकने … फटाफट अपने कपड़े उतार और उस कुर्सी पर बैठ जा. अब मैंने भाभी की चूत पर अपना जुबान को काम पर लगा दिया और भाभी की चूत के फांकों को खोलकर अपनी जुबान उनके चूत के अन्दर डाल कर चाटने लगा. अब हम फोन पर ही बात करते थे और जब भी … और हमारी जितनी भी बात होती थी, बस चुदाई की ही होती थी.

हार्डकोर सेक्स के आखिर में लंड ने ज्वालामुखी विस्फोट कर दिया और वीर्य से ललिता की गांड को भर दिया.

अजय ने मेरी गांड पर हाथ फेरते हुए कहा- क्यों मेरी जान, अपनी मखमल सी गांड पर दर्द हो रहा है न!मैंने कहा- अहह मेरे मालिक … ये दर्द नहीं है … मुझे आपके प्यार पर दिल आ रहा है. फिर वो बोले- मेरा वीडियो कॉल पर बात करने का मन है … क्या मैं कर सकता हूँ?मैं बोली- अरे भैया, इसमें कौन सी बड़ी बात है, खूब कीजिए. इतने जोर से भी कोई डालता है क्या?मैंने उसके आंसू पौंछते हुए कहा- देखो देविका, मैंने तुम्हें पहले ही बताया था कि तुम्हें दर्द सहना पड़ेगा.